फ़्रान्स

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(फ्रांस से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
République française
फ़्रान्स गणराज्य
ध्वज कुल चिह्न
राष्ट्रवाक्य: Liberté, Égalité, Fraternité
"स्वतन्त्रता, समानता, बन्धुतत्व"
राष्ट्रगान: ला मर्सेइल्लैसे
महानगरीय फ़्रान्स (गहरे हरे रंग में), यूरोपीय संघ (हरे रंग में), यूरोप (हरे और गहरे भूरे रंग में)
महानगरीय फ़्रान्स (गहरे हरे रंग में), यूरोपीय संघ (हरे रंग में), यूरोप (हरे और गहरे भूरे रंग में)
विश्व में फ़्रान्सीसी गणराज्य के क्षेत्र(अण्टार्कटिका को छोड़कर जहां सम्प्रभुता स्थगित है।)

विश्व में फ़्रान्सीसी गणराज्य के क्षेत्र
(अण्टार्कटिका को छोड़कर जहां सम्प्रभुता स्थगित है।)

राजधानी
और सबसे बडा़ नगर
पेरिस
48°52′N 2°19.59′E / 48.867°N 2.3265°E / 48.867; 2.3265
राजभाषा(एँ) फ़्रान्सीसी
वासीनाम फ्रांसीसी
सरकार एकीय अर्द्ध अध्यक्षीय गणराज्य
 -  राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांड
 -  प्रधानमन्त्री जीन-मार्क अय्रौल्ट
विधान मण्डल संसद
 -  उच्च सदन सीनेट
 -  निम्न सदन राष्ट्रीय परिषद
गठन
 -  वेर्दुन सन्धि ८४३ 
 -  फ़्रान्सीसी क्रान्ति १७८९ 
 -  पांचवां गणराज्य १९५८ 
क्षेत्रफल
 -  कुल[1] ६,७४,८४३ वर्ग किलोमीटर (४३ वां)
२,६०,५५८ वर्ग मील
 -  महानगरीय फ़्रान्स
   - IGN[2]  km2 (४७ वां)
 sq mi
   - Cadastre[3]  km2 (४७ वां)
 sq mi
जनसंख्या
  (१ जनवरी २००९ अनुमान)
 -  कुल[1] ६,५०,७३,४८२[5] (१९ वां)
 -  महानगरीय फ़्रान्स ६,२४,४८,९७७[4] (२२ वां)
सकल घरेलू उत्पाद (पीपीपी) २००८ प्राक्कलन
 -  कुल $२.०८६ ट्रिलियन (-)
 -  प्रति व्यक्ति $३३,३३४ (१८)
मानव विकास सूचकांक (२०१३) Straight Line Steady.svg ०.८८४[6]
बहुत उच्च · २०वाँ
मुद्रा यूरो,[7] सीएफए फ्रांक[8]
 
(EUR,    XPF)
समय मण्डल CET (यू॰टी॰सी॰+१)
 -  ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰) CEST (यू॰टी॰सी॰+२)
दूरभाष कूट ३३1
इंटरनेट टीएलडी .fr[9]
प्रवासी क्षेत्र और कलेक्टिव्स फ़्रान्सीसी टेलीफोन नम्बर योजना के भाग हैं, लेकिन उनके अपने कालिंग कोड हैं: गुआदेलूप +५९०; मार्तिनीक +५९६; फ्रेंच गुयाना +५९४, रीयूनियन और मायोते +२६२; सेंट पेरी एत मिक्वीलोन +५०८. प्रवासी क्षेत्र जो फ़्रान्सीसी टेलीफोन नम्बर योजना का हिस्सा नहीं हैं, उन देशों के कालिंग कोड हैं: न्यू केलेडोनिया +६८७, फ्रेंच पोलिनेशिया +६८९; वालिस और फुतुना +६८१

