विकिपीडिया:चौपाल/पुरालेख 13

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Archive
पुरालेख

यह पृष्ठ विकिपीडिया चौपाल की वार्ताओं का पुरालेख पृष्ठ है। नवीनतम वार्ताओं के लिए देखें विकिपीडिया:चौपाल

अनुक्रम

स्वतंत्रता दिवस


आशीष जी ये तो बहुत बढिया साँचा है। स्वतंत्रता दिवस की बधाईयाँ। इसे मुख्य पृष्ठ पर लगा दें, अच्छा लगेगा। -- सौरभ भारती (वार्ता) १५:४३, १५ अगस्त २००९ (UTC)
६२वाँ स्वतंत्रता दिवस हॅ या ६३ वाँ ??--आलोचक ०२:२३, १६ अगस्त २००९ (UTC)
साँचा पसंद आया, धन्यवाद। हां मुखपृष्ठ पर कोई बदलाव हेतुप्रबंधकों की राय लेनी होती है, जो कि अग्रिम लेनी चाहिए।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:३६, १६ अगस्त २००९ (UTC)

बधाइयाँ, प्रोत्साहन : पीठ थपथपाई और उत्साह वर्धन

सभी बधाइयाँ व प्रोत्साहन यहाँ पर जोड़ें। नए लेख विभाग के अंत में।

३६००० पार

:-)-- सौरभ भारती (वार्ता) २३:१०, १५ अगस्त २००९ (UTC)

आशीषजी या कोई अन्य --

दिल्ली विधान सभा सदस्यों की सूची को यदि आप व्यवस्थित कर साँचा बना दें तो बहुत अच्छा रहेगा। --122.162.237.94 ०३:३९, १६ अगस्त २००९ (UTC)

विधान सभा सदस्यों की सूची बदलने वाली सूची है, तो सांचा बनाने की अपेक्षा सारणी बनाना बेहतर होगा। वैसे इस विषय का लेख मुझे मिला भी नहीं है। कृपया लिंक दीजिए, यदि पता हो तो।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०४:५३, १६ अगस्त २००९ (UTC)
आशीषजी यह रहा लिंक --

दिल्ली विधान सभा सदस्य --122.161.0.196 ०६:०२, १६ अगस्त २००९ (UTC)

कृपया क्षमा करें। असल में आपका दिया हुआ लिंक भीड़ में छुप गया और दिखा नहीं। फिर भी आज मैंने देखा और लीजिए दिल्ली विधानसभा सदस्य लेख तैयार है, पूरी सारणी सहित। आप इसमें पाठ डालें। और कोई मदद? अवश्य बताइयेगा। एक अनुरोध है। आपके योगदान बहुत हैं। तो कृपया यदि अपने को पंजीकृत सदस्य बना लें, तो आपका नाम याड रहेगा, और संदेश आदि देने में सरलता रहेगी। आई पी पता बदल भि सकता है। तब पहचान नहीं रहेगी। ये एक सुझाव है। शेष आपकी इच्छा।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०७:४६, २३ अगस्त २००९ (UTC)

लेखों की गति

नए लेख गति पकड़ रहे हैं बहुत खुशी की बात है। तीन दिन में १००० लेख पूरे हुए। बधाई बधाई अब यह गति हमें २ दिन में प्राप्त करनी चाहिए और फिर एक दिन में।--पूर्णिमा वर्मन ०६:३०, १६ अगस्त २००९ (UTC)

आपको भी बधाई पूर्णिमा जी।--Munita Prasadवार्ता ०९:०५, १६ अगस्त २००९ (UTC)

३७००० लेख पार

एक सप्ताह में एक हजार। बहुत अच्छे। लगे रहो।---- सौरभ भारती (वार्ता) १८:३१, २२ अगस्त २००९ (UTC)

सौरभ जी आज २३ तारीख है और आज भी ३७०००० लेख पूरे नहीं हुए हैं परन्तु आपने २२ तारीख में ही लिखकर संदेश दिया है कि ३७००० लेख पार ............ हो सकता है आपके यहाँ ३७०००० दिख रहे हों पर और तो कहीं नहीं दिख रहे हैं .........।--122.162.55.203 ०२:२६, २३ अगस्त २००९ (UTC)
सौरभ जी का कहना सही है। अभी की गिनती है ३७,०४२। शायद 122.162.55.203ने पूरी सूची के इस वाले पृष्ठ को देख लिया है, जो कि हर समय अद्यतित नहीं रहता है। नवीनतम स्थिति जानने के लिए उस पुष्ठ पर लेख संख्या को क्लिक करें, और पायें। हां ऐसे समय में सौरभ जी के विशेष योगदान का उल्लेख करना नहीं भूलूंगा।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:१५, २३ अगस्त २००९ (UTC)
सही कहा आपने आशीष जी। एक बात और, हमारे कुल पृष्ठों की संख्या भी १००,००० को पार कर गई है। यह भी एक अच्छा चिन्ह है। ---- सौरभ भारती (वार्ता) ०५:०६, २३ अगस्त २००९ (UTC)

३८००० से आगे

-- सौरभ भारती (वार्ता) २१:१८, २४ अगस्त २००९ (UTC)

एक उत्साहवर्धक खबर

हिन्दी की भारत में ज्ञान-प्रसार व ज्ञान उत्पादन की भूमिका जो हम सभी हिंदी विकिपीडियाकार स्वीकारते हैं (तथा उसी से प्रेरित रहते हैं), उसपर सरकार की मान्यता काफी सुखद व तार्किक है- देखें- कपिल सिब्बल का बयान या दैनिक हिन्दुस्तान, 25 अगस्त, मुखपृष्ठ या गूगल पर kapil sibal hindi टाइप करें।

हिन्दी दिवस अभी दूर है, तथा यह मंच भी हिन्दी विद्वानों का नहीं था। आशा है, यह स्वीकृति यूँ ही बढ़ती रहेगी। -Hemant wikikosh १०:१०, २५ अगस्त २००९ (UTC)

कपिल सिब्बल की टिप्पणी बहुत ही सारगर्भित है। हमे अब ज्ञान का सृजन करना होगा और उसे अपनी भाषा में करने की आवश्यकता पड़ेगी। मतलब यह है कि हमें ज्ञान भी ब।धाना है (सृजन, विकास, आविष्कार) तथा अपनी भाषा को हर दृष्टि से सक्षम भी करना है - दोनो साथ-साथ ।

अनुनाद सिंह १३:३४, २५ अगस्त २००९ (UTC)

२०० से ज्यादा सक्रिय सदस्य

महीने के शुरू में मात्र १५० थे। अभी बढकर २०० हो गए हैं। हालाँकि संख्या बहुत छोटी है (हिन्दी भाषी तो करोड़ों में हैं) फिर भी यह ३३% बढोतरी है। या तो यह पीक सीजन है या फिर दिन अच्छे हो रहे हैं। :-) देखकर खुशी हुई कि ज्यादा लोग आ रहे हैं। -- सौरभ भारती (वार्ता) १५:५४, ३० अगस्त २००९ (UTC)

हिन्दी-माह

कल से हिन्दी माह प्रारम्भ हो रहा है। क्यों न हम ४०,००० का लक्ष्य आज ही प्राप्त करें..... जिससे ०१ सितम्बर को विकी + ४०,००० की सूची में दिखे।
-- डॉ॰ जगदीश व्योम ०२:२८, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

यह लक्ष्य निश्चित कर दौड़ लगाने की विधि, बहुत ही कारगर रहती है। मैं और मुनिता जी कई बार ऐसे कर चुके हैं, और लक्ष्य प्राप्त भी किये हैं। प्रायः यह उन्हीं का सुझाव रहता हैऔर लाभ विकि और हम सभी को मिलता है। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:४२, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

लीजिए जी दौर शूरू हो गई।--Munita Prasadवार्ता ०३:००, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

नई प्रोत्साहन/बधाई संबंधी चर्चा

प्रोत्साहन/बधाई संबंधी नई चर्चा यहाँ शुरू करें, या फिर ऊपर की किसी चर्चा में शामिल हों।

खास पन्ने संबंधी चर्चाएँ

काका हाथरसी

विकिपीडिया:लेखों से संबंधित शिकायतें को भेजा गया।

बायाँ पट

बाएँ पट की कड़ियाँ - भारतीय भाषाएँ

  • हमें बाएँ पट पर भारतीय भाषाओं वाले विकियों की सूची अलग से दिखाने चाहिएँ। उसके नीचे अन्य भाषाएँ दिखाना चाहिए। इसे भाषा के नाम से सूचीबद्ध किया जा सकता है। -- सौरभ भारती (वार्ता) १२:३३, २० अगस्त २००९ (UTC)
  • हालाँकि ये थोड़ी दूरदर्शी सोच है, पर शायद लाभदायक हो। अभी विकि पर कोई १०-१५ भारतीय भाषाओं पर लेख होगा। लोगों को ये सारे अलग-थलग ही दिखते होंगे, जबकि हैं ये लगभग एक ही प्रांत के। क्या अन्य भारतीय भाषाओं के विकि के साथ साझे से कोई फायदा हो सकता है? शायद उनके तरीके और सुझावों से हम एक-दूसरे को फायदा पहूँचा सकते हैं। अगर कोई बॉट हिन्दी पर बने, तो उसे दूसरी हिन्दी भाषाओं पर भी लगाया जा सकता है, इत्यादि। अगर इससे कुछ फायदा है तो हिन्दी विकि को इसमें नेतृत्व करना चाहिए। -- सौरभ भारती (वार्ता) १२:३३, २० अगस्त २००९ (UTC)
आपका सुझाव अच्छा है, किन्तु बायीं ओर की सूची सदस्य/प्रबंधकों से नहीं बनती है, बल्कि विकि प्रोग्रामिंग का परिणाम है। हम मात्र उसमें अन्य भाषाओं के लिंक्स डाल सकते हैं। और ये अंग्रेज़ी वर्णक्रमानुसार ही बनायी जाती है, क्योंकि इसे अन्य भाषा के लोग भी पढ़ सकते हैं।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:०८, २९ अगस्त २००९ (UTC)
साधारणतः विकि पर सबकुछ editable होता है। पन्ने के अलग-अलग खाने के साँचे होते हैं, जिन्हें बदल कर customise किया जा सकता है। हालाँकि मैंने teamwiki पर कार्य किया है, पर ऐसा सारे विकि पर होगा। -- सौरभ भारती (वार्ता) १८:३६, १ सितंबर २००९ (UTC)

सर्च बॉक्स में transliteration activation

यह सुझाव गुंजन जी के साथ वार्ता करते समय हमें आई। usually हम सर्च बॉक्स पर कुछ लेटर टाइप करते हैं और लेखों की लिस्ट आ जाती है, उसमें से चयन करते हैं। चूँकि वहाँ transliteration active नहीं है, इसलिए हमें कहीं और (जैसे की गूगल का) जाकर हिन्दी को transliterate करते हैं और फिर यहाँ खोजते हैं। obviously इससे ढूँढने और विकि का उपयोग करने की गति धीमी हो जाती है।

जैसे लेखों के संपादक बॉक्स में transliteration होता है, अगर उसी तरह सर्च बॉक्स में भी हो जाए तो बहुत अच्छा रहेगा। यह सिर्फ प्रबंधक ही कर सकते हैं। -- सौरभ भारती (वार्ता) १६:४०, ३० अगस्त २००९ (UTC)

हमारे इतने सक्रिय सदस्य छोटी सी इच्छा करें और पूरी न हो, ऐसा तो नहीं होगा। लीजिए, सर्च-सन्दूक में भी ट्रान्स्लिटरेशन सक्रिय है। आप हिन्दी विकि की साइट पर आइये, और लॉग-इन न कीजिए। या किया हुआ है, तो भी लॉग-आउट कीजिए। या चाहे तो लॉग्ड इन स्थिति में भी कोई भी एक लेख संपादन हेतु खोलिए, और ऊपर ध्वन्यात्मक रोमन-से-देवनागरी के सन्दूक में चेक कर दीजिए, और उस लेख को सहेज दीजिए। और लीजिए, सर्च-बॉक्स में ट्रांस्लिट्रेशन सक्रिय हो गया। और कोई इच्छा?? --आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:४२, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

Hmm. अभी आधी ही solve हुई है। आपने जो भी कहा वो विकि बीटा पर उपलब्ध है ही नहीं। In fact, पुराने वाले विकि पर संपादन उपकरण की लम्बी सूची भी है, जो कि विकि बीटा पर नहीं है। चूँकि विकि बीटा की UI अच्छी है, कई लोग बीटा विकि का उपयोग करते होंगे। क्या ये सारे features बीटा विकि पर भी आ सकते हैं? तब तो बहुत बढिया हो जाएगा। धन्यवाद। -- सौरभ भारती (वार्ता) १३:२३, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

मुखपृष्ठ

हिन्दी समाचार

एक लेख अन्तरजालीय हिन्दी समाचार स्थल है, जहां हिन्दी के समाचार जो वेब पर उपलब्ध हैं, उनकी सूची दी गयी है। उस लेख का लिंक यदि हम मुखपृष्ठ समाचार संदूक में दें, तो कैसा रहेगा? यह एक सुझाव है, जिस पर सभी की राय अपेक्षित है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:५३, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

+1 -- सौरभ भारती (वार्ता) १९:१९, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
-1 यह सूची एक प्रकार का प्रचार (ad) हैं। इस प्रकार के विकिपृष्ठ हिन्दी उपयोग को बढावा देते है, मगर विकिपीडिया मानक के हिसाब से होने नही चाहिए। होना तो ऐसा चाहिए कि प्रत्येक अन्तरजालीय हिन्दी समाचार स्थल का एक विकि पृष्ठ हो, जो उसके बारे मे जानकारी दें। ऐसे सभी पृष्ठ एक श्रेणी मे हो, जो अपनेआप हि इस सूची का रूप ले (उदा. श्रेणी:हिन्दी समाचार पत्र)। मुखपृष्ठ समाचार संदूक में इसकी कड़ी क्यो दे? वहाँ खाली समाचार ही रहने देते हैं। --मितुल २०:२०, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
ये भी ठीक है। समाचार पत्रों की सूची की जगह उनके विकि पृष्ठों की सूची दे दीजिए। वो भी चलेगा। पर देंगे तो अच्छा ही होगा। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०४:२९, १ सितंबर २००९ (UTC)
हां मितुल जी का कहना सही है। --आशीष भटनागर  वार्ता  १४:४८, १ सितंबर २००९ (UTC)

