इंग्लिश चैनल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
इंग्लिश चैनल का सैटेलाइट दृश्य

इंग्लिश चैनल (फ़्रान्सीसी: la Manche‎, "स्लीव") अटलांटिक महासागर की एक शाखा है जो ग्रेट ब्रिटेन को उत्तरी फ्रांस से अलग करती है और उत्तरी सागर को अटलांटिक से जोड़ती है. यह तकरीबन 560 कि.मी. (350 मील) लंबी है और चौड़ाई में 240 कि.मी. (150 मील) से इसकी व्यापकता से लेकर डोवर जलसंयोगी में केवल 34 कि.मी. (21 मील) तक के आधार पर भिन्नता है.[1] यह यूरोप के महाद्वीपीय शेल्फ के आसपास के उथले समुद्रों में सबसे छोटा है जिसमें तकरीबन 75,000 कि.मी. (29,000 वर्ग मील) का एक क्षेत्र शामिल है.[2]

भौगोलिक स्थिति[संपादित करें]

इंग्लिश चैनल का मानचित्र

अंतरराष्ट्रीय जल सर्वेक्षण संगठन इंग्लिश चैनल की सीमाओं को इस प्रकार परिभाषित करता है:[3]

पश्चिम में , आइल वायर्ज 48°38′23″N 4°34′13″W / 48.63972, -4.57028 को लैंड्स एंड 50°04′N 5°43′W / 50.067, -5.717 से जोड़ने वाली एक रेखा.

पूर्व में, उत्तरी सागर की दक्षिण-पश्चिमी सीमा [वाल्दे लाइटहाउस (फ्रांस, 1°55'E) और लेदरकोट प्वाइंट (इंग्लैंड, 51°10'N) को जोड़ने वाली एक रेखा].

चैनल के पूर्वी किनारे पर डोवर जलसंयोगी इसका सबसे संकीर्ण स्थान है, जबकि इसका सबसे चौड़ा स्थान लाइमे की खाड़ी और जलमार्ग के मध्य बिंदु के निकट सेंट मालो की खाड़ी के बीच मौजूद है.[1] यह अपेक्षाकृत उथली है जिसकी औसत गहराई इसके सबसे चौड़े हिस्से में तकरीबन 120 मी. (390 फुट) है, जो डोवर और कैलाइस के बीच तकरीबन 45 मी. (150 फुट)की गहराई तक कम हो जाती है. वहाँ से पूर्व की ओर सटा हुआ उत्तरी सागर ब्रोड फोर्टीन्स में तकरीबन 26 मी. (85 फुट) तक निरंतर उथली है जहाँ यह पूर्वी एंग्लिया और लो कंट्रीज के बीच पहले के लैंड ब्रिज के वाटरशेड पर स्थित है. यह ग्वेर्नसे के पश्चिम-उत्तर पश्चिम 30 मील (48 कि.मी.) हर्ड्स डीप की जलमग्न घाटी में 180 मी. (590 फुट) की अधिकतम गहराई तक पहुँचती है.[4] फ़्रांसीसी तट के साथ पूर्वी क्षेत्र चेरबोर्ग और ली हार्वे में सीने नदी के मुहाने के बीच स्थित है जिसे अक्सर सीने की खाड़ी के रूप में संदर्भित किया जाता है.फ़्रान्सीसी: Baie de Seine[5]

चैनल में कई प्रमुख द्वीप स्थित हैं, जिनमें सबसे उल्लेखनीय इंग्लिश तट पर आइल ऑफ वाइट और फ्रांस के तट पर चैनल के द्वीपों के रूप में ब्रिटिश राजतंत्र की संभावी परिसंपत्तियां हैं. इंग्लैंड के सुदूर दक्षिण-पश्चिम तट पर आइल्स ऑफ सिसिली को आम तौर पर चैनल में शामिल द्वीपों के रूप में नहीं गिना जाता है. विशेष रूप से फ्रांस के तट पर स्थित तटरेखा गहराई तक हाशिये पर बनी हुई है. फ्रांस में कोटेंटिन पेनिन्सुला चैनल में बाहर की ओर उभरी हुई है और आइल ऑफ वाइट एक छोटा समानांतर चैनल बनाता है जिसे सोलेंट के रूप में जाना जाता है. केल्टिक सागर चैनल के पश्चिम की ओर मौजूद है.

चैनल का मूल भौगोलिक दृष्टिकोण से हाल ही का है, जो प्लेस्टोसीन युग के ज्यादातर हिस्से में एक सूखी भूमि के रूप में रहा है. माना जाता है कि इसका निर्माण 450,000 और 180,000 वर्षों पहले के बीच की अवधि में वेल्ड-आर्टोईस एंटीक्लाइन नामक एक रिज, जो डॉगरलैंड क्षेत्र में एक विशाल हिमनदी रूपी झील को नियंत्रित रखती थी और अब उत्तरी सागर में जलमग्न हो गया है, जिसके टूटने के कारण दो विनाशकारी हिमनदीय झीलों के प्रकोप से आयी भयंकर बाढ़ से हुआ है. यह बाढ़ कई महीनों तक रही होगी, जिससे अधिक से अधिक दस लाख घन मीटर प्रति सेकंड से जल का तीव्र प्रवाह हुआ होगा. रिज के टूटने का कारण ज्ञात नहीं है लेकिन संभवतः ऐसा किसी भूकंप की वजह से या झील में सिर्फ पानी का दबाव अत्यधिक बढ़ जाने के कारण हुआ होगा. इस बाढ़ ने इंग्लिश चैनल की लंबाई के समानांतर एक विशाल चटानी आधार की सतह वाली घाटी का निर्माण कर दिया, जिसने सुव्यवस्थित द्वीपों और भयंकर विनाशकारी बाढ़ की स्थितियों की पहचान रूपी लम्बवत कटाव वाले ग्रूव्स को पीछे छोड़ दिया था.[6][7] इसने उस स्थलडमरूमध्य को नष्ट कर दिया जो उस समय ब्रिटेन को महाद्वीपीय यूरोप से जोड़ता था, हालांकि बाद के समय में हिमाच्छादन की अवधियों के बाद, जिसके परिणाम स्वरुप निम्न समुद्र स्तरों का निर्माण हुआ, थोड़े-थोड़े अंतराल पर दक्षिणी उत्तर सागर के साथ-साथ एक लैंड ब्रिज मौजूद रहा होगा.[8]

ब्रिटेन के नौवहन पूर्वानुमान के लिए इंग्लिश चैनल को (पश्चिम की ओर से) इन क्षेत्रों में विभाजित कर दिया गया है:

  • प्लाईमाउथ
  • पोर्टलैंड
  • वाईट
  • डोवर

शब्द व्युत्पत्ति[संपादित करें]

फ्रांसीसी नामकरण के साथ मानचित्र

"इंग्लिश चैनल " का नाम 18वीं सदी की शुरुआत से व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता रहा है, जो संभवतः 16वीं सदी के बाद से डच समुद्री नक्शे में मौजूद "इंग्लिश कैनाल" के नाम से उत्पन्न हुआ है. इसे "ब्रिटिश चैनल" के रूप में भी जाना जाता रहा है.[9][10] उससे पहले इसे ब्रिटिश सागर के रूप में जाना जाता था, और दूसरी शताब्दी के भूगोलवेत्ता टोलेमी द्वारा इसे "ओसियेनस ब्रिटैनिकस " कहा गया था. यही नाम लगभग 1450 के इतालवी नक़्शे पर इस्तेमाल किया गया है जो इसे "कैनालाइट्स एंगली " का वैकल्पिक नाम देता है - संभवतः चैनल के नाम का सबसे पहला दर्ज किया गया इस्तेमाल है.[11]

फ्रांसीसी नाम "(ला) मांचे " का इस्तेमाल कम से कम 17वीं सदी के बाद से किया गया है.[2] कहा जाता है कि इस नाम का संदर्भ आम तौर पर चैनल के स्लीव (फ्रेंच: "मांचे ") से है. हालांकि, इसकी बजाय कभी-कभी इसके एक केल्टिक शब्दार्थ "चैनल" से निकलने का दावा किया जाता है जो स्कॉटलैंड में द मिंच के नाम का भी एक स्रोत है.[12] स्पेन और ज्यादातर स्पेनिश बोलने वाले देशों में चैनल को "अल कैनाल डी ला मांचा " के रूप में संदर्भित किया जाता है. पुर्तगाली में इसे "ओ कैनाल डा मांचा " के रूप में जाना जाता है. (यह फ्रांसीसी से किया गया एक अनुवाद नहीं है: पुर्तगाली के साथ-साथ स्पेनिश में "मांचा" का अर्थ है "दाग", जबकि स्लीव के लिए शब्द है "मैंगा" - जो फ़्रांसीसी से किया गया एक प्रारंभिक रूप से खराब ध्वन्यात्मक अनुवाद प्रतीत होता है). अन्य भाषाओं में भी इस नाम का इस्तेमाल होता है, जैसे कि ग्रीक में (Κανάλι Μάγχης της) और इतालवी में (ला मैनिका) .

ब्रेटन में इसे "मोर ब्रेझ" (ब्रिटैनी का समुद्र) के रूप में जाना जाता है, जो लैटिन से जुड़ा हुआ है और अर्मोनिका के नाम के मूल का सांकेतिक स्वरुप है.