फ़्रान्स, (आधिकारिक तौर पर फ़्रान्स गणराज्य ; फ़्रान्सीसी: République française) पश्चिम यूरोप में स्थित एक देश है किन्तु इसका कुछ भूभाग संसार के अन्य भागों में भी हैं। पेरिस इसकी राजधानी है। यह यूरोपीय संघ का सदस्य है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह यूरोप महाद्वीप का सबसे बड़ा देश है, जो उत्तर में बेल्जियम, लक्सेंबर्ग, पूर्व में जर्मनी, स्विट्सरलैंड, इटली, दक्षिण-पश्चिम में स्पेन, पश्चिम में ऐटलैंटिक सागर, दक्षिण में भूमध्यसागर तथा उत्तर पश्चिम में इंगलिश चैनल द्वारा घिरा है। इस प्रकार यह तीन ओर सागरों से घिरा है। सुरक्षा की दृष्टि से इसकी स्थिति उत्तम नहीं है।

अपने षडकोणीय आकार के कारण इसे प्रायः ल'हेक्सागोन ( L'Hexagone ) कहा जाता है। कई शताब्दियों तक फ्रांस मजबूत आर्थिक, सांस्कृतिक, सैनिक और राजनीतिक प्रभाव स्व युक्त प्रमुख शक्ति रहा है। १७ वीं सदी के अंत से दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में से एक है। १८वीं और १९वीं शताब्दी के दौरान फ्रांस ने पश्चिमी अफ़्रीका और दक्षिण पूर्व एशिया में एक बहुत बड़ा औपनिवेशिक साम्राज्य स्थापित किया था। यह संयुक्त राष्ट्र संघ का भी संस्थापक सदस्य होने के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पाँच स्थाई सदस्यों में से एक है। इसके अलावा यह समूह-8 और नाटो का सदस्य भी है। परमाणु शक्ति संपन्न इस देश के पास सक्रिय परमाणु युद्ध हथियार और परमाणु ऊर्जा संयंत्र हैं।

भूगोल और मौसम[संपादित करें]

मार्सील में स्थित सुगीटन की कैलैंक घाटी

महानगरीय फ्रांस पश्चिमी यूरोप में स्थित है। इसकी सीमा बेल्जियम, लक्सेम्बर्ग, जर्मनी, स्विटजरलैंड, इटली, मोनाको, अंडोरा और स्पेन से मिलती है। फ्रांस की सीमा से लगी हुई दो पर्वत श्रृंखलाएं हैं, पूर्व में आल्प्स और दक्षिण में प्रेनिस। फ्रांस से प्रवाहित होने वाली कई नदियों में से दो नदियां प्रमुख हैं, सीन और लोयर। फ्रांस के उत्तर और पश्चिम में निचली पहाड़ियों और नदी घाटियां हैं।

यह देश समतल एवं साथ-साथ पहाड़ी भी है। उत्तर में स्थित पैरिस तथा ऐक्विटेन बेसिन बृहद् मैदान के ही भाग हैं। पश्चिम की ओर ब्रिटैनी, यूरोप की उत्तर-पश्चिमी, उच्च पेटीवाली भूमि से संबंधित है। पूर्व की ओर प्राचीन चट्टानों के भूखंडों का क्रम मिलता है, जैसे मध्य का पठार तथा आर्डेन (Ardennes) पर्वत। इस देश के दक्षिण में पिरेनीज़ तथा ऐल्प्स-जूरा पर्वतों का समूह पाया जाता है। इसका दक्षिण-पूर्वी भाग पहाड़ी व ऊबड़ खाबड़ है जो ६,००० फुट से भी अधिक ऊँचा है।

फ्रांस में अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग मौसम का प्रभाव पाया जाता है। उत्तर और पश्चिम में अंध महासागर का मौसम पर गहरा प्रभाव है, जिसकी वजह से क्षेत्र का तापमान साल भर एक जैसा रहता है। पूर्व में सर्दियों ठंडी और मौसम अच्छा है। गर्मी गर्म और तूफानी रहती है। दक्षिण में गर्मी गर्म और सूखी रहती है। सर्दियों का मौसम ठंडा और नमी वाला रहता है।

