क्रिसमस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
क्रिसमस
क्रिसमस
क्रिसमस से संबंधित एक चित्र
अनुयायी इसाई
कई गैर-इसाई लोग[1]

क्रिसमस या बड़ा दिन ईसा मसीह या यीशु के जन्म की खुशी में मनाया जाने वाला पर्व है। यह 25 दिसम्बर को पड़ता है और इस दिन लगभग संपूर्ण विश्व मे अवकाश रहता है। क्रिसमस से 12 दिन के उत्सव क्रिसमसटाइड की भी शुरुआत होती है। एन्नो डोमिनी काल प्रणाली के आधार पर यीशु का जन्म, 7 से 2 ई.पू. के बीच हुआ था। 25 दिसम्बर यीशु मसीह के जन्म की कोई ज्ञात वास्तविक जन्म तिथि नहीं है और लगता है कि इस तिथि को एक रोमन पर्व या मकर संक्रांति (शीत अयनांत) से संबंध स्थापित करने के आधार पर चुना गया है। आधुनिक क्रिसमस की छुट्टियों मे एक दूसरे को उपहार देना, चर्च मे समारोह और विभिन्न सजावट करना शामिल है। इस सजावट के प्रदर्शन मे क्रिसमस का पेड़, रंग बिरंगी रोशनियाँ, बंडा, जन्म के झाँकी और हॉली आदि शामिल हैं। सांता क्लॉज़ (जिसे क्रिसमस का पिता भी कहा जाता है हालाँकि, दोनों का मूल भिन्न है) क्रिसमस से जुड़ी एक लोकप्रिय पौराणिक परंतु कल्पित शख्सियत है जिसे अक्सर क्रिसमस पर बच्चों के लिए तोहफे लाने के साथ जोड़ा जाता है। सांता के आधुनिक स्वरूप के लिए मीडिया मुख्य रूप से उत्तरदायी है।

क्रिसमस को सभी ईसाई लोग मनाते हैं और आजकल कई गैर ईसाई लोग भी इसे एक धर्मनिरपेक्ष, सांस्कृतिक उत्सव के रूप मे मनाते हैं। क्रिसमस के दौरान उपहारों का आदान प्रदान, सजावट का सामन और छुट्टी के दौरान मौजमस्ती के कारण यह एक बड़ी आर्थिक गतिविधि बन गया है और अधिकांश खुदरा विक्रेताओं के लिए इसका आना एक बड़ी घटना है।

दुनिया भर के अधिकतर देशों में यह २५ दिसम्बर को मनाया जाता है। क्रिसमस की पूर्व संध्या यानि 24 दिसम्बर को ही जर्मनी तथा कुछ अन्य देशों में इससे जुड़े समारोह शुरु हो जाते हैं। ब्रिटेन और अन्य राष्ट्रमंडल देशों में क्रिसमस से अगला दिन यानि 26 दिसम्बर बॉक्सिंग डे के रूप मे मनाया जाता है। कुछ कैथोलिक देशों में इसे सेंट स्टीफेंस डे या फीस्ट ऑफ़ सेंट स्टीफेंस भी कहते हैं। आर्मीनियाई अपोस्टोलिक चर्च 6 जनवरी को क्रिसमस मनाता है पूर्वी परंपरागत गिरिजा जो जुलियन कैलेंडर को मानता है वो जुलियन वेर्सिओं के अनुसार २५ दिसम्बर को क्रिसमस मनाता है, जो ज्यादा काम में आने वाले ग्रेगोरियन कैलेंडर में 7 जनवरी का दिन होता है क्योंकि इन दोनों कैलेंडरों में 13 दिनों का अन्तर होता है।

व्युत्पत्ति विज्ञान[संपादित करें]

गज् को अलग अलग देशों मे अलग अलग नाम से पुकारा जाता है, भारत और इसके पड़ोसी देशों मे इसे बड़ा दिन यानि महत्वपूर्ण दिन कहा जाता है। किसी देश पर अपनी पकड़ मजबूत करने के लिये सबसे अच्छा तरीका है कि वहां की संस्कृति, सभ्यता, धर्म पर अपनी संस्कृति, सभ्यता और धर्म को कायम करो। 210 साल पहले, अंग्रेजों ने भारत में अपनी पकड़ मजबूत कर ली थी। यह वह समय था जब ईसाई धर्म फैलाने की जरूरत थी। अंग्रेज, यह करना भी चाहते थे। उस समय 25 दिसम्बर वह दिन था, जबसे दिन बड़े होने लगते थे। हिन्दुवों में इसके महत्व को भी नहीं नकारा जा सकता था। शायद इसी लिये इसे बड़ा दिन कहा जाने लगा ताकि हिन्दू इसे आसानी से स्वीकार कर लें।[2]

इस क्रिसमस[संपादित करें]

जर्मन चित्रकारी, 1457

ईसाइयों का यीशु (Nativity of Jesus) के बारे में ये मान्यता है की "मसीहा" (Messiah) मरियम (Virgin Mary) के पुत्र क रूप में पैदा हुआ क्रिसमस की कहानी मैथ्यू की धर्मं शिक्षा (गोस्पेल ऑफ़ मैथ्यू) (Gospel of Matthew) में दिए गए बाईबिल खातों पर आधारित है, और दी ल्यूक की धर्मं शिक्षा (गोस्पेल ऑफ़ लुके) (Gospel of Luke), विशेषकर इसके अनुसार येशु मरियम कों उनके पति सेंट जोसेफ (Joseph) के मदद से बेतलेहेम (Bethlehem) में प्राप्त हुए थे लोकप्रिय परम्परा के अनुसार इनका जनम एक अस्तबल में हुआ था जो हर तरफ़ से कह्तिहर जानवरों से घिरा था। हलाकि न तो अस्तबल और न ही जानवरों का बाइबल में कोई जिक्र है हालांकि, एक "व्यवस्थापक" ल्यूक 2:7 में उल्लेखित है जहां यह कहा गया है की "वह कपड़ों में लिपटा हुआ और उसे एक चरनी में उसे रखा, क्योंकि वहाँ के सराय में उनके लिए कोई जगह नहीं थी।"पुरानी प्रतिमा विज्ञान ने, स्थिर और चरनी एक गुफा के भीतर स्थित थे (जो अभी भी चर्च बेतलेहेम में ईसाइयों के तहत मौजूद है) की पुष्टि की है[3]. वहां के जानवरों को येशु के जनम के बारे में फ़रिश्ताने बताया था अतः उन्होंने बच्चे[4] को सबसे पहेले देखा इसयेयो का मानना है की येशु के जनम[तथ्य वांछित] ने इनके जन से १०० साल पहेले की गए भविष्यवाणी को सच कर दिया

