विकिपीडिया:चौपाल/पुरालेख 12

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Archive
पुरालेख

यह पृष्ठ विकिपीडिया चौपाल की वार्ताओं का पुरालेख पृष्ठ है। नवीनतम वार्ताओं के लिए देखें विकिपीडिया:चौपाल

अनुवाद

रेसिप्रोकटिंग इंजन को हिंदी मे क्या बोलते है। क्या इसका कोई मानक शब्द है। --गुंजन वर्मासंदेश १४:२०, २६ जून २००९ (UTC)

रेसिप्रोकटिंग इंजन = प्रत्यागामी इंजन (प्रति+आगामी)

117.196.208.181 ०१:२९, २७ जून २००९ (UTC)

स्वागत

सुरुचि जी ! आपका स्वागत है हिन्दी विकी पर। आपके शोध का विषय क्या रहा है? कृपया बताएँ ताकि लेख बनाने में आपकी विशेष प्रतिभा व दक्षता का लाभ विकी को मिल सके। मेरा भरपूर सहयोग आपके साथ है।--आलोचक ०५:०९, २७ जून २००९ (UTC)
नमस्कार आलोचक जी! स्वागत के लिए धन्यवाद। मेरे शोध का विषय था सन्धिनी का आलोचनात्मक अध्ययन। सन्धिनी जो महादेवी जी की कृति है। विकिपीडिया में मैं महादेवी जी पर लिखे गए लेख से आकर्षित होकर ही आई थी। जितना और जैसा अध्ययन उस लेख में प्रस्तुत किया गया है वह किसी शोधपत्र से कम नहीं। शायद मैं सन्धिनी के विषय में ऐसा एक लेख बनाना पसंद करूँ। वैसे साहित्य के तो अनेक विषयों पर बहुत कुछ लिखा जा सकता है। --सुरुचि ०५:३६, २९ जून २००९ (UTC)
सुरुचि जी ! महादेवी वर्मा पर तैयार किए गए लेख ने आपको विकी पर आने के लिए प्रेरित किया, इसके लिए आपका आभार और उस लेख के सभी रचना सहयोगियों का आभार। एक अच्छा लेख अनेक साहित्यकारों व विद्वानों को विकी की ओर आकर्षित कर सकता है और एक अपरिपक्व लेख तमाम विद्वान पाठकों को विकी से दूर भी कर सकता है। इसलिए त्रुटि रहित महत्त्वपूर्ण लेख विकी पर बने इस दिशा में हमारा प्रयास चल रहा है। आप संधिनी पर लेख तैयार करें तो निश्चय ही विकी को एक और श्रेष्ठ लेख मिलेगा। महादेवी जी पर पूर्णिमा जी ने लेख तैयार किया था। आपको विकी पर पूर्ण सहयोग मिलता रहेगा।
--आलोचक ०९:४४, २९ जून २००९ (UTC)


तकनीकी प्रश्न

यह वार्ता विकिपीडिया:भाषा संबंधी कठिनाइयाँ पर स्थानांतरित की गयी है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:०९, ३१ जुलाई २००९ (UTC)

सदस्य:Wikitrans 2

प्रभंदक गण कृपया सदस्य:Wikitrans का योगदान देखे! मुझे यह कोई बोट लगता है जो अंगरेजी विकी से लेखो को अनुनादित कर हिंदी विकी पर अपलोड कर रहा है. हालाँकि Wikitrans के योगदान मत्वपूर्ण है परन्तु उनके कारण लेखो की पुनरवृत्ति हो रही है.यह देखे द्वितीय विश्व युद्घ और द्वितीय विश्वयुद्ध. आप लोगो से निवेदन है की इस सदस्य या फिर अगर यह Bot है तो इसके programmer को ढूँढ कर उसे इस बात का समरण कराया जाये. --गुंजन वर्मासंदेश ०९:४२, ६ जुलाई २००९ (UTC)

ये भी देखिये आर्यभट और आर्यभट्ट --गुंजन वर्मासंदेश ०९:४६, ६ जुलाई २००९ (UTC)

चौपाल से पुनर्निर्देशन

चौपाल से भाषा एवं लेख संबंधी शिकायतों को सीधे भाषा एवं लेख संबंधित शिकायतों के पृष्ठों पर भेजने का सुझाव बहुत ही अच्छा है। इस प्रकार से हम चौपाल को अन्य वार्ताओं के लिए रख सकते हैं। इस लिए मैंने एक साँचा भी बनाया है। इसे चौपाल एवं अन्य सभी संबंधित पृष्ठों पर लगाया जा सकता है।

--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:०१, ७ जुलाई २००९ (UTC)

सुझाव

यह वार्ता विकिपीडिया:भाषा संबंधी कठिनाइयाँ पर स्थानांतरित की गयी है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:०९, ३१ जुलाई २००९ (UTC)

सांचा बनाने में मदद चाहिये

मैं "फर्रुखाबाद जिले के गाँव" परियोजना पर कार्य करना चाहता हूँ, क्या आप में से कोई इसके लिए एक साँचा बना सकते हैं ?
--आलोचक ०४:४२, १५ जुलाई २००९ (UTC)
हां बिल्कुल। आप आंकड़े दीजिए, या लिंक दीजिए जहां से गाँवों की सूची मिले। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०७:४८, १५ जुलाई २००९ (UTC)
लीजिए तैयार है साँचा:


--आशीष भटनागर  वार्ता  ०७:५७, १५ जुलाई २००९ (UTC)

धन्यवाद आशीष जी
--आलोचक ०१:१०, १६ जुलाई २००९ (UTC)

भीमबेटका

यह वार्ता विकिपीडिया:लेखों से संबंधित शिकायतें पर स्थानांतरित की गयी है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:१२, ३१ जुलाई २००९ (UTC)

हिन्दी की प्रसिद्ध पुस्तकों की सूची

यह वार्ता विकिपीडिया:लेखों से संबंधित शिकायतें पर स्थानांतरित की गयी है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:१२, ३१ जुलाई २००९ (UTC)

कृपया इस लेख में मदद करें

यह वार्ता विकिपीडिया:लेखों से संबंधित शिकायतें पर स्थानांतरित की गयी है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:१२, ३१ जुलाई २००९ (UTC)

R.D.Ranade

Mahitgar १४:१३, २२ जुलाई २००९ (UTC)