प्राकृतिक आधार पर इसे आठ भागों में बाँट सकते हैं।

  • १. पैरिस बेसिन - यह देश का अति महत्वपूर्ण भाग है, जो यातायात साधनों द्वारा देश के हर भाग से जुड़ा है। यह बेसिन एक कटोरी के रूप में है, जो बीच में गहरा तथा चारों ओर ऊँचा होता गया है। इस भाग को पुन: (१) मध्य का बेसिन, (२) शैपेन एवं वरगंडी के कगार, (३) लोरेन के कगार, (४) पूर्वी प्रदेश तथा रोन घाटी और (५) ल्वार (Loir) प्रदेश तथा नॉरमैंडी, भागों में विभाजित किया गया है।
  • २. उत्तर-पश्चिमी प्रदेश - यह एक समतल भाग है। यहाँ पर नॉरमैंडी तथा ब्रिटैनी पहाड़ियाँ अवश्य कुछ ऊँचा नीचा धरातल प्रस्तुत करती हैं। यहाँ दो समांतर श्रेणियाँ दक्षिण-पश्चिम में दाउनिनैज खाड़ी के उत्तर-दक्षिण में फैली हैं। उत्तरी श्रेणी मॉट्स डे आरी कहलाती है, जिसका सर्वोच्च शिखर सेंट माईकेल (१,२८५ फुट) है। यही ब्रिटैनी का सबसे ऊँचा भाग है।
  • ३. ऐक्विटेन बेसिन - यह त्रिभुजाकार निम्न भूमि है। इसके सागरतटीय भाग में रेत के टीले मिलते हैं। इसका आंतरिक प्रदेश 'लैडीज़' कहलाता है, जो प्राय: बंजर सा है।
  • ४. मध्य का पठार - इस भाग की औसत ऊँचाई २,५०० फुट से भी अधिक है। इसकी ऊँचाई दक्षिण-पूर्व को उठती जाती है और रोन की घाटी में समाप्त हो जाती है। इसकी पूर्वी सीमा पर सेवेन (Cevennes) पर्वत स्थित है। यहाँ क्लेयरमॉन्ट के निकटवर्ती क्षेत्र में अब भी शंकु के आकार की ७० पहाड़ियाँ हैं, जिनका उद्गार प्राचीन समय में हुआ था। पुएज डी डोम ज्वालामुखी चोटी सागरतल से ४,८०५ फुट ऊँची है।
  • ५. पूर्वी सीमाप्रदेश - इस प्रदेश में बोज़ तथा आर्डेन पर्वतों का क्रम फैला है। दोनों के बीच में राइन घाटी स्थित है। बोज़ पर्वत १७५ मील की लंबाई में श्रेणी के रूप में फैला है। यहाँ की वर्षा का पानी जमीन के अंदर चला जाता है तथा जमीन के ऊपर धाराएँ कम दिखाई देती हैं।
  • ६. रोन सेऑन घाटी - यह मध्य के पठार तथा ऐल्प्स-जूरा-श्रेणियों के मध्य में स्थित है। यह मॉन्टेग्निज डेला कोटि डे ओर, सेऑन तथा ल्वार के खड्ड से प्रारंभ होती है और सीन नदी के उद्गम स्थान तक चली जाती है।
  • ७. भूमध्य सागरीय प्रदेश - राइन डेल्टा के पूर्वी भाग में सीधी खड़ी चट्टानें सागरतट के पास तक आ गई हैं। मार्सेई के पश्चिम में अनेक दलदल मिलते हैं। राइन डेल्टा के पश्चिमी तट पर पिरेनीज़ तक तथा पश्चिम की ओर गैरोनि तक लैग्विडॉक का प्रसिद्ध क्षेत्र पाया जाता है। इस क्षेत्र को सेवेन की श्रेणी काटती है। इसका तट निम्न तथा रेतीला है।
  • ८. पश्चिमी ऐल्प्स तथा जूरा प्रदेश - फ्रांस की दक्षिणपश्चिमी सीमाएँ पिनाइन, ग्रेनाइन, कोटियान तथा मैरिटाइम ऐल्प्स द्वारा बनी है। सवॉय पर १५,७७५ फुट ऊँचा माउंट ब्लैक स्थित है। समुद्र की ओर औसत ऊँचाई बराबर घटती जाती है। इस भाग में कई प्रमुख दर्रे हैं। जूरा पर्वत फ्रांस में सबसे ऊँचा है। इसकी प्रमुख चोटियाँ क्रेट डि ला नीगे (Cret de La Neige) ५,५०० फुट तथा मॉन्ट डि ओर (Mont de Or) ५,६६० फुट हैं।

