कमलाकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कमलाकर (1616–1700) भारतीय गणितज्ञ एवं खगोलविद थे। उनके तीन भाइयों में से अन्य दो भी गणितज्ञ व खगोलविद थे। इनमें से दिवाकर सबसे बड़े थे और उनका जन्म १६०६ में हुआ था। उनके सबसे छोटे भाई रङ्गनाथ भी गणितज्ञ और खगोलशास्त्री थे।

कमलाकर का जन्म गोदावरी के उत्तरी किनारे पर स्थित गोलग्राम में हुआ था। उनका परिवार विद्वानों का परिवार था। कमलाकर ने अपने बड़े भाई दिवाकर से खगोलशास्त्र सीखा। बाद में कमलाकर का परिवार वाराणसी आ गया था।

कमलाकर, मुनीश्वर के सिद्धान्तों के विरुद्ध थे।

कृतियाँ[संपादित करें]

लेख[संपादित करें]

  • A K Bag, "Indian literature on mathematics during 1400–1800 A.D.", Indian J. Hist. Sci. 15 (1) (1980), 79–93.
  • Radha Charan Gupta, "Kamalakara's mathematics and construction of Kundas", Ganita Bharati 20 (1-4) (1998), 8–24.
  • Radha Charan Gupta, "Addition and subtraction theorems for the sine and the cosine in medieval India", Indian J. History Sci. 9 (2) (1974), 164–177.
  • Radha Charan Gupta, "Sines and cosines of multiple arcs as given by Kamalakara", Indian J. History Sci. 9 (2) (1974), 143–150.
  • Radha Charan Gupta, "Sines of sub-multiple arcs as found in the Siddhanta-tattva-viveka", Ranchi Univ. Math. J. 5 (1974), 21–27.
  • David Pingree, "Islamic astronomy in Sanskrit", J. Hist. Arabic Sci. 2 (2) (1978), 315–330; 425.
  • A N Singh, "Hindu trigonometry", Proc. Benares Math. Soc. 1 (1939), 77–92.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]