इसयेयों के लिए येशु को याद करना या का पुनम जन्म ही क्रिसमस मानना है वहाँ की एक बहुत ही लंबी परंपरा रही है ईसाइयों का यीशु की कला में (Nativity of Jesus in art).पूर्वी परंपरागत चर्च प्रथाओं को ईसाइयों का फास्ट (Nativity Fast) यीशु के जन्म की प्रत्याशा है, जबकि बहुत से पश्चिमी ईसाई धर्म (पश्चिमी चर्च) (Western Church) मनाते है आगमन (Advent) के रूप में.कुछ ईसाई मूल्यवर्ग (Christian denominations) में, बच्चों पुनः बताते हुई घटनाओं के नाटक में प्रदर्शन करते हैं, या वो गाने गाते हैं जो इन घटनाओं को बताते हैं। कुछ ईसाई ईसाइयों का दृश्य (Nativity scene) को जाना के सृजन का प्रदर्शन अपने घरों में करते है जिसे ईसाइयों का दृश्य कहा जाता है। इसमें मुख्य पात्रों से को चित्रित करने के लिए figurines का उपयोग करते हुए. Use Suggestion Live ईसाइयों का दृश्य है, उर चित्र विवंत (tableaux vivants) भी, किए जाते हैं तथा और अधिक यथार्थवाद[5] के साथ इस घटना को चित्रित करने के लिए कलाकारों और जीवित पशुओं का उपयोग किया जाता है।

ईसाइयों के प्रदशन दृश्य में बाइबिल मागी (तीन बुद्धिमान व्यक्तिओं) (the Three Wise Men), के साथ बल्थाज़र, मेल्चिओर और कैस्पर, का भी प्रदर्शन होता है हलाकि इनका नाम या संख्या बाइबल की कहानी में कहीं नहीं है इनके बारे में कहते हैं की बेत्लेहेम के सितारों (Star of Bethlehem) के साथ चल कर ये यीशु के पास जा पहुचे और स्वर्ण, लोहबान (frankincense) और लोहबान (किशमिश) (myrrh) के उपहार दिए.[6]

सामान्यतः ईसाइयों का दृश्य अमेरिका में, क्रिसमस की सजावट में सार्वजनिक इमारतें (public buildings) भी एक बार शामिल होते हैं। इस अभ्यास से कई लाव्सुइट्स की उत्पत्ति हुई, जैसे अमेरिकन सिविल लिबर्टीज यूनियन (American Civil Liberties Union) यह सरकार को जो द्वारा निषिद्ध है एक धर्म, का समर्थन करते मात्रा में विश्वास संयुक्त राज्य अमेरिका संविधान (United States Constitution).

१९८४ में लिंच बनाम दोंनेल्ली (लिंच वस . दोंनेल्ली) (Lynch vs. Donnelly) में अमेरिकी उच्चतम न्यायालय (U.S. Supreme Court) ने समस के प्रदर्शन (जो) ईसाइयों का एक दृश्य भी शामिल स्वामित्व है और शहर के द्वारा प्रदर्शित पव्तुक्केट, रोड आइलैंड (Pawtucket, Rhode Island) के बारे में कहा की ये प्रथम संशोधन[7] का उल्लंघन नहीं करते

इतिहास[संपादित करें]

ईसाई धर्म से मूल[संपादित करें]

कई संस्कृतियों में एक सर्दियों का त्यौहार परंपरागत तरीके से मनाया जाने वाला सबसे लोकप्रिय त्योहार था। इसके वजा थी कम कृषि कार्य होता था और उत्तरी गोलार्द्ध (Northern Hemisphere).[8] में सर्दियों की उच्चतम शिखर (winter solstice) होने के कारण लौमीद करते The की दिन लंबे और रात छोटी होगी संक्षिप्त मैं, क्रिसमस का त्यौहार पहेले के च्रुचों द्वारा मानना शरू किरु किया गया यह सूच के की इससे पगन रोमंस अपना धर्म बदल कर ईसाई धर्मअपना लें और साथ ही अपने भी सर्दियों के सारे त्यौहार मना लेंगे.[8][9]कुछ khas देवी देवता जिसे उस पन्त के लोग मानते हैंउनका भी जनम दिन 25 दिसम्बर को मनाया जाता था। इसमे प्रमुख है इश्टर, बब्य्लोनियन गोद्देस्स ऑफ़ फेर्तिलिटी, लव, एंड वार, सोल इन्विक्टुस एंड मिथ्रास. आधुनिक युग के क्रिसमस मना के तर्रेके में उत्सव का आनद उठाने के साथ उपहारों का भी आदान प्रदान होता है। इसके अलावा आनद लेने के लिए रोमंस सतुर्नालिया (Saturnalia) ग्रीनरी, लायीट्स तथा रोमंस के नए साल की पवित्रता; और युले की लकडियों पे तरह-तरह के पकवान बनते हैं जो तयूटोंस (Teutonic) फेअस्ट्स[10] में शामिल थे। ऐसे परम्परा कहता हैं की निम्नलिकित सर्दियों के त्योहारों से प्रेरित है।

नातालिस सोलिस इन्विक्टी[संपादित करें]

यीशु मसीह के मोज़ेक को सोल पूर्व में मक़बरा एम में (सूर्य भगवान) के रूप में चौथी शताब्दी के क़ब्रिस्तान में दर्शाया रोम में सेंट पीटर की बासीलीक के अंतर्गत. उसे नाम दिया गया क्राईस्ट सोल (क्राईस्ट दी सन) और देर से 3री सदी के लिए इटली के पुरातत्वविदों द्वारा दिनांकित है।[11]

रोमांस 25 दिसम्बर को एक त्योहर मानते है जिसे डईस नातालिस सोलिस इन्विक्टी, जिसका अर्थ था "अपराजी सूर्य का जनम दिन सोल इन्विक्टुस का प्रयोग से कई सौर देवताओं (solar deities) के सामूहिक, पूजा करने की इज्ज़ज़त देता है जिसमे एल (देवता), सिरियन देवता सोल, दि गॉड आफ़ एंपरर ऑरीलियन (AD 270–274); और मित्र, सोल्जरस ऑफ़ गॉड (फारसी पुराण).[12] सम्राट एलागाबलुस (218–222) ने इस त्यौहार की शुरुआत की और ये औरेलियन के सानिध्य में इसने बुलंदी हासिल किन जिसने इसे साम्राज्य की छुट्टी[13] के रूप में बढ़ावा दिया।

दिसम्बर २५ को सर्दियों का उच्चतम शिखर होता है जिसे रोमांस ब्रूम फेल[14] कहते हैं (जब जुलियस सीसर ने जूलियन कैलेंडर का 45 ई.पू. में परिचय दिया, 25 दिसम्बर के उच्चतम शिखर के लगभग की तारीख थी। आज के समय में यह ठण्ड की उच्च्यातम शिखर दिसम्बर २१ या २२ को पड़ती है यह ऐसा दिन्होता है जिस दिन सूर्य ख़ुद को अपराजित सिद्ध कर क उत्तरी डिश में क्षितिज की तरफ़ बढ़ता है कैथोलिक विश्वकोश.[15] के अनुसार सोल इन्विक्टुस त्योहार क्रिसमस की तारीख के लिए होता है। फेले के बहुत से लेखक येशु के जनम को सूर्य के जनम से मिलते हैं[16] "हे, कैसे अद्भुत प्रोविडेंस अभिनय किया है कि जिस पर कि सूर्य का जन्म हुआ उस दिन पर...यीशु को पैदा होना चाहिये क्यप्रियन ने लिखा था।[15]

यूल[संपादित करें]