कृष्ण सागर में ज्वार

प्रबंधक महोदयो, यह मुखपृष्ठ पर कृष्ण सागर हर तरफ़ फैल गया है। बाकी सारे स्तंभ बहे जा रहे हैं। कृपया इसको शीघ्र नियंत्रित करें।--सुरुचि ०६:०२, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

मुखपृष्ठ के बारे में चिंता व्यक्त कर सूचित करने का धन्यवाद। उसे सुधार दिया गया है। वैसे ये समस्या सांचे या चित्र की नहीं, ब्राउज़र विशेष की थी। यह चित्र सांचे:Panorama के प्रयोग से बना था, जिसे इंटरनेट एक्स्प्लोरर दिखाने में अभी अक्षम है। यह मोज़िल्ला, फ्लॉक पर डिज़ाइन किया गया है। इसका प्रयोग महात्मा गाँधी सेतु लेख में भी हुआ है। शायद इं.एक्स. में वो भी सही न दिखे। खैर, मुखपृष्ठ सांचे को सुधार दिया गया है। सूचित करने का एक बार फ़िर धन्यवाद।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०६:१७, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

खास पन्ने संबंधी नई चर्चा

किसी खास पन्ने से संबंधित नई चर्चा यहाँ शुरू करें, या फिर ऊपर की चर्चाओं में हिस्सा लें।

औज़ारों और संपादकीय सुविधाओं संबंधी चर्चाएँ

साँचा:भारतीय खाना

उपरोक्त साँचा तैयार है, हां दायीं ओर कुछ चित्र बाड में लगाये जा सकते हैं। सभि सदस्यों से अनुरोध है, कि उसमें क्षेत्रीय व्यंजनों की कड़ियां अधिक से अधिक डालें। और यथासंभव उनके कम से कम २-३ वाक्यों के लेख बनायें। हां लेख में {{भारतीय व्यंजन}} सबसे ऊपर और {{भारतीय खाना}} सबसे नीचे, और श्रेणी:भारतीय खाना लगाना न भूलें। कुछ भी आवश्यक वांछित फ़ेरबदल बाद में मैं कर दूंगा। सधन्यवाद। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०४:५३, १६ अगस्त २००९ (UTC)

साँचे सुन्दर हैं। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०७:०७, १६ अगस्त २००९ (UTC)

साँचा:इंडियन प्रीमियर लीग

{{इंडियन प्रीमियर लीग}} मैंने बनाया है। कोई क्रिकेट प्रेमी चाहे तो उसके लाल लिंक्स को नीले कर सकता है। हां पहले बने लेखों से देखकर भली भांति श्रेणियां लगायें तो बहुत उपकार होगा। सधन्यवाद--आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:२०, १९ अगस्त २००९ (UTC)

वार्ता शीर्षक के लिए बॉट

माननीय सदस्यो अंग्रेजी विकि पर मैने एक बॉट के लिये निवेदन किया था। यह बॉट हिंदी विकि पर मौजुद सभी लेखो को हर सप्ताह scan करेगा और जिन लेखो मे वार्ता पृष्ठ नही है वहॉ नया वार्ता पृष्ठ का निर्माण करेगा। इस नये वार्ता पृष्ठ पर यह बॉट {{वार्ता शीर्षक }} साँचा लगा देगा। इस बॉट से हम लोगो का काफ़ी समय बचेगा जिसे हम रचनात्मक कर्यो मे लगा सकते है। दुसरा हिन्दी विकि की गहरायी भी बनी रहेगी। इस बॉट को सक्रिय करने के लिये मुझे आप लोगो की सहमति लगेगी। अंग्रेजी विकि पर यह पृष्ठ देखे [1] . आपके विचार आमंत्रीत है। धन्यवाद !!! --गुंजन वर्मासंदेश ०५:५१, २४ अगस्त २००९ (UTC)

आपके निवेदन के उत्तर में रिच फ़ार्मबोरो ने लिखा है, कि आपके वार्ता पृषठ पर उत्तर दिया है, किंतु मिला नहीं। हां कुछ समय पहले मुझे इयरविग, एक अंग्रेज़ी सदस्य का संदेश मिला था, जो मेरे वार्ता पृष्ठ पर सदस्य वार्ता:आशीष भटनागर#Speedy deletion शीर्षक से अभी उपस्थित है। तब उन्होंने हिन्दी के लिए बॉट उपलब्ध कराने को कहा था। वैसे कुछ बॉट दिखे भी हैं, जो वार्ता सांचे लगाना, अन्य भाषाओं के लिंक जोड़ना आदि काम कर रहे हैं। और वार्ता के लिए तो यहां लोग भी एक्स्पर्ट हैं।
वैसे समर्थन करने के लिए आपके बताये लिंक पर जगह भी नहीं मिली, क्योंकि वहां लिखा है कि उत्तर दिया जा चुका है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०६:१५, २४ अगस्त २००९ (UTC)
आशीष जी रिच फ़ार्मबोरो का उत्तर मेरे अंग्रेजी विकी की वार्ता पर देखे [2]। समर्थन चाहे तो यहाँ दे दे या फिर मेरे अंग्रेजी विकी के पृष्ठ पर। यह देना ज्यादा उचीत होगा। बाद में हम इस चर्चा को उचित स्थान पर स्थान्तरित कर देंगे। बॉट पालिसी के अनुसार किसी भी बॉट का निर्माण करने के पहले चौपाल पर चर्चा जरूरी है। --गुंजन वर्मासंदेश ०६:४५, २४ अगस्त २००९ (UTC)
हिन्दी विकिपीडिया में बॉत की अत्यावश्यकता है। असल में जिस गहरायी के हम सब पीछे पड़े रहते हैं, उसके लिए योगदान में एक बड़ा हाथ बॉट का भी होता है। इसके अलावा लेखों में अन्य भाषाओं के लिंक लगाना भी महत्त्वपूर्ण कार्य है। गैर-कापीराइट चित्रों आदि पर लगाम रखना बॉट ही कर सकते हैं। नये लेखों में ये ध्यान रखना कि वे किसी पूर्व-निर्मित लेख की पुनरावइत्ति तो नहीं, और तब उसमें सांचा:जोड़ें, या गलत लेखों में सांचा:हटायें इत्यादि बॉट ही कर सकते हैं। इस कार्य के लिए प्रबंधक लगें तो अन्य महत्त्वपूर्ण काम रुक सकते हैं। हां यदि कोई उत्सुक सदस्य इस कार्य में सहयोग देना चाहे तो वह बॉट ही बन जाये। मेरा पूर्ण समर्थन है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०७:५२, २४ अगस्त २००९ (UTC)
अगर हमारे पास ये बॉट नहीं है तो तुरंत ले लेना चाहिए। मुझे लगा ये सब हैं हमारे पास।-- सौरभ भारती (वार्ता) ०८:४८, २४ अगस्त २००९ (UTC)
अंग्रेजी विकि पर बहुत सारे बॉट हैं जो शायद हमारे काम आ सकते हैं। मैं उनपर एक नजर डालकर देखता हूँ हमारे लिए क्या-क्या उपयोगी है। और मुझे toolserver पर अकाउन्ट भी मिल गया है। अगर कोई बॉट सुझाव हो तो मेरे वार्ता पृष्ठ या इस चौपाल पर अवश्य प्रकट करें। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०८:५२, २४ अगस्त २००९ (UTC)

मेरा पूर्ण समर्थन है जी पर समस्या यह है कि मैं बॉट के बारे में तकनीकी कुछ मदद कर नहीं सकुंगी हां मेरे समर्थनन की जहाँ जरूरत होगी मैं हूँ।--Munita Prasadवार्ता ०२:१३, २६ अगस्त २००९ (UTC)

हिन्दी विकी पर बॉट से बहुत सहायता मिलेगी। मेरा पूर्ण समर्थन है बॉट के लिए परन्तु बॉट के सन्दर्भ में मुझे कोई तकनीकी जानकारी नहीं है।
--आलोचक ०४:५७, २६ अगस्त २००९ (UTC)

Smackbot

हिंदी विकी के आग्रह पर रिच फ़ार्मबोरो के बाट ने कार्य करना शुरू कर दिया है. इस बाट का नाम Smackbot है. अगर किसी सदस्य को कोई शंका हो तो कृपया अवगत कराएँ. कल इस बाट ने २०० नए वार्ता पृष्ठ बनायें और उन पर उचीत सांचे लगाए. Smackbot का कल का योगदान यह देखे [3] --गुंजन वर्मासंदेश ०४:१७, २७ अगस्त २००९ (UTC)

वाह ये तो बहुत बढिया हुआ। एक बड़े कार्य से छुटकारा। और, साथ ही गहराई भी ज्यादा हो जाएगी। ग्रेट वर्क।-- सौरभ भारती (वार्ता) ०४:४३, २७ अगस्त २००९ (UTC)

अच्छी खबर है बधाई।--Munita Prasadवार्ता ०४:४६, २७ अगस्त २००९ (UTC)

हां ये मैंने भी देखा, बल्कि उनका स्वागत भी किया। ये सब यहां उपस्थित २ सदस्यों के प्रयास का परिणाम है। पर बधाई से सभी पात्र हैं।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:२९, २७ अगस्त २००९ (UTC)
स्मैकबोट के कारण असुविधा अधिक हो रही है। लोगों की मेहनत बनावटी 'वार्ता पृष्ठों' में दब जा रही है। इससे यह देखने में बहुत कठिनाई हो रही है कि कौन क्या कर रहा है और हिन्दी विकि किधर जा रही है।

अनुनाद सिंह ०१:३०, २८ अगस्त २००९ (UTC)

ये असुविधा मैंने भी अनुभव की है, जिसे पहले हमने चर्चा भी की थी, किंतु कुछ यदा-कदा दृश्य सदस्यों ने हे हे हे करके बात में कमी निकालीं थी। हां अब ये बॉट का काम है, तो कुछ ही दिनों की बात है, फिर खत्म हो जायेगा। उन्हें तो पूरा हक है इसका। किंतु जब हम हाल के परिवर्तन पृष्ठ पर बॉट के परिवर्तन छुपायें क्लिक करें, तब भी स्मैकबॉट के परिवर्तन छुपते नहीं। ऐसा क्यूं है, ये पता करना चाहिये। ये सुविधा इस कारण से ही दी गयी है।.... संदेश लिखते हुए ही पता चला, कि शायद स्मैकबॉट को बॉट डिक्लेयर करना होग, जो वरिष्ठ प्रबंधक ही कर सकते हैं। इस बारे में किसी वरि.प्रबं. से बात करता हूं। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०१:४४, २८ अगस्त २००९ (UTC)
अनुनाद जी अगर आप हाल में हुए परिवर्तन में छोटे परिवर्तन छुपायें पर क्लीक करेंगे तो पायेंगे की Smackbot के सारे परिवर्तन चुप जायेंगे. हालाकि smacbot अभी हिंदी विकी पर बाट के रूप में पंजीकृत नहीं है पर वह अपने हर परिवर्तन के बाद छोटे परिवर्तन का टैग लगा देता है जिससे उसके परिवर्तनों को छाना जा सकता है. --गुंजन वर्मासंदेश ०४:०८, २८ अगस्त २००९ (UTC)
रात भर में हिंदी विकी की गहराई १२.३ से १४.२४ हो गयी है. आंकड़े कुछ इस प्रकार है --गुंजन वर्मासंदेश ०४:१७, २८ अगस्त २००९ (UTC)
Time Page edits since विकिपीडिया was set up Content pages Pages

(All pages in the wiki, including talk pages, redirects, etc.)

