कोलकाता मेट्रो रेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कोलकाता मेट्रो रेल
কলকাতা মেট্রো
Kolkata Metro Logo.svg
Kolkata Metro.jpg
जानकारी
क्षेत्र कोलकाता, भारत
यातायात प्रकार त्वरित यातायात
लाइनों की संख्या
स्टेशनों की संख्या २४ (१५ भूमिगत, २ भूमि एवं ७ ऊपर)
प्रतिदिन की सवारियां ५,५०,००० - ६,००,००० यात्री (लगभग)
प्रचालन
प्रचालन आरंभ १९८४
संचालक
http://www.kolmetro.com/
तकनीकी
प्रणाली की लंबाई २७.३९ कि.मी.
पटरी गेज १,६७६ मि.मि. (५ फी. ६ इं.) (ब्रॉड गेज)
KolkataMetroOldCoaches.jpg
KolkataMetro3000siries.JPG

कोलकाता मेट्रो (बंगाली: কলকাতা মেট্রো) पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक भूमिगत रेल प्रणाली है।[1] इसे मंडलीय रेलवे का स्तर प्रदान किया गया है। यह भारतीय रेल द्वारा संचालित है। १९८४ में आरंभ हुई यह भारत की प्रथम भूमिगत एवं मेट्रो प्रणाली थी।[2] इसके बाद दिल्ली मेट्रो २००२ में आरंभ हुई थी।

आरंभ में ५ लाइनों की योजाना थी, किंतु बाद में ३ ही चुनीं गईं:-

मुख्य फीचर्स[संपादित करें]

कुल रूट लंबाई २२.३ कि.मी.
स्टेशन २१ (१५ भूमिगत, १ भूमि एवं ५ ऊपर)
गेज ५’६" (१६७६ मि.मि) ब्रॉड गेज
कोच प्रति ट्रेन
अधिकतम अनुमत गति ५५ किमि./घंटा
औसत गति ३० किमि./घंटा
वोल्टेज ७५० वोल्ट डी.सी
वर्तमान कलेक्षन विधि त्रितीय रेल, ७५० वोल्ट डी.सी
यात्रा समय: दम दम से कबि नजरूल ४१ मिनट (लगभग)
कोच क्षमता २७८ खड़े, ४८ बैठे यात्री
ट्रेन क्षमता २५९० यात्री (लगभग)
ट्रेनों के बीच अंतराल ७ मिनट दफतर समय एवं १०-१५ मिनट अन्य समय
परियोजना की कुल अनुमानित लागत रु.१८२५ करोड़ (लगभग)
पर्यावरण नियंत्रण धुली एवं प्रशीतित वायु से फोर्स्ड वेन्टीलेशन

मार्ग[संपादित करें]

Kolkata Metro Map 2009

उत्तर-दक्षिण गलियारा[संपादित करें]

इस गलियारे में स्टेशन हैं:-

किराया[संपादित करें]

क्षेत्र दूरी (कि.मी) किराया (रु.)
५ तक ४.००
५-१० ६.००
१०-१५ ८.००
१५-२० १०.००
२० एवं अधिक १२.००

कोलकाता मेट्रो रेल स्टेशनों के नाम विभूतियों पर रखे गए हैं[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]