इन्दौर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


इन्दौर
इंदौर
उपनाम: मिनी मुम्बई [1][2]
इन्दौर is located in Madhya Pradesh
Location of Indore in Central India
निर्देशांक : 22°43′0″N 75°50′50″E / 22.716667°N 75.84722°E / 22.716667; 75.84722Erioll world.svgनिर्देशांक: 22°43′0″N 75°50′50″E / 22.716667°N 75.84722°E / 22.716667; 75.84722
देश Flag of India.svg भारत
राज्य मध्य प्रदेश
मालवा
District इन्दौर ज़िला
शासन
 • प्रणाली Mayor–Council
 • सभा इन्दौर नगर पालिक निगम
क्षेत्र[3]
 • महानगर 389.8
क्षेत्र दर्जा 10
ऊँचाई 553
जनसंख्या (2011)[4]
 • महानगर 1
 • दर्जा 14th
 • घनत्व 841
 • नगरीय[5] 3
 • Metro rank [[
वासीनाम Indori, Indorian
समय मण्डल IST (यूटीसी +5:30)
PIN ४५२०XX
Telephone code ०७३१
वाहन पंजीकरण MP-०९-XXXX
Sex ratio 0.00 are /[6]
Literacy Rate ८७.३८% (पुरुष)
७५.०२% (महिला)[6]
Climate Cwa / Aw ()
९४५ मिलीमीटर (३७.२ इंच)
Avg. annual temperature २४.० °से (७५.२ °फ़ै)
Avg. summer temperature ३१ °से (८८ °फ़ै)
Avg. winter temperature १७ °से (६३ °फ़ै)
जालस्थल indore.nic.in

इंदौर मध्य प्रदेश प्रान्त का सबसे बड़ा शहर है। यह मध्य प्रदेश की व्यावसायिक राजधानी है। इस शहर में अनेक महल और दो प्रमुख विश्वविद्यालय हैं, इंदौर भारत का एकमात्र एैसा शहर हैं जहा आई॰आई॰टी॰ एवं आई॰आई॰एम॰ दोनो हैं। वास्तव मे इन्दौर शहर का संस्थापक जमीन्दार परिवार है जो आज भी बड़ा रावला जूनी इन्दौर मे निवास करता है। सन् १७१५ में बसा यह शहर मराठा वंश के होल्कर राज में मुख्यधारा में आया। १८ मई १७२४ को हैदराबाद निजाम ने इंदौर पर पेशवा बाजीराव का आधिपत्य स्वीकार किया। इसके बाद पेशवा ने इंदौर को सूबा बनाकर मल्हारराव होलकर को सूबेदार नियुक्त किया। इंदौर एक पठार पर स्थित है। भौगोलिक स्थिति के कारण यहाँ की जलवायु अच्छी है और यहाँ का तापमान भारत के अन्य शहरों कि तुलना मे काफी स्थिर रहता है।

इन्दौर एक औद्योगिक शहर है। यहाँ लगभग ५,००० से अधिक छोटे-बडे उद्योग हैं। यह सारे मध्य प्रदेश मे सबसे अधिक वित्त पैदा करता है। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र मे ४०० से अधिक उद्योग हैं और इनमे १०० से अधिक अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के उद्योग हैं। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र के प्रमुख उद्योग व्यावसायिक वाहन बनाने वाले व उनसे सम्बन्धित उद्योग हैं। इंदौर व्यवसायिक क्षेत्र मे मध्य प्रदेश का प्रमुख वितरण केन्द्र और व्यापार मंडी है। यहाँ मालवा क्षेत्र के किसान अपने उत्पादन को बेचने और औद्योगिक वर्ग से मिलने आते है। यहाँ के आस पास की जमीन कृषि-उत्पादन के लिये उत्तम है और इंदौर मध्य-भारत का गेहूँ, मूंगफली और सोयाबीन का प्रमुख उत्पादक है। यह शहर, आस-पास के शहरों के लिए प्रमुख खरीददारी का केन्द्र भी है। इन्दौर अपने नमकीनों के लिये भी जाना जाता है।

इतिहास[संपादित करें]

तुकाजी राव होल्कर II, इन्दौर, १८५७

१७१५ में स्थानीय ज़मींदारों ने इन्दौर को नर्मदा नदी घाटी मार्ग पर व्यापार केन्द्र के रूप में बसाया था। पहले इन्दौर का नाम इन्दुर था लेकिन १७३१ ई. में बने इंद्रेश्वर मंदिर के कारण यहाँ का नाम इन्दौर पड़ा। यह मराठा होल्कर की पूर्व इन्दौर रियासत की राजधानी बन गया।[7]