अफ़्रीका

विकिपीडिया:निर्वाचित लेख परख पर गुंजन जी ने अफ़्रीका को प्रस्तावति किया है। चौपाल पर सभी सदस्यों एवं प्रबंधको से अनुरोध है कि वे लेख को परखें और बताएँ कि इसे सुधारने के लिए और क्या किया जाना चाहिए। यदि यह लेख निर्वाचन के योग्य लगता है तो इसे विकिपीडिया:निर्वाचित लेख उम्मीदवार पर प्रस्तावित करें। धन्यवाद। --Munita Prasadवार्ता ०४:३१, २३ जुलाई २००९ (UTC)

अभी तक तो वहाँ ऐसा कोई लेख प्रस्तावित नहीं किया गया हॅ।
--122.163.147.83 १४:५३, २४ जुलाई २००९ (UTC)

अफ़्रीका को गुंजन जी ने परख की परख के बाद निर्वाचित लेख उम्मीदवार पर प्रस्तावित कर दिया है, सदस्य गण कृपया अपनी राय दें।--Munita Prasadवार्ता ०६:२७, २६ जुलाई २००९ (UTC)

विकिपरियोजना भारत के शहर

हिन्दी विकि में भारत से संबंधित अच्छे लेखों का नितांत अभाव है। इसलिए एक विचार/सुझाव है। भारत के अधिकांश शहरों के लेख बने हुए हैं। उन्हें सुधार कर अच्छा लेख बनाने की परियोजना आरंभ की जाये। यदि ५ लोग भी आलेख के लायक १ शहर रोज बनाएं, तो एक सप्ताह में ३५ एवं ५ सप्ताह के महीने में १७५ शहर तैयार हो जायेंगे। इन लेखों में:

  • ज्ञानसन्दूक तो लगे ही हुए हैं,
  • चित्र अंग्रेज़ी से मिल जायेंगे,
  • २-३ बाहरी कड़ियाँ गूगल पर देख लें, या अंग्रेज़ी से ही ले लें।
  • ३-५ सन्दर्भ गूगल पर देख लें, या अंग्रेज़ी से ही ले लें।
  • नीचे संबंधित सांचे लगा दें, जैसे उसके राज्य का सांचा।

यह सुझाव खासकर सक्रिय सदस्यों के लिए है: मुनिता जी, गुंजन जी, चारु जी, दिनेश स्मिता जी, डॉ॰ व्योम एवं स्वयं मैं। पहले पहल यथा संभव राजधानियां कवर करें। उसके बाद प्रत्येक शहर के महानगर, एवं मुख्य शहर। इसके साथ ही राज्यों को भी ले सकते हैं। इस संदेश के समर्थन के साथ ही सदस्य अपनी पसंद के ३-३ शहर बता सकते हैं। ये लेख अच्छे बन पड़ने पर आलेख में भी लगाये जा सकेंगे। क्यों ना हम अगस्त के माह में शहरों के आलेख ही दें।--आशीष भटनागर  वार्ता  १६:५२, २६ जुलाई २००९ (UTC)

परियोजना को पूर्ण समर्थन, भारत से सम्बन्धित अच्छे लेख बनने ही चाहिए पर पूरे महीने शहरों के ही आलेख हों थोड़ा अटपटा लग रहा है। पहले सभी राज्यों के राजधानियों के लेख बनना चाहिए, उसके बाद बड़े शहर एवं ऐतिहासिक स्थल या विशेष महत्व के स्थल जैसे गया, पूने, दार्जिलिंग, वाराणसी, बेलूर इत्यादि। वैसे मेरी पसंद के तीन शहर तो बता ही देती हूँ। कोलकाता, गैंगटक एवं पांडिचेरी। परियोजना यदि १ तारीख से शुरू की जाए तो और बढ़िया होगा तब तक शायद अफ़्रीका निर्वाचत हो जाए एवं प्रमुख लेख की समस्या हल हो जाएगी। इसके बाद कुछ दिन खुल कर काम कर सकेंगे।--Munita Prasadवार्ता १७:३१, २६ जुलाई २००९ (UTC)
मैं गाजीपुर से आरम्भ करना चाहता हूँ. अभी समय के अभाव के कारण सिर्फ एक ही शहर पर ध्यान केन्द्रित करना चाहूँगा --गुंजन वर्मासंदेश ०५:१३, २७ जुलाई २००९ (UTC)
ब्रिस्बेन के लेख को अनुवादित करते समय मेरे मन भी यही ख्याल आया था, और मैने शहरों के नाम भी चुन लिए हैं। छत्तीसगढ़ के ही हैं, दुर्ग-भिलाई, कोरबा और रायगढ़।
(गुंजन जी, दुर्ग पर लेख लिखने में थोड़ी देरी हो रही है, क्योंकि मामला दिल से जुड़ा हुआ है, लेकिन विश्वास रखिए मैं इसे मानक लेख के रूप में बनाने दृढ़ संकल्पित हूं।) --Charu १०:१०, २७ जुलाई २००९ (UTC)
राज जी आप सराहनीय कार्य कर रहे है। उम्मीद करता हूँ की आपके सानिध्य से छत्तीसगढ़ भी जगमगा उठेगा। शुभकामनायें --गुंजन वर्मासंदेश ११:०३, २७ जुलाई २००९ (UTC)

आप सबके समर्थन का बहुत बहुत धन्यवाद। यह परियोजना चालू कर दी गई है। इसे देखने के लिए कृपया विकिपीडिया:विकिपरियोजना भारत के शहर देखें। वहां अपने विचार लिखें। फिल्हाल उपलब्ध विचार मैंने स्थानांतरित कर दिये हैं। हां सदस्य अपने सदस्य [पृष्ठ पर परियोजना भागीदारी का सांचा भी लगा सकते हैं: {{प्रयोक्ता विकिपरियोजना भारत के शहर}}। इसके आगे इसकी वार्ता उस पृष्ठ के वार्ता पृष्ठ पर कर सकते हैं। --आशीष भटनागर  वार्ता  १६:५६, २७ जुलाई २००९ (UTC)

ध्वन्यात्मक रोमन-से-देवनागरी के लिए सुझाव

यह टूल अभी बीटा मे है , इसमे कई खामियां हैं जैसे आप इसमे अड्डा नहीं लिख सकते आदि। मेरा सभी को यह आमंत्रण है कि कृपया निम्न टेबल मे कमियों के बारे मे अवगत करयें व सुझाव दें , सुझावों व कमियों को देख कर कुछ दिन बाद मै टूल मे सुधार कर दूंगा --सुमित सिन्हावार्ता १८:५१, २६ जुलाई २००९ (UTC)

