एयरबस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Airbus SAS
प्रकार Subsidiary
उद्मोग Aerospace
स्थापना 1970 (Airbus Industrie)
2001 (Airbus SAS)
मुख्यालय Blagnac, France
प्रमुख व्यक्ति Thomas Enders, CEO
Harald Wilhelm, CFO
John Leahy, Chief Commercial Officer
Fabrice Brégier, COO
उत्पाद Commercial airliners (list)
राजस्व Green Arrow Up Darker.svg €27.45 billion (FY 2008)[1]
निवल आय Green Arrow Up Darker.svg €1.597 billion (FY 2008)
कर्मचारी 57,000[2]
मातृ कंपनी EADS
सहायक कंपनियाँ Airbus Military
वेबसाइट www.airbus.com
A 330-200 Air Seychelles 2013

एयरबस SAS (अंग्रेज़ी मेंLtspkr.png उच्चारित/ˈɛərbʌs/, फ़्रांसीसी में /ɛʁbys/ और जर्मन में /ˈɛːɐbʊs/) एक यूरोपीय अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी कम्पनी EADS की एक वायुयान निर्माण सहायक कम्पनी है। ब्लैगनैक, फ़्रांस में ट्युलाउज़ के पास स्थित[3][4] और पूरे यूरोप में महत्वपूर्ण गतिविधि वाली यह कम्पनी समस्त विश्व के जेट विमानों की कुल संख्या के लगभग आधे का उत्पादन करती है।

एयरबस की शुरुआत अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी उत्पादकों के एक संघ के रूप में हुई। सदी के अंत के दौरान यूरोपीय सैन्य और अंतरिक्ष अनुसंधान कम्पनियों के एकीकरण ने 2001 में सरलीकृत संयुक्त स्टॉक कंपनी की स्थापना की अनुमति दी, जिसका स्वामित्व EADS (80%) और BAE सिस्टम्स (20%) के पास था। एक लंबी विक्रय प्रक्रिया के बाद 13 अक्टूबर 2006 को BAE ने अपनी हिस्सेदारी EADS को बेच दी। [5]

यूरोपीय संघ के चार देशों: जर्मनी, फ़्रांस, यूनाइटेड किंगडम और स्पेन, के सोलह स्थानों पर एयरबस के लगभग 57,000 कर्मचारी कार्य करते हैं। अंतिम असेम्बली उत्पादन ट्युलाउज़ (फ़्रांस), हैम्बर्ग (जर्मनी), सेविल (स्पेन) और, 2009 से, तियान्जिन (चीन) में होता है।[6] संयुक्त राज्य अमरीका, जापान, चीन और भारत में एयरबस की सहायक कम्पनियां कार्यरत हैं।

यह कम्पनी वाणिज्यिक रूप से व्यवहार्य पहले फ़्लाइ-बाइ-वायर (fly-by-wire) वायुयानों के उत्पादन और विपणन के लिये जानी जाती है।[7][8]

इतिहास[संपादित करें]

उद्गम[संपादित करें]

एयरबस इंडस्ट्री का प्रारंभ बोइंग, मैक्डोनेल डग्लस और लॉकहीड जैसी अमरीकी कम्पनियों से प्रतिस्पर्धा करने के लिये यूरोपीय वैमानिकी प्रतिष्ठानों के एक संघ के रूप में हुआ।[9]

हालांकि अनेक यूरोपीय वायुयान उन्नत थे, फिर भी सर्वाधिक सफल वायुयानों की उत्पादन खपत भी कम थी।[10] 1991 में, एयरबस इंडस्ट्री के तत्कालीन CEO और प्रबंध निदेशक जीन पियर्सन ने अमरीकी विमान उत्पादकों के वर्चस्व की व्याख्या करनेवाले अनेक कारकों का वर्णन किया: संयुक्त राज्य अमरीका के भौगोलिक विस्तार ने हवाई-परिवहन को यात्रा का पसंदीदा विकल्प बना दिया; 1942 के एंग्लो-अमरीकी समझौते ने परिवहन विमानों का उत्पादन US को सौंप दिया; और द्वितीय विश्व युद्ध ने अमरीका को एक "लाभकारी, बलवान, शक्तिशाली और संरचनायुक्त वैमानिकी उद्योग" प्रदान किया।[10]

"For the purpose of strengthening European co-operation in the field of aviation technology and thereby promoting economic and technological progress in Europe, to take appropriate measures for the joint development and production of an airbus."

Airbus Mission Statement

1960 के दशक के मध्य में, यूरोपीय सहयोगपूर्ण प्रस्ताव के संदर्भ में प्रायोगिक बातचीत की शुरूआत हुई। एकल विमान कम्पनियां पहले ही ऐसी आवश्यकता पर विचार कर चुकी थीं; 1959 में हॉकर सिडली ने आर्मस्ट्रांग व्हिटवर्थ AW.660 आर्गोज़ी[11] के "एयरबस" संस्करण का एक विज्ञापन दिया था, जो "अत्यंत छोटे मार्गों पर 2d. प्रति सीट मील की प्रत्यक्ष संचालन लागत पर 126 यात्रियों तक को ढोने में सक्षम होता."[12] हालांकि यूरोपीय वायुयान उत्पादक ऐसे जोखिमों के विकास के प्रति सजग थे और उन्होंने, अपनी सरकारों के साथ, यह स्वीकार करना प्रारंभ कर दिया था कि ऐसे किसी वायुयान का विकास करने और अधिक शक्तिशाली US उत्पादकों के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिये सहयोग आवश्यक था। 1965 के पेरिस एयर शो में प्रमुख यूरोपीय एयरलाइनों ने कम लागत पर छोटी से मध्यम दूरियों तक 100 या अधिक यात्रियों का परिवहन कर पाने में सक्षम एक नये "एयरबस" की उनकी आवश्यकताओं पर अनौपचारिक रूप से चर्चा की। [13] उसी वर्ष एयरबस डिज़ाइनों का अध्ययन करने के लिये हॉकर सिडली ने (UK सरकार के आग्रह पर) ब्रेग्वेट और नॉर्ड के साथ मिलकर एक दल बनाया। हॉकर सिडली/ब्रेग्वेट/नॉर्ड समूह HBN 100 इस परियोजना को जारी रखने का आधार बना। 1966 तक सुद एवियेशन, बाद में एरोस्पेशियेल (फ़्रांस), आर्बित्स्गेमीन्शाफ़्ट एयरबस, बाद में ड्युश एयरबस (जर्मनी) और हॉकर सिडली इसके साझेदार थे।[13] अक्टूबर 1966 में तीनों सरकारों से वित्तीय सहायता की मांग की गई।[13] 25 जुलाई 1967 को तीनों सरकारें प्रस्ताव पर आगे बढ़ने को राज़ी हुईं.

इस समझौते के दो वर्षों बाद, ब्रिटिश और फ़्रांसीसी दोनों सरकारों ने परियोजना के बारे में आशंकाएं व्यक्त कीं. MoU (सहमति-पत्र) में कहा गया था कि 31 जुलाई 1968 तक 75 ऑर्डर अनिवार्य रूप से प्राप्त कर लिये जाने चाहिये। फ़्रांसीसी सरकार ने एयरबस A300, कौन्कौर्ड और डसौल्ट मर्क्युर के विकास को एक ही समय पर वित्तीय सहायता दिये जाने के प्रति अपनी चिंताओं के चलते इस परियोजना से बाहर आ जाने की धमकी दी, लेकिन उसे मना लिया गया।[14] दिसम्बर 1968 में A300B प्रस्ताव पर अपनी चिंताओं की घोषणा करने और इस भय के कारण कि विक्रय की कमी के कारण अपने निवेश की भरपाई नहीं की जा सकेगी, ब्रिटिश सरकार ने 10 अप्रैल 1969 को परियोजना छोड़ने की घोषणा की। [13][15] जर्मनी ने इस परियोजना में अपनी हिस्सेदारी 50% तक बढ़ाने के लिये इस अवसर का लाभ उठाया.[14] उस बिंदु तक हॉकर सिडली की सहभागिता को देखते हुए, फ़्रांस और जर्मनी इसकी पंख रचना का भार ग्रहण करने के प्रति अनिच्छुक थे। इस प्रकार ब्रिटिश कम्पनी को एक विशेषाधिकार प्राप्त उप-संविदाकार के रूप में कार्य करते रहने की अनुमति मिल गई।[10] हॉकर सिडली ने उपकरणों में GB£35 मिलियन का निवेश किया और अधिक धन की आवश्यकता के चलते जर्मन सरकार से GB£35 मिलियन का कर्ज़ लिया।[14]

एयरबस इंडस्ट्री का निर्माण[संपादित करें]

एयरबस A300, एयरबस द्वारा शुरू किया हुआ पहला विमान एयरबस मॉडल.

