चंडीगढ़ मेट्रो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Chandigarh Metro
चण्डीगढ़ मेट्रो
ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ ਮੇਟ੍ਰੋ
जानकारी
क्षेत्र चण्डीगढ़, भारत
यातायात प्रकार त्वरित यातायात
लाइनों की संख्या 2
स्टेशनों की संख्या 30
प्रतिदिन की सवारियां 300,000 (योजनाबद्ध)
प्रचालन
संचालक चंडीगढ़ मेट्रो रेल निगम (सी.एम.आर.सी)[1]
गाड़ियों की संख्या 16
ट्रेन की लंबाई 4 डिब्बे
तकनीकी
प्रणाली की लंबाई 37.573 किलोमीटर (23.347 मील) (योजनाबद्ध)

चंडीगढ़ मेट्रो चंडीगढ़ शहर, चंडीगढ़ केन्द्र शासित प्रदेश के लिए योजनाबद्ध त्वरित यातायात परियोजना है। इस प्रणाली को 4 गलियारों में विभाजित किया गया है, जिसकी कुल लंबाई 37.573 किलोमीटर है।

इतिहास[संपादित करें]

16 अगस्त 2012 को दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी), पंजाब के राज्यपाल और केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रशासक शिवराज पाटिल को चंडीगढ़ मेट्रो परियोजना की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत कर चुकी है।[2]

योजना[संपादित करें]

पहले चरण में, 37.573 किलोमीटर मेट्रो रेल नेटवर्क का निर्माण किया जाएगा, जिसमें से 23.468 किमी उत्थित रेल लाइन के रूप में निर्मित होगी, तथा 14.105 किमी रेल नेटवर्क को भूमिगत रखा जाएगा.[3] प्रथम कॉरिडोर उत्तर से दक्षिण दिशा में कैपिटल परिसर के पास से शुरू हो कर मोहाली तक जायेगा। द्वितीय कॉरिडोर जो की ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर के रूप में भी जाना जाता है, सेक्टर 21, पंचकूला से शुरू हो कर मुल्लांपुर तक जाएगा।

मार्ग[संपादित करें]

मेट्रो नेटवर्क के विभिन्न गलियारों के लिए प्रस्तावित मार्गों इस प्रकार हैं:

  • कॉरिडोर 1:

खुदा लाहोरा से आईटी पार्क - पंजाब यूनिवर्सिटी, पीजीआई, गवर्नमेंट कॉलेज, जनरल अस्पताल, सेक्टर 17 इंटरचेंज, सेक्टर 8, सेक्टर 7, सेक्टर 26, ग्रेन मार्किट, ट्रांसपोर्ट नगर, चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन, मनीमाजरा, के रास्ते लगभग 16.00 किलोमीटर की दूरी तय करेगा।

  • कॉरिडोर 2:

सिचवालय, चंडीगढ़ सेक्टर 1 से बस टर्मिनल सेक्टर 104 एसएएस नगर, मोहाली - रॉक गार्डन, सेक्टर 9, सेक्टर 17 इंटरचेंज, सेक्टर 17 आईएसबीटी, सेक्टर 22-अरोमा होटल सेक्टर 34, बस टर्मिनल सेक्टर 43, सेक्टर 52, मोहाली सेक्टर 62, सेक्टर 60, सेक्टर 72, सेक्टर 71, सेक्टर 75, सेक्टर 76, सेक्टर 77, सेक्टर 78, सेक्टर 87, सेक्टर 97, सेक्टर 106, सेक्टर 105 के रास्ते लगभग 22.00 किलोमीटर की दूरी तय करेगा।

  • कॉरिडोर 3:

टिम्बर मार्किट चौक सेक्टर 26 से सेक्टर 38 - दादू माजरा, पूर्व मार्ग और विकास मार्ग के रास्ते लगभग 14.6 किलोमीटर की दूरी तय करेगा।

  • कॉरिडोर 4:

हाउसिंग बोर्ड चौक से सेक्टर 21, पंचकूला - पंचकूला सेक्टर 17, सेक्टर 16, सेक्टर 15, सेक्टर 14 और सेक्टर 21 के रास्ते लगभग 5 किलोमीटर की दूरी तय करेगा।

लागत[संपादित करें]

इस परियोजना पर लगभग 11,375 करोड़ (US$1.66 बिलियन) कर्च होंगे, जिसमें से चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा 8,995 करोड़ (US$1.31 बिलियन), पंजाब सरकार द्वारा 1,680 करोड़ (US$245.28 मिलियन), तथा हरियाणा सरकार द्वारा शेष 700 करोड़ (US$102.2 मिलियन) साझे जाएगे। उत्थित रेल लाइन अंश की अनुमानित लागत 140 करोड़ रुपये प्रति किमी और भूमिगत अंश की प्रति किमी 350 करोड़ रुपए है। मेट्रो रेल को दो चरणों में पूरा किया जाएगा। पहले चरण की अनुमानित लागत 8,995 करोड़ (US$1.31 बिलियन) है वहीँ द्वितीय चरण की अनुमानित लागत 2,380 करोड़ (US$347.48 मिलियन) है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Vibhor Mohan, TNN Aug 30, 2012, 05.44PM IST (2012-08-30). "Chandigarh Metro Rail Corporation to have independent mandate - Times Of India". Articles.timesofindia.indiatimes.com. अभिगमन तिथि 2012-12-14.
  2. http://www.hindustantimes.com/Punjab/Chandigarh/DMRC-presents-Chandigarh-Metro-Project-DPR-to-Shivraj-Patil/SP-Article1-915062.aspx
  3. http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2008-01-17/chandigarh/27743116_1_chandigarh-metro-map-mohali-and-panchkula