विकिपीडिया:प्रबन्धक पद के लिये निवेदन/पुरालेख ०२

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

देखें:विकिपीडिया:प्रबन्धक पद के लिये निवेदन

अनुक्रम

प्रशासक पद के लिए निवेदन[संपादित करें]

मयुर(स्व-नामांकन)[संपादित करें]

सर्वप्रथम मैं यह मानता हूँ कि अपने अनुभव काल के आधार पर मैं इस अधिकार के आवेदन के लिये जल्दी कर रहा हूँ परन्तु विकि की प्रगति को और तेज करने की इच्छा ने मुझे इसके लिये प्रेरित किया। वैसे तो मेरे पास पहले से ही प्रबंधन अधिकार है परन्तु प्रबंधन और प्रशासक के अधिकारो में कुल तीन अन्तर है १)बाट बनाना २)प्रबंधक बनाना ३)सदस्य नाम परिवर्तित करना। मुझे इन तीनो अधिकारों में कुछ खास रुचि नहीं परन्तु समय समय पर हिन्दी विकि के साफ्टवेयर इन्टरफेस एवं नये टुल्स को असानी से यहाँ लाने एवं कुछ और नये अधिकार बनाने के लिये प्रशासक पद की आवश्यकता हो सकती है। मैं यहां पिछ्ले ६ माह में पूर्ण रुप से सक्रिय रहा हूँ तथा इस विकि को आगे ले जाने एवं उन्नत बनाने के लिये मैने काफि प्रयास भी किया है भले सभी में १००% सफल न रहा हूँ परन्तु इन प्रयासों से मुझे काफि अनुभव की प्राप्ति हुई है। यदि आपको मेरी कार्यकुशलता एवं क्षमता उचित लगी है तो कृपया मुझे अपना समर्थन दें तांकि हम सभी इस विकि को और अधिक उँचाईयों तक लेकर जा सकें। मेरा यह प्रयास रहेगा कि साफ्ट्वेयर, गेजट एवं सदस्य अधिकरों के क्षेत्र में इस विकि को अन्य सभी विकियों से आगे रखुं जैसे कि आज हमारा विकि इस क्षेत्र में कम से कम शीर्ष के १० विकियों में होगा और कुछ टुल्स तो ऐसे है जो अंगेजी विकि में भी उपलब्ध नहीं। मैं समझता हूँ कि मुझे ज्यादा कुछ लिखने की आवश्यकता नहीं है आपके निर्णय का मैं सहर्ष आदर करुँगा और यदि मुझे प्रशासक नहीं भी बनाया जाता तो भी मेरा योगदान सतत बना रहेगा, धन्यवाद--यह सदस्य हिन्दी विकिपीडीया के प्रबंधक है।Mayur(TalkEmail)  ०७:२६, १५ अगस्त २०१० (UTC)

समर्थन

विरोध

  •  X mark.svg विरोध -सख्त विरोध(लगता है कि प्रबन्धक का पद मजाक बनने के बाद प्रशासक का पद भी हिन्दी विकि पर मजाक बनने जा रहा है ।)--Logic १२:१०, १८ अगस्त २०१० (UTC--Logic १५:४६, २० अगस्त २०१० (UTC)

संवाद

  • मयूर जी ने इतने कम समय में ही विकिपीडिया के विकास में आश्चर्यजनक योगदान दिया है। वे संस्कृत, वेद, ज्योतिष आदि भारतीय संस्कृति सम्बंधी विषयों का ज्ञान रखने के साथ-साथ तकनीकी कार्यों यथा विकि के इण्टरफेस को उन्नत बनाना, बॉट बनाना, उत्पात/बर्बरता पर नियन्त्रण आदि कार्यों में दक्ष हैं। साथ ही वे निरन्तर कार्यशील तथा संज्जन व्यक्ति हैं। इसलिये प्रशासक के पद हेतु पूर्णरुप से सुयोग्य हैं। मुझे विश्वास है कि मयूर जी को प्रशासक बनाया जाना हिन्दी विकि के लिये बहुत लाभदायक सिद्ध होगा।-- श्रीश e-पण्डित  वार्ता  १३:२०, १५ अगस्त २०१० (UTC)
  • मयूर के समर्थन का आधआर उनके संपादन संख्या या लेखों के विकास में उनके किए गए योगदान नहीं हैं। बल्कि मैं हिंदी विकिया को तकनिकि दृष्टि से समृद्ध करने की उनकी कोशिश का तथा हिंदी विकिया की इस आवश्यकता की पूर्ति के अवसर का समर्थन कर रहा हूं। उनके प्रबंधकीय कार्य उनकी ऐसी क्षमता के परिचायक हैं। अनिरुद्ध  वार्ता  ०१:५५, १८ अगस्त २०१० (UTC)
  • मेरे विचार से मयूर की प्रगति हिन्दी विकि की प्रगति है। वैसे तो प्रबंधक बनने ए लिये भी इनका अनुभव अंतराल बहुत कम था, किन्तु इनके काम को देखते हुए इस बात से आंखें मूंदनी ही ड़ी थीं। इसी प्रकार प्रशासक पद हेतु भी तकनीकी योग्यताओं को देखते हुए, लेखों के काम को देखते हुए इनकी प्रशासक पद हेतु प्रबंधक अवधि को शायद अनदेखा किया जा सकता है। इसीलिये समर्थन दे रहा हूं।--ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागर  वार्ता  १०:०३, १८ अगस्त २०१० (UTC)
  • (लगता है कि प्रबन्धक का पद मजाक बनने के बाद प्रशासक का पद भी हिन्दी विकि पर मजाक बनने जा रहा है ।)--Logic १२:१०, १८ अगस्त २०१० (UTC)
    • मेरे विचार से सदस्य लाजिक जी आपने हिन्दी विकि पर केवल ८१ संपादन किये है एवं जिसमें से भी अधिकतर नरात्मक ध्वनि छोड़्ते है आपकी लैंगिक टिप्पणी के कारण हमने कई महिला सदस्यों को खोया है। प्रशासक या प्रबंधक पद कोई तबका या पद नहीं है यह केवल कुछ अधिकार होते है जिन्हे केवल कुशल सदस्यों तक सीमित रखा जाता है। यदि आप इनकी किसी भी कार्यवाही से असंतुष्ट है तो इन्हे सूचित करे। हिन्दी विकि पर रचनात्मक संपादन करने के लिये आपका हमेशा स्वागत है--यह सदस्य हिन्दी विकिपीडीया के प्रबंधक है।Mayur(TalkEmail)  १३:०३, १८ अगस्त २०१० (UTC)
  • मयूरजी की तकनीकी कुशलता को देखते हुए कहा जा सकता है कि इन्हें प्रशासक का पद सौंपा जा सकता है, क्योंकि यह हिन्दी विकि को तकनीकी रूप से समृद्ध बना सकते हैं। मयूरजी आपकी तकनीकी कौशल को देखते हुए मैं आपसे कुछ तकनीकी कामों का निवेदन करना चाहता हूँ। मैं समय मिलने पर चौपाल या आपके वार्ता पृष्ठ पर आपको बताऊंगा कि क्या काम है। फिलहाल के लिए मेरा भी आपको समर्थन है। रोहित रावत १७:४५, १८ अगस्त २०१० (UTC)

तीन प्रबंधकों और ३ विशिष्ट एवं अन्य सदस्यों के समर्थन एवं एक विरोध (उस सदस्य का जिसकी नगण्य योगदान मात्रा है) के बाद सदस्य मयूर को प्रशासक पदोन्नत करता हूं। शुभकामनाएं: --ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागर  वार्ता  ०८:३०, २५ अगस्त २०१० (UTC)

पूर्णिमा वर्मन[संपादित करें]

प्रस्तावक:

--युकेश १३:४३, ५ जून २०१० (UTC) मैं आपको प्रशासक बनाने का प्रस्ताव करता हूँ, क्योंकि -

  • हिंदी विकिपीडिया में योगदान
  • बहुत लम्बे समय से प्रबन्धक के रुप में कार्यरत
  • हिंदी विकिपीडिया में उल्लेख्य योगदान आज के तिथि अनुसार २०८३३ सम्पादन
  • विकिसंस्कृति का ज्ञान तथा श्रीवृद्धि में निरन्तर योगदान (प्रथम निर्वाचित लेख निर्माण में अहम योगदान, प्रथम निर्वाचित लेख पश्चात निर्वाचित लेख तथा मुख्य पृष्ठ संस्कृति में मेरे विचार में बहुत परिवर्तन हुआ था)
  • विकिपीडिया में भाषिक शुद्धता में योगदान

--- यदि किसी अन्य सदस्य ने आपको नामित किया है तो आप अपना नामांकन प्रस्ताव स्वीकार/अस्वीकार करते हुए अपना मत लिखें।

सदस्य सहमति

क्या आप प्रशासक का काम करने के इच्छुक हैं?

मैं इस पद के लिये अपनी स्वीकृति प्रदान करती हूँ। --पूर्णिमा वर्मन ०४:५०, २० जून २०१० (UTC)

समर्थन

  •  Yes check.svg  पूर्ण समर्थन --गुंजन वर्मासंदेश ०४:५५, ७ जून २०१० (UTC)
  •  Yes check.svg  --प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १७:२४, ८ जून २०१० (UTC)
  •  Yes check.svg  --सुलोचना  वार्ता  १८:५०, ९ जून २०१० (UTC)
  •  Yes check.svg  पूर्णिमा वर्मन ने हिन्दी विकि को जिस गम्भीरता से आगे बढ़ाया उसे सब जानते हैं। पूर्णिमा जी को प्रशासक बनाया जाना विकि के लिए बहुत लाभदायिक रहेगा। मेरा पूर्ण समर्थन है।--डा० जगदीश व्योम ०३:५६, २० जून २०१० (UTC)
  •  Yes check.svg  जोरदार समर्थन - हम सभी ने पूर्णिमा वर्मनजी से बहुत कुछ सीखा है और अभी भी सीख रहे हैं । --राजीवमास ०९:४९, २२ जून २०१० (UTC)
  •  Yes check.svg  अनिरुद्ध  वार्ता  ०१:५८, १८ अगस्त २०१० (UTC)

विरोध

संवाद

  • समर्थन, पूर्णिमा वर्मन उन प्रारम्भिक सदस्य एवं प्रबंधकों में से हैं जिन्होनें दिन रात परिश्रम कर हिन्दी विकिपीडीया को एक स्तरीय एवं सम्पूर्ण ज्ञान कोश बनाया। हिन्दी विकि का सौभाग्य है कि इतनी श्रेष्ठ लेखिका एवं प्रबंधिका इसके साथ है। इनके प्रशासक बनने से हिन्दी विकि अपने आप को गर्वित अनुभव करेगा--मयुर कुमारवार्ता ०४:२२, ६ जून २०१० (UTC)
  •  Blinking Stop hand.gif  पूर्णिमा जी का हिन्दी विकिपीडिया की सदस्या होना, विकिपीडिया का सौभाग्य है, किन्तु वे पहले ही प्रबंधक हैं। अतः उन्हें इस प्रस्ताव की आवश्यकता नहीं है। ये वही प्रबंधक हैं, जिनके समर्थन से स्वयं मैं प्रबंधक बना हूं।--प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १७:१७, ८ जून २०१० (UTC)
    • शायद ये प्रस्ताव प्रशासक पद हेतु है। इसके लिये सोच-विचार की आवश्यकता नहीं है। निर्विरोध समर्थन; हां ये आवश्यक है, कि उनके पास पर्याप्त समय हो, क्योंकि हमें अप सक्रिय पदस्थ लोगों की अतीव आवश्यकता है। --प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १७:२४, ८ जून २०१० (UTC)
  • पूर्णिमा वर्मन जी ने वीकि को अनेको अच्छे लेक दिये है, अत समर्थ्न--सुलोचना  वार्ता  १८:५६, ९ जून २०१० (UTC)
  • यह प्रशासक पद के निमित्त मनोनयन है जो कि मनोनयन के खण्ड (प्रशासक के लिए मनोनयन) और मनोनयन के तर्क से प्रतिविम्भित है। परन्तु, प्रबन्धक मनोनयन के साँचा के प्रयोजन से सायद कुछ दुविधा उत्पन्न हुए है। अतः, दुविधा हटाने के लिए में पुनः एक बार इस मनोनयन को प्रशासक के लिए नामांकित होने का घोषणा करता हुं। --युकेश १७:१६, १० जून २०१० (UTC)
  • हिंदी विकिया के संवर्धन में उनके स्वरूप और मात्रा दोनों दृष्टियों से ऐतिहासिक महत्व के योगदान के आधार पर प्रशासक पद के लिए मैं उनका समर्थन करता हूँ। अनिरुद्ध  वार्ता  ०२:०३, १८ अगस्त २०१० (UTC)

उपरोक्त सदस्य की लंबी अनुपस्थिति इनके प्रशासक पद के नामांकन की अर्हता के आड़े आती है। अतः फिल्हाल इनके नामांकन को निरस्त किया जाता है। इनके इतिहास को देखते हुए एवं वरिष्ठता के सम्मान को नज़र में रखते हुए भविष्य में पुनः सक्रिय होने पर ये नामांकन पुनर्विचारणीय होगा। इन्होंने हिन्दी विकि के लिये अत्यंत सराहनीय योगदान दिये हैं जिनके हम हार्दिक आभारी एवं ऋणी हैं, किन्तु संभवतः समय के अभाव के कारण ये अब सक्रिय नहीं हैं। इनकी कमी सदा ही रहेगी।--ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागर  वार्ता  १८:०७, ३ सितंबर २०१० (UTC)

आशीष भटनागर[संपादित करें]

प्रस्तावकर्त्ता:--युकेश १३:४३, ५ जून २०१० (UTC)

मैं आपको प्रशासक बनाने का प्रस्ताव करता हूँ, क्योंकि -

सदस्य सहमति

--- यदि किसी अन्य सदस्य ने आपको नामित किया है तो आप अपना नामांकन प्रस्ताव स्वीकार/अस्वीकार करते हुए अपना मत लिखें। क्या आप प्रबंधक का काम करने के इच्छुक हैं?

मैं अपने हिन्दी भाषा और हिन्दी विकिपीडिया प्रेम के कारण ये प्रस्ताव मानने को बाध्य हूं, इस आशा के साथ कि इस प्रकार इन दोनों की और अधिक और बेहतर सेवा कर पाऊंगा। आगे भी प्रयासरत रहूंगा कि किसी प्रकार की शिकायत का अवसर न दूं। इससे अधिक क्या कहूं, अतः आशा है थोड़ा कहा बहुत समझा जायेगा।--प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १५:१६, ८ जून २०१० (UTC)
समर्थन
विरोध
संवाद
  • आशीष भटनागर जी के प्रशासक बनने से हिन्दी का हित सधेगा। समर्थन है। -- अनुनाद सिंहवार्ता ०३:०६, ६ जून २०१० (UTC)

समर्थन, आशीष भटनागर जी हिन्दी विकिपीडिया के सबसे परिश्रमी, कर्मशील एवं तकनीकी रुप से दक्ष सदस्यों में से एक है हिन्दी विकिपीडिया के विकास में इनका महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है अतः इन्हें प्रशासक बनने से हिन्दी विकिपीडिया का हित ही सधेगा।--मयुर कुमारवार्ता ०४:२४, ६ जून २०१० (UTC)

  • मैं भटनागरजी को प्रशासक बनाने का समर्थन करता हूँ। ये हिन्दी विकि के सबसे पुराने सदस्यों में से एक हैं और सबसे सक्रिय सदस्य भी। रोहित रावत १६:३७, ६ जून २०१० (UTC)

मुझे बहुत खुशी हो रही है ये घोषणा करते हुए कि आशीष को प्रशासक बनाया गया है । मुझे पूरा विश्वास है कि आशीष यह जिम्मेदारी अच्छे से निभाएंगे और कुछ वक्त बाद मै इस जिम्मेदारी से मुक्त होना चाहूँगा । --Hemanshu ०३:५७, १३ जून २०१० (UTC)

प्रबन्धक पद के लिये निवेदन की प्रक्रिया[संपादित करें]

बिल विलियम कॉम्पटन को प्रबन्धक पद से हटाने के लिए निवेदन[संपादित करें]

बिल विलियम कॉम्पटन ने हम सबकी निष्क्रियता और उदारता तथा 'हमे का हानी' की भावना के कारण प्रबन्धक का पद पा लिया। वह शुरू से ही सरल सदस्यों को परेशान करते रहे हैं और अपने पद का भारी मात्रा में दुरुपयोग किया है। उनके कारण हिन्दी विकि से बीसों लोगों ने मुँह फेर लिया है। उन्हें शीघ्र हटाया नहीं गया तो हिन्दी विकिपिडिया की दशा और भी बुरी होती चली जाएगी।
मैं सोचता हूँ कि इस विषय में ज्यादा कहने की जरूरत नहीं है। जो लोग यहाँ वर्षों से योगदान कर रहे हैं वे सब जानते हैं। मैं सभी सदस्यों से आग्रह करता हूँ कि हिन्दी विकि के हित में बिल विलियम कॉम्पटन को तुरन्त प्रबन्धक पद से हटाने के समर्थन में अपना मत दें। -- अनुनाद सिंहवार्ता 11:07, 13 मार्च 2013 (UTC)

(बाद में जोड़े गये प्रमाण) इस प्रस्ताव को रखे जाने के साथ ही एक बिल के अन्यायपूर्ण रवैये का का एक और मामला सामने आया, सो वह भी यहाँ रखना प्रासंगिक है। शॉन नामक सदस्य जिसके कमेन्ट नीचे देखे जा सकते हैं, वास्तव में लवीसिंघल नामक सदस्य की कठपुतली निकला है। यानी लवीसिंघल ही विदेशी नाम से खाता बनाकर विदेशी होने का स्वाँग रचकर व्यर्थ कुतर्कों द्वारा हिन्दीभाषी सदस्यों को मानसिक रूप से परेशान कर रहे थे। कठपुतली को बचाने के लिए बिल विलियम कॉम्प्टन द्वारा जी-जान से प्रयास किया जाना यद्यपि इस प्रस्ताव के बाद की घटना है, लेकिन वह बिल की मनोवृत्ति को प्रत्यक्ष कर देती है। हम जानते हैं कि वह कठपुतली (शॉन नाम से) किस तरह हमारे हर बहुमूल्य सदस्य को मानसिक रूप से परेशान कर रही थी। और उसके बाद भी बिल ने न सिर्फ उसे विशेष दर्जा दिया बल्कि उसकी रक्षा के लिए सारे कुतर्क प्रस्तुत किये। इसे भी देखते हुए बिल को पदमुक्त करना निहायत जरूरी हो गया है। कठपुतली की जाँच के लिए मेरे द्वारा निवेदन किये जाने पर बिल का विरोध कुछ इस प्रकार का था।-
बिल का कथन-
"Hemant, checkuser proceeds with the request under certain circumstances, which include disruption, vote-stacking, etc. Assuming he is a sock of Lovysinghal (which I don't believe at all), he hasn't done anything disruptive or detrimental to the project. The discussion you are referring to is null and void as Hindi Wikipedia policy allows de-sysoping of a user only in case of clear abuse. Thus far you haven't established that. It's plain and simple. If x/he wanted to !vote in the discussion he could have used his/her old account instead of creating a new one. How it is a vote-stacking? The net support/oppose in this pro/con !voting would have remained the same. How much brains do you need to figure out why your request doesn't make any sense? I don't want to get in another argument, so I'm just reminding you that checkuser is not for fishing. The rest is for checkuser to decide."
इसे और अन्य प्रमाणों को देखते हुए सदस्य फैसला करें कि क्या बिल जैसे लोग हिन्दी विकि पर किसी योगदानकर्ता को टिके रहने देना चाहते हैं? और बिल विलियम कॉम्पटन को पदमुक्त करने हेतु अपना मत रखें। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 16:25, 25 मार्च 2013 (UTC)


समर्थन[संपादित करें]

 Yes check.svg  मेरा पूर्ण समर्थन। मैं अनुनाद जी द्वारा रखे गए उपरोक्त प्रस्ताव का पूर्ण समर्थन व्यक्त करता हूँ। मुझे ऐसा लगता है कि हिन्दी विकि पर एक सहयोगात्मक एवं लोकतांत्रिक माहौल बनाने के लिए बिल विलियम कॉम्प्टन को हिन्दी विकि के प्रबन्धक पद से हटाया जाना अत्यंत आवश्यक है। -- प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर 02:02, 31 मार्च 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान न के बराबर योगदान। ग़ैर-सक्रीय खाता। --Hunnjazal (वार्ता) 18:58, 31 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  समर्थन। मैं अनुनाद जी के उपरोक्त प्रस्ताव का पुरजोर समर्थन करता हूँ। हिन्दी विकि के हित में बिल विलियम कॉम्प्टन को हिन्दी विकि के प्रबन्धक पद से हटाया जाना चाहिए। -- Sanjeev kumar sinha (वार्ता) 07:13, 30 मार्च 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान न के बराबर योगदान। ग़ैर-सक्रीय खाता। --Hunnjazal (वार्ता) 18:58, 31 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  इस प्रस्ताव के जनक के रूप में बिल विलियम कॉम्पटन हटाने के पक्ष में पहला मत देता हूँ। -- अनुनाद सिंहवार्ता 11:07, 13 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  समर्थन। इसका नवीनतम उदाहरण इसी सन्देश को शून्य में विलीन कर देने का बिल महोदय का कारनामा है (जिसे मैंने पुनःस्थापित किया है)। जो कि इस मनोवृत्ति का प्रमाण है कि जो मेरे पक्ष में है वह अच्छा, जो मेरे विरुद्ध है वह नीतिविरुद्ध। ध्यान रहे, हाल ही के एक प्रस्ताव की तरह यह किसी को ब्लॉक करने का प्रस्ताव नहीं है, केवल प्रबन्धक पद से हटाने का प्रस्ताव है। अतः पूर्णतया मानवोचित और न्यायोचित है। हिन्दी विकि पर ऍडिट और कई रचनात्मक कार्य तो प्रबन्धक रहे बिना भी किये जा सकते हैं। केवल डिलीट आदि नहीं कर पायेंगे। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 15:12, 13 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  समर्थन। अनुनाद जी ने बिल साहब के ऊपर नि:संदेह गंभीर आरोप लगाए हैं । विकिपीडिया के महत्वपूर्ण पन्नों से गुजरते हुये मुझे भी कई जगहों पर यह महसूस हुआ कि बिल साहब ने कुटिल सदस्यों का एक गुट बनाकर सरल प्रकृति के सदस्यों को बात-बात पर परेशान और हतोत्साहित करके हिन्दी विकि से विमुख किया है जिससे हिन्दी विकि लगभग ठप पड़ गई है। एक प्रबन्धक को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष साधनों के आधार पर न्यायोचित निर्णय लेने का अधिकार होता है न कि पक्षपात और मिथ्याभिमान के आधार पर । गुटबाजी से अभिव्यक्ति का लोकतन्त्र ही समाप्त नहीं होता अपितु प्रबन्धक के निर्णय पर हमेशा संदेह बना रहता है । यह आरोप निराधार नहीं है, इसलिए मेरी समझ से बिल जी के साथ-साथ उनके समस्त प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष साहियोगियों को ब्लॉक कर दिया जाना चाहिए ।"' मैं इस निवेदन का पुरजोर समर्थन करती हूँ। Mala chaubey (वार्ता) 13:55, 17 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  समर्थन। मैं अनुनाद जी के प्रस्ताव का समर्थन करता हूँ कि हिन्दी विकि के हित में बिल विलियम कॉम्प्टन को प्रबन्धक पद से हटाया जाना चाहिए। --विप्र 11:36, 28 मार्च 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान न के बराबर योगदान। ग़ैर-सक्रीय खाता। --Hunnjazal (वार्ता) 18:58, 31 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  बात अनुनाद जी की ही नहीं बल्कि उन सभी विकीपीडिया प्रेमियों की है जो योगदान तो देना चाहते हैं परन्तु अपना समय बरबाद करना नहीं चाहते। क्योंकि ये लोग उसे मिटाने में जरा भी संकोच नहीं करते। पता नहीं इन्हें किसने और क्या सोचकर प्रबन्धकीय अधिकार प्रदान किये। मैं उपरोक्त हेमन्त जी की बात से शत प्रतिशत सहमत हूँ किन्तु उन लोगों से बिल्कुल नहीं जो छद्म नाम से अंग्रेजी का सहारा लेकर हिन्दी विकिपीडिया को संचालित कर रहे हैं। मेरी अनुनाद जी से कोई दोस्ती नहीं और बिल से कोई दिली दुश्मनी नहीं। उन्हें स्वयं ही अपनी कार्य पद्धति के बजाय पहले तो स्वयं अपनी वर्तनी सुधारनी चाहिये। विकीपीडिया एक बहुत विशाल संगठन है एक दो के रहने न रहने से कोई फ़र्क नहीं पड़ने वाला। आशा है प्रशासक गण इस ओर समुचित ध्यान देंगे इन्हीं चन्द शब्दों के साथ। आप सबका अवधेश पाण्डेयAwadhesh.Pandey (वार्ता) 18:42, 17 मार्च 2013 (UTC) -- अमान्य (कठपुतली खाता)

 Yes check.svg  मैं अनुनाद जी के प्रस्ताव का जोरदार समर्थन करता हूँ, विकि का हित इसी में है विकि एक विशाल परियोजना है जो सभी के लेखकीय योगदान से संचालित हो रही है, बिल काम्पटन और कुछ इनके ग्रुप के लोगों के व्यवहार ने विकि से लोगों को हटने के लिये विवश किया है, बिल और दो तीन लोगों से यदि विकि को मुक्ति मिल जाये तो यहाँ कई सक्रिय लोग फिर से आ सकते हैं। --डा० जगदीश व्योमवार्ता 16:55, 21 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  यद्यपि मुझसे किसी ने आग्रह नहीं किया फिर भी वर्तमान हालात को देखते हुए मैं उपरोक्त प्रस्ताव का पुरजोर समर्थन करता हूँ। यदि इस प्रकार छद्म खाता धारक प्रबन्धक पद हथिया कर कठपुतलियों के इशारे पर योगदान कर्ताओं को परेशान करने लगेंगे तो कम से कम मुझ जैसा व्यक्ति तो विकिपीडिया से दूर ही रहना पसन्द करेगा। क्योंकि सबसे अधिक मुझे ही परेशान किया गया है। आप मेरे हिन्दी अंग्रेजी संस्कृत विकी के योगदान व मेरे वार्ता पृष्ठों का अवलोकन कर सकते हैं। वैसे भी बहुत सारे लोग दूर जा चुके हैं और प्रशासन कुम्भकरण की नींद सो रहा है। आप लोग कृपया उसे जगाएँ बस इतनी प्रार्थना है डॉ०क्रान्त एम०एल०वर्मा (वार्ता) 13:59, 25 मार्च 2013 (UTC) -- अमान्य (कठपुतली खाता)

 Yes check.svg  मैं अनुनाद जी के प्रस्ताव का जोरदार समर्थन करता हूँ। साथ ही कहना चाहूंगा कि बिल विलियम कॉम्पटन को ऐसा क्या लालच है कि वे- अपना पद नहीं छोड़ना चाहते? उनकी ऐसी क्या मजबूरी है कि वे नैतिक आधार पर अपनी गलती स्वीकार करना नहीं चाहते? विकी पर काम करने वाले ईमानदार लोगो को वे परेशान क्यों करते रहना चाहते हैं? और क्या विकी प्रबंधन में कोई इनसे बड़ा पदाधिकारी नहीं है जो इनको सही रास्ता दिखाए? --अवनीश सिंह चौहानवार्ता 07:17, 26 मार्च 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान बहुत कम योगदान और बर्बरता करने वाला खाता।░▒▓शुभम कनोडिया वार्ता 15:29, 24 अक्टूबर 2013 (UTC)

 Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। मैं अनुनाद जी के उपरोक्त प्रस्ताव का समर्थन करता हूँ। हिन्दी विकि पर सहयोगपूर्ण वातावरण के निर्माण और लोकतांत्रिक माहौल की पुनः वापसी के लिए बिल विलियम कॉम्प्टन को हिन्दी विकि के प्रबन्धक पद से हटाया जाना अति आवश्यक है। -- दिवाकर मणि [Diwakar Mani] 06:35, 31 मार्च 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान न के बराबर योगदान। ग़ैर-सक्रीय खाता। --Hunnjazal (वार्ता) 18:58, 31 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। मैं अनुनाद जी द्वारा रखे गए उपरोक्त प्रस्ताव का पूर्ण समर्थन व्यक्त करता हूँ। मुझे ऐसा लगता है कि हिन्दी विकि पर एक सहयोगात्मक एवं लोकतांत्रिक माहौल बनाने के लिए बिल विलियम कॉम्प्टन को हिन्दी विकि के प्रबन्धक पद से हटाया जाना अत्यंत आवश्यक है। Sukanta.91 (वार्ता) 11:10, 1 अप्रैल 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान बहुत कम योगदान वाला ग़ैर-सक्रीय खाता। --Hunnjazal (वार्ता) 16:21, 1 अप्रैल 2013 (UTC)

 Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। मैं अनुनाद जी के उपरोक्त प्रस्ताव का करती हूँ। विलियम कॉम्प्टन को हिन्दी विकि के प्रबन्धक पद से हटाया जाना आवश्यक है तभी हिन्दी विकि पर विकास का माहौल पुनः निर्मित हो पाएगा। -- Dr.Kavita Vachaknavee (वार्ता) 13:05, 1 अप्रैल 2013 (UTC)

Warning sign चेतावनी/सावधान बहुत कम योगदान वाला ग़ैर-सक्रीय खाता। --Hunnjazal (वार्ता) 16:21, 1 अप्रैल 2013 (UTC)

 Yes check.svg  समर्थन। वैसे मेरी बिल जी ना ही तो मेरी कोई निजी दुश्मनी है और ना ही उन्होने मुझे तंग किया है। मेरे साथ उनका व्यवहार अच्छा ही रहा है और समय समय पर उन्होंने मेरी सहायता भी की है। उनका हिन्दी विकी पर योगदान भी विशाल (व सकारात्मक भी) है लेकिन बिल जी ने विकी पर असन्तुष्टों (असन्तुष्टि तर्कसंगत है और असन्तुष्टों ने हमेशा शिष्ट भाषा का प्रयोग किया है) को सन्तुष्ट करने की बजाय जो तरीका अपनाया वह मुझे हिन्दी विकी के हित में नहीं लगता। --संजीव कुमार (वार्ता) 13:01, 11 अप्रैल 2013 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

#  X mark.svg  हिन्दी विकिपीडिया पर बाकी वरिष्ठ सदस्यों के मुकाबले अभी मैं बहुत ही नया और अनुभवहीन हूँ, किंतु जितना कुछ पिछले एक महिने में देखा है, उसके आधार पर इतना ज़रूर कह सकता हूँ कि बिल जी ने ऐसा कोई कार्य नहीं किया है जिसकी वजह से इनसे प्रबंधन अधिकार छीने जाएँ। हम सब में मतभेद हो सकते हैं पर ऐसी दंडात्मक कार्यवाई से पहले हमें दस बार सोचना चाहिए कि संबद्ध सदस्य द्वारा कौन से नियम तोडे. गए है, क्या उनसे प्रबंधन अधिकार छीनने से हिन्दी विकिपीडिया लाभान्वित होगी, इत्यादि। इस समय हमारे पास केवल चार प्रबंधक जिसमें से वर्तमान समय में बिल ही सबसे ज़्यादा प्रबंधन की ज़िम्मेदारी सँभाल रहे हैं। फालतू पृष्ठों को हटाना एक आवश्यक कार्य है। इस संदर्भ में मुझे हिंदू पौराणिक कथाओं में शिव की भूमिका का ध्यान आता है! उम्मीद करता हूँ कि अन्य कुछ सदस्य भी मेरी राय से सहमत होगें और आखिर में धर्म की जीत होगी। शॉन (वार्ता) 05:09, 14 मार्च 2013 (UTC)

ये दंडात्मक कार्रवाई नहीं है, हिन्दी विकि के लिए ज़रूरी एक सकारात्मक कदम है। बिल महोदय को दंडित करने की हमारी कोई इच्छा नहीं है। इसीलिए यहाँ ब्लॉक करने आदि का कोई प्रस्ताव नहीं लाया गया है। अगर प्रबंधक का अधिकार छीनना दंड है तो हम जैसे साधारण सदस्य तो हमेशा से ही दंडित रहे हैं। कृपया इसे सकारात्मक दृष्टि से देखें। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 06:41, 14 मार्च 2013 (UTC) -- अप्रासंगिक, क्योंकि उपर्युक्त शॉन कठपुतली खाता था।
क्षमा कीजिए हेमंत जी, पर किसी से बिना वजह दिए, बिना किसी कारण अधिकार छीन लेना कम से कम मुझे तो दंड देना ही समझ आता है। इससे हिन्दी विकि का भला होगा - यह आपका अपना व्यक्तिगत विचार है, मैं इससे इत्तेफ़ाक नहीं रखता। मेरी समझ में हिन्दी विकिपीडिया का भला ज़रूरी लेखों (उदाहरणार्थ कला का इतिहास) को सही प्रकार, सही लहजे में, तटस्थ दृष्टिकोण एवं पूर्ण संदर्भों के साथ बनाने से होगा। धन्यवाद - शॉन (वार्ता) 08:12, 14 मार्च 2013 (UTC) -- अमान्य (कठपुतली खाता)
  1.  X mark.svg  सख़्त विरोध। बिना सिर-पैर का प्रस्ताव है। बिल जी के बिना कई हिन्दी विकि कार्य ठप्प पड़ जाएँगे। अनुनाद जी ने किसी राष्ट्रवादी पक्षपाती स्रोत को प्रयोग करने की कोशिश की थी, जो किसी भी विकिपीडिया में ना-मंज़ूर होगा। अनुनाद जी का अपने से अलग मत रखने वालों के विरुद्ध व्यक्तिगत आक्रमण करने का स्पष्ट पैटर्न है। वि:युद्धक्षेत्रनहीं, वि:उपदेशनहीं। --Hunnjazal (वार्ता) 08:30, 14 मार्च 2013 (UTC)
  2.  X mark.svg  घोर विरोध। मैं जब से हिन्दी विकिपीडिया पर सक्रिय रहा हूँ, बिल जी का बर्ताव बहुत अच्छा रहा है। मेरे संज्ञान में उन्होंने नए सदस्यों की मदद की है, और निरंतर अपना योगदान देते रहे हैं। मैं इन बिन्दुओं को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकता। व्यक्तिगत कारणों से नामांकन करना बहुत ही अनुचित होगा, एवं मौजूदा स्थिति को देखते हुए इस मुझे इस प्रस्ताव का विरोध करना सही लगता है। ░▒▓शुभम कनोडिया वार्ता 15:19, 24 अक्टूबर 2013 (UTC)

:::: Yes check.svg  मैं हेमंत जी से सहमत हूँ। और जहाँ तक हुन्जाल जी की बात है तो वे प्रस्ताव को बिना सिर-पैर का कहते हैं। उन्हें अनुनाद जी का तर्क दिखाई नहीं देता ? इस स्थिति में हुन्जालजी यहाँ पर मुझे बिना दृष्टि के दिखाई देते हैं। मुझे तो केम्प्वेल जी भी तर्कहीन लगते हैं जब वे हेमंत जी के विचारों को 'व्यक्तिगत' कहकर सब कुछ नकारना चाहते हैं। ऐसी सोच विकी के विकास में कितना सकारात्मक योगदान दे पायेगी, इस पर भी विचार करना होगा। -अवनीश सिंह चौहानवार्ता 07:41, 26 मार्च 2013 (UTC) -- अमान्य (कठपुतली खाता)

टिप्पणी[संपादित करें]

  • मैने इस निवेदन को इसलिए हटाया था क्योंकि हिन्दी विकिपीडिया की निति के अनुसार यह निवेदन गलत है। दो सदस्यों के आपसी मतभेद के चलते किसी प्रबंधक को हटाया नहीं जा सकता।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 15:17, 13 मार्च 2013 (UTC)
  • महोदय की कार्यपद्धति के लिए इन्हें भी देखें- दुर्गा पूजा और महाशिवरात्रि. ध्यान रहे केवल इन्हीं उदाहरणों के आधार पर किसी को हटाना मेरे हिसाब से ठीक नहीं। लेकिन उदाहरण बहुत सारे हैं। और अगर इन उदाहरणों के अलावा विहंगमदृष्टि से इरादा भी खराब हो तो ये उदाहरण ठोस बन जाते हैं, और हटाना अपरिहार्य। वर्ना कोई लेखक यहाँ क्या करने आयेगा? समय बर्बाद करने? ..........धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 15:48, 13 मार्च 2013 (UTC)
मैं आपके साथ वाद-विवाद में नहीं पड़ना चाहता। परन्तु जो उदहारण आपने दिए हैं उनका उत्तर दे रहा हूँ। इन दोनो बदलाव में सम्बन्धित सदस्य ने दुर्गा पूजा और महाशिवरात्रि लेखों में ऐसी सामग्री डाली थी जो व्याकरण, वर्तनी तथा निष्पक्षता की दृष्टि से ठीक नहीं थी। सदस्य के बदलाव के बाद लेख ऐसे प्रतीत हो रहे थे जैसे कि इनको सबसे अधिक नेपाल में मनाया जाता है जबकि ये भारत में अधिक प्रचिलित हैं। इसलिए इन बदलावों को पूर्ववत किया गया था। आपके पास जितने भी उदहारण हैं यहाँ दीजिए और मेरे पास हर किसी का उत्तर है क्योंकि मुझे इतना विश्वास है कि मेरे द्वारा किया गया कोई भी कार्य विकि निति के विरुद्ध नहीं हो सकता। आप मेरे किए हुए बदलावों को जाँचते रहें। धन्यवाद।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 16:07, 13 मार्च 2013 (UTC)
शॉन महोदय, आप से एक प्रश्न है। १२ फरवरी को पहली बार आपका हिन्दी विकि पर पदार्पण हुआ, १६ फरवरी को आपने पहला सम्पादन किया, १९ फरवरी को आपके किस योगदान को देखते हुए आपको 'स्वतःपरीक्षित सदस्य' का दर्जा दे दिया गया? इसके बारे में कोई नीति है या यह 'चुन्नीलाल ऐण्ड कम्पनी प्राइवेट लिमिटेड' है? आपके बारे में वर्षों से स्थापित एक सदस्य ने शिकायत भी की किन्तु कोई उत्तर/कार्वाई नहीं हुई। क्या यही प्रबन्धन है? यदि यही है तो इसीलिए तो हटाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। हमारे लाख हल्ला करने के बावजूद विल विलियम सैकड़ों अच्छे लेखों को हटाते गए। लोगों के लेख गायब हो जाते हैं, उनको पता ही नहीं चलता कि किस कारण से हटा दिया गया। कई लोग रो-रोकर यहाँ से चले गए। -- अनुनाद सिंहवार्ता 06:44, 14 मार्च 2013 (UTC)
अनुनाद जी, मेरे बारे में किया गया आपका प्रश्न बिलकुल वाज़िब है। मुझे यह "दर्ज़ा" क्यों दिया गया? मुझे पता नहीं। सिर्फ एक अनुमान है कि शायद इसलिए कि मेरे संपादन बिल जी को सकारात्मक प्रतीत हुए होगें। और शायद मुझे स्वत:परिक्षित की श्रेणी में डालने से इतने कम प्रबंधकों को थोडे कम संपादन जाँचने पडेंगें। अगर आपको इससे आपत्ति है तो आप मेरे खिलाफ भी निवेदन कीजिए। मैंने तो इस दर्ज़े का कोई गलत उपयोग नहीं किया। अगर है तो बताइए? और अगर यह "दर्ज़ा" मुझसे छीने जाने से आपको तनिक भी खुशी प्राप्त होती है, तो अभी वापिस ले लीजिए। मेरे तो वैसे भी यह किसी काम का नहीं। केवल अपने बारे में कह सकता हूँ कि मैं यहाँ कोई "दर्ज़ा" प्राप्त करने के लिए संपादन नहीं करता हूँ, आपकी आप जानें। इस बारे में विकिपीडिया की क्या नीति है, मुझे इसका बोध नहीं है। आप ही कुछ प्रकाश डालिए। "चुन्नीलाल ऐण्ड कम्पनी प्राइवेट लिमिटेड" को क्यों ख्वामांखा बीच में घसीट रहे हैं?
आपने दिनेश जी का संदर्भ दिया। निश्चित ही वह एक स्थापित सदस्य है परंतु उस मामले में वह सरासर गलत थे/हैं। संस्थानों के नामों को अनुवादित करना मूल शोध के अंतर्गत आता है और कई बार वह हास्यास्पद भी हो सकता है। अब उदाहरण के लिए आप ही का नाम ले लीजिए। कल को मानिए कि अपने कर्मों के फलस्वरूप आप इतने प्रसिद्ध हो गए कि आप पर अंग्रेज़ी विकिपीडिया पर एक पृष्ठ बनाना पडा। ऐसी सूरत में क्या उस पृष्ठ का नाम "Resonance Lion" (आपके नाम का अंग्रेज़ी में शाब्दिक अनुवाद) होना चाहिए? दूसरा जब स्वयं आपने दिनेश जी से मेरे द्वारा किए गए उत्पात के उदाहरण माँगे तो उन्होंने एक भी प्रदान नहीं किए। उनका निवेदन बिल को व्यक्तिगत रूप से संबोधित नहीं था। हर किसी को जवाब देना किसी भी एकमात्र प्रबंधक का कार्य नहीं है। दूसरे प्रबंधक भी इसके लिए ज़िम्मेदार है। चलिए अब सब प्रबंधकों को ही हटा देते हैं। जब आप कोई दावा करते हैं तो सबूत भी पेश कीजिए। आपके स्वयं के संपादनों में अधिकतर कोई संपादन सारांश नहीं होता और आप बिल जी पर कारण नहीं देने का दोषारोपण कर रहे हैं!
बुरा जो देखन मैं चला, बुरा न मिलया कोये।

जो मन खोजा आपना, तो मुझसे बुरा न कोये॥

और आखिरी बात, जितना मैंने पिछले एक महिने में सीखा है, विकिपीडिया पर लेख किसी एक व्यक्ति का नहीं होता चाहे फिर वह उसने खुद अकेले ही क्यों न लिखा हो। धन्यवाद -- शॉन (वार्ता) 07:36, 14 मार्च 2013 (UTC)
चलिए असली बात तो आपको माननी ही पड़ी कि बिल साहब रेवड़ी बाँट रहे हैं। रही बात मेरे सम्पादनों में सारांशों की अनुपस्थिति का। तो श्रीमान लेख को डिलीट करने और लेख को बनाने में जमीन आसमान का अन्तर है। मेरा काम ९५% लेखों का निर्माण है और उसमें भी नए लेखों का। लेख हटाने के लिए एक प्रक्रिया निर्धारित होनी चाहिए और उसका पालन होना चाहिए। कोई दरोगा हो गया तो आपके घर आकर आपके घर की किसी औरत को आधी रात तो उठाकर नहीं ले जा सकता क्योंकि उस काम के लिए 'दण्ड प्रक्रिया संहिता' बनी है और उसमें इस प्रकार के कार्य की अनुमति नहीं है। ऐसा करने पर दरोगा को भी 'लाइनहाजिर' कर दिया जाता है। -- अनुनाद सिंहवार्ता 07:54, 14 मार्च 2013 (UTC)
दिनेश स्मिता जी की शिकायत के सन्दर्भ में कुछ लिखना भूल गया था। यदि वे किसी चीज का हिन्दी अनुवाद कर रहे थे तो बहुत उचित था। आप गलत थे। आप कैसे कह सकते हैं कि 'नामों' का अनुवाद नहीं होता है? 'युनाइटेड नेशन्स' को हिन्दी में 'संयुक्त राष्ट्रसंघ' कहते हैं, 'यूएसए' को 'संयुक्त राज्य अमेरिका' कहते हैं, 'ग्रीस' को 'यूनान' कहते हैं। और यह केवल हिन्दी में ही नहीं होता, अन्य भाषाओं में भी होता है। -- अनुनाद सिंहवार्ता 08:15, 14 मार्च 2013 (UTC)
Dear Resonance Lion, अगर आपको यह रेवड़ी लगती है तो मेरे हिस्से की भी आप खा लीजिए। विकिपीडिया पर मैं अनुभवहीन ही सही, परंतु विश्वास कीजिए भोजन के मामले में काफी अनुभव रखता हूँ। और उसी अनुभव के आधार पर पूरे ज़ोर के साथ यह कह सकता हूँ कि यह "दर्ज़ा/अधिकार" रेवड़ी के मुकाबले दसवाँ भाग भी स्वादिष्ट नहीं है। खासकर तब जब कि उसपर आप जैसे महानुभाव जल रहे हो! सारांश देना अनिवार्य होता है। नया पृष्ठ बनाते समय सारांश स्वयमेव आ जाता है (आश्चर्य है कि आप जैसे वरिष्ठ सदस्य को इस बात का ज्ञान नहीं)। पर आप तो उसके अलावा भी कभी अपने द्वारा किए गए संपादन को समझाना ज़रूरी नहीं समझते। क्या हिन्दी विकिपीडिया पर ९५% लेख आपने बनाएँ है? अगर ऐसा है तो मेरा अभिवादन स्वीकार कीजिए। और मेरे "घर की किसी औरत को" वार्ता के बीच में लाकर आपने एक और व्यक्तिगत आक्रमण किया है। मेरे संस्कार मुझे इसका मुँहतोड जवाब देने से रोकते हैं, पर वह भी ज़्यादा देर तक नहीं रोक पाएँगे।
और रही बात दिनेश जी की, तो जी नहीं, हरगिज़ नहीं। यूनाइटेड नेशन्स को संयुक्त राष्ट्रसंघ, यूएसए को संयुक्त राज्य अमेरिका एवं ग्रीस को यूनान कहना दिनेश जी अथवा आपने नहीं शुरू किया है। कम से कम ग्रीस के मामले में यह आदि-काल से है। परंतु यूनाइटेड नेशन्स इकोनॉमिक एण्ड सोशल कमीशन फॉर एशिया एण्ड द पेसिफिक को एशिया और प्रशांत हेतु संयुक्त राष्ट्र का आर्थिक और सामाजिक आयोग का एक और नाम देने का श्रेय जायज तौर पर दिनेश जी को ही दिया जाना चाहिए। वह ऐसा करने के लिए स्वतंत्र भी है, पर यहाँ विकिपीडिया पर नहीं। यहाँ पर मेरे विचार से यह मूल शोध के अंतर्गत आता है। यह नाम गलत है इसका सबूत आपको इस गूगल खोज़ से मिल जाता है। भारत सरकार का वित्त मंत्रालय इससे विभिन्न नामों से संदर्भित करता है लेकिन खेदवश दिनेश जी द्वारा दिए गए नाम से नहीं। उम्मीद है मैं अपनी बाता आपको समझा पाया। धन्यवाद - शॉन (वार्ता) 08:41, 14 मार्च 2013 (UTC)
वैसे तो इस विषय पर बात करने से विषयान्तर ही होगा, लेकिन दुर्भाग्य से आपका उदाहरण ग़लत है। क्योंकि ये नाम ट्रेड चिह्न आदि नहीं हैं, और संयुक्त राष्ट्र की हर एजेन्सी का नाम हिन्दी में ही लेने की परंपरा रही है। और हर नई एजेन्सी के लिए अलग से सबूत देना इसीलिए व्यर्थ है। वरना कल को अमेरिका "Ministry of Aerial Defence" अलग से बना दे तो हमें क्या उसे तब तक "हवाई-रक्षा मन्त्रालय" कहने की बजाय "मिनिस्ट्री ऑफ़ एरियल डिफ़ेन्स्" ही कहना होगा जब तक कि दूसरा नाम भारत के गाँव-गाँव में प्रचलित नहीं हो जाता......?....अब और विषयान्तर नहीं। -Hemant wikikoshवार्ता 09:05, 14 मार्च 2013 (UTC)
भाई शॉन जी, आपको मेरा उदाहरण 'व्यक्तिगत हमला' कैसे लगा? आपका मुझे 'रिजोनेंस सिंह' कहना तो बिल्कुल बुरा नहीं लगा? आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि और तो और, व्यक्तिवाचक संज्ञाओं (कॉमन नाउन्स) का भी अनुवाद या देशीकरण होता है (किन्तु बहुत कम)। जैसे 'अरस्तू' , 'अफलातून', 'सिकन्दर' आदि।-- अनुनाद सिंहवार्ता 09:22, 14 मार्च 2013 (UTC)
प्रिय रिजोनेंस सिंह जी, किसी व्यक्ति के घर के सदस्यों को, जो चर्चा में भाग नहीं ले रहे हैं, वाद-विवाद के मध्य लाना मेरे हिसाब से भारतीय संस्कृति में और निश्चित तौर पर मेरी संस्कृति में अपमानजनक माना जाता है। और आपने स्वयं ही माना है कि "व्यक्तिवाचक संज्ञाओं (कॉमन नाउन्स) का भी अनुवाद" उचित है। अरस्तू, अफलातून और सिकन्दर शब्दों का प्रयोगा पहले से होते आ रहा है। आपने नहीं शुरू किया। वरना क्या मैं आपको "रिजोनेंस सिंह", "अनुनाद शेर", "रिजोनेंस शेर", "Resonance Lion" इत्यादि से भी संबोधित कर सकता हूँ? और इतना तो मुझ अबोध को भी पता है कि व्यक्तिवाचक संज्ञा Proper nouns होते हैं न कि Common nouns जैसा कि आपने कहा। जय हो! शॉन (वार्ता) 16:54, 14 मार्च 2013 (UTC)
प्रिय SeanZCampbell, जो कुछ इस बारे में कहा गया है वह आपके इस 'स्वीपिंग स्टेटमेन्ट' को झूठा साबित करने के लिए कहा गया है कि 'नामों का अनुवाद नहीं होता।' लेकिन हमने कभी नहीं कहा कि सभी नामों का अनुवाद होता है। इस सन्दर्भ में जो 'नाम' था उसे ध्यान में रखना जरूरी है। आप खुद मान चुके हैं कि भारत सरकार ने इसका पहले 'कुछ और' नाम दिया हुआ है। आपने इस बात पर कभी जोर नहीं दिया कि 'भारत सरकार द्वारा दिया हुआ नाम' ही प्रयोग किया जाय बल्कि अंग्रेजी नाम की तरफदारी कर रहे थे। क्या अब भी अपने पुराने स्टैण्ड पर कायम हैं? हाँ मैं अपनी गलती मानता हूँ कि 'व्यक्तिवाचक संज्ञा' को 'कॉमन नाउन' कह गया। यह मेरी चूक थी। किन्तु यह भी सत्य है कि यहाँ चर्चा का मूल बिन्दू कुछ और है, 'अनुवाद करने का कम्प्टीशन नहीं चल रहा'। -- अनुनाद सिंहवार्ता 06:09, 15 मार्च 2013 (UTC)
प्रिय Resonance Lion, मुझे अब आप पर पूरा भरोसा हो गया है कि दूसरों को झूठा (और पता नहीं क्या-क्या और) साबित करने का आपको एक ज़ुनून सा है। मैंने बार-बार ऊपर यहीं लिखा है कि अगर हिन्दी में अनुवादित नाम प्रचलित है तो वह लिखा जाना चाहिए अन्यथा सिर्फ लिप्यातंरण होना चाहिए। दुःख है कि ऐसे तकनीकी और पेचीदे मुद्दों पर भी आप १० साल के बच्चे की तरह "नहीं, मेरी ही बात मानी जाएगी, नहीं तो मैं रोता रहूंगा और किसी को कोई काम नहीं करने दूँगा।" चिल्लाते फिर रहे हैं। हाँ भारत सरकार ने इसे कुछ और नाम दिया है पर दिनेश जी तो वह नाम भी नहीं लिख रहे थे। और हाँ भविष्य के लिए आपको अभी से आगाह किए देता हूँ "भारत सरकार द्वारा दिया हुआ नाम" ही हमेशा प्रयोग किया जाएँ - यह ज़रूरी नहीं है। हिन्दी में अगर कोई नाम है तो उनमें से सबसे ज़्यादा प्रचलित नाम नहीं तो जिस भी अन्य भाषा में सबसे अधिक प्रचलित नाम है, उसका लिप्यांतरण। आपको अगर नियमों का ज्ञान नहीं है तो शांति से भी तो पूछ सकते हैं। हर वक्त पैर पटकने की आवश्यकता क्यूँ आन पडती है? लेकिन मुझे न के बराबर उम्मीद है कि आपको मेरी बात समझमें आई होगी। 'व्यक्तिवाचक संज्ञा' को 'कॉमन नाउन' कहना तो आपके द्वारा की गई बहुत ही छोटी-सी गलती है। अनुवाद करने की प्रतियोगिता नहीं हो रही है तो विश्वयुद्ध भी नहीं चल रहा है। और सत्य आपसे बहुत दूर है। उसकी चिंता मत कीजिए। आपकी हाल में सुधार की मैं कामना करता हूँ। धन्यवाद, शॉन (वार्ता) 06:47, 15 मार्च 2013 (UTC)
यह बात तो अब पक्की है कि यह शॉन साहब साज़िशन ही हिन्दी विकी पर पधारे हैं क्योकि इनका कोई विशेष योगदान तो मुझे दिखता नही है साथ ही इनका हिन्दी ज्ञान भी दोयम दर्जे का है। अब जिस प्रकार यहां राजनीति की जा रही है तो उससे तो यही लगता है कि यह जनाब यहां सिर्फ लोगों का ध्यान भंग कर हिन्दी और हिन्दी विकी का सत्यानाश करने के लिए आये हैं। प्यारे शॉन तुम अपनी इस साजिश में कामयाब नहीं होगे इसका मुझे यकीन है साथ ही मै आपको यह भी बताना चाहता हूँ कि हम हिन्दी प्रेमी तो हिन्दी की सेवा में अपना योगदान देते रहेंगे। Dinesh smita (वार्ता) 18:43, 23 मार्च 2013 (UTC)
दिनेश जी, शॉन नामक खाते को हमेशा के लिये ब्लॉक कर दिया गया है। यह लवी जी का छद्म खाता था और उन्हें भी ३ मास के लिये ब्लॉक कर दिया गया है। वह आपको उत्तर नहीं दे पाएँगे। मैने उनका वार्ता पृष्ठ भी ब्लॉक कर दिया है इसलिये वह भी अनुपयोगी होगा। आगर उनसे सम्पर्क करना हो तो आपको हिन्दी विकि से बाहर कोई माध्यम ढूंढना होगा। कृप्या चौपाल पर सख़्त कठपुतली नीति पर मत दें। उसका ध्येय हमेशा के लिये हिन्दी विकि से छद्म खातों को उखाड़ फेंकना है। धन्यवाद। --Hunnjazal (वार्ता) 21:19, 23 मार्च 2013 (UTC)

 Yes check.svg  समर्थन। मैं अनुनाद जी के प्रस्ताव का समर्थन करता हूँ कि हिन्दी विकि के हित में बिल विलियम कॉम्प्टन को प्रबन्धक पद से हटाया जाना चाहिए। --विप्र 11:33, 28 मार्च 2013 (UTC)

गलत व बेबुनियादी आरोप[संपादित करें]

