दूरदर्शन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दूरदर्शन या टेलिविज़न (या संक्षेप में, दूर्द) एक ऐसी दूरसंचार प्रणाली है जिसके द्वारा चलचित्र व ध्वनि को दो स्थानों के बीच प्रसारित व प्राप्त किया जा सके। यह शब्द दूरदर्शन सेट, दूरदर्शन कार्यक्रम तथा प्रसारण के लिये भी प्रयुक्त होता है। दूरदर्शन का अंग्रेजी शब्द 'टेलिविज़न' लैटिन तथा यूनानी शब्दों से बनाया गया है जिसका अर्थ होता है दूर दृष्टि (यूनानी - टेली = दूर, लैटिन - विज़न = दृष्टि)। दूरदर्शन सेट १९३० के उत्तरार्ध से उपलब्ध रहे हैं और समाचार व मनोरंजन के स्रोत के रूप में शीघ्र ही घरों व संस्थाओं में आम हो गये। १९७० के दशक से वीसीआर टेप और इसके वाद वीसीडीडीवीडी जैसे अंकीय प्रणालियों के द्वारा रिकार्ड किये कार्यक्रम व सिनेमा देखना भी सम्भव हो गया।

भारत में दूरदर्शन प्रसारण का प्रारम्भ १५ सितंबर, १९५९ में हुआ जब एक प्रायोगिक परियोजना के रुप में दिल्ली में दूरदर्शन केन्द्र खोला गया तथा दूरदर्शन नाम से सरकारी दूरदर्शन चैनल की नींव पड़ी। दूरदर्शन में उपग्रह तकनीक का प्रयोग १९७५-१९७६ में प्रारम्भ हुआ।

दूरदर्शन का ब्लॉक आरेख[संपादित करें]

दूरदर्शन के मुख्य प्रभाग निम्नलिखित चित्र में दर्शाये गये हैं। इसमें संकेत के प्रवाह (फ्लो) के बारे में भी सूचना प्राप्त होती है। TV-block-diagram.svg

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

१.^ अंग्रेज़ी में "दूरदर्शन" को "टेलिविझ़न" (television) कहा जाता है। प्रथा के अनुसार "झ़" को कभी-कभी "ज़" लिख दिया जाता है जिस से यह शब्द "टेलिविज़न" लिख दिया जाता है हालांकि यह पूरा सही नहीं है। "टेलिविझ़न" शब्द को सही बोलने के लिए झ़ के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह "ज़" और "झ" दोनों के उच्चारण से भिन्न है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

<gallery> उदाहरण.jpg|चित्रशीर्षक१ उदाहरण.jpg|चित्रशीर्षक२

ज्यादा टीवी दर्शन से जीवन में खतरा टी.व्ही.दर्शन जरुरत से ज्यादा खतरनाक है खासकर घरेलु महिलायें ओर स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए| वर्तमान समय में कोलाहल बढता ही जा रहा है तिस पर घर पर रखा बुद्धू बक्सा अर्थात् टेलीविजन भी इस बढते कोलाहल के लिए जिम्मेदार है | बड़ी आसनी से सामाज शा त्री ओर मनोवाज्ञानिक कह देते है की टेलीवि जन कम देखना चाहिये ! मगर व्यवहारिक तौर पर ऐसा संभव नहीं | जब टी.व्ही. नया नया आया था तो उसमे एक शटर तथा उसमे ताला लगाने की व्यवस्था थी | किसकी चाबी मम्मी या पापा के पास रहती थी | इसका मतलब यह हुआ कि टी.व्ही. बनाने वालो को यह अनुमान था की इस टी.व्ही. का दुरुपयोग हो सकता है | तो उन्होंने टी.व्ही. में ताला लगाने का इन्जाम किया | लेकिन वर्तमान टी.व्ही. एकदम स्वतंत्र नहीं है |