बुतपरस्त स्कैंडिनेविया एक युले नम का पर्व मानते हैं जो दिसम्बर अंत या जनुअरी के शुरू में होता है थोर (Thor) भगवान जो कम्पन के देवता हैं उन्हें आदर देने के लिए युले की लकड़ी जलाई जाती है और मन जाता है क आग से निकले हर चिंगारी आने वाल्व वर्ष में एक सूएर या बछडे को जनम देगा आने वाले 12 दिनों तक भोज चलता है जब तक सारी लकडियाँ पूरी तरह जल नहीं जाती.[8] बुतपरस्त में जेर्मेनिया (जर्मनी के साथ भ्रमित होना नहीं), के समकक्ष छुट्टी मध्य सर्दियों की रात होती है जिसके साथ ही 12 "जंगली रातें" होती हैं जिनमे खाना पीना और पार्टीबाजी होती है।[17] चुकी उत्तरी यूरोप (Northern Europe) इसै धर्मं में परिवर्तित होने वाल आखिरी भाग था इस लिए इसका पेगन माने का तरीका क्रिसमस पैर ज्यादा प्रभाव डालता है स्कान्दिनाविया के लोग अभी भी क्रिसमस कों अंग्रेजी में 'कहते . हैं गेर्मन शब्द युले क्रिसमस[18] का पर्यायवाची है जो कथित फेले बार ९०० में प्रयोग हुआ

ईसाई धर्म का मूल[संपादित करें]

(ओरिगेन), ईसाई चर्च के पिता, ने जन्मदिन के उत्सव के खिलाफ तर्क दिया मसीह के जन्म के सहित.

यह अज्ञात है कि ठीक कब या क्यों 25 दिसम्बर मसीह के जन्म के साथ जुड़ गया। नया नियम भी निश्चित तिथि नहीं देता है।[19] सेक्स्तुस जूलियस अफ्रिकानुस ने अपनी किताब च्रोनोग्रफिई, एक संदर्भ पुस्तक ईसाईयों के लिए 221 ई. में लिखी गई, में यह विचार लोकप्रिय किया है कि मसीह 25 दिसम्बर को जन्मे थे।[16] यह तिथि अवतार (मार्च 25) की पारंपरिक तिथि के नौ महीने के बाद की है, जिसे अब दावत की घोषणा के रूप में मनाया जाता है।मार्च 25 को वासंती विषुव|की तारीख माना गया था और पुराने ईसाई भी मानते हैं की इस तारीख को मसीह को क्रूस पर चढ़ाया गया था। ईसाई विचार है कि मसीह की जिस साल क्रूस पर मृत्यु हो गई थी उसी तिथि पर वो फ़िर से गर्भित हुए थे जो एक यहूदी विश्वास के साथ अनुरूप है कि एक नबी कई साल का जीवित रहे थे।[20]

एक दावत के रूप में क्रिसमस का जश्न च्रोनोग्रफई के प्रकाशित होने के बाद कुछ समय तक नहीं किया गया था। तेर्तुल्लियन इसका उल्लेख चर्च रोमन अफ्रीका के में एक प्रमुख दावत के दिन के रूप में नही करता. 245 में, थेअलोजियन ओरिगेन ने मसीह के जन्मदिन का उत्सव "जैसे की वेह राजा फिरौन हों" के रूप में करने की निंदा की. उन्होंने कहा कि केवल पापी अपना जन्मदिन मनाते हैं, सेंट नहीं.[21]

25 दिसम्बर को जन्म के उत्सव का शुरूआती संदर्भ 354 की क्रोनोग्रफी, 354 में रोम में संकलित एक प्रबुद्ध पांडुलिपि में पाया जाता है।[15][22] पूर्व में, पहले ईसाइयों के भाग के रूप में मसीह के जन्म मनाया घोषणा (जनवरी 6), हालांकि इस त्यौहार को पर केंद्रित यीशु का बपतिस्मा.[23]

क्रिसमस ईसाई पूर्व में रोमन कैथोलिक ईसाई के पुनरुद्धार के भाग के रूप में पदोन्नत किया गया था अरियन सम्राट वेलेंस की 378 में अद्रिअनोप्ले की लड़ाई में मृत्यु के साथ इस दावत को 379 में कोन्स्तान्तिनोप्ले के लिए पेश किया गया था और लगभग 380 में अन्ताकिया में यह दावत ग्रेगरी नज़िंज़ुस के 381 में बिशप पद से इस्तीफा देने के बाद गायब हो गई, हालांकि यह लगभग 400 में जॉन च्र्य्सोस्तोम द्वारा फ़िर से शुरू कर दी गई।[15]

क्रिसमस के बारह दिन क्रिसमस दिवस, 26 दिसम्बर के बाद के दिन जो की सेंट स्टीफन दिनम है से दावत की घोषणा जो की 6 जनवरी को है, से बारह दिन हैं, जिसमे कि प्रमुख दावतें आती हैं मसीह के जन्म के आसपास.लातिनी संस्कार में, क्रिसमस के दिन के एक हफ्ते के बाद 1 जनवरी, मसीह के नामकरण और सुन्नत की दावत समारोह को पारंपरिक रूप से मनाया जाता है, लेकिन वेटिकन II से, इस दावत को मरियम की धार्मिक क्रिया के रूप में मनाया गया है।

कुछ परंपराओं में क्रिसमस के शुरू के 12 दिन क्रिसमस के दिन (25 दिसम्बर) से शुरू होते हैं और इसलिए 12वां दिन 5 जनवरी है।

मध्य युग[संपादित करें]

आराधना (डॉन लोरेंजो मोनाको) (1422) के द्वारा दी बाइबिल मागी) का चित्र.

