प्रतापगढ़ दुर्ग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
प्रतापगढ़
सतारा जिला, महाराष्ट्र, भारत
300px
प्रतापगढ़ दुर्ग. दुर्ग का ऊपरी भाग चित्र के दायीं ओर तथा अफ़ज़ल मीनार बायीं ओर है।
लुआ त्रुटि Module:Location_map में पंक्ति 390 पर: The value "{{{longitude}}}" provided for longitude is not valid।
प्रकार पर्वतीय दुर्ग
निर्देशांक 17°56′10″N 73°34′39″E / 17.936224°N 73.577607°E / 17.936224; 73.577607निर्देशांक: 17°56′10″N 73°34′39″E / 17.936224°N 73.577607°E / 17.936224; 73.577607
निर्माण १६५६
निर्माण कर्ता शिवाजी
प्रयोग में
वर्तमान स्वामित्व उदयनराजे भोंसले
जनता के लिये खुला
हाँ
अधिकृत है साँचा:देश आँकड़े Maratha Empire (1656-1818)
Flag of the United Kingdom ग्रेट ब्रिटेन

Flag of भारत भारत (1947-)

युद्ध प्रतापगढ़ का युद्ध
वीरता का दुर्ग: प्रतापगढ़
प्रतापगढ़ के एक बुर्ज का दृश्य

प्रतापगढ़ दुर्ग (या किला) महाराष्ट्र के सतारा जिले में सतारा शहर से २० कि॰मी॰ दूरी पर स्थित है। यह मराठा शासक शिवाजी के अधिकार में था। उन्होंने इस किले को नीरा और कोयना नदियों की ओर से सुरक्षा बढ़ाने के उद्देश्य से बनवाया था। १६५६ में किले का निर्माण पूर्ण हुआ था।[1] उसी वर्ष १० नवम्बर को इसी किले से शिवाजी और अफज़ल खान के बीच युद्ध हुआ था और इस युद्ध में शिवाजी को विजय प्राप्त हुई थी। इस जीत से मराठा साम्राज्य की हिम्मत को और बढ़ावा मिला था।

दुर्ग समुद्री तल से १००० मीटर ऊंचाई पर स्थित है। किले में मां भवानी और शिव जी का मंदिर हैं।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "प्रतापगढ़ किला, महाबलेश्वर". नेटिव प्लानेट.
  2. "प्रतापगढ़ किला". बुकस्ट्रक.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]