भोपाल बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
भोपाल बीआरटीएस
अवलोकन
स्थानभोपाल, मध्य प्रदेश, भारत
प्रकारबस रैपिड ट्रांसिट सिस्टम
लाइनों की संख्या१०
स्टेशनों की संख्या२३०
दैनिक सवारियां१.२५ लाख
जालस्थलमाईबस भोपाल
संचालन
संचालन प्रारम्भ२००६
संचालकभोपाल नगर निगम
वाहनों की संख्या२२५
तकनीकी
प्रणाली की लम्बाई186 किलोमीटर (116 मील)

भोपाल बीआरटीएस भारत के मध्य प्रदेश राज्य में स्थित भोपाल में एक बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम है। निर्माण को केंद्र सरकार द्वारा अपने प्रमुख जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीकरण योजना के तहत वित्त पोषित किया गया था। भारत में अधिकांश बीआरटी परियोजनाओं के विपरीत, जो शहर के उपनगरीय हिस्सों की परिवहन आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिज़ाइन की गई हैं, भोपाल बीआरटीएस मुख्य रूप से केंद्रीय व्यापार जिलों की सेवा के लिए डिज़ाइन किया गया है। जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय शहरी नवीकरण योजना मंजूरी मिलने के बाद २००६ में इसे केवल ३० बसों के बेड़े के साथ लॉन्च किया गया था, और अब यह बढ़कर २२५ बसों तक पहुँच गया है जिसमें एसी और नॉन एसी लो फ्लोर बसें शामिल हैं।[1]

मार्ग[संपादित करें]

मार्ग वर्गीकरण[संपादित करें]

इस परियोजना के अंतर्गत मार्गों को निम्नलिखित चार श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है:[2]

  • ट्रंक रूट:

प्रमुख गतिविधि केंद्रों को बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम से जोड़ने का काम करती हैं। सबसे दूर स्थित गतिविधि केंद्र तक यात्रा समय के ४५ मिनट के भीतर पहुँचना चाहिए।

  • मानक मार्ग:

शहर के प्रमुख मूल और गंतव्य जोड़े को जोड़ेने का काम करती हैं। ये मिनी बस मार्गों का प्रतिस्थापन हैं।

  • मानार्थ मार्ग:

ये ट्रंक और मानक मार्गों के पूरक हैं। कम सघन सार्वजनिक पारगमन माँग गलियारों तक पहुँचने वाले मार्ग।

  • इंटरमीडिएट पैरा ट्रांजिट (आईपीटी) रूट:

ये उपरोक्त सभी मार्गों के लिए फीडर सेवा हैं जो मुख्य रूप से क्षेत्र के भीतर यात्राएँ करती हैं।

मार्ग सूची[संपादित करें]

प्रकार (नंबर) मार्ग बसरूकनेकीजगह
ट्रंक मार्ग १ चिरायु हॉस्पिटल/बैरागढ़ से आकृति इको सिटी ५०
ट्रंक मार्ग २ पुराना बस स्टैंड से एचईजी मंडीदीप ३४
ट्रंक मार्ग ३ नेहरू नगर से पटेल नगर -
ट्रंक मार्ग ४ बैरागढ़/सीहोर नाका से एचईजी मंडीदीप या बंगरासिया ४७
मानक मार्ग १ बैरागढ़/सीहोर नाका से बैरागढ़ चीचली ३५
मानक मार्ग २ नेहरू नगर से कटारा हिल्स ४५
मानक मार्ग ३ गांधी नगर से सलैया/आकृति इको सिटी ५८
मानक मार्ग ४ करौंद चौराहा से बैरागढ़ चीचली ५०
मानक मार्ग ५ चिरायु हॉस्पिटल/बैरागढ़ से अवधपुरी खजूरी कलां ५०
मानक मार्ग ६ सिटी डिपो चौराहे से अयोध्या नगर तक ४८
मानक मार्ग ७ गांधी नगर से पटेल नगर बाईपास ४६
मानक मार्ग ८ कोच फैक्ट्री से बैरागढ़ चीचली ५३

बस स्टॉप[संपादित करें]

२४ किमी लंबा गलियारे के किनारे ८० बस स्टॉप बनाए जा रहे हैं। अधिकांश स्टॉप के लिए रैंप-निर्माण कार्य चल रहा है। इसके अलावा कॉरिडोर का एक हिस्सा, जो मिसरोद से आरआरएल तक जाता है, ३१ मार्च २०१३ तक काम करना शुरू कर सकता है। पहले एक ट्रायल रन आयोजित किया गया था और छोटी-मोटी कठिनाइयों को सुलझा लिया गया है। इन बस-स्टॉपों पर आने वाली बसों की जानकारी वाले डिस्प्ले-बोर्ड होंगे और यात्रियों के लिए बैठने की व्यवस्था की जाएगी। २-दरवाजा प्रणाली यात्रियों को सुरक्षित यात्रा में मदद करेगी, जहाँ एक दरवाजा केवल बस आने पर खुलेगा और दूसरा दरवाजा केवल तभी खुलेगा जब व्यक्ति वैध टिकट ले जाएगा। स्टॉप सार्वजनिक-निजी साझेदारी पर बनाए जा रहे हैं जहाँ ठेकेदार स्टॉप के रखरखाव के लिए जिम्मेदार होगा और बदले में उसे विज्ञापन लगाने और राजस्व अर्जित करने का अधिकार होगा।

"चलो" एंड्रॉइड ऐप[संपादित करें]

भोपाल बीआरटी से संबंधित जानकारी के लिए प्ले स्टोर पर चलो नाम से संपूर्ण फीचर वाला एंड्रॉइड ऐप उपलब्ध है।[3] ऐप के डेवलपर ने पहले से ही ऐप के विंडोज संस्करण पर काम किया है और यह विंडोज फोन और विंडोज १० डिवाइस के लिए उपलब्ध है।

समस्या[संपादित करें]

  • गलियारों के निर्माण से विभिन्न स्थानों पर यातायात संबंधी समस्याएँ पैदा हो रही हैं।[4]
  • यात्रियों को पहले से निर्मित 'केवल-बस' लेन पर सवारी करते हुए पाया जाता है, और पुलिस को डर है कि परियोजना पूरी होने के बाद भी यह स्थिति जारी रहेगी।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Towards sustainable bhopal". 9 January 2012.
  2. "Bhopal City Link | Purple". मूल से 2012-06-25 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-03-09.
  3. https://play.google.com/store/apps/details?id=com.seatech.bhopalbrts[मृत कड़ियाँ]
  4. "Incomplete BRTS work adds to traffic woes - Times of India". articles.timesofindia.indiatimes.com. मूल से 11 April 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 January 2022.