इतिहास[संपादित करें]

तकरीबन 10,000 साल पूर्व के आसपास डेवेंसियन हिमाच्छादन (सबसे हाल के हिम युग) की समाप्ति से पहले, ब्रिटिश आइल्स महाद्वीपीय यूरोप का हिस्सा थे. इस अवधि के दौरान उत्तर सागर और लगभग सभी ब्रिटिश आइल्स बर्फ से ढंके हुए थे. समुद्र तल आज की तुलना में तकरीबन 120 मीटर नीचे था, और चैनल निचले-स्तर पर बिछे टुंड्रा के एक विस्तार के रूप में थी जिससे होकर एक नदी गुजरती थी जो अटलांटिक की ओर से पश्चिम तक राइन और थेम्स में जाकर मिलती थी. जैसे-जैसे बर्फ की चादर पिघली, आज के उत्तर सागर के दक्षिणी भाग में एक एक विशाल ताजे पानी की झील बनकर तैयार हो गयी. चूंकि पिघला हुआ जल अब भी उत्तर की ओर नहीं निकल पाया था (क्योंकि उत्तर सागर का उत्तरी हिस्सा अब तक जमा हुआ था), झील से चैनल का प्रवाह डोवर और कैलाइस के क्षेत्र में अटलांटिक महासागर में प्रवेश कर गया.

This precious stone set in the silver sea,
Which serves it in the office of a wall
Or as a moat defensive to a house,
Against the envy of less happier lands.

William Shakespeare, Richard II (Act II, Scene 1)

चैनल ब्रिटेन के लिए एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक सुरक्षा कवच का काम करती रही है, जिसने ब्रिटेन को महाद्वीप की नाकाबंदी करने की अनुमति देकर उत्तर सागर के नियंत्रण के साथ एक संयोजन करते हुए हमलावर सैन्य बलों को रोकने का काम किया है.[कृपया उद्धरण जोड़ें] सबसे महत्वपूर्ण असफल हमलावर खतरे उस समय आये जब डच और बेल्जियम के बंदरगाहों महाद्वीपीय को एक प्रमुख महाद्वीपीय शक्ति द्वारा कब्जा कर लिया गया जैसे कि 1588 में स्पेनिश आर्माडा, नेपोलियन से संबंधित युद्धों के दौरान नेपोलियन और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजी जर्मनी से आये खतरे. सफल आक्रमणों में ब्रिटेन पर रोमन की विजय, 1088 में नॉर्मन विजय और 1688 में विलियम III के अधीन डच सैनिकों द्वारा ब्रिटेन पर हमला और जीत शामिल हैं, जबकि ब्रिटेन के दक्षिणी तट पर पश्चिमी चैनल में बेहतरीन बंदरगाहों के केन्द्रीकरण ने अब तक के सबसे बड़े हमले को संभव बनाया: 1944 में नॉरमैंडी की चढ़ाइयाँ. चैनल की नौसेना संबंधी युद्धों में गुडविन सैंड्स का युद्ध (1652), पोर्टलैंड का युद्ध (1653), ला हॉग का युद्ध (1692) और यूएसएस (USS) कीयरसार्जे एवं सीएसएस (CSS) अलाबामा के बीच पारस्परिक संबंध (1864) शामिल हैं.

ज्यादातर शांतिपूर्ण समय में चैनल ने साझा संस्कृतियों और राजनीतिक संरचनाओं को जोड़ने वाली एक कड़ी के रूप में सेवा की है, विशेषकर 1135-1217 में विशाल एन्जेविन साम्राज्य की. तकरीबन एक हज़ार सालों से चैनल ने आधुनिक केल्टिक क्षेत्रों और कॉर्नवाल एवं ब्रिटैनी की भाषाओं के बीच एक कड़ी भी प्रदान की है. ब्रिटैनी का गठन ब्रिटनों द्वारा किया गया था जो एंग्लो-सैक्सोन अतिक्रमण के बाद कॉर्नवाल और }डेवोन से भाग निकले थे. ब्रिटैनी में, फ्रांसीसी भाषा में "कॉर्नोइली" (कॉर्नवाल) और ब्रेटन में "करनेव" के नाम से जाना जाने वाला एक क्षेत्र मौजूद है.[13] प्राचीन काल में वहाँ ब्रिटैनी में "डोमनोनिया" (डेवोन) नामक एक क्षेत्र भी था.

ब्रिटिश आइल्स के मार्ग[संपादित करें]

उत्तरी सागर के आसपास 10वीं शताब्दी की शुरुआत में ओल्ड नॉर्स और संबंधित भाषाओं की अनुमानित हद.लाल क्षेत्र ओल्ड वेस्ट नॉर्स बोली के विस्तार का है, नारंगी क्षेत्र ओल्ड ईस्ट नॉर्स बोली के प्रसार का है और हरा क्षेत्र अन्य जर्मेनिक भाषाओं की हद है जिसके साथ ओल्ड नॉर्स की आज भी कुछ पारस्परिक बोधगम्यता कायम है.

डायोडोरस साइकुलस और प्लिनी[14] दोनों यह बताते हैं कि आर्मोनिका के विद्रोही केल्टिक जनजातियों और लौह युग के ब्रिटेन के बीच व्यापार काफी फला-फूला. 55 ई.पू. में जूलियस सीज़र ने यह दावा करते हुए आक्रमण किया कि ब्रिटनों ने पिछले वर्ष उनके खिलाफ वेनेटी की सहायता की थी. 54 ई.पू. में वह कहीं अधिक सफल रहा था, लेकिन 43 ई. में ऑलस प्लौटियस द्वारा आक्रमण के पूरा होने तक ब्रिटेन पूरी तरह से रोमन साम्राज्य के एक हिस्से के रूप में स्थापित नहीं हुआ था. रोमन गॉल के बंदरगाहों और ब्रिटेन के लोगों के बीच एक तीव्र और नियमित व्यापार शुरू हुआ. यह यातायात 410 ई. में ब्रिटेन से रोमनों के प्रस्थान तक निरंतर चलता रहा, जिसके बाद हम शुरुआती एंग्लो-सैक्सनों को देखते हैं जिन्होंने बहुत कम स्पष्ट ऐतिहासिक रिकॉर्ड छोड़े हैं.

वापस जाने वाले रोमनों द्वारा छोड़े शक्ति के खाली स्थान में जर्मनी के एंगल्स, सैक्संस और जूट्स ने समूचे उत्तर सागर में बड़े पैमाने पर अगला पलायन शुरू किया. रोमनों द्वारा ब्रिटेन में इन जनजातियों से किराए के सैनिकों के रूप में पहले से ही इस्तेमाल किये जा रहे कई लोग प्रवासन अवधि के दौरान स्थानीय केल्टिक आबादी पर जीत हासिल करते हुए और संभवतः उन्हें वहाँ से हटाते हुए समूचे उत्तर सागर में प्रवासित हो गए.[15]

नॉर्समेन और नॉर्मेंस[संपादित करें]

सेंट हेलियर का आश्रम सेंट हेलियर की खाड़ी के पास स्थित है और कम ज्वार पर वहाँ पैदल पहुँचा जा सकता है.

793 में लिंडिसफार्ने पर हमले को आम तौर पर वाइकिंग युग की शुरुआत माना जाता है. अगले 250 वर्षों तक नार्वे, स्वीडन और डेनमार्क के स्कैंडिनेवियाई हमलावरों ने उत्तर सागर पर अपना प्रभुत्व जमाया, जिसमें उन्होंने समुद्र तट के साथ और उन नदियों के साथ जिनमें द्वीप मौजूद थे, मठों, घरों और कस्बों पर छापेमारी की. एंग्लो सैक्सोन क्रॉनिकल के अनुसार उन्होंने 851 में ब्रिटेन में बसना शुरू किया. उन्होंने 1050 के आस-पास की अवधि तक ब्रिटिश आइल्स और महाद्वीप में बसने का सिलसिला जारी रखा.[16]

नॉरमैंडी की जागीर वाइकिंग नेता रोलो (जिसे नॉरमैंडी के रॉबर्ट के रूप में भी जाना जाता है) के लिए तैयार की गयी थी. रोलो ने पेरिस को घेर लिया था लेकिन 911 में उसने सेंट क्लेयर सुर एप्टे की संधि के जरिये पश्चिम फ्रैंक्स के राजा चार्ल्स द सिंपल की दासता स्वीकार कर ली. अपनी श्रद्धा और स्वामीभक्ति के बदले रोलो ने उन क्षेत्रों को कानूनी तौर पर हासिल कर लिया जिन्हें उसने और उसके वाइकिंग सहयोगी दलों ने पहले जीता था. नॉरमैंडी नाम रोलो के वाइकिंग(यानी "नॉर्थमैन") मूल को दर्शाता है.

रोलो और उसके अनुयायियों के वंशजों ने स्थानीय गैलो-रोमैंटिक भाषा को अपना लिया और क्षेत्र के पूर्व निवासियों के साथ आपस में वैवाहिक संबंध बनाया और नॉरमैंस बन गए - स्कैंडिनेवियाई, हाइबर्नो-नॉर्स, ऑर्कैडियंस, एंग्लो-दानिश और स्वदेशी फ्रैंक्स एवं गॉल्स का एक नॉर्मन फ्रांसीसी भाषी मिश्रण.

