विकिपीडिया:चौपाल/पुरालेख 5

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Archive
पुरालेख

यह पृष्ठ विकिपीडिया चौपाल की वार्ताओं का पुरालेख पृष्ठ है। नवीनतम वार्ताओं के लिए देखें विकिपीडिया:चौपाल

अनुक्रम

लिप्यंतरण

ड़ लिखने के लिये DaK प्रयोग करें--सुमित सिन्हावार्ता ११:२८, १८ नवम्बर २००७ (UTC)

लिप्यांतिकरण काफ़ी रोचक शब्द है। क्या इसका अन्वय बता सकते हैं? क्या यह तमिल का हिंदीकरण है? या शब्दकोश डॉट कॉम का महाज्ञान? --पूर्णिमा वर्मन १५:०२, १८ नवम्बर २००७ (UTC)
इस शब्द की विश्वसनीयता और सही अर्थ जानना आवश्यक है --राजीवमास १५:२४, १८ नवम्बर २००७ (UTC)
सही शब्द लिप्यांतरण है, ना कि लिप्यांतिकरण --Tarun १५:४१, १८ नवम्बर २००७ (UTC)
लिपि+अंतरण=लिप्यांतरण सहमत --राजीवमास १५:३९, १८ नवम्बर २००७ (UTC)
यह सही है कि वेब पर सर्वज्ञ और भूमियो जैसी साइटें लिप्यांतरण शब्द का प्रयोग कर रही हैं। पर लिप्यंतरण या लिप्यन्तरण लिखना सही रहेगा। कुछ संदर्भ संलग्न हैं। [1] [2] आशा है सहयोगी इसका लाभ उठाएँगे और सुझाव को अन्यथा न लेते हुए सहयोग बनाए रखेंगे। --पूर्णिमा वर्मन १८:४९, १८ नवम्बर २००७ (UTC)

लिपि + अंतरण = लिप्यंतरण ( ध्यान दें, लिप्यांतरण नहीं) अन्य उदाहरण :(इ + अ = य) प्रति + अर्पण = प्रत्यर्पण वि + अर्थ = व्यर्थ

किन्तु, (इ + आ = या) इति + आदि = इत्यादि अति + आचार = अत्याचार

अनुनाद सिंह ०३:४४, १९ नवम्बर २००७ (UTC)

लिप्यंतरण सही शब्द है, फादर बुल्के से असहमति का सवाल ही नहीं :)--देबाशीष ११:५६, १२ दिसम्बर २००७ (UTC)

सन्दर्भ

  1. बुल्के, कामिल (1984). अँगरेजी हिन्दी कोश. रामनगर, नई दिल्ली: एस चन्द एण्ड कम्पनी. प॰ 756. 
  2. बाहरी, डॉ॰हरदेव (1999). अंग्रेज़ी-हिन्दी पारिभाषिक-शब्दकोश. कश्मीरी गेट, नई दिल्ली: राजपाल एण्ड संस. प॰ 625. 

विक्शनरी नए बदलाव

प्रिय हिन्दी विकिपीडियन्स, हिन्दी विक्शनरी के प्रबंधक पद के लिए मेरे नामांकन एवं चयन करने के लिए धन्यवाद। अपेक्षा है आने वाले मसमय मे मै आप सबकी अपेक्षाओंको पुरे करने मे सहाय्य कर सकता हूं।

हिन्दी विक्शनरी मे मेरे द्वारा प्रथम महत्वपूर्ण बदलाव हिन्दी विकिपीडिया कि उपयोजित ध्वन्यात्मक देवनागरी लिखनेकी सुविधा (परीक्षण प्रावस्था) का प्रयोग करना है । इस बदलाव के प्रति आपका समर्थन एवम विरोध चौपाल पर लिखे ।

धन्यवाद

Mahitgar १९:१८, ३० नवम्बर २००७ (UTC)

कोई विरोधी मत न आनेसे विक्शनरीमे उपर प्रस्तावित निर्देश किया हूआ बदलाव अमल किया गया है । यह बदल हिन्दी विकिपीडिया की आज के संस्करण पर आधारीत है। हिन्दी विकिपीडिया कि उपयोजित ध्वन्यात्मक देवनागरी लिखनेकी सुविधा का लाभ अभी आप हिन्दी विशनरी मे भी उठा सकते है।

Mahitgar १७:४०, २ दिसम्बर २००७ (UTC)

Wikimedia Indian chapter

As you might be aware, we are planning to start an India chapter of the Wikimedia Foundation. Please see Wikimedia India for details. We're currently working on the draft of bylaws. If you are interested, please join the discussion on meta, and subscribe to the wikimediaindia-l mailing list. Utcursch १७:३८, १० दिसम्बर २००७ (UTC)

Is there any update on this? Is there any active hindi wikipedian involved in Wikimedia Indian Chapter?--मितुल २०:३०, २० दिसम्बर २००७ (UTC)
I realy do not get why Indian local language wikipedians are missing from on going discussions.Mahitgar ११:१७, २३ दिसम्बर २००७ (UTC)

आमिर खुसरो?

आमिर खुसरो: क्या सही नाम अमीर खुसरो नहीं है? कम से कम हम स्कूल में तो यही पढ़ते आये। सदस्यगण स्पष्ट करने में मदद करें ताकि आवश्यक हो तो नाम सही किया जा सके।--देबाशीष ११:५६, १२ दिसम्बर २००७ (UTC)

सही है ।

 अमित

अमीर खुसरो सही नाम है डा० जगदीश व्योम

फ़िल्मों के शीर्षक

फ़िल्मों के विषय में बनाए जाने वाले पृष्ठों के शीर्षक के विषय में सुझाव है- कि उनके नाम के साथ फिल्म का वर्ष न जोड़ा जाय। वर्ष जुड़ा होने से फ़िल्मों को सर्च करना संभव नहीं है। अगर किसी फ़िल्म के विषय में खोजना हो तो उसका वर्ष जानना ज़रूरी है और सामान्य रूप से लोग यह नहीं याद रखते कि यह फ़िल्म किस वर्ष में बनी है। अगर किसी नाम की दो फ़िल्में हैं तो उनके लिए एक पृष्ठ बनाकर दो लिंक अलग अलग वर्ष के देना ठीक रहेगा। वर्ष का निर्धारण करने के लिए उस पर वर्ष के अनुसार श्रेणी लगा देना पर्याप्त होगा। यह सुझाव मेरे मन में साहित्यकारों के पृष्ठ बनाते समय आया। उदाहरण के लिए कमलेश्वर द्वारा लिखी गई प्रमुख फ़िल्मों के नाम जब मैने उन फ़िल्मों से जोड़ने चाहे जिनकी कथा या पटकथा उन्होंने लिखी है तो वे मुझे उन फ़िल्मों के पृष्ठ नहीं मिले। अन्य सदस्यों के विचार आमंत्रित हैं --पूर्णिमा वर्मन ०५:५२, १९ दिसम्बर २००७ (UTC)


मैं पूर्णिमा के विचारों से पूर्णरूपेण सहमत हूँ । किसी अनभिज्ञ के लिए ढूँढने में परेशानी के अलावा यह कई फ़िल्मों के पृष्ठों का नाम भी अनायास ही लम्बा तथा भोंदा बना देता है । जैसे कि जब प्यार किसी से होता है का नाम जब प्यार किसी से होता है (1961 फ़िल्म) रखने की कोई आवश्यकता नहीं है । --अमित प्रभाकर १३:४३, १९ दिसम्बर २००७ (UTC)


I agree with you guys, but how can we maintain consistency without providing YEAR in the title. Why can't we just create article with "FILM TITLE" redirecting to "FILE TIME (FILM YEAR)" page. It's not that bad. If you search for the page, you will always get to the right page. If page जब प्यार किसी से होता है has a redirection to जब प्यार किसी से होता है (1961 फ़िल्म), It should work in the search. I don't know but this would be an issue anyway as Bollywood keep producing movies and they are bound to be duplicate in future also.----मनीष वशिष्ठ १४:२०, १९ दिसम्बर २००७ (UTC)


विकिपीडिया:विकिपीडिया पर क्या चल रहा है

सक्रिय विकि-प्रयोगकर्ताओं से अनुरोध है कि अपने कार्यौ के बारे मे विकिपीडिया:विकिपीडिया पर क्या चल रहा है पर एक-दो पंक्तियाँ लिख दिया करे। इससे यह जानने मे सुविधा होगी कि हिन्दी विकिपीडिया पर नया क्या हो रहा है? आपको अपने काम मे सहायता मिलेगी, ऐसी उम्मीद भी है।--मितुल २०:३९, २० दिसम्बर २००७ (UTC)

मैने इसे एक साँचे के रूप मे परिवर्तित कर दिया है। इससे सदस्य इसको अपने वार्ता या सदस्य पृष्ठ पर लगा सकते है। उदाहरणः मेरे वार्ता पृष्ठ को देखे। --मितुल ०१:०५, ८ जनवरी २००८ (UTC)

नव वर्ष शुभकामनाऐं

आप सभी हिन्दी लेखको को पाश्चात्य नव वर्ष - २००८ शुभ हो !!!--राजीवमास ०७:३०, ३१ दिसम्बर २००७ (UTC)

निर्वाचित लेख उम्मीदवार

कृपया देखे और टिप्पणी दे: विकिपीडिया:निर्वाचित लेख उम्मीदवार। --मितुल १९:०७, ३ जनवरी २००८ (UTC)

"रक्षाबंधन निर्वाचित लेख घोषित हुआ। आप अपने अन्य लेखो को उम्मीदवार बनाए। पर्यटन भूगोल लेख उम्मीदवार बन सकता है। --मितुल ०५:१६, ७ जनवरी २००८ (UTC)

is it logical?

