विकिपीडिया:चौपाल/पुरालेख 9

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Archive
पुरालेख

यह पृष्ठ विकिपीडिया चौपाल की वार्ताओं का पुरालेख पृष्ठ है। नवीनतम वार्ताओं के लिए देखें विकिपीडिया:चौपाल

अनुक्रम

साँचा:ज्ञानसन्दूक देश या Infobox Country मे गलतियां

संबंधित व्यक्ति से अनुरोध है कि कृपया साँचा:ज्ञानसन्दूक देश या Infobox Country से निम्न गलतियां दुरुस्त करें: -

  • सरकार वाले खाने मे नेता का नाम, उसका पद, सरकार का प्रकार आदि।
  • स्वतंत्रता तिथि नहीं आती
  • क्षेत्रफल के परिणाम नहीं आते
  • सकल घरेलू उत्पाद मे अनुमान की जगह estimate
  • और भी कई गलतियां देश के हिसाब से दिखती हैं

--Dinesh smita 08:26, 5 अप्रैल 2009 (UTC)

बधाई

हम जार्जिया की भाषा कॉकेशस से आगे निकल कर ४८वें स्थान पर पहुँच चुके हैं।--पूर्णिमा वर्मन ०४:५५, ५ अप्रैल २००९ (UTC)

भाषाविज्ञान में छद्मविज्ञान (pseudoscience)

मैं हिन्दी भाषाएँ-संबंधी लेखों में लिखने में उत्सुक था परन्तु मैंने देखा कि ऐसे कई लेखों में काफ़ी लोक-बकवास है । जैसे कि, देवनागरी की वैज्ञानिकता शीर्षित लेख का क्या मतलब है । यह एक वस्तुनिष्ठ, वैज्ञानिक ज्ञानकोष है, कोई लोक-गाथाओं का संग्रह नहीं । केवल इसी लेख की बात नहीं है, एक और उदाहरण देखिए- बिहारी भाषा ।"बिहारी असल में किसी भाषा का नाम नहीं है और न तो किसी भाषाई परिवार के नाम के तौर पर प्रयोग किया जाता है।", ऐसा कथन और उसके ठीक बाद यही बताया जा रहा है कि तरह ग्रियर्सन ने इन भाषाओं को एक अलग समूह से जाना है ।
मैं भाषा विज्ञान में रुचि रखने वाले लोगों से प्रार्थना करूंगा कि खासकर हिन्दी प्रदेशों की मूल भाषाओं के लेखों को व्यवस्थित करने में सहयोग दें । Maquahuitl १४:३०, २१ मार्च २००९ (UTC)

थोक में पृष्ठों का अपलोड

[1] मुझे विकिस्रोत में महाभारत के करीब 1500 पृष्ठ अपलोड करने हैं। एक-एक पेज करने में तो बहुत समय और प्रयास लग जाएँगे। ये बल्क अपलोड विकल्प क्या है और इसके लिए मैं कैसे आवेदन कर सकता हूँ?-रावत १६:०५, २२ दिसम्बर २००८ (UTC)

नव वर्ष अभिनंदन

२००९ में हिन्दी विकिपीडिया के सभी सदस्यों और प्रबंधकों का अभिनंदन! नया साल आप सबके जीवन में हर प्रकार की समृद्धि लाए जिससे हम सब विकिपीडिया के लिए समय निकाल सकें और इसको नई ऊँचाइयों तक पहुँचा सकें।

  • इस समय हिन्दी विकिपीडिया विश्व के २६४ भाषाओं के विकिपीडियाओं में ५२वें स्थान पर है और इसमें २४,३३४ लेख हैं। हिन्दी विकिपीडिया का प्रारंभ २००३ में हुआ था पर २००६ तक इसकी गति बहुत धीमी रही। इसमें ५००० से कम लेख थे और यह १०१वें स्थान पर था। पिछले २ सालों में हिन्दी विकि की गति में तेज़ी आई है। बहुत ही अच्छा हो अगर हम इस साल कुल लेखों की संख्या एक लाख तक पहुँचा दें। लेकिन इस बात का ध्यान भी रखें कि कोई भी लेख १०० शब्दों से कम का न हो ताकि विकि की गहराई पर असर न पड़े।
  • पहली तारीख को एक नया लेख निर्वाचित होना था लेकिन ऐसा हो नहीं सका। इसके लिए एक सुझाव है क्यों न हम सब मिलकर नया साल लेख पर काम शुरू करें। यह एक आसान विषय है और हर एक के पास इससे संबंधित सामग्री मिल जाएगी। वह सब सामग्री इस लेख में डालना शुरू करें इसके संवाद पृष्ठ पर अपने अपने विचार रखें और पूरे प्रयत्नो के साथ १५ जनवरी तक इसको निर्वाचित लेख बना दें।
  • हमें जीवाणु, प्रकाश संश्लेषण तथा जीनोम परियोजना लेख के संपादन के लिए भी ऐसे लोगों की आवश्यकता है जिन्होंने विज्ञान हिन्दी में पढ़ा हो या जिनकी हिन्दी अच्छी हो और हिन्दी में वैज्ञानिक लेखों का संपादन कर सकें। यदि आप यह कार्य कर सकते हैं तो कृपया यहाँ अपना नाम लिखें और इन लेखों को श्रेष्ठ बनाने में मदद करें, ताकि इन्हें निर्वाचित स्तर तक पहुँचाया जा सके।
  • एक और सुझाव है। मुखपृष्ठ पर अन्य संस्करणों में के स्थान पर आज का आलेख नामक एक नया स्तंभ शुरू किया जाय, जिसमें प्रतिदिन कोई ऐसा लेख प्रदर्शित करें जिसमें २०० से ५०० शब्द हों, एक चित्र हो और २-३ संदर्भ हों। इससे विकी शैली के छोटे लेख बनाने में मदद मिलेगी। नए सदस्यों को सीखने का अवसर मिलेगा कि विकि के लेख कैसे होने चाहिए। वर्तमान में ऐसे लेख के कुछ आदर्श उदाहरण बिच्छू, दीपक, मैं बोरिशाइल्ला, हम्पी आदि हैं। जिन सदस्यों के १० ऐसे लेख मुखपृष्ठ पर प्रदर्शित होंगे उन्हें विकिपीडिया के प्रतिष्ठित सम्मान बार्न स्टार से अलंकृत किया जाएगा। पहले से प्रदर्शित छोटे लेखों को भी इस श्रेणी के अंतर्गत विकसित किया जा सकता है।

--पूर्णिमा वर्मन ०६:४०, १ जनवरी २००९ (UTC)

समर्थन --Munita Prasadवार्ता १२:३३, ६ जनवरी २००९ (UTC)

पूर्णिमा वर्मन जी के उपरोक्त कथन का मै पूर्ण समर्थन करता हूँ । जैसे ही मुझे अपने शोध से थोडी भी फुर्सत मिलती है मै भी इस प्रक्रिया मै सक्रिय होने का प्रयत्न करुंगा । इसी प्रकार की सकारात्मक प्रतियोगी निति अपनाकर एक दिन हम हिन्दी विकिपीडिया को समस्त विकिपीडिया की सूची में पहले स्थान पर ले आएंगे --राजीवमास ०५:५३, १५ जनवरी २००९ (UTC)

पूर्ण समर्थन

मैं हालांकि आजकल कुछ कारणों से यहां समय नहीं दे पा रहा हूं। फिर भी ये सुझाव काफी प्रायोगिक एवं प्रगतिवर्धक लगे। मेरा पूर्ण समर्थन तो है ही,साथ ही जल्द ही सहयोग भी दूंगा। नया साल का आशय मेरी समझ में पहले तो आया नहीं था, किंतु लेख देख कर स्पष्ट हो गया है।--आशीष भटनागरसंदेश १६:०१, १७ जनवरी २००९ (UTC) मेरी ओर से विकिपीडिया के सभी सदस्यो गणतन्त्र दिवास कि हार्दिक शुभकामना (कपाली,भोपाल से)

विकिपीडिया:प्रवेशद्वार

क्या प्रवेशद्वारों को मुखपृष्ठ पर कोई स्थान दिया जा सकता है, चाहे किसी कड़ी के रूप में ही सही। --आशीष भटनागरसंदेश ०१:२८, २५ जनवरी २००९ (UTC)
सबसे पहले तो आपको स्वागत। और बधाई सम्मान मिलने की। मुझे लगता है कि मुखपृष्ठ पर विश्वज्ञानकोष के अन्तर्गत जो लिंक हैं, उनको श्रेणियों को प्रेषित न कर के प्रवेशद्वार को ही प्रेषित करना चाहिए। हां इसके लिए उसका प्रवेशद्वार पहले से होना चाहिए। बिना बने उनको प्रेषित करने से लिंक लाल होंगे जो किसी काम के नही होंगे। आशीष जी मैंने कुछ प्रेषित किए हैं शायद आपने देखा न हो, जैसे भूगोल, हिन्दू धर्म, इस्लाम धर्म। --Munita Prasadवार्ता ०२:३७, २५ जनवरी २००९ (UTC)