  • हटाने का कोई कारण नहीं:
पता नहीं मेरी दृष्टि ख़राब है या मेरे पर यह आरोप लगाने वाले सदस्यों की कि मैं लेख हटाते वक्त कारण नहीं देता।
14:03, 14 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ बार्थोलिन की ग्रंथि हटा दिया (Grossly defamatory) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
14:02, 14 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ Damni बलात्कार का मामला पूरी फाइल prefix:विकिपीडिया:अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न हटा दिया (व5. ख़ाली पृष्ठ: पाठ था) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
15:33, 13 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ इगलैन्ड मे औद्योगिक क्रान्ति हटा दिया (व5. ख़ाली पृष्ठ) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
15:32, 13 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ वार्ता:विज्ञापन एजेंसियों की सूची हटा दिया (अस्तित्वहीन लेख का वार्ता पृष्ठ) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
08:37, 13 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ प्रवेशद्वार:Computer Science हटा दिया (व2. परीक्षण पृष्ठ: पाठ था) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
07:21, 13 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ ताराबाई हटा दिया (Patent nonsense) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:21, 12 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ वानस्पतिक नाम हटा दिया (व6ल. साफ़ कॉपीराइट उल्लंघन – लेख: पाठ था) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
13:02, 10 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ विपीन गौड़ हटा दिया (ल2. साफ़ प्रचार) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
01:42, 10 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ धोलपुर हटा दिया (ल1. पूर्णतया अन्य भाषा में लिखा लेख) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
17:41, 8 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ हाइकु भारती हटा दिया (ल2. साफ़ प्रचार: पाठ था ...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
17:41, 8 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ अग्निवीर हटा दिया (Not an essay) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
03:53, 8 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ गोविंद सिंह हटा दिया (व6ल. साफ़ कॉपीराइट उल्लंघन – लेख: पाठ था: ' vasudeomangal@gmail....' (और सिर्फ '[[Special:Contributions/गोविन्द सिहं ल...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
16:43, 7 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ कैलाश मानसरोवर यात्रा हटा दिया (ल1. पूर्णतया अन्य भाषा में लिखा लेख: पाठ था: 'kailash mansarover yatra ke liye nepal se jana hoga nepalse china(tibet)ko jate huwe kari 4 dinme yaha paucha ...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
16:42, 7 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ सदस्य:196.8.123.30/KANJARDA by Shailendra Vyas हटा दिया (Complete misuse of a sandbox) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
13:39, 7 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ CM पंक्स हटा दिया (ल4. प्रतिलिपि लेख) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
13:39, 7 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ ध्रुवदास हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:05, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्री यंत्र हटा दिया (No content whatsoever) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:05, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ कार्ल इ वैमन हटा दिया (No context) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:05, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ चित्तौड़गढ़ दुर्ग हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: 'चितौड़गढ़ गढ़ क...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:04, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ द्वितीय चीन जापानी युद्ध हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: 'हां इसकी हमे जरू...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:04, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ बी एस येड़्डियूरप्पा हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: 'HE IS NOT CHIEF MINISTER NOW. PLESE UPDATE...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:03, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ रॉबर्ट अलेक्सी हटा दिया (Patent nonsense) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:03, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ नेपोलियन की संकेत-लिपि हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: 'Gold' (और सिर्फ '[[Special:C...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
12:02, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने औरंग़ज़ेब पृष्ठ के 2 अवतरणों की दृश्यता बदली: सामग्री छिपाई गई और सम्पादन सारांश छिपाया गया (गैर-विवादास्पद कारण) (दृश्यता बदलें)
12:01, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ एकसदन हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: 'Kuldeep Sharma' (और सिर्फ '[...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:39, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ वार्ता:अमास हटा दिया (हटाए गए पृष्ठ का वार्ता पृष्ठ: पाठ था: '#अनुप्रेषित वार्ता:ग्रीनविच मीन टाइम' (और सिर्फ '[[Special:Contributions/B...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:39, 6 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ अमास हटा दिया (पाठ था: '#अनुप्रेषित ग्रीनविच मीन टाइम' (और सिर्फ 'Bill william compton' का योगदान था।)) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
19:44, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ विकिपीडिया:Project namespace हटा दिया (Patent nonsense) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
14:28, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ माइक्रोसॉफ़्ट आउटलुक हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: ' क्रिकेट अब दुनि...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
14:27, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रवण सिँह सोढा हटा दिया (ल2. साफ़ प्रचार: पाठ था: 'श्रवण सिँह S/O श्री रूपसिँह जी सोढा निवासी V/P.- ...' (और सिर्फ '[[Special:Contribut...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
14:26, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ गोविंद सिंह हटा दिया (ल2. साफ़ प्रचार: पाठ था: '| name = गोविन्द सिंह | शिक्षा = Diploma In Machanical | birthdate = 18 जून 1989 (1989-06-18) (आयु 30) | birthpl...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
14:26, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ पाटन बाबरा हटा दिया (व5. ख़ाली पृष्ठ: पाठ था: 'पाटन बाबरा भँवरीया पाटन' (और सिर्फ '[[Special:Contributions/पाटन बाबरा|पाटन ब...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:38, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी वार्ता:अंग्रेज फ़िल्म अभिनेता हटा दिया (हटाए गए पृष्ठ का वार्ता पृष्ठ: (और सिर्फ 'Bill william compton' का योग...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:37, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:अंग्रेज फ़िल्म अभिनेता हटा दिया (Replaced) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:37, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:अंग्रेज अभिनेता हटा दिया (Replaced) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:27, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:अंग्रेज टीवी अभिनेता हटा दिया (Replaced) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:23, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:अंग्रेजी अभिनेता हटा दिया (Replaced) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:03, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:राष्ट्रीयता अनुसार टेलिविज़न अभिनेता हटा दिया (गलत वर्तनी) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:02, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:इन्डोनेशियाई टेलिविज़न अभिनेता हटा दिया (गलत वर्तनी) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
05:00, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ श्रेणी:अमेरिकी टेलीविजन अभिनेता हटा दिया (नई श्रेणी बनाई) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:53, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ कोर्बिन ब्लू हटा दिया (Poor machine translation) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:22, 3 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ ोुलाे सदलगमो हटा दिया (Poor machine translation) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
16:18, 2 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ सरायमीर हटा दिया (Need a complete rewrite for it to become an encylopaedic article) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:49, 1 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ संजीव खुदशाह हटा दिया (ल2. साफ़ प्रचार: पाठ था: 'वरिष्ठ दलित लेखक संजीव खुदशाह के बिना दलि...' (और सिर्फ '[[Special:Contributions...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:49, 1 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ जीवाष्म ईंधन हटा दिया (Poor machine translation) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:45, 1 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ मु शम्स तबरेज़ हटा दिया (ल2. साफ़ प्रचार: पाठ था: 'मु शम्स तबरेज़ (जन्म 18-9-1991) बलिया के काफी ...' (और सिर्फ '[[Special:Contribu...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
04:45, 1 मार्च 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ लल्लन प्रसाद ठाकुर हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: '== लल्लन प्रसाद ठ...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
16:33, 26 फ़रवरी 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ चित्र वार्ता:ABVP-LOGO.gif हटा दिया (व1. अर्थहीन नाम अथवा सम्पूर्णतया अर्थहीन सामग्री वाला पृष्ठ: पाठ था: 'सोनिया' (और सिर्...) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
16:26, 26 फ़रवरी 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ साँचा:दिलदार नगर हटा दिया (Very narrow scope; not a single relevant link; misuse of a template) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
16:24, 26 फ़रवरी 2013 Bill william compton (चर्चा | योगदान | अवरोधित करें) ने पृष्ठ ई-पण्डित कन्वर्टर हटा दिया (Patent nonsense) (देखें/पुरानी स्थिति पर लाएँ)
यह मेरे द्वारा हटाए गए पिछले 50 लेखों का लॉग है। ज़रा कोई महानुभाव इसमें देख के बताए कि मैने कब किसी पृष्ठ को हटाने का कारण नहीं दिया। शर्म नहीं आती किसी पर झूठा आरोप लगाते हुए?
  • स्वतःपरीक्षित सदस्य अधिकार देना
शॉन को स्वतःपरीक्षित सदस्य उनके रचनात्मक कार्य को देखते बनाया था जिसमें उन्होंने यह साबित किया था कि उनके पास कॉमनसेंस है और उन्हें पता है कि वे क्या कर रहें हैं। उन्होंने बर्बरता हटाई, लेखों को सही शीर्षको पर स्थान्तरित किया, लेखों में सफ़ाई की, आदि और सबसे महत्वपूर्ण इनके द्वारा किए गए बदलावों में सारांश था, जो यहाँ पर मुश्किल ही देखने को मिलता है।
और अनुनाद जी आपकी कमियों को नजरअंदाज करते हुए भी मैने ही आपको स्वतःपरीक्षित बनाया था, इसके बावजूद भी आपको मेरे कार्य पर शक होता है? यह तो पूर्ण पाखंड हुआ।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 14:30, 14 मार्च 2013 (UTC)
आप अभी तक यह नहीं बता पाये हैं कि केवल दो दर्शित उदाहरणों में आपका पूर्ववत् करने का क्या कारण था। अगर नये वर्ज़न से ऐसा लग रहा था कि वे नेपाल में ज़्यादा मनाए जाते हैं तो आपने उस लेख में से नेपाल का नामनिशान ही मिटा देना उचित समझा? क्या भारत से इतना प्रेम...क्या आप भी राष्ट्रवादी हो गये हैं? :P या कुछ और? .......... धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 15:49, 14 मार्च 2013 (UTC)
मैं उत्तर दे चुका हूँ कि किए गए बदलाव व्याकरण, वर्तनी के अनुसार गलत थे, कोई स्रोत नहीं दिया गया था, आदि। कितनी बार उत्तर दूँ? मेरे लिए भारत और नेपाल और पाकिस्तान आदि बराबर हैं। परन्तु ऐसे संपादन जिस से लेख की गुणवत्ता ख़राब हुई हो उसे पूर्ववत ही किया जाता है। अब आप मेरे द्वारा उठाए प्रश्नों का उत्तर क्यों नहीं देते? आपको मेरे द्वारा हटाए गए लेखों में कारण दिखता है या अभी भी आप आँख बंद करे बैठे हैं?<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 16:02, 14 मार्च 2013 (UTC)
मैंने ऐसा कहा ही नहीं है कि मुझे कारण नहीं दिखता तो मैं उत्तर किस बात का दूँ? आप मेरे पिछले कमेंट को देखेंगे तो पायेंगे कि मैं कह रहा हूँ कि आपने जो कारण दिया है वो समस्या का हल नहीं है, बल्कि अपने आप में वही समस्या है। आप किसी लेख को सँवारने के बजाय अपभ्रष्ट करने में और नये लेखकों को उत्साहित करने के बजाय धमकाने में विश्वास रखते हैं। अगर प्रबन्धक का कार्य सिर्फ़ पूर्ववत् (revert) करना होता तो किसी भी बॉट को प्रबन्धक बनाया जा सकता है। क्षमा करें, आप एक अच्छे बॉट हैं........लेकिन एक ठीक-ठाक प्रबन्धक भी नहीं। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 16:18, 14 मार्च 2013 (UTC)
मैं हिन्दी विकि पर एकमात्र सक्रिय प्रबंधक हूँ। हुन्नजज़ल जी अपना अमूल्य योगदान लेख बनाने में देते हैं, जिसका शायद यहाँ कोई मुकाबला नहीं कर सकता तथा भटनागर जी तथा सिद्धार्थ असक्रिय हैं। मुझे हर दिन कई नए पृष्ठ जांचने पड़ते हैं, क्योंकि ओर कोई सदस्य यहाँ पर नए पृष्ठो की गश्त नहीं करता, मुझे अन्य सदस्यों द्वारा हटाने के लिए नामांकित किए गए पृष्ठ भी जांचने होते हैं, किसी प्रकार की बर्बता पूर्ववत करनी होती है, सुरक्षा के लिए नामांकित पृष्ठ जांचने होते हैं, हिन्दी विकिपीडिया का इंटरफ़ेस अनुवाद करना होता है, आदि, आदि। इसके बाद भी मैं नियमित रूप से यहाँ लेखों का निर्माण करता हूँ तथा पाँच से भी अधिक विकिमीडिया परियोजनाओं पर भी इतना ही सक्रिय रहता हूँ। इसके बाद भी आप मुझ से यह अपेक्षा रखते हैं कि बर्बत सामग्री से बने लेखों या दूसरे सदस्यों द्वारा हटाने के लिए नामांकित गए लेखों को हटाने के बजाए उनका पुनः निर्माण करूं तथा उन्हें सजाने का कार्य करूँ? अगर ऐसा है तो मैं आप की बात से सहमत हूँ कि मैं एक बोट ही हूँ क्योंकि कोई इंसान तो इतना कार्य कर नहीं सकता। परन्तु इसके पश्चात भी मैं आपको चुनौती देता हूँ कि मेरे द्वारा हटाया गया कोई ऐसा लेख बताएँ जिसका हटाना विकि के नियमों के विरुद्ध था या उसकी हटाते वक्त की सामग्री ऐसी थी कि उसे हटाना नहीं जाना चाहिए था। मैं आपके उत्तर की प्रतीक्षा करूँगा।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 17:20, 14 मार्च 2013 (UTC)
अरे भैया हम तो हिल गये आपकी चुनौती से! .....अब "प्रतीक्षा" में तो समय के सापेक्ष धनात्मक अवकलज होता है। लेकिन यह बात तो मैंने समय के पिछले बिन्दु पर बतायी है। इसलिए शायद प्रतीक्षा शब्द सही नहीं। समय में पीछे जाकर देखिये आपको उत्तर मिला पड़ा है।....... आपको सारे सकारात्मक योगदान बर्बर ही दिखाई देते हैं। आपको लेख बनाने के लिए किसी ने नहीं कहा है। आप बस आराम से बैठिये, कार्यमुक्त होकर। विकिपीडिया अपने आप सुधर जायेगा। उदाहरण के लिए- आप ये दो रिवर्ट न करते तो विकिपीडिया पर दो लेखों में कुछ अधिक जानकारी होती (मैं खुद नहीं जानता था कि "नेपालमे सबसे लम्बी सरकारी छुट्टी दुर्गापूजा त्यैाहारमे दी जाती है । नेपाली हिन्दू इस त्यैाहारको दशैं नामसे पुकारते हैं।") और बहुत संभव है कि एक और उपयोगी सदस्य बढ़ता। लेकिन आपके कृत्यों से हमारे हिस्से में बस एक बॉट बचा है, वो भी विनाशक। विकिनीतियों के संरक्षण की बार बार ताल ठोकने की जरूरत नहीं है। एक ही बात को विकिनीतियों से गलत भी दिखाया जा सकता है और सही भी, और किसी भी उदार नीति के यही लक्षण होते हैं। .....चुनौती जैसे शब्दों से बचें वि:युद्धक्षेत्रनहीं :) . अगर पदस्थ लोग सही हों तो नीति सफल होती है वर्ना असफल। वेल्स महोदय ने विकिपीडिया की शुरुआत इस सपने के साथ नहीं की थी कि संसार में विकिनीतियों का ह्रास हो रहा है, और उनकी पुनःस्थापना करनी है। विकिपीडिया का लक्ष्य सहकारकृत विश्वकोश बनाना है। लेकिन आपने अपने कार्यों से यह बता दिया है कि आखिरी महाविकिनीति किसलिए रखनी पड़ी । और जहाँ तक आपके बॉटत्व का सवाल है..... कुछ बॉट्स को टर्नऑफ़ करना भी कभी निहायत जरूरी हो जाता है। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 17:49, 14 मार्च 2013 (UTC)
बस मुझे आपकी इस अक्षमता की ही प्रतीक्षा थी। आपके इस उत्तर से यह साफ़ हो गया है कि आपके पास मेरे विरुद्ध कुछ नहीं है इसलिए आप इन दो बदलावो का दामन पकड़े बैठे हैं। आपके कहने न कहने से मैं यहाँ लेख बनाना या हटाना बंद नहीं कर दूँगा। आपके बस में कुछ नहीं है क्योंकि यहाँ आप गलत हैं। महीनों से असक्रिय होने के पश्चात अचानक इस फलहीन नामांकन पर कूद पड़ना आपके चरित्र को दर्शाता है। मुझे निति न समझाएँ और आप खुद बंद हुए सदस्य है और बंद रहें या न रहें मुझे फ़र्क नहीं पड़ता, परन्तु विकिपीडिया का मज़ाक न बनाएँ। अब मैं आपके किसी सवाल या टिप्पणी का उत्तर नहीं दूँगा क्योंकि भैस के आगे चाहे बीन बजाओ या पियानो भैस तो भैस ही रहेगी। धन्यवाद, आपके साथ वार्ता करके आपकी मानसिकता पता चली।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 18:09, 14 मार्च 2013 (UTC)
"भैस के आगे चाहे बीन बजाओ या पियानो भैस तो भैस ही रहेगी" - इस बिना पूर्व-बहकावे के व्यक्तिगत हमले बाद भी अगर तथाकथित विकिनीतिज्ञ चुप बैठे रहें तो उनके पाखण्ड की नोटेबिलिटी जगजाहिर है। अगर ऐसी टिप्पणी किसी तथाकथित "राष्ट्रवादी" ने की होती तो कभी का ब्लॉक हो गया होता। ........ खैर। ............. त्याज्यं न धैर्यं विधुरेऽपि काले।...... ऐसी टिप्पणी से दरअसल आपकी अक्षमता पता चल गयी है। यह कि आपके पास अब सभ्य शब्दों में जवाब देने लायक कुछ नहीं बचा है। और यह कि यह प्रस्ताव जिसे हटाने के लिए है, वह हटाने के ही लायक है। इति सिद्धम्। अब मुझे और कुछ सिद्ध नहीं करना है। -Hemant wikikoshवार्ता 18:20, 14 मार्च 2013 (UTC)
और हाँ, मेरे पास दो नहीं कई सारे उदाहरण हैं, लेकिन आप दो तो क्या एक का भी ठीक से जवाब नहीं दे पाये। और चाहते हो कि मुद्दा बदल जाये इसलिए और उदाहरण दिये जायें, यह ठीक से समझ में आता है। धन्य हो। -Hemant wikikoshवार्ता 18:40, 14 मार्च 2013 (UTC)
बिल साहब आपने तो प्रण किया था कि अब आप मेरी किसी टिप्पणी का उत्तर नहीं देंगे। लेकिन यह उत्तर तो यकीनन आपके द्वारा मेरी टिप्पणी का दिया गया उत्तर है। वहाँ Hemant नाम से और कोई तो उपस्थित नहीं दिखता जिसे आप सम्बोधित कर रहे हैं? ......... और आजकल आपकी भैंस तो ठीक ठाक है? बस इसलिए पूछा कि पिछली बार आप उसे बहुत याद कर रहे थे, और आजकल विकि पर दर्शन भी नहीं दे रहे हैं। -Hemant wikikoshवार्ता 11:26, 19 मार्च 2013 (UTC)

शॉन को विल विलियम कॉम्प्टन द्वारा स्वपरीक्षक अधिकार देना[संपादित करें]

बिल विलियम ने शॉन के वार्ता पृष्ट पर जो लिखा है उसको ध्यान से अध्ययन करने से पता चलता है कि विलियम साहब शॉन को उनके हिन्दी विकि पर पदार्पण से पहले से ही जानते हैं। विल के तर्क में कितना दम है, यह स्वतः परीक्षित (आटोपैट्रोल्ल्ड) किसको बनाया जाना चाहिए, इसके बारे में विकिपिडिया पर लिखे इन दो वाक्यों से हो जाएगी-

A suggested standard is the prior creation of 50 valid articles, not including redirects or disambiguation pages. The userright is not normally given to brand-new editors, regardless of the number of articles created.
-- अनुनाद सिंहवार्ता 06:48, 15 मार्च 2013 (UTC)
कमाल हैं अनुनाद जी आप। जब मैं कभी आपको किसी विषय पर अंग्रेज़ी विकि की नीतियों का संदर्भ देता हूँ तब आप बहाना मारते हैं कि वह अंग्रेज़ी विकिपीडिया है उसकी नीतियाँ यहाँ नहीं चलेंगी, परन्तु आज अपनी तर्कहीन बात को साबित करने के लिए अंग्रेज़ी विकि की ही निति बता रहें हैं। कभी अपनी बात पर टिक भी जाया करें। थाली के बैंगन न बनें। आपका जब मन करता है तब अंग्रेज़ी विकि की निति का दामन थाम लेते हैं और जब मन करे तब ठुकरा देते हैं। नमन हो आपके शकुनि दिमाग को। ज़रा इसका तो उत्तर दें कि क्या मेरे द्वारा आपको यह अधिकार देना ठीक था या नहीं?<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 07:26, 15 मार्च 2013 (UTC)
कमाल आपका है। आप नियमों में मनमानी करते आये हैं। मैने तो सदा नियमों में पारदर्शिता की बात की है जिससे 'मनमानी' के लिए कोई जगह ही न हो। मेरी और शान की तुलना ६ वर्ष और ६ दिन की तुलना है, ३०००० और ३० की तुलना है। शायद आप समझ गए होंगे। शान को स्वतः परीक्षक बनाने जैसा कोई दूसरा उदाहरण शायद ही दुनिया की किसी अन्य विकि पर मौजूद हो।-- अनुनाद सिंहवार्ता 07:42, 15 मार्च 2013 (UTC)
संपादन संख्या या यहाँ बिताए गए समय से किसी की वरिष्ठता साबित नहीं होती। शॉन के द्वारा और आपके द्वारा किए गए संपादन में जमीन आसमान का अन्तर है। आपके सम्पादन में कभी सारांश नहीं होता, केवल यही कारण काफ़ी है आपको स्वपरीक्षक न बनाने का, आप कभी लेखों में की गई बर्बता नहीं हटाते, उनको विकिफ़ाई नहीं करते। सिर्फ़ संदर्भहीन लेखों के निर्माण से आप यहाँ वरिष्ठ नहीं बन जाते बल्कि यह बस यही साबित करता है कि आपको विकिपीडिया के मूलमंत्र का ही ज्ञान नहीं। शॉन से तो अपनी तुलना करे ही नहीं, थोड़े से समय में ही उन्होंने विकिपीडिया की नीतियों को समझा और यहाँ रचनात्मक कार्य किया जो छह वर्षों के पश्चात भी आपके काम में दूर-दूर तक नज़र नहीं आता। आप आजतक भी पंचशील के सिद्धांत को नहीं समझ पाए। और कभी किसी नियम का आदर किया हो तो तभी तो उसकी "पारदर्शिता" की बात करेंगे। लेखों में पक्षपाती बदलाव करना, दूसरे सदस्यों पर आक्रमण करना, कॉपीराइट उल्लंघन करना, कभी ज्ञान की बात को न समझना आपकी दिनचर्या का अभिन्न अंग है। इसलिए मुझे नहीं लगता आप कभी किसी निति को समझेंगे भी। पता नहीं असल जीवन में आप कैसे रहते हैं, चूँकि हमारे यहाँ तो गैर कानूनी कार्य करने वालो को सजा ही होती है।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 08:01, 15 मार्च 2013 (UTC)
  • फिर से परिभाषा पढ़िए। क्या स्वतःपरीक्षित का अर्थ विकिफाई करना, बर्बरता हटाना, आदि है? तो पुनरीक्षक और प्रबब्धक आदि का क्या कार्य है? क्या उपर अंग्रेजी में आटोपेट्रोल्ल्ड की जो मूल आवश्यकता बताई गई है सब बकवास है? बिल साहब, इसी का नाम 'मनमानी' है। इसी के लिए आपको हम हटाना चाहते हैं।-- अनुनाद सिंहवार्ता 13:09, 15 मार्च 2013 (UTC)
आपका रोना कभी बंद नहीं होगा इसलिए आपके व्यर्थ सवालों का उत्तर देकर मैं तो अपना समय बर्बाद करूँगा नहीं। अलाप गाते रहें, आपके कहने से यहाँ कोई हटने वाला नहीं। अब इस चर्चा में मैं आपकी टिप्पणी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं करूँगा क्योंकि आप से कोई भी सभ्य वार्तालाप नहीं कर सकता। मेटा विकि पर अपने एक विफल प्रयास को तो आप देख ही चुके हैं, यहाँ पर भी इस व्यर्थ के प्रयास में लगे रहें। धन्यवाद, रो-रो कर अपना समय बर्बाद करते रहें।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 13:50, 15 मार्च 2013 (UTC)
मै जानता था कि अन्त में आप यही उत्तर देंगे। यह पहली बार नहीं है। अनुत्तर हो जाने पर आपका यही 'स्टैण्डर्ड अन्तिम जवाब' होता है।-- अनुनाद सिंहवार्ता 15:33, 17 मार्च 2013 (UTC)
नहीं बिल जी, इन्हें इस तरह "खुला" छोडे जाने से मुझे सख्त एतराज़ है। आप प्रबंधक है। इन्हें विकिपीडिया को युद्धक्षेत्र में परिवर्तित करने के लिए शीघ्रातिशीघ्र ब्लॉक किया जाएँ - यह मेरी सभी प्रबंधकों से भी प्रार्थना है। शॉन (वार्ता) 14:23, 15 मार्च 2013 (UTC)
Your vote will not count. Don't you have some shame? (Not my words but yours only). (शॉन जी या लवी जी, मैँ बस आपके शब्द दोहरा रहा हूँ जो आपने यहाँ कहे थे, आशा है आप अन्यथा नहीं लेंगे)। -Hemant wikikoshवार्ता 08:35, 26 मार्च 2013 (UTC)


 Yes check.svg  समर्थन। मैं अनुनाद जी के प्रस्ताव का समर्थन करता हूँ कि हिन्दी विकि के हित में बिल विलियम कॉम्प्टन को प्रबन्धक पद से हटाया जाना चाहिए। --विप्र 10:34, 28 मार्च 2013 (UTC)

प्रबंधन अधिकार छिनने से संबंधित बेकार की बहस को विराम दिया जाए[संपादित करें]

 X mark.svg  हिन्दी विकिपीडिया पर बाकी वरिष्ठ सदस्यों के मुकाबले अभी मैं बहुत ही नई और अनुभवहीन सदस्या हूँ , किंतु जितना कुछ पिछले एक महिने में मैंने देखा है, उसके आधार पर इतना ज़रूर कह सकती हूँ कि यहाँ हर कोई पूर्वाग्रह से ग्रसित है । हर कोई एक दूसरे की कमियों को गिनाने में जुटा है । फिर केवल बिल जी को ही दोषारोपित क्यों किया जाए ? लोग यह भूल जा रहे हैं कि अधिकार दिया जाता है कर्तव्यों को निभाने के लिए, न कि सनक और मिथ्याभिमान की स्थापना के लिए । हम सब में मतभेद हो सकते हैं पर किसी के प्रबंधन अधिकार छिन लेने से क्या हिन्दी विकिपीडिया समृद्धि के सोपान पर पहुँच जाएगी ? इसलिए मेरा मानना है कि आइए इन सब बातों से अपने को विमुख करते हुये हम सब मिलकर सद्भावनापूर्ण माहौल में कुछ सकारात्मक और क्रियात्मक कार्य करते हैं । यह मेरा व्यक्तिगत निवेदन है बिल जी,अनुनाद जी, हेमंत जी,शान जी, हुनजजाल जी आदि सभी वरिष्ठों से । Mala chaubey (वार्ता) 05:09, 4 अप्रैल 2013 (UTC)