Dear hindi wikipedians,

During each of my visit to hindi wikipedia and hindi wiktionary I always found it defficult to understand the help "यूनिकोड देवगनागरी सहायताके लिए पृष्ठ" is given in devanagari script.While 98% of Indian website users generaly do not know about Undicode UTF 8 needs to be selected to view devanagari and other indian scripts , how do we expect a new visitor to read "यूनिकोड देवगनागरी सहायताके लिए पृष्ठ" in devanagari.I feel devanagari sentence there is defeating the purpose itself .

At Marathi wikipedia this help sentense is very much in roman/english script for the benefit of first time visitor who would not know even how to see devenagari script on internet.

Mahitgar १५:२५, ४ जनवरी २००८ (UTC)

its an image. No setup is needed to view the message. By putting message in devanagari, intention is to encourage first time visitors to find out more about it. --मितुल १५:५८, ४ जनवरी २००८ (UTC)
Thanks for it being an image,With due respect to you, frankly still I am not satisfied.Considering my self who knows Hindi but reached with Encoding western european (that what will happen with first time visitor) I could read the sentence "यूनिकोड देवगनागरी सहायताके लिए पृष्ठ" but my impression is the same page is supposed to provide me help is looking garbled, frankly as a first time user I have no chance to get an Idea that there is any link given and that link with that link I need to proceed to another page.

I feel we still need to think in point of view of first time visitor. Just open any page other than in UTF 8 and think is it realy giving me any help.

Secondly present system does not think of interwiki wiki visitors and of those who are Non resident people of Indian origin born and brought up outside India,not learned hindi but still want to understand and are visiting first time to hindi wikipedia; they will not be able to make any sense of "यूनिकोड देवगनागरी सहायताके लिए पृष्ठ".

Thanks and regards

Mahitgar १५:२४, ५ जनवरी २००८ (UTC)

Your points are well taken. I have replaced the image to show both hindi and english. --मितुल १६:४५, ५ जनवरी २००८ (UTC)
Thanks and It is very nice of you .
Regards Mahitgar १६:१३, ७ जनवरी २००८ (UTC)

श्रेणी

का उपयोग कैसे करे , ये कैसे बताऊ के मेरा ज्ञान स्तर क्या है ? सभी सदस्यों के परिचय प्रस्थ पे इस का वर्णन मिलता है की उनके भासा ज्ञान का स्तर क्या है किंतु मेरे प्रस्थ पे एसा कुछ भी नही है इसका हल क्या है ? --abhimanyu ०७:३८, १२ जनवरी २००८ (UTC)

आपके सदस्य पृष्ठ पर उत्तर दे दिया गया है--सुमित सिन्हावार्ता ०९:०४, १२ जनवरी २००८ (UTC)

उप श्रेणी का निर्माण केसे करू मसलन विश्व के युद्ध मे विश्व के सेनानायक नामक उप्श्रेनी बना देना चाहता ह्नू ताकि सेन्य इतिहास पर लिख सकू--abhimanyu ०१:३१, २६ जनवरी २००८ (UTC)

विकिपीडिया लोगो

वरिष्ठ प्रबंधकों का ध्यान इस ओर आकर्षित करवाना चाहती हूँ कि विकिपीडिया लोगो में हिन्दी में लिखे गए वि की वर्तनी गलत है। यानी यह वि न होकर पहले व लिखा है और छोटी इ की मात्रा इस प्रकार लगी है कि वह व पर नहीं बल्कि उसकी दाहिनी तरफ़ बाहर की ओर निकली हुई है। इसकी एक सही प्रतिकृति संजय बेंगानी ने भेजी है जिसको हिंदी विकिपीडिया पर अपलोड कर रही हूँ कृपया इसको सही स्थान पर पहुँचा दें।--पूर्णिमा वर्मन २०:३९, १ फरवरी २००८ (UTC)

सहमत--राजीवमास ०४:४६, २ फरवरी २००८ (UTC)
इस बारे मे यहाँ चर्चा है (http://en.wikipedia.org/wiki/User_talk:Ambuj.Saxena/Wikipedia-logo#It_fits_the_theme_of_the_logo) और न्यूयार्क टाइम्स मे भी लिखा गया है - (

http://www.nytimes.com/2007/06/25/technology/25wikipedia.html?_r=4&adxnnl=1&oref=slogin&ref=technology&adxnnlx=1182852725-SfZGbED6N/RZUssUqA3gNQ&oref=slogin)

--मितुल २१:१२, २ फरवरी २००८ (UTC)

निर्वाचित तस्वीर

मुखपृष्ठ पर निर्वाचित तस्वीर का साँचा खाली का रहा है निवेदन है कि शिघ्र लगाऐं ।--राजीवमास १३:२४, २ फरवरी २००८ (UTC)

बधाई

सभी सदस्यों और प्रबंधकों को जिनके सहयोग से हिंदी विकि के लेखों का आँकड़ा १६,००० तक पहुँचा।--पूर्णिमा वर्मन १८:४२, ३ फरवरी २००८ (UTC)

विकिपीडिया:ज्ञान पहेली‎

मेरे पास अगले कुछ दिनों में थोड़ा खाली समय होगा,तो मैं ज्ञानपहेली के जरिये अपना योगदान दोबारा शुरु करना चाहूँगा। इससे नए विषयों पर प्रकाश डलेगा और विकिपीडिया पर आप सभी का समय थोड़ा रुचिकर बना रहेगा। ज्ञान पहेली के पृष्ठ पर नया प्रश्न डाल दिया है, देखें। -- दाढ़ीकेश ०५:२१, १२ फरवरी २००८ (UTC)

translate

i want to ask somebody to translate this introduction to hindi:

Want to know about Malay? The Malay language is of Austronesian stock, spoken mainly in the Malay Archipelago of Southeast Asia namely the countries of Indonesia, Malaysia, Brunei, Singapore, Southern Thailand, the Southern Philippines and even as far as Christmas Island in Australia. The language achieved the status of lingua franca in the region during the height of the Malaccan Sultanate in the 15th and 16th century. As of late the importance of Malay as a language is being noted worldwide.

Izzudin १४:४६, १६ फरवरी २००८ (UTC)

this is not the trabnlation मेरा भारतीय संविधान आपकी सहायता चाहता है, वैसे मेरा आलेख ठीक चल रहा है ,किंतु मै चाहता हूँ कि उस को ठीक तरीके से रखा जाये हाल मे 1 सज्जन ने उस की उद्देशिका खंड को बेहतर ढँग से उपविभाजित किया है यानि 6.2,6.3 6.4 के उविभाजन दिये है किंतु मै यह काम नही करना जानता कृप्या अन्य खंडॉ को भी इस ढंग से उपविभाजित कर दे --abhimanyu ०२:१०, २२ फरवरी २००८ (UTC)

Vkvora2001 भारत्वासियो से माफी मागे

विपिदिया के एक सद्स्य लेख मे Vkvora2001जी ने लिखा है कि ईस मंदीर के नाश या सत्यानाश के लीये मुहम्मद गजनवी को अफघानीस्तान से आमंत्रीत करता हुं। मै मांग करात हुकि विकिपिदिया समस्त भरत्वासियो से Vkvora2001जी के क्र्त के लिए माफी मागे । यह उनकि व्यक्तिगत सोच्ह हो सकती है किन्तु उन्होने इसे यहा पर सार्वज्निक कर देश्द्रोहिता का सबूत अपने अप दे दिया है,Vkvora2001 को तत्काल प्रतिबन्धित किया जाना च्हाहिए -- Dr. Jain ०९:२६, २९ फरवरी २००८ (UTC)

अन्य सद्स्य गण ध्यान दे

मेरा लिखा बार्-बार मिटाया जा सहा है । मै बता दू कि मै एक कालेज शिक्षक हू और मेरा अधिकार है कि अप्नि बातो को यहा रझू । पर लोक्तंत्र का नाजायज फायदअ उठा कर विकि पर Vkvora2001 जैसे लोग देश्द्रोही बाते लिख रहे है । अन्य सद्र्यो से आशा है कि तत्कात कर्वाही करे -- रवि च्ह्नद जैन

