ब्रिटिश साम्राज्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ब्रिटिश साम्राज्य एक वैश्विक शक्ति था, जिसके अंतर्गत वे क्षेत्र थे जिनपर ग्रेट ब्रिटेन का अधिकार था। यह एक बहुत बड़ा साम्राज्य था और अपने चरम पर तो विश्व के कुल भूभाग और जनसंख्या का एक चौथाई भाग इसके अधीन था। उस समय लगभग ५० करोड़ लोग ब्रिटिश ताज़ के नियंत्रण में थे। आज इसके अधिकांश सदस्य राष्ट्रमण्डल के सदस्य हैं और इस प्रकार आज भी ब्रिटिश साम्राज्य का ही एक अंग है। ब्रिटिश साम्राज्य का सबसे महत्वपूर्ण भाग था ईस्ट इंडिया ट्रेडिंग कंपनी जो एक छोटे व्यापार के साथ आरंभ की गई थी और बाद में एक बहुत बड़ी कंपनी बन गई जिसपर बहुत से लोग निर्भर थे। यह विदेशी कालोनियों और व्यापार पदों के द्वरा 16 वीं और 17 वीं सदी में इंग्लैंड द्वारा स्थापित किया गया|

१९२१ में ब्रिटिश साम्राज्य सर्वाधिक क्षेत्र में फैला हुआ था।

मूल (1497-1583)[संपादित करें]

इसकी स्थापना इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के अलग साम्राज्य होने के पश्चात रखी गयी। १४९६ मे राजा हेनरी सप्तम ने विदेशों मे स्पेन और पुर्तगालियों को हराकर पूर्वी एशिया की तरफ बढ़ना शुरू किया। पूर्वी एशिया में वे पूर्वी अंतर्टिका के रास्ते पहुँचे।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]