मुनिता का सुझाव सही हैं। आशीष, ऐसे कौन से प्रवेशद्वार है जिन्हे आप मुखपृष्ठ पर दिखाना चाहते हैं? --मितुल १५:४९, ३० जनवरी २००९ (UTC)
मैं यही चाहता था, जो कि मुनिता जी ने भी कहा है। और रही बात श्रेणियों को स्थान देने की तो यदि कोई किसी प्रवेशद्वार में जाता भी है, तो वहां उसे पर्याप्त श्रेणियां मिल ही जाएंगीं। साथ ही यह भी कि मैंने कतारबद्ध होकर कई सारे प्रवेशद्वार बनाने आरंभ किया हूँ, जिससे कि उपरोक्त कार्य को अंजाम दिया जा सके। साथ ही एक प्रवेशद्वार के २०-२५ साथी लेख होते हैं, जो कि सामान्य लेख ना होकर सहायक होते हैं। ये लेख हिन्दी विकि की गिनती साधारण रूप से ही ना बढ़ाकर गहरायी के साथ बढ़ाते हैं। साथ ही हिन्दी विकी में जहां प्रवेशद्वारों का अभाव है, वह भी पूरा हो जाएगा। तो इस प्रकार हमें तिहरा फायदा होगा|--आशीष भटनागरसंदेश १७:१७, १ फरवरी २००९ (UTC)

केरल लेख एवं प्रवेशद्वार

केरल पर लेख एवं प्रवेशद्वार तैयार हैं। लेख एकदम नई लुक देता है केरल को, जिसके साथ ढेरों सहायक लेख भी हैं। देखें व राय/सुझाव/कमियां बताएं। साथ ही महाराष्ट्र प्रवेशद्वार भी अग्रसर है। इस सप्ताह का लक्ष्य पूर्ण हुआ।--आशीष भटनागरसंदेश १८:३०, २ फरवरी २००९ (UTC)

केरल का प्रवेशद्वार मुझे अच्छा लगा। आशीष, इसे बनाने के लिए बधाई। --मितुल १६:४५, ४ फरवरी २००९ (UTC)
सुन्दर । बधाई स्वीकारें --राजीवमास ०९:०८, ५ फरवरी २००९ (UTC)

बधाई

सभी सदस्यों और प्रबन्धकों को बधाई जिनके निरंतर प्रयत्नों से हिन्दी विकिपीडिया में लेखों की संख्या २५,००० के ऊपर पहुँची। इसके साथ ही हम गहराई में भी ८ तक पहुँचे हैं। हमारा अगला लक्ष्य इस माह (फरवरी २००९) के अंत तक २७,५०० तक पहुँचने का होना चाहिए। यदि १० सदस्य प्रतिदिन १० लेख बनाएँ तो हम आसानी से माह के अंत तक यह लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। --पूर्णिमा वर्मन १६:२५, ४ फरवरी २००९ (UTC)

हिन्दी विकिपीडिया से जुड़े सभी योगदानकर्ताओं को ढेर सारी बधाई। गहराई का ८ तक पहूँचना एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हैं। लेखों की संख्या के साथ-साथ इस बात का भी ख्याल रखना होगा कि जो लोग विकिपीडिया का उपयोग करते है, लेखों को पढ़ने के लिए उन्हे भी विकिपीडिया पर समय गुज़ारने का आनंद आए। कोशिश रहे कि लेख ज्यादा से ज्यादा अन्य लेखो से जुड़े, अन्तर्विकि कड़ियों, श्रेणियों आदि के द्वारा और ज्यादा से ज्यादा चित्र हो तो अच्छा रहेगा। सभी योगदानकर्ताओं को एक बार फिर से बधाई। --मितुल १६:४१, ४ फरवरी २००९ (UTC)

हम सभी को बधाई। हमें उनलोगों को भी याद रखना चाहिए जिन्होंने हिन्दी विकि को शूरूवात से पाल-पोष कर बड़ा किया तब जाकर हम इस ऊँचाई पर पहुँचे हैं। पूर्णिमा जी का यह वक्तव्य हम सभी को प्रेरणा दे रहा है कि हम सभी यह संकल्प लें कि रोज कम से कम 10 लेख अवश्य बनाएँ। मैं कमसे कम ऐसा प्रयास जरूर करूंगी। अगर किसी दिन ऐसा नहीं हो पाए तो अगले दिन उसकी भरपाई की कोशिस करूंगी। हां और एक बात आज का आलेख सफल हो ऐसी मेरी कामना है। सभी को एक बाल फिर बधाई।--Munita Prasadवार्ता ०५:०१, ५ फरवरी २००९ (UTC)

मै लौट आया हूँ

कई मास की निष्क्रियता के बाद मुझे समय मिल गया है , जरा भारत के राष्ट्रपति श्रेणी की दशा देखिये यहाँ साँचा,संदूक गायब है इस श्रेणी पे मै अंग्रजी विकी के लेखो का अनुवाद कर के डालने वाला हूँ क्रप्या सांचा ,संदूक बना दे शंकरदयाल शर्मा वाला लेख देखे --[[अभिमन्यु]]</b><sup>[[सदस्य वार्ता:Abhimanyu.singhyadav|संदेश</font>]]</sup> ०६:३७, ५ फरवरी २००९ (UTC)

स्वागत हैं । भटनागर जी से सम्पर्क करें, ने इस विषय में सहायता देंगे ।--राजीवमास ०८:४२, ५ फरवरी २००९ (UTC)
स्वागत --मितुल १४:५०, ५ फरवरी २००९ (UTC)

ये भेदभाव या विसंगति क्यों?

श्रेणी निर्माण एक उलझी हुई प्रक्रिया है ,इसमे भेदभाव तथा विसंगति साफ़ नजर आती है ,जब कोई सवाल इसपे उठाता हूँ तो कोई जवाब नही आता ,ज़रा भारत के विश्वविद्यालय श्रेणी को ही लीजिये, कोई प्रबंधक महोदय उत्तर प्रदेश के विश्वविद्यालय के नाम से एक उपश्रेणी बना देते है लेकिन भारत के अन्य राज्यों मसलन तमिलनाडु या केरल हेतु कोई उप श्रेणी क्यों नही बना दी गयी ? मैंने कई बार ख़ुद कोशिस की उपश्रेणी निर्माण की लेकिन मुझे नही आती ,क्या कोई मुझे सीखा देगा --[[अभिमन्यु]]</b><sup>[[सदस्य वार्ता:Abhimanyu.singhyadav|संदेश</font>]]</sup> ०६:३७, ५ फरवरी २००९ (UTC)

उत्तर दिया गया --राजीवमास ०८:३३, ५ फरवरी २००९ (UTC)

ग़लत श्रेणी मिटाते क्यों नही ?

क्या सही है भारत के राष्ट्रपती या भारत के राष्ट्रपति ? आप उत्तर जानते है ,लेकिन देखिये इन दोनों के लिए इस समय श्रेणी मौजूद है !क्या यह व्यर्थ में विस्तार पैदा नही करता जबकि कई वाँछित जगह पर श्रेणी या उपश्रेणी नही है ? --[[अभिमन्यु]]</b><sup>[[सदस्य वार्ता:Abhimanyu.singhyadav|संदेश</font>]]</sup> ०६:५०, ५ फरवरी २००९ (UTC)

ध्यान दिलाने लिए शुक्रिया। श्रेणी ठीक कर दी गई है --राजीवमास ०८:३५, ५ फरवरी २००९ (UTC)

--मितुल ०५:४७, १० फरवरी २००९ (UTC)

लेखों की संख्या

इस समय हिन्दी विकि में लेखों की संख्या अपने निकटतम Lëtzebuergesch भाषा के विकि से लगभग १००० लेख पीछे है। हमें इस प्रकार काम करना चाहिए कि हर रोज़ कुल १०० नए लेख बनें ताकि हम १० दिन में इसको पार कर लें। अनेक नगरों, जिलों व्यक्तियों आदि पर लेख अभी हिन्दी में नहीं है इस दिशा में काम किया जा सकता है।--पूर्णिमा वर्मन १६:०५, ७ फरवरी २००९ (UTC)