औपचारिक रूप से 18 दिसम्बर 1970 को एयरबस इंडस्ट्री की स्थापना एक Groupement d'Interet Economique (वित्तीय अभिरुचि समूह या GIE) के रूप में की गई।[14] इसका निर्माण 1967 में फ़्रांस, जर्मनी और UK के बीच शुरु हुई एक शासकीय पहल के द्वारा हुआ था। "एयरबस" नाम एक विशिष्ट आकार और श्रेणी के वाणिज्यिक विमान का उल्लेख करने के लिये 1960 के दशक में एयरलाइन उद्योग द्वारा प्रयुक्त एक ग़ैर-मालिक़ाना शब्दावली से लिया गया था। एरोस्पेशियल और ड्युश एयरबस में से प्रत्येक ने उत्पादन कार्य का 36.5%, हॉकर सिडली ने 20% और फॉकर-VFW ने 7% हिस्सा लिया।[13] प्रत्येक कम्पनी को अपने पुर्ज़े पूर्णतः सुसज्जित, उड़ान-को-तैयार तत्वों के रूप में सौंपने थे। अक्टूबर 1971 में, एरोस्पेशियल और ड्युश एयरबस द्वारा अपनी हिस्सेदारी 47.9% पर घटाए जाने के बाद स्पेनी कम्पनी CASA ने एयरबस इंडस्ट्री की 4.2% हिस्सेदारी हासिल कर ली। [13] जनवरी 1979 में, ब्रिटिश एरोस्पेस, जिसने 1977 में हॉकर सिडली को अधिग्रहित लिया था, ने एयरबस इंडस्ट्री की 20% हिस्सेदारी खरीद ली। [16] मुख्य शेयरधारकों ने अपनी हिस्सेदारी घटाकर 37.9% कर दी, जबकि CASA ने अपना 4.2% हिस्सा कायम रखा। [17]

एयरबस A300 का विकास[संपादित करें]

एक अमेरिकी एयरलाइंस A300B4-605R

एयरबस द्वारा विकसित, उत्पादित और विपणन किया जाने वाला पहला वायुयान एयरबस A300 था। 1967 के प्रारंभ तक "A300" नाम का प्रयोग 320 सीटों वाले, दोहरे इंजन वाले प्रस्तावित वायुयान के लिये किया जाने लगा। [13] 1967 में त्रि-शासकीय समझौते के बाद, रॉजर बेतिली को A300 विकास परियोजना का तकनीकी निदेशक नियुक्त किया गया।[18] बेतिली ने एक श्रम-विभाजन विकसित किया, जो आने वाले वर्षों में एयरबस के उत्पादन के लिये आधार बनने जा रहा था: फ़्रांस को कॉकपिट, उड़ान नियंत्रण और विमानकबन्ध के निम्न केंद्रीय भाग का उत्पादन करना था; हॉकर सिडली, जिसकी ट्राइडेंट प्रौद्योगिकी ने उन्हें प्रभावित किया, को पंखों का विकास करना था;[19] जर्मनी को विमानकबन्ध के अगले और पिछले भाग और साथ ही ऊपरी केंद्रीय भाग का विकास करना चाहिये; फ़्लैप और स्पॉइलर का निर्माण डच करनेवाले थे; अंततः स्पेन (जो अभी पूर्ण भागीदार नहीं बना था) को वायुयान की क्षैतिज पूंछ का निर्माण करना था।[18] 26 सितंबर 1967 को जर्मन, फ़्रांसीसी और ब्रिटिश सरकारों ने लंदन में एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये, जिसने विकास अध्ययनों को जारी रखने की अनुमति दी। इसने "नेतृत्व कंपनी" के रूप में सुद एवियेशन की भूमिका की पुष्टि भी कर दी कि फ़्रांस और UK में से प्रत्येक के पास 37.5% कार्य-भागीदारी होगी, जर्मनी 25% लेगा और इंजन का उत्पादन रॉल्स-रॉयस द्वारा किया जाएगा.[10][18]

300+ सीटों वाले एयरबस A300 के प्रति एयरलाइनों के मिश्रित समर्थन को देखते हुए भागीदारों ने A250 प्रस्ताव दिया, जो बाद में A300B बना, जो कि पूर्व-उपलब्ध इंजिनों द्वारा संचालित 250 सीटों वाला वायुयान था।[13] इसने विकास लागत नाटकीय रूप से घटा दी क्योंकि A300 में प्रयोग किया जाने वाला रॉल्स-रॉयस RB207 लागत के बड़े भाग का प्रतिनिधित्व करता था। RB207 ने भी कठिनाइयों और देरी का सामना किया था क्योंकि रॉल्स-रॉयस ने अपना ध्यान लॉकहीड L-1011[14] के लिये एक अन्य जेट इंजन, RB211, पर केंद्रित कर रखा था और 1971 में दिवालियेपन के कारण रॉल्स-रॉयस का प्रशासन में प्रवेश हुआ।[20][21] A300B अपने तीन इंजनवाले अमरीकी प्रतियोगियों से छोटा, लेकिन हल्का और अधिक किफायती था।[22][23]

"We showed the world we were not sitting on a nine-day wonder, and that we wanted to realise a family of planes…we won over customers we wouldn’t otherwise have won...now we had two planes that had a great deal in common as far as systems and cockpits were concerned."

Jean Roeder, chief engineer of Deutsche Airbus, speaking of the A310[17]

1972 में, A300 ने अपनी पहली उड़ान भरी और पहला उत्पादन मॉडल, A300B2, 1974 में सेवा में आया;[24] हालांकि A300 के विमोचन को उसी समय प्रस्तुत किये गये पराध्वनिक विमान कॉन्कॉर्ड द्वारा परास्त कर दिया गया।[25] संघ की सफलता प्रारंभ में बुरी थी,[26] लेकिन, कुछ हद तक अमरीका और एशिया की एयरलाइनों को लक्ष्य बनाकर एयरबस के CEO बर्नार्ड लैथियेर द्वारा प्रयुक्त विपणन कौशल के कारण,[27] वायुयानों के लिये आने वाले ऑर्डरों की संख्या बढ़ती गई।[28][29] 1979 तक संघ के पास A300 के लिये 256 ऑर्डर थे,[25] और पिछले वर्ष एयरबस ने एक अधिक उन्नत वायुयान, A310, का विमोचन किया था।[17] 1981 में A320 के विमोचन ने वायुयान बाज़ार में एक बड़े खिलाड़ी के रूप में एयरबस की प्रतिष्ठा की गारंटी दी[30]- 1972 में A300 के लिये प्राप्त 15 ऑर्डरों की तुलना में इस वायुयान की पहली उड़ान के पूर्व ही इसके लिये 400 ऑर्डर आ चुके थे।

एयरबस SAS की ओर संक्रमण[संपादित करें]

प्रभावी साझेदार कम्पनियों द्वारा उत्पादन और इंजीनियरिंग परिसंपत्तियों को रोक लिये जाने के कारण एयरबस इंडस्ट्री एक विक्रय और विपणन कम्पनी बन गई।[31] इस व्यवस्था से अक्षमताएं उत्पन्न हुईं क्योंकि चारों साझेदार कम्पनियों को इसमें अंतर्निहित लाभ के टकरावों का सामना करना पड़ा; वे संघ की उप-संविदाकार और GIE की शेयरधारक, दोनों थीं। कम्पनियों ने एयरबस श्रेणी के विकास के लिये गठजोड़ किया, लेकिन अपनी स्वयं की उत्पादन गतिविधियों के वित्तीय विवरणों की रक्षा की और अपनी उप-असेंबलियों के स्थानांतरण मूल्यों को अधिकतम करने का प्रयास किया।[32] यह स्पष्ट होता जा रहा था कि एयरबस अब केवल किसी एक वायुयान के उत्पादन के लिये किया गया कोई अस्थाई गठबंधन नहीं रह गया था, जैसा कि इसके मूल मिशन दस्तावेज़ में उल्लिखित था, बल्कि अब यह भावी वायुयानों के विकास के लिये लंबी अवधि का एक ब्रांड बन चुका था। 1980 के दशक के अंत तक मध्यम-आकार के नये वायुयानों के जोड़े, एयरबस A330 और एयरबस A340 पर कार्य शुरु हो चुका था, जो उस समय एयरबस नाम से उत्पादित होनेवाले सबसे बड़े हवाई जहाज़ थे।[33][34]

एयरबस A330, 1994 में एक नया विमान शुरू हुआ

1990 के दशक के प्रारंभ में, एयरबस के तत्कालीन CEO जीन पियर्सन ने तर्क दिया कि GIE को समाप्त कर दिया जाना चाहिए और एक पारंपरिक कम्पनी के रूप में एयरबस की स्थापना की जानी चाहिये। [35] हालांकि, चार कम्पनियों की परिसंपत्तियों के एकीकरण और मूल्यांकन की कठिनाई और साथ ही कानूनी मुद्दों ने इस पहल को विलंबित कर दिया। दिसंबर 1998 में, जब यह ख़बर आई कि ब्रिटिश एरोस्पेस और DASA विलय के करीब हैं,[36] तो एरोस्पेशियल ने एयरबस के रूपांतरण पर चल रही बातचीत को पंगु बना दिया; इस फ़्रांसीसी कम्पनी को भय था कि संयुक्त BAe/DASA, जिसका एयरबस में 57.9% स्वामित्व हो जाएगा, कम्पनी पर वर्चस्व बना लेगी और इसने 50/50 विभाजन का आग्रह किया।[37] हालांकि, जब मार्कोनी इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम्स के साथ विलय करके BAE सिस्टम्स के निर्माण को प्राथमिकता देते हुए BAe ने DASA के साथ जनवरी 1999 में अपनी बातचीत रोक दी, तो यह मुद्दा सुलझ गया।[38][39][40] इसके बाद 2000 में चार साझेदार कम्पनियों में से तीन (डैम्लरक्रिस्लर एरोस्पेस, ड्युश एयरबस की उत्तराधिकारी, एरोस्पेशियल-मात्रा, सुद-एवियेशन की उत्तराधिकारी; और CASA) का विलय करके EADS का निर्माण हो जाने से इस प्रक्रिया का सरलीकरण हुआ। EADS के पास अब एयरबस फ़्रांस, एयरबस ड्युशलैंड और एयरबस एस्पाना का स्वामित्व और इस प्रकार एयरबस इंडस्ट्री का 80%, स्वामित्व है।[32][41] BAE सिस्टम्स और EADS ने अपनी परिसंपत्तियां एक नई कम्पनी, एयरबस SAS, में उस कम्पनी में हिस्सेदारी के बदले स्थानांतरित कर दीं। [32][42]

A380 का विकास[संपादित करें]

<घटनाक्रम> इमेजसाइज़ = चौड़ाई:275 उंचाई :210 प्लॉटएरिया = बाएं:50 दाएं:0 अंतिम:10 शीर्ष:10 तिथिसंरूप = yyyy समयावधि = से:1991 तक:2007 गतिअक्ष = अभिसंस्करण:लंबरूप स्केलमेंजर = इकांक:वर्ष वृद्धि:1 प्रारंभ:1991