शुरूआती मध्य युग में, क्रिसमस दिवस घोषणा द्वारा प्रतिछायित था जो पश्चिम में बाइबिल मागी (magi) के दौरे पर केंद्रित था। लेकिन मध्यकालीन कैलेंडर में क्रिसमस की छुट्टियों से संबंधित का प्रभुत्व था। क्रिसमस के पहले के चालीस दिन "सेंट मार्टिन के चालीस दिन" बन गए (जो नवम्बर 11को सेंट मार्टिन के पर्यटन (St. Martin of Tours) की दावत के रूप में शुरू हुए), जो अब आगमन (Advent) के रूप में जाना जाता है।[24] इटली में, पूर्व सतुर्नालियन परंपराएं आगमन से जुड़े थी।[24] 12 वीं शताब्दी के आसपास, इन परंपराओं को फिर से (क्रिसमस के बारह दिन) (26 दिसम्बर -- जनवरी 6) मैं परिवर्तित कर दिया गया; वो समय जो कैलेंडर में क्रिस्त्मसटाईड (च्रिस्त्मस्तिदे) (Christmastide) या बारह पवित्र दिन (Twelve Holy Days) के रूप में है।[24] क्रिसमस दिवस की प्रमुखता चर्लेमगने के बाद धीरे धीरे बढ़ी जिसे क्रिसमस दिवस पर 800 में, महाराजा का ताज पहनाया गया था और राजा शहीद एडमंड (Edmund the Martyr) का उस दिन पर 855 में अभिषेक किया गया था। राजा इंग्लैंड के विलियम I को क्रिसमस दिवस 1066 पर ताज पहनाया गया था। क्रिसमस के मध्य युग के दौरान एक सार्वजनिक समारोह रहा, जिसमे शामिल रहे आइवी (ivy), हॉली (holly) और अन्य सदाबहार, साथ ही उपहार-देन भी था।[25] क्रिसमस उपहार-मध्य युग के दौरान दे अधिक बार कानूनी रिश्ते के लोगों के बीच (यानी मकान मालिक और किरायेदार) करीबी मित्रों और रिश्तेदारों के बीच से भी चलाया गया था।[25] उच्च मध्य युग (High Middle Ages) तक, यह छुट्टी इतनी प्रख्यात हो गई कि इतिहासकारों ने लगातार यह अनुभव किया कि विभिन्न रईसों ने क्रिसमस मनाया. इंग्लैंड के इंग्लैंड के रिचर्ड II ने 1377 में एक क्रिसमस भोज की मेजबानी की, जिस में अट्ठाईस बैल और तीन सौ भेड़ खाई गई थी।[24] दी यूल बोअर मध्ययुगीन क्रिसमस कि दावतों की एक सामान्य विशेषता थी। क्रिसमस का गीत (Caroling) भी लोकप्रिय हो गई और यह मूल रूप से नर्तकियों का एक समूह था जो गाया करता था। यह समूह एक मुख्य गायक और नर्तकियों के घेरे से बना था जो कोरस बनाता था। इस समय के विभिन्न लेखकों ने मंगल गानों भद्दा कहकर निंदा की है, संकेत देते हुए की कि आनंद का उत्सव के अनियंत्रित परंपराओं और यूल इस रूप में जारी हो सकती है।[24]"कुशासन" - मादकता, अभेद, जुआ - भी इस त्योहार का एक महत्वपूर्ण पहलू था। इंग्लैंड में, उपहारों नए साल का दिवस (New Year's Day) दिए जाते थे और वहाँ विशेष क्रिसमस शराब होती थी।[24]

अंश से (योशिय्याह राजा)'s परीक्षा और परीक्षण पिता क्रिसमस का (1686), कुछ ही समय के बाद क्रिसमस एक पवित्र दिवस के रूप में बहाल किया गया प्रकाशित इंग्लैंड.

सुधार से 1800s तक[संपादित करें]

धर्मसुधार के दौरान, कुछ प्रोटेस्टेंट (Protestant)[कौन?] ने क्रिसमस के जश्न की निंदा "त्रप्पिंग्स ऑफ़ पोप" और "शैतान के रैग्ज़" के रूप में की[तथ्य वांछित] रोमन कैथोलिक चर्च (Roman Catholic Church) ने इसे और अधिक धार्मिक उन्मुख रूप में इस त्यौहार को बढ़ावा देने के द्वारा प्रतिक्रिया व्यक्त की. अंग्रेज़ी गृहयुद्ध के दौरान निम्नलिखित सांसद (Parliamentarian) की राजा चार्ल्स I (King Charles I) के ऊपर जीत, इंग्लैंड के नैतिकतावादी (Puritan) शासकों ने 1647 में क्रिसमस पर रोक लगा दी.क्रिसमस के पहले दंगों कई शहरों में हो गए और कई सप्ताह के लिए कैंटरबरी (Canterbury) को दंगाइयों द्वारा नियंत्रित किया गया, जो होली के साथ दरवाजे सजाया करते थे और राजभक्त नारे चिल्लाते थे।[26] चार्ल्स द्वितीय की 1660 में अंग्रेज़ी बहाली (Restoration) पर प्रतिबंध समाप्त हो गया लेकिन कई पादरी अभी भी क्रिसमस के समारोह को अस्वीकृत करते हैं।

कॉलोनियल अमेरिका (औपनिवेशिक अमेरिका) में, "न्यू इंग्लैंड" के तीर्थयात्री ने क्रिसमस को अस्वीकृत कर दिया; इसका समारोह बोस्टन, मैसाचुसेट्स में 1659 से 1681 तक गैरकानूनी घोषित किया गया। इसी समय, वर्जीनिया (Virginia) और न्यूयॉर्क के ईसाई निवासियों ने इस छुट्टी को आज़ादी से मनाया.क्रिसमस संयुक्त राज्य अमेरिका में अमेरिकी क्रांति (American Revolution) के बाद शुरू हो गया, जब इसे एक अंग्रेज़ी कस्टम माना गया था।[27] वास्तव में, एक अमेरिकी क्रांतिकारियों की सबसे बड़ी सफलता ट्रेंटन का युद्ध क्रिसमस पर में हेस्सियन भाड़े के सैनिक टुकड़ियों पर हमला करके perpetuated था। 1820 से, इंग्लैंड में साम्प्रदायिकता (sectarian) तनाव ठीक होने लगा था और ब्रिटिश लेखकों चिंता करने लगे कि क्रिसमस ख़तम होने लगा था, विशेष रूप से लेखक विलियम विन्स्तान्ले ने फिर से इस त्योहार को प्रसिद्धि दिलाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. ट्यूडर अवधि (Tudor) क्रिसमस की हार्दिक खुशी की एक समय के रूप में और प्रयासों के अवकाश को पुनर्जीवित करने के लिए बनाए गए थे। चार्ल्स डिक्केन्स (Charles Dickens) की किताब एक क्रिसमस कैरल, 1843 में प्रकाशित, ने क्रिसमस को छुट्टी के रूप में बदलने में एक प्रमुख भूमिका निभाई परिवार (family), सद्भावना और सांप्रदायिक उत्सव और अधिक से अधिक दया पर ज़ोर दिया.[28] वॉशिंगटन इरविंग (Washington Irving) द्वारा लिखी गयी कई लघु कहानियो (short stories) में से अमेरिका में क्रिसमस में लोगों की रुचि जागृत हुई . ये कहानियाँ उसकी ग़ेओफ़्फ़्रेय क्रेयों की संक्षिप्त वर्णन बुक (The Sketch Book of Geoffrey Crayon) और "ओल्ड क्रिसमस", में प्रकाशित थी और कुछ 1822 के क्लेमेंट क्लार्के मूरे (Clement Clarke Moore)'(या शायद हेनरी बीक्मन लिविनग्स्तों (Henry Beekman Livingston)) द्वारा लिखित ए विज़िट फ्रॉम सत. निकोलस (A Visit From St. Nicholas) (जो मशहूर रूप से पहले पंक्ती: त्वास दी नाईट बिफोर क्रिसमस के नाम से जानी जाती है) कविताओं में थीं।Irving की कहानियों से इंग्लैंड में प्रेम और साद भावना से मनाया जाने वाले छुट्टियों का जिक्र है हालांकि कुछ तर्क है कि Irving, ने अपने द्वारा जिक्र किए परम्परण की शुरुआत की थी ओ उनके अमेरिकन पाठकों[29] से प्रभावित थे कविता ए विज़िट फ्रॉम सत. निकोलस ने उपहार बदले और मौसमी क्रिसमस की खरीदारी की परंपरा लोकप्रिय आर्थिक महत्व की कल्पना करनी शुरू की.[30]हेरिएट बीचेर स्तोवे (Harriet Beecher Stowe) द्वारा 1850 में "दी फर्स्ट क्रिसमस इन न्यू इंग्लैंड", लिखी किताब में एक ऐसे छवि भी है जो क्रिसमस के बारे में कहती है की क्रिसमस खरीदारी के होड़[31] की वजह से अपना असल अर्ध खोता जा रहा है उल्य्स्सेस एस ग्रांट ने 1870 में क्रिसमस को कानूनी रूप से एक फेडरल छुट्टी घोषित किया।

