वर्षण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वर्षण या अवक्षेपण एक मौसम विज्ञान की प्रचलित शब्दावली है जो वायुमण्डलीय जल के संघनित होकर किसी भी रूप में पृथ्वी की सतह पर वापस आने को कहते हैं। वर्षण के कई रूप हो सकते हैं जैसे वर्षा, फुहार, हिमवर्षा, हिमपात और ओलावृष्टि इत्यादि।[1] अतः वर्षा वर्षण का एक रूप या प्रकार है।

वर्षण का महत्व जलविज्ञान में भी है क्योंकि किसी भी जलसम्भर का जल बजट तय करने में इसकी प्रमुख भूमिका होती है।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. वर्षण या अवक्षेपण (इण्डिया वाटर पोर्टल से)।
  2. टोड, डी के - ग्राउण्डवाटर हाइड्रोलोजी, जॉन वाइली प्रकाशन।