वांछित शब्द/अक्षर क्या वांछित शब्द/अक्षर गत
टूल से लिखा जा सकता है (हाँ /नहीं /कठिन है)
वांछित शब्द/अक्षर के लिए क्या कुञ्जी होनी चाहिए इससे क्या किसी शब्द/अक्षर पर असर पड़ेगा जानकारी देने वाले के हस्ताक्षर व टिप्पणी (कोई भी सदस्य टिप्पणी दे सकता है)
अड्डा नहीं aDDaa DD से ड़् / DDa से ड़ लिखा जाता है सुमित सिन्हावार्ता १९:१८, २६ जुलाई २००९ (UTC)
मैं विकि की ध्वन्यात्मक लिपि प्रयोग नहीं करता, इसलिए क्या समस्याएं आती हैं, कह नहीं सकता।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०४:०८, २७ जुलाई २००९ (UTC)
मै देवनागरी लिखने के लिए गूगल transliteration टूल या फिर बारहा इंडिक पेड का उपयोग करता हूँ। फोनेटिक टूल न प्रयोग करने के दो कारण है १. यह फायरफोक्स (3.0.3) पर उपलब्ध नहीं है २. IE पर लेख सहेजने या पूर्वालोकन में firefox/chrome से ज्यादा समय लगता है। इसके आलावा मैंने इस टूल का उपयोग ज्यादा नहीं किया इसलिए शब्द संरचना के बारे में ज्यादा कुछ नहीं लिख पाऊंगा। --गुंजन वर्मासंदेश ०५:०९, २७ जुलाई २००९ (UTC)
जब से फायरफाक्स ३ आया, उस पर यह ध्वन्यात्मक सम्पादित्र नहीं चलता है (फायरफाक्स २ पर चलता था।) इसलिये अब मैं 'ट्रान्सलिटरेटर' नामक एक फायरफाक्स 'ऐड-आन' प्रयोग करता हूँ जो मुझे किसी भी टेक्स्ट विन्डो में सीधे हिन्दी लिखने की सुविधा देता है। यह एक रूसी सज्जन द्वारा विकसित 'ऐड-आन' है जिसे मैने हिन्दी के लिये भी ढ़लवा लिया।

मुझे लगता है कि अपने पुराने ध्वन्यात्मक सम्पादित्र में आवश्यक परिवर्तन कराकर उसे फायरफाक्स ३ के किये भी तैयार करना चाहिये। इससे बहुत से लोगों को लाभ होगा।

अनुनाद सिंह ०५:४३, २७ जुलाई २००९ (UTC)

ठीक है , मै इस टूल को फायरफाक्स ३ , क्रोम व अन्य के लिए तैयार करने का प्रयास करूंगा --सुमित सिन्हावार्ता १६:४१, २७ जुलाई २००९ (UTC)
बहोत पहले मैने मराठी विक्शनरीपर इस सिलसिलेमे कुछ निरिक्षण लिखे थे। शायद आपको उपयोगी सिद्ध हो।
संस्कृत विकिपीडियाककी आवश्यकतांओके लिए सदस्य हेमंत विकिकोश कि राय ले।
आपकी इस पहल के लिए धन्यवाद।

Mahitgar १४:४८, २८ जुलाई २००९ (UTC)

कोलकाता

विकिपरियोजना भारत के शहर के अन्तर्गत कोलकाता शहर का विस्तार किया जा रहा है। सदस्यगणों से अनुरोध है कि इसमें सहयोग करें।--Munita Prasadवार्ता ०८:५१, ३० जुलाई २००९ (UTC)

भारत वर्ष

भारत का पूरा नाम 'भारत वर्ष' है। कोलकाता तथा अन्य कई लेखों में 'भारत' नाम ही लिखा गया है और लिंक भी भारत नाम से ही लगाए गए हैं। मेरे विचार से भारत तथा भारत वर्ष का लिंक एक ही कर दिया जाए और अब 'भारत वर्ष' ही लिखा जाए।
-- डॉ॰ जगदीश व्योम ०४:४२, १ अगस्त २००९ (UTC)

डॉ॰साहब का कहना एकदम सही है, किंतु यह बात हिन्दू धर्म के सन्दर्भ में ही लागू होती है। इस सन्दर्भ में पृथ्वी का हिन्दू वर्णन और साँचा:हिन्दू पृथ्वी देखा जा सकता है।

उत्तरं यत्समुद्रस्य हिमाद्रेश्चैव दक्षिणम् ।
वर्षं तद् भारतं नाम भारती यत्र संततिः ॥  :विष्णु पुराण
किंतु वृहत सन्दर्भ में मुझे लगता है कि भारत का नाम भारत ही घोषित, प्रसिद्ध एवं प्रचलित है। पूर्ण नाम तो भारतीय समाजवादी, लोकतांत्रिक, धर्म-निरपेक्ष, सार्वभौम गणराज्य है। इसे en:Preamble to the Constitution of India एवं en:Constitution of India पर भी देखा जा सकता है। इतना लंबा ही नाम विश्व के अधिकांश गणतंत्रों का होता है। तभी इसे छोटे रूप में मात्र भारत, आदि कहा जाता है, जो संवैधानिक रूप से सही भी है। अतः यदि हम धार्मिक लेखों के अलावा यदि भारत वर्ष प्रयोग करें तो वह शायद गलत होगा। भारत वर्ष के अलावा फिर हमें चीन को भी किम्पुरुष वर्ष कहना होगा, और अन्य वर्षों के वर्तमान नाम तो मुझे भी नहीं पता हैं। भारत तभी तक भारत-वर्ष कहलाया, जब तक यहां हिन्दू शासन रहा, मुस्लिम एवं ब्रिटिश काल में अतएव मेरे विचार से भारत को सभी लेखों में भारत वर्ष लिखना उचित नहीं होगा। भारत केवल हिन्दू शासन में ही भारत वर्ष कहलाया था। उसके बाद मुस्लिम शासन में इसे हिन्दुस्तान, सल्तनत-ए-मुगलिया, हिन्द आदि नामों से बुलाया जाता था, और ब्रिटिश तो आरंभ से ही सिन्धु नदी को Sindu से बिगाड़ कर indus एवं Hindi से बिगाड़ कर India कहते आये, जो कि वर्तमान नाम भारत के समान ही विश्वव्यापी प्रचलित है। भारत नाम विश्व में वैसे ही है जैसे जापान का निप्पन या हिन्दी में निपुण देश। इसे जापानियों एवं कुछ लोगों के अलावा विश्व में कौन जानता है? इसके अन्य उदाहरण हैं, इजिप्ट(मिस्र), म्यांमार (ब्रह्म), श्रीलंका (सिंहल) और अपवाद भी हैं, जैसे जावा, सुमात्रा, थाई देश, मलय द्वीप, रूमां (रोमन=इटली) जिनके नाम पुराणों से लेकर वर्तमान तक वही हैं। शेष जैसी सर्व सम्मति।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०६:११, १ अगस्त २००९ (UTC)