सांता क्लॉस और अन्य तोहफे लाने वाले[संपादित करें]

अमरीकी गृहयुद्ध के दौरान थॉमस नस्त के 'पहले सांता क्लॉस का कार्टून, हार्पर'स वीकली, 1863 में पहली बार

उपहार सांता क्लॉस हाथों बांटे गए।

पश्चिमी संस्कृति से उभरा हुआ, जहाँ छुट्टी का मतलब दोस्तों और रिश्तेदारों में उपहार लेना देना होता है वहां कुछ उपहार सांता क्लॉस के छवि से मिलते हैं (इहे और भी नामो से जाना जाता है क्रिसमस के पिता सेंट निकोलस या सेंट निलोलास, सिन्तेर्क्लास क्रिस क्रिंगले, पेरे नोएल, जौलुपुक्की बब्बो नाताले, वेइहनक्ट्समन कैसरिया के बेसिल और डेड मोरोज़ (पिता फ्रॉस्ट)

सांता क्लॉस की लोकप्रिय छवि को जर्मन मूल के अमेरिकी कार्टूनिस्ट थॉमस नस्ट (1840-1902) के द्वारा बनाया गया, जो हर साल एक नई छवि को बनाते थे, 1863 से शुरू.१८८० तक, नस्त जिसे अब हम संता कहते हैं उसके पहचान बनी छवि को 1920 के दशक में विज्ञापनदाताओं के द्वारा मानकीकृत किया गया।[32]

फ़ादर क्रिसमस जो संता की छवि को predate करते है उनका चरित्र सबसे पहले १५ सन्तुरी में प्रयोग में आए परन्तु ये सिर्फ़ छुट्टी मेर्रीमेकिंग और मतवालापन [33] केसाथ होता है विक्टोरियन ब्रिटेन, में उसकी छवि का पुनर्निर्माण किया ताकि वो संता की छवि से मिल सके फ़्रेंच पेरे नोएल भी संता के तर्ज़ पैर ही काम करते हैं इटली में मन जाता है की बब्बो नाताले संता की तरह काम का करती है जबकि ला बेफाना खिलोने लेट है जो घोषणा के पूर्व संध्या पैर आती है कहा जाता है की La बेफाना को छोटे येशु के लिए खिलोने लेन के लिए भेजा गया था वो रस्ते में भटक गयी अब. वो सभी बच्चों के लिए उपहार लती है कुछ सभ्यताओं में संता क्लॉज़ के साथ क्नेच्त रुप्रेच्त या ब्लैक पीटर भी होते हैं अन्य संस्करणों में, अप्सराओं ने खिलौने बनाये. उसकी पत्नी को श्रीमती क्लॉस के रूप में संदर्भित किया जाता है।

लैटिन अमेरिका के देशों {जैसे वेनेंज़ुएला में जो परम्परा आज भी चली आ है उसके अनुसार संता खिलोने बाना कर बालक यीशु को देता है जो असल में सभी बच्चों के घर इसे पहुचाते हा यह कहानी एक पुराणी धार्मिक मान्यताओं और आज के आधुनिक युग में विश्वीकरण से मिलकर बनी है, सबसे खासकर सांता क्लॉस के प्रतिमा विज्ञान जो संयुक्त राज्य अमेरिका से आयात से प्रभावित है।

चित्र:A Christmas Carol - Scrooge's Third Visitor.jpg
एबेनेज़र स्क्रूज और दी घोस्ट ऑफ़ क्रिसमस प्रेसेंट, जॉन जोंक के द्वारा. चार्ल्स डिक्केन्स की पुस्तक के लिए बनी एक क्रिसमस का गीत (1843).

अल्टो अदिगे (इटली), आस्ट्रिया, चेक गणराज्य दक्षिणी जर्मनी, हंगर लियक़्टँस्टीन, स्लोवाकिया और स्विट्जरलैंड, इस क्रिस्टकाइंड जेज़ीसेक चेक, जेज़ुस्का में हंगरियन और Ježiško में स्लोवाक में) उपहार लेट हैं र्मन सेंट निकोलौस एइह्नच्त्स्मन (जो सांता क्लॉस के जर्मन संस्करण) है।) के समान नहीं हैसत. निकोलोउस बिशोप एक बिशोप की पोषाक पहन कर क्नेच्त रुप्रेच्त के साथ. 6 दिसम्बर को छोटे छोटे तोहफे लेकर (जैसे तोफ्फे, नुट्स और फल) आते हैं हलाकि दुनिया भर के की बहुत से अभिभावक अपने बच्चे| को सांता क्लॉस की कहानी सुनते हैं तथा और उप्फार देनेवालों की कहानी सुनते है पैर बहुत से अभिभावक इस ग़लत[34] मान कर इसका विरोध करते हैं।

क्रिसमस का पेड़ और अन्य सजावट[संपादित करें]

चित्र:Christmas Tree Bear Decoration.png
एक खिलौना भालू से क्रिसमस की सजावट.

क्रिसमस का पेड़ को अक्सर बुतपरस्त परंपरा और अनुष्ठान के ईसाईता के रूप में जाना जाता है और तकालीन उच्चतम शिखर के आस पास सदा बहार टहनियों और बुतपरस्ती का एक रूपांतर पेड़ की पूजा[35] ऐ पिसमे शामिल होती है अंग्रेजी भाषा में कहा जाने वाला वाक्यांश क्रिसमस ट्री सबसे फेले 1835[33] मे दर्ज किया गया और ये जर्मन भाषा के एक आयत का प्रतिनिधित्व करता है आज के युग का क्रिसमस ट्री का रिवाज़ मन जाता है की जर्मनी में 18वि शाताब्दी वैन रेंतेर्घेम, टोनी. जब सांता एक जादूगर था।सेंट पॉल: ल्लेवेल्ल्यं प्रकाशन, मार्टिन लुथेर ने 16 वीं शाताब्दी [36][37] मे शुरू किया जर्मनी से इंग्लैंड में सबसे पहले इस प्रथा को रानी चर्लोत्ते, जॉर्ज III की पत्नी ने शुरू किया था पर इसे ज्यादा सफलतापूर्वक प्रिंस अलबर्ट ने विक्टोरिया के शासन में आगे बढाया. लगभग उसी समय, जर्मन आप्रवासी संयुक्त राज्य में यह प्रथा शुरू की.[38] क्रिसमस पेड की सजावट रौशनी (lights) और क्रिसमस के गहने से भी होती है।

19 वीं सदी के बाद से पोंसेत्तिया क्रिसमस के साथ जोड़ा जाने लगा.अन्य लोकप्रिय छुट्टी के पौधों में शामिल हैं हॉली अमरबेल लाल, अमर्य्ल्लिस और क्रिसमस का कटीला पौधा. क्रिसमस के पेड के अतिरिक्त घरों के अन्दर दूसरे पौधों से भी सजाया जाता है जिसमे फूलों की माला और सदा बहार पत्ते. शामिल हैं।