यह संख्या तो इस हफ्ते की गति देखते हुए, जल्दी ही पार हो जाएगी। नगरों व शहरों के लेख तो मैं बना ही रहा था। जरा यह प्रवेशद्वारों से निबटूं। आशा है, जल्दी ही भारत के प्रत्येक राज्य का एक प्रवेशद्वार होगा। इसके बाद कुछ एक विशेशः प्रवेशद्वार बना कर शहरों को जारी रखूंगा। --आशीष भटनागरसंदेश १७:२६, ७ फरवरी २००९ (UTC)
लेखों की गिनती ही नहीं बढ़ानी, वरन उनकी गुणवत्ता भी बनाए रखनी है इसलिए बने हुए लेखों को भी सुधारना आवश्यक है। और इस दिशा में मै काम करूंगी।--Munita Prasadवार्ता १७:३१, ७ फरवरी २००९ (UTC)
बधाई कि हम Lëtzebuergesch भाषा से आगे निकल चुके हैं। पर इस दूरी को बनाए रखने के लिए निरंतर काम करना होगा। अगली भाषा Bosanski से केवल 200 लेख पीछे हैं। अगर इस समय हम निरंतर लगे रहे तो इसको पार करना काफ़ी आसान होगा।
लोकसभा चुनाव काफी नज़दीक हैं। इस विषय पर अगर हिन्दी विकिपीडिया पर काफी जानकारी हो तो न केवल लेखों की संख्या मे वृद्धी होगी, हिन्दी विकिपीडिया की तरफ और भी लोगो का ध्यान आकर्षित होगा। हाँ, लेखों की गुणवत्ता पर ध्यान हमेशा ही देना होगा। खाली संख्या बढाने मे ज्यादा मज़ा नही हैं।--मितुल ०५:४७, १० फरवरी २००९ (UTC)

परियोजना

विकिपीडिया परियोजना
यह विकिपीडिया:परियोजना में क्या होता है? क्या किसी खास कार्य या उद्देश्य या लक्ष्य वस्तु की ओर किए गए कार्यों (लेखों+साँचों इत्यादि) को बनाने को ही परियोजना कहते हैं? यदि ऐसा है, तो मैंने भारतीय राज्यों के १५-१६ प्रवेशद्वार बनाए हैं। उनसे संबंधित साँचे व लेख उद्धृतिकरण भी किए हैं। साथ ही रास्ते में मिलते हुए कई लेखों को सुधारा, श्रेणियां खोजीं व लगाईं हैं। तो क्या इसे परियोजना प्रवेशद्वार या परियोजना भारतीय राज्य या परियोजना भारतीय प्रवेशद्वार के अन्तर्गत मानकर ऐसी कोई परियोजना चलाई जा सकती है? प्रबंधकगण कृपया ध्यान दें, उत्तर दें व टिप्पणी करें। साथ ही आवश्यक प्रयोजन भी करें।इसके साथ ही यदि कोई सुझाव या कमी/गलतियां हों तो अवश्य बताएं।
आभारी--आशीष भटनागरसंदेश ०६:५४, १२ फरवरी २००९ (UTC)
People icon.svg


विकिपरियोजना किसी भी एक विषय या क्षेत्र के लेखौं का निर्माण करना, गुणवत्ता बढाना, लेखौं के गुणवत्ता को आंकलन कर विभिन्न ग्रेड में विभक्त करना एवं सामुहिक प्रकार से किसी लेख पर काम कर उस लेख को निर्वाचित लेख तक पहुंचाना (स्टब --> छोटा लेख-->लम्बा लेख-->अच्छा लेख-->निर्वाचित लेख) आदि से संबन्धित एक सहकारी कार्य है। अगर आप किसी भी एक विषय में ज्यादा काम कर रहें हो तो उसे विकिपरियोजना के तहत कार्य कर सकते है। साधारण रुप में विकिपरियोजना एक से ज्यादा सदस्य एक विषय पर मिलकर काम करने के लिए निर्माण क‍रते है। उदाहरण के लिए- हिंदी विकि में पहले बहुत आइ पि एड्रेस वाले सदस्य इतिहास से संबन्धित बहुत सारे एक वाक्य से भी छोटा लेख निर्माण करते थे। उस समय में इन लेखौं को सुधारने, श्रेणीगत करने आदि कार्य के निमित्त सबसे पहला विकिपरियोजना, विकिपरियोजना इतिहास, का निर्माण हम लोगों ने किया था। हिंदी विकि पर विश्व के अन्य प्रमुख भाषायी विकिपीडिया के तुलना में बहुत कम सदस्यौं का योगदान रहता है। अतः, विकिपरियोजना का प्रयोजन यहाँ पर कम होता है। अगर चिनिया, जर्मन, फ्रेञ्च, इस्पान्योल, जापानी आदि विकिपीडिया की तरह यहाँ पर भी किसी समय में १०० से भी ज्यादा एक्टिभ सदस्य हों तो विकिपरियोजना का ज्यादा प्रयोजन होना निश्चित है। धन्यवाद।--युकेश १६:५०, १९ फरवरी २००९ (UTC)
इस के बारे में कुछ जानकारी विकिपीडिया:विकिपरियोजना पर दिया हुआ है। --युकेश १६:५२, १९ फरवरी २००९ (UTC)
धन्यवाद युकेश जी! आपने बहुत ही विस्तृत उत्तर दिया। समझ में आ गया। असल में मैं आजकल भारत के राज्यों के प्रवॆशद्वार बना रहा हूं। ४-५ को छोड़कर सभी बन गए हैं। तो क्या ये किसी परियोजना के अन्तर्गत आ सकतॆ हैं? परियोजना प्रवेशद्वार, या भारत के राज्य, इत्यादि, वैसे मैंने प्रवॆशद्वार ताजमहल, रंग व धर्मो के भी बनाए हैं। उन प्रवॆशद्वारों के लिए कई सांचे भी बनाए हैं, जो कि द्वारों को बनाने का कार्य सरल कर देते हैं, जैसे कि ब्राउज़बार १,२,३ और साइंस। इस बारए में कुछ बताएं, कि किया हम कोई परियोजना आरंभ कर सकते हैं, इनसे संबंधित। यह इन प्रवॆशद्वारों के लिए भी उत्तम होगा, क्योंकि इनमें एक सन्दूक विकिपरियोजना से संबंधित भी है।--आशीष भटनागरसंदेश १७:२२, १९ फरवरी २००९ (UTC)
मेरे विचार में इन विषयौं को परियोजनाकृत करना उचित होगा। परियोजना के रुप में कार्य करने से भविष्य में इन विषयौं पर काम करना सरल होगा। भविष्य में इस विकिपीडिया पर ज्यादा सदस्यौं का आना निश्चित है। अगर हम लेखौं को अर्गेनाइज्ड रुप से आगे बढाएंगे तो सभी सदस्यौं को काम करने में सहजता हो सकेगा। धन्यवाद। --युकेश ०९:४८, २१ फरवरी २००९ (UTC)

नाम क्या रखू

मै फोक्स टेल मिलेट पे लेख लिखना चाहता हू किन्तु इस्का हिन्दी नाम नही पता तो इसे किस नाम से लिखू?--अभिमन्युसंदेश ११:४०, १२ फरवरी २००९ (UTC)


°== problam ==आप मक्का के नाम कि जगह मकई नाम रख सकते हे मक्का पे कैसे लिखू? इस नाम से एक शहर भी अहि और अनाज भी मेरा आलेख अनाज पे है जबकि शहर पे आलेख पहले से है इस दशा में क्या करू ? --abhimanyu १२:१८, १३ फरवरी २००९ (UTC)

domain

वनस्पति विज्ञान मे एक शब्द होता है, डोमेन (domain) जिसका अर्थ होता है वह श्रेणी जिसमे कई जगत शामिल हों, कृपया यदि किसी को इस शब्द का हिन्दी पर्याय पता हो तो यहां उसे साझा करें। --दिनेश-स्मिता

दिनेश-स्मिता जी, domain के लिए मैंने डॉ॰ हरदेव बाहरी द्वारा संपादित अँग्रेज़ी हिन्दी पारिभाषिक शब्दकोश देखा। उसमें डोमेन की हिन्दी दी गई है- अधिकार क्षेत्र, प्रभाव क्षेत्र, अनुक्षेत्र और क्षेत्र। डॉ॰ कामिल बुल्के के शब्दकोश में भी अधिकार क्षेत्र, प्रभाव क्षेत्र, और क्षेत्र शब्दों का प्रयोग हुआ है। हम इनमें से कोई शब्द चुन सकते हैं। यह सही है कि कोई न कोई शब्द हिन्दी में वनस्पति विज्ञान में पहले से प्रयोग किया जाता होगा लेकिन उसकी जानकारी तभी मिल सकेगी जब कोई ऐसा जानकार व्यक्ति हमारे साथ हो। मैं फ़िलहाल भारत में नहीं हूँ पर वहाँ पहुँचकर ज़रूर ऐसा कोई व्यक्ति ढूँढने की कोशिश करूँगी जो इस संबंध में सही सहयोग कर सके। अभी सबकी सम्मति से एक ही शब्द चुन लिया जाए और सभी स्थानों पर एक ही शब्द का प्रयोग करें तो अगर गलत है तो आसानी से बदला जा सकेगा।--पूर्णिमा वर्मन २०:२३, १६ फरवरी २००९ (UTC)