मध्य प्रदेश में स्थित प्रसिद्ध शहर इन्दौर को अठारहवीं सदी के मध्य में मल्हारराव होल्कर द्धारा स्थापित किया गया था। होल्कर ने दूसरे पेशवा बाजीराव प्रथम की ओर से अनेक लड़ाइयाँ जीती थीं। १७३३ में बाजीराव पेशवा ने इन्दौर को मल्हारराव होल्कर को पुरस्कार के रूप में दिया था। उसने मालवा के दक्षिण-पश्चिम भाग को क़ब्ज़े में करके इन्दौर को अपनी राजधानी बनाया। उसकी मृत्यु के पश्चात दो अयोग्य शासक गद्दी पर बैठे, किंतु तीसरी शासिका अहिल्या बाई (१७५६-१७९५ ई.) ने शासन कार्य बड़ी सफलता के साथ निष्पादित किया। जनवरी १८१८ में इन्दौर ब्रिटिश शासन के अधीन हो गया। यह ब्रिटिश मध्य भारत संस्था का मुख्यालय एवं मध्य भारत की ग्रीष्मकालीन राजधानी (१९५४-५६) था। इन्दौर में होल्कर नरेशों के प्रासाद उल्लेखनीय हैं।

प्रमुख ऐतिहासिक एवं दर्शनीय स्थल[संपादित करें]

राजवाड़ा

राजबाड़ा, शिवविलास पैलेस, लालबाग, मल्हार आश्रम, मध्यभारत हिन्दी साहित्य समिति, गोपाल मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर, बांकेबिहारी मंदिर, जनरल लाइब्रेरी, आड़ा बाजार, बिजासन माता मन्दिर, अन्नपूर्णा देवी मन्दिर, यशवंत निवास, जमींदार बाडा, हरसिद्धी मंदिर, पंढ़रीनाथ, टाउन हॉल, शिवाजी राव स्कूल, अहिल्याश्रम, एसपी ऑफिस, छत्रीबाग, ओल्ड मेडिकल कॉलेज, आर्ट स्कूल, होलकर कॉलेज, देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, एमवाय अस्पताल, माणिक बाग, सुखनिवास, फूटीकोठी, दुर्गादेवी मंदिर, इमामबाडा, गणेश मंडल, बक्षीबाग, खजराना मंदिर, श्री ऋद्धि सिद्धि चिन्तामन गणेश मंदिर, कुम्हार मोहल्ला, जूनी इंदौर आदि इन्दौर के प्रमुख धरोहरें हैं।

  • राजबाड़ा

यह नगर के बीचोबीच स्थित है। १९८४ के दंगों के समय इसमें आग लग जाने से इसको बहुत क्षति पहुँची थी। उसके बाद इसको कुछ सीमा तक पुनर्निर्मित करने का प्रयत्न किया गया।

  • कांच मन्दिर

यह एक जैन मन्दिर है जिसमें दीवारों पर अन्दर की तरफ कांच से सजाया गया है।

  • कान्ह नदी

इन्दौर में एक नदी भी बहती है जिसका पुराना नाम कृष्णा या 'कान्ह नदी' है। 'खान नदी', 'कान्ह' का अपभ्रंश है। किन्तु पानी की कमी एवं जलमल निकासी को इस नदी मे छोड़ने के कारण यह अब एक नाले में बदल चुकी है। इसी के किनारे छतरियां हैं। यह स्थान राजबाड़े से लगभग १०० मीटर की दूरी पर है।

  • खजराना मंदिर

खजराना मंदिर भगवान गणेश का एक सुन्दर मंदिर है। ये मंदिर विजय नगर से पास है। ये मंदिर अहिल्या बाई होलकर ने दक्षिण शैली में बनवाया था। यह मंदिर इन्दौरवासियों की आस्था का केंद्र है। यहाँ पर भगवान गणेश के साथ माता दुर्गा, लक्ष्मी, साईबाबा आदि भगवान के मंदिर है।

कृष्णपुरा की छतरियाँ
  • प्रमुख धार्मिक स्थल
  • अन्नपूर्णा मन्दिर
  • खजराना का गणेश मन्दिर
  • हरसिद्धि मन्दिर
  • देवगुराडिया
  • बिजासन माता मन्दिर, एरोड्रम रोड
  • गेन्देश्वर महादेव मन्दिर, परदेशीपुरा
  • गोपेश्वर महादेव मन्दिर, गान्धी हॉल परिसर
  • जबरेश्वर महादेव मन्दिर, राजबाडा
  • गोपाल मंदिर, राजबाडा
  • श्री रिद्धी सिद्धी चिन्तामन गणेश मंदिर, कुम्हार मोहल्ला, जूनी इंदौर
  • शनि मन्दिर, जूनी इंदौर
  • कांच मन्दिर