भारत को भारत वर्ष लिखना आपको ठीक नहीं लग रहा है तो मत लिखिए परन्तु "भारत" और "भारत वर्ष" दोनों को एक साथ लिंक कर दीजिए जिससे दोनों किसी भी लिंक से खुल सकें।
-- डॉ॰ जगदीश व्योम ००:५२, ३ अगस्त २००९ (UTC)

डाक्टर साहब लिंक कर दिया गया है। धन्यवाद--Munita Prasadवार्ता ०१:१५, ३ अगस्त २००९ (UTC)

आज का आलेख

यह वाक्य ठीक करें - " यह जल में रहना के लिए अनुकूलित है। "
--122.162.237.148 ००:४३, ३ अगस्त २००९ (UTC) आवश्यक सुधार किये गए।--Munita Prasadवार्ता ०१:४६, ३ अगस्त २००९ (UTC)

गुलाब लेख में.......
" गुलाब एक बहुवर्षीय" क्या आशय है इसका।
ये देश हैं या प्रदेश .........
" जबकि कुछ जातियों के मूल प्रदेश यूरोप, उत्तरी अमेरिका तथा उत्तरी पश्चिमी अफ्रीका "

क्या आशय है इसका.....

" गुलाब के अनेक संस्कृत पर्याय है।"
--आलोचक ०५:३३, ५ अगस्त २००९ (UTC)

  • गुलाब एक बहुवर्षीय, झाड़ीदार, पुष्पीय पौधा है। बहुवर्षीय का अर्थ है एक से अधिक वर्षों तक जीवित रहने वाले पौधा।
  • इसकी १०० से अधिक जातियां हैं जिनमें से अधिकांश एशियाइ मूल की हैं। जबकि कुछ जातियों के मूल प्रदेश यूरोप, उत्तरी अमेरिका तथा उत्तरी पश्चिमी अफ्रीका भी है। अर्थात् इसकी विभिन्न जातियों की उत्पत्ति कहां हुई थी।
  • गुलाब के अनेक संस्कृत पर्याय है। अर्थात गुलाब के संस्कृत में अनेक नाम हैं।--Munita Prasadवार्ता ०८:०४, ५ अगस्त २००९ (UTC)


मुनिता जी इनके शाब्दिक अर्थ तो मैं जानता हूँ....... मेरा आशय यह था कि यह वाक्य ठीक नहीं हैं...... शायद सृजनगाथा से उठाकर यहाँ पेस्ट कर दिए गए हैं...... इन्हें ठीक करना है... यूरोप को प्रदेश कहेंगे तो पाठकों को भ्रम होगा, यूरोप देश है प्रदेश नहीं है। इसी तरह बहुवर्षीय शब्द को खोलकर (स्पष्ट करके) लिखना होगा। संस्कृत पर्याय के साथ उनके पर्यायवाची शब्द भी देना आवश्यक है, नहीं तो यह वाक्य ही बेमानी हो जाता है। कृपया इस पर विचार करें।
--आलोचक १३:५५, ५ अगस्त २००९ (UTC)
आलोचक जी, ये कहां से पेस्ट किए गये हैं मुझे जानकारी नहीं है। यूरोप तो देश नहीं है जी, एक महाद्वीप है एवं प्रदेश का प्रयोग मूल प्रदेश के रूप में मूल-स्थान के लिए हुआ है। पर यदि आप मूल स्थान ठीक समझते है तो निःसंकोच परिवर्तन कर सकते हैं। संस्कृत के पर्याय भी तो उसी अनुच्छेद में हैं जिसमें यह वाक्य है कि गुलाब के अनेक संस्कृत पर्याय है। बहुवर्षीय, एकवर्षीय, साक, झाड़ीदार, वृक्ष, शब्द तो जीव विज्ञान के पादप सम्बन्धी लेखों में आएगा ही उसको स्पष्ट करने के लिए कुछ परिभाषाएँ लिखने का प्रयास कर रही हूँ जिससे किसी को समझने में कठिनाई न हो। धन्यवाद।--Munita Prasadवार्ता १४:१६, ५ अगस्त २००९ (UTC)
मुनिता जी धन्यवाद त्वरित उत्तर के लिए। यूरोप को प्रदेश नहीं कहा जा सकता..... मैं इसे ठीक कर दूँगा। यहाँ लिखना इसलिए भी आवश्यक समझा कि ठीक करने के बाद कई लोग व्यर्थ का तर्क वितर्क और कुतर्क करते हैं, जो ठीक नहीं लगता है। धन्यवाद।
--आलोचक १४:३३, ५ अगस्त २००९ (UTC)

अकाई बीटा थीम के साथ समस्याएँ

अकाई बीटा थीम के साथ जो समस्याएँ हिन्दी विकिपीडिया में आ रही हैं जैसे की मीडियाविकि:Translit.js एडिटर में काम नहीं कर रहा है , से मैंने युसेबिलिटी को अवगत करा दिया है Your Opinion , Talk:Releases/Acai । किसी को कोई अन्य समस्या दिखे तो कृपया अवगत कराये । --सुमित सिन्हावार्ता

ज्ञानसन्दूक भारतीय क्षेत्र

सभी सदस्य कृपया ध्यान दें! साँचा:ज्ञानसन्दूक भारतीय क्षेत्र के स्थान पर साँचा:ज्ञानसन्दूक भारत के क्षेत्र का प्रयोग करें। इस साँचे में बेहतर मानचित्र आदि जुड़े हैं। कुछ पुराने लेखों में पहला सांचा लगा है, जिसे खोलने पर सुधार कर नया सांचा लगाया जा सकता है। यह विकिपीडिया:विकिपरियोजना भारत के शहर के अन्तर्गत है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०१:३६, ९ अगस्त २००९ (UTC)

Request for translation

Dear friends, file:2152085cab.png was recently posted at Commons. It shows a Most-perfect magic square from the Parshvanath Jain temple in Khajuraho. Could you please translate the text specifying what kind of script is used.
Please take also a look at en:user talk:Chakreshsinghai#Values_of_the_Chautisa_Yantra_magic_square. I would appreciate if you could contribute there about the meaning of Chautisa Yantra.
Is it possible to create an article about Magic square here? Thanks in advance for all your efforts. Best regards
‫·‏לערי ריינהארט‏·‏T‏·‏m‏:‏Th‏·‏T‏·‏email me‏·‏‬ १४:०५, १० अगस्त २००९ (UTC)

यह लेख हिन्दी में आदर्श जादूई वर्ग तैयार है।

--आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:१७, ११ अगस्त २००९ (UTC)