स्केलमाइनर = इकांक:वर्ष वृद्धि:5 प्रारंभ:1992

प्लॉटडाटा=

रंग:पीला निशान:(रेखा, काला) संरेखण:बाएं फॉण्टसाइज़:M 
शिफ्ट:(0,-3) # विषय को बार के दायीं ओर तबदील कर दें
# there is no automatic collision detection, fontsize:XS 
# so shift texts up or down manually to avoid overlap shift:(25,-10)
at:2007 shift:15,-6 text: एयरबस डेलिवर्स फर्स्ट A380-800 
at:2006 shift:15,-6 text: प्रमाणीकरण और विलम्ब 
at:2005 shift:15,-6 text: मेडेन फ्लाइट
at:2004 shift:15,-6 text: पहला इंजन पहुंचा
at:2002 shift:15,-6 text: आंशिक-उत्पादन शुरू
at:2001 shift:15,-6 text: एयरबस संघ डूब गया
at:2000 shift:15,-6 text: A3XX की व्यापारिक प्रक्षेपण
at:1996 shift:15,-6 text: लार्ज एयरक्राफ्ट डिविज़न फोर्मेड
at:1993 shift:15,-6 text: बोईंग समान परियोजना को रद्द कर देते हैं
at:1991 shift:15,-6 text: मार्केट डिमांड का अनुसंधान

</घटनाक्रम>

1980 की गर्मियों में एयरबस अभियंताओं के एक समूह ने अपनी स्वयं की उत्पाद श्रेणी को पूर्ण करने और बोइंग द्वारा 1970 के दशक से अपने 747 के साथ बाज़ार के इस भाग पर बनाए गए प्रभुत्व को तोड़ने के लिये जीन रोडेर के नेतृत्व में गुप्त रूप से एक अल्ट्रा-हाई-कैपेसिटी एयरलाइनर (UHCA) के विकास पर कार्य करना शुरु किया।[43] इस परियोजना की घोषणा 1990 के फार्नब्रो एयर शो में हुई, जिसमें 747-400 की तुलना में 15% कल संचालन लागत का लक्ष्य बताया गया।[44] भावी वायुयानों के डिज़ाइनों के लिये प्रौद्योगिकियां प्रस्तावित करने हेतु प्रत्येक EADS साझेदार (एरोस्पेशियल, डैम्लरक्रिस्लर एरोस्पेस, ब्रिटिश एरोस्पेस, EADS CASA) से एक दल का निर्माण करके एयरबस ने डिज़ाइनरों के चार दल बनाए। जून 1994 में एयरबस ने अपने स्वयं के बहुत बड़े एयरलाइनर का विकास प्रारंभ किया, जिसे उस समय A3XX नाम दिया गया।[25][45][46] एयरबस ने अनेक डिज़ाइनों पर विचार किया, जिनमें एयरबस A340, जो उस समय एयरबस का सबसे बड़ा जेट था, से दो विमानकबन्धों का एक अजीब समानांतर संयोजन भी शामिल था।[47] प्रचलित बोइंग 747-400 की तुलना में संचालन लागत में 15-20% की कमी का लक्ष्य रखते हुए एयरबस ने अपने डिज़ाइन को परिष्कृत किया। A3XX का डिज़ाइन एक डबल-डेकर अभिन्यास की ओर अभिमुख हुआ जिसने सिंगल-डेक वाले पारंपरिक डिज़ाइन की तुलना में अधिक यात्री घनत्व प्रदान किया।

परीक्षण और प्रदर्शन के लिये पांच A380 बनाए गए।[48] पहले A380 का अनावरण 18 जनवरी 2005 को ट्युलाउज़ में एक समारोह में किया गया और इसकी पहली उड़ान 27 अप्रैल 2005 को हुई। तीन घंटों और 54 मिनटों बाद सफलतापूर्वक उतरने पर मुख्य परीक्षण पाइलट जैक्स रोसे ने कहा कि A380 को उड़ाना "साइकिल को नियंत्रित करने जैसा" था।[49] 1 दिसम्बर 2005 को, A380 ने मैक 0.96 की अपनी अधिकतम डिज़ाइन गति प्राप्त की। [48] 10 जनवरी 2006 को, A380 ने कोलंबिया स्थित मेडेलिन की ओर अपनी पहली अटलांटिक-पार उड़ान भरी। [50]

एयरबस A380, दुनिया का सबसे बड़ा यात्री जेट विमान, का 2007 में व्यावसायिक सेवा में प्रवेश.

3 अक्टूबर 2006 को, CEO क्रिस्टियन स्ट्रीफ़ ने घोषणा की कि वायुयान को बनाने में प्रयुक्त एक असंगत सॉफ्टवेयर का प्रयोग एयरबस A380 में देरी का कारण था। प्राथमिक रूप से, ट्युलाउज़ असेम्बली संयंत्र ने CATIA के नवीनतम संस्करण 5 (डेसौल्ट द्वारा निर्मित) का प्रयोग किया था, जबकि हैम्बर्ग कारखाने का डिज़ाइन केंद्र पुराने और असंगत संस्करण 4 का प्रयोग कर रहा था।[51] नतीजा यह हुआ कि पूरे वायुयान में 530 किमी की केबल वायरिंग की पूर्णतः पुनर्रचना करनी पड़ी.[52] हालांकि कोई भी ऑर्डर निरस्त नहीं करना पड़ा था, लेकिन फिर भी विलंबित-सुपुर्दगी दण्डों के रूप में एयरबस को लाखों का भुगतान करना पड़ा.[51]

सौंपा गया पहला हवाई जहाज़ 15 अक्टूबर 2007 को सिंगापुर एयरलाइन्स को दिया गया था और यह 25 अक्टूबर 2007 को सिंगापुर से सिडनी के बीच उदघाटन उड़ान के द्वारा सेवा में शामिल हुआ।[53][54] दो माह बाद सिंगापुर एयरलाइन के CEO च्यु चूंग सेंग ने कहा कि एयरलाइन के तत्कालीन 747-400 बेड़े की तुलना में प्रति यात्री 20% कम ईंधन जलाते हुए A380 एयरलाइन और एयरबस दोनों की उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन कर रहा था।[55] 28 जुलाई 2008 को एमीरेट्स A380 की सुपुर्दगी स्वीकार करनेवाली दूसरी एयरलाइन बनी और इसने दुबई और न्यू यॉर्क के बीच[56] 1 अगस्त 2008 को उड़ान की शुरुआत की। [57] इसके बाद क़्वांटास ने 19 सितंबर 2008 को अनुपालन किया और 20 अक्टूबर 2008 को मेलबौर्न और लॉस एंजल्स के बीच उड़ानें शुरु कीं.[58]

BAE हिस्सेदारी की बिक्री[संपादित करें]

6 अप्रैल 2006 को इस योजना की घोषणा की गई कि BAE सिस्टम्स एयरबस में अपनी 20% हिस्सेदारी को बेचनेवाली है, जिसका "सतर्कतापूर्वक मूल्य" उस समय 3.5 बिलियन (US$ 4.17 बिलियन) आंका गया।[59] विश्लेषकों ने इसे आर्थिक और राजनैतिक, दोनों प्रकार से अधिक व्यवहार्य अमरीकी प्रतिष्ठानों के साथ साझेदारी करने के एक कदम के रूप में देखा.[60] मूल रूप से BAE ने एक अनौपचारिक प्रक्रिया के द्वारा EADS के साथ किसी मूल्य पर सहमत होने का प्रयास किया। लंबी बातचीत और क़ीमत पर असहमति के कारण, BAE ने अपने नीलामी विकल्प का प्रयोग किया, जिसके लिये निवेश बैंक रोथशील्ड को एक स्वतंत्र मूल्यांकन प्रदान करने हेतु नियुक्त किया गया।

सिंगापुर एयरलाइंस A380 लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे से रवाना

जून 2006 में इसके A380 में और देरी की घोषणा किये जाने के कारण एयरबस गंभीर अंतर्राष्ट्रीय विवाद में उलझ गई। इस घोषणा के बाद कुछ ही दोनों में संबंधित स्टॉक के मूल्य में 25% तक की गिरावट आई, हालांकि बाद में यह बहुत जल्द उबर गया। इसके तुरंत बाद इसके मुख्य कॉर्पोरेट अभिभावक EADS के CEO नोएल फोर्गीयर्ड पर आंतरिक व्यापार के आरोप लगे। संबंधित मूल्य की हानि BAE के लिये बड़ी चिंता थी, प्रेस ने BAE और EADS के बीच "उग्र विवाद" का वर्णन किया, जिसके अनुसार BAE का विश्वास था कि यह घोषणा इसके शेयरों का मूल्य गिराने के लिये रची गई थी।[61] एक फ़्रांसीसी शेयरधारक समूह ने निवेशकों को A380 के विलंब के आर्थिक निहितार्थों की सूचना देने में विफल रहने के लिये EADS के ख़िलाफ़ एक श्रेणी कार्य मुक़दमा (class action lawsuit) दायर किया, जबकि सुपुर्दगी की प्रतीक्षा कर रही एयरलाइनों ने मुआवजे की मांग की। [62] परिणामस्वरूप EADS प्रमुख नोएल फोर्गीयर्ड और एयरबस के CEO गुस्ताव हम्बर्ट ने 2 जुलाई 2006 को अपने त्यागपत्रों की घोषणा की। [63]

2 जुलाई 2006 को रोथशील्ड ने BAE के हिस्से का मूल्यांकन £1.9 बिलियन (€2.75 बिलियन) किया, जो कि BAE के विश्लेषकों और यहां तक कि EADS की उम्मीद से भी बहुत कम था।[64] 5 जुलाई को BAE ने इस बात की जांच करने के लिये स्वतंत्र लेखाकारों की नियुक्ति की कि एयरबस में इसके शेयर का मूल्य रोथशील्ड के मूल आकलनों से कम कैसे हो गया; हालांकि सितंबर 2006 में BAE ने एयरबस में अपने हिस्सेदारी £1.87 बिलियन (€2.75 बिलियन, $3.53 बिलियन) में EADS को बेचने पर सहमति व्यक्त की, जिसके लिये BAE के शेयरधारकों की अनुमोदन का इंतज़ार था।[65] 4 अक्टूबर को शेयरधारकों ने बिक्री के समर्थन में मतदान किया,[66] जिससे EADS को एयरबस का पूर्ण स्वामित्व मिल गया।

2007 पुनर्गठन[संपादित करें]

9 अक्टूबर 2006 को क्रिस्टियन स्ट्रीफ़, हम्बर्ट के उत्तराधिकारी, ने एयरबस के पुनर्गठन की उनकी योजना को क्रियान्वित करने के लिये उन्हें प्रदान की जाने वाली स्वतंत्रता की मात्रा को लेकर अभिभावक कम्पनी EADS के साथ मतभेदों के कारण इस्तीफ़ा दे दिया। [67] उनका स्थान EADS के सह-CEO लुईस गैलोइस द्वारा लिया जाएगा, जिससे एयरबस अपनी अभिभावक कम्पनी के अधिक प्रत्यक्ष नियंत्रण में आ जाएगी.