यातायात[संपादित करें]

  • विमानक्षेत्र
देवी अहिल्याबाई होलकर विमानक्षेत्र

इंदौर का विमानक्षेत्र इसे भारत के प्रमुख शहरो से हवाई मार्ग से जोड़ता है।

सार्वजनिक यातायात की दृष्टि से सन् २००५ तक इन्दौर बहुत पिछड़ा था किन्तु उसके बाद इन्दौर नगर निगम ने नगर बस सेवा आरम्भ की जो भारत में सर्वोत्तम कही जा सकती है। रेल यातायात की दृष्टि से इन्दौर मुख्य रेल मार्ग पर स्थित नहीं है। तथापि यहां से दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, पटना, देहरादून तथा जम्मू-तवी के लिये सीधी गाडियाँ उपलब्ध हैं। इन्दौर से भोपाल और खण्डवा के लिये बहुत अच्छी बस सेवा उपलब्ध है।


  • 'इंदौर सिटी बस'
इंदौर सिटी बस रूट 7 (तेजाजी नगर-गांधी नगर)

इंदौर में एक अच्छी तरह से विकसित परिवहन प्रणाली है। अटल इंदौर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड, एक पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप योजना बसों और रेडियो टैक्सियां शहर में चल रही है। नामित बसों सिटी बस ३६ मार्गों पर, संचालित करीब १७० बस स्टॉप के साथ। बसें कलर-कोडेड उनके मार्ग के अनुसार कर रहे हैं। उनमें से कई गैर-एसी हैं और जीपीएस सिस्टम और दुर्घटना से बचें से लैस हैं।

  • 'इन्दौर बीआरटीएस' (ibus)

इंदौर बीआरटीएस एक बस ​​रैपिड ट्रांजिट प्रणाली है जिसका १० मई २०१३ से परिचालन शुरू किया गया है। यह वातानुकूलित (एसी) बसों के साथ चलती हैं। इन बसों में भी जीपीएस और आईवीआर जैसी सेवाओं जैसे एलईडी प्रदर्शन है। यह निरंजनपुर और राजीव गांधी चौराहा के बीच समर्पित गलियारे में चलाई जाती ही। जिसके आगे राऊ को राजीव गांधी चौराहा से सामान्य सड़क गलियारे से इस सेवा के लिए आगे महू जो की बिना एक समर्पित गलियारे के कार्य करेंगे।

  • स्थानीय परिवहन भी शामिल है ऑटो रिक्शा, मारुति वैन और टाटा मैजिक वैन सीएनजी जो मिनी बसें भी theनगर सेवा नामक जगह ले ली है। कई निजी टैक्सी सेवा भी TaxiForSure, जैसे ओला कैब्स, मेरु कैब्स उबर और चार्टर्ड कैब्स (पहले मेट्रो टैक्सी) शहर में संचालित होते हिन्।
मेट्रो टैक्सी इंदौर में

शहर के प्रमुख बस-अड्डे हैं :

  • सरवटे बस-स्टैण्ड(इन्दौर रेलवे स्टेशन के पास)
  • गंगवाल बस-स्टैण्ड (लाबरिया भैरू, धार रोड)
  • नवलखा बस-स्टैंड(आगरा मुम्बई रोड)
  • विजय नगर ISBT(ए.बी. रोड) बस टर्मिनल जो की पूरा अंतर्र-राज्य बस-अड्डे के रूप में अच्छी तरह से विकसित किया जायेगा।

इंदौर के प्रमुख उपनगर[संपादित करें]

इंदौर से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र[संपादित करें]

इन्दौर की संस्थाएँ[संपादित करें]

शिक्षण संस्थाएँ[संपादित करें]

भारतीय प्रबन्ध संस्थान (इन्दौर)

इंदौर महाविद्यालयो और विद्यालयो की श्रृंखला के लिए जाना जाता है। इंदौर में एक बड़े छात्र आबादी है और यह मध्य भारत में एक बड़ा शिक्षा का केंद्र है, यह भी मध्य भारत के एजुकेशन हब है [8] इंदौर में अधिकांश प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से मान्यता प्राप्त है। हालांकि, स्कूलों की संख्या में काफी कुछ आईसीएसई बोर्ड, एनआईओएस बोर्ड, CBSEi बोर्ड और राज्य स्तर सांसद के साथ संबद्ध हैं।

