खजराना मंदिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
खजराना गणेश मंदिर
खजराना गणपति मंदिर

खजराना मंदिर इन्दौर का प्रसिद्ध गणेश मंदिर है।[1][2] यह मंदिर पूरबी रिंगरोड के नज़दीक पलासिया से कुछ दूरी पर खजराना पीपल चौक के पास में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण अहिल्या बाई होल्कर द्वारा किया गया था। इस मंदिर में मुख्य मूर्ति भगवान गणपति की है, जो केवल सिन्दूर द्वारा निर्मित है। इस मंदिर में गणेश जी के अतिरिक्त माता दुर्गा जी, महाकालेश्वर की भूमिगत शिवलिंग, गंगा जी की मगरमच्छ पर जलधारा मूर्ति, लक्ष्मी जी का मंदिर, साथ ही हनुमान जी की झाँकी मन मुग्ध करने वाली है। यहाँ शनि देव मंदिर एवं साई नाथ का भी भव्य मंदिर विराजमान है, यहाँ इस तरह की अनुभूति होती है ,जैसे सारे देवी, देवता एक स्थान पर उपस्थित हो गये हों। यहाँ आकर समय का आभास ही नही रहता है ।यहाँ की मंदिर व्यवस्था बहुत ही उत्तम कोटि की है। इस मंदिर में 10,000 से लोग हर दिन दर्शन करते है। यहाँ जो भी भक्त अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिये गणेश जी के पीठ पर उल्टा स्वास्तिक बनाता है,गणपति जी उसकी मनोकामना पूर्ण करते हैं। मनोकामना पूर्ण होने के पश्चात पुनः सीधा स्वास्तिक बनाते हैं।यहाँ गणेश जी की विशेष आराधना बुध वार ऐवं चतुर्थी को की जाती है,इस दिनों भक्तों की अपार भीड़ दर्शनार्थ जुटते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Rs 50 lakh hospital to come up at tourist spot Khajrana" [पर्यटन स्थल खजराना पर ५० लाख रुपये में अस्पताल बनेगा] (अंग्रेज़ी में). आईबीइन लाइव. १ मार्च २०१४. अभिगमन तिथि ११ जून २०१४.
  2. "AFTER THREAT, SECURITY AT KHAJRANA GANESH TEMPLE RAMPED UP" [धमकी के बाद, खजराना गणेश मंदिर पर सुरक्षा बढ़ाई] (अंग्रेज़ी में). द पॉयनियर. १७ अक्टूबर २०१३. अभिगमन तिथि ११ जून २०१४.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]