Non Articels (Total pages - Content pages) Depth
27 Aug 8:00 PM 437663 38221 105094 66873 12.74
28 Aug 9:30 AM 443101 38232 110198 71966 14.24
28 Aug 5:20 PM ४४५,७६९ ३८,२४४ ११२,८११ 74567 15.02
अनुनाद जी जैसे वरिष्ठ विकिपीडियन ने ये कैसी चर्ची शूरू की है? पढ़ कर आश्चर्य एवं दुःख दोनो हो रहा है। बड़ी अजीब बात है वाकई।--Munita Prasadवार्ता ०५:३४, २८ अगस्त २००९ (UTC)
SmackBot का इस सप्ताह का कार्य पूरा हुआ. हिंदी विकी की गहराई अब २१ से ज्यादा हो गयी है. सभी सदस्यों को बधाई.--गुंजन वर्मासंदेश ०४:१२, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

हस्ताक्षर का समय

हस्ताक्षर का समय हमेशा UTC में आता है, ना कि IST में। इससे कुछ ठीक से समय समझ में नहीं आता। कृप्या इसे IST कर दें।

यह सुझाव एक छोटी सी observation हैं। ज्यादा जरूरी नहीं। -- सौरभ भारती (वार्ता) १३:३०, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

बधाई हो सभी को, ४०,००० का लक्ष्य पार कर लिया है। -- डॉ॰ जगदीश व्योम १४:१३, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
डॉ जगदीश जी ने ठीक ४०,०००वाँ लेख बनाया है। बहुत-बहुत बधाई। -- सौरभ भारती (वार्ता) १४:२०, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
आप अपना टाईम ज़ोन "मेरी वरीयताएँ" के दिनांक तथा समय मे बदल सकते हैं। हिन्दी विकि के प्रयोगकर्ता विश्व भर मे फैले हुए हैं सो हस्ताक्षर मे UTC आना सही ही लगता हैं। --मितुल १७:१६, २ सितंबर २००९ (UTC)

बॉट अनुरोध

नमस्ते प्रबंधक समिति,

मेरे पास हिन्दी विकि पर तीन बॉट बनाने के सुझाव हैं जिनका विवरण नीचे दिया गया है। मेरा अनुरोध है कि प्रबंधक समिति इनपर विचार करे। मैं कम्प्यूटर इंजीनियरिंग में स्नातक हूँ और मुझमें php व अन्य प्रोग्रामिंग भाषा को उपयोग करने की पूर्ण क्षमता है।

-- सौरभ भारती (वार्ता) १८:२९, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

बढ़िया है। इस विभाग का इस्तेमाल यंत्र द्वारा और क्या क्या करवाना चाहते हैं, इसकी सूची के लिए भी किया जा सकता है -- सदस्य:आलोक

१. अंग्रेजी भाषा वाले शीर्षकों का हिन्दी में अनुवाद

  1. titles with roman charactors पर ऐसी एक सूची है।
  2. जिन लेखों के शीर्षक रोमन लिपि में हैं, उन्हें हिन्दी शीर्षक की तरफ अनुप्रेषित करना।
  3. उदाहरण
    1. बदलने से पहले शीर्षक - राष्ट्रीय_राजमार्ग_103
    2. बदलने के बाद शीर्षक - राष्ट्रीय_राजमार्ग_१०३
  4. बॉट क्या करेगा?
    1. ऐसे शीर्षक जिनमें अंग्रेजी अंक हों, उन्हें श्रेणी:अंग्रेजी अंक वाले शीर्षक में डालना।
    2. ऐसे शीर्षक जिनमें अंग्रेजी अक्षर हों, उन्हें श्रेणी:अंग्रेजी अक्षर वाले शीर्षक में डालना।
    3. ऐसे शीर्षक जिनमें अंग्रेजी अक्षर और अंक दोनों हों, उन्हें श्रेणी:अंग्रेजी अक्षर और अंक वाले शीर्षक में डालना।
    4. श्रेणी:अंग्रेजी अंक वाले शीर्षक के शीर्षक के अंकों को हिन्दी में अनुवाद करके उसकी तरफ अनुप्रेषित करना।
      1. अगर हिन्दी वाले शीर्षक पहले से हैं तो उन्हें सदस्य द्वारा ही रूपांतरित किया जा सकता है (by merging content from two articles) ।
      2. श्रेणी:अंग्रेजी अक्षर वाले शीर्षक और श्रेणी:अंग्रेजी अक्षर और अंक वाले शीर्षक के शीर्षकों को सदस्य द्वारा बदलना ही उचित होगा।
Points 1,2,3 are fine. Not sure about the point 4. I remember that there was a discussion about whether to keep roman numerals or devnagari numerals in hindi wikipedia. As long as I remember, people that time were more inclined about using roman numerals. --मितुल १७:२४, २ सितंबर २००९ (UTC)
मितुल जी, शायद ऐसी वार्ता पहले हुई हो। पर अभी तो हम रोमन अंक वाले शीर्षकों को manually देवनागरी अंक वाले शीर्षक में बदल रहे हैं। मैं इसी कार्य को automate करना चाहता हूँ। चूँकि हिन्दी विकि पर कई लोग ऐसे आएँगे जो रोमन अंक में ही लेख बना डालेंगे, इसलिए एक बॉट की आवश्यकता है जो इसपर नजर रखे और ठीक करता चले। -- सौरभ भारती (वार्ता) १८:३४, २ सितंबर २००९ (UTC)
सुझाव पसंद आया। :) --मितुल १४:३४, ३ सितंबर २००९ (UTC)
धन्यवाद मितुल जी। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०७:१८, ४ सितंबर २००९ (UTC)
यह कार्य सदस्य:हिंग्लिशबॉट को सौंपा गया है। कृप्या इसे बॉट का दर्जा दिया जाए ताकि कुछ प्रयोग (इसके वार्ता पृष्ठ पर, मुख्य विकि पर नहीं) किए जा सकें। -- सौरभ भारती (वार्ता) २१:३१, ४ सितंबर २००९ (UTC)

२. भारत के शहरों व गाँवों के पृष्ठ

  1. census india 2001 पर भारत के शहरों और गाँवों की जानकारी उपलब्ध है।
  2. ठीक ऐसा ही बॉट अंग्रेजी विकि पर उपलब्ध है - en:User:Ganeshbot
Sounds like great idea. --मितुल १७:२६, २ सितंबर २००९ (UTC)
धन्यवाद। :-) -- सौरभ भारती (वार्ता) १८:५८, २ सितंबर २००९ (UTC)
--यह कार्य सदस्य:ग्रामीणबॉट को सौंपा गया है। कृप्या इसे बॉट का दर्जा दिया जाए ताकि कुछ प्रयोग (इसके वार्ता पृष्ठ पर, मुख्य विकि पर नहीं) किए जा सकें। -- सौरभ भारती (वार्ता) २१:३२, ४ सितंबर २००९ (UTC)
इस बॉट ने अपना कार्य शुरू कर दिया है। इसके योगदान को नए शहर व गाँव पर व किए कार्य को विशेष:Contributions/ग्रामीणबॉट देखा जा सकता है। -- सौरभ भारती (वार्ता) १३:४४, ६ सितंबर २००९ (UTC)

३. अनुप्रेषित लेखों का संशोधन

  1. redirect titles पर ऐसी एक सूची है।
  2. हिन्दी विकि पर कोई ८००० अनुप्रेषित लेख हैं।
  3. कई लेखों में अनुप्रेषित लेखों को refer किया जाता है, ना कि मुख्य लेख को जिधर ये अनुप्रेषित होते हैं। इन सारे स्थानों पर अनुप्रेषित शीर्षक की जगह मुख्य लेख का लिंक लगाना।
  4. इससे अनुप्रेषित लेखों का उद्देश्य बस वर्तनी सुधारने के लिए रह जाएगा। जैसे भागलपुर जिला अनुप्रेषित करता है भागलपुर को। पर अब सारे लेख भागलपुर को refer करेंगे ना कि भागलपुर जिला को। इससे लेखों की quality बढ जाएगी। अगर इन अनुप्रेषित लेखों को विकि से हटा भी दें तो कहीं लाल लिंक नहीं आएँगे, हालाँकि इसकी जरूरत नहीं है। रोमन अक्षर और रोमन अंक वाले अनुप्रेषित लेखों को हटाया जा सकता है। उनकी हिन्दी विकि पर जरूरत नहीं।
  5. उदाहरण
    1. बदलने से पहले
      1. raw text - [[भागलपुर जिला|भागलपुर]], [[बिहार (भारत)]] स्थित एक जिला है।
      2. displayed text - भागलपुर, बिहार (भारत) स्थित एक जिला है।
    2. बदलने के बाद
      1. raw text - [[भागलपुर|भागलपुर]], [[बिहार|बिहार (भारत)]] स्थित एक जिला है।
      2. displayed text - भागलपुर, बिहार (भारत) स्थित एक जिला है।
  6. इससे अनुप्रेषण लेखों के साथ छेड़छाड़ करने से विकि पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। मान लीजिए १० लेख भागलपुर जिला (एक अनुप्रेषण लेख) को लिंक करते हैं। अगर कोई भागलपुर जिला पर क्लिक करता है तो भागलपुर की तरफ अनुप्रेषित हो जाएगा। पर अगर किसी ने भागलपुर जिला को बदल दिया और इसपर लेख डाल दिए (अब यह अनुप्रेषण लेख नहीं रहा), तो उन १० लेखों पर लिंक गलत हो जाएगी। इससे विकि पर काफी रिस्क है।
  7. बॉट क्या करेगा?
    1. सूची-१ - प्रथम स्तर के अनुप्रेषित लेखों की सूची। प्रथम स्तर का अर्थ है ये लेख सीधे एक मुख्य लेख को लिंक करते हैं, ना कि किसी अनुप्रेशित लेख को। इसी तरह द्वितीय व अन्य स्तर के लेख बनाए जा सकते हैं, हालाँकि ये कम होंगे।
    2. सूची-२ - सूची-१ से एक शीर्षक लीजिए। उन सारे लेखों की सूची बनाइए जहाँ ये refer किए गए हैं।
    3. सूची-२ के लेखों में अनुप्रेषित लेख के लिंक को मुख्य लेख के लिंक से बदलना।
मेरे विचार से सौरभ के पास बहुत से आइडिया हैं, जो हिन्दी विकि को काफ़ी लाभ पहुंचा सकते हैं। बहुत सी बातों के लिए उन्हें प्रबंधकों पर निर्भर रहना पड़ता है। कई बार तो कोई प्रबंधक ऑनलाइन न होने की स्थिति भी आती होगी, जो शायद तीव्र उठते कुछ विचारों और समाधानों को फ़ौरन चर्चा न कर पाने से खो भी जाती होगी। इन सब बातों को देखते हुए, व इनकी प्रकट सामर्थ्य (शैक्षिक एवं बौद्धिक) को देखते हुए, यदि इन्हें प्रबंधन के अधिकार दे दिए जायें तो शायद इनकी सेवाएं बेहतर मिल सकती हैं। उपरोक्त समस्याएं भी बहुत हद तक सुलझ जायेंगीं। प्रबंधकगण इस बात पर कुछ विचार करें। ये चर्चा प्रबंधकों की वार्ता पर भी हो सकती थी, किंतु यहां खास उद्देश्य से की है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:२९, १ सितंबर २००९ (UTC)
A big no to point 3. Many times same article is given different names, and is been referred by different names. Sometime what is mentioned by SBharti makes sense but most of the time it is intentional. This should not be automated. Coming with a list is a good idea, may be someone will have time and correct the links case-by-case basis. --मितुल १७:३९, २ सितंबर २००९ (UTC)
मितुल जी, बिंदू-३ से लेख पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, क्योंकि लिंक का anchor text नहीं बदलेगा। बस, anchor reference बदल जाएगा, जो कि वैसे भी अनुप्रेषित लेख करते ही हैं। मैंने एक उदाहरण भी दिया है, और लिंक हटाने वाली बात भी हटा दी है। -- सौरभ भारती (वार्ता) १८:४६, २ सितंबर २००९ (UTC)
सुझाव समझ मे आया और मेरा समर्थन हैं। --मितुल १४:३६, ३ सितंबर २००९ (UTC)
धन्यवाद मितुल जी।-- सौरभ भारती (वार्ता) ०७:१९, ४ सितंबर २००९ (UTC)
--यह कार्य सदस्य:हिंग्लिशबॉट को सौंपा गया है। कृप्या इसे बॉट का दर्जा दिया जाए ताकि कुछ प्रयोग (इसके वार्ता पृष्ठ पर, मुख्य विकि पर नहीं) किए जा सकें। -- सौरभ भारती (वार्ता) २१:३५, ४ सितंबर २००९ (UTC)

विकि गुणवत्ता पर चर्चाएँ

वार्ता शीर्षक

लगता है, कि हिन्दी विकि पर अधिकांश सदस्यों का चहेता काम वार्ता शीर्षक लगाना ही हो गया है। अन्जाने लोग (आई पी एड्रेस वाले) भी यहां आ कर वार्ता शीर्षक लगा जाते हैं, और उधर लेख संख्या है कि बढ़ती नहीं। शायद इस उद्योग से गहरायी बढ़ भी जाये, किंतु यदि एक वार्ता पृष्ठ के बजाय एक लेख पृष्ठ बने, भले ही एक वाक्य हो, तो वो

  • लेख संख्या वृद्धि करेगा।
  • किसी लेख की कड़ी को लाल से नीली करेगा।

यानि दो काम एक साथ: हुआ न एक पंथ दो काज। तो यदि कुछ लोग, जो मात्र इस ही काम में लगे हैं, किसी भि लंबे या मध्यम आकार ले लेख को उठा कर उसकी सभी कड़ियों को नीला करें, तो दोनों काम एक साथ होंगे।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:४५, १९ अगस्त २००९ (UTC)

मेरा भी यही विचार है। ये "वार्ता पृष्ट" केवल हिन्दी विकि का 'भार' बढ़ा रहे हैं; शक्ति नहीं। 'हाल में हुए परिवर्तन' में देखने पर केवल ये ही ये दिखते हैं जिससे कुछ नये लिखे महत्वपूर्ण लेखों के लिखे जाने का ज्ञान नहीं हो पाता।

अनुनाद सिंह ०३:३०, १९ अगस्त २००९ (UTC)