मेरे विच्हार से इन Vkvora2001 को तत्काल प्रभाव से प्रतिबन्धित कर देना चाहिए, वर्ता - विवाद के दौरान इन्होने मेरे जैन होने पर ही टिप्प्णी कर दी थी। इनके कहने में जैन कौम देश्भक्त नही होती ? मै इनसे अधिक उम्र का होऊंगा पढा-लिखा भी इनसे ज्याददा होऊगा, लेकिन ये मुझे ही कहते है कि पडा करो । अब मेरा यहा लिखने का मन नही करता । अरे इतिहास में किसने क्या किया उसके लिए उसके लिए अब हमे दोषी ठराया जाएगा ? आज मै ५९ साल क्का हूं । लेकिन आज तक मैने एसा नही देखा कि खुले आम वेब्साइट पर जैन सम्प्दाय पर एसी तीखि टीप्प्णी हो। अब मै रोउ या अत्म्हत्या कर लू -- Dr. Jain ०४:०५, ६ मार्च २००८ (UTC)
इस विकिपीडिया पर क्या-क्या हो रहा है उसे मै नही रोक सकता, लेकिन मैने इस बात की लिखित शिकायत, जैन सम्प्रदाय से की है कि "आज हमे भूतकाल में हुए कामो पर ताने दिए जा रहे है हम जैनो की देश्भक्ति पर शक किया जा रहा है विकिपीडिया पर, यहा के प्रबन्धक भी चुप है एसे आरोप लगाने वालो के बारे में" --Dr. Jain १५:४५, ६ मार्च २००८ (UTC)
प्रोफेसर एवं डोक्टर साहब हम आपकी भावनाओको समझते है और अयोग्य भाषा एवं व्यवहारकी निंदा करते है| आपकी विनंती के उपरान्त शायद किसी हदतक कोई प्रबंधक उचित कार्यवाही करे मगर कृपाकर कुछ बातोको मद्देनजर रखे की प्राय: विकिपीडिया विचारो का मुक्त स्थल है किसी व्यक्तीके विचार अयोग्य हो तो उन्हे आप या तो उचीत संदर्भ या आधार की अपेक्षा कर सकते है। कोई व्यक्ती यदी कूछ गलत बयान बाजी करे तो उससे उलझनेमे या गौर करनेमे समय ना गंवाए , विकिपीडियापर अक्सर ऐसा देखा गया है की अक्सर ऐसे लोग कुछ महीनो के साथी होते है जो चले जाते है। अपना मन Constructive चीजोमे लगाए रखे। आपको यह भी पता होगा की प्रबंधक लोग यंहा विकिपीडिया पर आपहीमेसे कोई स्वयं सेवक है और विकिपीडिया पर हो रही गलत हरकतोके लिए जिम्मेवार नही होते।
धन्यवाद और अपनेपन का प्रार्थी
Mahitgar १२:३३, ९ मार्च २००८ (UTC) मराठी भाषा विकिपीडिया से

तिथियों के लिये संख्या पद्वति

मित्रों,

यह प्रश्न पहले भी पूछा जा चुका है पर मैं यह प्रश्न फिर से उठाना चाहता हूँ। १५ जनवरी सही प्रयोग है या 15 जनवरी। मेरे विचार से हमको एक तरह की संख्या पद्वति प्रयोग करनी चाहिये एवं दूसरे पद्वति के लेखों को पहली पद्वति के लेखों पर REDIRECT कर देना चाहिये।

आप लोगों का इस बारे में क्या ख्याल है?

--सदस्य:मनीष वशिष्ठ

Your question is nothing but the Devanagari-Roman dilemma. I think it has been decided that we will use the Devanagari numerals. Maquahuitl २२:२७, ३ मार्च २००८ (UTC)

होली

होली लेख निर्वाचित लेख उम्मीदवार है। कृपया अपने सहयोग से इसे इस प्रकार सुधारने में सहायता करें कि यह निर्वाचित की श्रेणी तक पहुँचे।--पूर्णिमा वर्मन ०९:१४, ५ मार्च २००८ (UTC)

होली लेख अनेक सुझावों और संशोधनों के बाद अब पूरी तरह तैयार है। क्या इसे निर्वाचित घोषित कर दिया जाए? सदस्यों से अनुरोध है कि अपना समर्थन, विरोध एवं सुझाव नीचे लिखें।

समर्थन

  1. समर्थन के साथ होली मुबारक --राजीवमास १७:१९, १३ मार्च २००८ (UTC)

विरोध

सुझाव राजीवमास तथा अमित प्रभाकर के समर्थन तथा किसी का विरोध या सुझाव न आने से समझा जाता है कि यह लेख अब निर्वाचित के योग्य हैं। इसे निर्वाचित लेख बनाया गया।--पूर्णिमा वर्मन ०४:३४, १८ मार्च २००८ (UTC)

गहराई

हिन्दी विकिपीडिया पर लेखों की संख्या तो काफी तेज गति से बढ़ रही है, लगता है इस परियोजना के सदस्यों के उत्साह के बल पर शीघ्र ही हम 20,000 लेखों की संख्या पार कर लेंगे। लेकिन अंग्रेजी विकिपीडिया के मुखपृष्ठ पर पहुँचने के लिए हमें गहराई (depth) पर भी ध्यान देना होगा। विकिपीडिया के नियमों के अनुसार जिन भाषाओं के विकिपीडिया गहराई 5 को पार कर गए हों, और लेख 20,000 से ज्यादा हों, उन्हें ही भाषाओं की सूची में डाला जाता है। हिन्दी विकिपीडिया की गहराई इस समय 4 है। इस गहराई नामक संख्या को बढ़ाने के लिए कुछ उपाय किये जा सकते हैं, जिनसे लेखों के स्तर में भी सुधार होगा-

  1. लेखों में अन्तरविकि कड़ियाँ डालें। अगर आप लेख में सिर्फ एक अंग्रेजी के लेख की कड़ी भी डाल देते हैं, तो अन्तरविकि बॉट बाकी भाषाओं की कड़ियाँ खुद जोड़ देंगी। ये बॉट फिर समय-समय पर नई कड़ियाँ खुद जोड़ती रहेंगी। लेख जितने ज्यादा संपादित होंगे, उतनी ही गहराई भी बढ़ेगी।
  2. लेखों के अतिरिक्त अन्य पन्ने बनाएँ। चित्र, श्रेणियाँ, टेम्प्लेट इत्यादि के पृष्ठ भी गहराई को बढ़ाते हैं।
  3. आधार या स्टब लेखों पर काम करें। लेखों कितने बड़े हैं इसका भी गहराई पर फर्क पड़ता है।

सबसे जरूरी- संपादन करने में संकोच न करें। कहीं कोई गलती दिखे तो उसे तुरंत सुधार दें। आपको किसी विषय विशेष की जानकारी है तो उस पर लिखें। विकिपीडिया पर जितना ज्यादा मिलजुल कर काम होगा, गहराई तो बढ़ेगी ही, यहाँ पर उपलब्ध सामग्री की उपयोगिता भी बढ़ेगी। -- दाढ़ीकेश ००:१२, ८ मार्च २००८ (UTC)

आवश्यक तथ्यों से अवगत कराने के लिए दाढ़ीकेश का धन्यवाद । हमे अब उपरोक्त जानकारी के आधार पर और अधिक सक्रियता और योजना से लेखन करना चाहिए --राजीवमास १७:४३, ९ मार्च २००८ (UTC)

सदस्य :Vkvora2001 पर प्रतिबंधनका प्रस्ताव

विकिपीडिया पर खूदके चर्चा पन्नेपरकी जानकारी भी विकिपीडिया समूदायकी मान्यता बीना हटाना अयोग्य है । यह प्रतीत होता है की सदस्य डोक्टर जैन एवं इतर सदस्य गण एवं प्रबंधकोकी इच्छाओका अनादर करते हूए सदस्य सदस्य :Vkvora2001 ने खूदके चर्चापन्नोपरसे लिखी हूई बाते आज फीरसे मिटायी है [1],[2] सदस्य :Vkvora2001 एवं आईपी अड्रेस (यदीवो स्थायी आईपी अड्रेस होतो) पर तीन महीनोतक प्रतिबंधनका समर्थन करते हूए यह प्रस्ताव रखता हूं। Mahitgar १३:०१, ९ मार्च २००८ (UTC)