रोलो के वंशज विलियम, नॉरमैंडी के ड्यूक 1066 में नॉर्मन विजय में हेस्टिंग्स के युद्ध की समाप्ति पर इंग्लैंड के राजा बने जिसमें उन्होंने अपने और अपने वंशजों के लिए नॉरमैंडी की जागीर को अपने पास कायम रखा. 1204 में किंग जॉन के शासनकाल के दौरान, मुख्यभूमि नॉरमैंडी को फिलिप द्वितीय के तहत फ्रांस ने इंग्लैंड से अपने पास ले लिया जबकि द्वीपीय नॉरमैंडी (चैनल के द्वीप) अंग्रेजों के नियंत्रण में बने रहे. 1259 में इंग्लैंड के हेनरी तृतीय ने पेरिस की संधि के तहत मुख्य भूमि नॉरमैंडी के फ्रांसीसी अधिकार की वैधता को मान्यता दी. हालांकि, उनके उत्तराधिकारियों ने मुख्य भूमि फ्रांसीसी नॉरमैंडी का नियंत्रण दुबारा हासिल करने के लिए अक्सर लडाइयां लड़ीं.

विजेता विलियम के उत्थान के साथ उत्तरी सागर और चैनल ने अपने कुछ महत्व को खोना शुरू कर दिया. नई व्यवस्था ने इंग्लैंड और स्कैनडिनेविया के व्यापार को भूमध्यसागर और ओरिएंट की दिशा में दक्षिण को उन्मुख कर दिया.

हालांकि ब्रिटिश ने 1801 में मुख्य भूमि नॉरमैंडी और अन्य फ्रांसीसी संपत्तियों के दावों को छोड़ दिया था, यूनाइटेड किंगडम के राजा ने चैनल के द्वीपों के संबंध में नॉरमैंडी के ड्यूक का सम्मान अपने पास बरकरार रखा. चैनल के द्वीप (चौसी को छोड़कर) वर्तमान युग में ब्रिटिश राजशाही की एक राजशाही संबंधी निर्भरता के रूप में रह गए. इस तरह चैनल द्वीप समूह में लॉयल टोस्ट ला रीने, नोट्रे ड्यूक ("महारानी, हमारी ड्यूक") है. ब्रिटिश सम्राट 1259 में हुई पेरिस की संधि, 1801 में फ्रांसीसी संपत्तियों के आत्मसमर्पण और यह धारणा कि उस सम्मान के उत्तराधिकार के अधिकार सैलिक क़ानून पर निर्भर करते हैं जो महिला विरासत के माध्यम से उत्तराधिकार की अनुमति नहीं देता है, इसके आधार पर यहाँ बताये गए नॉरमैंडी के फ्रांसीसी क्षेत्र के संदर्भ में नॉरमैंडी के ड्यूक नहीं समझे जाते हैं.

फ्रांसीसी नॉरमैंडी पर अंग्रेजी सैन्य बलों द्वारा 1346-1360 में और फिर 1415-1450 में सौ वर्षों के युद्ध के दौरान कब्जा किया गया था.

इंग्लैंड और ब्रिटेन: नौसेना के सुपरपावर[संपादित करें]

एलिजाबेथ प्रथम के शासनकाल से अंग्रेजी विदेश नीति ने यह सुनिश्चित करते हुए कि किसी भी प्रमुख यूरोपीय शक्ति ने संभावित डच और फ्लेमिश आक्रमण संबंधी बंदरगाहों पर नियंत्रण नहीं किया है, संपूर्ण चैनल में आक्रमणों को रोकने पर ध्यान केंद्रित किया. दुनिया के पूर्व-प्रख्यात समुद्री सत्ता तक उनकी चढ़ाई 1588 में शुरू हुई जब स्पेनिश आर्माडा के आक्रमण की कोशिश को अंग्रेजों द्वारा नॉटिंघम के पहले अर्ल चार्ल्स होवार्ड के कमांड के साथ-साथ सेकण्ड इन कमांड में सर फ्रांसिस ड्रेक के तहत उत्कृष्ट नौसैनिक रणनीतियों के संयुक्त प्रयास और इसके बाद के तूफानी मौसम के जरिये परास्त कर दिया गया. सदियों के बाद रॉयल नौसेना धीरे-धीरे दुनिया भर में सबसे शक्तिशाली होकर उभरी.[17]

ब्रिटिश साम्राज्य का निर्माण सिर्फ इसीलिये संभव हुआ था क्योंकि रॉयल नौसेना ने यूरोप के आसपास, विशेष रूप से चैनल और उत्तरी सागर के समुद्रों पर निर्विवाद रूप से नियंत्रण हासिल किया था. सात वर्षों के युद्ध के दौरान फ्रांस ने ब्रिटेन पर एक आक्रमण का प्रयास शुरू किया. इस कामयाबी के लिए फ्रांस को कई हफ़्तों तक चैनल का नियंत्रण हासिल करने की आवश्यकता थी, लेकिन 1759 में क्वीबेरोन की खाड़ी के युद्ध में ब्रिटिश सेना की जीत के बाद उन्हें इस कार्य में नाकामी हाथ लगी.

समुद्रों पर ब्रिटिश प्रभुत्व के लिए एक अन्य महत्वपूर्ण चुनौती नेपोलियन संबंधी युद्धों के दौरान आयी थी. ट्राफलगर का युद्ध फ़्रांसीसी और स्पेनिश जहाजी बड़े के खिलाफ स्पेन के समुद्र तट पर हुआ था और इसे एडमिरल होरातियो नेल्सन द्वारा जीता गया, जिसने चैनल के आर-पार हमले की नेपोलियन की योजनाओं को समाप्त कर दिया और समुद्रों पर ब्रिटिश प्रभुत्व को एक सदी से अधिक के लिए सुरक्षित कर दिया.

प्रथम विश्व युद्ध[संपादित करें]

नाकाबंदी के एक उपकरण के रूप में चैनल का विशिष्ट रणनीतिक महत्त्व को प्रथम विश्व युद्ध के पूर्व के वर्षों में पहले समुद्री लॉर्ड एडमिरल फिशर द्वारा मान्यता दी गयी थी.पाँच प्रमुख स्थान दुनिया का रास्ता बंद कर सकते है! सिंगापुर, केप, एलेक्जेंड्रिया, जिब्राल्टर, डोवर."[18] हालांकि 25 जुलाई, 1909 को लुईस ब्लेरियोट ने कैलाइस से डोवर तक एक हवाई जहाज में बैठकर पहली बार चैनल को सफलतापूर्वक पार किया. ब्लेरियोट के पार करने के तुरंत बाद इंग्लैण्ड के लिए विदेशी शत्रुओं के खिलाफ एक बाधक-खाई के रूप में चैनल के इस्तेमाल की समाप्ति का संकेत मिल गया.

क्योंकि कैसरलीचे समुद्री सतह का जहाजी बेड़ा ब्रिटिश ग्रैंड फ्लीट का सामना नहीं कर सकी, इसीलिये जर्मनों ने पनडुब्बी युद्ध की तकनीक विकसित की जो ब्रिटेन के लिए कहीं अधिक बड़ा खतरा बन गया. डोवर गश्ती की व्यवस्था युद्ध के जरिये चैनल के पार के सैन्य जहाज़ों की निगरानी करना शुरू करने से ठीक पहले और पनडुब्बियों के चैनल का उपयोग करने से रोकने के लिए की गयी, जिससे उन्हें स्कॉटलैंड के आस-पास कहीं अधिक लंबे मार्ग से होकर अटलांटिक की यात्रा के लिए बाध्य होना पडा.

जमीन पर, जर्मन सेना ने चैनल के बंदरगाहों पर कब्जा करने का प्रयास किया (देखें "रेस टू द सी") लेकिन हालांकि खाईयों को अक्सर "स्विट्जरलैंड की सीमा से लेकर इंग्लिश चैनल तक" बढ़ाया हुआ कहा गया था, वास्तव में वे उत्तरी सागर के तट पर पहुँच गए थे. फ़्लैंडर्स में ब्रिटिश युद्ध के ज्यादातर प्रयास जर्मनों को चैनल के तट पर पहुँचने से रोकने के लिए एक खूनी लेकिन सफल रणनीति के रूप में थे.

31 जनवरी, 1917 को जर्मनों ने एक बार फिर से अप्रतिबंधित पनडुब्बी युद्ध शुरू किया जिसमें नौसेना विभाग की खतरनाक भविष्यवाणियाँ थीं कि पनडुब्बियाँ नवम्बर तक ब्रिटेन को परास्त कर देंगीं,[19] जो किसी भी विश्व युद्ध में ब्रिटेन के सामने आयी सबसे अधिक खतरनाक परिस्थिति थी.

1917 में पासचेंडीले का युद्ध बेल्जियम के समुद्र तट पर पनडुब्बी ठिकानों पर कब्जा कर खतरे को कम करने के लिए लड़ा गया था हालांकि यह काफिलों का प्रवेश और ठिकानों पर कब्जा नहीं होना ही था जिसने हार को टाल दिया था. अप्रैल 1918 में डोवर की गश्ती ने यू-बोट ठिकानों के खिलाफ प्रसिद्ध जीब्रूज छापे को अंजाम दिया. चैनल और उत्तरी सागर से होकर प्रभावित नौसेना की नाकाबंदी 1918 में जर्मनों की हार के निर्णायक पहलुओं में से एक था.[20]

द्वितीय विश्व युद्ध[संपादित करें]

1940 में ब्रिटेन के युद्ध के दौरान ब्रिटिश रडार सुविधाएं

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यूरोपीय थियेटर में नौसेना की गतिविधि मुख्य रूप से अटलांटिक तक सीमित थी. ब्रिटेन के युद्ध [21] के शुरुआती चरणों में चैनल के शिपिंग और बंदरगाहों पर हवाई हमलों को देखा गया था और चैनल डैश के अपवाद के साथ नॉरमैंडी की चढ़ाइयों तक संकरा समुद्र बड़े पैमाने के युद्धों के लिए बहुत अधिक खतरनाक था. हालांकि, शिपिंग के खिलाफ इन शुरुआती सफलताओं के बावजूद जर्मन चैनल के आर-पार आक्रमण के लिए आवश्यक हवाई वर्चस्व को जीतने में नाकाम रहे.

