दक्षिणेश्वर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
दक्षिणेश्वर
Dakshineswar
দক্ষিণেশ্বর
दख्खिनेश्वर
दक्षिणेश्वर काली मन्दिर
दक्षिणेश्वर is located in पश्चिम बंगाल
दक्षिणेश्वर
दक्षिणेश्वर
पश्चिम बंगाल में स्थिति
निर्देशांक: 22°52′N 88°25′E / 22.87°N 88.41°E / 22.87; 88.41निर्देशांक: 22°52′N 88°25′E / 22.87°N 88.41°E / 22.87; 88.41
देश भारत
प्रान्तपश्चिम बंगाल
ज़िलाउत्तर २४ परगना ज़िला
जनसंख्या (2011)
 • कुल3,86,019
भाषाएँ
 • प्रचलितबंगाली
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)
पिनकोड700076
दूरभाष कोड+91-33

दक्षिणेश्वर (Dakshineswar) भारत के पश्चिम बंगाल राज्य के उत्तर २४ परगना ज़िले में बैरकपुर पौरसभा के अन्तर्गत स्थित एक शहर है। यह कोलकाता महानगर विकास प्राधिकरण के अंतर्गत आता है।[1][2] इसे सबसे विशेष रूपसे दक्षिणेश्वर काली मन्दिर के लिए जाना जाता है, जोकि जानबाजार की नवजागरण काल की ज़मीन्दार, रानी रासमणि द्वारा निर्मित एक आध्यात्मिक व ऐतिहासिक महत्व वाला काली मन्दिर है। यह मन्दिर, दार्शनिक व धर्मगुरु, स्वामी रामकृष्ण परमहंस की कर्मभूमि भी था, जोकि स्वामी विवेकानन्द के आध्यात्मिक गुरु थे। यह क्षेत्र बैरकपुर उपविभाग के बेलघड़िया थाने के अन्तर्गत आता है। दक्षिणेश्वर काली मंदिर के अलावा, अद्यापीठ मन्दिर व मठ भी यहाँ अवस्थित है।[3][4][5]

यातायात[संपादित करें]

दक्षिणेश्वर, हुगली नदी के किनारे, विवेकानंद और निवेदिता के समानांतर सेतुओं के कलकत्ता छोर के निकट अवस्थित है, तथा कलकत्ता उपनगरीय रेलजाल के दक्षिणेश्वर स्टेशन के ज़रिए रेलमार्ग से, एवं बेलघरिया एक्सप्रेसवे के मदद से, सड़कमार्ग द्वारा कोलकाता के अन्य क्षेत्रों से अछि तरह जुड़ा हुआ है। इसके अलावा हुगली के फ़ेरी सेवाओं द्वारा, जलमार्ग के रास्ते भी यहाँ तक आया जा सकता है।

दक्षिणेश्व मंदिर[संपादित करें]

यह दक्षिणेश्वर क्षेत्र में, हुगली नदी के किनारे अवस्थित एक ऐतिहासिक हिन्दू मन्दिर है। यह कलकत्ता के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है, और कई मायनों में, कालीघाट मन्दिर के बाद, सबसे प्रसिद्ध काली मंदिर है। इसे वर्ष १८५४ में जान बाजार की रानी रासमणि ने बनवाया था। इस मंदिर की मुख्य देवी, भवतारिणी है, जोकि मान्यतानुसार हिन्दू देवी काली का एक रूप है। कथन अनुसार, रानी रासमणि को सपने में देवी काली ने भवतारिणी रूप में दर्शन दिया था, जिसके पश्चात, उन्होंने इस मंदिर का निर्माण करवाया। इस मंदिर का बंगाली नवजागरण में व बंगाल में हिंदुओं के बीच अत्यंत आध्यात्मिक व सांस्कृतिक महत्व रहा है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lonely Planet West Bengal: Chapter from India Travel Guide," Lonely Planet Publications, 2012, ISBN 9781743212202
  2. "Kolkata and West Bengal Rough Guides Snapshot India," Rough Guides, Penguin, 2012, ISBN 9781409362074
  3. "History of the temple". Dakshineswar Kali Temple. अभिगमन तिथि 21 April 2018.
  4. "Dakshineswar - A Heritage". Government of West Bengal. मूल से 2 September 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 November 2012.
  5. "District Census Handbook North Twenty Four Parganas, Census of India 2011, Series 20, Part XII A" (PDF). Places of religious importance, Page 123. Directorate of Census Operations, West Bengal. अभिगमन तिथि 23 July 2018.