सहमती के साथ Vkvora2001 को तीन महिने के लिए हिन्दि विकि पर प्रतिबन्धित किया गया --राजीवमास १५:२६, ९ मार्च २००८ (UTC)
मेरे विचार मे यह निर्णय थोडी जल्दबाजी मे लिया गया है। इस बात मे दो राय नही कि vkvora2001 के द्वारा पन्नो पर से जानकारी हटाना गलत था। लेकिन अन्ग्रेजी विकिपीडिया पर सामान्यतया सदस्यो को बुरे व्यवहार के लिये पहले चेतावनी दी जाती है और वही व्यवहार दोबारा देखने को मिले तो ही प्रतिबन्धित किया जाता है। [3] जहा तक मेरा ख्याल है इस सदस्य को किसी प्रबन्धक ने इस बारे मे चेतावनी नही दी, सीधा प्रतिबन्धित कर दिया गया है। चाहे इस सदस्य के ख्याल बाकी सदस्यो से मेल नही खाते, हमे सबसे पहले यही मान कर चलना चहिये कि ये सम्पादन नियमो को अनदेखा करने के लिये नही बल्कि नियमो की जानकारी न होने के कारण किये गये। (Assume good faith) इस तरह के सम्पादन यह सदस्य बहोत समय से कर रहा है, और मेरा मानना है कि औपचारिक चेतावनी न मिलने पर इन्होने मान लिया होगा कि ऐसा करना गलत नही है। इसलिए मेरा सुझाव होगा कि प्रतिबन्धित करने के बजाय सदस्य को चेतावनी दी जाये। मेरा विचार है कि अन्तिम प्रसन्ग की तरह ही ये सदस्य गलती सुधार लेगे। -- दाढ़ीकेश २२:४०, ९ मार्च २००८ (UTC)
यह सही है कि यदि कोई सद्स्य हिन्दी विकि के अनुरूप व्यव्हार नही करता तो सर्व्प्रथम उसे चेतावनी दी जाती है । दाढ़ीकेश आपसे अनुरोध है कि इन प्रतिबन्धित सद्स्य के वार्ता पर जाए और देखे की इन्को पहले चेतावनी मिली है या नही (मै बता दू कि इन्हे पहले भी चेतावनी मिल चुकी है) । आप इनकी वार्ता पर जाए और देखे ।--राजीवमास ०५:१४, १० मार्च २००८ (UTC)
मैंने इस सदस्य के वार्ता पन्ने के इतिहास पर जाकर काफी पीछे तक देखा है। आपने इन्हें जो चेतावनी दी थी वो केवल एक प्रकार की भाषा के उपयोग को लेकर थी - "वोहराजी, यदि भविष्य मे आपने इस प्रकार के शब्दो का प्रयोग हिन्दी ज्ञानकोष में कहीं किया तो आपको प्रतिबन्धित कर दिया जाऐगा।" इसके अतिरिक्त अन्य सदस्यों ने इनको कहा है कि ये वार्ताएँ न मिटाएँ, लेकिन किसी प्रबन्धक ने अभी तक लेख या वार्ताएँ मिटाने के लिए इनको चेतावनी नहीं दी है। और देखा जाए तो इन्होंने आपकी चेतावनी का पालन करते हुए आपत्तिजनक बातें मिटा दी हैं, और इस तरह की और बातें लिखना बंद कर दिया है। -- दाढ़ीकेश ११:०४, १० मार्च २००८ (UTC)
मुझ से पहले जैन जी इसका उत्तर दे चुके है । --राजीवमास १३:१३, १० मार्च २००८ (UTC)
शायद ये दाढ़ीकेश चाहते है कि अगर कोई गलती करे तो उसे अलग-अलग गलती के लिए अलग अलग चेतावनी देनी होती हैं । मै बता दूं कि एक सभ्य,संवेदन्शील, सुसंस्कृत और सच्चे लेखक के लिए एक ही चेतावनी बहुत होती हैं । अब एक और कमाल की बात जो दाढ़ीकेश को पता होनी चाहिए जब आपके ही एक प्रबन्धक ने इन्हे चेतावनी दी तो इन वोहरा महाशय ने उस प्रबन्धक के ही वार्ता पेज पर सीधी-सिधी धमकी दे डाली । (दाढ़ीकेश वहा भी जाकर देखो) । अब भी अगर दाढ़ीकेश आप यह मानते है कि एसा न्ही होना चाहिए था तो मुझे आपसे कुछ जवाब चाहिए -
  1. क्या किसी को चेतावनी देना भी कम नही होता क्या चेतावनी प्राप्त व्यक्ति का यह कर्तव्य नही बनता कि वो संयम मे रह्कर अपने लेखन को सुधारे या उल्टा ही चोर कोत्वाल को डाटेगा ।
  2. पहले उसने देश के खिलाफ् टिप्प्नणी की फिर मेरे जैन होने पर कि जैनो ने ही------- जाकर मेरे पेज पर देखो दाढ़ीकेश ।
  3. बिना अपने नाम से लागिन करे आई पी नम्बर से अपने पेज पर अपने लिए लिखा मिटा रहा है, आप सोच सकते है कि ऐसा वयक्ति ऐसा जान्बूझ कर कर रहा है । इन्हे सब कायदे पता है विकि के लेकिन जब तक आप जैसे लोग इनके साथ है इन्हे भी हिम्म्त आ जाती है कि अब देश्द्रोही बाते करने में या एक विशेष कोम को गद्दार कहने मे उन्हे कोई रोक नही सकता, इसके जिम्मेदार आप है ।
  4. इन माहाशय का योगदान देखे लगता है सारी बेवकूफी (माफ् करना इन्के शुरू किए लेख देखो) यहा डाल दी हो कहि यहा ये सब सीख सकते थे लेकिन इन्हे जो सिखाने आया इन्होने उसे की उल्टा कर दिया ।

अब शायद बहुत हो चुका है मै अभी नया ही हू ये आपकी और आपके पुराने सथियों की बात है किन्तु आप अब अपना दिमाक बदल दे क्योकी लेख की शक्ति आप शायद नही जानते दाढ़ीकेश । वोहरा का लिखा एक एक शब्द आज तक विकि के पुराने अवतरणो में समाहित है जिस गैर्जिम्मेदाराना तरीके से उन्होने यहा लिखा है उस आधार पर हम लेखको के साथ साथ विकिपीडिया को भी इसकी भरपाई करनी पडेगी --Dr. Jain ११:५१, १० मार्च २००८ (UTC)
दाढ़ीकेश के वार्ता पेज पर और अधिक सुन्दर्ता से समझा दिया गया है, आशा है अब वे यहाँ माफी मागने ही आएंगे ।--Dr. Jain १५:५४, १० मार्च २००८ (UTC)