वहीं देखकर तो बुरा लगता है, कि १५०-२०० बदलाव चुनने पर भी वार्ता शीर्षक लगाये हुए मिलते हैं। खैर सभी की अपनी इच्छा है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:२०, १९ अगस्त २००९ (UTC)
विकि पर बहुत से लोग काम करते हैं और सब अपनी अपनी तरह के विचार रखते हैं। कुछ एक पंक्ति वाले लेखों की संख्या बढ़ाने में रुचि रखते हैं तो दूसरे उसी से परेशान, कुछ विकी के स्तर के विषय चिंतित होते हैं, जबकि दूसरे उसी से परेशान, कुछ भार बढ़ाने पर अधिक बल देते हैं कुछ उसी से परेशान, कुछ को हाल में हुए परिवर्तन में महत्त्वपूर्ण लेखों का ज्ञान न हो पाने का ख़तरा दिखाई देता है तो कुछ को भार के कारण शक्ति दिखाई न होने का। दरअसल खतरा किसी को किसी बात से नहीं होना चाहिए। जितना स्तर ज़रूरी है, उतनी ही ज़रूरी संख्या है, उतनी ही शक्ति, उतना ही भार। कोशिश केवल यह होनी चाहिए कि जो लेख अच्छा बन गया है वह बिगड़े नहीं। जिन स्तंभों का स्तर अच्छा बन गया वह बिगड़े नहीं। हाल में हुए परिवर्तन लेख खोजने के काम नहीं आ सकते हैं। अंग्रेज़ी या जर्मन विकि पर देखें तो १० मिनट पहले लिखे लेख के बाद इतना काम हो चुका होता है कि उसको खोजना मुश्किल हो जाता है। इसके लिए महत्त्वपूर्ण पन्ने को ध्यान सूची में डाल लेना ठीक है। वह ऐसा करता है वह वैसा करता है के स्थान पर अगर सब लोग जो कुछ रचनात्मक (विध्वंसात्मक नहीं) कर रहे हैं उसको करने दिया जाय। अगर स्वागत नहीं कर सकते तो कोई बात नहीं कम से कम निंदा तो न करें। आखिर वार्ता शीर्षक वही लगा रहा होगा जिसको और कोई और काम नहीं आता या जिसको शीर्षक बनाना नहीं आता। तो इसमें बुरा लगने की कोई बात नहीं है। हर भाषा के विकि में यह काम बॉट से होता है अगर हिंदी के पास बॉट नहीं है तो उसकी कोशिश करनी चाहिए। न कि एक व्यक्ति जो कुछ ठीक समझता है और कर रहा है उसके लिए गुटबाज़ी कर के दूसरे को रोकने की कोशिश में ही सारी शक्ति लगा दे। इसकी उसकी निंदा करना या किसी को रोकना ठीक नहीं है। (हाँ वैंडेलिज्म हो तो अलग बात है) एक रणनीतित के तहत शीर्षकों की संख्या और गहराई बढ़ाने का काम तेज़ी से होना चाहिए। हमारा पहला लक्ष्य इस समय ४८ से ४७ स्थान पर आना होना चाहिए। भले ही दो तीन पंक्ति के लेख हों। वार्ता शीर्षक लगाने वाले लोग (भारत में मैनपावर बहुत है) वार्ता शीर्षक लगाते रहें उसमें बुराई क्या है? जिसको लेख लिखना आता है वे लेख लिखेंगे जिसको लाल कड़ियों की परिभाषाएँ आती हैं वे नीली करेंगे, जिनको कुछ नहीं आता वे वार्ता शीर्षक बनाएँगे वह भी एक काम है। वैसे हर कोई करेगा वही जो उसको पसंद है इसलिए इस उपदेश का कोई फ़ायदा नहीं। हे... हे... :-D सार्थक टिप्पणियों पर ध्यान देना अच्छी बात है।--सुरुचि ०८:५८, २० अगस्त २००९ (UTC)

गहराई पर चिंता की रेखाएँ

हिन्दी की वर्तमान गहराई १३ से घटकर १२ हो गई है। अनुमान के अनुसार अगर ८००० लेख हो जाते हैं तो कम से कम उतने ही अन्य लेख बनाने होंगे, तभी गहराई स्थिर रहेगी। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०१:१०, २६ अगस्त २००९ (UTC)

गहराई फिर बढ़ कर 13 हो गई। एक दो अंक घटने या बढ़ने से चिंतित नहीं होना है जी।--Munita Prasadवार्ता ०१:३३, २६ अगस्त २००९ (UTC)
नहीं मुनिता जी। आप पुराने आंकड़ों को देख रही हैं। अगर नए आंकड़ों को देखिए तो यह १२.०३ है।
गहराई = edits * non-articles^2 / total * articles^2 = 434434 * (102366 - 38142)^2 / 102366 * 38142^2 = १२.०३२५
जिस गति से लेख बढ रहे हैं उससे गहराई कम ही होगी। यही मेरी आशंका है। गुंजन जी बॉट के लिए कार्य कर रहे हैं। उससे लाभ मिलना चाहिए। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०८:४६, २६ अगस्त २००९ (UTC)


विकि गुणवत्ता पर नई चर्चा

विकि गुणवत्ता पर नई चर्चा यहाँ जोड़ें, या फिर ऊपर वाली चर्चाओं में भाग लें।

अनुवाद संबंधी चर्चाएँ

स्वत: अनुवाद कब करें

विकिपीडिया:भाषा से संबंधित शिकायतें को भेजा गया।


विकिपीडिया के अंतरापृष्ठ का हिंदी अनुवाद कैसे?

देवियों और सज्जनो, मैं यह जानना चाहता हूँ कि विकिपीडिया के अंतरापृष्ठ का हिंदी अनुवाद कैसे होता है? उदाहरण के लिए, "मेरी वरीयताएँ" वाला जो पन्ना है उसमें आंशिक हिंदी और आंशिक अंग्रेज़ी है, इसका अनुवाद कहाँ से होता है? --आलोक ०७:३६, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

मुझे आपका प्रश्न ठीक से समझ में नहीं आया।
  1. क्या आपको वरीयताएँ अंग्रेजी में होने के कारण समझ में नहीं आईं? या फिर
  2. आप अंग्रेजी भाषा में लिखे वरीयताओं को हिन्दी में बदलना चाहते हैं, हमेशा के लिए?
अगर कठिनाई पहली है तो गूगल अनुवादक का उपयोग किया जा सकता है।
दूसरी कठिनाई प्रबंधक ही दूर कर सकते हैं। -- सौरभ भारती (वार्ता) १३:३५, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
मिल गया। यह काम अनुवाद विकि में होता है। -- (आलोक ०५:०८, १ सितंबर २००९ (UTC))


अनुवाद संबंधी नई चर्चा

अनुवाद संबंधी नई चर्चा यहाँ जोड़ें, या फिर ऊपर की चर्चाओं में हिस्सा लें।

विकि के ढाँचे पर चर्चाएँ

Categories

I was hoping to work on the category structure here on the Hindi wiki to promote structure. I was wondering if I could get some acceptable translations for a few categories:

  1. en:Category:People by religion and nationality
    1. धर्म और राष्ट्रीयता-अनुसार जन
    2. श्रेणी:लोग-धर्म और राष्ट्रीयता अनुसार
  2. en:Category:People by nationality and religion
    1. राष्ट्रीयता और धर्म-अनुसार जन
    2. श्रेणी:लोग-राष्ट्रीयता और धर्म अनुसार
  3. en:Category:Hindus by nationality (ditto for Muslims, Christians, Buddhists, etc)
    1. राष्ट्रीयतानुसार हिन्दू (मुस्लिम, ईसाई, बौद्ध, सिक्ख)
    2. श्रेणी:हिन्दू-राष्ट्रीयता अनुसार
    3. श्रेणी:मुस्लिम-राष्ट्रीयता अनुसार
  4. en:Category:People by occupation
    1. व्यवसाय-अनुसार जन
    2. श्रेणी:लोग-व्यवसाय अनुसार
  5. en:Category:People by religion and occupation
    1. धर्म और व्यवसाय-अनुसार जन
    2. श्रेणी:लोग-धर्म और व्यवसाय अनुसार
  6. en:Category:People by religion
    1. धर्मानुसार जन
    2. श्रेणी:लोग-धर्म अनुसार
  7. en:Category:Hindu religious figures (again ditto for Sikhs, Christians, Buddhists, etc)
    1. हिन्दू धर्म के स्वरूप
    2. श्रेणी:हिन्दू धार्मिक व्यक्तित्व
  8. en:Category:Sri Lankan Christians (ditto for Hindu, Parsi, Muslim, Buddhist)
    1. श्रीलंका के ईसाई (पारसी)
    2. श्रेणी:हिन्दू-श्रीलंका के
    3. श्रेणी:हिन्दू पाकिस्तान के
    4. श्रेणी:बौद्ध श्रीलंका के

Thanks.Selvaraj १७:४२, २३ अगस्त २००९ (UTC)

These translations may not be best. You may wait for couple of days before picking my translations. ---- सौरभ भारती (वार्ता) १८:५८, २३ अगस्त २००९ (UTC)
I have translated the categories according to my experience till now. Other options can be awaited for a while. Yes I think I should also clarify the idea behind my categories stated.
In categories 1,2,4,5,6, I have written लोग first, so that while typing in the search box at the left pane, as we type श्रेणी:लोग, we get all the options like these, & need not type all the words, al;so we can see the avbl categories, under श्रेणी:लोग। Similar is the case with S.Nos. 3,7 & 8. Here श्रेणी:हिन्दू typed in the search box, simply lists the options under the category.
This is just like:
  1. श्रेणी:विश्व के शहर-महाद्वीप अनुसार
    1. श्रेणी:एशिया के शहर
  2. श्रेणी:भारत के शहर
    1. श्रेणी:भारत के शहर-जनसंख्या अनुसार
    2. श्रेणी:भारत के शहर-राज्य अनुसार
    3. श्रेणी:भारत के शहर-क्षेत्रफल अनुसार
    4. श्रेणी:भारत के शहर-दिशा अनुसार
    5. श्रेणी:भारत के शहर-क्षेत्र अनुसार
etc. I think I had clearly described the aim behind the idea.--आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:२९, २४ अगस्त २००९ (UTC)
आशीष जी के विचार से मैं सहमत हूँ। कृप्या लाल अनुवादों का उपयोग करें।-- सौरभ भारती (वार्ता) ०८:४५, २४ अगस्त २००९ (UTC)
आशीष-जी का इक्तियार पसंद लगता हूँ | इस श्रेणियां से पड़ने के लिए आसान बनता है | However, I do not see a purpose for the dash, so I will remove that from the categories. धन्यवाद | Selvaraj १५:५२, २४ अगस्त २००९ (UTC)
Dear Mr Selvaraj, you liked the category titles, thanks for that. But I tell you the purpose of using a dash. Actually in English using by region will not deteriorate the sentence formation, but in Hindi, श्रेणी:भारत के शहर-क्षेत्रफल अनुसार (say) latter portion क्षेत्रफल अनुसार will mix upwith the former one. So to avoid mixing & maintain the meaning as well as purpose, a simple dash separates the portions.— इस अहस्ताक्षरित संदेश के लेखक हैं -आशीष भटनागर (वार्तायोगदान)
I see your point Ashishji, but I think the category is just a crude way of organization. Our readers are intelligent enough to make the translation on their own. The category, is not meant to be a sentence, but merely a "tag". In this sense though the dash makes it technically gramatically correct, its rather superfluous. Thanks again for the help.सेल्वराजबात १५:२६, २९ अगस्त २००९ (UTC)

More categories

I have a few more requests.

  1. en:Category:Indian people by religion (ditto for any other nation)
  2. श्रेणी:भारतीय लोग-धर्म अनुसार
  3. en:Category:People by ethnicity
  4. श्रेणीभारतीय लोग-जाति अनुसार
  5. en:Category:Tamil Sri Lankans
  6. श्रेणी:श्रीलंका के तमिल या
  7. श्रेणी:तमिल-श्रीलंकावासी
  8. en:Category:Tamil people (ditto for any ethnicity)
  9. श्रेणी:तमिल लोग
  10. Category:Politicians by religion
  11. श्रेणी:राजनीतिज्ञ-धर्म अनुसार
  12. Category:Hindu politicians (ditto for any religion)
  13. श्रेणी:हिन्दू राजनीतिज्ञ

Thanks.Selvaraj १६:५७, २४ अगस्त २००९ (UTC)

I think we should refrain ourselves from discriminating people based on Religion. What merit does a category named hidu politician serve. This may be suited for Europian or other countries but in India we should stick to the secular notion of our constitution. So I totally disagree to categories like श्रेणी:राजनीतिज्ञ-धर्म अनुसार श्रेणी:हिन्दू राजनीतिज्ञ श्रेणी:भारतीय लोग-धर्म अनुसार श्रेणीभारतीय लोग-जाति अनुसार and etc. --गुंजन वर्मासंदेश ०५:५६, २७ अगस्त २००९ (UTC)
अगर हम को एक संगठित विकिपीडिया चाहते है, तोह सब राष्ट्र एका ही प्रबंध करना है | धर्म लिखने से कुछ राजनीती नहीं बनता है ये श्रेणिया मई | I am merely apeing the category structure of English Wikipedia so that people have it easier when trying to navigate to pages they may be interested in learning about and editing. For example: अरेश कुमार कौन है ? पकिस्तान मई एक हिन्दू राजनीतिज्ञ है | उसका पन्ने पिलादात मई बोलता है वह एक " non-Muslim" मजलिस का सदस्य है | राजनीति मई धर्म बहुत ख़ास है | इस लिए मई ऐसा श्रेणिया बनाता हूँ, कुछ धर्मयुद्ध या झगडा को नहीं | धन्यवाद | सेल्वराजबात १५:२१, २९ अगस्त २००९ (UTC)
और यह विकी तोह "भारतीय विकी " नहीं है, "हिंदी विकी" है | इस लिए अधर्मधर्मनिरपेक्षता इस ज्ञानकोष मई कुछ जगह नहीं | सेल्वराजबात १५:२३, २९ अगस्त २००९ (UTC)
मैं सेल्वराज की बात से सहमत हूँ। हिन्दी विकि भारत की थोड़े ना है। और पाकिस्तान और बांग्लादेश देशों में एक हिन्दू राजनेता का होना बड़ी बात है। क्योंकि वे बहुत कम है। -- सौरभ भारती (वार्ता) १४:३०, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

hotcat

Can someone enable HotCat on Hindi wiki? Kingram tried for me, but he is not proficient enough in the protocol to get it working. See en:User:TheDJ/HotCat for a description of the tool, which will be very useful on Hindi wikipedia, as we work out the category structure.Selvaraj २१:१३, २५ अगस्त २००९ (UTC)