जलवायु - यहाँ की जलवायु समुद्री है, जिसका प्रभाव सागर से दूर जाने पर कम होता जाता है। यूरोपीय विचार से पश्चिमी तटीय भाग में निम्न ताप, पर्याप्त वर्षा, शीतल गरमियाँ तथा ठंडी सर्दियाँ जलवायु की विशेषताएँ हैं। पूर्वी तथा मध्य के भाग में महाद्वीपीय जलवायु मिलती है, जहाँ ग्रीष्म में गर्मी, पर्याप्त वर्षा एवं सर्दियों में कड़ी सर्दी पड़ती है। दक्षिणी फ्रांस में, पर्वतीय भागों को छोड़कर शेष में, भूमध्य सागरीय जलवायु मिलती है, जहाँ ठंडी सर्दियाँ, गरम गरमियाँ तथा कम वर्षा होती है। पैरिस का औसत ताप १० डिग्री सेल्सियस तथा वर्षा २२ इंच है। वर्षा ब्रिटैनी, उत्तरी तटीय भाग तथा पहाड़ी भागों में अधिक होती है।

कृषि - यहाँ कृषि प्रमुख उद्योग है। यूरोप में कृषिगत वस्तुओं के निर्यात में नीदरलैंड्स के बाद इसका ही स्थान है। कृषि योग्य क्षेत्र अधिकांश उत्तरी भाग में स्थित है। कृषि में गेहूँ, जौ, जई, चुकंदर, पटुआ, आलू तथा अंगूर का स्थान प्रमुख है।

खनिज - कोयला, लोरेन तथा मध्यवर्ती जिलों में मिलता है। कोयला कम होते हुए भी फ्रांस को कोयले में विश्व में तीसरा स्थान प्राप्त है। इसके अतिरिक्त यहाँ ऐंटिमनी, बॉक्साइट, मैग्नीशियम, पाइराइट तथा टंग्स्टन, नमक, पोटाश, फ्लोरस्पार भी मिलता है।

उद्योग - लोरेन तथा मध्यवर्तीय भाग में स्थित लौह इस्पात उद्योग सबसे प्रमुख उद्योग है। उद्योगों के लिए पिरेनीज़ तथा ऐल्प्स से पर्याप्त विद्युत् प्राप्त हो जाती है। लील (Lille), ऐल्सैस तथा नॉरमैंडी में बाहर से रूई मँगाकर सूती कपड़े बनाए जाते हैं। ऊनी वस्त्रों के लिए रूबे (Roubaix) तथा टूरक्वै (Tourcoing) प्रमुख जिले हैं। लेयॉन में रेशमी कपड़ा बनता है। इसके अलावा जलयान निर्माण, स्वचालित यंत्र, चित्रमय परदे, सुगंधित द्रव्य, चीनी मिट्टी के बरतन, शराब, आभूषण, शृंगार की वस्तुओं, फीते, लकड़ी की वस्तुओं के उत्पादन में तो फ्रांस ने विश्व के अन्य देशों को पीछे छोड़ दिया है।

इतिहास[संपादित करें]

१४७७ में फ्रांस. लाल रेखा : फ्रांस की साम्राज्य की सीमा; हल्का नीला रंग: प्रत्यक्ष रूप से अधिकृत शाही क्षेत्र

फ्रांस शब्द लातीनी भाषा के फ्रैन्किया (Francia) से आया है, जिसका अर्थ फ्रांक्स की भूमि या फ्रांकलैंड है। आधुनिक फ्रांस की सीमा प्राचीन गौल की सीमा के समान ही है। प्राचीन गौल में सेल्टिक गॉल निवास करते थे। गौल पर पहली शताब्दी में रोम के जुलिअस सीज़र ने जीत हासिल की थी। तदोपरांत गौल ने रोमन भाषा (लातिनी, जिससे फ्रांसीसी भाषा विकसित हुई) और रोमन संस्कृति को अपनाया। ईसाइयत दूसरी शताब्दी और तीसरी शताब्दी में पहुंची और चौथी और पांचवीं शताब्दी तक स्थापित हो गई।