माला जी, आपने शॉन और अनुनाद जी का नाम भी गिनवाया है, अतः कुछ स्पष्टीकरण की जरूरत है। शॉन नाम का कोई सदस्य नहीं है, वह लवी सिंघल की ही कठपुतली था, जिसका भंडाफोड़ न हो सके इसके लिए बिल ने बहुत कोशिश की। साथ ही अनुनाद जी आपके किसी सद्भावनापूर्ण निवेदन को स्वीकार नहीं कर सकते क्योंकि उन्हें हमारे वरिष्ठ प्रबन्धकों ने ब्लॉक किया हुआ है।
मुझे यह भी लगता है कि पिछले कुछ दिनों में, अधिकार छिनने के डर से बिल द्वारा नये सदस्यों को सम्मान दिये जाने की नौटंकी से कुछ सदस्य न चाहते हुए भी प्रभावित हो गये हैं। लेकिन आपको हम बता दें कि ये सब बिल के पुराने पड़ चुके खेल हैं। अन्त में विकिपीडिया पर अपने अलावा किसी विचारधारा को न टिकने देने की बिल-समूह की जो प्रवृत्ति है वही लागू रहती है। हालाँकि इस प्रबन्धन (?) से पहले भी, ऐसा कोई समय नहीं रहा जब विकि पर मतभेद न रहे हों और वाक्-युद्ध न चले हों। लेकिन यह निरंकुशशाही का दौर बड़ा अजीब है, जिसमें दूसरे समूह को कठपुतली बनके चुन-चुन के परेशान करके भगाया जाता है या फिर ब्लॉक करके सफ़ाया कर दिया जाता है।
यदि आप कुछ और अनुभव प्राप्त कर लेंगी तो समझ जायेंगी। क्योंकि अनुभव के लिए समय की जरूरत होती है, इसलिए मैं इसपर बहस नहीं करूँगा। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 06:44, 4 अप्रैल 2013 (UTC)
सर्वप्रथम, मैं कोई चैकयूज़र नहीं हूँ और न मेरे पास कोई जादुई गोला है जिससे मुझे पता होता कि शॉन लवी जी की कठपुतली हैं।
मुझे अधिकार छिनने का कोई डर नहीं है। मैं अन्य परियोजना पर भी प्रबंधक हूँ और कई अधिकार कई अन्य परियोजना पर रखता हूँ। इसलिए मुझे किसी चीज का लालच नहीं है। अगर आरोप सही लगाया होता तो मैं स्वयं सेवामुक्त हो जाता। नए और पुराने दोनों प्रकार के सदस्यों को सम्मान मैं हमेशा से देता आया हूँ इसमें कोई "नौटंकी" नहीं है। मेरे द्वारा बार्नस्टार देने से कोई प्रभावित नहीं होने वाला। प्रभावित केवल कोई किसी के कार्य से होता है न कि दिए गए बार्नस्टार, सम्मान से। मैं अपने साथियों को प्रेरित करने में विशवास रखता हूँ और शुरुआत से ही रचनात्मक योगदान देने वाले सदस्यों को सम्मानित करता आया हूँ। इसके कई उदहारण हैं पर कुछ ये रहे: हुन्नजज़ल जी, आनन्द जी, जोस जी, सिद्धार्थ, रोहित जी, आदि। इन सभी सदस्यों ने किसी न किसी प्रकार विकि के विकास में योगदान दिया है, और मैं माला जी को भी इस सूची में रखता हूँ।
हेमंत जी अपने मन में मेरे प्रति व्यक्तिगत द्वेष भावना लिए कुछ भी आरोप लगाते रहते हैं। अगर इसके बजाय यहाँ रुक कर कुछ सकारात्मक योगदान दिया होता तो शायद अच्छा होता। मैने मन और लग्न से विकि के विकास के लिए कार्य किया है गिनती के दस निर्वाचित लेखों में से दो मेरे द्वारा लिखे गए हैं, यहाँ की सभी निर्वाचित सूचियाँ मैने बनाई हैं, मुखपृष्ठ में समाचार, 'क्या आप जानते हैं' का अद्यतन मैं करता हूँ। क्या कभी हेमंत जी ने इन महत्वपूर्ण स्थानों पर योगदान देने का प्रयास किया है? नहीं। अगर मैं प्रबंधक पद से हटता हूँ तो कौन इन कार्यो को संभालेगा? हेमंत जी? नहीं। परन्तु छीटा-कसी में वह सबसे आगे रहते हैं। मैं सभी सदस्यों से आग्रह करूँगा कि विकिपीडिया के विकास की तरफ़ ध्यान दें। एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप से कुछ हासिल नहीं होगा बल्कि इस ज्ञानकोष की दुर्गति होगी।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 14:05, 4 अप्रैल 2013 (UTC)
यह प्रस्ताव 'हेमन्त जी' ने नहीं रखा है। यह अनुनाद जी ने रखा था, जिन्हें ब्लॉक कर दिया गया। और अब मेरे साथ भी कुतर्क कर रहे हो। मुझे यहाँ प्रबन्धक बनने का कोई शौंक नहीं है, और बड़ी मुश्किल से यहाँ न्याय का पक्ष समय निकाल कर सँभाल रहा हूँ। बिल, अपने योगदान तुम्हें तो मैं समझाने का इरादा नहीं रखता, लेकिन किसी और को मेरे इरादे में सन्देह हो तो ऐसे समझें- अगर मैं यहाँ आकर ये गतिविधियाँ न करता शॉन अभी तक निरंकुश होकर सभी सदस्यों के सिर में दर्द कर रहा होता और कब तक करता कोई अन्तिम-सीमा नहीं थी (किस-किस को शॉन से सरदर्द/दिक्कत हुई थी, मन ही मन सोच ले, बताने की भी जरूरत नहीं है)। नकारात्मक माहौल को दूर करना - बहुत बड़ा सकारात्मक योगदान है। और भी बहुत कुछ गिनवाने को है, लेकिन बाकी सबको तो विकि से भगा दिया गया है किसे गिनवायें, बिल को? -Hemant wikikoshवार्ता 16:43, 4 अप्रैल 2013 (UTC)
और हाँ, सुधी विकिसाथियों, जहाँ तक मेरी सकारात्मक वृत्ति का सवाल है, उसके लिए संस्कृत विकि पर लवी सिंघल जी का वार्त्तापृष्ठ देखें, ये वही शॉन हैं। वहाँ अधिकांश संवाद मेरे द्वारा लिखे गये हैं (स्वाभाविक है क्योंकि मैं उस विकि पर प्रबन्धकों में से एक हूँ) , यहाँ आपको मेरे संवादों में कुछ नकारात्मक दिखे तो बतायें। मैंने कभी लवी के योगदानों को edit-summary में "blatantly abc" कहते हुए revert नहीं किया है, भले ही उनमें गलती या मुझसे भिन्न मत हो (उदाहरण के लिए ये sections- often used vibhakti, और अन्तिम section संगच्छध्वम् देखें) - (संवाद- "But if u have such strong feeling then u can continue with them :)") । लेकिन यहाँ हिन्दी विकि पर जब इरादा (intention) ही गलत हो जाये तो क्या किया जा सकता है? इस पर और ज्यादा कहने की मैं जरूरत नहीं समझता। -Hemant wikikoshवार्ता 17:24, 4 अप्रैल 2013 (UTC)
यह तो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि अनुनाद सिंह जैसे वरिष्ठ सदस्य को ब्लॉक किया जा चुका है। मानव जीवन में विवाद ना हों ये तो मुमकिन नहीं है। यदि प्रबन्धकों के विरुद्ध कोई आवाज उठाने पर उसे इस तरह से दबाना तो कोई अच्छी बात नहीं। मैंने अनुनाद सिंह जी की भाषा में कहीं भी अभद्रता भी नहीं देखी। उनके अनमोल योगदान को देखते हुए यह कदम मुझे किसी भी तरह से उचित नहीं लग रहा। --संजीव कुमार (वार्ता) 12:44, 7 अप्रैल 2013 (UTC)
BulbB विकि पर कोई भी वरिष्ठ नहीं है - सब नीति के अधीन हैं। संजीव जी, आप विकि से कुछ महीने पहले ही जुड़े हैं और आपने चंद ही लेखों में सम्पादन किये हैं। कृप्या अच्छे लेख बनाने पर ज़ोर दें। मै आपके बनाए स्ट्रिंग सिद्धांत लेख पर कुछ सप्ताहों से नज़रें गाढ़े हुए हूँ लेकिन उसमें लगभग सभी विभाग ज्यों-के-त्यों ख़ाली पड़े हैं। मेरा सुझाव है कि या तो इस लेख को संक्षिप्त करें या फिर विभागों में कुछ भरें। इसी तरह अशोक सेन की श्रेणियाँ सारी अंग्रेज़ी में हैं और इनके लिये कोई वास्तविक श्रेणियाँ नहीं हैं। आपने साँचों पर काम किया है इसलिये आपको बहुभाषीय जोड़ों वाली श्रेणीयाँ बनानी भी आती होंगी। कृप्या इन्हें ठीक करें। अधूरी स्थिति में लेख न छोड़ें। यह आने वाले सम्पादकों के लिये कर्ज़ की तरह है। धन्यवाद! --Hunnjazal (वार्ता) 15:56, 7 अप्रैल 2013 (UTC)
Hunnjazal जी मुझे रोशनी दिखाने के लिए धन्यवाद। लेकिन यह बात आप मेरे वार्ता पृष्ठ पर भी लिख सकते थे क्योंकि आपके कथन इस पृष्ठ से कोई सम्बंध नहीं रखते। मैंने स्ट्रिंग सिद्धांत पृष्ठ को पूर्ण नहीं किया लेकिन उसके लिए आवश्यक सामग्री जुटाने में लगा हुआ हूँ। मैं कुछ अंग्रेजी शब्दों के समकक्ष हिन्दी शब्द याद नहीं रख पाया अतः इसे पूर्ण नहीं कर पाया। इस पृष्ठ पर मैंने कुछ दिन पूर्व भी समपादित किया था। मैंने किसी और को भी इसे समपादित करने से रोका नहीं है और यदि सब कुछ ठीक रहा तो शीघ्र ही यह पृष्ठ पूर्ण होगा। इसी प्रकार आपने अशोक सेन नामक पृष्ठ की चर्चा की है, यह पृष्ठ मैंने हाल ही में बनाया है और मैं किसी कार्य को अतिशिघ्र सम्पन्न करने में पारंगत नहीं हूँ। धीरे धीरे मेरे कार्य को आगे बढा रहा हूँ। मुझे html भाषा भी आती है अतः कुछ सीधे नहीं कर पाता हूँ तो उसे html के माध्यम से भी पूर्ण कर लेता हूँ। आपसे मेरी एक विनती है - "कृपया आपके द्वारा दिखाई गयी रोशनी का इस पृष्ठ से क्या सम्बंध है? वो मुझे बता दें।" (यदि सार्थक उत्तर नहीं मिला तो मैं आपके कथन को यह मानकर छोड दूंगा की आपने मुझे दिग्भ्रमित करने की असफल कोशिश की।) आप मुझे निजी विपत्र (ईमेल) भी भेज सकते हैं। --संजीव कुमार (वार्ता) 09:59, 8 अप्रैल 2013 (UTC)

कुछ बातें -

  • विकि में केवल नीति-आधारित तर्क ही जीतता है। अंग्रेज़ी विकि के प्रबन्धक Gwickwire के शब्दों में - Er, voting doesn't determine consensus, strength of arguments does. 6 opposes and 1 support is meaningless if the opposes don't have strong, policy-rooted reasoning. Your comment on needing more votes for consensus is just blatantly wrong, as it's definitely possible (and happens in AfDs all the time) where a lopsided !vote (not-vote) turns out the opposite of the vote count. Just saying.
  • बहुत से खातों पर कठपुतली होने का सन्देह अभी भी मंडरा रहा है। उनमें योगदान कम होने के कारण ही उनका पैटर्न स्पष्ट नहीं हो सका है। उन्हें सन्देह मुक्त नहीं किया गया है लेकिन पक्का न होने के कारण वे इस समय के लिये अवरोधित नहीं हैं। यही जाँच ने कहा था और उनपर नज़र अवश्य रखी जाएगी। जाँच कथन - It was quite hard to analyse this because we do not have much data about the suspected users (sometimes only one edit). When I say that an account is not related per CU data, this does not prove at all it's not the same person, it just does not prove it's the same person. When I say that two users are possibly the same, it means that we found some relations between them, but clearly not enough to block.
  • छद्म खातों में हमेशा यह कमज़ोरी रहेगी - सक्रीय होंगे तो और डाटा बनने से पकड़े जाने का भय होगा और मूल खाता भी बन्द हो जाने का भय होगा। आप में से कोई-भी, कभी-भी, मेरी जाँच करवाना चाहे तो ज़रूर, बिना झिझक के, बारबार, बिना डरे करवाए। मुझे ख़ुशी होगी। यहाँ पर किसी को भी कठपुतली चलाने की अनुमति नहीं है और अगर चलाने का सन्देह हुआ तो जाँच और कार्यवाही ज़रूर होगी। लवी जी इसी सिलसिले में ३ मास के लिये प्रतिबन्धित हैं और शॉन वाला खाता हमेशा के लिये।
  • लेखों पर ज़ोर दें। हेमन्त जी, आपके कारेलिया गणतंत्र वाले लेख पर मैने काफ़ी काम किया। उसकी राजधानी पेत्रोज़ावोद्स्क और उससे सम्बन्धित झीलों ओनेगा झील और लादोगा झील परे लेख बनाए। श्रेणीयाँ और बहुभाषा जोड़ भी ठीक कर दिये हैं। आप अगर ऐसा ही कुछ उस लेख की अन्य लाल कड़ियों के लिये करें तो बहुत अच्छा हो। उसी तरह यदि आप कोमी गणतंत्र का स्तर बढ़ाएँ तो अच्छा रहेगा - इसमें अभी भी बहुत बिना लिप्यंतरण की अंग्रेज़ी डली हुई है। आपके योगदानों के लिये धन्यवाद! बिल जी शायद 'आप जानते हैं' को भी ताज़ा किया जाए तो अच्छा रहेगा। इसके लिये सुझाव चाहियें?
  • कृप्या 'तुम' व 'तू' का प्रयोग न करें।
  • अंग्रेज़ी पर ४० लाख लेख हैं और हिन्दी में १ लाख। ३९ लाख लेख बनाने को हैं। वि:नहीं व अन्य नीतियों के अनुसार लेख बनाएँ तो हमें एक दूसरे से बात करने की भी फ़ुर्सत नहीं होनी चाहिये। लेकिन Vpnagarkar (उर्फ़ विप्र) नामक खाते द्वारा बनाए गए दूरसंचार उपभोक्ता चार्टर - संक्षिप्त विवरण जैसे लेख बेकार हैं। यहाँ स्पष्ट मुद्राधिकार चोरी है और उसका प्रयोग योगदान दिखाने के लिये किया गया है, क्योंकि उस खाते के और योगदान वैसे न बराबर हैं। इन्हें तुरन्त और बिना चर्चा के हटा देना चाहिये। अगर किसी लेख को न हटाने की अपील करनी हो तो कृप्या अपनी बात नीति का उल्लेख करते हुए ज़रूर रखें।
  • माला जी, आपके संदेश के लिये धन्यवाद। आपने जो बात कही वह विकि के 'assume good faith' वाले केन्द्रीय सिद्धान्त के अनुसार है। वैसे मैं कोई वरिष्ठ नहीं हूँ - बिलकुल साधारण व्यक्ति हूँ और हर योगदान ऐसे करने की कोशिश करता हूँ जैसे मुझे यह साबित करना है कि यह मेरी माँ या किसी १४ साल के बच्चे या विदेश में बसे किसी भारतीय मज़दूर के देखने-पढ़ने लायक़ है। पाठक को इस बात से कोई सरोकार नहीं कि यह किस का लिखा है। लेख उसे आसान और दिलचस्प लगना चाहिये। हमें पाठक को अपने रूप में ढालने की कोशिश की अनुमति नहीं है - यह विकि सिद्धांत के विरुद्ध है। हमें विश्वसनीय और प्रमाणित स्रोतों पर आधारित अपने लेखों को उसके रूप में ढालना होगा - यह अनिवार्य है। मैने वि:नहीं से बहुत सीखा है। इसे देखकर कोई अचम्भा नहीं है कि अंग्रेज़ी विकि फूली-फली है। जिस विकि में इसका पालन हुआ है उसकी पाठक-संख्या व लेखों में वृद्धी हुई है। जहाँ नीति-नियम का बोलबाला हो जाए वहाँ वरिष्ठों पर लगाम लगती है। बहुत अच्छी चीज़ है।

धन्यवाद। --Hunnjazal (वार्ता) 16:22, 5 अप्रैल 2013 (UTC)

कृपया 'तू' और 'तुम' को एक पलड़े में न रखें। हिन्दी में बराबर वालों से या मित्रों से 'तुम' और छोटों से 'तू' कहा जाता है। बड़ों से या सम्मानयोग्य लोगों से तो किसी भी उम्र में, 'आप' कहा जाता है। बिल जब अंग्रेजी में लिखा करते थे तो सभी को 'you' में निपटाते थे। हिन्दी में तो फिर भी मैं 'तुम' कहकर एक दर्जा ऊँचा रख रहा हूँ ('तू' से ऊपर)। बाकी, असली मुद्दा तू-तुम वाला नहीं है, कुछ और है।
और अब दूसरी बात, लेख बनाने का आपका सुझाव अच्छा है। मैं समय के अनुसार बना ही रहा हूँ। आगे भी बनाता रहूँगा। धन्यवाद। -Hemant wikikoshवार्ता 19:18, 5 अप्रैल 2013 (UTC)
आपके योगदानों व हिन्दी के लिये निष्ठा के लिये संस्तुति। मेरी बात लेख तक ही सीमित है। इसका अन्य कोई तात्पर्य नहीं।--Hunnjazal (वार्ता) 07:31, 8 अप्रैल 2013 (UTC)

संजीव कुमार[संपादित करें]

(संजीव जी ने थोड़े समय में ही हिंदी विकि में बहुत योगदान किया है, विज्ञान विषय के वे विशेषज्ञ हैं, निर्वाचित लेखों में भी इनके लेख सम्मिलित हैं, पुनरीक्षक के तौर पर इन्होंने असाधारण योग्यता का परिचय दिया है, विकि नीतियों के प्रति अपनी वचनबद्धता सिद्ध की है। इन सब को देखते हुए तथा हिन्दी विकि पर प्रबंधक अधिकार युक्त सदस्यों की कमी को देखते हुए मैं संजीव जी का नाम प्रबंधक पद हेतु नामांकित करता हूं। ) मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 12:26, 8 अक्टूबर 2013 (UTC)

मैं इस प्रस्ताव को स्वीकार करता हूँ लेकिन मेरे चुनाव में मैं अपना मत नहीं देना चाहता।☆★संजीव कुमार (✉✉) 06:54, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1.  Yes check.svg  प्रस्तावक होने के नाते।
  2.  Yes check.svg  डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 07:47, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  3.  Yes check.svg  Pandey.manoj118 (वार्ता) 09:35, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  4.  Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। संजीव जी हिन्दी विकिपीडिया पर लगभग मेरे ही साथ आए, किन्तु उनका योगदान और सम्पादन मुझसे काफी बेहतर रहा है। कई मुद्दों पर उनकी योग्यता और प्रतिभा मुझे अचंभित भी करती है। मेरी राय में उनका प्रबन्धक बनना हिन्दी विकि के लिए अत्यंत हितकर एवं फलदायी होगा। Mala chaubey (वार्ता) 09:52, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  5. संजीव जी, विकि पर इस समय सबसे सक्रिय सदस्यों में से एक हैं और कुछ ही समय में उन्होंने हिन्दी विकिपीडिया को काफ़ी रचनात्मक योगदान दिया है। मैं उन्हें स्वयं नामंकित करना चाहता था, बस उनके यहाँ एक वर्ष पूरा होने का इंतजार कर रहा था। उनमें एक सक्षम प्रबंधक होने के सभी गुण हैं: अतिसक्रियता, अच्छे लेखों का निर्माण, उत्पात रोकना, पृष्ठों को हटाने के लिए नामांकित करना, चर्चाओं में हिस्सा लेना, आदि। उनका व्यवहार भी दूसरे सदस्यों के प्रति मिलनसार है और सबसे अधिक प्रशंसनीय है उनके योगदान में (विशेष रूप से सामग्री पृष्ठों में) निष्पक्षता, जो यहाँ दुर्लभ है। मैं उन्हें अपना मित्र मानता हूँ और ऐसा नहीं है कि हमारे बीच कभी मतभेद नहीं हुए परन्तु फ़िर भी हमने विकि विकास को प्राथमिकता दी है और एक प्रबंधक को भी ऐसा ही होना चाहिए। मेरी उनसे कुछ शिकायत भी हैं जैसे वे सभी पहलू जाने बिना कभी-कभी चर्चाओं में अपनी बात रखते हैं, हालांकि ऐसा हम सभी के साथ होता है परन्तु प्रबंधक बनने के बाद अधिकारों के साथ-साथ जिम्मेदारी और अपेक्षाएँ भी बढ़ जाती है इसलिए सोच-समझ कर, सभी तथ्यों को अच्छे से समझ कर कदम उठाना चाहिए। अंत में अपनी बात खत्म करते हुए मैं उन्हें अपनी शुभकामनाएँ देना चाहूँगा।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 15:49, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  6. समर्थन: संजीव जी ने हिन्दी विकिपीडिया पर पिछले कुछ समय में काफ़ी अच्छा कार्य किया है। मुझे विश्वास है कि वे आगे भी अच्छा कार्य जारी रखेंगे। इसके साथ ही उन्हें प्रबंधक बनाने से कार्य करने में सुविधा भी होगी, चूँकि वे सक्रिय रूप से चर्चाओं में भाग लेते हैं।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 18:09, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  7.  Yes check.svg  नए जुड़े सदस्यों में संजीवजी का कार्य प्रभावशाली और ध्यानाकर्षक है। तकनीकि सामर्थ्य और इससे अधिक विकि संस्कृति तथा सामान्य व्यवहार में उनके संवादों के माध्यम से प्रकट समझदारी निस्संदेह उन्हें विकि प्रबंधन अधिकारों के उपयुक्त सिद्ध करती है। - अनिरुद्ध  वार्ता  23:59, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  8.  Yes check.svg संजीव जी का विकि पर कार्य करने का ढँग तो ठीक है ही साथ ही उनका व्यवहार विकि सदस्यों के साथ सभ्य रहा है, मैं संजीव जी को प्रबंधक बनाये जाने का पूर्ण समर्थन करता हूँ।--डा० जगदीश व्योमवार्ता 04:50, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  9.  Yes check.svg संजीव जी की कार्यप्रणाली सही है और वह हमेशा अन्य सदस्यों की हर संभव मदद करते है। इसलिए वे एक अच्छे प्रबंधक होंगे।--प्रतीक मालवीयवार्ता 04:55, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  10.  Yes check.svg  समर्थन -- -- अनुनाद सिंहवार्ता 06:03, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  11.  Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 06:57, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  12.  Yes check.svg  पूर्ण समर्थनDinesh smita (वार्ता) 13:31, 13 अक्टूबर 2013 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

सर्वप्रथम तो मैं सभी सदस्यों को धन्यवाद देना चाहुँगा कि उन्होंने मेरे चुनाव में अपना मत दिया। यह मतदान मेरे लिए आश्चर्यजनक रहा, मैंने आजतक कभी सोचा भी नहीं था कि हिन्दी विकी के सभी सक्रिय सदस्य मेरे पक्ष में अपना मत देंगे। मुझे लगता है यहाँ पर जिन सदस्यों को अपने मत का प्रयोग करना था वो कर चुके हैं। अतः परिणाम घोषित कर दिया जाना चाहिए। फिर भी यदि कोई सदस्य अपना मत रखना चाहे तो हार्दिक स्वागत है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 16:28, 16 अक्टूबर 2013 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]

दिनेश स्मिता[संपादित करें]

मैं प्रबंधक पद के लिए आवेदन करना चाहता हूँ। कृपया मेरा समर्थन करें।Dinesh smita (वार्ता) 03:00, 8 मार्च 2013 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

पूर्ण समर्थन -- अनुनाद सिंहवार्ता 03:49, 8 मार्च 2013 (UTC)

  • समर्थन। कृपया विकिपीडिया के हित में कार्य करें और आपसी मतभेदों को स्वस्थ वार्ता और मंशा के साथ सुलझायें। नियमों का पालन करते हुए सामग्री संकलन पर सर्वाधिक ध्यान दिया जाना चाहिए। आशा है कि अन्य प्रबंधकों के साथ उचित तालमेल द्वारा आप यह कार्य करते रहेंगे। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 18:13, 14 मार्च 2013 (UTC)
  •  Yes check.svg  ← समर्थन।--संजीव कुमार (वार्ता) 22:38, 24 मई 2013 (UTC)
  •  Yes check.svg  समर्थन, मेरे विचार से इनके योगदानों पर किसी को कोई संदेह नहीं होगा। दूसरे नीचे पूछे गये प्रश्नों के उत्तर कितने प्रबंधकों ने अभि तक दिये हैं? कृपया इस बात पर ध्यान दिया जाये। तीसरा आप प्रबंधक बन कर क्या करेंगे? -- इसका उत्तर प्रबंधक के दायित्त्व पृष्ठ पर मिल सकता है, यहां सहमति का अर्थ सीधे सीधे इतना ही है कि प्रत्याशी उन सबके लिये हामी भरता है, अतः मेरी दृष्ति से ये चर्चा आवश्यक नहीं। शेष अपनी समझ है। --आशीष भटनागरवार्ता 06:24, 25 अगस्त 2013 (UTC)
  •  Yes check.svg  समर्थन, मैं ज्यादा पुराना नहीं हूं। मैने दिनेश जी के योगदान का अध्ययन करने पर पाया कि वे पुराने, अनुभवी विकिपीडियन हैं जिन्होने निरंतरता से योगदान दिया है। उनके कई योगदान अस्वीकृत भी हुए हैं, जिससे कि , मेरा मानना हे कि वे और भी परिपक्व हुए होंगे। भविष्य के लिए शुभकामनाएं।--मनोज खुराना (वार्ता) 06:45, 31 अगस्त 2013 (UTC)
  •  Yes check.svg  समर्थन, दिनेश स्मिता जी अच्छे प्रबंधक साबित होंगे।--प्रतीक मालवीय (वार्ता) 11:16, 25 सितंबर 2013 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

तटस्थ[संपादित करें]

नमस्कार दिनेश जी, मैं यहाँ पर केवल बिल जी एवं सिद्धार्थ जी द्वारा ऊपर दो अन्य नामांकनों के संदर्भ में पूछे गए प्रश्नों को ज्यों-का-त्यों दोहरा रहा हूँ। आशा है कि आप इसे अन्यथा नहीं लेंगे।

  1. आपका हिन्दी विकिपीडिया पर सबसे बड़ा योगदान क्या रहा है?
  2. प्रबंधक बन कर आप क्या कार्य करेंगे?
  3. क्या आप हमारी पृष्ठ हटाने की निति से परिचित हैं?
  4. कृपया बताएँ कि यदि आपको इंटरनेट पर कोई चित्र मिलता है (जिसे आप विकिपीडिया पर प्रयोग करना चाहते हैं) और उस साइट पर लाइसेंस की कोई जानकारी नहीं है तो आप क्या करेंगे? (विकिपीडिया पर इस्तेमाल करेंगे? हाँ या नहीं दोनों अवस्था में बताएँ क्यों)
  5. कृपया बताएँ कि यदि कोई लेख नेट से हूबहू कॉपी पेस्ट कर के बनाया गया हो तो आप उसका क्या करेंगे? शॉन (वार्ता) 05:47, 15 मार्च 2013 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]

रोहित रावत[संपादित करें]

  • मैं श्री रोहित रावत को स्थायी प्रबंधक के लिये नामांकित करता हूँ क्योंकि यह हिन्दी विकि के काफि अनुभवी सदस्यों में से एक है तथा हिन्दी विकि के भूतपूर्व स्थायी प्रबन्धक भी रह चुके है। हिन्दी विकि को स्थायी प्रबन्धकों की अत्यावश्यकता है। अत: मैं सब से निवेदन करुँगा की इन्हे पुन: स्थायी प्रबन्धक बना दिया जाये। शुभकामनाएँ--Mayur (talk•Email) 17:39, 23 सितंबर 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. As a nominator Mayur (talk•Email) 17:08, 1 अक्टूबर 2012 (UTC)
  2. समर्थन --ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागरवार्ता 12:42, 4 नवम्बर 2012 (UTC)
  3. समर्थन : रोहित रावत जी ने हिन्दी विकि की जितनी सेवा की है उतनी गिने चुने लोगों ने की है। वे हिन्दी विकिपिडिया के प्रबन्धक पद के सर्वथा अधिकारी हैं। -- अनुनाद सिंहवार्ता 06:00, 27 नवम्बर 2012 (UTC)
  4. पूर्ण समर्थन -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 09:40, 27 नवम्बर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  1. चूँकि रोहित रावत जी ने पिछले ४ महिने से भी अधिक समय तक सिद्धार्थ जी द्वारा नीचे पूछे गए प्रश्नों के उत्तर देना ज़रूरी नहीं जाना, इसलिए मैं इस नामांकन का विरोध करता हूँ। शॉन (वार्ता) 05:41, 15 मार्च 2013 (UTC)

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

रोहित जी, आपके लिये कुछ प्रश्न हैं:

  • कृपया बताएँ कि यदि आपको इंटरनेट पर कोई चित्र मिलता है (जिसे आप विकिपीडिया पर प्रयोग करना चाहते हैं) और उस साइट पर लाइसेंस की कोई जानकारी नहीं है तो आप क्या करेंगे? (विकिपीडिया पर इस्तेमाल करेंगे? हाँ या नहीं दोनों अवस्था में बताएँ क्यों)
  • कृपया बताएँ कि यदि कोई लेख नेट से हूबहू कॉपी पेस्ट कर के बनाया गया हो तो आप उसका क्या करेंगे?