पूर्णिमा जी की बात ठीक है। मैं एक चीज जोड़ना चाहती हूँ, domain शब्द जिन अर्थों में जीव विज्ञान में प्रयोग किया जाता है उसका अर्थ सम्पूर्ण जीव जगत से है। पौधे, प्राणि, कवक, शैवाल सभी एक ही domain के अन्तर्गत पड़ते हैं। विभिन्न वैज्ञानिकों ने doamin को अपने अनुसार विभिन्न भागों में बाँटा है। वर्तमान में domain को या कहें तो सम्पूर्ण जीव जगत को पाँच जगतों में बाँटा गया है। ये हैं: मोनेरा (जीवाणु इत्यादि), प्रोटिस्टा (शैवाल इत्यादि), फंगी (कवक), प्लैंटी (पादप जगत), एनीमैलिया (प्राणि जगत)। --Munita Prasadवार्ता ०४:५७, १७ फरवरी २००९ (UTC)

एक नाम के दो लेख

मैंने तैमुरलंग नाम से एक लेख बनाया बाद में पता चला की तैमूरलंग नाम का लेख पहले से ही मोजूद हैं,दोनों के शीर्षक में वर्तनी का अन्तर है कृपया मुझे बताएं की इन दोनों लेखो को कैसे एक करू. गुन्जन वर्मा ०७:२५, १७ फरवरी २००९ (UTC)
आपकी समस्या सुलझ गई है। एक लेख में कोई पाठ नहीं था, किंतु नाम सही था, और दूसरे का नाम उतना सही नहीं था(वर्तनी)। इसलिए, एक का पाठ दूसरे में डालकर, पहले वाले को दूसरे पर पुनर्निर्देशित कर दिया है। किम्तु ऐसा उस स्थिति में ना करें, कि जब दोनों में ही पाठ मात्रा हो। तब कुछ समय सांचा:merge लगाया जाता है।फिर चर्चा कर सुधारा जाता है।--आशीष भटनागरसंदेश १६:१४, १७ फरवरी २००९ (UTC)

विकिपीडिया:लोगो,लेखन चर्चा

A Request from sanskrit language wikipedia was made at [bugzill bug no.16857] bugzill has requested that,The image should be no bigger than 135 x 155 pixels, please fix it and reopen this bug. undersigned does not have requisite skills needed for the same please some one do help by providing needful change to bugzill

Thanks and regards

Mahitgar ०७:५८, ८ फेब्रुवारी २००९ (UTC) (Copyright image from Marathi Language wikipedia is being taken for using as matches with gramatically correct Sanskrit language wording and writing system.Image was posted by user user:कौस्तुभ on Marathi Language Wikipedia & commons as authorised logo for Marathi Language Wikipedia and the same is proposed tobe used on Sanskrit Language Wikipedia )

sa:चित्रं:Wiki.png

Image is updated

समर्थन करोति Mahitgar ०९:२०, १ पौषमाघे २००९ (UTC)

Though I am not a great expert on Sanskrit, I do agree that second change to use "Sahay" instead of "upkar" makes sense. This is from my understanding of other indian languages , especially Hindi.


mr:चित्र:wiki1.png mr:चित्र:wiki3.png mr:चित्र:myWiki4.png - suggessions received so far कोल्हापुरी १३:२९, ९ फेब्रुवारी २००९ (UTC)

साँचा:WikimediaCopyrightWarning

उचित कार्यवाही करें

प्रभन्दक गण कृपया इन लेखो इन देखे एवं उचित कार्यवाही करे सदस्य:Dpmishra , सहायता:ग्रुप अधिकार | धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश १३:३३, ४ मार्च २००९ (UTC)

प्रभन्दक गण कृपया एनफ़ील्ड टाउन पृष्ठ को देखे एवं उचित कार्यवाही करें धन्यवाद् --गुंजन वर्मासंदेश ०७:५१, ९ मार्च २००९ (UTC)

होली मुबारक

होली मुबारक
सभी को होली की शुभकामनाएं, साथ ही हिन्दी के ४९वें स्थान पर पहुंचनेकी भी बधाइयां
आशीष और मुनिता की ओर से।
Indian pigments.jpg

हिंदी विकी में अंग्रेजी नाम से लेख

प्रभन्दक गण कृपया मार्गदर्शन करें . मैंने पाया है की हिंदी विकी पर कई लेखो के नाम रोमन लिपि मैं हैं एवं कुछ लेखो का नाम अंग्रेजी में है . उदहारण के लिया Advertising एवं Agrasen देखे . हालाँकि इन्हे उचित REDIRECT किया गया है पर क्या इन अंग्रेजी नामो का विकी में होना उचित है . ऐसे लेखो का क्या करना चाहिये धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश ०९:३३, ११ मार्च २००९ (UTC)
पूर्ण विराम की जगह full stop उपयोग में लाने के लिए छ्मायार्थी हूँ.

मेरे विचार से, ये लेख, मत्र नाम के लिए बनाए गए होंगे, जबकि इनके समानार्थक देवनागरी/हिन्दी नाम वाले लेख नहीं बने होंगे। इस दशा में, यदि इन्हें हटाया गया, तो कुछ या कई लेख अपनी कड़ियां, खो बैठेंगे। हां, इन्हें हिन्दी नाम पर पुनर्निर्देशित किया जा सकता है, जो कि अधिकांश पहले ही हैं। तब किसी उपकरण?टूल की सहायता से, यदि; ये कहां कहां जुड़े हैं, पता चले, तो उन उन लेखों में इनके हिन्दी नामों को डाल कर, तब इन्हें हटाया ज सकता है।--आशीष भटनागरसंदेश १०:०१, ११ मार्च २००९ (UTC)
इन लेखॊं की जाँच की गई, और पाया गया, कि ये मात्र चौपाल से ही जुड़ते हैं। अतएव इन्हें हटा दिया गया। अन्य सदस्यों के लिए निर्देश है, कि वे ऐसा यदि देखें, तो वे यहाँ क्या जुड़ता है पर जाकर, देखें, कि इन लेखॊं से क्या कुछ जुड़ा तो नहीं, वर्ना, वे उसकी वार्ता और चौपाल पर चर्चा कर {{delete}} टैग लगा सकते हैं। बाद में कोई भी प्रबंधक उसे देखकर हटा या सही कर सकता है। इस प्रकार वे हिन्दी विकी की सहायता करेंगे।--आशीष भटनागरसंदेश ०८:०४, १३ मार्च २००९ (UTC)

वर्तमान स्थिति

--आशीष भटनागरसंदेश ००:४१, १५ मार्च २००९ (UTC)

शाबाश! इस बार आशीष का स्टार पक्का। :-)--पूर्णिमा वर्मन ०४:३४, १५ मार्च २००९ (UTC)

आज विकिपीडिया कि सूची में हिन्दी विकिपीडिया कि गहराई ४८ दिखी।
क्लिक कर के बड़ा करें
--सुमित सिन्हावार्ता ०९:३७, १६ मार्च २००९ (UTC)
सुमित जी हिन्दी विकिपीडिया की गहराई 8 है। आपने जो देखा वह किसी वजह से कापी पेस्ट करते समय किसी सदस्य. द्वारा हुई भूल का नतीजा है। मैंने सही कर दिया है। --Munita Prasadवार्ता ११:११, १६ मार्च २००९ (UTC)
भारत की तथाकथित सबसे बड़ी भाषा होने के बावजूद हिन्दी तेलुगु से पीछे क्यों है? Maquahuitl ०६:१३, २३ मार्च २००९ (UTC)
  • Maquahuitl जी इसमे ऐसी क्या बात हो गई। बल्कि हमें तो खुश होना चाहिए की कोई तो भारतीय भाषा ५०,००० के निकट पहुंच रही है, और तेलुगु भाषियों से प्रेरणा लेनी चाहिए। वैसे इस समय भारतीय भाषाओं में हिन्दी के लेखों के बढने की गति सबसे तेज है, और मुझे ये आशा है की हम लोग १,००,००० के आंकडे तक पहुंचने वाली भारत कि प्रथम भाषा बनेंगे। कम से कम मेरे विकिपीडिया पर सक्रिय होने के बाद से तो में यही अनुभव कर रहा हुँ की पिछ्ले १ महीने में हिन्दी के लेखों की संख्या सर्वाधिक बढी है। मुझे विकिपीडिया पर सक्रिय हुए कल १ मास हो जाएगा, और पिछ्ले १ महीने में हिन्दी के लेखो की संख्या १,६०० से अधिक बढी है, यद्यपि मैं २,००० तक कि उम्मीद कर रहा था। आप एक काम कर सकते हैं, जो मैने किया। आप अपने आसपास के लोगों को हिन्दी मे लेख लिखने के लिये प्रेरित कर सकते हैं, और और्कुट की हिन्दी भाषा से संबंधित समुदायों पर भी लोगों को इसके लिये प्रेरित करें। धन्यवाद। रोहित रावत २२:१३ ५ अप्रैल्, २००९ (IST)

भारत के टीवी चैनलों की सूची

भारत के सभी भाषाओं के टीवी चैनलों का काम, एक वृहत परियोजना है। जिसके मुख्य स्तर पूरे हो चुके हैं। लगभग सभी भाषाओं के लगभग सभी उपलब्ध सूचना अनुसार (स्रोत:अंग्रेज़ी विकी इत्यादि) लेख तैयार हैं, जिनमें पर्याप्त सांचे भी लगे हैं। कोई भी सदस्य उनमें सूचना भर सकता है। मूल जानकारी उनमें लिखी है। सदस्यगण देखें, और सुझाव दें।--आशीष भटनागरसंदेश ११:४१, १८ मार्च २००९ (UTC)