क्षमा कीजियेगा लेकिन एक वेबसाइट पर लिखी बातों पर इतना बड़ा बवाल उठाने वालों पर मुझे हंसी ही आती है। इन्टरनेट पर लिखी हर ऊल-जलूल बात पर अगर आप अपना पारा गरम करने लगे, तो जल्दी ही ब्लड-प्रैशर की बीमारी का सामना करना पड़ेगा। मैंने पहले आपकी बात को अनदेखा करने की सोची (चूंकि एक तो यह मसला सीधे आपसे सरोकार नहीं रखता, यह विकिपीडिया नीति का प्रश्न है, और दूसरे मेरे पास इतना समय या धैर्य नहीं कि आपकी भावुकता भरी बातों में से तथ्य और तर्क ढूंढ कर उनका जवाब दूँ।) लेकिन पिछले कुछ दिनों में आपने भावुकता के साथ साथ समझदारी का भी प्रमाण दिया है, इसलिए एक बार अपनी बात आपको समझाने की कोशिश कर रहा हूँ।
आपका यह मानना गलत है कि मुझे पिछले कुछ दिनों हो रही गतिविधियों की खबर नहीं। इतनी हलचल हिन्दी विकिपीडिया पर पहली बार हुई है, मैंने एक-एक वार्ता अच्छे से पढ़ी है। लेकिन अबतक जो हो रहा था, उसका मुझसे कोई सरोकार नहीं था और प्रबंधकों ने जो कार्यवाही की वो मेरे विचार में सही थी, इसलिए मैंने कुछ नहीं कहा। दूसरी बात मेरा न तो आपसे कोई वैर है, और ना ही vkvora2001 से कोई मित्रता, और न ही यह नेतागिरी करने का कोई प्रयास है; नीति का प्रश्न है, कल को मुझसे या किसी अन्य सदस्य से अनजाने में कोई गलती हुई तो सही राह क्या है, मैं सिर्फ यह जानने की कोशिश कर रहा हूँ। यह भी हो सकता है कि हिन्दी विकिपीडिया के सदस्य अंग्रेजी विकिपीडिया की नीतियों की बजाय अलग नीतियाँ निर्धारित करें, अगर ऐसा होता है, तो वह मुझे मान्य होगा।
अब आपके तर्कों का जवाब - जीहाँ, मैं चाहता हूँ कि हर अलग गलती के लिए अलग से चेतावनी दी जाए। विकिपीडिया वेबसाइट बहुत जटिल है और इसके अलग-अलग विशेषताओं की जानकारी तो मुझे भी नहीं (3 साल संपादन करने के बाद भी), फिर विकिपीडिया समाज के नियम भी कुछ कम नहीं। ऐसे में गलतियाँ होना स्वाभाविक है। (अगर आप चाहें तो मैं आपकी 3-4 गलतियाँ अभी गिना सकता हूँ, लेकिन बात यहाँ आपकी गलतियों की नहीं हो रही।) मेरा फिर कहना है कि इस सदस्य को पहली बार वार्ता या लेख मिटाने पर चेतावनी मिलती तो ये यह गलती दोबारा नहीं करते। इस सदस्य ने बहुत सी ऐसी बातें की हैं जो मेरे विचार में भी निस्संदेह गलत थी, और जिनसे सभी सदस्य इनसे नाराज हैं, लेकिन मैं चाहूँगा कि प्रबन्धक यहाँ स्पष्ट करें कि इनमें से किन गलतियों के चलते इन्हें प्रतिबंधित किया गया है। मैं यह भी फिर कहूँगा कि लेख मिटाने के लिए जबतक इस सदस्य को स्पष्ट रूप से चेतावनी नहीं मिली, हम यह सीधा नहीं मान सकते कि इन्हें इस नीति की जानकारी थी। रही बात योगदान की गुणवत्ता की, तो विकिपीडिया पर मूर्खता-पूर्ण लेखों का भी जमकर स्वागत किया जाता है। इन्होंने जो कुमारपाल पर लेख शुरु किया वह अब अन्य सदस्यों के सहयोग से अंग्रेजी विकिपीडिया के लेख से कई गुना अच्छा बन गया है।
जैनजी, आपको अपनी बात दो जगह लिखने का कष्ट करने की जरूरत नहीं, यह पृष्ठ मेरी ध्यानसूची में है, आप यहाँ लिखेंगे तो मुझे सूचना मिल जाएगी। सिर्फ एक बात और कहूँगा। भावुकता की बजाय तर्कों और तथ्यों तक आप अपनी बात सीमित रखेंगे तो मुझे समझने में आसानी होगी। आपके, अन्य सदस्यों और प्रबन्धकों के विचार जानने को उत्सुक हूँ। -- दाढ़ीकेश २३:४७, १० मार्च २००८ (UTC)
तो भैया इतना सम्झाने के बाद भी आपको तिल का ताड बनाने का शौक है तो वही सही । आपने कहा हि कि मै चौपाल पर ही आपका उत्तर दूं । ठीक है । पहली बात आपकी ये बात गलत है जो आपने कहा था कि आपके वोहरा को चेतावनी के मिलने के बाद भी उनके लेख आज भी मौजूद है (मेरे वार्ता पर और भारत के संविधान पर) सही है कि नही ------ बताइए (तर्क् और तथ्य भी है यह भावुकता नही )। दूसरा कुमारपाल की बात यह लेख राजिव्मास जी द्वार ध्यान मे लाने के बाद पूर्णिमा वर्मन ने ठीक किया फिर आखिर में राजिव्मास ने उसे श्रेणीबद्द किया । अब हर लेख को तो ये दोनो थीक तो नही कर सकते । दाढ़ीकेश आपने तीन साल काम किया है । यानि कि आप मेरे वरिशठ है । बडिया है तभी आप अपने संवाद पर लिखने के बजाए चौपाल का संवाद के रूप मे प्रयोग कर रहे है । अब आप मेरी गलती की बात करते है ठीक है करे, अगर मै कोई गलती करता हुं विकि पर तो भैइया मेरे यह आप लोगो का ही फर्ज है कि मुझे बताए और यह मेरा मन है कि उसे दिल से मानू ना कि आप पर ही चड जाऊ । आप मुझसे वरिष्ठ है (भैइ 3 साल संपादन किया है आपने), इस्लिए आपको तोडा घमन्ड हो गया है कि आप की ही बात सब माने य्हा तक कि आप अन्य सद्स्रयो की भी नही मान रहे है वोहरा के लिए इसमे शायद आपकअ कोऐ स्वर्थ होगा खैर । और आखरी बात वोहरा को इतनी देश्द्रोही बाते करने मे केवल तीन महिने का प्रतिबन्ध मिला है आजीवन नहि । आप को उस पर भी आपत्ती है । तो आपकी मर्जी है जो चाहे सोचे । वोहरा का तीन महीने का प्रतिबन्धन सही है । बेवकूफी और देश्द्रोही बाते करने वालो की कही भी कोई जगह नही है , आपके मन मै है तो यह आपकी मानसिकता है आप भी विदेशी आक्रमण्कातरी को यहा हमे लूट्ने के लिए बुला ले । भारत के संविधान की बुरैइया करे । जैनो को देश्द्रोही बताएं । मन्दिरो को कळंक बताएं । माफ् किजिए आप जैसे लोग कोई काम शुरू नही करते अगर कोई शुरू कर दे तो उसमे गलतिया निकालने मे आप जैसे लोग सबसे आगे रहते है (भैइ 3 साल संपादन किया है आपने)। होली के पृष्ट पर आप ये ही कर रहे है । एक बार बता दू काम शुरू करना और उसे क्रियान्वित करते रहना मुश्किल है उसमे गलतिया निकाल्ना आसान (भैइ 3 साल संपादन किया है आपने) जो आप का काम है । एक बार और 3 साल संपादन नही केवल टाइम पास किया है आपने यहां । अब हिन्दी विकि केवल एक टाइम पास की जगह नही है अब यहा श्रम्दान दिया जात है सही और प्रमाणित जानकारी दी जाती है । और हां जो देश्द्रोही बाते करता है उसके हित की बात करना भी देश्द्रोहिता है । और अब आप भी उसी श्रेणी मै हैं । लिकह्ने को अभी भी मेरे पास बहुत शब्द है लेकिन चौपाल प्रचार या फाल्तू संवादो के लिए नही बना । यह मै जानता हू और मुझे तीन महिने भी नही हुए इस ज्ञान मन्दिर मै --Dr. Jain ०६:४६, ११ मार्च २००८ (UTC)
क्षमा कीजियेगा दाढ़ीकेश मुझे या मुझ जैसे हिन्दी स्वंयसेवको के लिए हिन्दी विकिपिडिया केवल एक वेबसाइट नही है, जैसा आप मानते है, मै आपकी बात से असहमत हूँ । बाकी बात श्री वोहराजी को प्रतिनब्धित करने की वह सही था । आप भूल जाए कि यह केवल एक वेबसाइट नही हैं । आज हजारो हिन्दी भाषी अब हिन्दी विकिपीडीया को देखते है इसमे से ज्ञान के मोती चुनते है । प्रबन्धक होने के नाते यह मेरा फर्ज बनता है कि उन तक बातो को रोकू जो विवादित है । आपकी जैन जी को लिखि बात कि "इन्टरनेट पर लिखी हर ऊल-जलूल बात पर अगर आप अपना पारा गरम करने लगे, तो जल्दी ही ब्लड-प्रैशर की बीमारी का सामना करना पड़ेगा।" पर मुझे आपकी तरह हंसी भी नही आती । मुझसे इतनी बडे संवाद नही किए जाते । इतने मे तो हम सकारात्मक होकर और अधिक लेखो पर क्रियात्मक कार्य कर सकते है । आगे आप मुझसे अधिक समझदार है । धन्यवाद --राजीवमास ०८:४२, ११ मार्च २००८ (UTC)
मेरा शायद इन दाडीकेश की नजरो मे कोई महत्व ना हो लेकिन राजिव्मास जी आप माने या ना माने इन जैसे लोगो की नजरो में ज्ञान, देश, तर्क्,भाषा और सिद्दान्तो का कोई महत्व नही है । जब मैने इन दाडीकेश को वोहरा की कर्तूतो के लिए सबुत दिए तो इसने (दाडीकेश ने) बात ही घुमा दी । अब चोपाल पर ही लाकर इन जैसो की जवाब्देही तय करनी चाहिए आपको --Dr. Jain १०:३१, ११ मार्च २००८ (UTC)
इस वार्ता से मेरा धैर्य चुक चुका है। यह बिल्कुल सही है कि मै यहा टाइमपास करने आता हू, इसलिये मुझे अपने या किसी और के गुण-दोशो की चर्चा करने की कोइ इच्छा नही है। मुझे अपने योगदानो पर गर्व है, यह किसी को घमण्ड लगता है तो लगे। राजीवजी, आप हिन्दी विकिपीडिया को गम्भीरता से लेते है यह बहुत अच्छी बात है, इसी कारण आप प्रबन्धक है और मै नही। लेकिन सनद रहे कि आपने अभी तक सदस्य vkvora2001 को प्रतिबन्धित करने के ठोस कारण प्रस्तुत नही किये है। -- दाढ़ीकेश १९:१६, ११ मार्च २००८ (UTC)
चेतावनी के बाद भी अपनी विवादित बातो को लेखों से नही हटाना वार्ता:Jain और वार्ता:भारतीय संविधान(सोमनाथ मंदीर को समस्त मानवजात का कलंक स्मारक है ।

