चनाब नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चिनाब
नदी
Old Bridge over river Chenab at Ramban.jpg
चेनाब नदी रामबन के पासमे
देश भारत और पाकिस्तान
स्रोत बारलाच्ला
लंबाई 960 कि.मी. (597 मील) लगभग
प्रवाह for अख्नूर
 - औसत 800.6 मी.³/से. (28,273 घन फीट/से.) [1]
Indus river.svg
Locator Red.svg

चिनाब नदी या चंद्रभागा नदी भारत के हिमाचल प्रदेश के लाहौल एवं स्पीति जिला में दो नदियों चंद्र नदी एवं भागा नदी के संगम से बनी है। यह आगे जम्मू व कश्मीर से होते हुए पाकिस्तान में सिंधु नदी से जाकर मिलती है।


           चिनाब नदी पर दुनिया का सबसे ऊंचा पुल
            रियासी जिले में चिनाब नदी पर बनने वाला यह मेहराबदार पुल नदी तल से 359 मीटर ऊपर और कुतुब मीनार से 5 गुना ऊंचा होगा। यह बारामूला और श्रीनगर को उधमपुर-कटरा-काजीगुंड के जरिए जम्मू से जोड़ेगा। इससे समूचा रास्ता करीब 7 घंटे में तय किया जा सकेगा।

व्यवहार्यता और सुरक्षा चिंताओं जैसे विभिन्न मुद्दों की शिकार हुई यह महत्वाकांक्षी योजना आखिकरकार खंभों के निर्माण के साथ शुरू हो गई है।

उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना के सीएओ बीडी गर्ग ने कहा कि हमारी योजना इसे समूची उधमपुर-बारामूला पट्टी के शुरू होने से पहले दिसंबर 2016 तक पूरा करने की है।

1हजार 315 मीटर लंबे इस अभियांत्रिकी अजूबे की कई अद्भुत विशेषताएं होंगी। इसमें विस्फोट एवं भूकंपरोधी गुणों के साथ ही इस तरह की सिग्नल प्रणाली लगी होगी जिससे कि ऊंचाई पर तेज हवाओं का ट्रेन पर कोई प्रभाव नहीं पड़े।

गर्ग ने कहा कि पुल पर एनेमोमीटर लगा होगा, जो पुल स्थल पर हवाओं की गति को नापेगा और किसी हवा की रफ्तार निर्धारित गति से अधिक होने पर यह स्वत: ही इसके अनुरूप ट्रेन की गति को संचालित कर देगा।

पुल पर ट्रेनें 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकेंगी। पुल की उम्र 120 साल होगी

सन्दर्भ[संपादित करें]