पद्म भूषण

भारत में अबतक सन १९५४ से २००८ तक के ५४ वर्षों में १०४८ लोगों को ये सम्मान मिल चुका है। इनकी सूची यहां पहले ही बनी है। किंतु वह अंग्रेज़ी की नकल होने के कारण, यहां कोई लिंक नहीं दे पा रही है। इसके अलावा, वो काफ़ी लंभी भी है। कुछ ब्राउज़र ३२ केबी से अधिक के पेज खोल नहीं पात हैं। अतएव, उस लेख को प्रयासरत हूं, कि अलग अलग सांचों की सहायता से छोटा करें, कुछ इस प्रकार, कि सारी सूछना भी वहीं उपलब्ध हो, और नाप भी छोटा हो पाए। इसके बाद अनुवाद का काम होगा, जो कि वर्ष वार पदक धारकों की सूचियों में करना होगा, अतएव सरल होगा, ना कि पूरी सूची एक साथ। उसके बाद, यथा संभव उन धारकों के परिचय लेख।
इस कार्य में जो कोई भी सदस्य योगदान देना चाहें, वो वॉलंटियर करें। अतीव आवश्यकता है। मुझसे संपर्क करें। मेरी जीमेल पर चैट भी कर सकते हैं: ashish0bhatnagar। धन्यवाद:--आशीष भटनागरसंदेश ०८:४०, १९ मार्च २००९ (UTC)
पद्म भूषण परियोजना
पद्म भूषण परियोजना पूरी हुई। उसके अब तक के सभी धारकों के लेख तैयार हैं। प्रत्येक वर्ष के सांचे सहित। लंबा काम था, किंतु पूरा कर ही लिया।--आशीष भटनागरसंदेश १२:०९, १२ अप्रैल २००९ (UTC)

दूसरी भाषाओँ से लिंक

सभी विकी प्रयोगकर्ताओं से निवेदन है की जब भी वे किसी भी लेख को संपादित करें तो यह जांच ले की उस्समे दूसरी भाषाओँ का लिंक है की नहीं , कम से कम इंग्लिश का लिंक तो आवश्यक रूप से जोड़ दे. इस से लेखो को खोजने में आसानी होती है साथ ही साथ duplication भी कम हो जायेगा. धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश ११:५८, २३ मार्च २००९ (UTC)

मेघालय

प्रबंधक गण कृपया मेघालय लेख को देखे , तापमान का चार्ट ठीक से नहीं दिखाई दे रहा हैं (Firefox and IE6) --गुंजन वर्मासंदेश १०:०८, २५ मार्च २००९ (UTC)
आपके द्वारा सूचित समस्या का सुलभ समाधान किया गया है। बताने का ध्न्यवाद। आगे भी सहयोग अपेक्षित।--आशीष भटनागरसंदेश १०:५६, २७ मार्च २००९ (UTC)

उचित कार्यवाही करें

कृपया इस लेख इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को देखे एवं उचित कार्यवाही करें --गुंजन वर्मासंदेश १०:२३, ३१ मार्च २००९ (UTC)

सदस्य:Evian

प्रभान्दक गण कृपया हाल में हुए परिवर्तन देखे सदस्य Evian ने काफी सारे ऐसे लेखो के संवाद पृष्ठ बनाएं हैं जो हिंदी विकी पर उपस्थित ही नहीं हैं. कृपया उचित कार्यवाही करें --गुंजन वर्मासंदेश १२:०६, १ अप्रैल २००९ (UTC)

क्या कार्यवाही चाहते हैं आप? इतना परेशान और बेचैन होने वाली कोई बात नही है। evian आपना काम ही कर रहे हैं और जो काम करता है उससे भूल भी होती है। उनका काम एक महत्वपूर्ण काम है जिससे हिन्दी विकि की गहराई दो अंको तक बढ़ी थी। गहराई का क्या मतलब है यदि नहीं जानते हैं तो चौपल के पूरालेख देखिए इस विषय पर पहले भी काफी चर्चा हो चुकी है। --Munita Prasadवार्ता ०२:५९, ३ अप्रैल २००९ (UTC)
एवियन के काम से यदि गहराई दो अंक बढ़ी होती तो बाकी लोग यहां क्या कर रहे हैं। मेरे विचार से तो फि एवियन ही हर दो महीने में गहराई को २ अंक बढ़ा लें। साल भर में हिन्दी की गहराई १६ तक हो जानी चाहिए। हिन्दी विश्वकोष का अर्थ है, कि अधिकतम विषयों पर हमें अधिक नःईं तो कम ही सही पर जानकारी मिले। ना कि गहराई २०० अंक हो, और जानकारी बहुत ही कम। दूसरा एवियन ने अंग्रेज़ी के नाम वाले लेखों को नाम हिन्दी तक में नहीं किया है। स्पष्ट है, कि काम अंधाधुंध किया जा रहा है। वर्ना कम से कम नाम तो हिन्दी में किया जाता। तीसरा, किसी नाम के लेख की वार्ता में वार्ता के लिए निर्देश हों, और वल लेख नदारद, अभी तक बना भी नहीं, यह कहां की अकलमंदी है। ये मात्र किसी एक सदस्य की अंधाधुंध दौड़ का नतीजा हैं, या शायद कोई ऑटोमेटेड प्रोग्राम। दोनों ही दशाओं में ये किसी भी तारीफ़ के हकदार नहीं हैं। इनसे बहुत पहले तारीफ के हकदार वे लोग हैं:
  • जो लेख बना रहे हैं।
  • जो सांचे बना रहे हैं।
  • जो चित्र अपलोड और यथा स्थान लगा रहे हैं।
  • जो अन्य भाषाओं के लिंक यहां जोड़ रहे हैं।
  • जो हाल के परिवर्तनों पर ध्यान देते हैं।

विकिपीडिया को हिन्दी का विश्वकोष बनाना है, ना कि मात्र कचरे का ढेर। पहले कोई लेख बनता है। तभी तो उस लेख की वार्ता का प्रश्न उठता है। हां काम करने वाले से ही गलतियां होती हैं, किंतु जब काम छोटा और गलती बड़ी हो, तब काम की सराहना से पहले गलती सुधार के निर्देश देने चाहिए। पूर्णिमा जी ने हमें भी तो कितने निर्देश, भूल सुधार, भाषा सुधार के निर्देश, सुझाव, और कड़े शब्द तक सुनाए हैं। जिनका आभार बार्न स्टार के रूप में मैंने व्यक्त भी किया है। और गलतियां बताने में तिरस्कार कैसा। २ वाक्य अच्छाई के बाद गलती अवश्य बतानी चाहिए, वर्ना उसे पता कैसे चलेगी, और सुधार कैसे होगा?

आशय मात्र इतना ही है, कि एवियन को इतना तो निर्देश मिलना ही चाहिए, कि:

  • पहले वो ये देखें, कि लेख का नाम कम से कम हिन्दी में हो, या अनुवाद कर हिन्दी में कर दें।
  • फिर ये देखें, कि क्या वह लेख अस्तित्व में भी है, या नहीं, ना कि बिना अस्तित्व के लॆखों में बस वार्ता सांचा लगाते रहें। कल को हिन्दी विकी में सबसे अधिक वार्ता पृष्ठ होंगे।
  • ना हो तो कम से कम लेख का एक वाक्य का तो पृष्ठ बना लें।

फिर उसकी वार्ता में जाने की सोचें।

वे चाहें, तो सभी वर्षों के नाम हिन्दी अंकों में अनुवाद कर सकते हैं। ई.पू. १००० से लेकर २०१० ईसवीं तक के सभी वर्षों का हिन्दी अंकों में अनुवाद करें, तो मेरी ओर से एक बार्न पक्का।

वर्ना कोई अंधाधुंध काम करने वाले कितने ही अनामक सदस्य हैं। एक नाम वाला भी सही। पर उसको बढ़ावा देना सर्वथा गलत है। इससे अन्य कार्यरत सदस्यों पर गलत प्रभाव पड़ेगा ही। शेष इतना, कि सबके पास अपना विवेक होता है।

--आशीष भटनागरसंदेश ११:१९, ३ अप्रैल २००९ (UTC)

राम नवमी की शुभकामनाएं

राम नवमी
॥राम राम जय राजा राम। पतितपावन सीता राम॥
सभी को राम नवमी की शुभकामनाएं, आशीष भटनागर की ओर से।


बधाई

हम जार्जिया की भाषा कॉकेशस से आगे निकल कर ४८वें स्थान पर पहुँच चुके हैं।--पूर्णिमा वर्मन ०४:५५, ५ अप्रैल २००९ (UTC)