) और (पहले कारणो के साथ लगा हुवा है अलग नही )अपने विवादित कथनो पर प्रबन्धक की तरफ् से चेतवनी मिलने के बाद बजाए उसका पालन करने के या प्रबन्धक से सकारात्मक वार्ता करने के उसे धमकी के रूप में प्रचारित कर हिन्दी विकि पर सद्भावना का माहोल बिगाडना । साथ ही संवादो से लेख मिटाना (प्रतिबन्धित लेखक हिन्दी ही नही गुजराती और अंग्रेजी विकी पर काम करता है अत: ये नही माना जा सकता कि उसे इस तथ्य की जान्कारी नही थी, कम से कम वह तीन बार तो एसा नही करता) । --राजीवमास ०५:४१, १२ मार्च २००८ (UTC)

क्या कोई बिना लोग ईन करे नए सद्स्यो का स्वागत कर सकता है

अगर ऐसा है तो बताए और अगर एसा नही है तो ओस आई पी अड्रेस पर तत्काल कर्वाही करे--Dr. Jain ११:५६, १० मार्च २००८ (UTC)
शायद ऐसी चिजो पर किसि का ध्यान नही जाता, क्यों दाढ़ीकेश साहब । अब किसे चेतावनी दे ???? आई पी अड्रेस तो हमेशा बदलता है --Dr. Jain १३:३६, ११ मार्च २००८ (UTC)

उदाहरण

  1. (अन्तर) (इतिहास) . . न सदस्य वार्ता:Bhu pain‎; १२:०७ . . (+२२) . . 59.183.174.26 (Talk) (नया पृष्ठ: {स्वागत})
  2. (अन्तर) (इतिहास) . . न सदस्य वार्ता:Devendra gupta‎; १६:०० . . (+२२) . . 59.184.176.63 (Talk) (नया पृष्ठ: {स्वागत})
  3. (अन्तर) (इतिहास) . . न सदस्य वार्ता:Parolu Esperanto‎; १५:५८ . . (+२२) . . 59.184.176.63 (Talk) (नया पृष्ठ: {स्वागत})
आपने सीधा मुझसे सवाल पूछा है इसलिए बता रहा हू। मेरी जानकारी मे विकिपीडिया पर ऐसा कोइ नियम नही है। नये सदस्यो का स्वागत करना बहोत अच्छी बात है चाहे इसे सदस्य लाग इन करके करे या बिना लागिन किये। -- दाढ़ीकेश १९:०३, ११ मार्च २००८ (UTC)
दाढ़ीकेश अगर किसी नए सद्स्य को कुछ पुछना है या जानकारी लेनी है जो यहा के वातावरण के बारे मै नही जानता पूरी तरह से अन्भिग्य है तो क्या वह स्वागत देने वाले अनाम आई पी अद्रेस से सहायता मांगेगा । वैसे दाढ़ीकेश मेरी यह निजी राय है कि अगर ऐसा नियम नही है तो बनाना चाहिए और अगर नही है भी तो आप निर्णय अकेले नही ले सकते । आप को चाहिए था कि इस विशय पर यदि आपको जानकारी नही है तो आपको भी इस विषय पर प्रबन्धको से बात करनी चाहिए थी । क्योकी आप जैसे ज्ञान्वान (?) के समर्थन से यहा ऐसी गतिविशिया काफी बड गैइ है -- Dr. Jain ०६:२७, १२ मार्च २००८ (UTC)
नए सद्स्य का स्वागत सदैव लाग-इन कर किसी पहले से सद्स्य द्वारा ही करना चाहिए । यह नैतिक, दार्शनिक और व्यावाहरिक रूप में सही होगा । अगर ऐसा कोई नियम नही है तो हिन्दी विकि पर यह नियम बनाना चाहिए --राजीवमास ११:३६, १२ मार्च २००८ (UTC)

शिकायत

मुझे दुख होता है की ऐसी बात कोई छ्द्म (छुप कर कैसे करता है बिना लाग्-इन करे और बिना ह्स्ताक्षर छोडे) । मेरे वार्ता पर अजीब संदेश छोड रहा है खैर मेरे अनुमान से यह वी के वोहरा हो सकता है या दाडीकेश । मेरे पास जवाब है और बहुत जोरदार लेकिन पहले सवाल पूछने वाले अपने को सामने लाएं --Dr. Jain ०८:१०, १४ मार्च २००८ (UTC)

मोटा पाठ

यहा तक की निचे लिखे संवाद पर मेरा गलत ह्स्ताक्षर डाला गया है, यह मेरा लिखा संवाद नही है ।
न चैतद्विद्म: कतरन्नो गरीयो यद्वा जयेम यदि वा नो जयेषु:। यानेव हत्वा न जिजीविषाम स्तेडवस्थिता: प्रमुखे धार्तराष्ट्रा:॥
हम यह भी नहीं जानते कि हमारे लिये युद्द करना और न करना - इन दोनोंमंसें कौन - सा श्रेष्ठ है, अथवा यह भी नहीं जानते कि उन्हें हम जीतेंगे या हमको वे जीतेंगे । और जिनको मारकर हम जीना भी नहीं चाहते, वे ही हमारे आत्मीय धृतराष्ट्रके पुत्र हमारे मुकाबलेमें खडे है ।

--Dr. Jain ०८:२१, १४ मार्च २००८ (UTC)

चौपाल से एक पाल

कृपया चौपाल का शीरा देंखे । यह चौपाल एक पाल बन रहा है । धनयवाद ।

Edit Wars Vs Constructive editing

Right now there is good opportunity for those, who like edit wars, at an english wikipedia article en: Religious violence in India
By the way I began and is working on a constructive article en:Religious harmony in India to give justice to positive side of Indian Life , wish and request all to join me in bringing up this english article .Thanks and Regards Mahitgar १७:२२, १४ मार्च २००८ (UTC)

धर्म

धर्मका मतलब मान्यता होती है । रामायण, महाभारत, गीता, वर्धमान, बुद्ध, पृथ्वीराज चौहान, महाराना प्रताप,अकबर, औरंगजेब से लेकर शीवाजी तक सीर्फ मान्यता ही मालुम है। तथ्य या ईतिहास तो हमें विदेशी अंग्रेजोने बताया है । इतना ही नहीं अंजता की गुफाए हमें मालुम नहीं थी । शीवाजी की जन्म तारीख के लीये क्या बडा वीवाद आज भी महाराष्ट्रमें चालु है । सरकार एक मना रही है ओर शीवसेना वाले दुस्ररी । क्या विटंबना है ? लिखने से सभी ढोंगीयोंका पर्दाफास जरुर होगा । धन्यवाद !

सभी प्रबंधक ध्यान दें

  • कृपया इस चौपाल के पुराने अवतरण बरोबर देखें । यह राजीव मास ओर रवी जैन दोनो एक ही है ।
  • अतः राजीव मास ओर रवी जैन के सामने उचीत कार्यवाही की जाय ।
  • 59.184.191.121 १६:४१, १७ मार्च २००८ (UTC)


सदस्य वार्ता:124.124.36.4

  • (cur) (last) ०६:२३, १४ मार्च २००८ 59.184.143.16 (Talk) (२२,२३१ bytes) (→सच) (पूर्ववत करें)
  • (cur) (last) ०६:२२, १४ मार्च २००८ 59.184.143.16 (Talk) (२२,२३१ bytes) (पूर्ववत करें)
  • (cur) (last) ०६:०४, १४ मार्च २००८ Jain (Talk | योगदान) (२१,९९१ bytes) (→कारवाही) (पूर्ववत करें)
  • (cur) (last) ०६:०३, १४ मार्च २००८ 124.124.36.4 (Talk) (२२,०१७ bytes) (→कारवाही) (पूर्ववत करें)
  • (cur) (last) ०५:४६, १४ मार्च २००८ 59.184.143.16 (Talk) (२१,७१९ bytes) (पूर्ववत करें)
  • (cur) (last) ०५:३८, १४ मार्च २००८ Jain (Talk | योगदान) (२०,८३३ bytes) (→सच) (पूर्ववत करें)


सदस्य जैन पर जायें । । ओर उपर लिखे गये बार बार देखें । आपको मालुम पडेगा किसने फेर फार किया है ? राजीव मास ने बहोत कोशीश की इसको मिटाने की । अब व शक्य नहीं है । प्रबंधकों से विनंत्ति की जाती है आप बार बार उपरोक्त फेरफार को देखें। 59.184.150.1 ०४:१४, १८ मार्च २००८ (UTC)

सभी प्रबंधक ध्यान दें

  • सदस्य जैन पर जायें
  • सदस्य जैन के संवाद पर जायें
  • सदस्य जैन के पुराने अवतरण देखें
  • लास्ट ०५:३८ मार्च १४, २००८ जैन तक ले जायें ओर जैन पर कलीक करें
  • बरोबर देखकर अगला अंतर पर क्लीक करें
  • ५:४६ को काम हुआ। नीचे सही देखें । माहितघरने सही किया है ।
  • बरोबर देखकर अगला अंतर पर क्लीक करें
  • ०६:०३ को काम हुआ । १२४.१२४ ने काम किया । नीचे सही भी उसकी है ।
  • बरोबर देखकर अगला अंतर पर क्लीक करें

