त्रिवेन्द्र सिंह रावत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
त्रिवेन्द्र सिंह रावत
The Chief Minister of Uttarakhand, Shri Trivendra Singh Rawat.jpg

पदस्थ
कार्यालय ग्रहण 
18 मार्च 2017
पूर्वा धिकारी हरीश रावत

जन्म 20 दिसंबर 1960 [1]
पौड़ी गढ़वालउत्तराखण्ड[1]
राष्ट्रीयता भारतीय
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी सुनीता रावत[1]
बच्चे 2 पुत्रि‍याँ
निवास S-3 C-130, डिफेन्स कॉलोनी , देहरादून उत्तराखंड[2]
शैक्षिक सम्बद्धता परास्नातक उपाधि[2]
पेशा सामाजिक कार्य,राजनीति
धर्म हिन्दू

त्रिवेन्द्र सिंह रावत उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक हैं। 17 मार्च 2017 को वे उत्तराखण्ड के मुख्यमन्त्री नियुक्त हुए[1]

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

रावत के पिता का नाम प्रताप सिंह और माता का नाम बोद्धा देवी है। रावत का विवाह सुनीता से हुआ। सुनीता रावत शिक्षि‍का हैं और देहरादून में नियुक्‍त हैं। इनकी दो पुत्रि‍याँ हैं। [1]

जुलाई 2019 में, त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि गाय एकमात्र ऐसा जानवर है जो ऑक्सीजन को बाहर निकालता है,[3] और तपेदिक को ठीक कर सकता है, जिसके लिए उनके अवैज्ञानिक बयान के लिए उनकी कड़ी आलोचना की गई थी।[4]

मई 2021 में, रावत ने कहा कि कोरोनावायरस भी एक जीवित जीव है जिसे इंसानों की तरह जीने का अधिकार है।[5] यह वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा है। विपक्ष ने उनकी आलोचना की और कहा कि उनका बयान मूर्खतापूर्ण और बकवास है, और उन्होंने अपना दिमाग खो दिया है और उनके पास कोई दृष्टि नहीं है।[6]

शिक्षा[संपादित करें]

  • 1983: श्रीनगर गढ़वाल विश्वविद्यालय से परास्नातक की उपाधि।
  • 1984: पत्रकारिता में डिप्लोमा [2]

राजनीतिक जीवन[संपादित करें]

  • 1979:रावत का राजनीतिक सफर प्रारम्भ हुआ और इसी वर्ष त्रिवेंद्र राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े।
  • 1981: में संघ के प्रचारक के रूप में काम करने का उन्‍होंने संकल्प लिया।
  • 1985: में देहरादून महानगर के प्रचारक बने।
  • 1993: में वह भाजपा के क्षेत्रीय संगठन मंत्री।
  • 1997 : भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री
  • 2002 : भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री[1]
  • 2002 विधानसभा चुनाव में डोईवाला विधानसभा से विजयी हुए.[1]
  • 2007:डोईवाला विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से उत्तराखंड विधान सभा के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में विजयी हुए।भारतीय जनता पार्टी के मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री बने।[7][8]
  • 2017 :डोईवाला विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से उत्तराखंड विधान सभा के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में विजयी हुए।[2]
  • 17 मार्च 2017 को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री नियुक्त हुए[9][10]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 18 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2017.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 17 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2017.
  3. "Cow is the only animal that exhales oxygen, says Uttarakhand CM". मूल से 27 जुलाई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जुलाई 2019.
  4. "'Cows exhale oxygen, can cure tuberculosis': Uttarakhand CM Trivendra Rawat's bizarre claims spark row". मूल से 27 जुलाई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जुलाई 2019.
  5. "Covid virus has a right to live, says ex-CM Trivendra Singh Rawat. Barbs follow".
  6. "Coronavirus Has "Right To Live" Like Rest Of Us: Ex-Uttarakhand Chief Minister".
  7. "संग्रहीत प्रति". मूल से 17 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2017.
  8. "संग्रहीत प्रति". मूल से 17 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2017.
  9. "संग्रहीत प्रति". मूल से 18 मार्च 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 मार्च 2017.
  10. *त्रिवेंद्र सिंह रावत बने उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री Archived 2017-03-27 at the Wayback Machine