साम्राज्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

राज्य जहां कई जातियां रहती हैं, जो क्षेत्र में विशाल है और जहां सम्राट के पास समस्त अधिकार हैं, साम्राज्य कहलाता है। यह एक राजनैतिक क्षेत्र है जो किसी एक राजा (जैसे मुग़ल साम्राज्य) अथवा कुछ मुख्य-पतियों (जैसे मराठा साम्राज्य) द्वारा साझेदारी में संभाला जाता है। साम्राज्य छोटे समय के अंतराल में भी हो सकता है परन्तु अधिकाँश वह पीढ़ी दर पीढ़ी कई दशकों या सदियों तक चलता है।

भारत का सबसे बडा साम्राज्य सम्राट अशोक का मौर्य साम्राज्य था, जिसकी सिमा 50,00,000 वर्ग किमी में श्रेत्र था।

इसे देखिए – भारत में सबसे बडे साम्राज्यों की सूची

शाब्दिक अर्थ[संपादित करें]

साम्राज्य शब्द दो शब्दों के मेल से बना है| सम (अर्थात एक समान) + राज्य (राजा का क्षेत्र)| इससे पर्याय है उन सभी क्षेत्रों को एक नक़्शे के नीचे लेना जो एक ही प्रशासन के द्वारा संभाले जाते हैं| यह एक व्यंजन संधि का रूप है|

उदाहरण[संपादित करें]

मौर्य साम्राज्य[संपादित करें]

मगध साम्राज्य[संपादित करें]

मराठा साम्राज्य[संपादित करें]

मुग़ल सल्तनत[संपादित करें]

रोमन साम्राज्य[संपादित करें]

संगठित रूप[संपादित करें]

एक से अधिक प्रशासकों द्वारा भी चलाया जाने वाला विशाल क्षेत्रफल का राज्य साम्राज्य कहलाता है बेशक उनके शशक एक न हों| वे मात्र मित्र भी हो सकते हैं जिनमें संधि हो| जैसे रोम के तीन शशक मिल कर एक साथ रोमन साम्राज्य संभालते थे (उदाहरण के तौर पर जुलिअस सीज़र के समय में उसकी संधि अपने मित्र मार्क एंटनी के साथ थी|