०६:०४ को काम हुआ । बरोबर देखें । उपर भी देखं। जैन ने काम किया है। नीचे सही १२४.१२४ से बदलकर जैन कर द गयी है । समय भी बदल दिया गया है। ०६:०३ से ०६:०४ कर दिया गया है । पुरा पोल यहां खुलता है ।

  • उस लोग को बरोबर देखें
  • वापस सब रीपीट करें ।
  • राजीव मास ने क्या कोशीष की है वह देखें


कुछ देरी से आया लेकिन इन आई०पी० अद्रेस (पतिबन्धित कुठाग्रस्त रोगी) की खबर लेता हूँ । मेने सुना है कि यदि झूठा चिल्लाकर बोले (यहाँ चोर मचाए शोर) और उसका कोई विरोध ना करे तो झूठ भी सच हो जाता है । अब इस मानसिक रोगी को जो शायद मेरे पिछे पागल हो गया है । मै बता दू कि मेरे वार्ता के बाबत मुझसे सीधा सवाल पूछा जाए और सामने आकर पूछ ले तो अच्छा है । मेरे पास जावाब है इस बेवकूफ्, देश्द्रोही,और मानसीक रोगी के हर सवाल का । क्योकी मै चाहता हु कि हिन्दी विकि पर सद्भावना का माहोल रहे --Dr. Jain ०५:४५, १८ मार्च २००८ (UTC)

बरोबर देखें

  • यह राजीव मास ओर रवी जैन दोनो एक ही है । बरोबर जो उपर लिखा है वैसा करें । पुरा पोल खुलता है ।
  • अब इसकी इन्टरनेशनल तथा अन्य समाचारों माध्यम को जानकारी दी जायेगी । धन्यवाद
  • 59.183.178.208 १०:३६, १८ मार्च २००८ (UTC)

विनंत्ति

लगता है अब राजीव मास वीकीपीडीया पर आयेगा नहीं। राजीव मास ओर पुर्णीमा वर्मन ने मीलकर वीकीपीडीयाको बहोत नुकशान कीया है । कम से कम सभासदोकी माफी मांगने आना चाहीये। 59.184.170.88 ०४:२३, १९ मार्च २००८ (UTC)

स्वागत

सदस्य धवलभाई, आपने एक दो जगह सदस्य के वार्ता या टोक पेज पर उपरोक्त संदेश में राजीव मास नामके प्रबंधक ने पुर्णीमा वर्मन नामकी प्रबंधक के सहाय से तथा राजीव मास का डमी एकाउन्ट रवी जैन के नामसे काला कृत्य कर के हीन्दी वीकीपीडीया का बहोत बडा नुकशान कीया है। अब हीन्दी वीकीपीडीया के सभी प्रबंधक माथे पर हाथ राखकर रो रहे है। नीची एक लिन्क दी गयी है। कृपया उसे क्लीक करें । राजीव मास नामके प्रबंधक का सब भंडा फुट गया है । लीन्क दबाने से पहले उपरोक्त मेसेज को बरोबर एक दो बार जरुर पढ लें ताकी आप स्वम समज जायेंगे पुर्णीमा वर्मन ने 124.124 को क्यों हताया। बकाया आप स्वम समज जायेंगे ।
http://hi.wikipedia.org/w/index.php?title=%E0%A4%B8%E0%A4%A6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AF_%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BE:Jain&diff=next&oldid=172723
59.184.134.16 १४:०९, १९ मार्च २००८ (UTC)

मेरा पक्ष

हालाकि आपने मुझ से नही पुछा है लेकिन मै बताना चाहता हूँ क्योकी प्रतिबन्धित vkvora2001 को ना तो लिखने की तमीज है और नाही तर्क देने कि । मेरे वार्ता पर म्मेरे ही हद्ताक्षर के पीछे श्री राजीव्मास, और मेरे लिए गलत औरौर बिना कारण मान्हाहिजनक बाते कर रहा है यहा तक कि पुर्णिमा बर्मन जी और अन्य सद्र्यो को भी खुली चुनौति दे रहा है । और वो भी विबिन्न आई पी अद्रेस से । यह कुंठित रोगी अंग्रेजी विकिपीडिया पर भी प्रतिबन्धित है । पिक्ष्ले कुछ दिनो से आपत्तिजनक बाते यहा पागलो की तरह ल्लिख रहा है जब मैने मराठी पर भी यही तरीका देखा तो पक्का हो गया कि यह vkvora2001 ही है इस दुष्ट की लेखन शैली भी मेल खाती है । कारण्- मै ही हिन्दी विकि पर इसके देश्द्रोही संवाद को सामने लाया था । और मैने ही इसे जैनो को सीधे सीधे देश्द्रोही बोलने पर आपत्ती की थी । अरे मेरा वार्ता पेज मैने ही ह्स्ताक्षरित किया और उसका आरोप लगाता है श्री प्रबन्धक राजिव्मास पर , यह उनसे चिडता है कियोकी उन्होने ही इसे बार बार अपने लेखि को सुधारने को कहा (ये तो आप भी आप ही मराठी विकि पर इसे कहते हैं और अंग्रेजी विकिपीडिया पर भी इसको अक्ल नही आई) और प्रस्ताव पर सहम्ती के साथ ठोस कारण देकर इसे प्रतिबन्धित किया था । पिछ्ले दिनो जो हुवा मुझे इसका खेद है लेकिन मै अब हिन्दी विकी पर बहुत अधिक प्रसिद्ध् हो चुका हूं। --Dr. Jain १४:२३, १९ मार्च २००८ (UTC)

स्वागत

राजीव मास या रवी जैन दोनो एक ही है वह नीचे लीखी लीन्क से मालुम पड जाता है।
http://hi.wikipedia.org/w/index.php?title=%E0%A4%B8%E0%A4%A6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AF_%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BE:Jain&diff=next&oldid=172723
59.184.134.16 १४:२७, १९ मार्च २००८ (UTC)
सेवामें राजीव मास, प्यारसे रहे हिंदी भाषाकी वृद्धीके लिए लगन से काम करे

स्वागत

कृपया भगवद्गीता का पठन पाठन करें ।
http://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BE:%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%AE%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%AD%E0%A4%97%E0%A4%B5%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%97%E0%A5%80%E0%A4%A4%E0%A4%BE
उपरकी लीन्क का चार श्र्लोक का मुख पाठ करें । भवदीय 59.184.134.16 १६:०१, १९ मार्च २००८ (UTC)

मेरा पक्ष


देश्द्रोही, कुंठाग्रस्त, प्रतिबन्धित और मानसिक रोगी vkvora2001 को करारा जवाब, अब हुवा ये दुष्ट् पूरा काला

हालाकि आपने मुझ से नही पुछा है लेकिन मै बताना चाहता हूँ क्योकी प्रतिबन्धित vkvora2001 को ना तो लिखने की तमीज है और नाही तर्क देने कि । मेरे वार्ता पर म्मेरे ही हद्ताक्षर के पीछे श्री राजीव्मास, और मेरे लिए गलत औरौर बिना कारण मान्हाहिजनक बाते कर रहा है यहा तक कि पुर्णिमा बर्मन जी और अन्य सद्र्यो को भी खुली चुनौति दे रहा है । और वो भी विबिन्न आई पी अद्रेस से । यह कुंठित रोगी अंग्रेजी विकिपीडिया पर भी प्रतिबन्धित है । पिक्ष्ले कुछ दिनो से आपत्तिजनक बाते यहा पागलो की तरह ल्लिख रहा है जब मैने मराठी पर भी यही तरीका देखा तो पक्का हो गया कि यह vkvora2001 ही है इस दुष्ट की लेखन शैली भी मेल खाती है । कारण्- मै ही हिन्दी विकि पर इसके देश्द्रोही संवाद को सामने लाया था । और मैने ही इसे जैनो को सीधे सीधे देश्द्रोही बोलने पर आपत्ती की थी । अरे मेरा वार्ता पेज मैने ही ह्स्ताक्षरित किया और उसका आरोप लगाता है श्री प्रबन्धक राजिव्मास पर , यह उनसे चिडता है कियोकी उन्होने ही इसे बार बार अपने लेखि को सुधारने को कहा (ये तो आप भी आप ही मराठी विकि पर इसे कहते हैं और अंग्रेजी विकिपीडिया पर भी इसको अक्ल नही आई) और प्रस्ताव पर सहम्ती के साथ ठोस कारण देकर इसे प्रतिबन्धित किया था । पिछ्ले दिनो जो हुवा मुझे इसका खेद है लेकिन मै अब हिन्दी विकी पर बहुत अधिक प्रसिद्ध् हो चुका हूं। --Dr. Jain १६:३८, १९ मार्च २००८ (UTC)

