उत्तरी सागर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उत्तरी सागर
उत्तरी सागर -
स्थिति अटलांटिक महासागर
निर्देशांक 56°N 03°E / 56°N 3°E / 56; 3 (North Sea)निर्देशांक: 56°N 03°E / 56°N 3°E / 56; 3 (North Sea)
प्राथमिक स्रोत आगे, यथान, एल्बे, वेसर, एम्स, राइन/वाल, मीयूज़, शखेल्ट, स्पे, टेय, थेम्स, हंबर, टीज़, टाइन, वेयर, क्राउच
तटवर्ती क्षेत्र नॉर्वे, डेनमार्क, जर्मनी, नीदरलैंड, बेल्जियम, फ़्रांस और यूनाइटेड किंगडम (इंगलैंड, स्कॉटलैंड)
अधिकतम लंबाई 960 कि॰मी॰ (600 मील)
अधिकतम चौड़ाई 580 कि॰मी॰ (360 मील)
सतही क्षेत्र 750,000 कि॰मी2 (290,000 वर्ग मील)
औसत गहराई 95 मी॰ (312 फीट)
अधिकतम गहराई 700 मी॰ (2,300 फीट)
जल मात्रा 94,000 कि॰मी3 (23,000 घन मील)
लवणता 3.4 to 3.5%
अधिकतम तापमान 17 °से. (63 °फ़ै)
न्यूनतम तापमान 6 °से. (43 °फ़ै)
संदर्भ समुद्र में सुरक्षा और बैलजियन साही प्राकृतिक विज्ञान संस्था

उत्तरी सागर अंध महासागर का एक सीमावर्ती समुद्र है जो यूनाइटेड किंगडम, स्कैंडेनेविया, जर्मनी, फ़्रांस, नीदरलैंड और बेल्जियम के बीच स्थित है। यह अंध महासागर के साथ दक्षिण में अंग्रेज़ी खाड़ी के द्वारा और उत्तर में नारवेयी सागर के द्वारा जुड़ा हुआ है। यह 970 कि॰मी॰ से लम्बा और 580 कि॰मी॰ चौड़ा है और क्षेत्रफल लगभग 750,000 वर्ग कि॰मी॰ है।

उत्तरी सागर पूरब में यूरोप महाद्वीप और पश्चिम में ग्रेट ब्रिटेन से घिरा है। इकोसिना (१९२१) के अनुसार इसकी गहराई ३०८ फुट है। इस प्रकार यह एक उथला सागर है। इसका नितल उस महाद्वीपीय निधाय (कांटिनेंटल शेल्फ) का एक भाग है जिसके ऊपर ब्रिटिश द्वीपसमूह स्थित है। इस निधाय को ढाल (प्रवणता) उत्तर से दक्षिण तक प्राय: एक समान है। डॉगर बैंक्स नामक समुद्र में निमग्न बालू का मैदान उत्तरी सागर के मध्य में स्थित है। इंग्लैंड के समुद्रतट के समीप इस सागर की गहराई ६५ फुट है जो पूर्व की और बढ़कर १३० फुट हो जाती है। इस सागर की सामान्य लवणता ३४ से ३५ प्रति सहस्र है।

उत्तरी सागर सूक्ष्म जीवों और पौधों में विशेष रूप से धनी है। इसलिए मछलियाँ इधर प्रचुर मात्रा में, अपने भोजन की खोज में, आकर्षित होती है। फलत: उत्तरी सागर विश्व का एक महत्वपूर्ण मत्स्य उत्पादक क्षेत्र है। मत्स्य के प्राप्तिस्थानों में डॉगर बैंक्स (शीतकाल में) और महाद्वीपीय समुद्रतट के समीप स्थित उथले समुद्र (ग्रीष्मकाल में) प्रमुख हैं। पकड़ी जानेवाली मछलियों में हेरिंग का अनुपात सबसे अधिक रहता है; इसके बाद क्रमानुसार हैडक, कॉड, प्लेस, ह्वाइटिंग, मैकेरल इत्यादि आती हैं।