ऑस्ट्रेलिया उत्तरी और दक्षिण अमेरिका और यूरोप का कुछ हिस्सा पारंपरिक रूप से सजाया जाता है जिसमे घर के बहार की बत्तियों से सजावट स्लेड (बेपहियों की गाड़ी), बर्फ का इंसान और अन्य क्रिसमस के मूरत शामिल होते हैं नगर पालिका भी अक्सर सजावट करते हैं क्रिसमस के पताका स्ट्रीट लाइट से टंगा होता है और शहर के हर वर्ग[39] में क्रिसमस के पोधे रखे जाते हैं

पश्चिमी दुनिया में रंगीन कागजों पे धर्मनिरपेक्ष या धार्मिक क्रिसमस मोटिफ्स चप्पा हुआ कागज़ का रोल निर्मित करते हैं जिसमे लोग अपने उपहार लपेटेते हैं क्रिसमस गाँव का प्रदर्शन भी कई घरों में इस मौसम में एक परम्परा बन गया है। बाकी पारंपरिक सजावट में घंटी मोमबत्ती कैंडी केन्स]] बड़े मोजे पुष्पमालाएं और फ़रिश्ता शामिल होते हैं।

क्रिसमस की तयारी बारहवीं रात को उतारी जाती है जो 5 जनवरी की शाम का दिन होता हैं।

क्रिसमस टिकट[संपादित करें]

क्रिसमस टिकट 2000 से फरो द्वीप (Faroe Island), जिन पर जॉन की गोस्पेल (John)1:14 द्वारा कहे कुछ शब्द हैं और इसपर अनकर एली पिटरसेन (Anker Eli Petersen) ने कलाकारी की है।.

बहुत से देशों में क्रिसमस के समय स्मारक डाक टिकट (commemorative stamp) भी जारी करते हैं ददक तिच्केतों का प्रयोग करने वाले इसे क्रिसमस कार्ड (Christmas card) भेजने में करते थे खास कर के डाक टिकट संग्रह (फिलातेलिस्ट्स) (philatelists).ये स्टांप भी आम डाक टिकेट(postage stamps) की तरह ही होते हैं। बाकी स्टांप की तरह इस पर क्रिसमस की मुहर (Christmas seal) नहीं होते और ये बारहों महीने काम में लिया जा सकता है वे आमतौर कुछ समय पहले, अक्टूबर के शरुआत से दिसम्बर के शुरुआत तक बिक्री के लिए निकल जाते हैं और काफी मात्रा में मुद्रित कर रहे हैं।

1898 में कनाडा द्वारा स्टांप जरी किया गया इम्पीरियल पैसा डाक दर का उद्घाटन किया गया। इस स्टांप पैर एक ग्लोब बना है और नीचे "ऐक्स्मस 1898" इंकित है 1937, में ऑस्ट्रिया ने दो क्रिसमस ग्रीटिंग्स वाले स्टांप जिसमे गुलाब (rose) और राशिः चक्र (zodiac) के चिह्न अंकित थे जरी किया 1939 में ब्राजील ने ४ सेमी पोस्टल (semi-postal) स्टांप जारी किए. जिसमे तीन राजा (three kings) और बेत्लेहेम का एक तारा (star of Bethlehem) एक फ़रिश्ता (एंजल) और बच्चा सदरन क्रॉस (Southern Cross) और बच्चा और एक माँ और बच्चा के चित्र हैं

उस का डाक विभाग (US Postal Service) हर साल इस उपलक्ष में धार्मिक-थीम्ड और एक धर्मनिरपेक्ष-थीम्ड वाले स्टांप जरी करता है

क्रिसमस का अर्थशास्त्र[संपादित करें]

चित्र:DSC04820.JPG
ब्रजिल्लियन शौपिंग मॉल्स में क्रिसमस के सामानों का प्रदर्शन.

क्रिसमस आमतौर पर बहुत सी देशों के लिए सबसे बड़ा वार्षिक आर्थिक उत्तेजना लाता है। सभी खुदरा दूकानों में बिक्री अचानक से बढ़ जाती है। दूकानों में नए ये सामान मिलने लगते हैं क्यूंकि लोग सजावट. के सामान. उपहार और अन्य सामान की करिदारी शुरू कर देते हैं। अमेरिका में, "क्रिसमस की खरीदारी का मौसम" आम तौर पर ब्लैक फ्राइडे (खरीदारी) (Black Friday), को शुरू होता है ये दिन धन्यवाद (Thanksgiving) दिन के बाद आता है हलाकि बहुत से दुनाकन में क्रिसमस के सामान अक्टूबर[40] के शुरुआत से ही मिलने लगते हैं।

अधिकांश क्षेत्रों में, क्रिसमस दिवस व्यापार और वाणिज्य के लिए इस वर्ष के कम से कम सक्रिय दिन है, लगभग सभी, वाणिज्यिक खुदरा और संस्थागत व्यवसाय बंद हो जाती हैं लगभग सभी उद्योगों गतिविधि समाप्त (वर्ष के किसी भी दूसरे दिन की तुलना में) इंग्लैंड और वेल्स (England and Wales) में क्रिसमस के दिन (व्यापार) अधिनियम, (Christmas Day (Trading) Act 2004) क्रिसमस दिवस पर व्यापार से सभी बड़े दुकानों से बचाता है। स्कॉटलैंड वर्तमान में इसी तरह के कानून की योजना बना रही है। फ़िल्म स्टूडियो (Film studio) इन छुट्टी के दिनों में बहुत से मेहेंगी फिल्में रेलेसे करती है जिनमें जाया कर के क्रिसमस फिल्में काल्पनिक (fantasy) या उच्चा कोटि का ड्रामा होता था और उनका उत्पादन (production) मूल्य काफी ज्यादा होता था

एक अर्थशास्त्री के विश्लेषण के अनुसार रूढ़िवादी मिक्रोएकोनोमिक सिद्धांत (microeconomic theory), उपहार में वृद्धि-देने के कारण.क्रिसमस एक डेथवेट लॉस (deadweight loss) इस नुकसान की गणना उपहार देने और उपहार लेने के बीच के खर्च को जोड़ कर होता है ऐसा लगता है कि 2001 में क्रिसमस अमेरिका में अकेले एक 4 अरब डॉलर डेडवेट की हानी की वजह था।[41][42] पेचीदा कारकों की वजह से, इस विश्लेषण का प्रयोग कभी कभी वर्तमान मिक्रोइकनॉमिक सिद्धांत में संभव दोषों की चर्चा करने के लिए किया जाता है। अन्य डेडवेट हानियों me शामिल हैं क्रिसमस के प्रभावों पर्यावरण और इस तथ्य पर कि उपहार अक्सर सफ़ेद हाथी की रखरखाव और भंडारण और अव्यवस्था में योगदान करने के लिए अधिरोपित करने की लागत, माना जाता है।[43]

अन्य नाम[संपादित करें]