आभार एवम धन्यवाद

बेचारे राजीव मास ओर रवी जैन एक ही है । कृपया लिन्क को बरोबर देखें। १२४-१२४ राजीव मास का आइपी है । गलती नहीं कुकर्म में अन्धा हो गया ओर लोग ईन करना भुल गया । फीर सुधार ने गया । राजीव मास ओर रवी जैन एक ही है । पुरा भंडा फट गया है । सभी प्रबंधकको वीनंत्ती की जाती है भगवद्गीता के टोक पेज पर संस्कृत ओर हीन्दी श्र्लोक है उसका पठन पाठन कर राजीव मास ओर पुर्णीमा वर्मन को सात्वन दें । 59.184.134.16 १६:४९, १९ मार्च २००८ (UTC)

एक हप्ते के लिए दूर्लक्ष करे

सर्व सदस्योसे आवाहन है की पूर्व सदस्य व्हीके वोरा की अनामिक गतीविधीयोको एक हप्ते केलिए नजर अंदाज करे | इस दौरान उनसे प्रयूक्त सभी आयपी अड्रेसो को यंहा लिखे । यदी वो एक हप्ते मे अपनी गतीविधीयोसे बाज ना आए तो मेटा पर इसकी वार्ता देकर सुयोग्य करवाईकी विनंती की जाएगी। इसी अवसर पर हम सदस्य जैन को भी हिदायत देते है की वो किसी विवाद मे ना पडते हूए खूदभी थोडे समयकेलिए मौन व्रत का पालन करे।
Mahitgar १६:५६, १९ मार्च २००८ (UTC)
ठीक हैं (ये ही इलाज है इस vkvora2001 का) --Dr. Jain १७:००, १९ मार्च २००८ (UTC)
  1. 59.183.189.175
  2. 59.183.142.87
  3. 59.183.178.208
  4. 59.184.185.156
  5. 59.184.159.38
  6. 59.184.130.231
  7. 59.184.134.16
  8. 59.184.170.88
  9. 59.184.147.162
  10. 59.183.148.134
  11. 59.183.157.244
  12. 59.183.142.87
  13. 59.183.136.33
  14. 59.184.143.16

आभार एवम धन्यवाद

कृपया लीन्क बरोबर देखें । उसे आगे पीछे करें। रवी जैन ओर राजीव मास दोनो एक ही है । माहीतघार अब तो कुछ समय या घण्टे का प्रश्रन है । पुरे संसार को मालुम पडेगा हीन्दी वीकीपीडीया के प्रबंधकोने क्या कीया ? बेचारी पुर्णीमा वर्मनकी दया आती है । उसने १२४-१२४ का लोग मीटा दीया । अन्यथा राजीव मास या उसका डमी रवी जैन का भंडा कबका फुट गया था । कृपया भगवद्गीता का तथा टोक पेज का जरुर पठन पाठन करे।59.184.134.16 १७:०७, १९ मार्च २००८ (UTC)

आभार एवम धन्यवाद

कोई मतलब नहीं है । अब तो माफी, क्षमा की भी जरुरत नहीं है । माहीतघरकी मध्यस्थी भी जरुरत नहीं है । भगवद्गीता लेख के टोक पेज पर चार-पांच श्र्लोक है ओर उसका हीन्दी सही या गलत अर्थ या मतलब कीसीने लीखा है । रवी जैन, राजीव मास ओर माहीतघर से विनंती है जरुर पठन पाठन करे । आगे पुर्णीमा वर्मन से पहले बेचारी शब्द का घलती से वपराश हो गया है । माहितघर आपको विनंत्ती है वह शब्द नीकाल दें। पुर्णीमा वर्मन को मालुम भी नहीं पडता है इधर - उधर क्या हो रहा है। कर्म कीये जा के मुताबीक लिखती है । रवीवार को मुंबई की विल्सन कालेज में फीलोसोफी के प्रोफेसरों को कीसीने कर्म ओर कर्म फल का जो भाषण ओर कीसी ???? ने उसका मतलब कहा है समज लीजीये भेण के बच्चे जैसा होता है । अब कर्म तथा उसका फल क्या होता है वह समज गये होंगे । 59.184.134.16 १७:२९, १९ मार्च २००८ (UTC)

चेतावनी

उपरोक्त I.P. Address को चेतावनी दी जाती है कि हिन्दी ज्ञानकोश पर कुतर्क एव व्यक्ति विशेष पर गलत एव अपमानजनक टीप्प्णी ना करे और ज्ञानकोश की लोकतान्त्रीक स्थिती का गलत प्रयोग ना करे । यदि भविष्य में भी इन I.P. Address का यही रवैया जारी रहा तो इनके विरुध सख्त कर्य्वाही की जाएगी ।--राजीवमास ०५:३४, २० मार्च २००८ (UTC)

आभार एवम धन्यवाद

कोई मतलब नहीं है । अब तो माफी, क्षमा की भी जरुरत नहीं है । माहीतघरकी मध्यस्थी भी जरुरत नहीं है । भगवद्गीता लेख के टोक पेज पर चार-पांच श्र्लोक है ओर उसका हीन्दी सही या गलत अर्थ या मतलब कीसीने लीखा है । रवी जैन, राजीव मास, पुर्णीमा वर्मन ओर माहीतघर से विनंती है जरुर पठन पाठन करे ।
पुर्णीमा वर्मन को मालुम भी नहीं पडता है इधर - उधर क्या हो रहा है। कर्म कीये जा के मुताबीक लिखती है । रवीवार को मुंबई की विल्सन कालेज में फीलोसोफी के प्रोफेसरों को कीसीने कर्म ओर कर्म फल का जो भाषण ओर कीसी ???? ने उसका मतलब कहा है समज लीजीये भेण के बच्चे जैसा होता है । अब कर्म तथा उसका फल क्या होता है वह समज गये होंगे ।
59.184.156.91 ०५:४८, २० मार्च २००८ (UTC)

Spam

Kaun hai yaar ye sabke talk page par bakwaas kar raha hai. Maquahuitl ०९:०७, २० मार्च २००८ (UTC)

प्रबंधक राजीव मास, उनका डमी अकाउन्ट रवी जैन तथा प्रबंधक पुर्णीमा वर्मन

यह पत्र प्रथम जहां टाईप हुआ है वह लीन्क नीचे दी गयी है ।

http://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B8%E0%A4%A6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AF_%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BE:Vkvora2001


हीन्दी वीकीपीडीया के प्रबंधक राजीव मास ने अंग्रेजी, हीन्दी, मराठी ओर गुजराती वीकीपीडीया के उपर रवी जैन नामका डमी अकाउन्ट बनाकर बहोत बडा कुकर्म कीया है । प्रबंधक राजीव मास के इस कुकर्म में अन्य प्रबंधक पुर्णीमा वर्मन ने टेका दीया है ।

प्रबंधक राजीव मासका पुरा भंडा खुल गया है ।

चौपाल में पुरा भंडा तथा तथ्य दीया गया है ।

राजीव मास और पुर्णीमा वर्मन के सामने कार्यवाही की जाय ।

इस कुकर्म की जानकारी सभी भाषाओंके प्रबंधको, ट्रस्टीओं तथा ईजीपतमें इकठ्ठे होने वालेको पेपर बनाकर दी जाय ।

जीसके लीये एक छोटीसी समीती बनायी जाय ।

यह पत्र हीन्दी वीकीपीडीया चौपाल , राजीव मास, पुर्णीमा वर्मन, डमी अकाउन्ट रवी जैन, अंग्रेजी, हीन्दी, मराठी, गुजराती वीकीपीडीया के प्रबंधको तथा अन्य जाने माने लोगों को भेजा गया है ।

तथ्यके लीये नीचे लींक दी गयी है । जीसमें 124.124 राजीव मास का आईपी है । बायें हाथ बाजु पीछले अंतर में स्पष्ट दीखाई देता है । डायें हाथ पर अगले अंतर को बराबर देखें । उपर नाम रवी जैन का है । राजीव मास समय बदल रहा है । आईपी भी बदल रहा है ।

तथ्यके लीये नीचे की लीन्क कलीक करें ।


http://hi.wikipedia.org/w/index.php?title=%E0%A4%B8%E0%A4%A6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AF_%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BE:Jain&diff=next&oldid=172723


Complaint forwarded

Complaint is lodged on Talk Page of Jimbo Wales and Talk Page of Administrators for missuse of Administrator Tools by Rajiv Mass, Purnima Varman, Manish Vashistha and Dummy Account of Administrator Rajiv Mass. I signed as vkvora

Miss Use on Hindi Wikipedia

Category:Wikipedians in India http://en.wikipedia.org/wiki/Wikipedia_talk:Noticeboard_for_India-related_topics

All most all and at least three confirmed have grossly missused their Administratators Tools on Hindi Wikipedia. Their Names are Rajiv Mass, Purnima Varman and Manish Vashishtha. Not only that Administratator Rajiv Mass has opened dummy account in name of Ravi Jain and miss used to harass other members of Hindi, Gujarati, Marathi, English wikipedia. I have complained in poor English to English Wikipedia Administratators and one has advised me to write here. Those who know Hindi very well should visit Hindi wikipedia to solve the problem and this fact should be brought to all Administratators of world. I signed as vkvora.