हिन्दू गणना महत्ता के क्रम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दू गणित सदा ही अग्रणी रही है। इसमें अति सूक्षम गणनाओं के प्रावधान प्राचीन काल से ही होते आ रहे हैं। इसके महत्ता के क्रम इस प्रकार हैं।

  • एकम् = 1
  • दशकम् = 10
  • शतम् = 100
  • सहस्रम् = 1000
  • दशसहस्रम् = 10000
  • लक्षम् = 100000
  • दशलक्षम् = 10^6
  • कोटि = 10^7
  • अयुतम् = 10^9

1010 से अधिक परिमाण[संपादित करें]

  • नियुतम् = 10^11
  • कंकरणम् = 10^13
  • विवर्णम् = 10^15
  • परार्धः = 10^17
  • निवाहः = 10^19
  • उत्संगः = 10^21
  • बहुलम् = 10^23
  • नागबलः = 10^25
  • तितिलम्बम् = 10^27
  • व्यवस्थान - प्रज्ञापतिः = 10^29
  • हेतुहीलम् = 10^31
  • कराहुः = 10^33
  • हेतविन्द्रीयम् = 10^35
  • सम्पत-लम्भः= 10^37
  • गणनागतिः= 10^39
  • निर्वाद्यम्= 10^41
  • मुद्राबलम्= 10^43
  • सर्वबलम्= 10^45
  • विषमग्नागतिः= 10^47
  • सर्वाग्नः= 10^49

1050 से अधिक परिमाण[संपादित करें]

  • विभूतांगम्= 10^51
  • तल्लाक्षणम्= 10^53

इन्हें भी देखें[संपादित करें]