हिन्दी विकि पर एक भी गैजेट नहीं है। गैजेट जोड़ने का काम सिर्फ प्रबंधक ही कर सकता है। कौमन्स वरियताएँ और गैजेट्स पर क्लिक करें। उसमें definitions and descriptions of gadgets को विकि में जोड़ने के निर्देश दिए हुए हैं।
मैं आपके विचार से सहमत हूँ। गैजेट होने से श्रेणी जोड़ने-निकालने में आसानी रहेगी। -- सौरभ भारती (वार्ता) ००:४५, २६ अगस्त २००९ (UTC)
I searched for the links given & read about the Hot cat & other gadgets. But sorry to say cant find the way installing. I actually found the string for hotcat, but where to install it? I am readily interested but helpless. If someone knows, am ready to extend my sysadmin support.--आशीष भटनागर  वार्ता  १०:१७, २६ अगस्त २००९ (UTC)
install hotcat on another wiki has detailed instructions. Pls see. इसी तरह बाकी गैजेट्स भी डाले जा सकते हैं, उनकी सूची gadgets list पर है। अंततः user को ही decide करना है कि कौन सा use करे और कौन सा नहीं, इसलिए बाकी भी install कर दीजिए। commons पर तो सारे ही installed हैं। -- सौरभ भारती (वार्ता) ११:५१, २६ अगस्त २००९ (UTC)
मैंने इस पेज को पहले भी देखा था, जहां API enable करने को कहा गया है, किंतु कैसे- ये नहीं बताय़ा। ना ही ए.पी.आई के पेज पर बताय़ा है। शायद ये ब्यूरोक्रैट्स के लेवल का काम हो?--आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:५७, २७ अगस्त २००९ (UTC)

अंग्रेज़ी प्रयोग

हिन्दी विकि पर अंग्रेजी वर्तनी वाले लेख

हिन्दी विकि पर अंग्रेजी वर्तनी वाले लेख बहुत सारे हैं। क्या ऐसा नहीं हो सकता कि जब कोई ऐसे लेख बनाने लगे, तो उन्हें इस अंग्रेजी शीर्षक को हिन्दी में अनुवाद करके बनाने का सुझाव दिया जाए। बने हुए शीर्षकों को अंग्रेजी से हिन्दी में convert करना पेचीदा कार्य है। -- सौरभ भारती (वार्ता) १५:५६, २६ अगस्त २००९ (UTC)

यह देखिये । यहॉ आप को उन सभी लेख जिनका नाम अंग्रेजी अक्षर से शुरु होते है की एक सुची मिल जायेगी। हिंदी विकि पर इस बारे मे एक पूर्व की चर्चा देखे यहॉ --गुंजन वर्मासंदेश १६:०८, २६ अगस्त २००९ (UTC)
reference देने के लिए धन्यवाद। फिर भी रोमन लिपि में नए लेख बनाना allowed है। अतः एक तरफ हम ठीक करेंगे तो दूसरी तरफ ये बढता जाएगा। इसे controll किया जा सकता है। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०४:३९, २७ अगस्त २००९ (UTC)
रोमन लिपि में लेख बनाना निषेध तो नहीं है, किंतु यह तो अपने ही सोचने की बात है, कि यथासंभव हिन्दी/देवनागरी का ही प्रयोग करना चाहिये। इसके लिए हाल के परिवर्तनों प्र नजर रखें, व ऐसे लेखों को बदलें/पुनर्निर्देशित करें, या सांचा:हटायें लगा दें। फिल्हाल यही इसका समाधान है। और सक्रिय सदय तो वैसे नहीं ही बनायेंगे। तब इस प्रकार ही इनकी संख्या पर रोकथाम लगायी जा सकती है। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:३३, २७ अगस्त २००९ (UTC)
रोमन लिपि में लेखों का शीर्षक देने से बचा जाना चाहिये। इसके बजाय अंग्रेजी या रोमन शीर्षक को सीधे देवनागरी में लिखना अधिक अच्छा है। जैसे 'SMPS' के बजाय 'एस एम पी एस' या 'एसएमपीएस' । आखिर हमारी भाषा और लिपि की अस्मिता का भी तो महत्व है।

अनुनाद सिंह ०१:३५, २८ अगस्त २००९ (UTC)

नई चर्चाएँ

चौपाल को चौपट करने वाले की ओर से एक संदेश

विकिपीडिया वार्ता:चौपाल को भेजा गया।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०९:०७, ७ सितंबर २००९ (UTC)

विश्व के महाद्वीप साँचा

कृपया कोई पंजीकृत सदस्य अफ़्रीका और दक्षिणी अमरीका नामक लेखों में ये साँचा लगा दे "

" क्योंकि यह लेख अपंजीकृत सदस्यों के लिए संपादन के लिए बंद हैं और साथ ही साथ दक्षिणी अमरीका को दक्षिण अमेरिका कर दिया जाए क्योंकि यह सही नाम है। धन्यवाद। 120.56.170.107 १४:३५, २ सितंबर २००९ (UTC)

आपके सुझाव का धन्यवाद। सांचा लगा भी देता हूं। किंतु एक छोटी सी बात लिखता हूं- आपको पंजीकरण कराने के लिए किसने रोका है? जब हिन्दी के रुचिर हैं तो सदस्य दीर्घा में हार्दिक स्वागत है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:२५, ४ सितंबर २००९ (UTC)

४०००३ लेखों के साथ हिन्दी विकि ४७वें स्थान पर - Cebuano पीछे

आगे बढो, बढते रहो।

Cebuano भी पिछले कुछ दिनों से तेजी से बढ रहा है। देखिए ये स्थान कब तक बना रहता है। -- सौरभ भारती (वार्ता) १४:१७, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

बधाई !! अनुनाद सिंह १४:२०, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

बधाई सभी को एवं विशेष रूप से भारती जी को।--Munita Prasadवार्ता १४:२५, ३१ अगस्त २००९ (UTC)

मैं तो की-बोर्ड से परेशान हूँ। अभी एक काम चलाऊँ की-बोर्ड से काम कर रही हूँ कल तक शायद नया आ जाए फिर लेख तेजी से आगे बढ़ाने में मेरा भी योगदान होगा। पहले मोनीटर खराब हुआ, अब ये अभी बैडलक चल रहा है।--Munita Prasadवार्ता १४:२९, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
सभी सदस्यो को बहुत बहुत बधाई। अगला लक्ष्य केवल ३ हजार लेख दुर है। अगर हम ५० हजार का लक्ष्य पुरा कर लिया तो ४२वे स्थान तक जा सकते है। शुभकामनाए --गुंजन वर्मासंदेश १४:५३, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
असल पड़ाव तो ५५००० पर ही हो होना चाहिए, सिम्पल इंग्लिश के बाद। फिर १०००० का फासला है जो तय करने में समय लगेगा। तब हम ३७वें स्थान पर होंगे। -- सौरभ भारती (वार्ता) १८:१८, ३१ अगस्त २००९ (UTC)
इस अवसर पर सभी सदस्यगणों को मेरी भी बधाई। इस ही प्रकार से लगे रहें, तो एक दिन लाखों की गिनती में दिखाई देंगे। और वो दिन यदि नव-वर्ष के साथ आये तो कहना ही क्या। (वैसे मेरी ईश्वर से प्रार्थना है कि उससे भी पूर्व आये) कुछ अच्छे सदस्य जैसे रोहित रावत पीछे छूट गये, किंतु उनका स्थान नये सदस्य जैसे सौरभ भारती ने ले लिया, जिससे कमी तो पूरी हुई, किंतु शायद दोनों होते तो और अच्छा होता। इनके अलावा मुनिताजी के कंप्यूटर के स्वास्थ्य के लिए ईश्वर से विनती करूंगा, कि शीघ्रतम सुचारु करें, गुंजन के योगदानों में भगवान एक्सिलरेटर दे जो इससे अधिक गति एवं गुणवत्ता दे, तथा आलोचक जी, सुरुचि जी और मुक्ता जी जैसे हिन्दी्ज्ञगणों का सान्नि्ध्य बना रहे। हां एक नाम जो सबसे पहले लिया जाना चाहिए था, वो अंतिम में लेता हूं, क्योंकि सर्वप्रथम श्रीगणेश नाम लेते हैं, और अंतिम वंदन गुरु का होता है, वो पूर्णिमा जी, जिनकी अनुपस्थिति हमें अंग्रेज़ी सूची से भी हटा गयी, और आज उनकी उपस्थिति फिर वो स्थान दिला रही है। वो यहां उपस्थित ही रहें तो भी हम द्रुतगति से चलते रहेंगे। पीछे की कमियों को सुधारें और आगे और अच्छा हमारी प्रतीक्षा कर रहा है। तो हमें वीर तुम बढ़े चलो, और ...तुमी ऐक्ला चौलो रे.... यथास्थान प्रयोग कर ....जॊ राह चुनी तुमने, उस राह पे राही चलते जाना है....

शुभकामनाओं सहित --आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:१८, १ सितंबर २००९ (UTC)

आशीष जी आपके सद्-विचारों के लिए धन्यवाद। मैंने पूर्णिमा जी के टिपण्णी के नीचे एक सुझाव दिया है। वह यह कि ४०,००० लेख पुरे होने का समाचार सारे सदस्यों के वार्ता पृष्ठ पर भेजा जाए, और उनसे और ज्यादा participation का आग्रह किया जाए। हालाँकि यह विकि के सही तरीकों में नही हैं, पर इससे शायद कुछ एक-आध लोगों वापस विकि पर योगदान देने आ सकते हैं। आपकी क्या राय है? -- सौरभ भारती (वार्ता) ०४:४१, १ सितंबर २००९ (UTC)

उषा सुनहले तीर बरसती, जयलक्ष्मी सी उदित हुई। [1] इस जय[2]की आप सभी को बधाइयाँ।

संदर्भ


-Hemant wikikosh ०४:३८, १ सितंबर २००९ (UTC)

साँचा:विकिपीडिया:विकिपीडिया पर क्या चल रहा है

कई बार ऐसा होता है कि हमें विकि के सभी सदस्यों को कुछ कहना होता हैं। केवल एक जानकारी, कोई चर्चा नही। इसके लिए हम इस साँचे का प्रयोग कर सकते हैं। सदस्यों से अनुरोध है कि वे इस साँचे को अपने वार्ता पृष्ठ पर लगाएँ और निरंतर इसमे अपनी ओर से नई जानकारी देते रहे। इसे हम स्वागत के सांचे मे भी लगा सकते है।--मितुल १८:०३, २ सितंबर २००९ (UTC)

+1 :-) -- सौरभ भारती (वार्ता) १९:१०, २ सितंबर २००९ (UTC)
redirected to {{विकिपीडिया पर क्या चल रहा है}} because earlier link contained विकिपीडिया namespace nested in साँचा namespace. -- सौरभ भारती (वार्ता) १९:३७, २ सितंबर २००९ (UTC)
 Yes check.svg  यह बहुत ही उत्तम सुझाव है। इसे कार्यान्वित भी किया गया, ये भी अच्छा हुआ। हां अब सदस्यगण इस पृष्ठ को विकिपीडिया:विकिपीडिया पर क्या चल रहा है पर देख पायेंगे, और यदि इसको अपनी वार्ता पर लगाना चाहें, तो साँचा:विकि प्रगति लगा लें।

विकिपीडिया पर क्या चल रहा है


इस परियोजना पृष्ठ का अंतिम संपादन Sanjeev bot (योगदानलॉग) द्वारा किया गया था।
     पिछला                               लेख संख्या:1,22,579                               नया जोड़ें     

--आशीष भटनागर  वार्ता  ०८:४४, ३ सितंबर २००९ (UTC)

यह साँचा काफी अच्छा लगा। सुधारने के लिए आभार। --मितुल १४:३२, ३ सितंबर २००९ (UTC)

हिन्दी विकिपीडिया पर अंग्रेजी शीर्षक वाले लेख

विकिपीडिया:भाषा से संबंधित शिकायतें#हिन्दी विकिपीडिया पर अंग्रेजी शीर्षक वाले लेख को भेजा गया।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०९:०५, ७ सितंबर २००९ (UTC)

भारत लेख से संबंधित

पहले इस लेख पर संदर्भ के बाद बहुत से साँचे और अन्य जानकारियाँ थीं लेकिन अब नहीं है। और दूसरा यह की इस लेख पर विभिन्न पन्थों का जनसंख्या प्रतिशत दर्शाने वाला चार्ट गलत है क्योंकि उसमें हिन्दुओं का प्रतिशत ७६.५ दिखाया गया है जो गलत है। कृपया इसे बदला जाए और देखा जाए की अन्य क्या जानकारी हटाई या डाली गई है। 59.177.74.23 १३:२२, ३ सितंबर २००९ (UTC)

अगर आपको किसी लेख विशेष पर चर्चा करनी है तो कृपया उसके संवाद/वार्ता पृष्ठ का इस्तेमाल करें। इससे प्रासंगिक चर्चा उसके उपयुक्त स्थान पर रहती हैं। आभार, --मितुल १४:०५, ३ सितंबर २००९ (UTC)
मितुलजी उपर्युक्त अनाम संदेश यद्यपि मैंने नहीं लिखा है, परंतु बीच में एक बात कहना चाहता हूँ कि हिन्दी विकि अभी इतना हैपनिंग नहीं है कि लेख के वार्ता पृष्ठ पर संदेश लिखने से समय पर प्रतिक्रिया मिल जाए। मैंने स्वयं कुछ लेखों के वार्ता पृष्ठों पर सुझावात्मक टिप्पणियाँ लिखी हैं जो उनके पढ़नेवाले की ही राह देखती रहीं। इसीलिए कृपया गैर-महत्त्वपूर्ण टिप्पणियाँ भले ही वार्तापृष्ठों पर रहें, परन्तु यदि किसी प्रयोक्ता को लगे कि उसे तुरन्त प्रतिक्रिया चाहिए तो उसे चौपाल पर लिखने दीजिए। लिखने वाले के मन में यह तो संतुष्टि हो जायेगी कि वह (लेखक के अनुसार महत्त्वपूर्ण) संदेश सभी ने पढ़ लिया है। वर्ना स्वाभाविक है कि लेख की गुणवत्ता बढ़ाने में अच्छे सुझाव दे सकने वाले लोग सुझाव देना ही बन्द कर दें। धन्यवाद। -Hemant wikikosh ०५:५०, ४ सितंबर २००९ (UTC)
मैं हेमंत कि बात से सहमत हूँ--सुमित सिन्हावार्ता १३:०७, ४ सितंबर २००९ (UTC)