कृपया मेरे प्रश्नों को अन्यथा ना लीजियेगा। मैं जानता हूँ कि हिन्दी विकिपीडिया पर प्रबंधन अधिकार देने से पहले प्रश्न पूछने की प्रथा नहीं है, परन्तु मेरे विचार में यह प्रथा शुरू करने का समय आ गया है।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 10:19, 3 नवम्बर 2012 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]


सोमेश त्रिपाठी[संपादित करें]

समर्थन[संपादित करें]

  • समर्थन : सोमेश त्रिपाठी जी ने हिन्दी विकि की बहुत सेवा की है। उनका प्रबन्धक बनना हिन्दी विकि के लिए हितकर एवं फलदायी होगा। -- अनुनाद सिंहवार्ता 05:56, 27 नवम्बर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  • Oppose: Based on your replies (or lack thereof), I will have to oppose your candidature. All in good faith, लवी सिंघल (वार्ता) 08:38, 10 नवम्बर 2012 (UTC)
  • विरोध: मैं यह स्पष्ट करना चाहूँगा कि मेरे विचार में इनका कार्य अच्छा है, परन्तु इनके उत्तरों से यह लगता है कि ये अभी प्रबंधक दायित्व को ठीक से नहीं समझते हैं। मेरे विचार में इन्हें कुछ समय प्रबंधकों से अपेक्षित कार्यों के बारे में अपनी जानकारी बढ़ाने के लिए लगाना चाहिये, तत्पश्चात पुनः अनुरोध करना चाहिए।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 21:43, 10 नवम्बर 2012 (UTC)
सिद्धार्थ जी, यदि आप ही विरोध कर रहे हैं तो मैं यह नामांकन वापिस लेना चाहूँगा। इस हिन्दी विकिपीडिया का कल्याण हो, यही मन में आशा है। जी धन्यवाद।--सोमेश त्रिपाठी वार्ता 17:12, 26 नवम्बर 2012 (UTC)

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

सोमेश जी, कृपया इन प्रश्नों के उत्तर दें जिससे हमें आपके यहाँ पर दिए योगदान व यह पता चल सके कि आप विकिपीडिया व इसकी नीतियों से कितने परिचित हैं।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 05:11, 8 नवम्बर 2012 (UTC)
1.आपका हिन्दी विकिपीडिया पर सबसे बड़ा योगदान क्या रहा है?

उत्तर: विलियम जी, सादर नमस्कार! देखिये अव्वल तो मैं यहाँ किसी चुनाव में खड़ा नहीं होने जा रहा हूँ। मेरे इस विकिपीडिया के योगदान देने या न देने से भी विकिपीडिया जैसे महान संगठन को कोई भी क्षति नहीं होने वाली। जहाँ तक सबसे बड़े योगदान की बात रही तो मैं यहाँ इतना ही कहना चाहूँगा कि आप प्रबन्धकों (syops) को इस बात का भली भांति भान है कि मेरा हिन्दी विकिपीडिया पर क्या योगदान रहा है। मैंने स्वयं इसे कभी भी मूल्यांकन करने की न तो कोशिश की और न ही ज़रूरत समझी। मुझे चाहे एक भी समर्थन न मिले लेकिन फिर भी मैं इस विकिपीडिया के निरंतर विकास के लिए प्रतिबद्ध रहूँगा और अपने वंशजों के लिए कुछ तो सकरात्मक देके जाऊँगा।

2.प्रबंधक बन कर आप क्या कार्य करेंगे?

उत्तर: सारे सकरात्मक पृष्ठों के विकास की चेष्टा करूंगा (जैसे आपने अभी तक भी देखा होगा कि मैं पृष्ठ बनाने से अधिक पृष्ठ सुधार के लिए कार्यरत हूँ) और सारे नकारात्मक पृष्ठों को स्वयं न मिटाके चौपाल पर उनकी परिचर्चा करवाऊँगा और यदि सब सर्वसहमति से यह मानेंगे कि अमुक पृष्ठ हटाना चाहिये या उसमें सुधार की गुंजाइश है तो उसी प्रकार कार्य होगा। देखिये एक बात और मैं आपके समक्ष पेश करना चाहता हूँ और वह यह है कि आप की पीढ़ी इस देश को नई दिशा प्रदान कर रही है और मैं उसका सम्मान करता हूँ। लेकिन यह भी उचित नहीं है कि कार्यप्रणाली से सारे मध्यम आयुवर्गीय दूर रखे जायें और सारा ज़िम्मा युवावर्ग के मत्थे ही मढ़ दिया जाये। कृपया विचार करें...

3.क्या आप हमारी पृष्ठ हटाने की निति से परिचित हैं?

उत्तर: भलि भांति और इसीलिए पूर्व प्रश्न का उत्तर संक्षेप में न देकर मैंने उसका उत्तर विस्तृत दिया है।--सोमेश त्रिपाठी वार्ता 15:53, 9 नवम्बर 2012 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]

hunnjazal[संपादित करें]

  • मैं श्री hunnjazal को स्थायी प्रबंधक के लिये नामांकित करता हूँ क्योंकि यह हिन्दी विकि के काफि अनुभवी सदस्यों में से एक है तथा हिन्दी विकि के भूतपूर्व अस्थायी प्रबन्धक भी रह चुके है। हिन्दी विकि को स्थायी प्रबन्धकों की अत्यावश्यकता है। अत: मैं सब से निवेदन करुँगा की इन्हे स्थायी प्रबन्धक बना दिया जाये। शुभकामनाएँ--Mayur (talk•Email) 17:39, 23 सितंबर 2012 (UTC)
  • स्वीकार: मैं अपने नामांकन को सहर्ष स्वीकारता हूँ। मुझे नामांकित करने और समर्थन देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद! मैं आपका आभारी हूँ। --Hunnjazal (वार्ता) 18:57, 10 नवम्बर 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. पूर्ण समर्थन - Always :) -- लवी सिंघल (वार्ता) 09:09, 24 सितंबर 2012 (UTC)
  2. As a nominator Mayur (talk•Email) 17:08, 1 अक्टूबर 2012 (UTC)
  3. Second to Lovy!<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 14:39, 10 अक्टूबर 2012 (UTC)
  4. समर्थन --सिद्धार्थ घई (वार्ता) 15:49, 28 अक्टूबर 2012 (UTC)
  5. समर्थन --ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागरवार्ता 12:43, 4 नवम्बर 2012 (UTC)
  6. समर्थन -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 13:04, 4 नवम्बर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]


अनुनाद सिंह[संपादित करें]

  • मैं श्री अनुनाद सिंह को स्थायी प्रबंधक के लिये नामांकित करता हूँ क्योंकि यह हिन्दी विकि के सबसे अनुभवी सदस्यों में से एक है तथा हिन्दी विकि के भूतपूर्व स्थायी प्रबन्धक भी रह चुके है। हिन्दी विकि को स्थायी प्रबन्धकों की अत्यावश्यकता है। अत: मैं सब से निवेदन करुँगा की इन्हे स्थायी प्रबन्धक बना दिया जाये। शुभकामनाएँ--Mayur (talk•Email) 17:39, 23 सितंबर 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. As a nominator Mayur (talk•Email) 17:09, 1 अक्टूबर 2012 (UTC)
  2. समर्थन -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 13:06, 4 नवम्बर 2012 (UTC)
  3. समर्थन ----डा० जगदीश व्योमवार्ता 05:40, 5 नवम्बर 2012 (UTC)
Your vote will not count. Don't you have some shame? Please do take it as a personal attack. -- लवी सिंघल (वार्ता) 06:31, 5 नवम्बर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  • कठोर विरोध - You must be kidding me Mayur! Recent debates are still fresh in our minds (for which he has not once apologized). The guy doesn't even know the basic courtesies, forget about the basics of Wikipedia. In no ways should he be made an admin. And if he is, then I believe everybody and anybody who registers an username on hi.wiki should be automatically made an admin on that very day itself. -- लवी सिंघल (वार्ता) 04:28, 24 सितंबर 2012 (UTC)
Lovy, I am just nominating the old admins however its our hi wiki users choice if they still want them to be an admin on hindi wiki, cheers--Mayur (talk•Email) 06:02, 24 सितंबर 2012 (UTC)

टिप्पणी[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]


आशीष भटनागर[संपादित करें]

  • मैं श्री आशीष जी को स्थायी प्रबंधक के लिये नामांकित करता हूँ क्योंकि यह हिन्दी विकि के सबसे अनुभवी एवं पुराने सदस्यों में से एक है तथा हिन्दी विकि के भूतपूर्व स्थायी प्रबन्धक भी रह चुके है। हिन्दी विकि को स्थायी प्रबन्धकों की अत्यावश्यकता है। अत: मैं सब से निवेदन करुँगा की इन्हे पुन: स्थायी प्रबन्धक बना दिया जाये। शुभकामनाएँ--Mayur (talk•Email) 17:39, 23 सितंबर 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. लवी सिंघल (वार्ता)
  2. As a nominator Mayur (talk•Email) 17:06, 1 अक्टूबर 2012 (UTC)
  3. सिद्धार्थ घई (वार्ता) 13:35, 10 अक्टूबर 2012 (UTC)
  4. समर्थन -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 13:01, 4 नवम्बर 2012 (UTC)
  5. <>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 13:39, 4 नवम्बर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]


Siddhartha Ghai[संपादित करें]

  • मैं श्री Siddhartha Ghai को स्थायी प्रबंधक के लिये नामांकित करता हूँ क्योंकि यह हिन्दी विकि के काफि अनुभवी एवं तकनीकी रुप से सक्ष्म सदस्यों में से एक है तथा हिन्दी विकि के भूतपूर्व अस्थायी प्रबन्धक भी रह चुके है। हिन्दी विकि को स्थायी प्रबन्धकों की अत्यावश्यकता है। अत: मैं सब से निवेदन करुँगा की इन्हे पुन: स्थायी प्रबन्धक बना दिया जाये। शुभकामनाएँ--Mayur (talk•Email) 17:39, 23 सितंबर 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. Hindustanilanguage (वार्ता) 05:56, 24 सितंबर 2012 (UTC).
  2. लवी सिंघल (वार्ता) 09:09, 24 सितंबर 2012 (UTC)
  3. As a nominator Mayur (talk•Email) 17:07, 1 अक्टूबर 2012 (UTC)
  4. Support – How did I miss it? Silly me.<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 14:37, 10 अक्टूबर 2012 (UTC)
  5. समर्थन --ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागरवार्ता 12:41, 4 नवम्बर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]


Bill william compton[संपादित करें]

नमस्कार मित्रों, मैं बिल कॉम्पटन आपके समक्ष प्रबंधक बनने का अपना नामांकन प्रस्तुत कर रहा हूँ। मैं नवम्बर 2010 से हिन्दी विकिपीडिया पर पंजीकृत सदस्य हूँ, हालांकि मैं अति सक्रिय जुलाई 2011 से ही हो पाया। इसका कारण था मेरी कमजोर हिन्दी, परन्तु धीरे-धीरे मैने इस सुंदर व ध्वनिप्रधान भाषा में अपना ज्ञान बढ़ाया और निवर्तमान समय में मैं अपने को भाषणपटु तो नहीं कहूँगा परन्तु साथी सदस्यों के अनुसार मेरी हिन्दी काफ़ी सुधर गई है। मैने हिन्दी विकिपीडिया पर कुल 217 लेखों का योगदान दिया है जिसमें से दो लेख निर्वाचित बने तथा कई मुखपृष्ठ के 'क्या आप जानते हैं?' अनुभाग में भी प्रदर्शित हुए। मेरे द्वारा अभी तक कुल 7,271 संपादन किए गए हैं तथा योगदान अभी भी ज़ारी है। प्रबंधक के तौर पर मैं शीघ्र हटाने योग्य पृष्ठों की समीक्षा, मिडीयाविकी पृष्ठों में सुधार, सुरक्षा के लिए नामांकित पृष्ठों की समीक्षा, आदि में अपना योगदान दूँगा जो मैं अभी तक देता भी आ रहा हूँ। मैं वैश्विक रूप से विकिमीडिया कॉमन्स, अंग्रेज़ी विकिपीडिया और फ़िजी हिन्दी विकिपीडिया पर अतिसक्रिय हूँ तथा कभी-कभी फ़्रांसीसी व सिम्पल अंग्रेज़ी विकिपीडिया पर भी योगदान देता हूँ। मैं जहाँ तक सम्भव होता है वहाँ तक नए व अन्य सदस्यों की सहायता करता हूँ और हिन्दी विकिपीडिया के विकास के लिए प्रतिबद्ध हूँ।

मैं आशा करता हूँ कि आप मुझे निष्पक्ष भाव के साथ परखेंगे तथा मुझे किसी भी प्रकार के प्रश्न का उत्तर देने में कोई समस्या नहीं है। मेरे इस नामांकन के लिए अपना अमूल्य समय निकालने के लिए आपका धन्यवाद।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 16:00, 16 सितंबर 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. Hindustanilanguage (वार्ता) 05:19, 17 सितंबर 2012 (UTC).
  2. While I do support this nomination, I do believe that we should start this process only after desysoping everyone. Regards, लवी सिंघल (वार्ता) 05:30, 17 सितंबर 2012 (UTC)
  3. भवानी गौतम (वार्ता) 14:00, 17 सितंबर 2012 (UTC)
  4.  Yes check.svg  पूर्ण समर्थन, कृपया हिन्दी विकि में इसी प्रकार अपने योगदान जारी रखें--Mayur (talk•Email) 15:44, 17 सितंबर 2012 (UTC)
  5. EarthShocker (वार्ता) 14:46, 21 सितंबर 2012 (UTC)
  6.  Yes check.svg  पूर्ण समर्थन, हिन्दी विकिपीडिया एक प्रबन्धक की ज़रूरत है --राजेन्द्र सिंह (वार्ता) 20:32, 22 सितंबर 2012 (UTC)
  7. पूर्ण समर्थन--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 22:41, 22 सितंबर 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

  • The suggestion of desysoping everyone is dangerous. Only issues of passive admins, bullying or obstructive admins can be reviewed on case-by-case basis. Hindustanilanguage (वार्ता) 05:29, 18 सितंबर 2012 (UTC).
This is what was decided on meta and is long due now. It should've been done before 10th of September. -- लवी सिंघल (वार्ता) 06:22, 18 सितंबर 2012 (UTC)
If everyone is desysoped, what is the future plan of action? Who will oversee issues such as vandalism, for example, during the intervening period? Hindustanilanguage (वार्ता) 07:24, 18 सितंबर 2012 (UTC).
Another issue is, who desysop our existing admins? They themselves or a few global sysops? In the second case, are we going to surrender our hi:wi before other global admins? Hindustanilanguage (वार्ता) 15:07, 23 सितंबर 2012 (UTC).
Global sysops don't have such privileges; they are for only regular maintenance tasks on Wikis-without-local-admin(s) or global requests [from Meta]. Only a steward can desysop anyone and this is a prerogative of local community to decide the relegation of their admins. Stewards don't have decision making power they are just executors (after consensus).<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 15:21, 23 सितंबर 2012 (UTC)
So ultimately is what's the way out? Hindustanilanguage (वार्ता) 05:55, 24 सितंबर 2012 (UTC).
In my opinion, now that Bill's nomination seems almost clear, we can perhaps let him be a sysop and desysop everyone else for the time being. They should be given admin rights again iff their renominations are successful. Cheers, लवी सिंघल (वार्ता) 09:13, 24 सितंबर 2012 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]

YesY पूर्ण हुआ closed as successful Billinghurst (वार्ता) 14:26, 26 सितंबर 2012 (UTC)


श्रीश पण्डित (स्व-नामांकन)[संपादित करें]

मैं स्वयं को दो महीने हेतु प्रबन्धक के अस्थायी पद के लिये नामांकित करता हूँ, क्योंकि

  • मैं विकिपीडिया पर काफी समय से सदस्य हूँ, कई अच्छे और मौलिक लेख मैंने लिखे हैं। मेरे योगदान सम्बंधी जानकारी यहाँ देखें।
  • मुझे विकि पर मेण्टीनेंस सम्बंधी कार्य अर्थात विकिपीडिया तथा लेखों को व्यवस्थित बनाने में रुचि है। इस कार्य में योगदान हेतु मुझे सुरक्षित पृष्ठ/लेख/साँचे सम्पादित करने, पृष्ठ हटाने, विशिष्ट पन्ने अनुवादित करने आदि अधिकार चाहिये। इन सब अधिकारों हेतु प्रबन्धक पद की आवश्यकता है।
  • विकिपीडिया के इण्टरफेस में अनुवाद एवं वर्तनी सम्बंधी कई अशुद्धियाँ हैं जो कि नये पाठकों पर बुरा प्रभाव डालती हैं। मैं इन अशुद्धियों को दूर करना चाहता हूँ।
  • मुझे सर्वज्ञ नामक हिन्दी विकि पर प्रबन्धक के रुप में कार्य करने का अनुभव है। यद्यपि वह सीमित स्कोप का विकि था, पर मुझे इससे मुझे अनुरक्षण सम्बंधी मौलिक बातें सीखने में सहायता मिली।
  • विकिपीडिया में भाषिक शुद्धता, वर्तनी सुधार तथा उत्पाती गतिविधियाँ सुधारने में योगदान। विकि-संस्कृति और विकि-पद्धति का ज्ञान।
  • विकि पर वर्तमान में २४ प्रबन्धक हैं लेकिन ४ को छोड़कर बाकी निष्क्रिय हैं। हिन्दी विकि को इसके आकार के लिहाज से और सक्रिय प्रबन्धकों की आवश्यकता है, मैं यह कमी पूरा करना चाहता हूँ।

दो महीने की परिवीक्षा अवधि में मैं विकि की कार्यपद्धति का पूर्ण ज्ञान हासिल करना चाहता हूँ तथा साथ ही अपनी क्षमताओं को परखना चाहता हूँ। इसके बाद यदि मुझे उचित लगा तो स्थायी पद के लिये आवेदन करुँगा। -- श्रीश e-पण्डित  वार्ता  १७:३०, १२ सितंबर २०१० (UTC)

समर्थन:

 Yes check.svg  समर्थन करता हूँ। -- अनुनाद सिंहवार्ता ०४:०२, १३ सितंबर २०१० (UTC)
 Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। --ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागर  वार्ता  ०९:१६, १३ सितंबर २०१० (UTC)
 Yes check.svg  समर्थन। श्रीश जी को पहला आवधिक प्रबंधक बनाकर अन्य कुछ विकिस की तरह हम यह परम्परा यहाँ पर भी शुरु कर सकते है। जिससे सक्रिय प्रबंधको की अनुपस्थिति में विकि प्रणाली सुचारु रुप से चलती रहे। अन्य विशिष्ट सदस्यों का भी इस सुविधा हेतु मैं समर्थन ही करुँगा--यह सदस्य हिन्दी विकिपीडीया के प्रबंधक है।Mayur(TalkEmail)  ०३:४३, १५ सितंबर २०१० (UTC)
 Yes check.svg  पूर्ण समर्थन। आपके द्वारा किए गए सम्पादनों को देखकर लगता है कि आपको यह पद दिया जाना चाहिए। आपको हिन्दी व्याकरण और वर्तनी के मानकों का भी अच्छा ज्ञान है। इसलिए आपको मेरा पूर्ण समर्थन है। भविष्य में आपको स्थाई प्रबन्धक भी बनाया जाना चाहिए। रोहित रावत ०४:०५, १५ सितंबर २०१० (UTC)
 Yes check.svg  समर्थन करता हूँ। Prabhat nhpc ०७:१२, २४ सितंबर २०१० (UTC)
 Yes check.svg  समर्थन। Hindustanilanguage (वार्ता) 06:46, 23 नवम्बर 2011 (UTC)

विरोध:

संवाद:


हाल में बनायी गयी विकि नीतियों के अनुसार ४ प्रबंधको (अथवा ३ प्र, २ वि स) के समर्थन के आधार पर श्रीश जी को हिन्दी विकि पर पहला अस्थायी प्रबंधक बनाया जाता है। इनका प्रबंधन अधिकार १५ नवंबर २०१० को समाप्त हो जायेगा। मैं आशा करता हूँ कि वे समस्त विकि नीतियों का सम्मान करते हुए हिन्दी विकि को आगे बढाने में अहम भूमिका निभायेंगे। इसके साथ मैं अन्य विशिष्ट सदस्यों को भी इस पद के लिये प्रोत्साहित करता हूँ।--यह सदस्य हिन्दी विकिपीडीया के प्रबंधक है।Mayur(TalkEmail)  १७:२४, १६ सितंबर २०१० (UTC)

मुझे यह अवसर प्रदान करने हेतु सभी विकिमित्रों का आभारी हूँ।-- श्रीश e-पण्डित  वार्ता  २१:५२, १६ सितंबर २०१० (UTC)

भारतीयभाषा[संपादित करें]

मैं स्वयं को दो महीने हेतु प्रबन्धक के अस्थायी पद के लिये नामांकित करता हूँ, क्योंकि:

  • मैं एक वर्ष से विकिपीडिया का सदस्य हूँ।
  • मैंने विकिपीडिया पर तथा हिन्दीनेस्ट जैसे प्रसिद्ध वेबसाईट पर अपना योगदान किया है।
  • मैंने पहली बार दूसरे विकी टेम्प्लेट का हिन्दी में अनुवाद किया -- जिन्में कामन्स के 'वाटर्मार्क-रहित' टेम्प्लेट और उसी तरह मेटा-विकी की नोटिसें जैसे कि केंद्रीय प्रबन्धन नोटिस (हिन्दी सूचना) जैसे कैई टेम्प्लेट तथा सूचनाएं शामिल हैं।
  • हर साल विकिमीडिया विकिमेनिया सम्मेलन आयोजित करता है और मैंने देखा है कि 2011 के विकिमेनिया तक कोई हिंदी योगदानकर्ता कार्यक्रम और सूचना, आदि के हिंदी में अनुवाद के बारे में शायद सोचा ही नहीं। सौभाग्य से 2011 के समय मैंने सम्मेलन की सभी सूचनाओं का हिन्दी में अनुवाद किया जिन्हें आज भी विकिमेनिया 2011 श्रेणी:हिंदी में देखा जा सकता है।
  • इसी तरह मैंने हिन्दी, उर्दू तथा मल्यालम पर आधारित जानकारी को भारतीय भाषाओं की श्रेणी में एकत्रित किया।
  • मैंने कामन्स पर हिन्दी भाषीय सदस्यों की अप्लोड की हुई चित्रों पर अपने अनुवाद द्वारा निर्णय लेने में मदद की।
  • मैंने कई लोगों को हिन्दी विकिपीडिया से अवगत करवाया और योगदान की प्रक्रिया समझाई।
  • मेरा सदस्य अनुभव इस पन्ने पर देखा जा सकता है।
  • हिन्दी विकि को इसके आकार के लिहाज से और सक्रिय प्रबन्धकों की आवश्यकता है, मैं यह कमी पूरा करना चाहता हूँ। दो महीने की परिवीक्षा अवधि में मैं विकि की कार्यपद्धति का पूर्ण ज्ञान हासिल करना चाहता हूँ तथा साथ ही अपनी क्षमताओं को परखना चाहता हूँ। इसके बाद यदि मुझे उचित लगा तो स्थायी पद के लिये आवेदन करुँगा। भारतीयभाषा 11:17, 7 जनवरी 2012 (UTC)।
स्पष्टिकरण : मेरा अनुभव ही मेरी टिप्पणी का रूप ले सकती. चूँकि मुझे मेरा अनुभव व्यक्त करने से पहले शायद छः अन्य व्यक्तियों ने अपने अनुभव का व्यक्त किये थे और प्रक्रिया समाप्त हो चुकी थी, इस लिए शिजू ने केवल मेरे अनुभव को एक दुसरे पन्ने पर दाल दिया। वैसे अनुभव के विषय में लिखने के लिए भी मुझे शिजू ही ने कहा था। मैं अपने मित्र सिद्धार्थ को उनके विचार खुलकर व्यक्त करने के लिए आभार प्रकट करना चाहूँगा । भारतीयभाषा 07:21, 11 जनवरी 2012 (UTC).
स्पष्टिकरण : मुझे अश्चर्य होता है कि किस प्रकार से मेरे योगदान को Bill william compton द्वारा नकारा जा रहा है। मैंने स्प्ष्ट रूप से हिन्दी भाषा के प्रति मेरे अतुल्य योगदान का विवरण किया है। क्या एक वर्ष में 3266 सम्पादन कम हैं? "प्रबन्धन अधिकार कोई विशिष्ट पद नहीं है" यह बात मैं भलीभान्ती जानता हूँ। भारतीयभाषा 09:59, 14 जनवरी 2012 (UTC)

समर्थन
विरोध

  • इनके सदस्य योगदानों से यह कहीं नहीं स्पष्ट होता कि इन्हें विकिपीडिया की नीतियों का ज्ञान है। इसके अतिरिक्त, इन्होंने अपने सदस्य अनुभव की जो कड़ी दी है, वह अनुभव उस पृष्ठ पर इन्होंने स्वयं जोड़े थे और शिजू द्वारा हटाए जा चुके हैं। --सिद्धार्थ घई (वार्ता) 16:02, 10 जनवरी 2012 (UTC)
  • लगभग एक साल की अवधि में सदस्य ने हिन्दी विकिपीडिया पर केवल 174 सम्पादन (हटाए गए सहित) किए हैं, जो दिखाता है कि यह हिन्दी विकिपीडिया पर सक्रिय ही नहीं है। दूसरा, सदस्य ने सम्पूर्ण विकिपीडिया समाज पर भी 3266 सम्पादन किए हैं, जो दिखाता है कि यह कही भी अति सक्रिय नहीं हैं। प्रबन्धन अधिकार कोई विशिष्ट पद नहीं है, यह आपको विकिपीडिया के प्रति और अधिक बाध्य करता है, जब आप सदस्य रूप में ही विकिपीडिया को समय नहीं दे पा रहें तो प्रबन्धन अधिकार के साथ क्या दे सकेंगे। मेरी राय में आपको हिन्दी विकिपीडिया पर और अधिक योगदान करने की आवश्यकता है।<><  Bill william comptonTalk 12:53, 13 जनवरी 2012 (UTC)
  • उपरोक्त तथ्यों के बारे में प्रस्तावित सदस्य महोदय कुछ स्पष्टीकरण दें तो आगे गाड़ी बढ़े, अन्यथा क्यों न ये मान लिया जाए कि इन्हें कमी का ज्ञान/भान हो गया है, तथा उसे पूर्ण कर अगली बार लगन तथा अनुभव एवं दुगुने उत्साह के साथ फ़िर मैदान में उतरेंगे तथा शुभकामनाओं के अनुसार सफ़ल होंगे, एवं हमारे संग एक उद्यमी प्रबंधक होगा। हां यदि कुछ स्पष्टीकरण मिलता है, त६ओ आगे के मत भी लिये जा सकते हैं। --ये सदस्य हिन्दी विकिपीडिया के प्रबंधक है।प्रशा:आशीष भटनागरवार्ता 07:59, 14 जनवरी 2012 (UTC)

तटस्थ

  • फिलहाल मैं आपके स्वनामांकन पर तटस्थ हूँ। अन्य सदस्यगण जैसा उपयुक्त जानें इनको उसी अनुरूप प्रबन्धन पद का दायित्व सौंप दें। आप लोग जो भी निर्णय लेंगे मेरा उसे समर्थन रहेगा। रोहित रावत (वार्ता) 18:02, 14 जनवरी 2012 (UTC)
  • मैं भी। -- सौरभ भारती (वार्ता) 13:22, 16 जनवरी 2012 (UTC)

इस आवेदन को अब एक माह से ज्यादा हो गया है और हिन्दी विकि की नीतियों के अनुसार '(आवधिक (२-३ महीने) रूप से भी कुछ विशेष कार्य करने के लिए लगभग ४-५ विशेष समर्थनों (प्रबन्धक, विशिष्ट सदस्य, परीक्षक)) इन्हें ४-५ समर्थन नहीं मिले है अत: इस आवेदन को निरस्त घोषित किया जाता है।--Mayur (talk•Email) 16:07, 11 फ़रवरी 2012 (UTC)

अनुनाद सिंह[संपादित करें]

प्रस्तावकर्त्ता:--युकेश १२:५६, ५ जून २०१० (UTC) मैं आपको प्रबन्धक बनाने का प्रस्ताव करता हूँ, क्योंकि -

  • योगदान यहाँ देखें
  • विकिपीडिया पर लम्बे समय से योगदान
  • विकिपीडिया के संस्कृति और पद्धति का ज्ञान
  • लेखौं में उल्लेख्य योगदान
  • सम्भाव्य प्रबन्धकीय भूमिका :लिप्यांतरण तथा देवनागरी भाषा प्रविधि का विकिपीडिया में विकास तथा बॉट
--- यदि किसी अन्य सदस्य ने आपको नामित किया है तो आप अपना नामांकन प्रस्ताव स्वीकार/अस्वीकार करते हुए अपना मत लिखें।

क्या आप प्रबंधक का काम करने के इच्छुक हैं?