हिन्दी विकिपीडिया में अंग्रेजी़ लेख

मैं भी गुंजन वर्मा जी से सहमत हूँ। हमें केवल लेखों की संख्या ही नहीं अपितु लेखों की गुणवत्ता बढा़ने पर भी ध्यान देना चाहिए। अंग्रेजी विकिपीडिया से कापी पेस्ट करने कि बजाय हिन्दी विकिपीडिया में ४-५ पंक्तियाँ ही लिख दें और हो सके तो गूगल से छवियाँ खोज कर १-२ छवियाँ डाल दें। विकिपीडिया का अर्थ जानकारी देने से ही तो है। किसी लेख को यदि अनुवादित करना हो तो पहले अंग्रेजी या अन्य भाषा के लेख पढ़ लें और फिर संक्षिप्त जानकारी या महत्वपूर्ण जानकारी हिन्दी विकिपीडिया पर लिख दें। जरुरी नहीं कि अन्य भाषाओं के विकिपीडियाओं कि एक-एक पंक्ती का अनुवाद किया जाये। और जहाँ तक बन चुके लेखों कि बात है जिनका नाम या लेख सामग्री अंग्रेजी में है, ऐसे लेखों को हटा दे या फिर स्वयं ही २-३ पंक्तियाँ लिखकर अंग्रेजी की सामग्री हटा दें। मैने भी ऐसे कई लेख देखे है जिनका नाम तो उपर से हिन्दी मे होता है लेकिन बाकि सब कुछ अंग्रेजी मे जैसें ये लेख कैंसास। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि में बाकी के लेख को हटा दूँ य ऐसे ही रहने दूँ, इसलिये मैने कुछ पंक्तियाँ हिन्दी में लिखकर बाकी लेख को नहीं छेडा़। और एक बात, बहुत से लोग अंग्रेजी के पूरे वेब्पृष्ठ का हिन्दी में अनुवाद करने के लिये गूगल के अनुवादक का प्रयोग करते है और फिर अनुवादित वेब्पृष्ठ की पूरी सामग्री वैसी ही कापी करके हिन्दी विकिपीडिया में चिपका देते हैं। अनुवादक का प्रयोग तो ठीक है लेकिन वो अनुवाद पुरा थीक नहीं होता, इसलिए चिपका देने से पूर्व उसे पढ़ लें और जो कुछ ठीक करना हो कर लें और फिर चिपकाएँ ---रोहित रावत ५ अप्रैल, २००९ १२:०६ (IST)

आपकी बात पूरी तरह से किंतु लगभग सही है।
  • अंग्रेज़ी लेख की लाइन-ब-लाइन कापी करने की या अनुवाद करने की आवश्यकता आम तौर पर नहीं होती, किंतु कई बार अंग्रेज़ी के लेख काफ़ी अच्छे होते हैं, दूसरे विकि स्टैन्डर्ड के होते हैं। उनको पढ़कर उनका विषय अनुवाद करने में कोई गलत बात नहीं।

किंतु यह आवश्यक भी नहीं।

  • अंग्रेज़ी के पाठ का गूगल ट्रांस्लेट से अनुवाद, एकदम ही बेकार होता है, जो ना व्याकरण, ना अर्थ, ना आशय, किसी पर भी खरा नहीं उतरता है, किंतु ऐसे कई लेख बने हुए हैं, जैसे कि ज्वालामुखी। उन लेखों को मेरे विचार से हटाने में कोई गलत बात नहीं, किंतु विकी नीति के अनुसार, आप उसे हटाने के बजाय, पहले उनपर {{wikify}} और {{delete}} जैसे सांचे लगा सकते हैं।

जिसे कुछ समय बाद, कोई प्रबंधक देख समझ कर उचित कार्रवाई कर सकता है।

  • जो लेख किसी कारणवश अंग्रेज़ी के हूबहू कापी किए गए हैं, और मात्र नाम ही हिन्दी में है, उनके विषय में यह कहना ही उचित होगा, कि हो सके तो उनका प्रथम अनुच्छेद (परिचय) , जिसमें कम से कम २-३६ वाक्य हों, अनुवाद कर के या अपनी समझ से लिककर चाहें, तो शेष पाठ पर <!-- --> का मार्क लगा सकते हैं। इस प्रकार पाठ संरक्षित रहेगा, किंतु दृश्य नहीं होगा। ऐसे लेख शायद किसी जल्दी में, या किसी मुख्य लेख के सहायक लेख होने के कारण बस बना दिए जाते हैं। ऐसा

बहुत शुरु में मैंने भी किया था (झूठ नहीं कहूंगा) किंतु बाद में पता चलने पर कई अनुवाद किए, कुछ रह भी गए होंगे। (जैसे कि भारत के विश्व धरोहर स्थल)।

  • हां उनसे चित्र और बाहरी कड़ियां इत्यादि पाठ जरूर लगा सकते हैं।
एक और बात खास रोहित जी के लिए। आपका संदेश यहां देखकर, और आपका चौपाल पर सार्वजनिक रूप में भाग लेना मुझे बहुत अच्छा लगा। कृपया इसे जारी रखें।--आशीष भटनागरसंदेश १२:०१, ५ अप्रैल २००९ (UTC)
  • नहीं मेरे कहने का ये अर्थ नहीं था की अंग्रेजी के लेखों का अनुवाद ना करें। मैं तो ये सुझाव दे रहा था की अंग्रेजी के लेख बहुत बडे़ होते है, और इसलिये उनका अनुवाद करने में बहुत माथापच्ची होती है। ऐसी स्थिति में उस लेख को पढ़कर उसके बारे में संक्षेप में लिख दें, मैं ये कह रहा था। इससे हिन्दी में उस लेख को पढने वाले को कम से कम कुछ तो जानकारी मिल जाएगी।---रोहित रावत ५ अप्रैल २००९ १७:५१ (IST)
जी जनाब! आपकी बात १२ आने सही है, और बाकी के चार आने मैंने जोड़ दिए हैं। कहीं कोई गलती नहीं है। साथ ही आपने मेरे चौपाल पर आपके आने की बात की तारीफ़ की, आपने उसे भी एकनॉलिज किया। उसका धन्यवाद।

वैसे कभी भी चाहें तो मुझसे जी-टॉक पर बात कर सकते हैं। वह जल्दी बात करने का अच्छा साधन है। यदि हो सके, तो आप अपना हस्ताक्षर मेरे प्रकार का कर लें, जिससे की आपकी वार्ता का लिंक तत्काल मिल पाए।--आशीष भटनागरसंदेश १२:२९, ५ अप्रैल २००९ (UTC)

  • जी भटनागर साहब मैनें आपको जी-टाक पर रिक्वेस्ट तो भेज दी है। अब आप शीघ्र स्वीकार कर लें ताकि कुछ भी सरलता से और फटाफट पुछा जा सके। और एक बात, ये UTC क्या है?--रोहित रावतसंदेश २२:०० ५ अप्रैल, २००९ (IST)
आपका निवेदन स्वीकार भी कर लिया। अच्छा UTC यानि Universal Time Coordinated. यह हिन्दी में वैश्विक समन्वयित समय या विश्वव्यापी समन्वयित समय कहलाता है। यह असल में जी एम टी का ही दूसरा नाम है, जो कि मानकीकृत है। आशा है आप GMT से परिचित होंगे। वैसे मैंने ऊपर लिंक्स तो दे दिए हैं। और हां, भटनागर साहब जैसे औपचारिक शब्द ना प्रयोग करें, अजीब सा लगता है। सीधे नाम से ही संबोधित करें। यदि आयु में अधिक अंतर लगे तो आप जी लगा सकते हैं। मेरे सहयोगी ही तो हैं यहां।--आशीष भटनागरसंदेश १४:५३, ६ अप्रैल २००९ (UTC)

हिन्दी के लेखों में आधे म और आधे न का मानकीकरण किया जाए

इसके कारण बहुत समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जैसे एक लेख है स्वामी दयानंद सरस्वती। ये लेख दो बार बन गया है। दूसरी बार ये स्वामी दयानन्द सरस्वती के नाम से है। और दोनों ही ठीक है, लेकिन दो एक ही विषय पर दो लेखों का क्या लाभ। इसी प्रकार और भी कई लेख है, इसलिए जब कोई खोज बक्से में कोई कुछ खोजता भी है तो, यदि वो दुसारे नाम से बना होगा तो नहीं मिलेगा। जैसे कोई यदि हिन्दी पर लेख लिखना चाहे तो वो खोज बक्से में लिखेगा हिंदी, और चूँकि हिन्दी नाम से लेख तो है लेकिन हिंदी नाम से नहीं तो खोजकर्ता सोचेगा की ये लेख नहीं है। इसलिए मेरा सुझाव तो ये है की हिंदी में लेख लिखने वाले लोग किसी लेख को लिखने से पूर्व उस नाम के जो भी विकल्प बनाते है, सबमे खोज ले और फिर लिखे, क्यूंकि हिन्दी भाषा में ऐसे आधा म और आधा न वाले शब्द २ प्रकार से लिखे जा सकते हैं। और भी कई शब्द ऐसे हो सकते है। इसलिए ध्यान दें। एक ही विषय पर दो लेख लिखने से किया गया परिश्रम, व्यर्थ तो नहीं कहूँगा, लेकिन उसका लाभ भी नहीं रह जाता। हाँ पूर्वनिर्मित लेख में सुधार किया जाए तो प्रयास सही दिशा में होता है।--रोहित रावतसंदेश १७:४३ ६ अप्रैल, २००९ (IST)