डेली कॉलेज, 1882 में स्थापना की, दुनिया में सबसे पुराना सह-शिक्षा बोर्डिंग स्कूलो में से एक है, जो 'मराठा' की केन्द्रीय भारतीय रियासतों के शासकों को शिक्षित करने के लिए स्थापित किया गया था। [9] होलकर विज्ञान महाविद्यालय, आधिकारिक तौर पर सरकार के मॉडल स्वायत्त होलकर साइंस कॉलेज के रूप में जाना जाता है। महाविद्यालय की स्थापना 10 जून, 1891 [10]को शिवाजी राव होलकर द्वारा की गई थी।


इंदौर भारत में एकमात्र शहर है जहाँ भारतीय प्रबन्धन संस्थान (IIM Indore) व भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT Indore) दोनों स्थापित है।

सोशल वर्क इंदौर स्कूल (ISSW) सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में एक स्कूल है जो दोनों शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में कार्य करता है। वर्ष 1951 से पेशेवर सामाजिक कार्यकर्ताओ को प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है।

देवी अहिल्या विश्वविद्यालयय, जो "डी ए वी वी" (पूर्व में इंदौर विश्वविद्यालय के रूप में जाना जाता था) के रूप में जाना कई अपने तत्वावधान ऑपरेटिंग कॉलेजों के साथ इंदौर में एक विश्वविद्यालय है। यह शहर के भीतर दो परिसरों, तक्षशिला परिसर (भंवरकुआ चौराहे के पास) में एक और रवींद्र नाथ टैगोर रोड, इंदौर में है। विश्वविद्यालय सहित कई विभागों चलाता इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (आईएमएस), संगणक विज्ञान एवं सूचना प्रौद्योगिकी का विद्यालय (SCSIT), कानून के स्कूल (एसओएल), इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (आईईटी), शैक्षिक मल्टीमीडिया रिसर्च सेंटर (EMRC), व्यावसायिक अध्ययन के इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट (आईआईपीएस), फार्मेसी के स्कूल, ऊर्जा और पर्यावरण अध्ययन के स्कूल - एम टेक के लिए प्राइमर स्कूलों में से एक। (ऊर्जा प्रबंधन), पत्रकारिता के स्कूल और फ्यूचर्स अध्ययन और योजना है, जो दो एम टेक चलाता स्कूल। प्रौद्योगिकी प्रबंधन और सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग, एमबीए (बिजनेस पूर्वानुमान), और एमएससी में विशेषज्ञता के साथ पाठ्यक्रम। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार में। परिसर में कई अन्य अनुसंधान और शिक्षा विभाग, हॉस्टल, खेल के मैदानों और कैफ़े के घरों।

महात्मा गांधी स्मारक चिकित्सा महाविद्यालय (MGMMC) एक और पुरानी संस्था है, और पूर्व में किंग एडवर्ड मेडिकल कॉलेज के रूप में जाना जाता था [11] श्री गोविन्दराम सेकसरिया प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान (SGSITS) को 1952 में स्थापित किया गया।


सामाजिक संस्थाएँ[संपादित करें]

अन्य[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]


इन्‍दौर शहर की सरकारी एजेंसियाँ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]


  1. "Indian cities and their Nicknames". The Daily Moss. http://www.dailymoss.com/indian-cities-and-their-nicknames. अभिगमन तिथि: February 6, 2016. 
  2. "Indore". Maps of India. http://www.mapsofindia.com/indore. अभिगमन तिथि: February 6, 2016. 
  3. "Area of Indore census 2001". Indore.nic.in. http://www.indore.nic.in/statistics.htm. अभिगमन तिथि: 29 April 2012. 
  4. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; census_city नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  5. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; census_metro नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  6. http://www.census2011.co.in/census/district/306-indore.html
  7. http://bharatdiscovery.org/india/%E0%A4%87%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A6%E0%A5%8C%E0%A4%B0
  8. MPAKVN. [http: //www.mpakvnindore.com/index.php? page= शिक्षा "इंदौर-तकनीकी और उच्च शिक्षा का एक केंद्र"]. MPAKVN. http: //www.mpakvnindore.com/index.php? page= शिक्षा. अभिगमन तिथि: 31 दिसम्बर 2015. 
  9. Lord Curzon in India: Being a Selection from His Speeches as Viceroy and Governor-General of India 1898-1905, by George Nathaniel Curzon Curzon, Thomas Raleigh. Published by Macmillan and co., limited, 1906. Page 233. Speech: "4th November, 1905"...."The old Daly College was founded here as long ago as 1881, in the time of that excellent and beloved Political Officer, Sir Henry Daly"...
  10. "इतिहास" (अंग्रेजी में). होलकर महाविद्यालय. http://www.mpcolleges.nic.in/holkarpgc/. अभिगमन तिथि: 4 फरवरी 2016. 
  11. Indore city govt. website: Mahatma Gandhi Memorial Medical College