जयपुर मेट्रो रेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जयपुर मेट्रो
जानकारी
क्षेत्र जयपुर, राजस्थान, Flag of India.svg भारत
यातायात प्रकार रैपिड ट्रांसिट
लाइनों की संख्या
स्टेशनों की संख्या २९
प्रतिदिन की सवारियां ६ लाख (एक ओर से)
प्रचालन
प्रचालन आरंभ प्रथम चरण (जून २०१३), द्वितीय चरण (जून २०१५)
स्वामि जयपुर मेट्रो रेल कार्पोरेशन (जे॰एम॰आर॰सी), जयपुर विकास प्राधिकरण (ज॰वि॰प्रा)
संचालक जे॰एम॰आर॰सी
तकनीकी
प्रणाली की लंबाई ३२.५ किमी
पटरी गेज मानक गेज

जयपुर मेट्रो रेल भारत के राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर में प्रस्तावित मेट्रो रेल प्रणाली का नाम है। जयपुर नगर में मेट्रो बहुत समय से प्रस्तावित थी और और अन्ततः अब जाकर इस परियोजना को हरी झण्डी मिली है।[1]

जयपुर में मेट्रो रेल चलाने के लिए इस महत्वाकांक्षी परियोजना को लेकर ५ अगस्त, २०१० को जयपुर मेट्रो रेल कारपोरेशन लि. और दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन लि. के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए।[2]

जयपुर मेट्रो रेल परियोजना की अनुमानित लागत ९१ अरब रूपये आंकी गई है जिसमें अजमेर रोड व टोंक रोड में कोरीडोर में किये गये संशाधनों की लागत सम्मिलित है। मगर इसमें डिपो भूमि की लागत व निर्माण अवधि में रिण पर देय ब्याज सम्मिलित नहीं है। इस लागत में से प्रस्तावित प्रथम चरण की लागत क्रमश: १२.५ अरब रूपये व द्वितीय चरण की लागत ७८.५ करोड रूपये आँकी गई है।

प्रथम चरण में मेट्रो मानसरोवर से चांदपोल के बीच लगभग ९.२५ कि॰मी॰ लम्बी होगी। इस प्रियोजना को ३० जून, २०१३ तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ-साथ जयपुर की मेट्रो रेल अन्तर्राष्ट्रीय मापदण्ड के अनुसार १.४३५ मीटर चौड़े ट्रेक पर दौड़ेगी।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]