मेरे विचार से यदि एक मानक अं की मात्रा यानि बिंदी मानक कर ली जाए तो अत्योत्तम होगा। क्योंकि साधारणतया लोगों को यह पता नहीं होता है, कि कहां आधा म या न प्रयोग किया जाए।
वैसे इसके लिए एक व्याकरण का नियम था:
  • अं की मात्रा जिस अक्षर के पहले लगाई जा रही हो, उस अक्षर के वर्ग के अंत वाले अक्षर के नीचे, अगला अक्षर लिखा जाता है। जैसे कि:
कंघा के लिए घ है कवर्ग का, जिसका अंतिम अक्षर है ड़, तो हमें कंघा.JPG लिखना होगा। या गंगा के लिए गंगा.JPG लिखना होगा।
चंचल के लिए चवर्ग के अंत का अक्षर ञ लगा कर यानि चञ्चल लिखना होगा।
हंटर के लिए टवर्ग का अंतिम अक्षर ण लगा कर- हण्टर लिखना होगा।
मंतर के लिए तवर्ग का अंतिम अक्षर न लगाकर मन्तर लिखना होगा।
और अंतिम जांबवंत के लिए पवर्ग का अंतिम अक्षर म लगाकर जाम्बवंत लिखना होगा। वैसे जांबवंत की पूरी सही वर्तनी होगी जाम्बवन्त।
किंतु इतना विस्तृत ज्ञान सभि को हो, बहुत मुश्किल है। अतएव केन्द्रीय हिन्दी संस्थान द्वारा जारी गाइडलाइन्स के अनुसार (जो कि सभि सरकारी कार्यालयों में हिन्दी का कार्य सुनिश्चित करता है) अं की बिन्दी लगाना स्वीकार्य माना गया है। उपरोक्त वर्तनी सही तो ह्गै, उसे गलत तो नहीं कहेंगे- किंतु अंग की बिंदी भी मान्य है। अतएव विकिपीडीया में, जहां सर्च इंजन भि कार्यरत है, और वर्तनियों का मानक होना सही प्रचालन के लिए अनिवार्य है, मेरे विचार से अं की बिंदी को मानक किया जा सकता है। और यदि कोई कम से कम शीर्षक को आधे अक्षर के संग बना भी देता है, तो कृपया उसका अं की मात्रा वाला एक लेख पृष्ठ बनाकर उसे मुख्य लेख को मात्र पुनर्निर्देशित कर अवश्य दे।

शेष राय और सुझाव हेतु हिन्दी साहित्यकार वर्ग बेहतर सलाह दे सकते हैं। पूर्णिमा जी की राय अपेक्षित है।--आशीष भटनागरसंदेश १४:५३, ६ अप्रैल २००९ (UTC)

"अजमल आमिर कसब" ग़लत है |

अजमल आमिर कसब ग़लत नाम है । येह सही नाम हैः मुहम्मद अजमल आमिर क़साब । अंग्रेज़ी विकिपीडया में येह बात कबूल करना | "कसब" लफ़्ज़ नही है । "क़साब" सही है | 131.123.179.211 ०८:५७, ६ अप्रैल २००९ (UTC)

आपका कहना सही था। नाम बदल कर मुहम्मद अजमल आमिर कसाब कर दिया गया है। किंतु पिछला नाम भि वहीं पुनर्निर्देशित करेगा। राय और सुजाव देने के लिए यह स्थान उचित नहीं है। इसके लिए आप विकिपीडिया:चौपाल पर जाएं। उसका लिंक बाईं ओर परिभ्रमण में पाँचवें क्रमांक पर हमेशा मिलेगा। यदि प्रायः हिन्दी विकि में आते हैं, और योगदान के इच्छुक हैं, तो बेहतर होगा कि खाता बना कर, लॉग इन कर कार्य करें। नाम याद रहते हैं आई.पी नहीं।--आशीष भटनागरसंदेश १५:१२, ६ अप्रैल २००९ (UTC)

नाम

--आशीष भटनागरसंदेश १६:५५, ६ अप्रैल २००९ (UTC)

नया साँचा कैसे बनाएँ

यदि बिल्कुल आरंभ से नया साँचा बनाना हो तो कैसे बनाएंगे?--रोहित रावतसंदेश १०:२२ ७ अप्रैल, २००९ (IST)

प्रमुख आलेख

मैं पिछ्ले एक महीने से देख रहा हूँ। हिन्दी विकिपीडिया के मुख पृष्ठ पर एक ही प्रमुख आलेख लिखा हुआ है। क्या प्रमुख आलेख बदला नहीं जाता है? और यदि हाँ तो कितने दिनों में और अब कब बदला जाएगा?--रोहित रावतसंदेश २२:१३ ७ अप्रैल, २००९ (IST)

मुखपृष्ठ पर समय

शुक्रवार
28
अप्रैल
2017
02:38 यूटीसी

वर्तमान मुखपृष्ठ पर कहीं सुलभ दृश्य समय और तिथि नहीं हैं। मेरे विचार में इनका प्रावधान किया जाना चाहिए। इसके लिए हम {{समय}} प्रयोग कर के कहीं ऊपर दिखा सकते हैं। सदस्य एवं प्रबंधकगण राय एवं सुझाव दें।--आशीष भटनागरसंदेश ०४:३४, ८ अप्रैल २००९ (UTC)

आशीष जी सुझाव अच्छा हैं, और मैं भी आज सुबह जब मुखपृष्ठ पर आया तो सोचा ही यहाँ कही तो समय और तारीख बताने के लिए कोई widget होना चाहिए. बस मेरा एक सुझाव था की UTC के साथ ही साथ IST समय भी दिखना चाहिए --गुंजन वर्मासंदेश ०५:१२, ८ अप्रैल २००९ (UTC)

Wikimania 2009: Scholarships

English: Wikimania 2009, this year's global event devoted to Wikimedia projects around the globe, is now accepting applications for scholarships to the conference. This year's conference will be handled from August 26-28 in Buenos Aires, Argentina. The scholarship can be used to help offset the costs of travel and registration. For more information, check the official information page. Please remember that the Call for Participation is still open, please submit your papers! Without submissions, Wikimania would not be nearly as fun!

हिन्दी: Please translate this message into your language. - Rjd0060 ०१:२५, ९ अप्रैल २००९ (UTC)

  • अंग्रेजी़: विकिमैनिया २००९, इस वर्ष का आयोजन जो विकिमीडिया परियोजनाओं को समर्पित है, सम्मेलन के लिए "स्कालरशिप के आवेदनों" को स्वीकार कर रहा है। इस वर्ष का सम्मेलन २६-२८ अगस्त के बीच ब्युनस आयर्स, अर्जेंटीना में आयोजित किया जायेगा। स्कालरशिप का उपयोग यात्रा एवं पंजीकरण के खर्चों के लिये किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक अधिसूचना पृष्ठ पर जाएँ। "भाग लेने के लिए" आवेदन अभी भी खुला है, इसलिए कृप्या अपने पेपर शीघ्र जमा कर दीजिए। धन्यवाद।--रोहित रावतसंदेश ८:४३ ९ अप्रैल, २००९ (IST)

उचित कार्यवाही करें

कृपया इस लेख [[United States] को देखे एवं उचित कार्यवाही करें --गुंजन वर्मासंदेश १३:१८, १३ अप्रैल २००९ (UTC)

उचित कार्यवाही करें

कृपया इस लेख WP:SUBST को देखे एवं उचित कार्यवाही करें --गुंजन वर्मासंदेश ११:१६, १० अप्रैल २००९ (UTC)

साँचे एवं लघुपथ को सुधार कर सुरक्षित किया गया। आपके रिपोर्ट करने का धन्यवाद। इस नीति को सदा ही चलाए रखें। यह आपके विकीपीडिया के प्रति लगाव और चिंता का परिचय देती है।--आशीष भटनागरसंदेश १४:१८, १० अप्रैल २००९ (UTC)

पद्म भूषण परियोजना

पद्म भूषण परियोजना पूरी हुई। उसके अब तक के सभी धारकों के लेख तैयार हैं। प्रत्येक वर्ष के सांचे सहित। लंबा काम था, किंतु पूरा कर ही लिया।--आशीष भटनागरसंदेश १२:०९, १२ अप्रैल २००९ (UTC)

Congratulations on completing this herculean task. --गुंजन वर्मासंदेश ०५:४४, १३ अप्रैल २००९ (UTC)
परियोजना के पुर्ण होने पर हार्दिक शुभकामनाँए । --राजीवमास ०७:५१, १५ अप्रैल २००९ (UTC)