28 फ़रवरी 2007 को CEO लुईस गैलोइस ने कम्पनी की पुनर्गठन योजनाओं की घोषणा की। पॉवर8 नामक इस योजना के द्वारा अगले चार वर्षों में 10,000 नौकरियों में कटौती होंगी; फ़्रांस में 4,300, जर्मनी में 3,700, UK में 1,600 और स्पेन में 400. 10,000 में से 5,000 उप-संविदाकारों के स्तर पर होंगी. सेंट नज़ायर, वैरेल और लौफीम के संयंत्र बेचे या बंद कर दिये जाएंगे, जबकि मीऑल्टे, नौर्डेनहैम और फिल्टन के संयंत्र "निवेशकों के लिये खुले" हैं।[68] 16 सितंबर 2008 तक की जानकारी के अनुसार लैफीम संयंत्र डाह्यल एयरोस्पेस के निर्माण के लिये एक थेल्स-डाह्यल संघ को बेचा जा चुका है और फिल्टन के कार्यकलाप यूनाइटेड किंगडम के GKN को बेचे गए हैं।[69] घोषणाओं का परिणाम यह हुआ है कि फ़्रांस में एयरबस यूनियनें हड़ताल की तैयारी कर रहीं हैं और संभवतः जर्मनी के एयरबस कर्मचारी भी उनका पालन करेंगे। [70]

नागरिक उत्पाद[संपादित करें]

A318, A319, A320 और A321 विमानों के रेंज में पहली एयरबस A320 मॉडल
एयरबस A340-600, एक लंबी दूरीवाला चार-इंजनयुक्त चौड़ा विमान

एयरबस उत्पाद श्रेणी की शुरुआत दो-गलियारों और दो-इंजनों वाले विश्व के प्रथम वायुयान A300 के साथ हुई। A300 के एक छोटे, नए पंखों और नए इंजनों वाले संस्करण को A310 के रूप में जाना जाता है। अपनी सफलता को जारी रखते हुए एयरबस ने A320 को अपने मौलिक फ्लाइ-बाइ-वायर नियंत्रण तंत्र के साथ जारी किया। A320 एक महान वाणिज्यिक सफलता रहा है, जो आज भी बरक़रार है। A318 और A319 छोटे व्युत्पन्न हैं, जिनमें से बाद वाले का कुछ भाग कॉर्पोरेट बिज़-जेट बाज़ार (एयरबस कॉर्पोरेट जेट) के लिये निर्माणाधीन है। एक विस्तारित संस्करण A321 के रूप में जाना जाता है और यह बाद वाले बोइंग 737 मॉडलों का प्रतियोगी साबित हो रहा है।[71]

लंबी-श्रेणी के चौड़े ढ़ांचे वाले उत्पाद, जुड़वा-जेट A330 और चार-इंजनों वाले A340 में विंगलेट द्वारा बढ़ाए गए दक्ष पंख हैं। एयरबस A340-500 की संचालन सीमा 16 700 किलोमीटर (9000 समुद्री मील) की है, जो कि बोइंग 777-200LR (17 446 किमी या 9420 समुद्री मील की सीमा) के बाद किसी वाणिज्यिक जेट की दूसरी सबसे बड़ी सीमा है।[72] कम्पनी को विशिष्ट रूप से अपनी फ़्लाइ-बाइ-वायर प्रौद्योगिकी के प्रयोग और संपूर्ण एयरक्राफ़्ट परिवार में समान कॉकपिट के प्रयोग, जिससे चालक दल को प्रशिक्षित करना बहुत सरल हो जाता है, पर गर्व है।

एयरबस "नए छोटी-दूरी के एयरक्राफ़्ट" के लिये A320 श्रृंखला के प्रतिस्थापन का अध्ययन कर रही है, जिसे परीक्षण के तौर पर NSR नाम दिया गया है।[73][74] उन अध्ययनों ने NSR के लिये अधिकतम 9-10% ईंधन दक्षता लाभ का संकेत दिया है। हालांकि एयरबस ने नए विंगलेट का प्रयोग करके और वायुगतिकीय वृद्धि पर कार्य करके अपने वर्तमान A320 के डिज़ाइन में सुधार करने का विकल्प चुना। [75] इस "संवर्धित A320" की इंधन दक्षता में लगभग 4-5% का सुधार अनुमानित है, जिसने A320 के प्रतिस्थापन के विमोचन को 2017-2018 तक आगे बढ़ा दिया है।

24 सितंबर 2009 को COO फैब्राइस ब्रेगियर ने ले फ़िगारो को बताया कि नये वायुयानों के निर्माण को विकसित करने और 2015-2020 से संचालन के लिये निर्धारित C919[76] जैसे नए प्रतियोगियों की तुलना में प्रौद्योगिक रूप से कम्पनी की बढ़त को बचाए रखने के लिये अगले छः वर्षों में कम्पनी को € 800 मिलियन से € 1 बिलियन तक की आवश्यकता होगी। [77]

जुलाई 2007 में, एयरबस ने फेडएक्स (FedEx) को अपना अंतिम A300 सौंपा, जो A300/A310 उत्पादन श्रेणी के अंत का सूचक था। पूर्व-CEO क्रिस्टियन स्ट्रीफ़ के मार्गदर्शन में शुरु हुई अपनी पॉवर8 योजना के एक भाग के रूप में एयरबस का इरादा ट्युलाउज़ स्थित A320 अंतिम असेम्बली गतिविधि को हैम्बर्ग में पुनर्स्थापित करने और A350/A380 उत्पादन को विपरीत दिशा में रखने का है।[78]

एयरबस ने 2003 में इसके सन्यास तक कौन्कौर्ड को प्रतिस्थापन पुर्ज़े और सेवायें प्रदान की। [79][80]

उत्पाद सूची और विवरण (एयरबस से तारीख की जानकारी)
विमान वर्णन सीटें अधिकतम लॉन्च तारीख 1 उड़ान 1 डिलीवरी उत्पादन स्थगन
A300 2 इंजन, ट्विन आइल 228-254 361 मई 1969 28 अक्टूबर 1972 मई 1974
एयर फ्रांस
27 मार्च 2007
A310 2 इंजन, ट्विन आइल, A300 संशोधित 187 279 जुलाई 1978 3 अप्रैल 1982 दिसंबर 1985
एयर ऐल्जीरीअ
27 मार्च 2007
A318 2 इंजन, एक आइल, A320 से 6.17 मीटर छोटा 107 117 अप्रैल 1999 15 जनवरी 2002 अक्टूबर 2003
सीमांत एयरलाइंस
A319 2 इंजन, एक आइल, A320 से 3.77 मीटर छोटा 124 156 जून 1993 25 अगस्त 1995 अप्रैल 1996
स्विस्सैर
A320 2 इंजन, एक आइल 150 180 मार्च 1984 22 फ़रवरी 1987 मार्च 1988
एयर इंटर
A321 2 इंजन, एक आइल, A320 से 6.94 मीटर लम्बा 185 220 नवम्बर 1989 11 मार्च 1993 जनवरी 1994
लुफ्थांसा
A330 2 इंजन, ट्विन आइल 253-295 406-440 जून 1987 2 नवम्बर 1992 दिसंबर 1993
एयर इंटर
A340 4 इंजन, ट्विन आइल 239-380 420-440 जून 1987 25 अक्टूबर 1991 जनवरी 1993
एयर फ्रांस
A340-200 & 300: सितम्बर 2008
A350 2 इंजन, ट्विन आइल 270-350 align="center" दिसंबर 2006 2011 की उम्मीद मध्य 2013
क़तर
A380 4 इंजन, डबल डेक, ट्विन आइल 555 853 2002 27 अप्रैल 2005 15 अक्टूबर 2007
सिंगापुर एयरलाइंस

सैन्य उत्पाद[संपादित करें]

1990 के दशक के अंत में सैन्य विमानन बाज़ार में विकास और विक्रय करने में एयरबस की रुचि बढ़ गई। सैन्य वायुयान बाज़ार में विस्तार वांछित है क्योंकि ऐसा करना नागरिक विमानन उद्योग में गिरावट के प्रति एयरबस के ऋण जोखिम को कम कर देता है। इसने विकास के दो मुख्य क्षेत्रों में कार्य प्रारंभ किया: एयरबस A310 MRTT और एयरबस A330 MRTT के साथ हवा में ही इंधन भरना और A400M के साथ सामरिक हवाई परिवहन.

26 जून 2008 को सेविला में पहली A400M.