बाद में चैनल एक तीव्र समुद्र तटीय युद्ध के लिए एक मंच बन गया, जिसमें पनडुब्बियाँ, सुरंग भेदी पोत और तेजी से आक्रमण करने वाले जहाज शामिल थे.[22]

नॉरमैंडी में 150 मिमी विश्व युद्ध द्वितीय जर्मन बंदूक की संस्थापना.

डीपे शहर कनाडाई और ब्रिटिश सैन्य बलों द्वारा दुर्भाग्यपूर्ण डीपे छापेमारी का स्थान था. सर्वाधिक सफल बाद का ऑपरेशन ओवरलोर्ड था (जिसे डी-डे के रूप में भी जाना गया) जो मित्र देशों की सेनाओं द्वारा जर्मन-कब्जे वाले फ्रांस पर व्यापक स्तर का एक आक्रमण था. कैन, चेरबोर्ग, कैरेंटन, फालाइस और अन्य नॉर्मन शहरों को प्रांत के लिए हुई लड़ाई में कई लोगों के हताहत होने का नुकसान सहना पड़ा जो चैम्बोईस और मोंटोरमेल के बीच तथाकथित फालाइस गैप के बंद होने तक, तत्कालीन ली हाव्रे की आजादी तक निरंतर जारी रहा.

अटलांटिक की दीवार के एक भाग के रूप में, 1940 और 1945 के बीच कब्जा करने वाले जर्मन बलों और संगठन टॉड ने चैनल द्वीप समूह के तटों के आस-पास दुर्गों का निर्माण किया, जैसे कि लेस लैंडेस, जर्सी में स्थित यह पर्यवेक्षण टॉवर.

चैनल द्वीप समूह केवल जर्मनी द्वारा कब्जा किये गए ब्रिटिश राष्ट्रमंडल का हिस्सा थे (अल अलामीन के दूसरे युद्ध के समय अफ्रीका कोर्प्स द्वारा कब्जा किये गए इजिप्ट के हिस्से को छोड़कर, जो एक संरक्षित राज्य था और राष्ट्रमंडल का हिस्सा नहीं था). 1940-1945 का जर्मन कब्जा बहुत ही सख्त था जिसमें कुछ द्वीप के निवासियों को महाद्वीप में गुलाम मजदूरी के लिए ले जाया गया; स्थानीय यहूदियों को केंद्रीयकृत शिविरों में भेजा गया; पक्षपातपूर्ण प्रतिरोध और प्रतिकार; सहयोग के आरोप; और दास मजदूरों के रूप में (मुख्य रूप से रूसियों और पूर्वी यूरोप के निवासियों को) दुर्गों का निर्माण करने के लिए द्वीपों पर लाया गया था.[कृपया उद्धरण जोड़ें] रॉयल नौसेना ने समय-समय पर द्वीपों की नाकाबंदी की, विशेषकर 1944 में मुख्य भूमि नॉरमैंडी की मुक्ति के बाद. गहन वार्ता के परिणामस्वरूप रेड क्रॉस के जरिये कुछ मानवीय सहायता पहुँचाई गयी, लेकिन जर्मन कब्जे के पाँच वर्षों के दौरान वहाँ काफी भुखमरी और अभाव की स्थिति थी विशेष रूप से उन आख़िरी पाँच महीनों में जब वहाँ की आबादी भुखमरी के कगार पर पहुँच गयी थी. मुख्य भूमि यूरोप में अंतिम आत्मसमर्पण के केवल कुछ ही दिनों बाद 9 मई 1945 को द्वीपों पर मौजूद जर्मन सैनिकों ने आत्मसमर्पण कर दिया.

जनसंख्या[संपादित करें]

इंग्लिश चैनल के दोनों किनारों पर घनी आबादी बसी हुई है, जिस पर कई प्रमुख बंदरगाहों और रिजॉर्ट्स को मिलाकर संयुक्त रूप से 3.5 मिलियन लोगों से ज्यादा की आबादी रहती है. चैनल के साथ लगे सबसे महत्वपूर्ण शहर और कस्बे (प्रत्येक 20,000 से अधिक निवासियों के साथ, अवरोही क्रम में स्थान दिए गए; जनसंख्या में शहरी क्षेत्र की जनसंख्या 1999 की फ्रांसीसी जनगणना, 2001 की यूके की जनगणना, और 2001 की जर्सी जनगणना के अनुसार) इस प्रकार हैं:

अंग्रेजी भाग[संपादित करें]

सेंट मालो का दीवारों वाला शहर कौर्सायर्स का एक पूर्व गढ़ था.
स्पिनैकर टावर, पोर्ट्समाउथ रात में, टॉवर की रोशनी का प्रदर्शन करते हुए.
  • ब्राइटन-वर्थिंग-लिटिलहैम्पटन: 461,181 निवासी, जिनमें शामिल हैं:
    • ब्राइटन: 155,919
    • वर्थिंग: 96,964
    • होवे: 72,335
    • लिटिलहैम्पटन: 55,716
    • लान्सिंग-सोम्प्टिंग: 30,360
  • पोर्ट्समाउथ: 442,252 जिनमें शामिल हैं
    • गोसपोर्ट: 79,200
  • बोर्नमाउथ और पूल: 383,713
  • साउथेम्प्टन: 304,400
  • प्लायमाउथ: 243,795
  • टोर्बे (टोर्क्वे): 129,702
  • हेस्टिंग्स-बेक्सहिल: 126,386
  • ईस्टबोर्न: 106,562
  • बोग्नोर रेगिस: 62,141
  • फोल्केस्टोन-हैथ: 60,039
  • वेमाउथ: 56,043
  • डोवर: 39,078
  • एक्समाउथ: 32,972
  • फॉलमाउथ - पेनरिन: 28,801
  • राइड: 22,806
  • सेंट ऑस्टेल: 22,658
  • सीफोर्ड: 21,851
  • फॉलमाउथ: 21,635
  • पेंजैंस: 20,255

फ्रांसीसी भाग[संपादित करें]

  • ली हाव्रे: 248,547 निवासी
  • कैलाइस: 104,852
  • बोलोने-सुर-मर: 92,704
  • चेरबोर्ग: 89,704
  • सेंट-ब्रियक: 85,849
  • सैंट-मालो: 50,675
  • लानिऑन-पेरौस-गुइरैक: 48,990
  • डीपे: 42,202
  • मॉर्लैक्स: 35,996
  • डिनार्ड: 25,006
  • एटेपल्स-ली-तौक्वेट-पेरिस-प्लेज: 23,994
  • फेकैम्प: 22,717
  • ईयु-ले ट्रेपोर्ट: 22,019
  • ट्रौविल्ले-सुर-मर-ड्यूविल्ले: 20,406
  • बर्क़: 20,113

चैनल के द्वीप[संपादित करें]

  • सेंट हेलियर: 28,310 निवासी
  • सेंट पीटर पोर्ट: 16,488 निवासी

जहाजरानी[संपादित करें]

चैनल, ब्रिटेन-यूरोप और उत्तर सागर-अटलांटिक, दोनों रास्तों में यातायात के साथ दुनिया के सबसे व्यस्त समुद्री मार्गों में से एक है जहाँ से प्रतिदिन 400 से अधिक जहाजों का आवागमन होता है.[23] जनवरी 1971 में एक दुर्घटना और फरवरी[24] में मलबों के साथ विनाशकारी टक्करों की एक श्रृंखला के बाद अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन द्वारा दुनिया के सबसे तेज रडार नियंत्रित टीएसएस (TSS), डोवर ट्रैफिक सेपरेशन सिस्टम (टीएसएस (TSS))[25] की स्थापना की गयी.