आज का आलेख

कुम्हड़ा और कद्दू दोनों अलग अलग हैं। "कुम्हड़ा" पेठा (मिठाई) बनाने के लिए प्रयुक्त होता है जब कि "कद्दू" सब्जी बनाने के काम आता है। इस लेख में दोनों को एक मान लिया गया है। यह ठीक नहीं है। कृपया इसे ठीक करें।
--आलोचक ०२:०८, ११ अगस्त २००९ (UTC)

मुझे लगता है की अलग अलग प्रान्त मे इस सब्जी को भिन्न भिन्न नाम से जाना जाता है। जैसे मै मध्य प्रदेश की कई जगह पर रह चुका हूँ और हर जगह कद्दू को अलग नाम से ही जाना जाता है। मैने यह पाया की मध्य प्रदेश मे जो क्षेत्र उत्तर प्रदेश के निकट है वहॉ कुम्हड़ा नाम ज्यादा प्रचलित है और अन्य स्थानो पर कद्दू नाम ज्यादा प्रचलित है। छत्तीसगड़ मे भी कुम्हड़ा नाम ही प्रचलित है। --गुंजन वर्मासंदेश ०३:२२, ११ अगस्त २००९ (UTC)
पेठा (मिठाई) के लिए प्रयुक्त फल को पेठा (सब्जी) या पेठा (फल) ही कहते हैं। मैंने बहुत से स्थानों पर उसे देखा, जैसे लखनऊ, मेरठ, दिल्ली किंतु उसका नाम पेठा ही पाया। शायद इस कारण ही मिठाई का नाम पेठा पड़ा है। ये पेठा हल्के हरे वर्ण का और सतह पर सफ़ेद पाउडर जैसा लिये हुए होता है। इसका अंग्रेज़ी लेख en:Winter melon है और हिन्दी लेख पेठा (सब्जी) है। और कुम्हड़ा शायद इस प्रजाति का ही नाम होगा, जिससे कद्दू/सीताफाल/काशीफल आदि के साथ साथ पेठे को भी कुम्हड़ा कहा जाता होगा शायद। किंतु ये बात पूरे दावे के साथ नहीं कह सकता हूं। लेकिन इस पूरे लेख में कहीं भी पेठा शब्द प्रयुक्त नहीं हुआ है। तब कैसे लगा कि दोनों को एक ही माना गया है?--आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:२०, ११ अगस्त २००९ (UTC)
कुम्हड़ा और पेठा एक फल है और कद्दू काशीफल सीताफल लौका आदि नाम से जाना जाने वाला दूसरा फल है। स्थानीय स्तर पर कुम्हड़ा और कद्दू एक ही फल के लिए जाने जाते हैं पर यह दोनों अलग हैं। इसलिए लेख में कद्दू का ही प्रयोग करें तो ठीक रहेगा वैसे आप लोग स्वतंत्र हैं अपने लेख के लिए।
--आलोचक ०९:४७, ११ अगस्त २००९ (UTC)
आलोचक जी, पेठा फल नहीं, बल्कि फल से बना एक उत्पाद (जैसे-आगरे का पेठा) है। जिस फल से इसे बनाया जाता है, उसे छत्तीसगढ़ में रखिया कहा जाता है, जो कद्दू या कुम्हड़े (दोनों ही समान हैं) से अलग है। --Charu १४:५३, १४ अगस्त २००९ (UTC)

इस आलोचना को आगे बढ़ाते हुए मैं अंग्रेजी विकिपीडिया के तीन लिंक देती हूँ। आपलोग देखिए एवं हाँ एक बात मैं जोड़ना चाहती हूँ कि ये तीनो ही सब्जियाँ मेरे बगीचे में हैं एवं मैंने खुद इनको लगाया है। अभी सभी पौधे छोटे हैं एक डेढ़ महीने बाद मैं शायद तस्वीर भी अपलोड कर सकूंगी। en:Pumpkin en:Calabash en:Winter melon--Munita Prasadवार्ता १५:५२, १४ अगस्त २००९ (UTC)

हिन्दी विकि पर अनुपस्थित शीर्षक

पिछले सप्ताह मैंने JIRA पर एक database query request डाला था (non-existing pages in hindi wikipedia, hindi wiktionary), जिसमें मैंने ऐसे शीर्षक की सूची माँगी जो विकि पर मौजूद नहीं हैं पर फिर भी लेखों में refer किए गए हैं (उदाहरण list of non-existing titles on hindi wiki > 20 references)।

मेरा सुझाव है कि इस लम्बी सूची में से अगर कुछ को हिन्दी विकि पृष्ठों पर लगा दिया जाए, तो लोगों में इन पन्नों को बनाने और पूरा करने की उत्सुकता जाग सकती है।आप लोगों की क्या राय है? क्या हम इस तरह से हम पृष्ठों की संख्या पढा सकते हैं?
एक और बात : ऐसे कई सारे पन्ने अंग्रेजी विकिपीडिया में हैं जिनका संबंध भारत से है या फिर हिन्दी से, पर असल में इनका हिन्दी रूपान्तरित पन्ना है ही नहीं। अगर ऐसे पन्नों की सूची मिल जाए तो प्रथम पृष्ठ पर ही visitors से अनुरोध किया जा सकता है कि फलाना शीर्षक को हिन्दी में रूपांतरित कीजिए। --सौरभ भारती १३:२२, ११ अगस्त २००९ (UTC)