जनवरी 1999 में एयरबस ने टर्बोप्रॉप-चालित एक सामरिक परिवहन विमान, एयरबस मिलिटरी A400M, का विकास और उत्पादन प्रारंभ करने के लिये एयरबस मिलिटरी SAS नामक एक पृथक कम्पनी की स्थापना की। [81][82] A400M का विकास विभिन्न NATO सदस्यों, बेल्जियम, फ़्रांस, जर्मनी, लक्ज़ेम्बर्ग, स्पेन, तुर्की और UK द्वारा सामरिक हवाई परिवहन क्षमता के लिये यूक्रेनी एन्टोनोव An-124[83] और अमरीकी C-130 हर्क्यूलस जैसे विदेशी विमानों पर आश्रित रहने के विकल्प के रूप में किया जा रहा है।[84][85] A400M परियोजना में कई बार विलंब हुआ है;[86][87] एयरबस ने सरकारी अनुदान न दिये जाने पर विकास को रद्द करने की धमकी दी है।[88][89]

2008 में पाकिस्तान ने एयरबस A310 MRTT के लिये एक ऑर्डर दिया है, जो एक वर्तमान हवाई ढ़ांचे का रूपांतरण होगा क्योंकि बुनियादी मॉडल A310 का उत्पादन अब बंद कर दिया गया है।[90] 25 फ़रवरी 2008 को यह घोषणा की गई कि एयरबस ने संयुक्त अरब अमीरात से हवा में ईंधन भरनेवाले तीन मल्टि-रोल टैंकर ट्रांसपोर्ट (MRTT) वायुयानों, जो A330 यात्री जेटों से अनुकूलित किये गए हैं, का ऑर्डर जीता है।[91] लेकिन 1 मार्च 2008 को यह घोषित किया गया कि एयरबस और नॉर्थ्रोप ग्रुमन के एक संघ ने USAF के लिये उड़ान के दौरान ईंधन भरनेवाले एक विमान KC-45A, MRTT का अमरीका में निर्मित संस्करण, के निर्माण की $35 बिलियन का अनुबंध प्राप्त किया है।[92] इस निर्णय के कारण बोइंग ने एक औपचारिक शिकायत दर्ज़ कराई,[93][94] और नए सिरे से नीलामी प्रारंभ करने के लिये KC-X अनुबंध निरस्त कर दिया। [95][96]

बोइंग के साथ प्रतियोगिता[संपादित करें]

वायुयानों के लिये ऑर्डर पाने हेतु हर साल एयरबस की बोइंग से कड़ी प्रतियोगिता होती है। हालांकि दोनों उत्पादकों के पास एकल-गलियारे से लेकर व्यापक ढांचे तक विभिन्न खण्डों में व्यापक उत्पाद श्रेणी है, लेकिन उनके वायुयान सदैव ही प्रत्यक्ष प्रतिस्पर्धा नहीं करते. इसकी बजाय वे मांग में किसी छिद्र का लाभ उठाने और बेहतर बढ़त पाने के लिये एक दूसरे से थोड़े बड़े या थोड़े छोटे मॉडल प्रस्तुत करके प्रतिकिया देते है। उदाहरण के लिये, A380 को 747 से भी बड़ा बनाया गया है। A350 XWB का मुक़ाबला 787 के उच्च संसकरण और 777 के निम्न संस्करण से है। A320, 737-700 से बड़ा, लेकिन 737-800 से छोटा है। A321, 737-900 से बड़ा है, लेकिन पिछले 757-200 से छोटा है। एयरलाइनें इसे एक लाभ के रूप में देखती हैं क्योंकि उन्हें 100 सीटों से लेकर 500 सीटों तक एक अधिक पूर्ण उत्पाद श्रेणी प्राप्त होती है, जो कि न मिली होती, यदि दोनों कम्पनियों द्वारा एक समान हवाई जहाज़ बनाए जाते.

एतिहाड एयरवेज़ लिवेरी पर एयरबस A350 XWB अवधारणा.

हाल के वर्षों में बोइंग 777 की बिक्री एयरबस के समकक्षों, जिनमें A340 परिवार और साथ ही A330-300 शामिल हैं, से ज़्यादा हुई है। छोटे A330-200 की प्रतिस्पर्धा 767 से है, जिसकी बिक्री हाल के वर्षों में अपने बोइंग समकक्ष से ज़्यादा हुई है। ऐसा अनुमान है कि बहुत बड़े वायुयानों के बाज़ार में एयरबस की हिस्सेदारी को बढ़ाते हुए A380 आगे बोइंग 747 की बिक्री में और कमी लाएगा, हालांकि A830 कार्यक्रम में बार-बार होने वाले विलंबों ने अनेक उपभोक्ताओं को पुनर्निर्मित 747-8 के बारे में विचार करने पर बाध्य कर दिया है।[97] तेज़ी से बिक रहे बोइंग 787 का मुक़ाबला करने के लिये एक प्रतिस्पर्धी मॉडल का उत्पादन करने हेतु एयरलाइनों की ओर से बढ़ते दबाव के कारण एयरबस ने A350 XWB का प्रस्ताव भी दिया है।[98][99]

हाल के वर्षों में वायुयानों के 50 प्रतिशत से अधिक ऑर्डर एयरबस द्वारा प्राप्त किये जाने के साथ ही वर्तमान में लगभग 5,102 एयरबस हवाई जहाज़ सेवा में हैं। अभी भी सेवारत बोइंग विमानों की संख्या एयरबस की तुलना में तीन गुना अधिक है (अकेले बोइंग 737 सेवारत विमानों की संख्या ही 4,500 से अधिक है). हालांकि यह ऐतिहासिक सफलता का सूचक है- एयरबस ने आधुनिक एयरलाइनस बाज़ार में देर से प्रवेश किया था (1972 बनाम बोइंग के लिये 1958).

2003 और 2004 में एयरबस ने ऑर्डरों का एक बड़ा भाग जीता। 2005 में, एयरबस ने 1111 (शुद्ध 1055)[100] ऑर्डर प्राप्त किये, जिसकी तुलना में प्रतिस्पर्धी बोइंग को 1029 (शुद्ध रूप से 1002) ऑर्डर मिले। [101] हालांकि, बोइंग ने मूल्य के अनुपात में 2005 के 55% ऑर्डर जीते; और अगले साल बोइंग ने दोनों ही मापदण्डों के अनुसार अधिक ऑर्डर जीते। 2006 में एयरबस ने प्राप्त ऑर्डरों की संख्या, 824, के संदर्भ में अपने पूरे 35 वर्षों के इतिहास में दूसरा सर्वश्रेष्ठ वर्ष प्राप्त किया, जो केवल पिछले वर्ष की तुलना में दूसरा था।[102]

ऑर्डर और वितरण[संपादित करें]

Competition between Airbus and Boeing

अनुदान पंक्तियां[संपादित करें]

एयरबस को "प्रारंभिक सहायता" और अन्य प्रकार की सरकारी सहायता दिये जाने का बोइंग ने लगातार विरोध किया है, जबकि एयरबस का तर्क है कि बोइंग को सैन्य और अनुसंधान अनुबंधों एवं कर-चोरी के द्वारा अवैध अनुदान प्राप्त होता है।[103]

जुलाई 2004 में बोइंग के सीईओ हैरी स्टोनसिफर ने एयरबस पर सरकारों से बड़े नागरिक वायुयान समर्थन के लिये अनुशासन प्रदान करनेवाले 1992 के द्विपक्षीय EU-US समझौते का उल्लंघन करने का आरोप लगाया. एयरबस को अमरीकी और यूरोपीय सरकारों द्वारा प्रतिपूर्ति प्रारंभ निवेश (RLI) प्रदान किया जाता है, जिसे "प्रारंभिक सहायता" कहा जाता है, जिसमें धन को ब्याज और अनिश्चितकालीन रॉयल्टी के साथ लौटाया जाता है, लेकिन केवल तभी, जब वायुयान वाणिज्यिक रूप से सफल हुआ है।[104] एयरबस का दावा है कि यह प्रणाली 1992 के समझौते और WTO नियमों का पूरी तरह पालन करती है। यह समझौता कार्यक्रम की लागत के 33 प्रतिशत तक की पूर्ति सरकारी कर्ज़ों के द्वारा करने की अनुमति देता है, जिन्हें ब्याज और रॉयल्टी के साथ 17 वर्षों के भीतर पूरी तरह लौटाया जाना आवश्यक है। ये कर्ज़ न्यूनतम ब्याज दर पर लिये जाते हैं, जो कि सरकार से कर्ज़ लेने की लागत और 0.25% होती है, जो एयरबस द्वारा सरकार के समर्थन के बिना उपलब्ध बाज़ार दरों से कम है।[105] एयरबस का दावा है कि 1992 में EU-US समझौते पर हस्ताक्षर किये जाने के बाद से, इसने यूरोपीय सरकारों को U.S.$6.7 बिलियन से अधिक चुका दिये हैं और यह इसे प्राप्त हुए कर्ज़ का 40% से अधिक है।

एयरबस का तर्क है कि दूसरे सबसे बड़े अमरीकी रक्षा संविदाकार, बोइंग, को दिये गए पोर्क बैरल सैन्य अनुबंध, जैसे बोइंग KC-767 सैन्य अनुबंध समझौते से जुड़ा विवाद, भी अनुदान का ही एक प्रभावी रूप है। बोइंग को दी जाने वाली बड़ी कर-राहतों, जिसे कुछ लोग 1992 के समझौते और WTO नियमों का उल्लंघन मानते हैं, के साथ ही NASA के माध्यम से अमरीकी सरकार का महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी विकास समर्थन भी बोइंग को महत्वपूर्ण समर्थन प्रदान करता है। अपने हालिया उत्पादों, जैसे 787, में बोइंग को स्थानीय और राज्य सरकारों द्वारा प्रत्यक्ष आर्थिक समर्थन भी प्रदान किया गया है।[106]

जनवरी 2005 में, यूरोपियन यूनियन और संयुक्त राज्य अमरीका के व्यापार प्रतिनिधि, क्रमशः पीटर मैंडेल्सन और रॉबर्ट ज़ोएलिक, बढ़ते हुए तनावों को सुलझाने पर लक्ष्यित वार्ता के लिये सहमत हुए हैं।[107][108] ये वार्ता सफल नहीं रही, जिससे विवाद किसी समझौते पर पहुंचने की बजाय अधिक उग्र होता जा रहा है।[109]

अंतरराष्ट्रीय उत्पादन उपस्थिति[संपादित करें]

ट्युलाउज़ के पास एयरबस का कारखाना और ब्लैगनैक में प्रधान कार्यालय, जो ट्युलाउज़-ब्लैगनैक हवाई अड्डे के पास स्थित हैं। ([245])
हैम्बर्ग/जर्मनी में एयरबस का मुख्य कारखाना

एयरबस द्वारा एयरबस A400M श्रृंखला के लिये प्रयोग की जाने वाली अंतिम असेम्बली पंक्तियां ट्युलाउज़, फ़्रांस, हैम्बर्ग, जर्मनी, सेविल, स्पेन में और A320 श्रृंखला के लिये तियान्जिन, चीन में हैं।