दिसंबर 2002 में £30एम लक्जरी कारों ले जा रहा एमवी ट्राईकलर डंकिर्क के उत्तर-पश्चिम में 32 किमी (20 मील) पर कंटेनर जहाज करीबा से कोहरे में हुई टक्कर के बाद डूब गया. अगले दिन मालवाहक जहाज निकॉला मलबे में फंस गया. हालांकि, वहाँ जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ था.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

समुद्रतट-आधारित लंबी दूरी की यातायात नियंत्रण प्रणाली को 2003 में नवीनीकृत किया गया और वर्तमान में ट्रैफिक सेपरेशन सिस्टम की एक श्रृंखला वहाँ काम कर रही है.[26] हालांकि यह प्रणाली स्वाभाविक रूप से ट्रैफिक कोलिजन एवॉइडेंस सिस्टम जैसी विमानन प्रणालियों से मिली सुरक्षा के स्तर तक पहुँचाने में अक्षम रही है, इसने प्रति वर्ष एक या दो तक दुर्घटनाओं को कम किया है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

समुद्री जीपीएस प्रणालियाँ नौपरिवहन संबंधी चैनलों का सटीक तरीके और स्वचालित रूप से अनुसरण करने के लिए पूर्वनियोजित रहने की अनुमति देती है, और जिससे धरती में फंस जाने का जोखिम कम हो जाता है, लेकिन अक्टूबर 2001 में डच एक्वामरीन और ऐश के बीच हुई घातक टक्कर के बाद, ब्रिटेन की समुद्री दुर्घटना जाँच शाखा (एमएआईबी) (MAIB)) ने यह कहते हुए एक सुरक्षा बुलेटिन जारी किया कि इसका मानना था कि इन अत्यंत असामान्य परिस्थितियों में जीपीएस (GPS) के उपयोग ने वास्तव में टक्कर में मदद की थी.[27] जहाजों द्वारा एक मानव दिशादर्शक के रूप में यातायात के मार्गों की संपूर्ण चौडाई का इस्तेमाल करने की बजाय, सीधे तौर पर एक जहाज के दूसरे के पीछे चलते हुए, बहुत ही सटीक स्वचालित मार्गदर्शन बनाए रखा जा रहा था.

खड़ी चट्टानों के पास के क्षेत्रों की निगरानी करने में रडार की मुश्किलों, सीसीटीवी (CCTV) प्रणाली की विफलता, लंगर का गलत संचालन, लंगर को खींचने वाले जहाज की पूर्व चेतावनी देने के क्रम में जीपीएस (GPS) का इस्तेमाल करने के लिए मानक प्रक्रियाओं का अनुसरण करने में चालक दल की अक्षमता और गलती को स्वीकार करने की अनिच्छा और इंजिन को स्टार्ट करने के संयुक्त कारणों से एमवी विली जनवरी 2002 में काउसैंड की खाड़ी, कॉर्नवॉल में जाकर फंस गया. समुद्री दुर्घटना जाँच शाखा की रिपोर्ट यह स्पष्ट करती है कि बंदरगाह नियंत्रकों को वास्तव में आसन्न आपदा के बारे में समुद्रतटीय पर्यवेक्षकों द्वारा चालाक दल के स्वयं सचेत होने के पहले ही सूचित कर दिया गया था.[28] विस्फोट के जोखिम की वजह से किंगसैंड गाँव को 3 दिनों के लिए खाली करा लिया गया था और जहाज को 11 दिनों के लिए फँसा हुआ छोड़ दिया गया था.[29][30][31]

पारिस्थितिकी[संपादित करें]

एक व्यस्त जहाजरानी मार्ग के रूप में, इंग्लिश चैनल को विषाक्त कार्गो और तेल के रिसाव संबंधी दुर्घटनाओं के बाद पर्यावरणीय समस्याओं का सामना करना पड़ता है.[32] वास्तव में ब्रिटेन की 40% से अधिक दुर्घटनाएं चैनल में या इसके बहुत निकट प्रदूषण के खतरे पैदा करती हैं.[33] इनमें से सर्वाधिक कुख्यात दुर्घटनाओं में से एक एमएससी (MSC) नैपोली की थी, जिसमें लगभग 1700 टन का खतरनाक कार्गो विवादित रूप से एक संरक्षित वर्ल्ड हेरिटेज साईट, लाइमे की खाड़ी के समुद्रतटीय मार्ग में समा गया था. यह जहाज क्षतिग्रस्त हो गया था और पोर्टलैंड जाने के रास्ते में था, जबकि इससे कहीं नजदीक के बंदरगाह उपलब्ध थे.

परिवहन[संपादित करें]

ली हाव्रे के समुद्र तट का एक दृश्य और पुनर्निर्मित शहर का एक हिस्सा

फेरी[संपादित करें]

फेरी के महत्वपूर्ण रास्ते हैं:

  • डोवर-कैलाइस
  • डोवर-बोलोन
  • न्यूहेवेन-डीपे
  • पोर्ट्समाउथ-कैन (ऊइस्ट्रेहैम)
  • पोर्ट्समाउथ-चेरबोर्ग
  • पोर्ट्समाउथ-ली हाव्रे
  • पोर्ट्समाउथ - सेंट मालो
  • पोर्ट्समाउथ - जर्सी और ग्वेर्नसे
  • पूल-सेंट मालो
  • पूल-चेरबोर्ग
  • वीमाउथ-सेंट मालो
  • प्लायमाउथ-रॉसकॉफ़

चैनल की सुरंग[संपादित करें]

कई यात्री चैनल की सुरंग का इस्तेमाल करते हुए इंग्लिश चैनल के नीचे से होकर पार जाते हैं. 19वीं सदी की शुरुआत में सबसे पहले प्रस्तावित और 1994 में अंतिम रूप से यह इंजीनियरिंग उपलब्धि हासिल की गयी, जो ब्रिटेन और फ्रांस को रेलमार्ग द्वारा जोड़ती है. पेरिस या ब्रुसेल्स और लंदन के बीच यूरोस्टार ट्रेन पर सफ़र अब एक दिनचर्या बन चुकी है. कारों को फोल्केस्टोन और कैलाइस के बीच विशेष ट्रेनों पर भी ले जाया जा सकता है.

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

पर्यटन[संपादित करें]

चैनल के तटीय रिजॉर्ट्स जैसे कि ब्राइटन और डियुविले ने 19वीं सदी की शुरुआत में वैभव शाली पर्यटन के एक युग का शुभारंभ किया था जिसे समुद्र के किनारे पर्यटन के लिए विक्सित किया गया था जिसने दुनिया भर के रिजॉर्ट्स को आकार दिया. अवकाश संबंधी प्रयोजनों के लिए समूचे चैनल में छोटी-छोटी यात्राओं को अक्सर चैनल होपिंग कहा जाता है.

संस्कृति और भाषाएं[संपादित करें]

नॉर्मन या पुरानी फ्रांसीसी भाषा के लिए केल्हैम का शब्दकोष (1779), इंग्लैंड के फ्रांसीसी कानून का वर्णन करते हुए, एक क्रॉस चैनल अवशेष.
मर्क-सेंट-लीविन, पास-डी-कैलाइस में एक सड़क का चिह्न, स्थानीय लिखावट में जर्मैनिक प्रभाव को दिखाते हुए.पिकेंडल (Picquendal) नाम आधुनिक डच पिकेंडल (Pikkendal) से मेल खाता है.

चैनल के उत्तरी तट पर अंग्रेजी और दक्षिणी तट पर फ्रांसीसी, दो प्रमुख संस्कृतियाँ रही हैं. हालांकि, कई अल्पसंख्यक भाषाएं भी हैं जो इंग्लिश चैनल के समुद्र तटों और द्वीपों पर पायी जाती हैं/थीं, जो चैनल के नामों के साथ यहाँ सूचीबद्ध हैं.

केल्टिक भाषाएँ
  • ब्रेटन (ब्रेझोनेग) - "मोर ब्रेझ" (ब्रिटैनी का सागर)
  • कॉर्निश (कर्नेवेक) - "चैनल"
जर्मेनिक भाषाएँ
  • डच - "हेट कैनाल" (चैनल)
  • जर्मन - "डर आर्मेलकैनाल" ("स्लीव चैनल")

फ्रांसीसियों के पास पहले एक बड़ी रेंज थी, जिनका आधुनिक फ्रांसीसी राज्य के भागों के रूप में विस्तार हुआ. अधिक जानकारी के लिए, कृपया फ्रेंच फ्लेमिश को देखें.

रोमांस भाषाएं
  • फ्रेंच भाषा - "ला मांचे"
  • गैलो
  • नॉर्मन, चैनल द्वीप की विशिष्ट शब्दावलियों सहित
    • एंग्लो- नॉर्मन (विलुप्त, लेकिन कुछ अंग्रेजी कानून के वाक्यांशों में अब भी अवशेष के रूप में मौजूद)
    • औरेगनायस (विलुप्त)
    • कोटेंटिनायस - मौंचे
    • ग्वेर्नेसियाई - शनाल
    • ज़ेरियाई - शना
    • सर्क्वैस
  • पिकार्ड

अधिकांश अन्य भाषाएं फ्रांसीसी और अंग्रेजी के भिन्न रूपों की ओर जाती हैं, लेकिन विशेष रूप से वेल्श की भाषा "मॉर उड" है.

उल्लेखनीय चैनल क्रॉसिंग[संपादित करें]

खतरनाक धाराओं से रहित सबसे अधिक संकरे लेकिन सबसे प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय जलमार्गों में से एक के रूप में, चैनल को पार करना कई आविष्कारी समुद्री, हवाई और मानव शक्ति युक्त प्रौद्योगिकियों का पहला उद्देश्य रहा है.

