रिवा दुर्ग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
क्षेत्र का पुराना मानचित्र (१८०५ पश्चात)। रेवा दुर्ग उत्तर में दिखाया गया है।

रिवा किला (या रेवाह किला) जो स्थानीय रूप में काल किला के नाम से जाना जाता है, मध्य मुम्बई में मीठी नदी के किनारे स्थित एक दुर्ग है। यह किला धारावी झोपड़पट्टी के बीच जीर्ण अवस्था में है। यह किला तत्कालीन बॉम्बे (वर्तमान मुम्बई) के प्रथम राज्यपाल जेराल्ड अङ्गिएर (१६६९-१६७७) द्वारा बनवाया गया था। यह बड़े बंबई कैसल का भाग था, और १७ वीं सदी में ब्रिटिश आयोजित बंबई के उत्तरी हिस्से में दिखाया जाता था।[1] यह महल भी पुर्तगाली अनुरक्षित और बाद में मराठाओं के अधीन साल्सेट द्वीप के विरुद्ध क्षेत्र की रखवाली हेतु एक पहरे की मीनार के रूप में प्रयोग किया गया था।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "रेवा किला". बुक स्ट्रक.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी सूत्र[संपादित करें]