आर्यिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
तीर्थंकर समवशरण में आर्यिकाएँ तीसरे हॉल में बैठती है।

आर्यिका शब्द का प्रयोग जैन धर्म में साध्वियों के लिए किया जाता है। [1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

नोट[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]