तिथि क्रॉसिंग प्रतिभागी टिप्पणियाँ
7 जनवरी 1785 हवाई मार्ग के जरिये पहली क्रॉसिंग (गुब्बारे में, डोवर से कैलाइस तक) जीन पियरे फ़्राँस्वा ब्लैंकार्ड (फ़्रांस)
जॉन जेफ़्रीज (यूएस)
-
15 जून 1785 पहली विमान दुर्घटना
(हाइड्रोजन/गर्म हवा से भरे गुब्बारे के संयोजन में)
पिलाट्रे डी रॉज़िअर (फ़्रांस) पियरे रोमैन (फ़्रांस) ब्लैंकार्ड/जेफ़्रीज की तरह क्रॉसिंग की कोशिश
10 जून 1821 पैडल स्टीमर "रॉब रॉय", चैनल को पार करने के लिए पहला पैडल स्टीमर बाद में फ्रांसीसी डाक प्रशासन द्वारा स्टीमर को खरीदा गया और इसे "हेनरी चतुर्थ" का नया नाम दिया गया था.
जून 1843 फोल्केस्टोन-बोलोन से होकर नौका के माध्यम से पहला संपर्क कमांडिंग आफिसर कैप्टन हेवार्ड
25 अगस्त 1875 चैनल को तैरकर पार करने वाला पहला ज्ञात व्यक्ति (डोवर से कैलाइस तक, 21 घंटे, 45 मिनट) मैथ्यू वेब (ब्रिटेन) 12 अगस्त को उसी वर्ष चैनल को पार करने का प्रयास किया गया, लेकिन तेज हवाओं और समुद्र की खराब परिस्थितियों के कारण तैरने की कोशिश छोड़ने पर मजबूर होना पडा.
27 मार्च 1899 संपूर्ण चैनल में पहला रेडियो प्रसारण (विमरियक्स से दक्षिण फोरलैंड लाईटहाउस तक) गुग्लियेल्मो मारकोनी (इटली)
25 जुलाई 1909 पहला व्यक्ति जिसने एक हवा से भारी विमान (ब्लेरियोट XI ) में बैठकर चैनल को पार किया (कैलाइस से डोवर तक, 37 मिनटों में) लुईस ब्लेरियोट (फ़्रांस) सम्पूर्ण चैनल में पहली सफल उड़ान के लिए डेली मेल द्वारा की गयी पेशकश के रूप में 1000 पाउंड के पुरस्कार से प्रोत्साहित किया गया.
23 August 1910 यात्रियों के साथ विमान की पहली उड़ान जॉन बेविंस मोइसांट (यू.एस.) मैकेनिक अल्बर्ट फिलियक्स और मोइसांट की बिल्ली यात्रियों के रूप में थे.
16 अप्रैल 1912 पहली महिला जिसने इंग्लिश चैनल के आर-पार उड़ान भरी (डोवर से कैलाइस, 59 मिनट में) हैरियेट क्विम्बी (यूएस) उसकी उपलब्धि पर मीडिया का ज्यादा ध्यान नहीं गया था क्योंकि इसकी इससे पहले की शाम को आरएमएस टाइटैनिक डूब गया था.
23 अगस्त 1926 चैनल के आर-पार तैरने वाली पहली महिला (कैप ग्रीस नेज़ से किंग्सडाउन तक तक, 14 घंटे 39 मिनट में) जरट्रूड एडरले (अमेरिका) एडरले से पहले पाँच लोगों ने सफलतापूर्वक चैनल को तैरकर पार किया था. एडरले ने अपना सर्वश्रेष्ट समय लेते हुए उन्हें दो घंटों से मात दिया और एक महिला तैराक के लिए एक रिकॉर्ड बनाया जो तब तक कायम रहा जब तक कि फ्लोरेंस चैडविक ने 1950 में इसे 13 घंटे 20 मिनट में तैरकर पार नहीं कर लिया.[34]
25 जुलाई 1959 होवरक्राफ्ट क्रॉसिंग (कैलाइस से डोवर तक, 2 घंटे 3 मिनट में) एसआर-एन1 (SR-N1) सर क्रिस्टोफर कॉकेरेल बोर्ड पर थे.
22 अगस्त 1972 पहला एकल होवरक्राफ्ट क्रॉसिंग (एसआर-एन1 की तरह उसी मार्ग पर; 2 घंटे 20 मिनट में[35]) निगेल बेले (ब्रिटेन)
1974 कोरैकल (13 ½ घंटे) बर्नार्ड थॉमस (ब्रिटेन) प्रचार स्टंट के एक हिस्से के रूप में, यात्रा यह दिखाने के लिए आयोजित की गयी थी कि किस तरह उत्तरी डकोटा के मंडन भारतीयों के बुल बोट्स द्वारा 12वीं सदी में राजकुमार मैडॉग द्वारा शुरू किये गए वेल्श कोरैकल्स की नक़ल की गयी हो सकती थी.[36]
12 जून 1979 चैनल के ऊपर उड़ान भरने वाला पहला मानव संचालित विमान
(55-पाउंड में (25 किग्रा) गोसैमर अल्बाट्रॉस )
ब्रायन एलन (अमेरिका) £100,000 का एक क्रेमर पुरस्कार जीता; एलन ने तीन घंटों के लिए पैडल चलाया.
14 सितंबर 1995 होवरक्राफ्ट द्वारा सबसे तेज क्रॉसिंग, "राजकुमारी ऐनी" द्वारा 22 मिनट में एमसीएच (MCH) एसआर-एन4 एमकेIII नौका को एक फेरी के रूप में डिजाइन किया गया था
1997 फोटोवोल्टिक सेल्स का उपयोग करते हुए सौर शक्ति संचालित क्रॉसिंग पूरी करने वाली पहली पोत. एसबी कोलिंडा -
14 जून 2004 उभयचर वाहन में क्रॉसिंग के लिए नया रिकॉर्ड समय (गिब्स एक्वाडा, दो-सीटों वाली खुली-छत की स्पोर्ट्स कार रिचर्ड ब्रैनसन (ब्रिटेन) 100 मिनट 06 सेकंड में क्रॉसिंग पूरी की. पिछला रिकॉर्ड 6 घंटे का था.
31 जुलाई 2003 एक विंगसूट और एक कार्बन फाइबर विंग का उपयोग कर एक 20-मील (32 कि.मी.) लंबाई के फ्रीफॉल में क्रॉसिंग फेलिक्स बॉमगार्टनर (ऑस्ट्रिया)
26 जुलाई 2006 हाइड्रोफोइल कार में क्रॉसिंग के लिए लिया गया नया रिकॉर्ड समय (रिनस्पीड स्प्लैश, दो-सीटों वाली खुली छत की स्पोर्ट्स कार फ्रैंक एम. रिंडर्कनेक्ट (एसयूआई (SUI)) 194 मिनट में क्रॉसिंग पूरी की[37]
25 सितंबर 2006 रस्सी से खींचने योग्य हवा वाली एक नाव पर पहली क्रॉसिंग (एक हवा वाली नाव से संचालित नहीं) स्टीफन प्रेस्टन (ब्रिटेन) 180 मिनट में क्रॉसिंग पूरी की[38]
जुलाई 2007 बीबीसी के टॉप गियर प्रस्तोताओं ने उभयचर कारों में फ्रांस तक ड्राइव किया. जेरेमी क्लार्कसन, रिचर्ड हैमोंड, जेम्स मे (ब्रिटेन) एक होंडा आउटबोर्ड इंजिन से युक्त, एक 1996 निसान डी21 पिकअप ("निसांक") में क्रॉसिंग पूरी की[39]
26 सितंबर 2008 एक जेटपैक के साथ पहली क्रॉसिंग युवेस रौसी (एसयूआई (SUI)) दस मिनट से भी कम समय में क्रॉसिंग पूरी की[40]
12 मार्च 2010 पानी में स्कीइंग द्वारा पहली क्रॉसिंग क्रिस्टीन ब्लीकले (ब्रिटेन) सिर्फ 100 मिनट से थोड़े अधिक में पूरी की. उसने बीबीसी खेल राहत के लिए क्रॉसिंग के दौरान आठ बार गिरते हुए यह चुनौती पूरी की.
28 मई 2010 हीलियम बैलून द्वारा पहली क्रॉसिंग जोनाथन ट्रेप (यूएसए) चार घंटे में पूरा हुआ. उसने एक रंगीन हीलियम गुब्बारों के बादल के नीचे झूलते हुए चैनल को पार किया और एक जोड़ी कैंचियों से अपने गुब्बारों को साधारण तरीके से एक-एक कर काटते हुए आगे बढ़ता रहा.[41]
18 जुलाई 2010 आरएस टेरा द्वारा पहली क्रॉसिंग सीसीएससी (CCSC), डीएससी (DSC) और डाउंस एससी (यूके) के 7-16 वर्ष की आयु के बच्चे एक-हाथ के 9' नौकायन वाली डिग्गियों में क्रॉसिंग पूरी की. 5 घंटों में डोवर से बोलोन तक (27 एनमाइल्स)

नाव द्वारा[संपादित करें]

पियरे एंड्रियल ने 1815 में एलिस में बैठकर इंग्लिश चैनल को पार किया था, जो भाप के जहाज द्वारा तय की जाने वाली सबसे पहली समुद्री यात्राओं में से एक थी.