Hits per page

क्या यह संभव है की हमे हर लेख पर कितने Hits होते है का पता चल जाये। इससे हमे लोकप्रीय लेखो के बारे मे पता चलेगा और हम उन्हे सुधारने/बड़ाने की प्राथमीकता तय कर सकते है। दुसरा अगर हमे अगर यह पता चले की सबसे ज्यादा खोज किस कीवर्ड की होती है तो हमे नये लेख का चयन करने मे मदद मिलेगी। --गुंजन वर्मासंदेश १४:४५, ३ सितंबर २००९ (UTC)

प्रत्येक पृष्ठ के पुराने अवतरण में ये तीन लिंक हैं- बदलाव इतिहास के आंकड़े · बदलाव इतिहास खोज · पन्ना देखने के आँकड़े । पन्ना देखने के आँकड़े पर क्लिक कर के उस पन्ने के हिट्स जाने जा सकते हैं। उदाहरण के लिए चौपाल के आँकड़े [इस लिंक] पर हैं। यहाँ देखा जा सकता है कि प्रतिदिन चौपाल को लगभग १०० से १५० हिट लगते हैं। --पूर्णिमा वर्मन १५:०७, ३ सितंबर २००९ (UTC)
पोइन्ट टेकेन। या तो ऐसे आँकड़े ढूँढे जा सकते हैं या बनाए जा सकते हैं। मैं इसपर हिन्दी दिवस के बाद कार्य कर सकता हूँ। -- सौरभ भारती (वार्ता) १५:१०, ३ सितंबर २००९ (UTC)
यह कडियाँ देखे: Most accessed pages और Comparison of total server page hits (traffic) for Wikimedia wikis। अगस्त मे हिन्दी विकिपीडिया पर १३९,५९४ hits प्रतिदिन थें। सबसे ज्यादा देखा गया लेख मुखपृष्ठ (१६०२) :), नही दरसल हिन्दी हैं, जिसे रोज १९८ बार देखा गया। --मितुल १५:३४, ३ सितंबर २००९ (UTC)
एक और बहुत ही अच्छा साधन है यह http://stats.grok.se इस पर आप किसी लेख पर प्रतिदिन के आगन्तुकों कि संख्या देख सकते हैं --सुमित सिन्हावार्ता १७:३७, ३ सितंबर २००९ (UTC)
धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश ०४:२६, ४ सितंबर २००९ (UTC)

संग्रह (पुरालेख)

यह बहुत ही बड़ा लेख हो गया, क्या इसका संग्रह कर दिया जाए ?--सुमित सिन्हावार्ता १२:०३, ४ सितंबर २००९ (UTC)

एक और बात, क्या {{साँचा:पुरालेख}} को {{सांचा:संग्रह}} कर दिया जाए ? क्योंकि संग्रह शब्द पूरालेख से ज्यादा सरल है व सामान्य बोली मे अधिक प्रयोग होता है।--सुमित सिन्हावार्ता १२:२३, ४ सितंबर २००९ (UTC)
न न पुरालेख ही रहने दें। पुरालेख का मतलब archives है। जिस तरह archives को collection नहीं कहा जा सकता, उसी तरह पुरालेख को संग्रह नहीं कहा जा सकता।--मुक्ता पाठक १२:३९, ४ सितंबर २००९ (UTC)
ठीक है--सुमित सिन्हावार्ता १२:४७, ४ सितंबर २००९ (UTC)

यह कैसी त्रुटि है?

साँचा:पुरालेख के सम्पादन पर सूचना व सावधानी के नीचे व टूलबाक्स के ऊपर(निम्न पाठ)

क्यों लिख कर आ रहा है?--सुमित सिन्हावार्ता १२:५४, ४ सितंबर २००९ (UTC)

पहले मैने सोचा कि कहीं यह पाठ मीडियाविकि:Cascadeprotectedwarning मे तो नही लिख दिया गया है, पर वहाँ पर भी ऐसा कुछ नही है--सुमित सिन्हावार्ता १२:५७, ४ सितंबर २००९ (UTC)
ऐसा लगता है कि आशीष जी ने इसे अपने सदस्य पन्ने पर उपयोग किया है। और चूँकि उनका पन्ना सुरक्षित है, इसलिए ये भी सुरक्षित हो गया है। पर इससे कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए। -- सौरभ भारती (वार्ता) २१:१५, ४ सितंबर २००९ (UTC)
सौरभ सही हैं। यह साँचा आशीष जी के सदस्य पन्ने से जुड़ा है। आशीष जी के सदस्य पन्ने को सुरक्षित किया गया है, और Setting ’इस पन्ने से जुडे हुए पन्ने सुरक्षित करें (सुरक्षा-सीढी)’ को चुना गया हैं। सो, जब आप इस साँचे को बदलने गए तो आपको वह संदेश आता हैं। मगर आप साँचे मे बदलाव कर सकते हैं। --मितुल २१:३३, ४ सितंबर २००९ (UTC)

यदि मेरे कारण किसी को कोई भी असुविधा हुई हो, तो सबसे पहले तो मैं क्षमाप्रार्थी हूं। इसके बाद उस सांचे, अपनी वार्ता पृष्ठ आदि को जांच कर ये कहना चाहूंगा कि:-

  • मुझे इस सांचे और उसके संपादन करने पर अपना नाम कहीं भी दिखाई नहीं दिया है।
  • सांचा:पुरालेख तो बहुत से लोगों की वार्ता पर प्रयोग हुआ है। और उसमें से बहुत से लोगों की वार्ता भी सुरक्षित हैं।
  • मेरी वार्ता मात्र अपंजीकृत सदस्यों से सुरक्षित है, शेष लोग तो उसमें संदेश लिखते ही हैं।
  • यह सांचा:पुरालेख 2008-03-25T10:22:07 पूर्णिमा वर्मन (वार्ता | योगदान | अवरोधित करें) छो (Protected "साँचा:पुरालेख" [edit=autoconfirmed:move=autoconfirmed]) के अनुसार पूर्णिमा जी ने २५ मार्च २००८ से सुरक्षित किया हुआ है। vaवह भी केवल अनामक सदस्यों से ही सुरक्षित किया है। तब इसमें कहां , कैसे और क्या समस्या आ गयी?
  • मेरी वार्ता में भी सुरक्षा-सीढ़ी नहीं चेक्ड है, मैंने अभी देखा है।

तब मुझे तो ये समस्या पता ही नहीं चल रही है। न इसमें मेरी भूमिका कहीं दिखी है। हां यदि किसी ने कुछ बदलाव किये हों, तो शायद हट गयी हो, किंतु न मेरी वार्ता, न सांचा:पुरालेख ही छेड़ा गया, तब बदलाव हुए तो कहां? ये भी समझ नहीं आया। हां यदि मेरी कोई भूल पता चली या पकड़ में आयी हो, तो अवश्य बतायें। वर्ना सुधार कैसे करूंगा।--आशीष भटनागर  वार्ता  १०:३०, ५ सितंबर २००९ (UTC)

आशीष जी भूल आपकी ही थी पर मैंने सुधार दिया है, चिन्ता की कोई बात नहीं। आपका सदस्य पृष्ठ सुरक्षित था एवं उसमें सुरक्षा सीढ़ी होने के कारण वो भूल आ रही थी। मैंने सुधार कर फिर आपका पृष्ठ सुरक्षित कर दिया है।--Munita Prasadवार्ता १२:२७, ५ सितंबर २००९ (UTC)
--असल में दिक्कत आशीष जी के वार्ता पन्ने से नहीं, सदस्य पन्ने से आ रही थी। :-) -- सौरभ भारती (वार्ता) २१:४२, ५ सितंबर २००९ (UTC)

सही कहा आपने।--Munita Prasadवार्ता ०६:१५, ६ सितंबर २००९ (UTC)

Hall of Fame - हिन्दी विकि

यहाँ सदस्य आते हैं और चले जाते हैं, पर उनके द्वारा बनाए गए पृष्ठ और दिए गए योगदान रह जाते हैं। हिन्दी विकि पर कई पुराने धुरंधर हैं जिन्होंने इसके विकास के लिए जी-तोड़ योगदान दिया, हालाँकि वर्तमान में सुषुप्त अवस्था में हैं। अच्छा लगेगा अगर कोई Hall of Fame जैसी चीज यहाँ पर भी हो, ताकि उनके योगदान को भी देखा जा सके।

यह कोई साँचा या टेबल हो सकता है। प्रबंधकगण अगर कोई उचित सदस्य पाएँ जो इसके हकदार हैं तो उनके सदस्य पृष्ठ पर एक साँचा डाल सकते हैं जो इसके बारे में बताए।

ऐसे सदस्य जिन्होंने १००० से ज्यादा मुख्य पृष्ठों पर संपादन किया है, उनकी सूची विशेष योगदान सदस्य सूची पर है।

-- सौरभ भारती (वार्ता) १४:२५, ६ सितंबर २००९ (UTC)

Hall of Fame तालिका

क्रम सदस्य नाम (हस्ताक्षर) सक्रिय समयावधि टिपण्णी योगदान
पूरा नाम, सदस्य पृष्ठ १ जनवरी २००७ से ३१ दिसम्बर २००७ कई साँचे बनाए, प्रबंदन में विशेष योगदान, भारत संबंधी पृष्ठों पर विशेष योगदान etc. विशेष:Contributions/पूरा नाम, पूरा नाम का योगदान

अनुवाद : Black Hole

Black Hole का हिंदी शब्द क्या होगा. एक लेख है काल कोठरी जो black hole के बारे में है. मेरे हिसाब से यह नाम उचित नहीं है. --गुंजन वर्मासंदेश ०४:१५, ७ सितंबर २००९ (UTC)

मैंने सारी मानक विज्ञान की पुस्तकों में कृष्ण विवर ही पढ़ा है। श्याम शब्द काले का यथावत् अनुवाद नहीं है, यह कुछ कुछ साँवले के तुल्य है। जहाँ तक काल कोठरी का सवाल है, यह तो कतई नहीं है। इस शब्द के बारे में यही कह सकता हूँ कि 18वीं सदी में बंगाल में एक घटना घटी थी जिसे अंग्रेजी में ब्लैक होल इंसीडेंट कहते हैं, उसकी हिंदी जरूर काल कोठरी की घटना होती है, परंतु वहाँ यह वास्तव में एक कोठरी थी। -Hemant wikikosh ०४:२७, ७ सितंबर २००९ (UTC)
कृष्ण विवर सही प्रतीत होता है। मैंने किसी विज्ञान की पुस्तक में नहीं पढ़ा - यानी हिन्दी की विज्ञान की पुस्तक पढ़े शायद २५ साल हो गए होंगे, अफ़सोस! या फिर कर्प छिद्र, कर्प विवर, कृष्ण छिद्र। -- आलोक (वार्ता) ०५:०४, ७ सितंबर २००९ (UTC)
कृष्ण विवर लेख पहले ही उपस्थित है, अतएव काल कोठरी लेख को हटा दिया गया है। पश्चिम बंगाल की घटना काल कोठरी की घटना नाम से साँचा:कोलकाता में लिखी है, किंतु लेख बनने की प्रतीक्षा में है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०९:००, ७ सितंबर २००९ (UTC)

लातिनी भाषा

लातिनी भाषा लेख में मैंने एक जानकारी जोड़ी तथा संदर्भ दिया, परिणामस्वरूप एक टेबल "अकारण ही" सरककर नीचे चली गयी। मुझे इसके सिंटैक्स की ज्यादा जानकारी नहीं है, कृपया कोई बन्धु इसे ठीक कर दे, मूलतः यह टेबल लिपि वाले भाग में डिफाइन्ड है, परन्तु दिख संदर्भ के भी बाद रही है। -Hemant wikikosh ०९:५८, ७ सितंबर २००९ (UTC)

बदलाव किया है। हाँ तालिका बाएँ से दाएँ के बजाय ऊपर से नीचे भी किया है, यह सोच के कि शायद यह पाठकों के लिए ज़्यादा सुविधाजनक हो। -- आलोक १०:२६, ७ सितंबर २००९ (UTC)
वैसे असली कारण यह है कि ऊपर से नीचे वाली तालिका बनाना व उसका बाद में रखरखाव करना ज़्यादा आसान लगा :) -- आलोक १०:२६, ७ सितंबर २००९ (UTC)
धन्यवाद आलोक जी। -Hemant wikikosh ११:१५, ७ सितंबर २००९ (UTC)

अंग्रेज़ी विकि के मुखपृष्ठ पर हिन्दी अभी भी नहीं

अब हिन्दी विकि में ४०,०००+ लेख हो चुके हैं लेकिन अभी भी हिन्दी विकि को अंग्रेज़ी के मुखपृष्ठ पर नहीं रखा गया है। इसलिए अंग्रेज़ी विकि के प्रबंधकों को यह बात बताई जाए और यदि वे न माने तो हिन्दी विकि के मुखपृष्ठ से भी अंग्रेज़ी विकि को हटा दिया जाए। जैसे को तैसा वाली नीति अपनाई जाए। मुझे लगता है की अंग्रेज़ी विकी वाले किसी भी भारतीय (दक्षिण एशियाई) भाषा को अपने मुखपृष्ठ पर नहीं रखना चाहते अन्यथा तेलुगु में तो ४०,००० से उपर ही लेख थे और नेपालभाषा पर सिम्पल इन्ग्लिश से अधिक लेख थे। यह बात अन्य भारतीय भाषा विकिपिडिया वालों को भी बता दी जाए और सभी भारतीय भाषा विकियों से अंग्रेज़ी को हटा दिया जाए और फ़्रांसीसी विकि को बढ़ावा दिया जाए। तब आएंगे ये लोग बाज अपनी हरकतों से। और यदि यह मान भी लिया जाए की लेखों और गहराई के अनुपात को देखते हुए इन्हें रखा जा रहा है तब भी अब तो हिन्दी भी ४०,००० से ऊपर है और गहराई भी २१ है। यूनानी पर भी ४४,०००+ लेख ही हैं और गहराई भी बहुत अधिक नहीं है लेकिन फिर भी वह अंग्रेज़ी विकि के मुखपृष्ठ पर है। शायद इसलिए कि वह एक यूरोपीय भाषा है। 59.177.74.23 १२:५१, ३ सितंबर २००९ (UTC)