हालांकि यूरोप के विभिन्न स्थानों पर बोइंग के अनेक अन्य संयंत्र हैं, जो एक संघ के रूप में इसकी स्थापना को प्रतिबिम्बित करते हैं। एयरबस हवाई जहाज़ के विमानकबन्ध के सभी भागों के परिवहन में सक्षम होने के लिये विशेष रूप से विस्तारित जेट विमानों "बेलुगा" का प्रयोग करना विभिन्न कारखानों और असेम्बली संयंत्रों के बीच हवाई जहाज़ के भागों के आवागमन की समस्या का मूल समाधान है।[110] यह समाधान बोइंग द्वारा भी खोजा जा रहा है, जिसने 787 के घटकों के परिवहन के लिये अपने 747 विमानों में से 3 को पुनर्रचित किया है। इस योजना का एक अपवाद A380 है, जिसके विमानकबन्ध और पंख इतने ज़्यादा बड़े हैं[111] कि बेलुगा द्वारा उनका परिवहन नहीं किया जा सकता. A380 के बड़े भाग जहाज़ के द्वारा बोर्डोक्स तक लाए जाते हैं और यहां से उनका परिवहन विशेष रूप से चौड़ी की गई एक सड़क द्वारा ट्युलाउज़ असेम्बली संयंत्र तक किया जाता है।

हवाई जहाज़ों की बिक्री और आपूर्ति दोनों के संदर्भ में उत्तरी अमरीका एयरबस के लिये एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है। संपूर्ण विश्व में एयरबस द्वारा बेचे गए कुल लगभग 5,300 जेट विमानों में से 2,000, जिनमें 107 सीटों वाले A318 से लेकर 565-यात्रियों वाले A380 तक एयरबस की उत्पाद पंक्ति से प्रत्येक वायुयान शामिल है, के लिये ऑर्डर उत्तरी अमरीका के उपभोक्ताओं ने दिये हैं। एयरबस के अनुसार, अमरीकी निविदाकारों ने, अनुमानित 120,000 नौकरियों को समर्थन देते हुए, लगभग $5.5 बिलियन (2003) का व्यापार किया।p उदाहरण के लिये, A380 के एक संस्करण के पास कार्य भाग मूल्य के संदर्भ में अमरीकी सामग्री का 51% भाग है। KC-45A, A330-200MRTT और A330-200F के उत्पादन के लिये मोबाइल, अल्बामा में एक संयंत्र का निर्माण किया जाएगा.[112]

अपनी A320 श्रृंखला के विमानों के लिये एयरबस ने 2009 में तियान्जिन, जनवादी चीन गणराज्य में एक असेम्बली संयंत्र की शुरुआत की। [113][114][115] जुलाइ 2009 में एयरबस ने पुर्ज़ों के उत्पादन के लिये हर्बिन, चीन में $350 मिलियन के एक संयंत्र का निर्माण कार्य प्रारंभ किया, जिसमें 1,000 लोगों को रोज़गार दिया जाएगा.[116][117][118] 2010 के अंत में संचालित होने के लिये अनुसूचित 30,000 वर्गमीटर का यह संयंत्र संयोजित पुर्ज़ों का उत्पादन और A350 XWB, A320 श्रेणियों और भावी एयरबस कार्यक्रमों के लिये संयोजित कार्य-संकुलों को एकत्रित करेगा। हार्बिन एयरक्राफ़्ट इंडस्ट्री ग्रुप कॉर्पोरेशन, हाफेई एवियेशन इंडस्ट्री कम्पनी लिमिटेड, एविचाइना इंडस्ट्री एंड टेक्नोलॉजी कम्पनी और अन्य चीनी साझेदारों के पास इस संयंत्र की 80 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जबकि एयरबस द्वारा शेष 20% का नियंत्रण किया जाता है।[119]

पर्यावरणीय रिकॉर्ड[संपादित करें]

तेल पर निर्भरता और प्रदूषण को घटाने के एक प्रयास में एयरबस हनीवेल और जेटब्ल्यू एयरवेज़ के साथ हाथ मिलाया है। साथ मिलकर वे एक जैव-इंधन को विकसित करने का प्रयास कर रहे हैं, जिसका प्रयोग 2030 से किया जा सकेगा। इन कम्पनियों का अनुमान है के वे विश्व में हवाई इंधन की कुल आवश्यकता के लगभग एक तिहाई की पूर्ति कर सकते हैं। एक ऐसे जैव-ईंधन का निर्माण करना प्रस्तावित है, जो खाद्य संसाधनों को प्रभावित नहीं करेगा। शैवाल एक संभावित विकल्प हो सकता है क्योंकि यह कार्बन डाइ ऑक्साइड को अवशोषित करता है और यह खाद्य उत्पादन को प्रभावित नहीं करेगा। हालांकि, शैवाल और अन्य वनस्पतियों पर अभी केवल प्रयोग किया जा रहा है और शैवाल का विकास करना खर्चीला है।[120] एयरबस ने हाल ही में वैकल्पिक ईंधन के साथ अपनी पहली उड़ान भरी थी। इसे एक इंजन में 60 प्रतिशत केरोसीन और 40 प्रतिशत गैस-से-द्रव (GTL) ईंधन पर चलाया गया। इसने कार्बन के उत्सर्जन में कमी नहीं की, लेकिन यह सल्फ़र के उत्सर्जन से मुक्त था।[121] वैकल्पिक ईंधन एयरबस हवाई जहाज़ के इंजन में अच्छी तरह कार्य कर पाने में सक्षम था, अतः वैकल्पिक ईंधन के प्रयोग के लिये एक नए वायुयान इंजन की आवश्यकता की संभावना नहीं है। इस उड़ान और कम्पनी के लंबी अवधि के प्रयासों को वातावरण के प्रति मैत्रीपूर्ण वायुयानों की ओर एक बड़ी छलांग माना जाता है।[121]

रोजगार के आंकड़े[संपादित करें]

साइटों के कर्मचारी[संपादित करें]

एयरबस साइट¹ देश कर्मचारी
ट्युलाउज़
(ट्युलाउज़, कोलोमिएर्स, ब्लैगनैक)
फ़्रांस 16,992
हैम्बर्ग
(फिन्केंवर्डर, स्टेड, बुक्स्टेहुड)
जर्मनी 13,420
ब्रौघ्टन, फ्लिंटशायर, वेल्स UK 5,031
ब्रिस्टल (फिल्टन), इंग्लैंड UK 4,642
ब्रेमेन जर्मनी 3,330
मैड्रिड (गेटाफे, इल्लेस्कास) स्पेन 2,484
सेंट-नाज़िर फ़्रांस 2,387
नौर्डेनहैम जर्मनी 2,086
नान्टेस फ़्रांस 1,996
अल्बर्ट (मीऑल्टे) फ़्रांस 1,288
वरेल जर्मनी 1,191
लौफीम जर्मनी 1,116
काडीज़ (पुएर्टो रीयल) स्पेन 448
वॉशिंगटन, डी.सी. (हार्नडॉन, ऐश्बर्न) USA 422
बीजिंग PRC 150
विचिटा USA 200
मोबाइल, अलबामा USA 150
मियामी (मियामी स्प्रिंग्स) USA ?
सेविला स्पेन ?
मास्को रूस ?
टियांजिन PRC नियोजन
हार्बिन PRC 1000 (2010 के अंत में)
बंगलूर इंडिया 120
कुल 56,966+

(31 दिसम्बर 2006 के तिथि के रूप में)

शहरी/महानगरीय क्षेत्र के नाम पहले आते है, उसके बाद कोष्टक में पौधों की सटीक स्थान हैं

एयरबस विमान संख्यांकन प्रणाली[संपादित करें]

एयरबस संख्यांकन प्रणाली में एक वर्णमाला अंकीय मॉडल क्रमांक होता है, जिसके बाद एक डैश चिन्ह और तीन अंकों की एक संख्या होती है।[122]

मॉडल संख्या का स्वरूप एक वर्ण "A", उसके बाद '3', एक संख्या और उसके बाद सामान्यतः एक '0' (केवल A318, A319, A321 and A400M के अतिरिक्त) के रूप में होता है, उदा. A320. बाद में आने वाली तीन अंकों की संख्या क्रमशः हवाई जहाज़ की श्रृंखला, इंजन का उत्पादक और इंजन की संस्करण संख्या बताती है। एक उदाहरण के रूप में किसी A320-200 का प्रयोग इंटरनैशनल एरो इंजन्स (IAE) V2500-A1 इंजन के साथ करने हेतु; श्रेणी 200 के लिये कोड 2, IAE के लिये 3 और इंजन संस्करण 1 है, इस प्रकार हवाई जहाज़ की संख्या A320-231 है।

कभी-कभी एक अतिरिक्त वर्ण का प्रयोग किया जाता है। इनमें संयोजन संस्करण (यात्री/मालवाहक) के लिये 'C', मालवाहक के लिये 'F', लंबी श्रेणी के मॉडल के लिये 'R' और उन्नत संस्करण के लिये 'X' शामिल हैं।

इंजन कोड[संपादित करें]