10 जून, 1821 को अंग्रेजी निर्मित पैडल स्टीमर "रोब रॉय" चैनल को पार करने वाली पहली यात्री नौका थी. बाद में स्टीमर को फ़्रांसी डाक प्रशासन द्वारा खरीद लिया गया और इसे "हेनरी चतुर्थ" का नया नाम दिया गया और एक साल बाद इसे नियमित यात्री सेवा में डाल दिया गया. यह डोवर के संपूर्ण जलसंयोगी की यात्रा लगभग तीन घंटे के आसपास में पूरी करने में सक्षम थी.[42]

डोवर बंदरगाह के साथ कठिनाइयों की वजह से जून 1843 में दक्षिण पूर्व रेलवे कंपनी ने कैलाइस-डोवर के एक विकल्प के रूप में बोलोन-सुर-मर-फोल्केस्टोन मार्ग विकसित किया था. पहली नौका कप्तान हेवार्ड के कमांड के तहत पार हुई थी.[43]

माउंटबेटन क्लास होवरक्राफ्ट (एमसीएच (MCH)) ने अगस्त 1968 में वाणिज्यिक सेवा में प्रवेश किया और शुरुआत में डोवर और बोलोन के बीच संचालित की गयी, लेकिन बाद में यह नौका रैम्सगेट (पेगवेल की खाड़ी) से कैलाइस के मार्ग में भी चलाई गयी. डोवर से बोलोन तक की यात्रा का समय लगभग 35 मिनट का था जिसमें तेजी के समय में छह खेप प्रति दिन की यात्रा होती थी. एक वाणिज्यिक कार-वाहक होवरक्राफ्ट द्वारा इंग्लिश चैनल की सबसे तेज क्रॉसिंग 22 मिनट की थी, जिसे राजकुमारी ऐनी द्वारा 14 सितंबर 1995[44] को 10:00 बजे सुबह की सेवा[कृपया उद्धरण जोड़ें] के लिए एमसीएच एसआर-एन4 एमके3 (MCH SR-N4 Mk3) से दर्ज किया गया था.

नाव द्वारा चैनल को पार करने वाले सबसे कम उम्र के दर्ज नाविकों में 18 जुलाई, 2010 को 7 से 16 वर्ष की आयु के आठ बच्चों की एक टीम थी. उन्होंने अपनी एक हाथ से चलाई जाने वाली आरएस टेरा डिंगियों को खेते हुए डोवर से बोलोन की 27 मील की दूरी 5 घंटों में पूरी की और डोवर तटरक्षक रेडार द्वारा उनकी निगरानी की गयी जिसने रास्ते का एक रिकॉर्ड रखा. ये बच्चे ब्रिटेन के तीन क्लबों के थे: कैसल कोव एससी, डैबचिक्स एससी और डॉन्स एससी.

तैर कर[संपादित करें]

चैनल तैराकी के खेल की शुरुआत 19 वीं सदी के उत्तरार्द्ध से हुई मानी जाती है जब कप्तान मैथ्यू वेब ने 24 अगस्त 1875 - 25 अगस्त 1875 को इंग्लैंड से लेकर फ्रांस तक सम्पूर्ण डोवर जलसंयोगी को पहली बार निगरानी के तहत और किसी सहायता के बगैर 21 घंटे और 45 मिनट में तैर कर पार किया था.

1927 में (एक ऐसे समय में जब दस से कम तैराकों ने इस उपलब्धि का अनुकरण करने का प्रयास किया था और कई तरह के संदिग्ध दावे किये गए थे), तैराकों के इंग्लिश चैनल को तैरकर पार करने के दावों को प्रमाणित करने एवं इनकी पुष्टि के लिए और पार करने के समय को सत्यापित करने के लिए चैनल तैराकी एसोसिएशन (सीएसए (CSA)) की स्थापना की गयी थी. सीएसए को 1999 में भंग कर दिया गया था और इसके बाद दो अलग संगठनों का निर्माण किया गया था: सीएसए (लिमिटेड) और चैनल स्वीमिंग एंड पायलटिंग फेडरेशन (सीएसपीएफ (CSPF)). दोनों डोवर जलसंयोगी में चैनल के आर-पार तैराकी के निरीक्षण और प्रमाणन का काम करते हैं.

सबसे अधिक बार चैनल को तैर कर पार करने का श्रेय अपने नाम करने वाली टीम अंतरराष्ट्रीय श्री चिन्मय मैराथन टीम है जिसके 25 सदस्यों द्वारा 35 बार चैनल को पार किया गया है.[45]

2005 के अंत तक, 811 व्यक्तियों ने सीएसए (CSA), सीएसए (CSA) (लिमिटेड), सीएसपीएफ (CSPF) और बटलिंस के नियमों के तहत 1,185 बार प्रमाणित क्रॉसिंग्स पूरी की है.

2005 तक चैनल तैराकी एसोसिएशन के तहत आयोजित और इसके द्वारा प्रमाणित तैराकियों की कुल संख्या है: 665 लोगों द्वारा 982 सफल क्रॉसिंग. इसमें 24 बार दो-रास्तों की क्रॉसिंग और तीन बार तीन-रास्तों की क्रॉसिंग शामिल है.

2004 तक प्रमाणित तैराकियों की कुल संख्या थी: 675 लोगों द्वारा 948 सफल क्रॉसिंग (पुरुषों द्वारा 456 और महिलाओं द्वारा 214). इसमें सोलह बार दो-रास्तों की क्रॉसिंग शामिल थी (पुरुषों द्वारा 9 और महिलाओं द्वारा 7). तीन-रास्तों की क्रॉसिंग तीन बार पूरी की गयी थी (पुरुषों द्वारा 2 और महिला द्वारा 1). (यह स्पष्ट नहीं है कि आंकड़ों का यह अंतिम सेट विस्तृत है या केवल सीएसए (CSA) का है.)

तैराकी संगठन सीएस एंड पीएफ (CS&PF) और सीएसए (CSA) ने तैराकों को उनकी महंगी पायलट नौकाओं (प्रति खेप 4000 अमेरिकी डॉलर) को सीमित करने की सफलतापूर्वक पैरवी की है. इस राजनीतिक पैरवी का परिणाम इस दस्तावेज़ में उल्लिखित है.[46] इस पैरवी के प्रयास के बावजूद तैराक इस दस्तावेज में से यह नोट करेंगे कि "हालांकि, असाधारण मामलों में फ्रांसीसी समुद्री अधिकारियों द्वारा ट्रैफिक सेपरेशन स्कीम के अंतर्गत फ्रांसीसी क्षेत्रीय समुद्र को पार करने के लिए अपरंपरागत नौका के इस्तेमाल का अधिकार प्रदान किया जा सकता है जब ये नौकाएं ब्रिटिश समुद्रतट से चलेंगीं, इस शर्त पर की इसके अधिकार का अनुरोध उनके पास ब्रिटिश समुद्री अधिकारियों की राय के साथ भेजा जाए". इसलिए चैनल में तैराकी के समय एक गैर-सीएसए (CSA) या सीएस एंड पीएफ (CS&PF) पायलट नौका किराए पर लेना संभव है.

चैनल की सबसे तेज प्रमाणित तैराकी बुल्गेरियाई पीटर स्टोयचेव द्वारा 24 अगस्त, 2007 को दर्ज की गयी थी. उसने 6 घंटे 57 मिनट 50 सेकंड में चैनल को पार किया था.

कार द्वारा[संपादित करें]

16 सितंबर 1965 को दो एम्फीकारों ने डोवर से कैलाइस तक इंग्लिश चैनल को सफलतापूर्वक पार किया था. एक कार में चालाक दल के रूप में दो सेना के अधिकारी, कप्तान माइक बेली आरईएमई (REME) और कप्तान पीटर टैपेंडेन (RAOC) मौजूद थे. दूसरी कार में टिम डिल-रसेल और सार्जेंट जो मिंटो आरएएससी (RASC) चालाक दल के रूप में थे. इस क्रॉसिंग में 7 घंटे और 20 मिनट का समय लगा. चैनल के मध्य में शर्तें फ़ोर्स 5 तक की थी. कारों को उस साल के फ्रैंकफर्ट मोटर शो में ले जाया गया, जहाँ उन्हें प्रदर्शनी के लिए रखा गया था.[47]

2007 में बीबीसी कार्यक्रम टॉप गियर के प्रस्तुतकर्ताओं, जेरेमी क्लार्कसन, रिचर्ड हैमंड और जेम्स मे ने इंग्लैंड से फ्रांस तक संपूर्ण चैनल से होकर "ड्राइव किया". उन्होंने यह करतब "एम्फीबायस कारों" को डिजाइन करते हुए दिखाया जिन्हें जमीन के साथ-साथ पानी में भी चलाया जा सकता है. चार बार के प्रयासों के बाद - दो बार डोवर बंदरगाह से चलने में नाकाम रहे - तीनों प्रस्तुतकर्ता एक निसान पिकअप में बैठकर सफलतापूर्वक फ्रांस के समुद्रतट पर पहुँच गए, जिसमें खुले पानी में स्थायित्व में मदद के लिए आउटबोर्ड मोटर और पीछे की ओर तेल के ड्रमों को जोड़ा गया था.[39] क्रॉसिंग की कोशिश करने वाले दो अन्य वाहनों में से (एक पाल के साथ एक ट्रायम्फ हेराल्ड और एक फ्लाईव्हील से जुड़े एक प्रोपेलर के साथ वोल्क्सवैगन कैम्परवैन) दोनों डूब गए.