  • सौरभ जी आपका प्रयास प्रशंशनीय है. धन्यवाद
    इन लिंक्स को देखने के लिए कोई विशेस फांट की आवश्यकता है क्या ? जब में दुसरे नंबर के लिंक को क्लिक करता हु तो वह नए पृष्ठ में खुलता है पर कुछ भी पड़ने योग्य नहीं रहता है. केवल अंग्रेजी के अंक दिखते बाकी सब garbage फांट्स में दीखता है।--गुंजन वर्मासंदेश १५:४८, ११ अगस्त २००९ (UTC)
    • अगर आप उस लिंक को save कर लें और notepad में खोलें तो यह ठीक से खुलेगा। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
  • सौरभ जी, आपके इस विषय में चिंता करने व ध्यान दिलाने के धन्यवाद के साथ एक-दो बातें बताना चाहूंगा।
  • दूसरे लिंक में गार्बेज्ड टैक्स्ट की समस्या का समाधान, ब्राउज़र में ऊपर व्यू के टैब में कैरेक्टर एन्कोडिंग में युनिकोड-यू.टी.एफ़-८ चुनें,तो सब सही दिखेगा।
  • इस पृष्ठ पर वे सभी लिंक्स दिये हुए हैं, जिनका नाम हिन्दी विकि के विभिन्न पृष्ठों पर कड़ी रूप में हुआ है, किंतु अभी उनके लेख नहीं बने हैं। अब इनमें से शायद एक-चौथाई से अधिक तो बेकार के ही हैं, जैसे वे सभी जो अंग्रेज़ी में हैं, यानि कुल २०६८ में से ५४० तो अंग्रेज़ी में ही हैं। ये वे कडियां हैं, जैसे कि हमने कहीं किसी लेख में अंग्रेज़ी से ज्ञानसन्दूक उठाकर पेस्ट कर दिया, और कुछ कड़ियां हिन्दी में अनुवाद कर दीं, व बाकी अंग्रेज़ी में ही रह गयीं। तो वे हिन्दी और अंग्रेज़ी की सभी कड़ियां यहां दी गयी हैं, और हिन्दी की भी वे सभी कड़ियां जिन पर अभी लेख नहीं बने हुए हैं।
    • हमम्। हम अंग्रेज़ी वाले शीर्षकों को हटा देंगे। मुझे देखना होगा कि ऐसा automatically हो सकता है कि नहीं। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
  • इनके अलावा वे सभी कड़ियां जिन पर लेख तो बने हुए हैं, किंतु अलग वर्तनी से, जैसे अंग्रेज़ी, अंग्रेजी दो वर्तनियां हैं, और संयोग से एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं, किंतु ढेरों अन्य लेख ऐसे हैं, जिनके नामों की भिन्न वर्तनियां संभव हैं, और मूल लेख पर पुनर्निर्देशित नहीं हैं। जैसे [[भारत के शहर जनसंख्या अनुसार]], [[भारत के शहर जनसंख्यानुसार]], [[भारत के शहरों की जनसंख्या अनुसार सूची]] इत्यादि। या रेस्कोर्स, चेन्नई; रेसकोर्स चेन्नई; रेसकोर्स (चेन्नई); चेन्नई रेस्कोर्स ; चेन्नई का रेसकोर्स; इत्यादि।
  • तब इन्हें किसी आगन्तुक को सौंपना क्या सही होगा? जिसे यहां की इतनी बारीकियां नहीं पता होंगी, वो तो बेचारा भला करने के चक्कर में बहुत से नये लेख बना देगा, जो एक और समस्या खड़ी कर देगा।
    • मैं आपके तर्क से सहमत हूँ। पर मुझे यह हानिकारक नहीं लगा। अलग वर्तनी के समान शब्द हमें बनने देना चाहिए। जबतक इन अलग वर्तनियों का अर्थ ही ना बदल जाए, तबतक इसमें विकि का बुरा नहीं है। हम visitor को यह निर्देश दे सकते हैं कि redirect लिंक लगा दें, अगर समान वर्तनी के शब्द मिलते हैं। पर इससे overall quality of content अच्छा ही होगा। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
  • इस कार्य को एक परियोजना के तहत उठाना होगा, जैसे हमने भारत के शहर उठाये हुए हैं। किंतु सदस्यों की भारी कमी के चलते ये काम भी बहुत धीमा है। यदि आप चाहें तो एक परियोजना अपने दायित्व पर चला सकते हैं, जिसमें
    • अंग्रेज़ी के लिंक्स को ढूंढ कर हिन्दी में अनुवाद कीजिए।
      • यह कार्य अकेले संभव नहीं है। किसी ना किसी तरह हमें wiki visitors को enroll करना ही पड़ेगा। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
      • IP देखकर हम राज्य और हो सके तो शहर का पता लगा सकते हैं। ऐसे में हम पश्चिम बंगाल के शहरों की सूची उन लोगों को दिखा सकते हैं जो कि पश्चिम बंगाल से विकि देख रहे हैं (im not sure how big impact it may make, just a suggestion) सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
    • अन्य उपस्तित लेखों की कड़ियों को मूल लेख पर पुनर्निर्देशित कीजिए।
      • यह कार्य संभव है। पर ऐसे लिंक कितने हैं यह देखना पड़ेगा। ऐसी सूची बनाने के लिए मैं JIRA पर request डाल सकता हूँ। इस सूची में ऐसी हिन्दी के शीर्षक होंगे, जो अंग्रेज़ी वाले शीर्षक से जुड़े नहीं हैं। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
    • गलत कड़ियों को या तो सही करें, या हटा दें, नहीं तो कम से कम मूल लेख में जा कर उस पर से ब्रैकिट हटा दें, जिससे वे कड़ी ही न रहें।
    • इन सबमें आपका सहायक होगा यहां क्या जुड़ता है लिंक, जो सदा आपके बायें कॉलम में खोज सन्दूक के नीचे उपकरण मॉड्यूल में सब्नसे ऊपर उपस्थित रहता है।
      • content ठीक करना बहुत कठिन कार्य है। यह मैंने विकि पर कुछ दिनों में ही समझ लिया। ऊपर लिंक से सहायता तो मिल सकती है। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)
  • इसके लिए यदि आप चाहें तो हम एक परियोजना आरंभ कर सकते हैं, जैसे विकिपीडिया:विकिपरियोजना हिन्दी विकि में अनुपस्थित लेख या कोई अन्य बेहतर और लघु नाम से। किंतु आपको मुख्य दायित लेना होगा। हम लोग , खासकर मैं आपके साथ रहूंगा। सहायता, सुझाव, निर्देश, और अपने अनुभव से बहुत कुछ सदा सहायक होगा। शायद गुंजन जी भी इसमें आने के आतुर हों, जैसा उनके संदेश से लगा। तो कम से कम ३ सदस्य तो हो ही गये हैं, और मुनिता जी भी आ जायें, क्योंकि हमेशा तो भारत के शहर में ही नहीं लगना चाहेंगी, तो थोड़े बदलाव के लिए सप्ताह में २-३ घंटॆ भी दें तो बहुत होगा। किंतु फिर वही बात दोहराता हूं, कि मुख्य दायित्व आपका होगा। आप बतायें, कि यदि समय, कार्य-क्षमता, उत्साह आदि से तैयार हों तो आरंभ करें। अपना पूरा समय लेकर विचार करें, यदि ना चाहें तो कोई उत्तर न दें, इसमें कोई बुरी बात नहीं है, कि हम कोई सुझाव दें किंतु उस पर काम न कर पायें। प्रतीक्षारत --आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:१९, १२ अगस्त २००९ (UTC)
    • मैं इसे आगे बढाने के लिए तैयार हूँ। कृप्या मुझे सुझाव दें कि कैसे आगे बढा जाए। सौरभ भारती १७:२८, १२ अगस्त २००९ (UTC)