सदस्य की सहमति
सबसे पहले युकेश जी को मुझे प्रबन्धक बनाने के लिये प्रस्तावित करने हेतु धन्यवाद । पहले मैं इस कार्य के लिये तैयार नहीं था किन्तु अब मैं इस चुनौती को स्वीकार करने के लिये उद्यत हूँ। हिन्दी विकि पर लेखों के योगदान का अपना काम मैं पूर्ववत जारी रखते हुए हिन्दी विकि के लिये कुछ औजार (टूल्स) बनाने का प्रयत्न करूँगा। यथाशक्ति और यथासमय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के लेखों को और विकसित करूंगा। -- अनुनाद सिंहवार्ता १३:२२, ५ जून २०१० (UTC)
समर्थन

विरोध

संवाद

  • अनुनादजी इस भूमिका के लिए उपयुक्त हैं और यह हर्ष का विषय है कि वे इसके लिए तैयार भी हैं। हिंदी विकिया को नए प्रबंधकों की सख्त आवश्यकता है। अनिरुद्ध  वार्ता  १३:५३, ५ जून २०१० (UTC)
  • अनुनाद जी हिन्दी विकिपीडिया के सबसे अनुभवी एवं सभ्य सदस्यों में से एक है, इनकी सम्पादन शैली अत्यंत रचनात्मक एवं विकसित है। अतः ऐसे अनुभवी एवं सक्रिय सदस्य का प्रबंधक बनना हिन्दी विकिपीडिया को अत्यंत समृद्ध एवं उन्नत बनाएगाँ--मयुर कुमारवार्ता १६:०८, ५ जून २०१० (UTC)
  • पूर्ण समर्थन --गुंजन वर्मासंदेश ०४:५६, ७ जून २०१० (UTC)
  • लंबे अनुभव तक शांत किंतु अत्यधिक और स्तरीय योगदान - यही इनके प्रबंधक बनने की योग्यता की अर्हता है, जिस पर ये खरे उतरे हैं। किन्तु ये अवश्य अनुरोध व अपेक्षा करूंगा, कि ये अन्य बहुत से हाल के प्रबंधकों ( जैसे डॉ॰जगदीश, सौरभ भारती, आदि) की भांति अंतर्ध्यन न होकर (मेरी भांति) प्रबंधक पद पर सक्रिय बने रहेंगे।--प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १४:१५, ८ जून २०१० (UTC)
  • आशीष जी, इस तरह की टिप्पणी उचित नहीं है।--डा० जगदीश व्योम ०३:५९, २० जून २०१० (UTC)


अनुनाद को प्रबंधक बनाया गया है --Hemanshu ०३:४७, १३ जून २०१० (UTC)


रोहित रावत[संपादित करें]

(समर्थन (Support)/विरुद्ध (Oppose)/संवाद (discussion))

प्रस्तावकर्त्ता:--युकेश १२:५६, ५ जून २०१० (UTC)

मैं आपको प्रबन्धक बनाने का प्रस्ताव करता हूँ, क्योंकि -

  • योगदान यहाँ देखें
  • विकिपीडिया पर लम्बे समय से योगदान
  • विकिपीडिया के लेखौं के गुणवत्ता वृद्धि में उल्लेख्य निरन्तर योगदान
  • विकिपीडिया के पद्धति का ज्ञान
  • सम्भाव्य प्रबन्धकीय भूमिका :लेखौं के गुणवत्ता आंकलन तथा हाल में हुए परिवर्तन में निगरानी

--- यदि किसी अन्य सदस्य ने आपको नामित किया है तो आप अपना नामांकन प्रस्ताव स्वीकार/अस्वीकार करते हुए अपना मत लिखें।

सदस्य सहमति

क्या आप प्रबंधक का काम करने के इच्छुक हैं?

  1. जी हाँ मैं प्रबन्धक का काम करने का इच्छुक हूँ ताकि मैं हिन्दी विकिपीडिया और और अधिक योगदान देकर समृद्ध बना सकूँ। मेरा नामांकन करने और मुझे समर्थन देने के लिए अग्रिम धन्यवाद। रोहित रावत १३:२५, ५ जून २०१० (UTC)
समर्थन

विरोध

संवाद

  • रोहित जी हिन्दी विकीपीडिया के पुराने सदस्य हैं। इनके योगदान अन्वरत रहे हैं, और अब उत्तराखंड को संवार रहे हैं। इनका पहले भी प्रबंधक प्रस्ताव आ चुका है, जिसे कुछ तत्कालीन नवीन सदस्य लॉबी ने पिछले अंग्रेज़ी नाम वाले योगदानों की अनभिज्ञता के कारण नकार दिया था। हालांकि मैंने पहले भी ये बताया था, कि ये रोहित वही पुराने रोहित हैं, जो पासवर्ड भूल जाने के कारण अपना पिछला खाता दोबारा संचालित नहीं कर पाये, किन्तु ३-४  X mark.svg  चिह्न लग जाने के कारण बात ठंडी पड़ गयी। अब वो कमी पूरी की जा सकती है, और ये आशा की जा सकती है, कि ये इस पद को लंबे काल तक विभूषित करेंगे।--प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १५:१३, ८ जून २०१० (UTC)

रोहित को प्रबंधक बनाया गया है --Hemanshu ०३:४९, १३ जून २०१० (UTC)

मयुर कुमार[संपादित करें]

प्रस्तावकर्त्ता:--युकेश १२:५६, ५ जून २०१० (UTC)

मैं आपको प्रबन्धक बनाने का प्रस्ताव करता हूँ, क्योंकि -

  • योगदान यहाँ देखेँ
  • विकिपीडिया पर छोटे समय में ही उल्लेख्य योगदन
  • विकिपीडिया के लेखौं के गुणवत्ता वृद्धि में उल्लेख्य योगदान
  • विकिपरियोजना आदि विकि-संस्कृति का ज्ञान
  • सम्भाव्य प्रबन्धकीय भूमिका :विकिपरियोजनाऔं का पुनरुत्थान, हाल में हुए परिवर्तन का निगरानी और सम्भवतः भाषा शुद्धिकरण
सदस्य सहमति

--- यदि किसी अन्य सदस्य ने आपको नामित किया है तो आप अपना नामांकन प्रस्ताव स्वीकार/अस्वीकार करते हुए अपना मत लिखें। क्या आप प्रबंधक का काम करने के इच्छुक हैं?

हाँ जी, प्रबंधक के समस्त कार्य करने में मेरी पूर्ण रुप से रुचि है और मैं यह प्रस्ताव स्वीकार करता हूँ क्योंकि-
  • विकिपीडिया पर अभी तक के मेरे योगदान यहाँ देखें, मैं विकिपीडिया को उच्च कोटि के लेखों से परिपूर्ण करना चाहता हूँ। मैनें यहाँ पर अभी तक महाभारत, कुरुक्षेत्र युद्ध, सरस्वती नदी, चारों वेदों, महाभारत के १८ उपपर्व, महाभारत की २२ भागों में संक्षिप्त कथा, २५ पुराण एवं कई पौराणिक पात्रों पर लेख पर बनाये है इनमें से महाभारत वर्तमान निर्वाचित लेख है इसके अलावा मैनें हिन्दू धर्म एवं भारतीय इतिहास से संबंधित कई लेख बनाये है जिनका विवरण आप हिन्दू धर्म परियोजना के उपपरियोजना विभाग में देख सकते है
  • मैं एक इंजिनियर हूँ तथा तकनीकी रुप से सक्षम हूँ। मैनें यहाँ कई साँचे एवं हिन्दू धर्म परियोजना के मुख्य पृष्ठ बनाये हैं, विकि पर समय समय पर तकनीकी सहायता (जैसे साँचे, प्रवेशद्वार आदि) की आवश्यकता पड़ती रहती हैं। किसी साधारण लेख में यदि सांचा जुड़ जाये तो उसकी शोभा निराली हो सकती है और सांचा बनाने का तकनीकी कार्य को मैनें बहुत शीघ्रता से सीखा और क्रियान्वित भी किया हैं। अतः इसके लिए मेरा हर प्रकार से सहयोग रहेगा। इसके साथ ही निकट भविष्य में बाट संबंधित कार्य भी करुँगा जिससे सदस्यों का मूल्यवान समय स्वागत एवं वार्ता के पृष्ठ बनाने में व्यय न हो।
  • मुझे अंग्रेजी विकिपीडिया के बर्बरता एवं विध्वंसकारी गतिविधियों को रोकने के टुल्स तथा तकनीक का भी पूरा ज्ञान है जिससे असानी से किसी छदम एकाऊन्ट बनाने वाले सदस्यों का पता लगाया जा सकता है तथा बर्बरता करने वाले सदस्यों पर किस तरह से नियन्त्रण करे, इस विधि का भी मुझे पूरा ज्ञान है। अतः मैं इस संदर्भ में भी पूर्ण रुप से सहयोग दे पाऊगाँ।
  • मीडियाविकि में नए-नए फीचर आ रहे हैं और हिन्दी विकि को भी उन्हें अपना लेना चाहिए। इसके लिए कुछ लोगों ने कोशिश की पर जानकारी अधूरी होने के कारण हो न सका। ये भाषा, टूल्स, सेटिंग्स इत्यादि से संबंधित हो सकते हैं इस संदर्भ में भी अपनी अच्छी तकनीकी क्षमता के कारण मैं उल्लेखनिय सहयोग कर पाऊँगा।
  • विकिपीडिया की समस्त विकिपरियोजनाओं का पुनरुत्थान करने का प्रयास भी करुँगा, मैनें यहाँ अभी तक हिन्दू धर्म परियोजना के अन्तर्गत कई लेख बनाये है जिसमें २३ पुराण , ४ वेद, महाभारत के पात्र, उपपर्व एवं मुख्य लेख शामिल है।
  • इसके साथ मुझे आशा है कि विकि के हर सदस्य एवं प्रबंधकों से मिले अथवा मिलने वाले अनुभव को सदा विकि की प्रगति में लगा पाऊँगा जिससे हिन्दी विकिपीडिया एक उच्च स्तरीय एवं सम्पूर्ण ज्ञानकोश बन पाये। अतः इन सभी कार्यों के लिए आप सबके समर्थन व सहयोग का सविनय निवेदन है।
    • अंत में यह कहूँगा कि यदि मेरे द्वारा यह प्रस्ताव स्वीकार करना किसी भी सदस्य या प्रबंधक को अनुचित लगा हो तो मैं समस्त विकि परिवार से क्षमा चाहूँगा
समर्थन

विरोध

संवाद
  • जी हाँ, मैं प्रबंधन के समस्त कार्य करने का अभिलाषी हूँ, कारण मैनें ऊपर बता दिये है। मेरा नामांकन करने और मुझे समर्थन देने के लिए अग्रिम धन्यवाद।--मयुर कुमारवार्ता ०६:३९, ७ जून २०१० (UTC)
  • मयूर जी ने हिन्दी विकीपीडिया को अतुलनीय योगदान दिये हैं। ये योगदान स्तरीय, सार-गर्भित और भरपूर संदर्भ सहित हैं। हालांकि अभी तक इनके अधिकतर योगदान एकदिश ही रहे हैं। किन्तु अब इनकी दृष्टि अन्तर्दहन इंजन नामक गहन तकनीकी विषय पर पड़ी है, जो इनके अभियांत्रिकी विधा (यांत्रिकी) से ही है। देखते हैं, कि यहां पड़ी दृष्टि क्या रंग लाती है। अब तक के योगदान सही का चिह्न लगाने को जोर देते हैं, वहीं छोटा अनुभव कुछ और प्रतीक्षा का समर्थन करता है। शायद इस विषय पर कुछ शिकायत रोहित जी को पहले हो चुकी है, मुझे भी आरंभ के दिनों में कुछ ऐसा ही लगता था। किन्तु प्रतीक्षा का फल अत्यंत मीठा था। बहुत कुछ धैर्य के साथ सीखने को मिला, जो शायद वैसे न मिलता। परन्तु सक्रिय सदस्यों व प्रबंधकों का अभाव इस प्रतीक्षा को वहन नहीं कर पायेगा। अतएव समर्थन ही दूंगा।--प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  १५:०५, ८ जून २०१० (UTC)
  • मयुर जि ने हिन्दू ध‍रम व इतिहास परीरोजना में अतुलनीय योगदान दिये हैं। अत समर्थ्न--सुलोचना  वार्ता  १८:५६, ९ जून २०१० (UTC)

मयूर को प्रबंधक बनाया गया है --Hemanshu ०३:५४, १३ जून २०१० (UTC)

सोमेश त्रिपाठी[संपादित करें]

मैं स्वयं को हिन्दी विकिपीडिया के प्रबन्धक पद हेतु नामांकित करना चाहता हूँ। मैं यह बात यहाँ उजागर कर देना चाहता हूँ कि मैं विकिपीडिया से सन् २००४ से जुड़ा हुआ हूँ और उसमें निरन्तर अपना योगदान भी देता चला आया हूँ अलबत्ता कोई अकाउंट खोले बिना। हिन्दी विकिपीडिया का भान मुझे केवल २००९ में हुआ कि विकिपीडिया की हिन्दी की भी साइट है। मैंने enwiki में एक छद्म नाम User:mastmastkalandar (ऐसे नाम के लिए काफ़ी सोचना पड़ा था) से खाता खोला । तब भी मैंने हिन्दी विकि में कोई अकाउंट खोले बग़ैर निरन्तर योगदान दिया है। नॅट का अधिक ज्ञान न होने के कारण मुझे शक था कि यदि मैं किसी नाम से लॉग-इन करूंगा तो पहचाना जाऊंगा :)। फिर जब मुझे net तथा अन्य विषयों का बोध हुआ तो फ़रवरी २०१२ में मैंने खाता बनाया। आगे प्रबंधकों की इच्छा। धन्यवाद।--सोमेश त्रिपाठी वार्ता 16:38, 25 जुलाई 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

विरोध[संपादित करें]

  • आप केवल उन ही लेखों के सन्दर्भ में बताएं जो अपने खाते द्वारा किये हों। "मैं देश की रक्षा का एक तुच्छ सेवक हूँ" और इसलिए इन्टरनेट के प्रति नकारात्मक सोच रखना एक दाख्यानूसी बात लगती है। Hindustanilanguage (वार्ता) 09:45, 28 जुलाई 2012 (UTC).
  • सोमेश जी आप विकिपीडिया में अच्छा काम कर रहे हैं, करते रहें, जैसा आपने बताया अनुभव भी सन् २००४ साल से हैं, परंतु अभी आपके रिकॉर्ड मे उतना योगदान नहीं है, वर्तमान में बहुत प्रबन्धक हैं, काम भी उतना नहीं है अतः भविष्य में समर्थन करुंगा। अभी काम करते रहिए एक दिन अवश्य आप प्रबन्धक बनेंगे।भवानी गौतम (वार्ता) 14:09, 28 जुलाई 2012 (UTC)
इन उत्साहवर्धक प्रवचन के लिए धन्यवाद भवानी जी, आगे और भी परिष्कृत रूप में अपने को प्रस्तुत करूँगा।--सोमेश त्रिपाठी वार्ता 17:45, 31 जुलाई 2012 (UTC)

चर्चा[संपादित करें]

सोमेश जी, आपका वर्तमान कार्य भी बहुत अच्छा और सभी के लिये उत्साहवर्धक है। मेरा निवेदन है कि आप अब से शुरू करके लेखों का एक शतक बनाएँ और उसके बाद प्रबन्धक पद के लिये पुनः आवेदन करें। मेरा मत आपके लिये पहले से पक्का मान सकते हैं। -- अनुनाद सिंहवार्ता 07:45, 29 जुलाई 2012 (UTC)

प्रोत्साहन के लिए धन्यवाद अनुनाद जी, अब मैं और लगन से विकिपीडिया में योगदान दूँगा।--सोमेश त्रिपाठी वार्ता 17:40, 31 जुलाई 2012 (UTC)
यही एक सच्चे योगदानकर्ता की पहचान है । Hindustanilanguage (वार्ता) 05:17, 1 अगस्त 2012 (UTC).

आनन्द विवेक सतपथी[संपादित करें]

मैं स्वयं को हिन्दी विकिपीडिया के प्रबन्धक पद हेतु नामांकित करता हूँ। मैने काफि समय से हिन्दी विकिपीडिया पर सम्पादन किया है। साथ ही मैं जावास्क्रिप्ट,कड़ियो आदि के उपयोग करना भी जानता हूँ। कई लेखो मै सुधार व अनुवाद किए है। साथ ही मै काफि समय से हिन्दी विकिपीडिया पर एक सक्रिय सदस्य हूँ। क्योकि बहुत से पृष्ठ पर अंग्रेजी भाषा का उपयोग हुआ है परन्तु सुरक्षित होने कारण सम्पादन नही कर सकते। बहुत से लेखो मै लाल कड़ी दिखाई देती है परन्तु उसका अब तक सुधार नही हो पाया। उपरोक्त सभी कारणो से मैं प्रबन्धन अधिकार चाहता हूँ। मेरा योगदान विशेष:Contributions/AnandVivekSatpathi जिसमे मैने अधिक से अधिक लेखो मे सुधार करने का प्रयत्न किया है। फिर भी यदि कोई कमी लगती है, तो मेरे वार्ता पृष्ठ या ई-मेल द्वारा बता सकते है। उस कमी को दुर करने का मै पुर्ण प्रयत्न करुगा। धन्यवाद आनन्द विवेक सतपथी सन्देश 08:54, 3 मई 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

विरोध[संपादित करें]

  • आनंद जी, आपको विकिपीडिया पर रजिस्टर हुए १ वर्ष पूर्ण हो चूका है फिर भी आपने संपादन केवल 364 ही है. यह दर्शाता है की आप बेहद लम्बे समय तक कार्यरत नहीं थे. हिन्दी विकिपीडिया पर आपको आए एक माह भी नहीं हुआ है. आपके अधिकांश संपादन गूगल अनुवाद या अन्य सॉफ्टवेयर से सीधा अनुवाद करके पेस्ट किए हुए प्रतीत होते है व आपके द्वारा बनाए गए लेख भी बेहद छोटी भूमिका वाले है. मेरे अनुसार आपको अभी और संपादन, रोलबैक व पुनरीक्षक के अनुभव की आवश्यकता है. आप कुछ माह तक ऑनलाइन रह कर अपना अनुभव बढ़ा सकते है. कृपया प्रबंधन अधिकार हेतू निवेदन के लिए दी गई आवश्यकताओं को ध्यान से पढ़े और जब आप उनमें उत्तीर्ण होते है तब आप पुनः अपने अनुभव के साथ निवेदन कर सकते है. आशूबातकरें 09:32, 5 मई 2012 (UTC)
  • यद्यपि आनंद जी बहुत ही अच्छा काम कर रहे हैं और इनका कार्य सराहनीय है, परंतु मेरे विचार में इन्हें अभी कुछ और तजुर्बे की आवश्यकता है प्रबंधक बनने के लिये। मैं इनसे अनुरोध करूँगा कि ये अपना कार्य इसी लगन से जारी रखें, विकिपीडिया की नीतियों और प्रक्रियाओं की अपनी जानकारी में विस्तार करें, और कुछ महीनों पश्चात पुनः अनुरोध करें। आशा है कि आनंद जी टिप्पणियों को अपने साथ लेकर आगे बढ़ेंगे और इन बातों का बुरा नहीं मानेंगे।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 18:29, 6 मई 2012 (UTC)
  • अनन्द जी आप विकिपीडिया में अच्छा काम कर रहे हैं, करते रहें, अभी आपके रिकॉर्ड मे उतना योगदान नहीं है, वर्तमान में बहुत प्रबन्धक हैं, काम भी उतना नहीं है अतः भविष्य में समर्थन करुंगा। अभी काम करते रहिए एक दिन अवश्य आप प्रबन्धक बनेंगे।भवानी गौतम (वार्ता) 14:12, 28 जुलाई 2012 (UTC)
  • आनन्दजी फिलहाल के लिए मेरा मत आपको प्रबन्धक बनाए जाने के पक्ष में नहीं है। आप हिन्दी विकि पर एक वर्ष से भी अधिक समय से सक्रिय हैं लेकिन फिर भी आपके सम्पादनों की संख्या प्रबन्धक बनाए जाने के उपयुक्त नहीं है। दूसरी बात यह कि मैंने आपके द्वारा निर्मित लेख देखे और उन लेखों को देखकर कहा जा सकता है कि आपको अभी प्रबन्धक पद प्राप्त करने के लिए हिन्दी विकि को बहुत योगदान देना पड़ेगा क्योंकि आपके अधिकतर लेख ३-४ पंक्तियों से अधिक के नहीं हैं। हाँ माना कि हर लेख को बहुत अधिक नहीं लिखा जा सकता लेकिन वह उस स्थिति में जब किसी सदस्य ने बहुत ही अधिक लेख बनाए हों। जब मैंने अपने आप को प्रबन्धक पद मतदान हेतु नामित किया था उस समय तक मेरे बहुत से लेख प्रतिदिन निर्वाचित होने वाले लेख बन चुके थे। इसके अतिरिक्त मेरा एक लेख मासिक निर्वाचित लेख भी बन चुका था। उसके बाद भी प्रबन्धक पद मिलने में कुछ समय लग गया था। और आपके लेखों में तो इतनी सामग्री ही नहीं है कि आप इतना पहले अपने आपको प्रबन्धक पद मतदान के लिए नामित करें। इसलिए अभी आपको अपने लेखों की गुणवत्ता सुधारनी पड़ेगी और कुछ लेखों को कम से कम इस योग्य बनना होगा कि उन्हें दैनिक या मासिक निर्वाचित लेख बनाया जा सके। आशा है कि आप बुरा नहीं मानेगें क्योंकि प्रबन्धक पद एक बहुत ही दायित्व वाला पद है और प्रबन्धक बनने वाले व्यक्ति के पास हिन्दी विकि पर योगदान दे रहे अधिकतर सदस्यों से अधिक अनुभव होना आवश्यक है। रोहित रावत (वार्ता) 14:41, 28 जुलाई 2012 (UTC)

तटस्थ[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

वार्ता[संपादित करें]

आप दोनो के सुझाव के लिए धन्यवाद। में आप से सहमत हूँ अत: कुछ माह तक ऑनलाइन रह कर अपना अनुभव बढ़ा कर कुछ महीनों पश्चात पुनः अनुरोध करुंगा एव हो सके तो स्वतः परीक्षित सदस्य का अनुभव भी प्राप्त कर के अपने अनुभव को और अधिक बढ़ाना चाहता हूँ। आनन्द विवेक सतपथी सन्देश 02:51, 31 मई 2012 (UTC)

Bill william compton‎‎[संपादित करें]

मैं बिल विलियम काम्पटन को हिन्दी विकि के प्रबन्धक पद हेतु नामांकित करता हूँ क्योंकि बिल काफि समय से अंग्रेजी और हिन्दी विकि पर सम्पादन कर रहे है इन्हें समस्त विकि नीतियों का ज्ञान भी है हिन्दी विकि पर सक्रिय प्रबन्धकों के अभाव में इन्हें प्रबन्धन अधिकार देना सही रहेगा। इनकी हिन्दी भी अब काफि सुधर चुकी है और इनके बनाये गये लेख उत्तम गुणवत्ता के होते और संदर्भयुक्त होते है। संक्षेप में बिल एक अच्छे संपादक, नीतिज्ञ एवं विकिपीडियन है अत: मेरी राय में यह इस पद के लिये उचित व्यक्तित्व है। अगर आपको यह प्रस्ताव मंजुर है तो कृपया अपनी अनुमति देवें। शुभकामनाएँ--Mayur (talk•Email) 10:53, 26 जनवरी 2012 (UTC)