कोड विनिर्माण कंपनी
0 जेनरल इलेक्ट्रिक (GE)
1 CFM इंटरनेशनल (GE/SNECMA)
2 प्रैट और व्हिटनी (P&W)
3 इंटरनैशनल एरो इन्जंस (R-R, P&W, कावासाकी, मित्सुबिशी, and इशिकअवाज़िमा-हरिमा)
4 रोल्स रॉयस (R-R)
6 इंजन एलायंस (GE and P&W)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "EADS Annual Review 2008" (PDF). EADS. 2008. Archived from the original (PDF) on 2009-09-13. Retrieved 2009-02-14. 
  2. "Airbus - Corporate Information - Ethics & Commitments - Diversity". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  3. "एयरबस A380 उड्डयन इतिहास रचने के बाद जमीन पर उतरी." USA टुडे. 27 अप्रैल 2005. 28 अप्रैल 2005 को नवीनीकरण हुआ। 12 फ़रवरी 2010 को पुनःप्राप्त.
  4. "संपर्क." एयरबस. 12 फ़रवरी 2010 को पुनःप्राप्त.
  5. "BAE Systems says completed sale of Airbus stake to EADS". Forbes. 2006-10-13. Archived from the original on 2007-03-19. http://web.archive.org/web/20070319090922/http://www.forbes.com/markets/feeds/afx/2006/10/13/afx3089453.html. अभिगमन तिथि: 2006-10-13. 
  6. "First Airbus final assembly line outside Europe inaugurated in Tianjin, China". Airbus. 28 सितंबर 2008. http://www.airbus.com/en/presscentre/pressreleases/pressreleases_items/08_09_28_chinese_FAL_ceremony.html. 
  7. Beatson, Jim (2 अप्रैल 1989). "Air Safety: Is America Ready to `Fly by Wire'?". Washington Post. http://pqasb.pqarchiver.com/washingtonpost/access/73868992.html?dids=73868992:73868992&FMT=ABS&FMTS=ABS:FT&type=current&date=Apr+02%2C+1989&author=Jim+Beatson&pub=The+Washington+Post+(pre-1997+Fulltext)&desc=AIR+SAFETY%3A+Is+America+Ready+to+%60Fly+by+Wire'%3F&pqatl=google. 
  8. "History - Imaginative advances". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  9. T. A. Heppenheimer. "Airbus Industrie". US Centennial of Flight Commission. Retrieved 2009-10-05. 
  10. Mark Nicholls, सं (2001). Airbus Jetliners: The European Solution. Classic Aircraft Series No.6. Stamford: Key Publishing. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0946219532. 
  11. "British plan big 'Air-Bus'". New York Times. 17 अक्टूबर 1959.  Check date values in: |date= (help)
  12. "फ्लाइंग विदाउट फ्रिल्स" हॉकर सिड्ले विमानन, द टाइम्स, शुक्रवार, फ़रवरी 13, 1959; पृष्ठ. 5
  13. "Airbus history". Flight International (Reed Business Publishing). 1997-10-29. 
  14. "History - Trouble and strife". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  15. Lee, John (11 अप्रैल 1969). "Britain abandons the European Airbus project; believes building the plane is a losing proposition". New York Times.  Check date values in: |date= (help)
  16. Rinearson, Peter (1983-06-19). "A special report on the conception, design, manufacture, marketing and delivery of a new jetliner — the Boeing 757". Seattle Times. 
  17. "History - Technology leaders". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  18. "History - Early days". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  19. "Hawker-Siddeley starts wing work for Europe Airbus". New York Times. 25 अक्टूबर 1969.  Check date values in: |date= (help)
  20. "German Aircraft-makers eye Aust with new jet". Sydney Morning Herald. 27 अप्रैल 1971.  Check date values in: |date= (help)
  21. Lee, John (5 फ़रवरी 1971). "Rolls-Royce Is Bankrupt; Blames Lockheed Project". New York Times.  Check date values in: |date= (help)
  22. "History - First order, first flight". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  23. Morris, Joe (19 दिसम्बर 1971). "A300B Airbus ahead of its time?". Los Angeles Times.  Check date values in: |date= (help)
  24. Watkins, Harold (26 अगस्त 1974). "Selling Airbus to U.S. carriers a tough task". Los Angeles Times.  Check date values in: |date= (help)
  25. "The Airbus fight to stay ahead". बीबीसी न्यूज़. 23 जून 2000. Retrieved 2010-01-01.  Check date values in: |date= (help)
  26. "Now, the Poor Man's Jumbo Jet". TIME Magazine. 17 अक्टूबर 1977.  Check date values in: |date= (help)
  27. "History - A market breakthrough". Airbus. Retrieved 2009-10-21. 
  28. Witkin, Richard (7 अप्रैल 1978). "Eastern accepts $778 million deal to get 23 Airbuses". New York Times.  Check date values in: |date= (help)
  29. Carman, Gerry (11 दिसम्बर 1979). "Airbus funds flow on". The Age.  Check date values in: |date= (help)
  30. Belden, Tom (22 अगस्त 1982). "Airbus takes flight with big-jet sales". Philadelphia Inquirer.  Check date values in: |date= (help)
  31. Done, Kevin (2001-02-02). "Survey - Europe Reinvented: Airbus has come of age". फाइनेंशियल टाइम्स. 
  32. Sparaco, Pierre (2001-03-19). "Climate Conducive For Airbus Consolidation". Aviation Week & Space Technology.  सन्दर्भ त्रुटि: Invalid <ref> tag; name "awst_formation" defined multiple times with different content
  33. फ्रौले, जेराल्ड. "एयरबस A330-200". "एयरबस A330-300". द इंटरनैशनल डाइरेक्ट्री ऑफ़ सिविल एयरक्राफ्ट, 2003/2004 . एयरोस्पेस प्रकाशन, 2003. ISBN 1-875671-58-7.
  34. "Airbus faces critical decision in coming months". Reuters. 26 दिसम्बर 2001.  Check date values in: |date= (help)
  35. New York Times (2 मई 1996). Airbus Tries to Fly in a New Formation;Consortium's Chief Hopes a Revamping Could Aid Its Challenge to Boeing. प्रेस रिलीज़. http://www.nytimes.com/1996/05/02/business/international-business-airbus-tries-fly-new-formation-consortium-s-chief-hopes.html?pagewanted=all. 
  36. Spiegel, Peter (2004-07-17). "End of an era at BAE: how Sir Richard Evans changed the UK defence industry". Financial Times. 
  37. "Platform envy". The Economist. 1998-12-12. 
  38. "GEC spoils DASA / BAe party". बीबीसी न्यूज़. 20 दिसम्बर 1998. Retrieved 2010-01-01.  Check date values in: |date= (help)
  39. "British Aerospace and Marconi Electronic Systems form the third largest defence unit in the world". Jane's International. 19 जनवरी 1999.  Check date values in: |date= (help)
  40. Turpin, Andrew (4 मार्च 2000). "BAE eyes US targets after profit rockets". The Scotsman (The Scotsman Publications): p. 26. 
  41. "History of EADS". EADS. Retrieved 2009-10-07. 
  42. BAE Systems plc (2001-07-12). EADS and BAE SYSTEMS complete Airbus integration - Airbus SAS formally established. प्रेस रिलीज़. http://www.baesystems.com/Newsroom/NewsReleases/2001/press_120720011.html. अभिगमन तिथि: 2007-10-04. 
  43. नॉरिस, 2005. पृष्ठ 7.
  44. नॉरिस, 2005. पृष्ठ 16-17.
  45. Bowen, David (4 जून 1994). "Airbus will reveal plan for super-jumbo: Aircraft would seat at least 600 people and cost dollars 8bn to develop". The Independent.  Check date values in: |date= (help)
  46. "Airbus unveils plans for 854-passenger airliner". The Baltimore Sun. September 8, 1994. 
  47. Norris, Guy; Mark Wagner (2005). Airbus A380: Superjumbo of the 21st Century. Zenith Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-7603-2218-5. http://www.zenithpress.com/ProductDetails_32796.ncm. 
  48. Kingsley-Jones, Max (20 दिसम्बर 2005). "A380 powers on through flight-test". Flight International. http://www.flightglobal.com/articles/2005/12/20/203708/a380-powers-on-through-flight-test.html. अभिगमन तिथि: 2007-09-25. 
  49. "A380 Successfully completes its first flight". Flug Revue. 27 अप्रैल 2005. Retrieved 2008-03-14.  Check date values in: |date= (help)
  50. "Airbus tests A380 jet in extreme cold of Canada". MSNBC. 8 फ़रवरी 2006. http://www.msnbc.msn.com/id/11236081/. अभिगमन तिथि: 2006-09-16. 
  51. Matlack, Carol (5 अक्टूबर 2006). "Airbus: First, blame the Software". Businessweek. http://yahoo.businessweek.com/globalbiz/content/oct2006/gb20061005_846432.htm. अभिगमन तिथि: 2007-12-12. 
  52. Wong, Kenneth (6 दिसम्बर 2006). "What Grounded the Airbus A380?". Cadalyst. http://manufacturing.cadalyst.com/manufacturing/article/articleDetail.jsp?id=390123. अभिगमन तिथि: 2007-12-12. 
  53. "First A380 Flight on 25–26 October". Singapore Airlines. 2007-08-16. http://www.a380.singaporeair.com/content/news/newsrelease/20070816/index.html. अभिगमन तिथि: 2007-08-16. 
  54. "A380 superjumbo lands in Sydney". BBC. 2007-10-25. http://news.bbc.co.uk/2/hi/asia-pacific/7061164.stm. अभिगमन तिथि: 2008-10-22. 
  55. "SIA's Chew: A380 pleases, Virgin Atlantic disappoints". ATW Online. 2007-12-13. http://www.atwonline.com/news/story.html?storyID=11132. अभिगमन तिथि: 2007-12-13. 
  56. "Emirates A380 arrives in New York!". 2008-08-03. http://www.gadling.com/2008/08/03/emirates-a380-arrives-in-new-york/. अभिगमन तिथि: 2008-08-03. 
  57. "Emirates A380 Lands At New York's JFK". 2008-08-01. http://news.airwise.com/story/view/1217629915.html. अभिगमन तिथि: 2008-08-05. 
  58. "Qantas A380 arrives in LA after maiden flight". The Age. 2008-10-21. http://www.theage.com.au/articles/2008/10/21/1224351190665.html. अभिगमन तिथि: 2008-10-22. 
  59. "BAE Systems to sell Airbus stake". बीबीसी न्यूज़. 6 अप्रैल 2006. Retrieved 2010-01-01.  Check date values in: |date= (help)
  60. Michaels, D. (7 अप्रैल 2006). "BAE in Talks With EADS to Sell its 20% Airbus Stake; British Firm is Focusing Increasingly on Defense Market, Especially in U.S.". The Wall Street Journal.  Check date values in: |date= (help)