क्रिसमस के लिए कई विकल्प शब्दों हैं, 1928 में सबसे पहले क्रिम्बो एक सलंग के रूप में जोह्न्लेंनों (John Lennon) चाप था इसका अन्य रूप का क्रिम्ब्ले सबसे पहले 1963 द बीटल्स/बेअत्लेस फेन क्लब क्रिसमस सिंगल मेंबड़ा दिन (Xmas) हालांकि क्रिसमस के धरम निरपेक्षता (secularization of Christmas) की बहस में शामिल है पर यह क्रिसमस का काफी लंबे समय से स्थापित संक्षिप्त नाम है। यूल (Yule) उत्तरी यूरोप में प्रयोग किया जाता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में, शब्द " होलीडे ग्रीटिंग्स (holiday)" या "मौसम", क्रिसमस विवाद (Christmas controversy) के रूप में संबोधित किया जा सकता है।

अमेरिका क्रिसमस विवाद[संपादित करें]

20 वीं शताब्दी के दौरान, संयुक्त राज्य अमेरिका में क्रिसमस विवाद (Christmas controversies) चलता रहा. हलांकि जून 26, 1870 को अ.सं.रा. राष्ट्रियापति उल्य्स्सेस एस ग्रांट Ulysses S. Grant). ने एक संघीय छुट्टी घोषित कर दिया था धर्मनिरपेक्ष क्रिसमस अवकाश के आर्थिक प्रभाव का महत्व 1930 के दशक में बढ़ाया गया था जब राष्ट्रपति फ्रैंकलिन डी. रूजवेल्ट (Franklin D. Roosevelt) ने धन्यवाद (Thanksgiving) छुट्टी तारीख को क्रिसमस की खरीदारी के मौसम का विस्तार करने का प्रस्ताव रखा. इस से इसी दौरान अर्थव्यवस्था के घना विषाद (ग्रेट डिप्रेशन) (Great Depression).[44] को बढावा का फायेदा मिला. धार्मिक नेताओं, एक के साथ इस कदम का विरोध न्यूयॉर्क टाइम्स. उनका मानना है की क्रिसमस सेर्मोंस जो christmas का सबसे जन विषय था उसे बढते वनिजिकरण[45] से खतरा है

"नॉव इट्स क्रिसमस अगेन" (1907) कार्ल लार्स्सों द्वारा है।

कुछ यह समझते है किको उ. स. सरकार के इस तरीके से संघीय अवकाश के रूप मान्य जन और इसे इस रूप में मायता देना चर्च और राज्य का विभाजन (separation of church and state) का उल्लंघन है यह हाल ही में केई बार परीक्षण में लाया गया जिसमे Lynch v. Donnelly (1984)[7] and Ganulin v. United States (1999).[46] शामिल हैं

6 दिसम्बर 1999 को गनुलिन व्.उनितेद स्टातेस (1999) के फैसले के अनुसार क्रिसमस दिवस की स्थापना और उसेकानूनी सार्वजनिक अवकाश के रूप में घोषित करनास्थापना खण्ड का उल्लंघन नहीं करता है क्योंकि यह एक वैध धर्मनिरपेक्ष उद्देश्य है। दिसम्बर 19, 2000.[47] को छठी सर्किट कोर्ट द्वारा इस apeel को वैध ठहराया gayaइसी समय, कई भक्त ईसाई क्रिसमस की मान्या ख़तम करने और इसे अश्लील तरीके से माने की वजह से काफी बिगड़ गए। उनका मनना था की धर्मनिरपेक्ष वाणिज्यिक समाज द्वारा इस पर्व की मान्यता ख़तम कर डी गयी है अतः वे इसके मान्यता को वापस करे की मांग कर रहे थे

२१ शताब्दी तक अमेरिका में क्रिसमस के बारे में विवाद चलता रहा 2005 में कुछ ईसाई, अमेरिका के राजनीतिक टीकाकारों जैसे बिल ओ'रेइल्ली (कमेंटेटर) (Bill O'Reilly), ने साथ मिलकर उनके समझ से क्रिसमस का विवाद (secularization of Christmas) होने का विरोध किया उनका मानना था की यह अवकाश एक सामान्य धर्मनिरपेक्ष प्रवृत्ति (secular trend) है जिसे कुछ विरोधी ईसाई वाले व्यक्तियों और संगठनों द्वारा धमकी दी जा सकते haiसे कथित राजनैतिक शुद्धता (political correctness).[48] को भो दोषी ठहरता है

किताबें[संपादित करें]

  • Penne L. Restad (New York: Oxford University Press, 1995).द्वारा Christmas in America: A History, आईएसबीएन 0-19-509300-3
  • स्टेफेन निस्सेंबौम (1996; न्यू यार्क: विंटेज बुक्स, 1997).द्वारा दी बैटल फॉर क्रिसमस, आईएसबीएन 0-679-74038-4
  • जोसफ फ. Kelly (August 2004: Liturgical Press) ISBN 978-०८१४६२९८४०-द्वारा The Origins of Christmas
  • Clement A. Miles (1976: Dover Publications) ISBN 978-०४८६२३३५४३द्वर Christmas Customs and Traditions
  • erry Bowler (October 2004: McClelland & Stewart) ISBN 978-०७७१०१५३५९ द्वारा The World Encyclopedia of Christmas,
  • Gerry Bowler (November 2007: McClelland & Stewart) ISBN 978-0-7710-1668-4 द्वारा Santa Claus: A Biography,
  • William J. Federer (December 2002: Amerisearch) ISBN 978-०९६५३५५७४२२द्वर There Really Is a Santa Claus: The History of St. Nicholas & Christmas Holiday Traditions
  • im Rosenthal (July 2006: Nelson Reference) ISBN 1-4185-0407-6 द्वारा St. Nicholas: A Closer Look at Christmas
  • David Comfort (November 1995: Fireside) ISBN 978-०६८४८००५७८ द्वारा Just say Noel: A History of Christmas from the Nativity to the Nineties,
  • एअरल W. काउंट (नवम्बर 1997: उल्य्स्सेस प्रेस) ISBN 978-1-56975-087-2 द्वारा 4000 येअर्स ऑफ़ क्रिसमस: अ गिफ्ट फ्रॉम थे अगेस


इसे भी देखें[संपादित करें]

Christmas के बारे में, विकिपीडिया के बन्धुप्रकल्पों पर और जाने:
Wiktionary-logo-hi-without-text.svg शब्दकोषीय परिभाषाएं
Wikibooks-logo.svg पाठ्य पुस्तकें
Wikiquote-logo.svg उद्धरण
Wikisource-logo.svg मुक्त स्रोत
Commons-logo.svg चित्र एवं मीडिया
Wikinews-logo.svg समाचार कथाएं
Wikiversity-logo-en.svg ज्ञान साधन

क्रिसमस का समय[संपादित करें]

