शशि कपूर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
शशि कपूर
Shashi Kapoor01.jpg
शशि कपूर
जन्म 18 मार्च 1938 (1938-03-18) (आयु 76)
व्यवसाय अभिनेता

शशि कपूर (जन्म: 18 मार्च, 1938) हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता हैं।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

शशि कपूर का असली नाम बलबीर राज कपूर है. इनका जनम जाने मने अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के के घर पर हुआ. अपने पिता एवं भाइयो के नक़्शे कदम पे चलते हुए इन्होने भी फिल्मो में ही अपनी तक़दीर आजमाई. शशि कपूर ने ४० के दसक से ही फिल्मो में कम करना शुरू कर दिया था. उन्होंने कई धार्मिक फिल्मो में भूमिकाये निभाई. इन्होने मुंबई के डोन बोस्की सकूल से पदाई पूरी की. पिता पृथ्वीराज कपूर इनको छुतियों के दोरान स्टेज पर अभिनय करने के लिए प्रोत्साहित करते रहते थे. इसकी का नतीजा रहा की शशि के बड़े भाई राजकपूर ने उन्हें 'आग' (१९४८) और 'आवारा' (१९५१) में भूमिकाएं दी. आवारा में उन्होंने राजकपूर के बचपन का रोल किया था. ५० के दसक पिता की सलाह पर वे गोद्फ्रे कैंडल के थियेटर ग्रुप 'शेक्स्पियाराना' में शामिल हो गए और उसके साथ दुनिया भर में यात्राये की. इसी दोरान गोद्फ्रे की बेटी और ब्रिटिश अभिनेत्री जेनिफर से उन्हें प्रेम हुआ और मात्र २० वर्ष की उम्र में १९५० में विवाह कर लिया.

शशि कपूर ने गैर परम्परागत किस्म की भूमिकाओ के साथ सिनेमा के परदे पर आगाज किया था. उन्होंने सांप्रदायिक दंगो पर आधारित धर्मपुत्र (१९६१) में काम किया था. उसके बाद चार दीवारी और प्रेमपत्र जैसी ऑफ बीत फिल्मो में नजर आये. वे हिंदी सिनेमा के पहले ऐसे अभिनेता थे जिन्होंने हाउसहोल्डर और शेक्सपियर वाला जैसी अंग्रेजी फिल्मो में मुख्या भूमिकाये निभाई. वर्ष १९६५ उनके लिए एक महत्वपूर्ण साल था. इसी साल उनकी पहली जुबली फिल्म 'जब जब फूल खिले' रिलीज हुयी और यश चोपड़ा ने उन्हें भारत की पहली बहुल अभिनेताओ वाली हिंदी फिल्म 'वक्त' के लिए कास्ट किया. बॉक्स ऑफिस पर लगातार दो बड़ी हित फिल्मो के बाद व्यावहारिकता का तकाजा यह था की शशि कपूर परम्परागत भूमिकाये करे, लेकिन उनके अन्दर का अभिनेता इसके लिए तैयार नहीं था. इसके बाद उन्होंने 'ए मत्तेर ऑफ़ इन्नोसेंस' और 'प्रीटी परली ६७' जसी फिल्मे की. वहीँ हसीना मन जाएगी, प्यार का मोसम ने उन्हें एक चोकलेटी हीरो के रूप में स्थापित किया. वर्ष १९७२ की फिल्म सिथार्थ के साथ उन्होंने अन्तराष्ट्रीय सिनेमा के मंच पर अपनी मोजुदगी कायक राखी. ७० के दसक में शशि कपूर सबसे व्यस्त अभिनेताओ में से एक थे. इसी दसक में उनकी 'चोर मचाये शोर', दीवार, कभी - कभी, दूसरा आदमी और 'सत्यम शिवम् सुन्दरम' जैसी हिट फिल्मे रिलीज हुयी. वर्ष १९७१ में पिता पृथ्वीराज की मृत्यु के बाद शशि कपूर ने जेनिफर के साथ मिलकर पिता के स्वप्न को जरी रखने के लिए मुंबई में पृथ्वी थियेटर का पुनरूथान किया. अमिताभ बच्चन के साथ आई उनकी फिल्मो दीवार, कभी - कभी, त्रिशूल, सिलसिला, नमक हलाल, दो और दो पञ्च, शान ने भी उन्हें बहुत लोकप्रियता दिलवाई. १९७७ में इन्होने अपनी होम प्रोडक्सन क. 'फिल्म्वालाज' लॉन्च की.

