फ़िरोज़ ख़ान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
फ़िरोज़ ख़ान
चित्र:फ़िरोज़ ख़ान.jpg
जन्म 25 सितम्बर 1939
बंगलौर
मृत्यु 27 अप्रैल 2009
बंगलौर
जातीयता पठान, Afghans in India[*]
शिक्षा प्राप्त की Bishop Cotton Boys' School[*]
व्यवसाय अभिनेता
पदवी फ़िरोज़ ख़ान
धार्मिक मान्यता इस्लाम
बच्चे फ़रदीन ख़ान, Vaibhav Talwar[*]
पुरस्कार फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार, Filmfare Lifetime Achievement Award[*], आई आई एफ ए सर्वश्रेष्ठ खलनायक पुरस्कार, Zee Cine Award for Lifetime Achievement[*]

फ़िरोज़ ख़ान (25 सितंबर 1939 – अप्रैल 2009) हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता थे। उन्होंने लंबी फिल्मी पारी खेली.वे अपनी खास शैली, अलग अंदाज और किरदारों के लिए जाने जाते रहे। . फिल्मों में कहीं वो एक सुंदर हीरो की भूमिका में हैं तो कहीं खूंखार विलेन के रोल में.दोनों हीं चरित्रों में फिरोज खान जान डाल देते थे।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

फिल्मकार फिरोज खान का जन्म 25 सितम्बर,1939 को बंगलौर में हुआ था। उनके पिता पठान थे जबकि माता ईरानी .उनके तीन और भाई भी फिल्मों से जुड़े . एक हैं संजय ख़ानदूसरे हैं अकबर खान और तीसरे हैं समीन खान अकबर ने जहाँ अभिनय में हाथ आजमाए वहीं समीर ने फिल्म निर्माण का क्षेत्र चुना.फिरोज खान की भतीजी और संजय खान की बेटी सुजान की शादी ऋतिक रौशन से हुई है, जो फिल्मकार राकेश रौशन के पुत्र हैं। फिरोज खान ने सुंदरी के साथ जिन्दगी का सफर 1965 में शुरू किया। दोनो 20 साल तक साथ रहे। . 1985 में उनके बीच तलाक हो गया।

सफरनामा[संपादित करें]

फिरोज खान ने वर्ष 1960 में फिल्म दीदी से अपनी फिल्मी सफर शुरू किया। दर्जनों फिल्मों में अभिनय किया। कई फिल्में निर्देशित की.और भी कई भूमिकाओं से जुड़े रहे। .लगभग पांच दशक का फिल्मी सफर तय करते हुए फिरोज खान ने 2007 में आखिरी फिल्म दी-वेलकम, जिसमें वे खास अंदाज में पेश आए.उनका आरडीएक्स उपनाम खासा चर्चित रहा.आदमी और इंसान फिल्म के लिए उन्हें फिल्म फेयर अवार्ड मिला.उसके अलावे खान ने ऊंचे लोग, मैं वहीं हूं, अपराध, उपासना, मेला, आग जैसी फिल्मों से पहचान मिली. फिल्म धर्मात्मा, जानबाज, कुर्बानी, दयावान जैसी फिल्मों ने उन्हें शोहरत दिलाई. काफी दिनों तक कैंसर से जुझ रहे फिरोज खान ने बंगलौर के अपने फार्म हाउस में 27 मई,2009 की रात आखिरी सांस ली.

प्रमुख फिल्में[संपादित करें]

वर्ष फ़िल्म चरित्र टिप्पणी
2007 वैलकम सिकन्दर
2003 जानशीन
1992 य़लगार राजेश अश्विनी कुमार
1988 दो वक्त की रोटी शंकर
1988 दयावान
1986 जाँबाज़ इंस्पेक्टर राजेश सिंह
1982 कच्चे हीरे
1981 खून और पानी
1980 कुर्बानी
1977 जादू टोना
1977 दरिन्दा
1976 नागिन राज
1976 शराफत छोड़ दी मैंने
1975 काला सोना राकेश
1975 धर्मात्मा
1975 रानी और लालपरी
1974 अंजान राहें आनन्द
1974 इंटरनेशनल क्लॉक एस राजेश
1974 गीता मेरा नाम राजा
1974 खोटे सिक्के
1972 अपराध
1971 एक पहेली सुधीर
1970 सफ़र शेखर कपूर
1969 प्यासी शाम अशोक
1967 रात और दिन दिलीप
1966 तस्वीर
1965 ऊँचे लोग
1964 सुहागन शंकर
1962 मैं शादी करने चला

बतौर निर्देशक[संपादित करें]

वर्ष फ़िल्म टिप्पणी
2003 जानशीन
1998 प्रेम अगन
1992 य़लगार
1988 दयावान
1986 जाँबाज़
1980 कुर्बानी
1975 धर्मात्मा
1972 अपराध

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]