  • इस नामांकन के लिए धन्यवाद मयूर जी, प्रबन्धक पद जिम्मेदारी का पद है और अगर हिन्दी विकिपीडिया समाज को लगता है कि मै इसके लायक हूँ तो मुझे यह प्रस्ताव मंजुर है। <><  Bill william comptonTalk 07:50, 27 जनवरी 2012 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. समर्थन, As a nominator--Mayur (talk•Email) 18:05, 27 जनवरी 2012 (UTC)
  2. समर्थन: मयूर जी ने बिलकुल सही कहा है।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 18:11, 26 जनवरी 2012 (UTC)
  3. Full Support: Not counting the objection raised by some newbies, I think this step is long due. I'd also like to make use of this occasion to raise concerns about personal attacks being allowed on hi.wiki unabatedly, having been at the receiving end myself many number of times. I think some action is called for here, to send out a message that we value the services of our senior editors and also that mudslinging will not be tolerated on hi.wiki. Regards, लवी सिंघल (वार्ता) 05:08, 27 जनवरी 2012 (UTC)
  4. समर्थन - मेरा भी बिल विलियमजी को प्रबन्धक बनाए जाने के पक्ष में समर्थन हैं। मैंने इनके द्वारा बनाए गए लेखों की गुणवत्ता देखी है और जो मुझे सही लगी। इनके द्वारा निर्मित लेखों को पढ़ने के पश्चात यह भी स्पष्ट हो जाता है कि इनकी हिन्दी अधिकांश भारतीयों से अच्छी है और बिल विलियमजी जैसे सदस्यों की हिन्दी विकि को बहुत आवश्यकता है। रोहित रावत (वार्ता) 14:19, 28 जुलाई 2012 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  1. कठोर विरोध बिल जी पहले कैसे राय देते हैं सिखलें, बात करने का विकिपीडिया:चौपाल#ओड़िया अथवा ओड़िआ ? तरीका सिखलें । हिन्दी में सुधार लाना और समस्त विकि नीतियों का ज्ञान होना काफी नहीं है। नीतियों का उपयोग करें । प्रबन्धन तो दूर की बात वो बाकी अधिकार के लिए भी योग्य नहीं है । अनुभवी सदस्यों के ऐसे ब्यबहार के कारण नयी सदस्य हिन्दी विकिपीडिया छोड़ रहे हैं । कृपया ध्यान दें । अंशुमान (वार्ता) 18:52, 26 जनवरी 2012 (UTC)

तटस्थ[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

 Blinking Stop hand.gif इस आवेदन को १ माह से अधिक समय हो चुका है क्योंकि हिन्दी विकि पर सक्रिय प्रबन्धको की अत्यंत कमी है एवं हिन्दी विकि के ३ वरिष्ठ सदस्य बिल को प्रबन्धक दायित्त्व सौंपने के पक्ष में है अत: मैं समस्त सदस्यों से आग्रह करुगाँ कि वह अपना मत यहां यथा शीघ्र देवें। यदि हिन्दी विकि के किसी स्थापित सदस्य को इस आवेदन के सफल घोषित किये जाने पर कोई आपत्ति है तो कृपया अपनी राय यहाँ प्रकट करे। मैं अब से २ सप्ताह पश्चात इस आवेदन को सफल/असफल घोषित कर दूँगा।--Mayur (talk•Email) 19:52, 3 मार्च 2012 (UTC)

मेटा पर हुए अधिकार परिवर्तनों के पश्चात यह नामांकन सफल हो चुका है।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 08:29, 5 मई 2012 (UTC)

वार्ता[संपादित करें]

अंशुमान जी, सर्वप्रथम मैं आपको विकिपीडिया की मतैक्य नीति के बारे में ज्ञात कराना चहाता हूँ: अगर किसी विषय मै दो या उस से अधिक सदस्य अपनी राय प्रकट करते है, परन्तु कोई परिणाम निकल के नहीं आता है तो कोई भी तटस्थ सदस्य, जिसने उस विषय से सम्बन्धित वार्ता में भाग न लिया हो, मतैक्य का रुझान/निर्णय बता सकता है; और इसका मतलब यह नहीं है कि वह अन्तिम निर्णय होता है, उसपे और विचार-विमर्श किया जा सकता है। मेने चौपाल पे अपनी कोई व्यक्तिगत राय दी ही नहीं। मेने तो मतैक्य बताया है। आप उड़िया विकी पे प्रबन्धक है, तो आपको इस बात का तो ज्ञान अवश्य होना चाहिए कि विकिपीडिया पे लेख का नाम रखते वक्त आधिकारिक नाम से ज्यादा भाषा विशेष में उस विषय के नाम के प्रयोग (प्रचलित) को प्राथमिकता दी जाती है। आप English विकिपीडिया पे Oriya language लेख का नाम बदलवाने का प्रस्ताव रखें आपको इस नीति का जीता-जागता उदाहरण मिल जाएगा, धन्यवाद। <><  Bill william comptonTalk 08:26, 27 जनवरी 2012 (UTC)

ज्ञान है मुझे । English विकिपीडिया और हिन्दी विकिपीडिया में बहत फरक है । हम हर बिषय के लिए English विकिपीडिया का अनुसरण नहीं कर सकते । जब हम भारत वासी हमारी ही भाषा का सही नाम लिखने केलिए तेयार नहीं है । पूरा विश्व कैसे मानेगा ?? मैं इस बिषय पर और कुछ केहना नहीं चाहूँगा । आप लोगों को जो सही लगे वो कीजिये ।

और मेरा अनुरोध है बिल जी से प्रबन्धक बनने से पहले सही ढंग से बात करना सिखलें । पहली बार कोई यहां आके अगर वो आपका सामना करेगा तो बापिस कभी नहीं आएगा । योगदान करना तो दूरकी बात ।

सौरभ जी, हेमंत जी और अनुनाद जी को बहत धन्यबाद । आप सब बहत कोशिश और सहयोग किए, समर्थन भी दिये । में उम्मीद करता हूँ की जल्द ही सही शब्द्द लिखा जाएगा । धन्यबाद :) अंशुमान (वार्ता) 13:18, 27 जनवरी 2012 (UTC)

सौरभ भारती (११/१/३)[संपादित करें]

हिन्दी विकि पर मुझे बस १ महीना हुआ है, पर विकि से मेरी जान-पहचान पुरानी है। मैं अपनी कम्पनी में तीन विकियों (हालाँकि यह teamwiki पर आधारित है, mediawiki पर नहीं) का owner हूँ, अर्थात प्रबंधक के सारे कार्य मैंने ही सँभाल रखे हैं। मेरा तकनीकी ज्ञान अच्छा है और यही मेरे प्रबंधन के आग्रह का मुख्य कारण है। हिन्दी में मेरी जानकारी स्कूली-स्तर तक ही है, और मैं मुख्य रूप से जानकार प्रबंधकों के सहायक के रूप में कार्य करना चाहता हूँ।

मेरे समर्थन और कार्यशैली के कुछ बिन्दु इस प्रकार हैं -

  1. बॉट प्रबंधन - बॉट के उपयोग से विकि के लेखों की त्रुटियों को व्यवस्थित रूप में ठीक किया जा सकता है, लेखों में जानकारियाँ भरी जा सकती हैं, और कई ऐसे कार्य जिस पर प्रबंधकगण और सदस्यगण अपना महत्वपूर्ण समय व्यर्थ करें उसे बचाया जा सकता है। मेरी जहाँ तक कोशिश है विकि के हर छोटे-बड़े कार्य के लिए बॉट-सहायता उपलब्ध करना चाहूँगा अगर वह उपयोगी है तो। इसके लिए प्रबंधन-पद की आवश्यकता नहीं।
  2. विकि के सेटिंग्स - यह कार्य छोटा है पर आवश्यक है। मीडियाविकि में नए-नए फीचर आ रहे हैं और हिन्दी विकि को भी उन्हें अपना लेना चाहिए। इसके लिए कुछ लोगों ने कोशिश की पर जानकारी अधूरी होने के कारण हो न सका। ये भाषा, टूल्स, सेटिंग्स इत्यादि से संबंधित हो सकते हैं।
  3. तकनीकी सहायता - विकि पर छोटी-छोटी तकनीकी सहायता की आवश्यकता पड़ती रहती है। इसके लिए मेरा हर तरह से सहयोग रहेगा।
  4. अन्य भारतीय भाषाओं के साथ सहयोग - मैं अन्य भारतीय भाषाओं के साथ सहयोग के लिए उत्सुक हूँ। मेरे विचार से हिन्दी विकि को इसमे पहल लेनी चाहिए।

मेरे कुछ विचार व्यक्तिगत रूचियाँ पर भी हैं। कृपया इन पर भी ध्यान दें। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०९:४२, १६ सितंबर २००९ (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

विरोध[संपादित करें]

सौरभ भाई के आने से हिन्दी विकिपिडिया में लेखों की संख्या ५० हजार पहुँच गयी है। इससे हम सभी को खुशी है। किन्तु उनका यह कार्य मेहनत के हिसाब से बहुत छोटा है। उन्होने जो कुछ किया है वह स्वचालित तरीके से हुआ है, इसमें उनका योगदान बहुत कम है। उनके कम योगदान को देखते हुए मुझे लगता है कि उन्हें प्रबन्धक बनने के लिये अभी और मेहनत करनी चाहिये। अनुनाद सिंह १३:०७, १७ सितंबर २००९ (UTC)

संवाद[संपादित करें]

वैसे तो १० समर्थनों के बाद अनुनाद जी के विरोध का कोई औचित्य नहीं है परन्तु वे एक वरिष्ठ विकिपीडियन हैं इसलिए उनके विरोध के महत्त्व को समझते हुए कुछ कहना ही चाहिए इसलिए कह रही हूँ। जो भी काम हुआ वह स्वचालित तरीके से हुआ पर उस स्वचालित तरीको को विकसित करने वाले सौरभ ही हैं। पहले भी हिन्दी विकि पर लगभग २० हजार सदस्य हैं परन्तु यह पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने स्वचालित तरीके से काम करने की कोशिस की एवं सफलता पूर्वक किया। उनके योगदान कम कहाँ हैं उनके योगदान तो उस व्यक्ति से कहीं ज्यादा हैं जिनका नीचे आपने समर्थन दिया है।--Munita Prasadवार्ता १८:१६, १७ सितंबर २००९ (UTC)

मेरे विचार में प्राविधिक पक्ष के निमित्त उन्हे प्रबन्धक बना सकते है। वेह बॉट और मोनोबुक में काम कर सकते है। --युकेश १२:३८, २३ सितंबर २००९ (UTC)
सौरभ को प्रबंधक बना सकते हैं। लेकिन अनुनाद का विरोध भी सही हैं। इसलिए सौरभ को प्रबंधक बनाने के लिए कुछ दिन (मेरे विचार से १६ अक्तूबर तक, नामांकन से १ महिने तक का समय) इंतजार किया जाए। उम्मीद है, तब-तक अनुनाद सौरभ के योगदान से प्रभावित हो नामांकन का समर्थन करेगे। बाकी लोगो के क्या विचार हैं? --मितुल १६:२६, २७ सितंबर २००९ (UTC)

रोहित रावत (२/४/०)[संपादित करें]

मैं रोहित रावत हिन्दी विकिपीडिया का एक अति सक्रिय सदस्य हूँ। अब मुझे हिन्दी विकि पर काम करते हुए ६ मास से कुछ अधिक समय ही हुआ है और महीनों में मैंने अपनी ओर से हिन्दी विकि को अधिक से अधिक ज्ञानवर्धक बनाने के लिए पूरा प्रयास किया है और प्रथम ३ महीनों के अल्पसमय में ही मेरे सम्पादनों की संख्या १८,००० को पार हई है जो संभवतः हिन्दी विकि पर ३-४ स्थान पर है।

  • दूसरी बात ये की हिन्दी विकिपीडिया पर प्रबंधकों की (विशेषकर उनकी जो बहुत सक्रिय हैं) बहुत कमी है, जिस कारण हिन्दी विकि पर लेखों का स्तर उतना ठीक नहीं कहा जा सकता जितना की होना चाहिए, हिन्दी मुखपृष्ठ पर कई ऐसे अनुभाग हैं जो प्रतिदिन बदलते रहने चाहिए, जैसे समाचार जो महीने में एक बार बदला जाता है।
  • तीसरी बात, मैंने देखा ही बहुत से सदस्य अन्य भाषाओं से सीधे-२ कॉपी-पेस्ट कर देते है, कोई किसी नाम का भी पृष्ठ बना लेता है, कोई अपशब्द लिख देता है, बहुत से लेखों और साँचों के नाम गलत होते है, इसलिए इन प्रकार की घटनाओं पर रोकथाम लगाने के लिए किसी वर्तमान प्रबंधक को कष्ट देने के बजाए यदि मैं स्वयं प्रबंधक हूँगा दो ऐसी किसी घटना पर देखते ही तुरंत रोक लगा सकूँगा।
  • चौथी और महत्वपूर्ण बात ये की पिछले दिनो मैंने चौपाल पर पढ़ा की हिन्दी विकि के कुछ अति सक्रिय प्रबंधक विवादो के कारण या तो अब हिन्दी विकि पर योगदान के इच्छुक नहीं हैं या वे कभी बाद में आएंगे।

विकिपीडिया पर मेरा योगदान निम्नलिखित सूची मेरे द्वारा बनाए गए लेखों की है। इस सूची में सारे लेख नहीं हैं लेकिन जितने मुझे याद थे मैंने लिख दिए हैं:

इसके अतिरिक्त अन्य कई लेख हैं मैंने जिनमें विस्तार किए हैं। इसके अतिरिक्त मैंने पिछले कुछ सप्ताह में जो सदस्य और लेख वार्ता पृष्ठ लगाए हैं उनसे हिन्दी विकि की गहराई ९ से १३ तक पहुँची है। इसके अतिरिक्त हिन्दी विकि पर मेरा योगदान उत्पातियों की शिकायत प्रबंधकों को दर्ज कराने, लेखों को पूर्ण करने, नए सदस्यों की जिज्ञासाओं को शांत करने आदि का है।सभी सदस्यों का समर्थन वांछित है। धन्यवाद। रोहित रावत १६:०९, १३ जून २००९ (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  • समर्थन --मितुल ०४:५७, १७ सितंबर २००९ (UTC)
  • समर्थन -- अनुनाद सिंह १३:१७, १७ सितंबर २००९ (UTC)
  • समर्थन- मेरे विचार से जो लोग रोहित के संपादन की संख्या तक नहीं पढ़ सकते हैं, उन्हें क्या धिकार है कि वे मत दें। १७००० से अधिक को १९८ बताने पर भी मत देते हैं। क्या उनका स्वयं का योगदान इतनी मात्रा में है? ये सभी मतदाताओं को भली प्रकार से पता होना ही चाहिये, कि किसी का योगदान कितना है, तभी अपना मत दें। यों किसी का उत्साह न गिरायें। दूसरी बात बस भाषा का रोना रोने भर से क्या होता है? कभी १००० लेख ही जरा सुधार कर सूची बनायें तब किसी दूसरे का इतना विरोध करें। मात्र भाषा का रोना रो देने भर से काम नहीं चलता है। यही रोना इन कुछ लोगों ने पहले भी रोया था। जबकि मुनिता और पूर्णिमा जी के १ माह की छुट्टी पर चले जाने पर इन लोगों में से कोई भी उठकर आलेख को चलाने नहीं आया। क्षमता होगी तब आयेंगे न। क्षमता मात्र निंदा करने भार की नहीं होनी चाहिए, हौसला और हिम्मत बढ़ायें, व स्वयं कुछ कर दिखायें। इनकी भाषा यदि कुछ स्तर से नीचे भी होगी, तब भी जानकारी परक लेख तो बनेंगे न। जो भाषा का रोना रोते हैं, वे आकर उन लेखों की भाषा सुधारें।--आशीष भटनागर  वार्ता  १४:०२, २९ सितंबर २००९ (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  • विरोध --Munita Prasadवार्ता ०५:३०, १७ सितंबर २००९ (UTC)
  • विरोध --केवल 198 संपादनों के आधार पर एक अशुद्ध हिन्दी लिखने वाले सदस्य को प्रबंधक बनाना उचित नहीं है। वे समाचारों में मुखपृष्ठ पर अशुद्धता ही भरेंगे।--सुरुचि ०७:२४, १७ सितंबर २००९ (UTC)
  • विरोध -- प्रबंधक पद के लिए कम से कम वर्तनी और व्याकरण के सामान्य नियमों की जानकारी होना आवश्यक है। इसके अभाव में केवल उन्हीं सदस्यों को प्रबंधक बनाया जाना चाहिए जिन्होंने अपने तकनीकी ज्ञान से हिंदी विकि पर कोई सार्थक सहयोग दिया हो, साथ ही वे हिंदी की वर्तनी तथा व्याकरण से संबंधित सुधारों को मानने के लिए सौजन्यतापूर्ण भावना रखते हों। --मुक्ता पाठक ०८:२९, १७ सितंबर २००९ (UTC)
  • विरोध -- प्रबंधक पद के लिए हिन्दी भाषा की अच्छी जानकारी तो होनी ही चाहिए साथ ही भाषाई विनम्रता बहुत आवश्यक है। पिछले दिनों चौपाल पर लिखा हुआ जिन्होंने पढ़ा होगा उन्हें याद होगा कि किस प्रकार की उपहासात्मक भाषा का प्रयोग ये सदस्य महोदय करते रहे हैं। सदस्य के रूप में विकी पर कुछ दिन और कार्य करें।--आलोचक ११:४९, १७ सितंबर २००९ (UTC)
  • विरोध --Evian १६:५८, २९ सितंबर २००९ (UTC)

संवाद[संपादित करें]

  • यहाँ जिन सदस्य महाशय ने प्रबंधक बनने के लिए आवेदन रखा है उनके संपादनों की संख्या तो मेरे कम्प्यूटर पर भी कम ही दिख रहे हैं। ५०० से भी कम हैं।
  • हिन्दी विकिपीडिया पर अपना मत देने का अधिकार सभी को है, यहाँ पर ऐसा कोई बाधा नहीं है कि कम सम्पादन करने वाला सदस्य अपना मत नहीं दे सकता है।
  • सदस्यों में उत्साह भरने का एकमात्र विकल्प उनको प्रबंधक बना देना ही नहीं है।
  • आशीष भटनागर की ये टिप्पणी की भाषा का रोना न रोएँ का मैं कड़ा प्रतिवाद करती हूँ। श्रीमान प्रबंधक अपनी भाषा को संयत रखें। अधिक योगदान देने वाले को यह अधिकार नहीं मिला हुआ है कि वो सबका अपमान करता फिरे। हिन्दी विकिपीडिया पर हिन्दी के अनेक लेखक साहित्यकार एवं कवि इत्यादि भ्रमण करते रहते हैं। इनकी इस प्रवृत्ति को देखकर तो कोई भी यहाँ आना न चाहेगा।--Munita Prasadवार्ता १४:४०, २९ सितंबर २००९ (UTC)
मुनिता जी को भली प्रकार पता है, कि सदस्य रोहित वही पुराने रोहित रावत हैं। इनका पुराना सदस्य नाम सदस्य:Rohitrrrrr रहा है, एवं किसी कारणवश इनका पासवर्ड गुम हो गया था, जिसके कारण इन्हें नया पंजीकरण कराना पड़ा। ये सब जानते हुए भी यदि ये संपादन कम ही देख पा रही हैं, तो अफ़सोस के अलावा कुछ नहीं किया जा सकता है। इनकी पुराने नाम से संपादन संख्या ५६०७ है, एवं उसके बाद इन्होंने नये नाम सदस्य:रोहित रावत से संपादन आरंभ किया है। इस बात की जानकारी इनके नये सदस्य पृष्ठ पर उपलब्ध है। इनकी इस बारे में सूचना मैंने पहले भी गुंजन जी के साथ नये प्रस्ताव रूप में रखी थी, जिसे मुनिता जी ने अपनी गलती से हटा दिया था। और ये सब जानते हुए भी ये कह रही हैं तो क्या कह सकते हैं? एक प्रबंधक से ये अपेक्षा नहीं की जाती है, कि उन्हें मात्र कुछ माह पुराने सदस्य का नाम और योगदान भी याद न रहे, वही सदस्य जिसे इन्होंने १०००वां लेख से लेकर २००००वें लेख की सूचना दी थी। दूसरा ये कि यदि इन्हें भाषा का रोना न रोयें बुरा लगा है, तो करता फिरे भी सभ्य अंश नहीं है। ऐसे साहित्यकार जो मात्र भ्रमण करें, यहां कोई खास योगदान न करें, और बड़ती बेल के पत्ते नोचें, वे विकि का क्या भला कर सकते हैं, लिखना आवश्यक नहीं समझता हूं।इन्हें प्रबंधक बनाना या न बनाना, कोई मात्र उत्साहवर्धन ही नहीं होता, वरन किसी के अच्छे कार्य को देखते हुए, उसकी पदोन्नति करना होता है, इस आशा के साथ कि वे इसी प्रकार आगे भी कार्यरत रहेंगे।--आशीष भटनागर  वार्ता  १५:३२, २९ सितंबर २००९ (UTC)
आशीष भटनागर स्वयं अशिष्ट भाषा का प्रयोग करनेवाले प्रबंधक हैं। जो लोग यहाँ 6 माह से अधिक से हैं वे इस बात को अच्छी तरह जानते हैं। वे सही हिन्दी भी नहीं लिख सकते, उनका ऊपर लिखा गया वाक्यांश इसका उदाहरण है। शायद उनके तकनीकी ज्ञान के कारण उन्हें प्रबंधक बनाया गया है। लेकिन जिसे ठीक से हिन्दी लिखना नहीं आता और सही हिन्दी लिखने के प्रति आस्था भी नहीं, ऐसे लोगों को किसी भी हाल में प्रबंधक पद नहीं दिया जाना चाहिए। वे गलतियाँ और अशिष्टता दोनो को बढ़ावा देते हैं। रोहित के अशिष्ट और उपहासात्मक संवादों के कारण ही उनके इतने विरोध हुए हैं। प्रबंधक आशीष भटनागर की ओर से उनके लिए समर्थन समान रुचि के कारण है ताकि वे दोनो मिलकर मनमानी कर सकें और सही काम करने वालों के विरोध को दबा दें। रोहित के 20,000 संपादनों में से लगभग 19,000 वार्ता शीर्षक के ही होंगे। इस तरह के संपादनों का क्या मूल्य है? बाकी 1000 संपादनों में 500 अशुद्धियाँ होंगी। यह भी जानना चाहिए कि जो लोग अच्छा काम करते हैं उनके संपादन हमेशा कम ही होते हैं क्यों कि अच्छा काम करने में समय लगता है। ज़रूरी यह है कि जो लोग ठीक से हिन्दी लिखना नहीं जानते हैं वे इसे सीखें और जो लोग कम आते हैं लेकिन सही काम करते हैं उनसे मार्ग-दर्शन लें। रोहित तकनीक के जानकार भी नहीं हैं। अतः अपनी भाषा, संवाद और तकनीक सुधारते हुए वे सदस्य के रूप में काम करते रहें। --Evian १६:४४, २९ सितंबर २००९ (UTC)
शायद एवियन को रोहित के समर्थन में मितुल जी और अनुनाद के नाम नहीं दिखे हैं, या वे दोनों भी मनमानी करना ही चाहते हैं। और शायद इनके विचार से पूर्णिमा जी भी इतने अधिक संपादन संख्या के संग अच्छा काम नहीं करती होंगीं। इससे अधिक कुछ कहने की आवश्यकता नहीं समझता हूं, न ही किसी के विषय में तथ्य उजागर करने की यहां आवश्यकता है।आ.भ.

यहाँ किसी ने भी कभी भी मितुल जी या अनुनाद जी के विरूद्ध कुछ नहीं कहाँ। वे दोनों ही अत्यन्त सभ्य एवं अनुभवी विकिपीडियन हैं। पूर्णिमा जी के संपादन अधिक हैं क्योंकि उन्होंने बहुत काम किया है यहाँ। वे वर्षों अपने परिश्रम से हिन्दी विकि को इस मुकाम पर ले आई हैं। आज हिन्दी विकि जिस स्थान पर है उसमें उनका योगदान अतुलनीय है। विचारों का न मिलना अच्छी बात है इससे नए-नए विचार सामने आते हैं एवं समस्या का नया समाधान मिलता है। पर भिन्न विचार वाले सदस्यों से इस प्रकार झगड़ना अच्छी बात नहीं। आशीष भटनागर की यह आदत बन चूकी है कि वे सदस्यों से अपने विचार न मिलने पर उनका अपमान करने लगते हैं। यह घटना पहले भी कई बार हो चुकी है। यदि उनका यह रवैया रहा तो मैं स्वयं उनके विरूद्ध इन सभी घटनाओं के विरोध में का चौपाल, वरिष्ठ प्रबंधकों एवं अन्य सम्बन्धित जगहों पर शिकायत करूंगी।--Munita Prasadवार्ता ०३:०३, ३० सितंबर २००९ (UTC)

मैंने ऐसा कुछ गलत नहीं लिखा है। बस ये लिखा था, कि कुछ लोग जो रोहित के संपादनों को ५०० से भी कम आंक रहे थे, वे उन्हें सही प्रकार से देख लें, बस। उसके बाद कोई प्रबंधक बने या नहीं, कोई मत दे या नहीं, इस बारे में कुछ नहीं लिखा है। हां, कम संपादनों का आधार नहीं होना चाहिये, मात्र इतना ही लिखा है। इसमें यदि किसी का अपमान हुआ हो, तो भले ही क्षमा मांगूं, किंतु इसमें अपमान दिखता तो कहीं नहीं है। बाखी जिसको जहां शिकायत करनी हो, मुक्त हैं। इसके आगे कुछ नहीं कहूंगा।--आशीष भटनागर  वार्ता  १०:३८, १ अक्तूबर २००९ (UTC)

वरिष्ठ प्रबन्धक पद के लिये निवेदन की प्रक्रिया[संपादित करें]

राजीवमास[संपादित करें]

१४:४६, २२ जनवरी २००८ (UTC) (स्वनामांकन) 

(०६/०१/०१)
सर्वप्रथम मैं मानता हूं कि वरिष्ठ प्रबन्धक (bureaucrat) के आवेदन मे थोडा़ जल्दी कर रहा हूं । लेकिन मेरा निरन्तर योगदान हिन्दी विकि को और सरल व तार्किक बना सकता है। हिन्दी विकि पर कुछ असन्तुलन देखने में आ रहा है। भाषा पर पकड़ का सवाल हो या नए लेखकों को प्रोत्साहित करने का मामला हो, मैं निजी स्तर पर मानता हूं कि यहां विकि परिवार में वरिष्ठ प्रबन्धकों द्वारा थोडा़ विलम्ब होता है,जिससे नए और जिज्ञासु लेखकों में हताशा का भाव उत्पन्न होता है। इसकी वजह साफ है कि वर्तमान वरिष्ठ प्रबन्धकगण हिन्दी के अतिरिक्त दूसरी भाषाओं में भी सक्रिय (और सम्भवतः अधिक) योगदान देते हैं। मैं उनका अहसानमंद हूं,क्योंकि आज हिन्दी विकिपीडिया उन्ही के आशीर्वाद एवं प्रोत्साहन से आगे बढ़ रहा है। इस तथ्य को ध्यान मे रखते हुए मैं हिन्दी विकी पर वरिष्ठ प्रबन्धक पद (bureaucrat) के लिये आवेदन कर रहा हूँ । मैं समस्त हिन्दी लेखकों को विश्वास दिलाता हूँ कि हम ज्ञान,तकनीक और सक्रियता के बल पर हिन्दी विकि को विकिपीडिया की समस्त भाषाओं के बीच कम से कम दूसरे क्रमांक तक तो ले ही जाऐंगे, विश्व में जनसंख्या के आधार पर यह हमारा हक भी बनता है,और फर्ज भी। :-)--राजीव मास १४:४६, २२ जनवरी २००८ (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1. समर्थन --मितुल १८:३७, २२ जनवरी २००८ (UTC)
  2. समर्थन --विजय ठाकुर १९:२०, २२ जनवरी २००८ (UTC)
  3. समर्थन --पूर्णिमा वर्मन १९:३१, २४ जनवरी २००८ (UTC)
  4. समर्थन -- आपकी बात में दम है; मै भी वरिष्ट प्रबन्धक के पद के लिये आपके नाम का समर्थन करता हूँ। अनुनाद सिंह ०३:३७, २६ जनवरी २००८ (UTC)
  5. समर्थन --Dr. Jain ०८:४७, ५ मार्च २००८ (UTC)
  6. समर्थन--सुमित सिन्हावार्ता ०६:००, २२ मार्च २००८ (UTC)
    यह नामांकन अभी भी स्वीकृत क्यों नही हो रहा , ६ समर्थन तो हो गए ,मेरे ख्याल से अब राजीवजी को वरिष्ठ प्रबंधक का कार्य सौंप देना चाहिए।--सुमित सिन्हावार्ता ०९:१४, १ जून २००८ (UTC)
    में भीं । समस्या ये है मितुल जी पहले ही समर्थन कर दीये हैं और अभीं दूसरे वरिष्ठ प्रबन्धक निष्क्रिय हैं। Hemanshu पूछूँगा, पर अगर वे जवाब ना दें तो मैं सोचता हूँ कि मितुल कर सकते हैं - टैक्सवाला ०२:१७, २० अक्टूबर २००८ (UTC)
  7. समर्थन - टैक्सवाला ०२:१७, २० अक्टूबर २००८ (UTC)
  8. समर्थन--युकेश ०८:५७, ४ नवम्बर २००८ (UTC)
  9. पूर्ण समर्थन--आशीष भटनागरसंदेश ०६:३४, १६ नवम्बर २००८ (UTC)
  10. समर्थन राजा रामबात करो ०४:४३, २७ दिसम्बर २००८ (UTC)
  11. समर्थन --Munita Prasadवार्ता १७:४३, ३० जनवरी २००९ (UTC)
  12. समर्थन----डा० जगदीश व्योम १६:४३, १३ जून २००९ (UTC)
  • समर्थन ----आलोचक ११:५२, १७ सितंबर २००९ (UTC)

