क्षिप्रा नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
क्षिप्रा नदी के घाट पर पूर के वक्त में पुजा

क्षिप्रा, मध्यप्रदेश में बहने वाली एक प्रसिद्ध और ऐतिहासिक नदी है। यह भारत की पवित्र नदियों में एक है। प्रत्येक 12 वर्ष के बाद उज्जैन में कुम्भ का मेला इसी नदी के किनारे लगता है। द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वरम् भी क्षिप्रा नदी के किनारे ही स्थित है यह इंदौर के उज्जैनी मुंडला गांव की ककड़ी बड़ली नामक स्थान से निकलती है।196KM बहने के बाद मंदसौर में चंबल मे मिल जाती है। खान नदी ओर गम्भीर इसकी सहायक नदी है | क्षिप्रा नदी को मध्यप्रदेश में मालवा की गंगा के नाम से भी जाना जाता है ( पवित्रता के आधार पर ) और प्रदूषण के आधार पर बेतवा नदी को जाना जाता है । उज्जैन में स्थित मंगलनाथ मंदिर (जो की शिप्रा नदी के किनारे ही स्थित हे) उसे पृथ्वी का केंद्र भी माना जाता है