  61. Harrison, Michael. "BAE launches attack on EADS over Airbus superjumbo warning". The Independent. Retrieved 15 जून 2006.  Check date values in: |access-date= (help)
  62. Hollinger, Peggy; Done, Kevin (11 जुलाई 2006). "Sharp drop in orders at Airbus". Financial Times Daily. pp. 1,14. 
  63. Dougherty, Carter (3 जुलाई 2006). "Top Officials of Airbus and EADS Step Down". New York Times.  Check date values in: |date= (help)
  64. Gow, David (3 जुलाई 2006). 1811589,00.html "BAE under pressure to hold Airbus stake" Check |url= value (help). द गार्डियन.  Check date values in: |date= (help)
  65. "BAE agrees to £1.87bn Airbus sale". बीबीसी न्यूज़. 6 सितंबर 2006. http://news.bbc.co.uk/1/hi/business/5321626.stm. अभिगमन तिथि: 2010-01-01. 
  66. Hotten, Russell (4 अक्टूबर 2006). "BAE vote clears sale of Airbus stake". Daily Telegraph. http://www.telegraph.co.uk/money/main.jhtml?xml=/money/2006/10/04/bcnbae04.xml. 
  67. "Streiff resigns as CEO of Airbus". बीबीसी न्यूज़. October 9, 2006. http://news.bbc.co.uk/1/hi/business/6035357.stm. अभिगमन तिथि: 2010-01-01. 
  68. "Airbus confirms 10,000 job cuts". बीबीसी न्यूज़. 28 फ़रवरी 2007. http://news.bbc.co.uk/1/hi/business/6402859.stm. अभिगमन तिथि: 2010-01-01. 
  69. Chuter, Andrew (15 सितंबर 2008). "GKN buys Airbus operation in the U.K.". Defence News. http://defensenews.com/story.php?i=3724705&c=EUR&s=TOP. 
  70. Frost, Laurence (March 2, 2007). "Airbus unions call for a strike on Tuesday over job cuts". SignOnSanDiego. 
  71. Stevenson, Richard (21 मार्च 1993). "A321 set for takeoff at Airbus Question of subsidies, threat to U.S. companies rise". Chicago Tribune.  Check date values in: |date= (help)
  72. "Simon Calder: The man who pays his way". The Independent. 18 अक्टूबर 2003. Archived from the original on 6 सितंबर 2011. http://web.archive.org/web/20110906110441/http://www.independent.co.uk/travel/news-and-advice/simon-calder-the-man-who-pays-his-way-584025.html. 
  73. "Airbus may not do A320 replacement alone". Aviation Week. 2 जुलाई 2007.  Check date values in: |date= (help)
  74. "The 737 Story: Smoke and mirrors obscure 737 and Airbus A320 replacement studies". Flight International. February 7, 2006. 
  75. "Airbus aims to thwart Boeing's narrowbody plans with upgraded 'A320 Enhanced'". Flight International. 2006-06-20. 
  76. "China names first jumbo jet C919, to take off in 8 years". Xinhua News Agency. 6 मार्च 2009. http://news.xinhuanet.com/english/2009-03/06/content_10959526.htm. अभिगमन तिथि: 8 सितंबर 2009. 
  77. "Airbus needs extra cash for new planes". Reuters. September 24, 2009. 
  78. "Airbus to base A320 production in Hamburg, 350s and 380s in Toulouse". Forbes. January 15, 2007. Archived from the original on October 12, 2007. 
  79. Webster, Ben (1 मई 2003). "BA chief blames French for killing off Concorde". London: The Times.  Check date values in: |date= (help)
  80. Woodman, Peter (10 अप्रैल 2003). "End of an era - Concorde is retired". The Independent. Archived from the original on 6 सितंबर 2011.  Check date values in: |date=, |archive-date= (help)
  81. "A400M (Future Large Aircraft) Tactical Transport Aircraft, Europe". airforce-technology.com. Retrieved 2009-10-01. 
  82. "A400M Programme: A Brief History". Airbus. Retrieved 2009-10-01. 
  83. "Strategic airlift agreement enters into force". NATO. 3 मार्च 2006. http://www.nato.int/docu/update/2006/03-march/e0323a.htm. 
  84. O’Connell, Dominic (11 जनवरी 2009). "RAF transport aircraft delay". London: The Times.  Check date values in: |date= (help)
  85. Hoyle, Craig (28 अप्रैल 2008). "Hercules support deal tranforms RAF operations". Flight International.  Check date values in: |date= (help)
  86. "Why wait for the Airbus?". Defence Management. 5 मई 2009.  Check date values in: |date= (help)
  87. "Airbus A400M delay does not foster confidence". Forbes. 30 अक्टूबर 2007. Archived from the original on 14 अगस्त 2011.  Check date values in: |date=, |archive-date= (help)
  88. "A400M Partners to Renegotiate Contract with EADS". Defense News. 27 जुलाई 2009.  Check date values in: |date= (help)
  89. "Airbus threatens to scrap A400M aircraft". Financial Times. 5 जनवरी 2010.  Cite uses deprecated parameter |coauthors= (help); Check date values in: |date= (help); |coauthors= requires |author= (help)
  90. Ansari, Usman (3 नवम्बर 2008). "Pakistan eyes boost in Transport, Lift". Defense News. http://www.defensenews.com/story.php?i=3801474. 
  91. Hepher, Tim (25 फ़रवरी 2008). "Airbus EAE tanker order". Reuters.  Check date values in: |date= (help)
  92. "Air tanker deal provokes US row". बीबीसी न्यूज़. 1 मार्च 2008. Retrieved 2010-01-01.  Check date values in: |date= (help)
  93. "Boeing Protests U.S. Air Force Tanker Contract Award". Boeing. 11 मार्च 2008.  Check date values in: |date= (help)
  94. "Statement regarding the bid protest decision resolving the Aerial Refueling Tanker protest by the Boeing Company" (PDF). United States Government Accountability Office. 18 जून 2008.  Check date values in: |date= (help)
  95. "SecDEF announces return of KC-X program". Secretary of the Air Force Public Affairs. 16 सितंबर 2009. Archived from the original on 23 जुलाई 2012.  Check date values in: |date=, |archive-date= (help)
  96. Wolf, Jim; Shalal-Esa, Andrea (24 सितंबर 2009). "Pentagon's new tanker rules exclude trade fight". Reuters.  Cite uses deprecated parameter |coauthor= (help); Check date values in: |date= (help)
  97. Robertson, David (October 4, 2006). 9077-2387999,00.html "Airbus will lose €4.8bn because of A380 delays". London: The Times. http://business.timesonline.co.uk/article/0, 9077-2387999,00.html. 
  98. "Aircraft Profile: Airbus A350". Flight International. http://www.flightglobal.com/landingpage/airbus%20a350.html. अभिगमन तिथि: 2009-10-01. 
  99. Hamilton, Scott (4 अप्रैल 2006). "Redesigning the A350: Airbus’ tough choice". Leeham Company. http://www.leeham.net/filelib/ScottsColumn040406.pdf. 
  100. "Airbus Orders and Deliveries". Airbus. Retrieved 2009-09-30. 
  101. "Orders and Deliveries". Boeing. Retrieved 2009-09-30. 
  102. "Airbus Annual Review 2006" (PDF). Airbus. Archived from the original (PDF) on 2007-01-26. Retrieved 2009-10-07. 
  103. Anderson, Jack (8 मई 1978). "New European Airbus could affect US jobs". Free-lance Star. 
  104. Porter, Andrew (May 29, 2005). 2095-1631948,00.html "Trade war threatened over £379m subsidy for Airbus" Check |url= value (help). London: The Times. 
  105. "Q&A: Boeing and Airbus". बीबीसी न्यूज़. 7 अक्टूबर 2004. Retrieved 2010-01-01.  Check date values in: |date= (help)
  106. "See you in court; Boeing v Airbus: The Airbus-Boeing subsidy row". The Economist. 25 मार्च 2005. 
  107. Burgos, Annalisa (11 जनवरी 2005). "U.S., EU To Settle Airbus-Boeing Dispute". Forbes. http://www.forbes.com/2005/01/11/cx_ab_0111video2.html. 
  108. "US, EU meet on Airbus-Boeing dispute". Journal of Commerce Online. 24 फ़रवरी 2005. Archived from the original on 18 जुलाई 2012. https://archive.is/CYAj. 
  109. "U.S.-EU Talks on Boeing, Airbus Subsidies Falter". Los Angeles Times. 19 मार्च 2005. http://pqasb.pqarchiver.com/latimes/access/809617451.html?dids=809617451:809617451&FMT=ABS&FMTS=ABS:FT&type=current&date=Mar+19%2C+2005&author=&pub=Los+Angeles+Times&desc=U.S.-EU+Talks+on+Boeing%2C+Airbus+Subsidies+Falter&pqatl=google. 
  110. "Airbus aircraft families: Beluga". Airbus. Retrieved 2009-10-01. 
  111. Bray, Rob (June 2007). "Supersize Wings". Ingenia. 
  112. Deckstein, Dinah (1 जुलाई 2009). "The Airbus March on America: Could the Air Force Contract cost European jobs?". Spiegel.  Check date values in: |date= (help)
  113. "Airbus to build A320 jet assembly line in Tianjin in 2006". AsiaInfo Services. 18 जुलाई 2006. Archived from the original on 23 सितंबर 2012.  Check date values in: |date=, |archive-date= (help)
  114. "Airbus delivers first China-assembled A320 jet". Sify News. 23 जून 2009.  Check date values in: |date= (help)
  115. "Airbus signs framework agreement with Chinese consortium on A320 Final Assembly Line in China". Airbus official. October 26, 2006. 
  116. Jianguo, Jiang (16 जुलाई 2008). "Airbus, Harbin Aircraft form Chinese parts venture". Bloomberg.  Check date values in: |date= (help)
  117. Kogan, Eugene (8 फ़रवरी 2008). "China's commercial aviation in take-off mode". Asia Times.  Check date values in: |date= (help)
  118. "China needs 630 more regional jets in next 2 decades". China Daily. 2 सितंबर 2007.  Check date values in: |date= (help)
  119. "Airbus starts $350 million Harbin plant construction". China Daily. 1 जुलाई 2009.  Check date values in: |date= (help)
  120. Skillings, Jonathan (May 15, 2008). "Biofuel gets lift from Honeywell, Airbus, JetBlue". CNET. 
  121. "Airbus tests new fuel on A380". USA Today. 1 फ़रवरी 2008.  Check date values in: |date= (help)
  122. "Airbus Numbering System". aerospaceweb.org. Retrieved 2009-10-01. 

ग्रंथ सूची[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

मुख्य एयरबस प्रकाशन[संपादित करें]

साँचा:Airbus aircraft साँचा:Aviation lists