मुझे बहुत खुशी होगी इस कार्य को आगे बढाने में। हालाँकि आपका तर्क सही हैं कि मुख्यतः इस सूची में बेकार के शीर्षक पड़े हैं, फिर भी मुझे ये तरीका हिन्दी wiktionary के लिए काफी उपयुक्त लगा। अगर आप wiktionary वाली सूची देखें, तो वो ज्यादा उपयोगी है wiktionary में शब्दों की संख्या बढाने में।

विकी में पृष्ठों की संख्या बढाने के लिए कुछ सुझाव और भी हैं।

  • जिन पृष्ठों में ऐसे विकी शीर्षक सबसे ज्यादा हैं, जिनका अस्तित्व अभी विकी पर नहीं है। मतलब pages where highest number of non-existing terms are referred.
  • अंग्रेज़ी में लिखे ऐसे पृष्ठ जिनका संबन्ध सीधे भारत या फिर हिन्दी से है, और जिनका हिन्दी रूपान्तरण नहीं है। हम कुछ भारत और हिन्दी से संबन्धित श्रेणियों की सूची बना सकते हैं और ऐसे पृष्ठों की सूची बना सकते हैं।
  • जनता जनार्दन को शामिल करने के लिए सीधे आग्रह। ऐसा हम बाएँ मेनु या फिर मेन पृष्ठ पर ऐस कर सकते हैं। चूँकि हमें अच्छे शीर्षकों के लिए ही आग्रह करना है, इसलिए हम filtering mechanism भी सोच सकते हैं।

मेरी इमेल sbharti-at-gmail-dot.com है। गलती से मैंने इस पृष्ठ को ध्यानसूची में नहीं डाला था। अब डाल दिया है। मैंने कुछ inline comments भी दिए हैं। उन्हें भी देखें। सौरभ भारती १६:५८, १२ अगस्त २००९ (UTC)

स्वतंत्रता दिवस

देशभक्ति गीतों की सूची बनाकर दिखाया जाए। मैंने कुछ गीतों के बोल हिन्दी में लिखे हैं। क्या गीत के बोल के लिए wiki entry सही होगा? गीत के बोल के साथ उसके बारे में भी मैं जानकारी देना चाहूँगा। अगर ठीक होगा तो मैं बनाता हूँ। -- सौरभ भारती (वार्ता) १९:५३, १२ अगस्त २००९ (UTC)

३५००० शीर्षक

३५००० शीर्षक आज हिन्दी विकि में हो गए। सबको बधाई। -- सौरभ भारती (वार्ता) २१:११, १२ अगस्त २००९ (UTC)

बधाई के लिए धन्यवाद सौरभ जी। लेकिन प्रगति की यह गति हमें कहीं ले जाने वाली नहीं। हम ५ अप्रैल २००९ को ४८वें स्थान बाद से एक भी स्थान आगे नहीं बढ़े हैं। ९ मई २००९ को ३०,००० लेख हो चुके थे और पिछले तीन महीने से केवल ५,००० लेख जुड़े हैं, यानी ५० लेख रोज़ जो बहुत धीमी गति है। हम पहले ३०० लेख रोज़ से अधिक पर काम कर चुके हैं। वर्तमान गति से चलते हुए हम ५०,००० के चौथे स्तर से भी नीचे हैं और इस कारण कुछ महीने पहले अंग्रेज़ी विकिपीडिया के मुखपृष्ठ से निकाल बाहर किए गए हैं। चौथे स्तर पर भी हम तेलुगु से नीचे हैं और नेपाली जैसे भाषा हमसे पहले ही एक स्तर ऊपर यानि चौथे स्तर पर है। हमारी पहली ज़रूरत यह है कि एक महीने के अंदर हम १५,००० पांच पंक्ति वाले लेख बनाएँ और चौथी पायदान पर पहुँचें। इसके साथ ही वार्ता पृष्ठ पर साँचा चिपकाने का काम तेज़ी से करना चाहिए ताकि गहराई कम न हो।--पूर्णिमा वर्मन ०७:४७, १३ अगस्त २००९ (UTC)

बात तो सही है। मैं खुद हैरान हूँ इस गति को देखकर। ऐसा नहीं है कि भारत में लोग इंटरनेट पर कम आते हैं, असल में होता ये हैं कि सभी अंग्रेजी में ही हिन्दी को भी खोज लेते हैं गूगल पर (जैसे कोई गाना हो या फिर फिल्म या फिर कोई ज्ञान की बातें) और उसी में खुश रहते हैं। आश्चर्य की बात ये है कि बहुत सारे भारतीय अंग्रेजी विकि पर काफी active हैं, और भारत से संबंधित जानकारियाँ भी काफी विस्तार से उपलब्ध हैं।

एक सुझाव : तेज गति के लिए college students ko enroll करना पड़ेगा। कोई तरीका ऐसा करने का?

PS : I have raised a request before JIRA toolserver to grant me an account, so that i can create some useful bots for hindi wiki. Waiting for their reply.

-- सौरभ भारती (वार्ता) १३:५६, १३ अगस्त २००९ (UTC)