चौथी सदी में जर्मनिक जनजाति, मुख्यतः फ्रैंक्स ने गौल पर कब्जा जमाया। इस से फ्रांसिस नाम दिखाई दिया। आधुनिक नाम "फ्रांस" पेरिस के आसपास के फ्रांस के कापेतियन राजाओं के नाम से आता है। फ्रैंक्स यूरोप की पहली जनजाति थी, जिसने रोमन साम्राज्य के पतन के बाद आरियानिज्म को अपनाने की बजाए कैथोलिक ईसाई धर्म को स्वीकार किया।

वर्दन संधि (843) के बाद शारलेमेग्ने का साम्राज्य तीन भागों में विभाजित हो गया। इनमें सबसे बड़ा क्षेत्र पश्चिमी फ्रांसिया था, जो आज के फ्रांस के बराबर था।

ह्यूग कापेट के फ्रांस के राजा बनने तक कारोलिंगियन राजवंश ने ९८७ तक फ्रांस पर राज किया। उनके वंशजों ने अनेक युद्धों और पूर्वजों की विरासत के साथ देश को एकीकृत किया। १७ वीं सदी और लुई चौदहवें के शासनकाल के दौरान फ्रांस सबसे अधिक शक्तिशाली था। उस समय फ्रांस की यूरोप में सबसे बड़ी आबादी थी। देश का यूरोपीय राजनीति, अर्थव्यवस्था और संस्कृति पर एक बड़ा प्रभाव था। फ्रांसीसी भाषा अंतरराष्ट्रीय मामलों में कूटनीति की आम भाषा बन गई। फ्रांसीसी वैज्ञानिकों ने १८ वीं सदी में बड़ी वैज्ञानिक खोज की। फ्रांस ने अमेरिका, अफ्रीका और एशिया में अनेक स्थानों पर विजय आधिपत्य जमाया।

फ्रांस में फ़्रांसीसी क्रांति से पहले १७८९ तक राजशाही मौजूद थी। राजा लुई चौदहवें और उनकी पत्नी, मेरी अन्तोइनेत्ते १७९३ में मार डाला गया। हजारों की संख्या में अन्य फ्रांसीसी नागरिक भी मारे गए थे। नेपोलियन बोनापार्ट ने १७९९ में गणतंत्र पर नियंत्रण ले लिया। बाद में उन्होंने खुद को पहले साम्राज्य (१८०४-१८१४) का महाराज बनाया। उसकी सेनाओं ने महाद्वीपीय यूरोप के अधिकांश भाग पर विजय प्राप्त की।

१८१५ में वाटरलू की लड़ाई में नेपोलियन के अंतिम हार के बाद, दूसरी राजशाही आई। बाद में लुई-नेपोलियन बोनापार्ट ने १८५२ में द्वितीय साम्राज्य बनाया। लुई-नेपोलियन को १८७० के फ्रांसीसी जर्मन युद्ध में हार के बाद हटा दिया गया था। उसके शासन का स्थान तीसरे गणराज्य ने लिया।

फ्रांस के १८ वीं और १९ वीं सदी में एक बड़ा औपनिवेशिक साम्राज्य बनाया। इस साम्राज्य में पश्चिम अफ्रीका और दक्षिण पूर्व एशिया के कुछ हिस्से भी शामिल थे। इन क्षेत्रों की संस्कृति और राजनीति फ्रांस के प्रभाव में रही। कई भूतपूर्व उपनिवेशों में फ्रांसीसी भाषा आधिकारिक भाषा हैं।

प्रभाग[संपादित करें]

फ्रांस अनेक (प्रशासनिक) क्षेत्रों में विभाजित है, इनमें से २२ क्षेत्र महानगर फ्रांस के अंतर्गत आते हैं:

१ . अलसस
२ . अकुइतैने
३ . औवेर्गने
४ . बॉस नॉर्मेन्डी
५ . बुरगोअन
६ . ब्रेतोंं
७ . सेंटर
८ . चम्पगने-अर्देन्ने
९ . कोर्से
१० . फ्रंचे -कॉम्ते
११. होत -नॉर्मेन्डी

