साबरमती नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
साबरमती नदी
Sabarmati River
સાબરમતી નદી
Sabarmati Riverfront.jpg
अहमदाबाद, गुजरात में साबरमती नदी
Sabarmati River Basin.jpg
साबरमती नदी का जलसम्भर मनचित्र
स्थान
देश  भारत
राज्य गुजरात, राजस्थान
नगर अहमदाबाद, गाँधीनगर
भौतिक लक्षण
नदीशीर्षअरावली पर्वतमाला
 • स्थानउदयपुर ज़िला, राजस्थान
 • ऊँचाई782 मी॰ (2,566 फीट)
नदीमुख खम्भात की खाड़ी
 • स्थान
गुजरात
लम्बाई 371 कि॰मी॰ (231 मील)[1]
जलसम्भर आकार 30,680 कि॰मी2 (3.302×1011 वर्ग फुट)[1]
प्रवाह 
 • औसत120 m3/s (4,200 घन फुट/सेकंड)
प्रवाह 
 • स्थानअहमदाबाद[2]
 • औसत33 m3/s (1,200 घन फुट/सेकंड)
 • न्यूनतम0 m3/s (0 घन फुट/सेकंड)
 • अधिकतम484 m3/s (17,100 घन फुट/सेकंड)
जलसम्भर लक्षण
उपनदियाँ  
 • बाएँ वाकल नदी, हरनाव नदी, मधुमती नदी, हाथमती नदी, वात्रक नदी[1]
 • दाएँ सेइ नदी[1]

साबरमती नदी (Sabarmati River) भारत की एक प्रमुख नदी है। इस नदी का उद्गम राजस्थान के उदयपुर ज़िले में अरावली पर्वतमाला से होता है, और फिर राजस्थान और गुजरात में दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर बहते हुए ३७१ किलोमीटर का सफर तय करने के बाद यह अरब सागर की खम्भात की खाड़ी में विलय हो जाती है। नदी की लम्बाई राजस्थान में ४८ किलोमीटर, और गुजरात में ३२३ किलोमीटर है। साबरमती गुजरात की प्रमुख नदी है; इसके तट पर राज्य के अहमदाबाद और गांधीनगर जैसे प्रमुख नगर बसे हैं, और धरोई बाँध योजना द्वारा साबरमती नदी के जल का प्रयोग गुजरात में सिंचाई और विद्युत् उत्पादन के लिए होता है।[3]

प्रवाह[संपादित करें]

साबरमती नदी का उद्गम राजस्थान के उदयपुर जिले में अरावली श्रंखला के दक्षिण भाग मे स्थित धेबार झील से होता है। यह राजस्थान के उदयपुर, और गुजरात के साबरकांठा,मेहसाना,गांधीनगर, अहमदाबाद और आनंद जिलों से होकर दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर बहती है, और ३७१ किलोमीटर का सफर तय करने के बाद यह अरब सागर की खंभात की खाड़ी में गिर जाती है।

साबरमती पश्चिम की ओर बहने वाली भारत की प्रमुख नदियों में एक है। इसकी कुल लंबाई ३७१ किलोमीटर है, जिसमें से ४८ किलोमीटर राजस्थान में, और गुजरात ३२३ किलोमीटर में है।[4]

इतिहास[संपादित करें]

अहमदाबाद से बहती साबरमती (१७५२)

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव एक बार देवी गंगा को गुजरात लेकर आये थे, और इससे ही साबरमती नदी का जन्म हुआ। सबरमती नदी का प्राचीन नाम भोगवा है। गुजरात की वाणिज्यिक और राजनीतिक राजधानियाँ; अहमदाबाद और गांधीनगर साबरमती नदी के तट पर ही बसाए गए थे।[5]

एक कथा यह भी है कि गुजरात सल्तनत के सुल्तान अहमद शाह ने एक बार साबरमती के तट पर विश्राम करते हुए एक खरगोश को एक कुत्ते का पीछा करते हुए देखा। उस खरगोश के साहस से प्रेरित होकर ही १४११ में उन्होंने इस स्थल पर अहमदाबाद की स्थापना करी थी। भारत के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान महात्मा गांधी ने इसी नदी के तट पर साबरमती आश्रम की स्थापना कर उसे अपने घर के रूप में प्रयोग किया था।[6]

अपवाह तन्त्र[संपादित करें]

रात्रिकाल में साबरमती पर बने एक पुल का दृश्य

साबरमती बेसिन की अधिकतम लंबाई ३०० किलोमीटर, और अधिकतम चौड़ाई १०५ किलोमीटर है। बेसिन का कुल पकड़ क्षेत्र २१,६७४ वर्ग किलोमीटर है, जिसमें से ४१२४ वर्ग किलोमीटर राजस्थान राज्य में स्थित है, और शेष १८,५५० वर्ग किलोमीटर गुजरात में है।[7] साबरमती बेसिन में औसत वार्षिक जल उपलब्धता ३०८ एम३ प्रति कैपिटा है, जो राष्ट्रीय औसत १,५४५ एम३ प्रति कैपिटा से काफी कम है।[8]

साबरमती नदी बेसिन राजस्थान के मध्य-दक्षिणी भाग में स्थित है। इसके पूर्व में बनास और माही बेसिन, उत्तर में लूनी बेसिन और इसके पश्चिम में पश्चिमी बनास बेसिन हैं। इसकी दक्षिणी सीमा गुजरात राज्य के साथ लगती है। साबरमती नदी बेसिन उदयपुर, सिरोही, पाली और डुंगरपुर जिलों के हिस्सों तक फैला हुआ है। ऑर्थोग्राफिक रूप से, बेसिन का पश्चिमी हिस्सा अरावली रेंज से संबंधित पहाड़ी इलाके द्वारा चिह्नित किया जाता है। पहाड़ियों के पूर्व में एक संकीर्ण जलीय मैदान है जो एक सभ्य पूर्व की ढलान के साथ है।[7]

साबरमती रिवरफ्रंट, अहमदाबाद का दृश्य

सहायक नदियां[संपादित करें]

साबरमती की मुख्य सहायक नदियां निम्न हैं:[4][7]

  • सेई नदी
  • वाकल नदी
  • वतक नदी
  • शेही नदी
  • हरनाव नदी
  • गुईई नदी
  • हथमती नदी
  • मेसवा नदी
  • मझम नदी
  • खारी नदी
  • मोहर नदी

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Sabarmati Basin. Government of India Ministry of Water Resources. 2014. अभिगमन तिथि 3 May 2019.
  2. "Sabarmati Basin Station: Ahmedabad". UNH/GRDC. मूल से 4 October 2013 को पुरालेखित.
  3. Singh, Dhruv Sen, ed. (2018). The Indian rivers : scientific and socio-economic aspects. Springer Nature Singapore. p. 466.
  4. Water Year Book 2011-12: Mahi, Sabarmati & Other West Flowing Rivers (PDF). Gandhinagar: Central Water Commission. 2012. पृ॰ 14. मूल (PDF) से 3 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मई 2018.
  5. "The sacrificial maiden river". The Times of India. 2 September 2002. मूल से 6 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मई 2018.
  6. "Sabarmati Ashram History". मूल से 15 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मई 2018.
  7. "Sabarmati River, INDIA". National River Conservation Directorate. मूल से 27 फ़रवरी 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मई 2018.
  8. Integrated Hydrological Data Book (PDF). New Delhi: Central Water Commission. 2016. पृ॰ 1. मूल से 7 मार्च 2017 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 30 मई 2018.