मैं इसके लिये एक काम करता हूँ - हिन्दी ब्लाग जगत में जो भी वैचारिक रूप से परिपक्व लगता है उससे हिन्दी विकि पर सहयोग करने का निवेदन कर देता हूँ। इससे ज्यादा क्या कर सकते हैं? बस हिन्दी विकिपिडिया के महत्व के बारे में दो-तीन वाक्य लिखकर अपना निवेदन सामने रख देते हैं।
एक बात और है - यहाँ वही लोग टिकेंगे जो 'पब्लिसिटी' के भूखे नहीं हैं और अच्छी तरह हिन्दी विकि का महत्व समझते हैं।
अनुनाद सिंह १५:११, १३ अगस्त २००९ (UTC)
हाँ ये शुरूआत ठीक रहेगी। मैं भी हिन्दी से संबंधित फोरम को ढूँढता हूँ और लोगों को प्रेरित करता हूँ।
-- सौरभ भारती (वार्ता) १७:३४, १३ अगस्त २००९ (UTC)
आज मैंने नेपाली भाषा के २०००० ऊपर होने की रहस्य जानने की कोशिश की। देखा तो सिर्फ एक admin। और तो और, लगभग सारे पृष्ठ अंग्रेजी में ही हैं, बस नाम नेपाली में कर दिए गए हैं। धराधर copy-paste के नतीजे से ही वह इतना ऊपर है। पर तेलुगु विकि काफी ठीक है। मैंने जितने भी लिंक पर क्लिक किया, सब ठीक से बने थे।
-- सौरभ भारती (वार्ता) २०:०७, १३ अगस्त २००९ (UTC)
लेखों की संख्या को बढ़ाने का एक प्रयाश विकिपरियोजना भारत के शहर भि है। उसमें जो भी शहर हम उठाते हैं, उससे संबंधित ढेरों सहायक लेख बनते हैं, जो कि शहर के लेख में तो जुड़ते हैं ही, अपने आप में स्वतंत्र लेख भी होते हैं एवं लेख संख्या तथा ज्ञानस्तर भी बढ़ाते हैं। हां ऐसा अवश्य है, कि अभी महानगर उठाये हुए हैं, तो कुछ अधिक समय लग रहा है, लेकिन ६-८ महानगरों के बाद अन्य शहर लेंगे, जो शायद कम समय लें। उदा० मैंने अकेले ही लखनऊ लेख को १ हफ़्ते में बनाया है। ऐसे ही अन्य शहर भी बन सकते हैं।और निश्चय ही हम लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०३:०४, १४ अगस्त २००९ (UTC)
आशीष जी मैं आपसे सहमत हूँ। पूर्णिमा जी ने लिखा है कि ५०००० का आँकड़ा पार करने के बाद ही हम इस position में होंगे कि लोगों से विकि लेख लिखने के लिए आग्रह कर सकें। मैंने आपके चेन्नई पर किए कार्य को भी देखा है। निश्चय ही शहरों को विकि पर लाने की सोच बहुत अच्छी है। मुनिता जी कई कैमिकल्स के बारे में जानकारी डाल रही हैं। मैं मुख्यतः हिन्दी या फिर बिहार से जुड़े शीर्षक पर फिलहाल लगा हुआ हूँ। चूँकि मैंने अभी शुरूआत ही की है, आशा है आने वाले दिनों में कुछ खास कर सकूँ। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०६:१८, १४ अगस्त २००९ (UTC)
बड़ी ही खुशी की बात है कि आज अभी तक २३१ लेख बन चुके हैं। यही गति रही तो रात तक ३०० हो जाएँगे। यानि हम पुरानी गति को प्राप्त कर चुके हैं। इस समय हमें ५०० लेख रोज़ की गति को प्राप्त करना है यानी ५ लोग काम करें तो १०० लेख रोज़। इसको बनाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि अँग्रेजी की किसी एक श्रेणी को पकड़ा जाए और उसके सभी लेख एक एक पंक्ति के या ३ से ५ वाक्यों के हिंदी में बना दिए जाएँ। भारतीय नेता, फिल्म स्टार, लेखक, विज्ञान के तत्व आदि किसी भी विषय को चुना जा सकता है। सबसे पहले भारत के हर प्रदेश, प्रदेश के मंडल, जिले, शहर, गाँव की पूरी सूची बनाकर उनके पन्ने बनाने चाहिए। बनाते समय पहला वाक्य बनाकर ठीक से जाँच लें। ध्यान रखें कि व्याकरण या वर्तनी की गलती न हो। भी को भि न लिखा जाए। आदि। क्यों कि अगर ध्यान न रखा गया तो बहुत सी गलतियाँ एक साथ हो जाएँगी और उनको ठीक करना मुश्किल होगा। एक बार पुनः ढेर सी शुभकामनाएँ। हम अवश्य इस लक्ष्य को पूरा करेंगे।--पूर्णिमा वर्मन ११:२३, १४ अगस्त २००९ (UTC)
आप लोगो के प्रयास रंग ला रहे है। दो ही दिनो मे ९०० नये लेख बन गये है। समय अभाव के कारण मेरा योगदान न्युनतम है लेकिन मेरी शुभकामनाए आप लोगो के साथ है। मैने अंग्रेजी विकि पर कई भारतीय युसर्स को संदेश लिख कर हिंदी विकि की वर्तमान स्थिती से अवगत कराया है और हिंदी विकि पर कार्य करने का निवेदन किया है। आशा करता हूँ की हम लोग दिन दुनी और रात चौगनी प्रगती करेंगे। --गुंजन वर्मासंदेश १६:०२, १५ अगस्त २००९ (UTC)

अधिक महत्वपूर्न विषयों पर पहले लिखा जाय

मेरा विचार है कि हिन्दी में बहुत से महत्वपूर्ण विषयों पर अभी भी लेख नहीं हैं। उदाहरण के लिये निम्नलिखित विषयों पर लेख पहले होने चाहिये और कम महत्व के या तुच्छ महत्व के विषयों को बाद के लिये छोड़ देना चाहिये।

विषय - लगभग लेख संख्या
देशों का परिचय - कम से कम १००
विश्व के देशों की राजधानियों एवं महानगरों पर लेख कम से कम १०००
विश्व की भाषाओ पर लेख २००
लिपियों पर लेख २०
विभिन्न भाषाओं के महान साहित्यकारों पर लेख १००
विश्व के प्रसिद्ध वैज्ञानिक, शिक्षाविद, समाजशास्त्र्र्, अर्थशास्त्री, राजनेता - १०००
विश्व की प्रसिद्ध संस्थाएँ (विश्वविद्यालय, कालेज, अनुसंधान केन्द्र, थिंक टैक, व्यापारिक संस्थाएं आदि) - १०००
विश्व की प्रसिद्ध पुस्तकें १०००
घरेलू एवम् दैनिक उपयोग की वस्तुएँ - १०००
विभिन्न विषयों में आने वाले प्रमुख सिद्धान्त एवं नियम १०००
प्रमुख देशों का इतिहास १००
प्रमुख देशों का संविधान - ५०
प्रमुख फसलें एवं उनकी खेती ५०
पेड़ पौधे एवं वनस्पतियाँ १०००
जीव-जन्तु - १०००
प्रमुख रोग २००
मानव के शरीर के अंग एवं तंत्र १००
प्रमुख तकनीकी उपकरणों के बारे में २००
प्रमुख सॉफ्टवेयर २००
आधुनिक काल मेपढ़ाये जाने वाले प्रमुख विषय २००

--अनुनाद सिंह ०७:४९, १६ अगस्त २००९ (UTC)

मैं अनुनाद जी की बात से सहमत नहीं हूँ। सभी कार्यों को एक साथ किया जाना सम्भव नहीं है। अभी फिलहाल हम लेखों की संख्या बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं एवं इसी कार्य को प्राथमिकता दी जानी चाहिए महत्त्वपूर्ण विषयों पर लेख मार्ग में स्वयं बनते जाएँगे।--Munita Prasadवार्ता ०९:०३, १६ अगस्त २००९ (UTC)