१२ . ले-दे-फ्रांस
१३ . लंगुएदोक-रौस्सिल्लों
१४ . लिमौसिं
१५ . लोर्रैने
१६ . मिडी-प्येरीनेश
१७ . नोर्द-पास-दे-कालिस
१८ . पायस दे ला लोइरे
१९ . पिकार्दिए
२० . पोइटु-चरेंतेस
२१ . प्रोवेंस-आल्प्स -कोटे डी'अजुर
२२ . र्होने-आल्प्स

FranceRegionsNumbered.png

कोर्स के अन्य 21 महानगरीय क्षेत्रों की तुलना में एक अलग स्थिति है। यह région et département d'outre-mer कहा जाता है।

फ्रांस के चार विदेशी क्षेत्र भी है:

  1. गुआदेलूप (कैरिबियन में)
  2. फ्रेंच गयाना (दक्षिण अमेरिका में)
  3. मार्टीनिक (कैरिबियन में)
  4. रीयूनियन (हिंद महासागर में)

ये चार विदेशी क्षेत्रों की महानगरीय वाले के रूप में एक ही स्थिति है। वे अलास्का और हवाई के विदेशी अमेरिकी राज्यों की तरह हैं। इसके बाद फ्रांस १०० विभागों में विभाजित है। यह विभाग ३४२ भागो (अर्रोंदिस्सेमेंट्स) में विभाजित हैं। ये अर्रोंदिस्सेमेंट्स ४०३२ भागों (कान्तोंस) में विभाजित है। इस छोटा उपखंड कम्यून है। १ जनवरी २००८ को, फ्रांस में ३६,७८१ कम्यून्स की गिनती की गई थी। इनमें से ३६.५६९ महानगरीय फ्रांस में हैं और इनमें से २१२ विदेशी फ्रांस में हैं।

सरकार[संपादित करें]

फ्रेंच पांचवें गणतंत्र के फ्रेंच संविधान के द्वारा देश में सरकार की एक अर्द्ध राष्ट्रपति प्रणाली निर्धारित की गई है। इसमें राष्ट्र ने अपने को "एक अविभाज्य, लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष और सामाजिक गणराज्य" घोषित किया है। इसमें कहा गया है कि फ्रांस १७८९ की घोषणा के अनुसार, मनुष्य के अधिकार की जिस तरह से घोषणा उससे जुड़ा हुआ है।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Whole territory of the French Republic, including all the overseas departments and territories, but excluding the French territory of Terre Adélie in Antarctica where sovereignty is suspended since the signing of the Antarctic Treaty in 1959.
  2. French National Geographic Institute data.
  3. French Land Register data, which exclude lakes, ponds and glaciers larger than 1 km² (0.386 sq mi or 247 acres) as well as the estuaries of rivers.
  4. INSEE, Government of France. "Pyramide des âges au 1er janvier 2009 - France métropolitaine". http://www.insee.fr/fr/ppp/bases-de-donnees/donnees-detaillees/bilan-demo/pdf/pyramide-des-ages-2009.xls. अभिगमन तिथि: 2009-01-13.  (फ्रेंच)
  5. INSEE, Government of France. "Bilan démographique 2008". http://www.insee.fr/fr/themes/document.asp?ref_id=IP1220&reg_id=0#inter1. अभिगमन तिथि: 2009-01-13.  (फ्रेंच)
  6. "2014 Human Development Report Summary". United Nations Development Programme. २०१४. pp. २१–२५. http://hdr.undp.org/sites/default/files/hdr14-summary-en.pdf. अभिगमन तिथि: २७ जुलाई २०१४. 
  7. प्रशान्त महासागर स्थित प्रवासी क्षेत्र को छोड़कर पूरे फ़्रान्सीसी गणराज्य में।
  8. केवल प्रशान्त महासागर स्थित फ़्रान्सीसी प्रवासी क्षेत्रों में
  9. .fr के अलावा फ़्रान्सीसी प्रवासी विभागों और क्षेत्रों में प्रयुक्त इण्टरनेट टीएलडी: .re, .mq, .gp, .tf, .nc, .pf, .wf, .pm, .gf and .yt. फ्रांस यूरोपीय संघ के अन्य सदस्यों के साथ .eu का इस्तेमाल करता है। .cat डोमेन का उपयोग कॉल्टन बोलने वाले क्षेत्रों में किया जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]