क्रिसमस के विषय[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Christmas as a Multi-faith Festival—BBC News. Retrieved 2008-09-30.
  2. क्रिसमस को बड़ा दिन क्यों कहते हैं?
  3. http://images.google.com/images?svnum=10&um=1&hl=en&q=icon+of+the+nativity
  4. ल्यूक 2:1-6
  5. कृग, नोरा "बेतलेहेम के छोटे शहर", न्यूयॉर्क टाइम्स, नवम्बर 25, 2005.
  6. मैथ्यू 2:1-11\इसयेयों के प्रदशन दृश्य में थ्री बुद्धिमान vyakti
  7. लिंच बनाम दोंनेल्ली
  8. ""क्रिसमस - एक प्राचीन होलीडे ", इस इतिहास मार्ग (History Channel), 2007.
  9. ""सतुर्नालिया ", The History Channel (History Channel), 2007
  10. कोफ्फ्मन, एलेशा .दिसम्बर 25 क्यों?ईसाई इतिहास और जीवनी, आज का ईसाई धर्म (Christianity Today), 2000.
  11. यूसुफ एफ केली, क्रिसमस का मूल, लितुर्गिकल प्रेस, 2004, पी.67-69.
  12. ""मिथ्रैस्म", कैथोलिक विश्वकोश, 1913.
  13. "सोल." एनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका, शिकागो (2006).
  14. ब्रूम, टेनेसी का विश्वविद्यालय
  15. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; CathChrit नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  16. "क्रिसमस, एनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका शिकागो: एनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका (Encyclopædia Britannica) 2006.
  17. रिच्मन्न, रूथ, "क्रिसमस".
  18. यूल. अमेरिकी विरासत® के अंग्रेजी भाषा के शब्दकोश, चौथे संस्करण. पुनः प्राप्त 3 दिसम्बर, 2006.
  19. "क्रिसमस, एनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका शिकागो: एनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका 2006.
  20. "दी फीस्ट ऑफ़ दी अन्नुन्किअतिओन ", कैथोलिक एनसायिक्लोपीडिया, 1998.
  21. ओरिगें, "लेविट., होम.VIII "; Migne स्नातकोत्तर, बारहवीं, 495; नेटाल दिवसकैथोलिक विश्वकोश, 1911 द्वारा उद्धृत.
  22. इस दस्तावेज़ को निजी तौर पर एक रोमन कुलीन के लिए तैयार किया गया था क्रिसमस राज्यों बेत्लीम इउदेए में, "VIII कल. इआन. नतुस च्रिस्तुस के संदर्भ".यह एक अनुभाग 336 में उत्पादित एक पुरानी पांडुलिपि पर आधारित है। इस दस्तावेज़ को भी सोल इन्विक्टुस की दावत करने के लिए जल्द से जल्द संदर्भ शामिल हैं।
  23. पोखिलको, हिएरोमोंक निकोलस, "घोषणा के गठन अलग परंपराओं के अनुसार
  24. मुर्रे, सिकंदर, "मध्यकालीन क्रिसमस", इतिहास आज, दिसम्बर 1986, 36 (12), पीपी.31 - 39.
  25. म्क्ग्रीव्य, पैट्रिक."अमेरिकी क्रिसमस में जगह," (जस्टर), भौगोलिक समीक्षा, वॉल्यूम. 80, नंबर 1.जनवरी 1990, पीपी.32-42.पुनः प्राप्त 10 सितम्बर (10 September)2007.
  26. दुर्स्तों, क्रिस, "लॉर्ड्स ऑफ़ मिसरूल: दी पुरितन वार ऑन क्रिसमस 1642-60", इतिहास आज, दिसम्बर 1985, 35 (12) पीपी.7 - 14.
  27. Andrews, Peter (1975). Christmas in Colonial and Early America. USA: World Book Encyclopedia, Inc.. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 7-166-2001-4.  -->
  28. रोवेल्ल, गेओफ्फ्रे, "दिच्केंस एंड दी कंस्त्रुक्शन ऑफ़ क्रिसमस", इतिहास आज,दिसम्बर 1993, 43 (12), पीपी.17 - 24.
  29. मूर की कविता ने न्यूयॉर्क में नये साल पर होने वाले असली पुरानी डच परंपराओं को परिवर्तित कर दिया, उपहार लेने-देने, पारिवारिक दावतें और "सिन्तेर्क्लास" की कहानियाँ (डच में "सेंट निकोलस" की व्युत्पत्ति, जिसमे से आधुनिक "सांता क्लाउस" निकला है) सा लेकर क्रिसमस तक."क्रिसमस का इतिहास: अमेरिका में क्रिसमस का इतिहास, 2006
  30. उसिंफो.स्टेट.गोव "अमेरिका के जश्न क्रिसमस के विभिन्न तरीकों से" नवम्बर 26, 2006
  31. वातेर्तोवं की प्रथम प्रेस्ब्य्तेरिअनिस्म (Presbyterian Church) "ओह. . . और एक और बात "दिसम्बर 11, 2005
  32. मिक्केल्सों, बारबरा और डेविड पी., "दी क्लॉस देट रेफ्रेशेस", स्नोपेस.कॉम, 2006.
  33. हार्पर, डगलस, मसीह, ऑनलाइन व्युत्पत्ति का कोष, 2001.
  34. सांता: दी फर्स्ट ग्रेट लाए, मरिअने मटर द्वारा, सिटी बीट मुद्दे 304 पर निबंध
  35. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; Shaman नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  36. "The Chronological History of the Christmas Tree". The Christmas Archives. http://www.christmasarchives.com/trees.html. अभिगमन तिथि: 2007-12-18. 
  37. "Christmas Tradition - The Christmas Tree Custom". Fashion Era. http://www.fashion-era.com/Christmas/christmas_customs_tree_history.htm. अभिगमन तिथि: 2007-12-18. 
  38. मॉरिस, डेसमंड (Morris, Desmond). क्रिसमस देखना.लंदन: चाथम का मच्कय्स, 1992. आईएसबीएन 0-224-03598-3
  39. मुर्रे, ब्रायन."क्रिसमस की रोशनी और अमेरिका में सामुदायिक भवन,"हिस्ट्री मेट्टर, बसंत 2006.
  40. वरगा, मेलोडी."ब्लैक फ्राइडे, : खुदरा उदयोगके बारे में .
  41. "दी डेडवेट लॉस ऑफ़ क्रिसमस", अमेरिकी आर्थिक समीक्षा, दिसम्बर 1993, 83 (5)
  42. क्या संता एक दाद्वेइघ्त लॉस है ? अर्थशास्त्री20 दिसम्बर2001
  43. रोइतेर्स दिसम्बर १६ 2005 के रिपोर्ट के अनुसार "क्रिसमस पर्यावरण को नुकसान पंहुचा रहा है"
  44. usinfo.state.gov "अमेरिका के क्रिसमस के जश्न के विभिन्न तरीकों नवम्बर 26, 2006
  45. दी न्यूयॉर्क टाइम्स "दिस सीजन'स वार क्राई:" कोम्मेर्सिअलिज़ क्रिसमस और एल्सदिसम्बर 4, 2005
  46. गनुलिन वी. संयुक्त राज्य अमेरिका (1999)
  47. अदालत के निर्णय - गनुलिन बनाम संयुक्त राज्य अमेरिका
  48. कोहेन, ऐडम. "दिस सीजन'स वार क्र्य: कोम्मेर्सिअलिज़े क्रिसमस और एल्स." दी न्यूयॉर्क टाइम्स,5 दिसम्बर2005.

बाहरी कडियां[संपादित करें]