नही है तो नही है, उससे हमें क्यों फर्क होना चाहिए? हिन्दी विकिपीडिया के सदस्य काफी मेहनत से इसे निरंतर सुधारने और नए लेख जोड़्ने का काम कर रहे है। इस प्रकार का काम करते रहे और सही लोगो को बताएगे तो अंग्रेजी विकि के मुखपृष्ठ पर हिन्दी की भी कड़ी जुड़ जाएगी। इस प्रकार की चर्चा से सभी के मनोबल पर फर्क पड़ता है, साथ ही एकाग्रता भी भंग होती है। अंग्रेजी विकि का मुखपृष्ठ कोई मानक नही हैं। न ही हिन्दी विकि का उद्देश्य अंग्रेजी विकि के मुखपृष्ठ पर अपनी कड़ी देना हैं। हिन्दी विकि के कारण इंटरनेट पर कई जानकारियाँ आसानी से उपलब्ध हो रही है और यह हिन्दी के इंटरनेट पर विकास अपना यथासंगित योगदान दे रही है। हाँ, आपका कहना कुछ हद तक सही भी है, आप किसी अंग्रेजी विकि के प्रबंधक को संपर्क करें। अगर आपको वहाँ समर्थन की जरूरत रहेगी तो मेरे सहित कई हिन्दी विकिपीडिया के सदस्य आपको समर्थन करेंगें ऐसी आशा हैं। इस ओर ध्यान दिलाने के लिए आभार। --मितुल १४:१९, ३ सितंबर २००९ (UTC)
इस का कारण जानने के लिए अंग्रेजी विकी पर हुई इस वार्ता को पड़े [4] . हिंदी विकी इन मानदंडो पर खरी नहीं उतरती है इसीलिए इसे वहां स्थान नहीं मिला है. सिर्फ गहराई और लेखो की संख्या ही अकेले मापदंड नहीं है. --गुंजन वर्मासंदेश ०९:३६, ७ सितंबर २००९ (UTC)
इसका अर्थ यह हुआ कि ५०,००० पन्ने बनाने की परियोजना से भी इस दिशा में कोई प्रगति नहीं होगी। आशा है हम सब इस बात से अवगत होंगे। -- आलोक १०:४०, ७ सितंबर २००९ (UTC)
इसका अर्थ यह हुआ कि हमें केवल लेखों की संख्या ही नहीं बढ़ानी है, बल्कि उसकी गुणवत्ता भी बढ़ानी है। मेरे ख्याल से अंग्रेजी विकी पर हिन्दी को शामिल नहीं करने का दिया गया कारण बहुत ही वाजिब है। --Charu १३:३२, ७ सितंबर २००९ (UTC)

अंग्रेज़ी विकि में प्रवेश

इससे ऊपर की गयी वार्ता को दोबारा चलाना चाहता हूं, किंतु उस वार्ता के संदर्भ मात्र लेकर नयी चर्चा के लिए नया संदूक/शीर्षक लगाया है। इस संदर्भ में कृपया इस पीले स्क्रॉल बॉक्स में अंग्रेज़ी से लायी गयी वार्ता के अंश देखें।

Hindi Wikipedia

अंग्रेज़ी विकि से लाया गया वार्ता अंश [copied from User talk:David Levy]

This is regarding inclusion of Hindi wikipedia in the list of wikipedias over 30k articles.One of the condition for inclusion of a wiki in such a list is so called random test. check this link. But When I clicked on 'Random Article' link for 50 times. I saw only 5 articles containing greater than 5 lines, and two of them are English articles copied as it is from English wiki. Can you take a look at it and do the needful? —రవిచంద్ర (talk) 07:08, 26 June 2009 (UTC)

I conducted the same test and arrived at a similar result. Indeed, it appears that most of the Hindi Wikipedia's articles are stubs or placeholders (including some in English). Accordingly, I have removed this Wikipedia from the list. —David Levy 18:09, 26 June 2009 (UTC)
Manipuri wikipedia too does not confirm to the random test. Please have a look at this also. —రవిచంద్ర (talk) 05:59, 30 June 2009 (UTC)
I agree. Accordingly, I've removed that Wikipedia from the list. —David Levy 06:53, 2 July 2009 (UTC)
From the template's revision history: Added Hindi. This has 30K+ articles. Don't agree with David that it has 40% articles in English or not enough to count as articles. Shyam 07:46, 2 July 2009 (UTC)
1. I just again viewed 50 random articles, and only four were not stubs or placeholders. I hope that you aren't relying on the tables of content to judge, as a great many pages consist of multiple headings for empty sections. (These placeholders contain even less content than most stubs do.)
2. I don't know where you got the "40%" assertion (or how you can dispute even that). If the Hindi Wikipedia contained 60% acceptable articles, this wouldn't be an issue. The figure appears closer to 10%.
3. This was not a unilateral action on my part; it was the application of a consensus-backed standard that has been equally applied to numerous Wikipedias. Your reversal was unilateral and selective; you obviously are not impartial. Please participate in the discussion and seek consensus for the Hindi Wikipedia's inclusion. Thank you. —David Levy 17:25, 2 July 2009 (UTC)
Agreed. I've just conducted the 50-article test and saw three articles, at most, that appeared to be of substance and weren't just stubs or nearly-empty skeletons. -CapitalQ (talk) 05:15, 3 July 2009 (UTC)
Follow-up: A glance over the site's Speical:LongPages reveals stubs, lists and skeletal articles appearing as early as the 2,500 mark; concrete evidence that the count of substantial articles is under 30,000, if not under 2,000 (as plenty of the first 2,000 are partially or fully in English[5][6][7], or consist solely of tables[8][9][10] among other things). -CapitalQ (talk) 07:57, 3 July 2009 (UTC)
CapitalQ, your links are helpful. Agreed, if the main page's intention is to show 20K useful self-language pages which should not be stubs. Can you ensure listed tlwp has 20K useful self-language, non-stub articles, which has about 22K articles in total? Thanks, Shyam (T/C) 14:12, 3 July 2009 (UTC)

अब इससे हमें समझ में भली भांति आ जाना चाहिये, कि मात्र १ वाक्य के लेखों से हम विकि को कहीं नहीं पहुंचा सकते हैं। कुछ न्यूनतम अर्हता होनी चाहिए। ये सब लिखना आवश्यक नहीं समझता हूं, कि हमारे लिए शर्म की बात है, आदि आदि....। बस ये कि हमें गुंजन जी के इंगित किये हुए उपरोक्त अंश को देख कर अभी भी संभल जाना चाहिए, और कुछ बातें ध्यान में कड़ाई से रखनी चाहिएं:-

  • लेख कम से कम ५ वाक्यों के तो आवश्यक रूप से बनें।
  • नहीं तो किसी सांचे सहित या ज्ञानसन्दूक सहित बनें। इस दिशा में मैं सहायतार्थ सदा ही उपलब्ध हूं। कोई भी सदस्य किसी भी प्रकार के सांचे या ज्ञानसन्दूक बनाने के लिए कहे तो यथा-संभव बनाने का प्रयाश करूंगा। हां यदि देर भी होती है, तो कृपया सदस्य उस सांचे से संबंधित लेखों में सांचे क प्रयोग तो कर ही लें। सांचा बनने पर लाल कड़ी के स्थान पर सांचा अपने आप ही आ जायेगा।
  • अंग्रेज़ी लेखों को आवश्यक रूप से हटा देना चाहिए, बल्कि अंग्रेज़ी लेखों से तो गूगल अनुवाद फिर भी बेहतर होगा। उसे बढ़ावा न दें, किंतु अंग्रेज़ी लेखों को तो स्ट्रिक्टली हटाया जाना चाहिए।
  • ऐसे लेख जिनमें मात्र खाली शीर्षक ही लगे हैं, उन्हें साफ करना चाहिए। इस दिशा में सभी वर्षों के लेख खासकर उल्लेखनीय हैं।
  • और सुझाव और बिन्दु भी आमंत्रित हैं।

अब हमें मात्र लेख संख्या बढ़ाने की अंधी दौड़ से हट कर ऊंचा सोचना होगा। इस दिशा में कुछ अति-सक्रिय सदस्यों को प्रबंधन अधिकार देने से बहुत से कार्य त्वरित होंगे। इसके साथ ही प्रोत्साहन हेतु बार्न-स्टार वितरण भी बढ़ा सकते हैं, जो कि अच्छी और अच्छे लेख संख्या की पर्याप्त संख्या पर मिले। इसके अलावा जो सदस्य जिस दिशा में अच्छा कार्य कर सकते हैं, वे उसी दिशा में लगें।

--आशीष भटनागर  वार्ता  १३:३२, ७ सितंबर २००९ (UTC)
अंधी दौड़
हमे गुणवत्ता और संख्या (क्वालिटी और क्वांटिटी) दोनो चाहिये। पर क्वालिटी गिराकर संख्या बढा़ना हिन्दी विकि की महत्ता को गिराने का एक कारण बन जायेगा। ऐसे ही लोग 'हांक देंगे' कि हिन्दी विकि में सिर्फ 'कचरा' भरा है। इसलिये लेखों के लिये बातों का ध्यान रखा जाय-
१) विषय महत्वपूर्ण हों
२) कम से कम पाँच वाक्य उस पर लिखा जाय।


साथ ही मितुल जी की बात पर भी ध्यान दिया जाय कि अंग्रेजी विकि के मुखपृष्ट पर हिन्दी के आने/न आने को कत्तईं महत्व न दिया जाय। अनुनाद सिंह १४:२१, ७ सितंबर २००९ (UTC)
मैं स्वचालित अनुवाद के पक्ष में नहीं हूँ। कम से कम, अगर अंग्रेजी़ है तो यांत्रिक रूप से पता तो लगा सकते हैं कि ऐसे कौन कौन से लेख हैं। स्वचालित अनुवाद करने के बाद कौन से ल ेखों की गुणवत्ता अच्छी है और किन की नहीं यह पता लगाना बहुत कठिन होगा।
हमें यह साँचे/श्रेणियाँ चाहिए होंगे
  1. "यह लेख अधिकांशतः हिन्दी में नहीं है। कृपया इसके हिन्दी अनुवाद में मदद करें"। संबद्ध श्रेणी - लेख जो अधिकांशतः हिंदी में नहीं हैं। लाल रंग की चेतावनी। - इसके लिए साँचा {{अनुवाद_आधार}} का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  2. "यह लेख आंशिक रूप से हिन्दी में नहीं है। कृपया इसे पूर्णतः हिन्दी में परिवर्तित करने के लिए मदद करे"। संबद्ध श्रेणी - लेख जो आंशिक रूप से हिंदी में नहीं हैं। हल्के नारंगी रंग की चेतावनी, इसके लिए भी साँचा {{अनुवाद_आधार}} का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  3. "यह लेख प्रारंभिक अवस्था में है। कृपया इसे पूर्ण करने में सहयोग करें"। संबद्ध श्रेणी - प्रारंभिक अवस्था वाले लेख। (शायद यह पहले से ही मौजूद है)। नीला तमगा - इसके लिए साँचा {{ आधार}} का प्रयोग हो सकता है।
  4. "यह लेख जानकारीपूर्ण व पूर्णतः हिंदी में है"। संबद्ध श्रेणी - जानकारीपूर्ण पूर्णतः हिंदी में लिखे लेख. हरे रंग का सही का निशान।
इसके अलावा, हर रोज जो भी नए पन्ने बनते है उन पर अगले दिन तक ये चार तमगे (लेख की गुणवत्ता के अनुसार) लगाने का प्रयोस होना चाहिए। प्रयास यह रहना चाहिए कि हिंदी विकी के लेखों पर इनमें से एक न एक तमगा लग जाए। इस प्रकार हम श्रेणीबद्ध लेखों पर काम सुनियोजित ढंग से कर सकते हैं।
सदस्यों को "जानकारीपूर्ण व पूर्णतः हिंदी में" लेख लिखने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। ऐसा करने पर ही उन्हें अन्यान्य सम्मानों से नवाजा़ जाना चाहिए। इससे लोग जानकारी भरे पूर्णरूपेण हिंदी के लेख लिखने को प्रेरित होंगे, चाहे वे अनूदित हों या मौलिक, संदर्भों सहित। पुराने लेख सुधार के लाल या नारंगी या नीले तमगों को हरे में बदलने वाले सदस्यों को साधुवाद देना चाहिए।
हर सप्ताह, लाल, नारंगी, नीले व हरे लेखों की संख्याएँ व प्रतिशत प्रकाशित करने चाहिए। यह हमारे अपने गुणवत्ता के मानक होंगे। जब हमें विश्वास होगा कि हमारी गुणवत्ता सही स्तर पर है, तभी हम दूसरों के पास जाएँगे। अर्थात हमारे मानक औरों से ऊँचे होंगे। हमें 'कम से कम' के बारे में सोचना छोड़ना होगा।
हमारे सामने एक ही सवाल होना चाहिए - हम जो कर रहे हैं उससे पाठक को कुछ काम की जानकारी मिलेगी? -- आलोक १४:३३, ७ सितंबर २००९ (UTC)