अनुवाद

मुझे India's famous Beaches नाम से एक सांचा बनाना हैं तो उसका उपयुक्त नाम क्या होगा १. भारत के प्रसिद्ध बीच या २. भारत के प्रसिद्ध समुन्द्र तट. कृपया मार्गदर्शन करें धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश ०६:४१, १५ अप्रैल २००९ (UTC)

मेरे विचार से प्रसिद्ध की बजाय प्रमुख लिखें तो ठीक रहेगा। "भारत के प्रमुख सागर-तट" ठीक रहेगा।--पूर्णिमा वर्मन ०८:२०, १५ अप्रैल २००९ (UTC)
आपने जो उपरोक्त सांचा बनाया है, साँचा:भारत के प्रमुख समुन्द्र-तट (बीच) उसके नाम में :
  • एक तो समुन्द्र कोई शब्द नहीं होता, या तो समुद्र होता है, या उसका तद्भव समुन्दर। इसे सही करें।
  • पूर्णिमा जी के उत्तर वालाशब्द सागर अत्योत्तम है, व सरल भी; उसको वरीयता दें, शब्द चुनाव में।
  • पूरे नाम के बाद जो (बीच) लिखा है, उसका क्या औचित्य है। यह तो सभी को पता होता है कि बीच सागर तट होता है। किंतु यह सांचा कई स्थानों पर प्रयोग होगा। अतएव सांचों के नामों में सदा ध्यान रखें, कि उनका नाम सर्वदा न्यूनतम हो, साधारणतम हो; जिससे कि याद आ जाए, गलती की संभावना न्यूनतम रहे।
  • शायद आपने बीच इस लिए लिखा हो कि बीच वो होते हैं, जहां कि लोग जल क्रीड़ा कर सकते हैं, जबकि सागर तट तो कोई भी किनारा हो सकता है। लेकिन यह ध्यान दें, कि किसी भी किनारे को कोई खास नाम नहीं दिया जाता, वह तो केवल बीच को ही दिया जाता है। अतएव बीच ल्लिखने से जटिलता ही बढ़ती है।
  • प्रसिद्ध या प्रमुख को आप स्वयं तय कर लें, कि उसमें सम्मिलित बीच प्रसिद्द हैं, या प्रमुख हैं। प्रमुख अधिकतर प्रसिद्ध होते हैं, और प्रसिद्ध भी प्रमुख हो ही सकते हैं। तो किस प्रकार की अधिकता है। वही शब्द उचित होगा, उसे वरीयता दें और प्रयोग करें। --आशीष भटनागरसंदेश १०:१५, १६ अप्रैल २००९ (UTC)--आशीष भटनागरसंदेश १०:१५, १६ अप्रैल २००९ (UTC)
धन्यवाद. आपकी सलाह अनुसार नया सांचा हैं साँचा:भारत के प्रमुख सागर-तट. कृपया इन पृष्ठ को हट दे साँचा:भारत के प्रमुख समुन्द्र-तट (बीच) और भारत के प्रमुख समुन्द्र-तटों की सूची --गुंजन वर्मासंदेश १०:५२, १६ अप्रैल २००९ (UTC)

प्रमुख और प्रसिद्ध में बहुत अंतर है। प्रमुख का अभिप्राय है वहाँ उपस्थित व्यक्ति या वस्तुओं में से मुख्य और प्रसिद्ध का अभिप्राय है जिसके विषय में लोग जानते हों और उससे प्रभावित हों। --डा० जगदीश व्योम ०८:५०, १९ अप्रैल २००९ (UTC)

उचित कार्यवाही करें

Dear Editors!! Please see लाल कृष्‍ण अडवाणी and take appropriate action --गुंजन वर्मासंदेश १०:४८, १५ अप्रैल २००९ (UTC)

उचित कार्यवाही की गई, ध्यान दिलाने के लिए धन्यवाद --राजीवमास १०:५३, १५ अप्रैल २००९ (UTC)

उचित कार्यवाही करें

कृपया इस लेख सदस्य वार्ता:Umarkairanvi को देखे एवं उचित कार्यवाही करें --गुंजन वर्मासंदेश ०८:३३, १६ अप्रैल २००९ (UTC)

कृपया इस लेख सदस्य वार्ता:Abhigyat को देखे एवं उचित कार्यवाही करें --गुंजन वर्मासंदेश ०९:५२, १६ अप्रैल २००९ (UTC)

हिंदी विकी पर Search

हिंदी विकी पर Search लगता हैं ठीक से काम नहीं करती है। उदहारण के लिए अगर आप "सहवाग" से खोजेंगे तो कोई लेख नहीं मिलेगा जबकि लेख वीरेन्द्र सहवाग पहले से ही हिंदी विकी पर उपलब्ध हैं। क्या खोजने का कोई और सटीक तरीका है। अगर नहीं तो मेरा अनुरोध है की कृपया इस bug को रिपोर्ट किया जाएँ । धन्यवाद --गुंजन वर्मासंदेश ०६:५९, १७ अप्रैल २००९ (UTC)

खाली पृष्ठ

विकिपीडिया पर मैं देख रहा हूँ कि नए पृष्ठ थोक के भाव में बनाये जा रहे हैं जबकि वे पूरी तरह से खाली हैं। इसका क्या औचित्य है?

नया रूप

दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता और मुंबई के लेखों में नया ज्ञानसन्दूक देखें। इसमें नया मानचित्र है। सदस्य गण अपनी राय एवं टिप्पणी दें। अनुमोदित या प्रशंसित होने पर सभि शहरों में लगाया जा सकता है।--आशीष भटनागरसंदेश १०:२७, १९ अप्रैल २००९ (UTC)

वर्षों और दिनों से संबंधित लेख

वर्षों और दिनों से संबंधित लेखों के लिए मेरा एक सुझाव है। हिन्दी विकिपीडिया पर सक्रिय सदस्य यदि अपनी-अपनी जन्मतिथि के अनुसार वर्ष का एक-एक दिन चुन लें और फिर उस तिथि के लेख पर उस दिन इतिहास में क्या-क्या महत्वपूर्ण हुआ था, लिख दें तो हम लोग इस प्रकार के लेखों को शीघ्र पूरा कर सकेंगे। जैसे मैने अपनी जन्म तिथि वाले लेख में लिखना आरंभ कर दिया है कि उस दिन क्या-क्या हुआ था। इसी प्रकार अपने जन्म वर्ष के महीने के अनुसार मैने उस वर्ष के लेख में उस महीने के संबंध में लिखना आरंभ कर दिया है। उदाहरण के लिए जैसे यदि किसी की जन्मतिथि २३ सितंबर, १९८३ है तो, तो वह २३ सितंबर के दिन वाले लेख पर लिखना आरंभ कर दे। और वर्ष १९८३ के अनुसार उस वर्ष के सितंबर में क्या-क्या हुआ था, लिखना आरंभ कर दे। इस प्रकार काम बंट जाएगा और शीघ्र पूरा होगा।--रोहित रावतसंदेश १६:५९ १९ अप्रैल, २००९ (IST)

आपका विचार अत्योत्तम है। इस प्रकार यह काम बंट जाएगा, काम में कुछ भिन्नता अवश्य आ सकती है, किंतु उसके लिए, हम अंग्रेज़ी विकि को मानक मान कर चल सकते हैं। वहां की घटनाओं में से भारत से संबंधित सभी, व अन्य कुछ मुख्य बड़ी घटनाओं को ले सकते हैं। कुछ और मत आ जाएं, तो कुछ और लोग भी जुड़ जाएंगे। यदि दो सदस्य एक ही माह के रहे तो उसका समाधान भि सोच कर रखें। मेरे विचार से इस परियोजना में सभि अपने विचार रखें, व अपनी जन्म तिथि लिखें, या सीधे हि अपने पसंद के वर्ष, मास और तिथियां भी रखें। पहले आने वालों को वरीयता दीजाए। कुछ समय सीमा निश्चित की जाए, वॉलंटियर करने की।--आशीष भटनागरसंदेश १०:०८, २० अप्रैल २००९ (UTC)

आशीष जी! आप "भी" की जगह "भि" लिखते हैं। कृपया इस त्रुटि को ठीक कर लीजिए। इसके लिए क्षमा चाहूंगा, और आगे से ध्यान रखूंगा। इसका कारण बताने से भूल माफ़ नहीं होती, अतएव कारण ना लिखकर आगे से ध्यान रखूंगा।--आशीष भटनागरसंदेश ०३:२६, २१ अप्रैल २००९ (UTC)

इस लेख पर तुरंत उचित कार्यवायी की जाए

ടെലിറ്റബ്ബീസ് नामक यह लेख किसी अन्य भाषा में है, जिसका हिन्दी से कुछ लेना देना नहीं है। इसपर तुरंत कुछ किया जाए। --रोहित रावतसंदेश ०९:०७ २० अप्रैल, २००९ (IST)