फिल्मी सफर[संपादित करें]

प्रमुख फिल्में[संपादित करें]

वर्ष फ़िल्म चरित्र टिप्पणी
2000 ऊँच नीच बीच
1998 साइड स्ट्रीट्स विक्रम राज
1994 विवेकानन्द
1993 इन कस्टडी अंग्रेजी फ़िल्म
1991 अकेला पुलिस कमिश्नर
1990 रईसज़ादा
1989 फर्ज़ की जंग इंस्पेक्टर विक्रम
1989 जायदाद वकील मल्होत्रा
1989 मेरी ज़बान राजा विजय सिंह
1989 तौहीन
1988 हम तो चले परदेस
1987 सिंदूर प्रोफेसर विजय चौधरी
1987 नाम-ओ-निशान
1987 अंजाम
1987 प्यार की जीत
1986 न्यू देहली टाइम्स
1986 स्वाति
1986 इलज़ाम
1986 बेटी
1985 बेपनाह रवि मल्होत्रा
1985 अलग अलग
1985 पिघलता आसमान सूरज
1985 भवानी जंकशन भवानी प्रताप
1985 आँधी तूफान इंस्पेक्टर रंजीत सिंह
1984 ज़मीन आसमान
1984 यादों की ज़ंजीर
1984 पाखंडी
1984 घर एक मन्दिर
1984 उत्सव
1983 बंधन कच्चे धागों का प्रेम कपूर
1982 सवाल इंस्पेक्टर रवि मल्होत्रा
1982 विजेता विनोद
1982 वकील बाबू शेखर कुमार
1982 नमक हलाल राजा
1981 बेज़ुबान
1981 कलयुग
1981 एक और एक ग्यारह
1981 बसेरा बलराज कुमार
1981 क्रोधी
1981 सिलसिला शेखर मल्होत्रा
1981 क्रांति शक्ति
1981 मान गये उस्ताद
1980 काली घटा प्रेम
1980 दो और दो पाँच
1980 गंगा और सूरज
1980 स्वयंवर
1980 शान रवि कुमार
1980 नीयत
1979 काला पत्थर
1979 गौतम गोविन्दा इंस्पेक्टर गौतम
1979 सुहाग किशन कपूर
1979 एहसास अनिल साहनी
1978 अतिथि आनन्द
1978 हीरालाल पन्नालाल हीरालाल
1978 मुकद्दर
1978 तृश्णा विनोद सिन्हा
1978 अपना कानून
1978 सत्यम शिवम सुन्दरम रंजीत
1978 दो मुसाफ़िर
1978 आहूति
1978 त्रिशूल शेखर गुप्ता
1978 जुनून जावेद ख़ान
1977 हीरा और पत्थर
1977 चक्कर पे चक्कर रवि कुमार
1977 फरिश्ता या कातिल
1977 मुक्ति कैलाश शर्मा
1977 ईमान धर्म मोहन कुमार सक्सेना
1977 चोर सिपाही
1976 फकीरा
1976 आप बीती रंजीत
1976 कभी कभी विजय खन्ना
1976 शंकर दादा शंकर दादा
1976 जय बजरंग बली
1976 नाच उठे संसार
1975 दीवार रवि वर्मा
1975 सलाखें राजू/चंदर
1975 अनाड़ी
1975 प्रेम कहानी
1975 चोरी मेरा काम भोलानाथ
1974 चोर मचाये शोर विजय शर्मा
1974 मिस्टर रोमियो रमेश सक्सेना
1974 रोटी कपड़ा और मकान मोहन बाबू
1974 पाप और पुण्य
1973 आ गले लग जा प्रेम
1972 जानवर और इंसान
1971 शर्मीली कप्तान अजीत कपूर
1970 बॉम्बे टॉकीज़ विक्रम
1970 अभिनेत्री शेखर
1970 सुहाना सफ़र
1969 एक श्रीमान एक श्रीमती
1969 जहाँ प्यार मिले
1969 प्यार का मौसम सुंदर/सुनिल/प्यारेलाल
1969 कन्यादान
1967 आमने सामने
1966 नींद हमारी ख़्वाब तुम्हारे
1966 प्यार किये जा अशोक वर्मा
1965 शेक्सपियर वाला संजू अंग्रेजी फ़िल्म
1965 वक्त मुन्ना/विजय कुमार
1964 बेनज़ीर अनवर
1962 मेहेंदी लगी मेरे हाथ दीपक
1961 धर्मपुत्र दिलीप राय
1952 मोरद्वाज
1951 आवारा
1950 संग्राम
1950 समाधि

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]