जैसा कि मितुल ने पहले भी लिखा है हिंदी विकि अंग्रेजी पर "नहीं है तो नहीं है। उससे हमें क्यों फर्क होना चाहिए? हिन्दी विकिपीडिया के सदस्य काफी मेहनत से इसे निरंतर सुधारने और नए लेख जोड़्ने का काम कर रहे है। इस प्रकार का काम करते रहे और सही लोगो को बताएगे तो अंग्रेजी विकि के मुखपृष्ठ पर हिन्दी की भी कड़ी जुड़ जाएगी।"

इससे हमारी ५०,००० की दौड़ पर फ़र्क नहीं पढ़ना चाहिए। जो सदस्य अच्छे या बड़े लेख बना सकते हैं वे तैयार रहें और १४ के बाद उन्हें जोड़ना शुरू कर दें। जो लक्ष्य हमने हिंदी दिवस के लिए बनाया है वह पूरा होना चाहिए। फिर अगला लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए। अंग्रेज़ी वार्ता के अनुसार हम अपने लक्ष्य बदलते रहे तब तो कहीं नहीं पहुँचेंगे। लेख बड़े होने चाहिए यह अच्छी बात है लेकिन इसके लिए नए लेख न बनें या गाँवों से स्टब न जुड़ें यह तो ठीक नहीं है।--Munita Prasadवार्ता १४:४५, ७ सितंबर २००९ (UTC)

  • अंग्रेज़ी विकि ने जो लक्ष्य अपने लिए बनाए हैं वे ठीक हैं। यहाँ सबको पता चल गए वह भी अच्छी बात है। अब हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि इंगलिश विकि में प्रकाशित होना हमारा लक्ष्य नहीं है।
  • बड़े लेख नहीं हैं तो छोटे लेख (या स्टब) भी न बनाए जाएँ यह कोई तर्क की बात नहीं है। जो लोग बड़े लेख लिख सकते हैं वे लिखते ही है। अभी हम १४ सितंबर तक एक लक्ष्य की प्राप्ति की ओर बढ़ रहे हैं इसको बिना किसी बाधा के पूरा होना ही चाहिए। मैं मुनिता की इस बात से पूरी तरह सहमत हूँ कि दूसरी वार्ताओं के आधार पर हम लक्ष्य बदलते रहे तो कहीं नहीं पहुँचेंगे।--मुक्ता पाठक १५:१४, ७ सितंबर २००९ (UTC)
लगता है अंग्रेज़ी विकि की चर्चा से यहाँ सब भावुक, निराश और उत्तेजित हो उठे हैं। जिसकी कोई ज़रूरत नहीं है। हम हिंदी दिवस तक एक लक्ष्य लेकर बढ़ रहे हैं। उसको पूरा करना चाहिए। इसके बाद वार्ता पृष्ठों को बॉट से सही करना चाहिए। जो लोग सही हिंदी लिख सकते हैं उन्हें लेखों का विस्तार करना चाहिए। हमारे छोटे छोटे गाँवों में भी सभ्यता और संस्कृति की अमूल्य निधियाँ छुपी हैं- उनका खान-पान, उनका संगीत, उनका हस्तशिल्प आदि। विकि के पृष्ठों पर वह सब उजागर होना चाहिए। मैं समझती हूँ कि ग्राणीण बॉट से गाँवों के लेख बनाना महत्त्वपूर्ण है उसे रोकना नहीं चाहिए। मैं भी इस बात का समर्थन करती हूँ कि दूसरी भाषाओं की चर्चाओं के आधार पर हम लक्ष्य बदलते रहे तो कहीं नहीं पहुँचेंगे। अंग्रेज़ी के मुखपृष्ठ पर होना महत्त्वपूर्ण नहीं है। महत्त्वपूर्ण यह है कि हिंदी विकि में लेख कितने हैं, गहराई कितनी है और अच्छे लेख कितने हैं। इसी क्रम में, क्यों कि अच्छे लेख बहुत ज्यादा होना आसान नहीं है।--सुरुचि १५:३९, ७ सितंबर २००९ (UTC)
निसंदेह हमारा लक्ष्य अंग्रेजी विकि पर प्रकाशीत होना नही है। पर इसका यह मतलब नही है की हम गुणवत्ता को ताक पर रख सिर्फ़ लेख संख्या बड़ाने पर लगे रहे। हर २-३ महीने मे हम लोग लेख संख्या बढ़ाने के लिये एक मुहिम छेड़ देते है और फ़िर अंधाधुंध लेख बनने लगते है। और हम लोग तुलना भी किस से करते है नेपाल भाषा या फ़िर ऐसे की कोइ ३-४ लाख लोगो द्वारा बोली जाने वाली भाषा से। हिंदी का इतिहास और प्रभुत्व इन भाषाओ के सामने अतुल्य है। फ़िर प्रतियोगीता कैसी। मैने कई नये सदस्यो के सदस्य पृष्ठ देखे है, कई लोगो का हिंदी विकि पर आने का कारण सिर्फ़ और सिर्फ़ अच्छे बने लेखो से आकृष्त होना ही है। हम लोगो को इतने छोटे लक्ष्य नही रखने चाहिये। सोचो तो बड़ा सोचो। क्यो न हम यह लक्ष रखे की एक साल के अंदर पुरे भारतीय इतिहास पर हिंदी विकि पर कम से कम ५ वाक्यो के लेख होंगे। क्यो न हम यह लक्ष रखे की अंतर जाल पर हिंदी विकि ही सुचना का एकमात्र विश्वशनीय साधन हो। मैने अपने स्नातकोत्तर शोध के समय अंग्रेजी विकि की अत्याधिक मदद ली थी। क्या ऐसा कोई हिंदी विकि के बारे मे बोल सकता है। मेरा मन शुब्ध है और अब मै लेखो की होड़ मे नही रहूँगा। हिंदी विकि पर करने के लिये बहुत कुछ है। सर्वप्रथम तो मै भारत लेख को ही सुधारना चाहूँगा जो आज तक अपेक्षित पड़ा हुआ है। विकि एक स्वतंत्र माध्यम है। जिस को लगता है की हिंदी दिवस पर हम अपनी मातृभाषा को ३०,००० एक पंक्ती लेख उपहार मे देना चाहे उन लोगो का स्वागत है। मुझे इस होड़ से बाहर रह कर ही प्रसन्नता होगी। धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश १६:१६, ७ सितंबर २००९ (UTC)

कहते हैं ज्यादा खाने से बच्चे लम्बे-चौड़े हो जाते हैं, पर उससे बुद्धि बड़ी नहीं होती। पर बड़ा है तो बेहतर है, यह भी एक सच है। मेरे मिश्रित विचार कुछ इस तरह से हैं -

  1. कुछ महीनों पहले तक हमारे सदस्यों ने विकि पर बहुत अच्छा काम किया है, और इसके कारण कई शुद्ध लेख आए हैं, ये अंग्रेजी विकि वाले नहीं है, बल्कि हिन्दी विकि वाले हैं। अतः गुणवत्ता कम होने का तो सवाल ही नहीं होता।
  2. हिन्दी विकि पर इतना काम करने का आखिर हमारा मूल उद्देश्य क्या है? हिन्दी को (मुख्यतः पढे-लिखे लोगों में) बढावा देना। जैसे एक व्यक्ति के विकास के कई पहलू होते हैं, उसी तरह हमारे हिन्दी विकि के भी हैं। कभी प्रबंधन, कभी तेज गति से लेख बनाना, कभी पुराने लेखों को सुधारना, कभी बस आराम करना। करें जो भी, पर करना जरूरी है।
  3. हालाँकि हिन्दी तो करोड़ों लोग बोलते हैं, पर इसे ठीक करने आते सिर्फ २०० लोग ही हैं (आँकड़े देखिए)। जब तक हिन्दी विकि पर विविध प्रकार के लेख नहीं होंगे, हम इस सँख्या को नहीं बढा सकते। विकि ना ही मेरे अकेले के बस की है ना ही १०-१५ सक्रिय सदस्यों की। इसे बनाने के लिए हजारों सदस्यों का जुड़ना जरूरी है, जैसे अंग्रेजी विकि पर है।
  4. अंग्रेजी विकि पर हमारा होना-ना होना बराबर ही है। कहाँ उनपर ३,०००,००० लेख हैं तो कहाँ हम जोड़-जाड़ के ३०,००० लेख पर पहुँच पाते हैं। अगर अनुपात भी निकालें तो १०० में १ का होता है। अंग्रेजी विकि से कम्पिटीशन करना व्यर्थ है। ना ही वह हमारा उद्देश्य है, ना ही हमारे उड़ने की सीढी।
  5. अतः अंत में मेरी मूल बात -
    1. हिन्दी विकि के विकास की अपनी सीढी तैयार की जाए। इसके लिए चर्चा शुरू करें।
    2. हिन्दी विकि पर ज्यादा से ज्यादा भारत संबंधी लेख होने चाहिए। हमारा मुख्य उद्देश्य भारत है और भारतवासी, और यही हिन्दी के विकास में जुड़ भी सकते हैं। भूगोल की सैर होती रहेगी, पहले बंजारी टीम तो बना लें।
    3. हर तरह के लेख होना जरूरी हैं। कभी खेल, कभी इतिहास, कभी भूगोल, इत्यादि।
    4. कुछ चीजें हमारे हाथ से परे हैं। जैसे भारत के हर कम्प्यूटर पर हिन्दी यूनीकोड इन्स्टौल करना, या फिर गूगल परिणामों में हिन्दी के उत्तरों को भी दिखाना (for english search, like search for "bharat" and it returns for भारत) etc etc. अतः ज्यादा आशावादी ना हों।
    5. अगर संभल के और बुद्धिमानी से काम किया जाए, तो हम वाकई सफलता प्राप्त कर सकते हैं। और हम करेंगे।

-- सौरभ भारती (वार्ता) १६:२६, ७ सितंबर २००९ (UTC)

अंततः

इस वार्ता को देखकर अति प्रसन्नता हुई, कि किस प्रकार सभी सक्रिय सदस्यों ने अपनी अपनी राय, लक्ष्य, सुझाव आदि रखे। यदि इन मुट्ठी-भर लोगों को भी हिन्दी विकि की इतनी चिंता है, तो भी हम पांडव बनकर १०० कौरवों का मुकाबला कर ही लेंगे, बस आवश्यक है तो एक श्रीकृष्ण रूपी निष्ठा और विश्वास की। यहां मैं अपने निजी मत से उपरोक्त गुंजन, अनुनाद और आलोक जी के विचारों की प्रशंसा करूंगा। मैंने ये तो कहीं नहीं लिखा है, कि हमें गांवों के लेख नहीं बनाने चाहियें। बल्कि इस दिशा में ग्रामीणबॉट योगदान में गांवों के लेख ज्ञानसन्दूक सहित उल्लेखनीय हैं। इनमें भले ही आधार लगाया हुआ हो, किंतु ये उन एक-वाक्य लेखों से कहीं बेहतर हैं, जो केवल ये बतायें कि अमुक एक गांव है। ज्ञानसन्दूक एक मानचित्र दिखाता है, प्रदेश , जिले, भाषाएं, जालस्थल आदि अनेक जानकारियां देता है। ये सब यदि भाषा रूप में लिखी जातीं तो अवश्य एक अनुच्छेद बन पाता। इस प्रकार से ये महत्त्वपूर्ण सूचना रूप है।

साथ ही अपना लक्ष्य छोड़ने को तो किसी ने नहीं कहा है, किंतु यदि निर्धारित लक्ष्य किसी काम का न रहा हो, तो उसके पीछे आंखें बंद कर दौड़ने का कोई अर्थ नहीं रह जाता है। इससे कहीं बेहतर होगा, कि हम छोटे लेखों को सुधारें। इनके अलावा श्रेणी:आधार, आदि को सुधारें। हमें भाषा का अवश्य ध्यान रखना चाहिये, किंतु यदि कोई ५ वाक्यों के हिन्दी लेख बनाये, जिसमें ५ छोटी वर्तनी दोष या अन्य छोटी गलतियां करे, तो भी वह लेख शायद एक वाक्य के "यह एक गांव है।" लेख से कहीं बेहतर होगा। और अंत में मितुल जी की बात विशेष ध्यान योग्य है, कि हमारा लक्ष्य अंग्रेज़ी विकि में आना मात्र नहीं होना चाहिये। अतएव यदि हम ५ वाक्यों के लेख या सांचे सहित बना पायें (यानि एक निश्चित न्यूनतम अर्हता तय करें) तो ठीक है, वर्ना अच्छे लेख और अन्य सृजनात्मक कार्यों में ध्यान दें। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:१७, ८ सितंबर २००९ (UTC)

इतनी महत्त्वपूर्ण चर्चा साँचा:विकिप्रगति में प्रतिबिंबित नहीं हुई? जबकि वह साँचा है ही इसी प्रकार की सूचनाओं के लिए। खैर...। मैं स्वयं गुणवत्ता विषयक कुछ सुझाव देना चाहता था। (यह रैंडम टैस्ट मैं खुद कई बार कर चुका था और सचमुच निराशा हाथ लगी थी।) परंतु आप सभी का जोश देखकर 14 सितंबर से पहले कुछ कहने की हिम्मत नहीं हो रही थी, क्योंकि जोश के आगे नतमस्तक था/हूँ। उपर्युक्त चर्चा को पूरा पढ़ने का समय नहीं निकाल पाया हूँ (पर पढ़ूँगा जरूर)। परन्तु ऊपर दो बातें बहुत महत्त्वपूर्ण कही गयी हैं- एक, हिन्दी विकि को अपनी स्वयं की वैकासिक सीढ़ी बनानी चाहिए। दो, इस पर व्यापक चर्चा की जानी चाहिए। मेरी ओर से शेष बातें बाद में। धन्यवाद। -Hemant wikikosh ०५:११, ९ सितंबर २००९ (UTC)