परिमाण की कोटि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
महत्ता का क्रम
क्षेत्रफल
कोणीय वेग
मुद्रा
आंकड़े
घनत्व
ऊर्जा
आवृत्ति
लम्बाई
भार
संख्याएं
शक्ति
दबाव
विशिष्ट ऊर्जा घनत्व
विशिष्ट ऊष्मा धारिता
गति
तापमान
समय
आयतन
इकाइयों का रूपांतरण
भौतिक इकाई
SI
SI मूल इकाई
SI व्युत्पन्न इकाई
SI उपसर्ग
प्लैंक इकाई

किसी राशि के परिमाण को निकटतम दस के घात के रूप में अभिव्यक्ति को उस राशि के परिमाण की कोटि कहते हैं। इस प्रकार कहते हैं कि धरती के द्रव्यमान के परिमाण की कोटि १०२२ टन है जबकि सूर्य के द्रव्यमान के परिमाण की कोटि १०२७ टन है।

शब्दों
में
दशमलव दस की
घात
महत्ता का
क्रम
दस हजा़रवाँ 0.0001 10−4 −4
हजा़रवाँ 0.001 10−3 −3
सौवाँ 0.01 10−2 −2
दसवाँ 0.1 10−1 −1
एक 1 100 0
दस 10 101 1
सौ 100 10² 2
हजा़र 1,000 10³ 3
दस हजा़र 10,000 104 4
दस लाख /मिलियन 1,000,000 106 6
अरब /बिलियन 1,000,000,000 109 9

महत्ता के क्रमों का प्रयोग प्रायः बहुत लगभग के आंकलनों/तुलनाओं हेतु किया जाता है । यदि दो संख्याएं एक महत्ता के क्रम के अंतर पर हैं, तो एक संख्या दूसरी के लगभग दस गुणा के बराबर है । एसे ही यदि वे दो क्यमों का अंतर दिखाती हैं, तो वह सौ गुणा है । एक ही क्रम के दो नम्बरों में एक ही पैमाने पर स्थित होते हैं । बङी संख्या छोटी संख्या का अधिकतम दस गुणा हो सकती है । यही कारण है सार्थक संख्याओं के पीछे । जो राशि छोङ या पूर्णांकित की जाती है, वह कुल राशि के महत्ता से कुछ क्रम छोटी होती है, अतएव तुच्छ है ।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कङियाँ[संपादित करें]