आर्यिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
तीर्थंकर समवशरण में आर्यिकाएँ तीसरे हॉल में बैठती है।

आर्यिका शब्द का प्रयोग जैन धर्म में साध्वियों के लिए किया जाता है। [1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

नोट[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]