क्लार्कसन का मानना था कि इस तरह से चैनल को पार करने के लिए विश्व रिकॉर्ड को तोड़ा जाना संभव हो सकता है, लेकिन यह टीम असफल रही थी.[48]

डेली मेल ने दावा किया कि बीबीसी को तटरक्षकों से आलोचना का सामना करना पडा जिन्होंने यह दावा किया कि उन्हें यह नहीं बताया गया था कि ऐसा कोई स्टंट आयोजित होने जा रहा है, और कथित तौर पर इसे "पूर्णतः गैर-जिम्मेदार" के रूप में ब्रांड बना दिया, इसके बावजूद कि प्रसारित एपिसोड में तटरक्षकों का सहयोग दिखाया गया था.[49]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • शराब का क्रूज
  • फीनिक्स ब्रेकवाटर्स
  • सफल इंग्लिश चैनल तैराकों की सूची

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "इंग्लिश चैनल". कोलंबिया एन्साइक्लोपीडिया 2004.
  2. "इंग्लिश चैनल." एन्साइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका 2007.
  3. "Limits of Oceans and Seas, 3rd edition + corrections". International Hydrographic Organization. 1971. p. 42 [corrections to page 13]. http://www.iho-ohi.net/iho_pubs/standard/S-23/S23_1953.pdf. अभिगमन तिथि: 6 February 2010. 
  4. "इंग्लिश चैनल." हचिन्सन अनएब्रिज्ड एन्साइक्लोपीडिया एटलस सहित. 2005.
  5. File:Allied Invasion Force.jpg + चैनल का फ्रांसीसी नक्शा
  6. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; Gupta_Nature नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  7. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; PhysToday नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  8. "डॉगरलैंड परियोजना", पुरातत्व के एक्सेटर विभाग का विश्वविद्यालय. 20 सितम्बर 2010 को प्राप्त
  9. "Jonathan Potter: Map : The British Channel". Jpmaps.co.uk. http://www.jpmaps.co.uk/map/id.22553. अभिगमन तिथि: 2010-04-27. 
  10. "A chart of the British Channel, Jefferys, Thomas, 1787". Davidrumsey.com. 1999-02-22. http://www.davidrumsey.com/maps6489.html. अभिगमन तिथि: 2010-04-27. 
  11. "ग्रेट ब्रिटेन का मानचित्र, सीए. 1450", कलेक्ट ब्रिटेन
  12. रूम ए, प्लेसमेंट ऑफ द वर्ल्ड: ओरिजिंस एंड मीनिंग्स , पृष्ठ 6.
  13. सीएफ़. "कर्नाव", कॉर्नवाल के लिए कॉर्निश.
  14. "History Compass". History Compass. http://www.history-compass.com/images/store/HICO/chapters/523.pdf. अभिगमन तिथि: 2010-04-27. 
  15. "Germany The migration period". http://www.britannica.com/eb/article-58084/Germany. अभिगमन तिथि: 2007-07-24. 
  16. Nick Attwood MA. "The Holy Island of Lindisfarne - The Viking Attack". http://www.lindisfarne.org.uk/793/index.htm. अभिगमन तिथि: 2007-07-24. 
  17. britishbattles.com (2007). "The Spanish Armada: Sir Francis Drake". http://www.britishbattles.com/spanish-war/spanish-armada.htm. अभिगमन तिथि: 2007-07-24. 
  18. Geoffrey Miller. The Millstone: Chapter 2. http://www.manorhouse.clara.net/book3/chapter2.htm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01.  फिशर का उद्धरण, नेवल नेसेसिटीज I , पृष्ठ 219
  19. "U-Boat warfare at the Atlantic during World War I". German Notes. http://www.germannotes.com/hist_ww1_uboat.shtml. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  20. "His Imperial German Majesty's U-boats in WWI: 6. Finale". uboat.net. http://uboat.net/history/wwi/part6.htm. अभिगमन तिथि: 2009-09-13. 
  21. "Fact File: Battle of Britain". BBC. http://www.bbc.co.uk/ww2peopleswar/timeline/factfiles/nonflash/a1057330.shtml?sectionId=2&articleId=1057330. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  22. Campaigns of World War II, Naval History Homepage. "Atlantic, WW2, U-boats, convoys, OA, OB, SL, HX, HG, Halifax, RCN ...". http://www.naval-history.net/WW2CampaignsStartEurope.htm. अभिगमन तिथि: 2007-07-24. 
  23. "The Dover Strait". Maritime and Coastguard Agency. 2007. http://www.mcga.gov.uk/c4mca/mcga07-home/emergencyresponse/mcga-searchandrescue/mcga-hmcgsar-sarsystem/channel_navigation_information_service__cnis_/the_dover_strait.htm. अभिगमन तिथि: 2008-10-08. 
  24. "History of CNIS". Maritime and Coastguard Agency. 2007. http://www.mcga.gov.uk/c4mca/mcga07-home/emergencyresponse/mcga-searchandrescue/mcga-hmcgsar-sarsystem/channel_navigation_information_service__cnis_/history_of_cnis.htm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  25. "Dover Strait TSS". Maritime and Coastguard Agency. http://www.mcga.gov.uk/c4mca/mcga07-home/emergencyresponse/mcga-searchandrescue/mcga-hmcgsar-sarsystem/channel_navigation_information_service__cnis_/dops_-_dover_strait_tss_chartlet.htm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  26. समुद्री और तटरक्षा एजेंसी द्वारा प्रकाशित चार्टलेट
  27. "Safety Bulletin 2" (PDF). Marine Accident Investigation Branch. 2001. http://www.maib.gov.uk/cms_resources/SB_%202_2001_%20Ash_and_Dutch_Aquamarin.pdf. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  28. "Report on the Investigation of the grounding of MV Willy" (PDF). Marine Accident Investigation Branch. October 2002. http://www.maib.gov.uk/cms_resources/willy.pdf. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  29. "Picture gallery: Cornwall's stranded tanker". London: BBC. 5 January 2002. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/1742910.stm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  30. "Salvage team hunts for leak". London: BBC. 6 January 2002. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/1745945.stm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  31. "Stranded tanker safe in port". London: BBC. 14 January 2002. http://news.bbc.co.uk/1/hi/england/1759670.stm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  32. "Tanker wreck starts leaking oil". London: BBC. 1 February 2006. http://news.bbc.co.uk/1/hi/world/europe/guernsey/4668664.stm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  33. "Annual Survey of Reported Discharges". Maritime and Coastguard Agency. 2006. http://www.mcga.gov.uk/c4mca/pacops_final_report_2006.pdf. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  34. Severo, Richard (December 1, 2003). "Gertrude Ederle, the First Woman to Swim Across the English Channel, Dies at 98". New York Times. http://www.nytimes.com/2003/12/01/sports/gertrude-ederle-the-first-woman-to-swim-across-the-english-channel-dies-at-98.html. अभिगमन तिथि: 2009-08-11. "Gertrude Ederle, who was called America's best girl by President Calvin Coolidge in 1926 after she became the first woman to swim across the English Channel, died yesterday at a nursing home in Wyckoff, N.J. She was 98." 
  35. ग्रेट ब्रिटेन रिकॉर्ड्स के होवरक्राफ्ट क्लब में सत्यापन योग्य और अभिलेखागार.
  36. "Wales on Britannia: Facts About Wales & the Welsh". Britannia.com. http://www.britannia.com/celtic/wales/facts/facts7.html. अभिगमन तिथि: 2010-04-27. 
  37. Stuart Waterman (July 27, 2006). "Rinspeed "Splash" sets English Channel record". Autoblog. http://www.autoblog.com/2006/07/27/rinspeed-splash-sets-english-channel-record/. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  38. "Inflatable Drag". http://www.stupidsteve.co.uk/inflatable.html. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  39. "1996 Nissan Truck [D21] in "Top Gear, 2002–2010"". IMCDb.org. http://imcdb.org/vehicle_132991-Nissan-Pickup-D21-1996.html. अभिगमन तिथि: 2010-04-27. 
  40. "Pilot completes jetpack challenge". London: BBC. 26 September 2008. http://news.bbc.co.uk/1/hi/uk/7637327.stm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  41. अमेरिकी ने हीलियम गुब्बारों के जरिये चैनल को पार किया, द गार्जियन , 28/05/2010 को प्राप्त.
  42. [1] चैनल फेरी का इतिहास
  43. [2] चैनल फेरियां और फेरी बंदरगाह
  44. "Hovercraft deal opens show". London: BBC News. 15 June 1966. http://news.bbc.co.uk/onthisday/hi/dates/stories/june/15/newsid_3025000/3025267.stm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  45. "Sri Chinmoy Marathon Team Channel Swim List". http://www.srichinmoyraces.org/channel/channel_swimmers/channel_swimmers_list. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  46. "Unorthodox Crossing of the Dover Strait Traffic Separation Scheme". Maritime and Coastguard Agency. http://www.mcga.gov.uk/c4mca/mcga07-home/emergencyresponse/mcga-searchandrescue/mcga-hmcgsar-sarsystem/channel_navigation_information_service__cnis_/dops_-_all-sar_cnis_unorthodox_crossings.htm. अभिगमन तिथि: 2008-11-01. 
  47. 10 दिसंबर 1965 को प्रकाशित कार्स अहोय शीर्षक ऑटोकार आलेख
  48. बीबीसी की टॉप गियर श्रृंखला 10 एपिसोड 2
  49. "Coastguards' fury as Top Gear stars attempt to 'drive' across the Channel | Mail Online". Dailymail.co.uk. 2007-07-20. http://www.dailymail.co.uk/tvshowbiz/article-469782/Coastguards-fury-Top-Gear-stars-attempt-drive-Channel.html. अभिगमन तिथि: 2010-04-27. 

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]


साँचा:List of seas

Erioll world.svgनिर्देशांक: 50°11′01″N 0°31′52″W / 50.18361, -0.53111