विरोध[संपादित करें]

श्री राजीव मास ने मेरे को गलत चेतावनी दी है -- Vkvora2001 १६:२६, ५ मार्च २००८ (UTC)

संवाद[संपादित करें]

विरोध का उत्तर सम्बन्धित लेखक के संवाद पृष्ठ पर दिया जा रहा है--राजीवमास १३:५८, १ फरवरी २००८ (UTC)

दिनेश स्मिता[संपादित करें]

(दिनेश जी ने पहले भी आवेदन किया था (मार्च में), जिसे सदस्यों का बहुमत भी प्राप्त हुआ। दुख की बात है कि अभी तक उसे फलीभूत नही़ किया जा सका। काफी पुराना होने की वजह से उस पर चर्चा का कोई लाभ प्रतीत नहीं होता। मेरा विचार है कि नये सिरे से मतदान करके शीघ्रता से परिणाम तक पहुंचाया जाए। दिनेश जी के योगदान के बारे में मेरा मत है कि वे पुराने, अनुभवी विकिपीडियन हैं जिन्होने निरंतरता से योगदान दिया है। उन्हें कभी वाद विवाद में उलझते नहीं देखा गया है। इन सब को देखते हुए तथा हिन्दी विकि पर प्रबंधक अधिकार युक्त सदस्यों की कमी को देखते हुए मैं दिनेश जी का नाम प्रबंधक पद हेतु पुनः नामांकित करता हूं। ) मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 12:26, 8 अक्टूबर 2013 (UTC)

  1.  Yes check.svg  मेरी इस प्रस्ताव को पूर्ण स्वीकृति है।Dinesh smita (वार्ता) 06:09, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1.  Yes check.svg  प्रस्तावक होने के नाते।
  2.  Yes check.svg  दिनेश जी का मैं समर्थन करता हूँ।☆★संजीव कुमार (✉✉) 06:55, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  3.  Yes check.svg समर्थन उनकी स्वीकृति व पात्रता को देखते हुए मेरा भी समर्थन। ऊपर साँचे के अन्दर जो यूजर नेम दिया था उसमें (S in place of s) त्रुटि थी मैंने उसे भी सुधार दिया है। डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 07:44, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
  4.  Yes check.svg  दिनेश जी प्रबंधन अधिकारों के सर्वथा उपयुक्त हैं। यह मैं पिछले ४ वर्षों के अनुभव के आधार पर कह रहा हूँ। वर्तमान समय के प्रबंधकों द्वारा सुझाई औ्र बनाई गई नीतियों की चर्चाओं में शामिल न होने को उनकी अनुपयुक्तता का पैमाना मानने से पहले उनके हिंदी विकिया पर बाह्य हस्तक्षेप से पहले की स्थिति और हिस्सेदारी पर भी जरूर विचार करना चाहिए। मैं उनके लेख निर्माण, संवाद हिस्सेदारी, विकि नीति संवर्धन आदि की दिशा में किए गए विकिया योगदानों के आधार पर उनकी सामर्थ्य और समझदारी में विश्वास व्यक्त करता हूँ। उनकी सामूहिक चर्चाओं में हिस्सेदारी और राय प्रकट करने में स्पष्टवादिता के एक उदाहरण के रूप में रोहीत जी के प्रशासक पद के निवेदन पर व्यक्त मत चिपका रहा हूँ- "मुझे नहीं लगता आप में अभी प्रशासक का पद संभालने लायक योग्यता है। आपकी सोच पर अभी भी व्यक्तिगत भावनायें हावी हैं और वो लचीली होने के बजाय दृढ़ है यानि दूसरे की बातों को समझने या उन पर अमल करने में आपको परेशानी होती है। आपकी हिन्दी का स्तर भी अभी उच्च नहीं है। मेरे विचार से आप किसी भी विषय के ज्ञाता नहीं हैं और आपसे अभी किसी भी संदर्भ में सहायता की अपेक्षा नहीं की जा सकती है। मेरे विचार से आपको अभी थोड़ा और इंतजार करना चाहिए। सहृदय बनने का प्रयत्न करें, व्यक्तिगत विचारों को तथ्य मानना बंद कर दें और अपनी सोच में थोड़ा लचीलापन लायें। मेरी किसी भी बात का यदि आपको बुरा लगा हो तो मैं क्षमाप्रार्थी हूँ।"
    वर्तमान समय में दिनेश जी की हिंदी विकिया के चर्चाओं में हिस्सेदारी और सक्रियता में आी कमी को अनुचित बाह्य हस्तक्षेप के बाद सामान्य तौर पर हिंदी विकिया के स्वास्थ्य में आए गिरावट के परिप्रेक्ष्य में समझते हुए उसे ठीक करने का वातावरण बनाने की चेष्टा करनी चाहिए। मुझे यकीन है कि दिनेश जी की प्रस्ताव स्वीकृती में अपनी निरंतर सक्रियता और दायित्व निभाने की स्वीकृति भी शामिल है।- अनिरुद्ध  वार्ता  00:59, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  5.  Yes check.svg समर्थन -- -- अनुनाद सिंहवार्ता 06:02, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  6.  Yes check.svg समर्थन। पहले भी मैंने दिनेश जी के नाम के प्रस्ताव का समर्थन किया था, पुनः करता हूँ। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 07:04, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  7.  Yes check.svg --डा० जगदीश व्योमवार्ता 16:43, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  8.  Yes check.svg --प्रतीक मालवीयवार्ता 11:52, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  • दिनेश जी, विकि के एक पुराने और सम्मानित सदस्य हैं। इसमें कोई दो राय नहीं की वे एक अच्छे लेखक हैं परन्तु विकि प्रबंधन के लिए केवल अच्छे लेख लिखना पर्याप्त नहीं। वर्तमान आवश्यकताओं के अनुसार "अतिसक्रिय सदस्यों" सदस्यों को प्रबंधक बनाया जाता है परन्तु दिनेश जी का पिछले एक महीने का योगदान इस समय के सक्रिय सदस्यों में सबसे कम हैं। प्रबंधक को विकि पर विकि नीतियों को कार्यान्वित करना होता है इसलिए स्वयं उसे इन नीतियों का विशेष ज्ञान होना चाहिए, परन्तु दिनेश जी के योगदान से मुझे नहीं लगता कि उन्हें नीतियों का पर्याप्त ज्ञान है, उदहारण के तौर पर उनके द्वारा अपलोड की गईं ज्यादातर फ़ाइलें कॉपीराइट उल्लंघन के तहत आती हैं। अगर प्रबंधक ही कॉपीराइट उल्लंघन करेगा तो विकि से कॉपीराइट उल्लंघन कौन हटाएगा? प्रबंधक के जो दायित्व होते हैं उनमें से दिनेश जी किसी भी क्षेत्र में सक्रिय नहीं हैं, चाहे वो उत्पात रोकना हो या पृष्ठों को शीघ्र या हहेच द्वारा हटाने के लिए नामांकित करना, आदि। सदस्य को जब इन कार्यो का अनुभव ही नहीं होगा तो वह कैसे सक्षम प्रबंधक बनेगा? इसके साथ ही वे समुदाय व्यापी चर्चाओं में भी या तो भाग लेते नहीं या बहुत कम लेते हैं, उदहारण के लिए नए रोलबैक अधिकार के लिए मापदण्ड की चर्चा, मुखपृष्ठ समाचार की नई नियमावली की चर्चा, आदि। अगर प्रबंधक ऐसी महत्वपूर्ण चर्चाओं में भाग ही नहीं लेगा तो इन्हें अमलीजामा कौन पहनाएगा? मेरे मन में दिनेश जी के लिए बहुत इज्जत है परन्तु मुझे नहीं लगता कि उन्हें प्रबंधक बनने की आवश्यकता भी है। मैं क्षमा माँगता हूँ परन्तु इस प्रस्ताव का समर्थन करने का मुझे कोई औचित्य नहीं दिखता।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 15:15, 9 अक्टूबर 2013 (UTC)
बिल जी, आपके अनुभव और तर्कशीलता के कारण आपकी राय को मात्र वोटसंख्या की तरह मानना गलत होगा। आपकी लगभग सभी बातें बिलकुल सही, तर्कपूर्ण व विवेकयुक्त हैं, किंतु मेरा विचार है कि यदि एक सदस्य जो हमेशा से positive योगदान करता आया है, कभी विवाद में नहीं रहा है और यदि वह स्वेच्छा से कोई दायित्व मांग रहा है तो एक मौका देना हमारा फर्ज बनता है। यदि दिनेश जी ने स्वयं यह भार उठाने की इच्छा व्यक्त की है तो Assume good faith की नीति के तहत मैं मानता हूं कि अवश्य ही इसके लिए उन्होंने अपने आप को तैयार भी किया होगा। रही बात गलतियों की और अनुभव की - तो गलतियां सभी करते हैं, सीखना महत्वपूर्ण है। दिनेश जी के वार्तापृष्ठ से पता चलता है कि फरवरी 2012 तक ही उनके चित्र डिलीट हुए, लगभग २० महीने पुरानी बात हो चली है। इसका मतलब उन्होने सबक ले लिया होगा। प्रबंधकीय अनुभव तो आप लोगों के साथ रहने से आ ही जाएगा।
फिर भी, आपकी राय का सम्मान करते हुए मैं प्रस्ताव रखता हूं कि फिलहाल 3 महीने के लिए अस्थायी तौर पर उन्हें यह पद दिया जाए। आशा है, आप सहमत होंगे। -- मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 09:42, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  •  X mark.svg  दिनेश जी, विकि के एक पुराने और सम्मानित सदस्य हैं। इसमें कोई दो राय नहीं, पर यहाँ मेरा मत आप सभी से कुछ भिन्न है, केवल वरिष्ठ हो जाना योग्यता का मापदण्ड नहीं होता। अनुभवों का बहाना करके आप किसी को भी प्रबन्धक का दायित्व नहीं दे सकते। प्रबन्धक बनने के लिए सक्रियता को एक महत्वपूर्ण पहलू माना जा सकता है, किन्तु यदि उसमें प्रबंधकीय सोच नहीं है तो उत्तरदायित्व की औपचारिकता पूरी करने का क्या मतलब ? सच तो यह है,कि प्रबंधकीय ज़िम्मेदारी दी जाती है सामूहिक कर्तव्यों के निर्वहन के लिए, न कि सनक और मिथ्याभिमान को पूरा करने के लिए। दिनेश जी न तो विकि पर अत्यधिक सक्रिय सदस्यों में से एक हैं और न ही उन्होंने हिन्दी विकिपीडिया को काफ़ी रचनात्मक योगदान दिया है। संप्रति उनमें एक सक्षम प्रबंधक होने के कोई गुण मुझे दिखाई नहीं देते, मसलन अतिसक्रियता, अच्छे लेखों का निर्माण, उत्पात रोकना, पृष्ठों को हटाने के लिए नामांकित करना, चर्चाओं में हिस्सा लेना, आदि। उन्हें पहले अपने कार्यों में दक्षता लानी चाहिए, फिर प्रबंधकीय दायित्व पर सामूहिक सहमति की दिशा में कार्य करना चाहिए । मेरे मन में दिनेश जी के लिए बहुत इज्जत है परन्तु मुझे नहीं लगता कि उन्हें अभी प्रबंधक बनाए जाने की आवश्यकता है।

--माला चौबेवार्ता 10:59, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)

  • वर्तमान स्थिति में बिल जी और माला जी के तर्कों को देखते हुए मैं इस नामांकन के विरोध में हूँ।--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 18:59, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
बिल जी, सिद्धार्थ जी,
कृपया स्पष्ट करें कि क्या आप 3 महीने के लिए अस्थायी तौर पर दिनेश जी यह दायित्व देने के भी विरोध में है ?-- मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 07:21, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
मुझे खुशी है कि लोग कम से कम अब चर्चा तो कर रहे हैं। मेरा माला जी से प्रश्न है कि रचनात्मक योगदान से उनका क्या अभिप्राय है? साथ ही प्रबंधक होने के लिए क्या क्या आवश्यक गुण होने चाहियें यह भी बताने का कष्ट करें। बिल साहब को तो मैं जबसे जानता हूं जब वो हिन्दी के दो शब्द भी नहीं लिख पाते थे, आज वो प्रबंधक हैं, क्या वो मुझे बतायेंगे कि उन्हें यह पद कैसे प्राप्त हुआ? कम से कम मैंने तो इस विषय में कोई चर्चा होती नहीं देखी। मैं एक व्यस्त प्राणी हूँ और सिर्फ हिन्दी के प्रति लगाव ही मुझे विकि से जोड़ता है और मैं यथासंभव योगदान देने का प्रयाद करता हूँ, दूसरी ओर आप जैसे सक्रिय सदस्यों के होते हुए भी हिन्दी विकी के अधिकतर लेख अपूर्ण और निम्न स्तरीय हैं। हिन्दी विकी पर सक्रिय रहने वाले बहुत से लोग इसे इस पर चलने वाली गंदी राजनीति के चलते इसे छोड़ गये हैं और यदि ऐसी ही स्थिति बनी रही तो जल्द ही और भी छोड़ जायेंगे। मेरी किसी भी अनर्गल चर्चा में हिस्सा लेने की कोई इच्छा नहीं है क्योंकि अधिकतर चर्चाओं को कोई परिणाम नहीं निकलता। मुझसे जहाँ तक हो सकेगा मैं योगदान देता रहूँगा और उसके लिए मुझे किसी से रचनात्मक होने का लाइसेंस लेने की ज़रूरत नहीं है।Dinesh smita (वार्ता) 18:44, 12 अक्टूबर 2013 (UTC)
दिनेश जी,

आप प्रबंधकीय दायित्व निभाने हेतु नामित है और मुझसे रचनात्मकता का अभिप्राय पूछ रहे हैं? जब आपने पूछा है, तो चलिए बता ही देती हूँ कि रचनात्मकता मौलिक सोच से उत्पन्न वह प्रक्रिया है जो उद्देश्यपरक योजनाओं-परियोजनाओं को सकारात्मक दिशा देती है। अभी ऊपर बिल जी ने कहा कि आपके कतिपय लेख कोपीराईट का उल्लंघन करते हैं । मेरी नज़रों में यह कृत्य रचनात्मकता से परे जाकर कार्य करने का सबसे बड़ा उदाहरण है। --माला चौबेवार्ता 04:59, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)

माला जी, मैं दिनेश जी के द्वारा अपलोड किए गए चित्रों की बात कर रहा था।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 05:45, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)
दिनेश जी, जब आप अपना इतना सा भी विरोध सहन नहीं कर सकते तो आप प्रबंधक बनने के पश्चात होने वाली आलोचनाओं का सामना कैसे करेंगे? आप सही कह रहे हैं कि आप मुझे तब से जानते हैं जब मैं "दो शब्द भी नहीं लिख" पाता था, परन्तु आज निर्वाचित सामग्री का निर्माण कर रहा हूँ। इसे ही प्रगतिशीलता कहते हैं! पुरालेख में जा कर देखें आपको मेरे प्रबंधक बनने की चर्चा भी मिल जाएगी। सक्रिय होने का अर्थ यह नहीं है कि मेरे या किसी और दूसरे सक्रिय सदस्य के पास कोई जादू की छड़ी है जिसे घुमाने से लाख से भी अधिक लेख पूर्ण और उच्च स्तरीय बन जाएँगे। सक्रिय होना प्रतिबद्धता दर्शाता है। आप प्रबंधक बनना चाहते हैं और विकि चर्चाओं को "अनर्गल" बता रहे हैं, अगर आपने थोड़ा समय लगा कर देखा होता तो आपको पता चलता चर्चाओं के "परिणाम" निकल रहे हैं या नहीं और अगर नहीं निकल रहे तो आखिर ऐसा क्यों, यह एक प्रबंधक का दायित्व है। अधिकतर चर्चाएँ इसलिए ठप पड़ी रहती हैं क्योंकि वहाँ हिस्सा लेने के लिए सदस्य ही नहीं होते। अगर प्रबंधक ही यह सोच लेगा कि चर्चा करना व्यर्थ और अनर्गल है तो फ़िर विकि आगे कैसे आगे बढ़ेगा? दिनेश जी, आपसे अनुरोध करूँगा की चर्चाओं में रंगों का इस्तेमाल ना करें<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 05:45, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)
अपलोड किये गए चित्रों में कोपीराईट उल्लंघन विकिनितियों का उल्लंघन है और इसकी बार-बार पुनरावृति संपादक के उत्तरदायित्व के प्रति घोर उदासीनता का द्योतक भी है। विकी के एक प्रबंधक के लिए समुदाय को प्रभावी ढंग से आकार देने हेतु लेखों को एक रचनात्मक रूप देने के लिये रणनीति बनाना, और इसके साथ ही अच्छे नए कम-से-कम शुरुआती स्तर की गुणवत्ता वाले लेखों के निर्माण को सुनिश्चित करना आवश्यक होता है। निरंतर सक्रियता के साथ चर्चा में भाग लेना और सदस्यों का मार्गदर्शन करना भी प्रबंधकीय दायित्व की श्रेणी में आता है, न कि चर्चा को अनर्गल कहना। मेरे विचार से दिनेश जी को अभी कुछ दिन और विकिनितियों का अध्ययन करना चाहिए फिर प्रबंधक बनने की इच्छा जाहिर करनी चाहिए।

--माला चौबेवार्ता 09:14, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

मेरा अपना विचार है कि हिन्दी विकिपीडिया पर सक्रिय कम से कम दस-बारह सदस्य (इसमें दिनेश स्मिता जी भी सम्मिलित हैं) प्रबन्धक पद के योग्य हैं और उन्हें प्रबन्धक बनाया जाना चाहिए। इससे हिन्दी विकि में गतिशीलता आएगी, सदस्यों में नया उत्साह आएगा, नयी संस्कृति आएगी। सदस्यों को नया करने और सीखने का मौका मिलेगा।

मैं बार-बार यही दुहराता रहा हूँ कि हिन्दी विकि पर एक समूह है जो प्रबन्धक के लिए स्वकल्पित पात्रताएँ प्रस्तुत करके सदस्यों को भ्रमित करने की कोशिश करता रहता है। जो लोग यह करते हैं उनके द्वारा किए गए प्रबन्धन के कार्यों की अगुणवत्ता एवं पक्षपात पर उदाहरण सहित बार-बार सवाल उठाए गए हैं और बहुत से सवाल समयाभाव के कारण उठाए जाने शेष हैं। कुछ को सारा हिन्दी विकिपीडिया लगभग पूर्ण बहुमत से प्रबन्धक पद से हटाने की सिफारिस कर चुका है। वे कब हटेंगे, यह एक यक्षप्रश्न है। किसी को उनके हटाए जाने का विश्वास हो या न हो, मुझे कोई संदेह नहीं है।

प्रबन्धक की सक्रियता से सम्बन्धित कुछ मापदण्ड हैं। यदि दिनेश जी या कोई अन्य प्रबन्धक सक्रियता के इन मापडण्डों को पूरा नहीं कर पाएगा तो उसे हटाया जा सकता है (और हटाया जाना ही चाहिए)।

संक्षेप में, नए प्रबन्धकों के आने से हिन्दी का सभी प्रकार से भला होगा। हमें अभी और भी प्रबन्धक बनाने होंगे।-- अनुनाद सिंहवार्ता 06:33, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)

सक्रिय सदस्यों को एक निश्चित अवधि के लिये क्रमशः प्रबंधक बनाने का नियम बना लिया जाये तो यह विकि के लिये बहुत अच्छा रहेगा साथ ही निश्चित समय सीमा होने से किसी से किसी का विरोध भी नहीं होगा, सबकोअवसर भी मिलेगा और सबकी कार्य क्षमता का लाभ भी विकि को मिलेगा--डा० जगदीश व्योमवार्ता 16:49, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
यह विचार बहुत उत्तम है। सुना है कि भारत के कुछ नामी शिक्षण संस्थानों के निदेशक इसी तरह (चक्रण के द्वारा) बनाए जाते हैं। -- अनुनाद सिंहवार्ता 04:56, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
अनुनाद जी, वहाँ निदेशक की पद संख्या सीमित होती है लेकिन यहाँ प्रबन्धक संख्या की कोई निश्चित सीमा नहीं है। कृपया कुछ भी लिखते हुए निम्न कथन को ध्यान में रखें जिससे गलत बार लिखे जाने की सम्भावना समाप्त हो जायेगी:
"हो सकता है मैं आपके विचारों से सहमत न हो पाऊं फिर भी विचार प्रकट करने के आपके अधिकारों की रक्षा करूंगा। -वाल्तेयर।"☆★संजीव कुमार (✉✉) 07:16, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
संजीव कुमार जी, 'यहाँ प्रबन्धक संख्या की कोई निश्चित सीमा नहीं है', यह तो और भी सहायक बात है। उपरोक्त प्रस्ताव से इस तथ्य का क्या कोई विरोध है?-- अनुनाद सिंहवार्ता 12:25, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
नहीं, मेरा इशारा विरोध अथवा समर्थन की तरफ नहीं था। मैंने बस एक टिप्पणी की थी। जगदीश जी ने "सबको अवसर मिलेगा" का विकल्प दिया और आपने उससे जोड़ते हुए कहा कि "भारत के कुछ नामी सं॰ निदेशक ..." आदि। अतः मैं मेरी टिप्पणी में केवल यह कहना चाहता था कि संस्थान के निदेशक और विकिपीडिया प्रबन्धक की तुलना नहीं की जा सकती। दोनों जगह नियमावली एवं योग्यता मापन विधि अलग-अलग है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 13:14, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]

क्या 8 समर्थन पर्याप्त नहीं हैं? -- मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 06:09, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
मनोज जी, इसी पृष्ठ में उपर की नियमावली देखें जिसके अनुसार ८०% मतदान पक्ष में होना आवश्यक है। मुझे लगता है अनिरूद्ध जी निर्विरोध चुने जायेंगे।☆★संजीव कुमार (✉✉) 06:31, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
यह पुरालेख देखा जाय। सितम्बर २0१२ के दौरान Hunnjazal को ६, आशीष जी को ७, सिद्धार्थ जी को ५, विलियम कॉम्पटन को ७ मत मिले और वे प्रबंधक पद के लिए पर्याप्त माने गये। विलियम जी के नामांकन पर टिप्पणी में Hindustanilanguage जी और लवी सिंघल की टिप्पणियों पर भी ध्यान दिया जाय। मार्च में दिनेश जी को ६ मत मिले और लवी सिंघल के शॉन नामक कठपुतली खाता ने तटस्थ टिप्पणी की। विरोध में एक भी मत नहीं था। बिना परिणाम के नामांकन अस्वीकार किया गया। अब दिनेश स्मिता को ८ मत मिले लेकिन उनका नामांकन अपर्याप्त मतों के कारण अस्वीकार किया गया। हालांकि विकि जनतन्त्र नहीं है की नीति के तहत मतों पर बेहतर तर्क को प्राथमिकता मिलनी चाहिए इसलिए विलियम जी से अनुरोध है कि इस असफल नामांकन का बेहतर तर्क हिन्दी विकि समुदाय को उपलब्ध करायें। धन्यवाद। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 06:40, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
अजीत जी, संजीव जी की बात ध्यान से पढ़ें "80% मतदान पक्ष में होना आवश्यक है" इसमें यह नहीं लिखा कि कितने सदस्य भाग लें। जिन नामंकन को आप संदर्भित कर रहे हैं उन सब में 80% मतदान पक्ष में हुआ था। अगर आपको निति से कोई समस्या है तो उसके विरुद्ध प्रस्ताव रखें, परन्तु वर्तमान निति के अनुसार यही परिणाम है।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 06:47, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
विलियम जी, टिप्पणी आपने भी मेरी कायदे से नहीं पढ़ी। दिनेश स्मिता का जो पिछला नामांकन निरस्त हुआ था उसका कृपा करके प्रतिशत बता दें। विश्वास रखें इतनी गणित तो मैं भी जानता हूँ। मुझे नियमों से कोई समस्या हो भी कैसे सकती है! मैं तो बस उसके क्रियान्वयन पर प्रश्न कर रहा हूँ। क्या आपको प्रश्नों से भी आपत्ति है? -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 06:56, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
अजीत जी, मुझे प्रश्नों से कोई आपत्ति नहीं, आप केवल स्पस्ट रूप से उन्हें पूछा करें। दिनेश जी ने अपने आपको 8 मार्च 2013 को नामंकित किया था और एक सप्ताह के पश्चात भी केवल दो समर्थन थे, एक सप्ताह क्या दो महीने तक भी दो ही समर्थन रहे। स्टुअर्ड कम से कम पाँच समर्थन माँगते हैं और दिनेश जी के पाँच समर्थन होते-होते महीने बीत गए थे, जबकि चर्चा एक सप्ताह तक चलनी चाहिए।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 07:31, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
बिल जी उस समय (अति) सक्रिय सदस्यों की कुल संख्या ४-५ थी। जिसमें आपने और Hunnjazal जी ने अपने मत का प्रयोग करना उचित नहीं समझा। माला जी और मैं नये सदस्य थे, हमें तो ये ज्ञान भी नहीं था कि हम यहाँ वोट कर सकते हैं अथवा नहीं। अर्थात यदि किसी विकी पर सक्रिय सदस्यों की संख्या ५ है तो किसी भी चुनाव में सबका भाग लेना आवश्यक है? यहाँ मुझे लगता है चुनाव को कुछ और दिन चलने दिया जा सकता है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 07:38, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
संजीव जी, अगर किसी विकि परियोजना पर सक्रिय सदस्य इतने कम होते हैं तो स्टुअर्ड किसी को प्रबंधक बनाते ही नहीं।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 07:45, 17 अक्टूबर 2013 (UTC)
ये 'पाँच' के समर्थन की बात कहाँ से उपजी है? यदि पाँच के समर्थन की बात सही है तो आज दिनेश स्मिता को उससे अधिक समर्थन है। अभी ८०% बहुमत की बात कहाँ आ गयी? क्या बिल जी बताएंगे कि कहाँ किसी स्टीवर्ट ने कम से कम पाँच का समर्थन की मांग की है? -- अनुनाद सिंहवार्ता 04:42, 19 अक्टूबर 2013 (UTC)
यह पाँच समर्थन का नियम स्टुअर्ड का है। दिनेश जी के पास पाँच सदस्यों का समर्थन तो थे परन्तु 80% समर्थन नहीं जो हिन्दी विकिपीडिया का नियम है। अगर किसी सदस्य को परिणाम से कोई समस्या है तो मैं सीधा स्टुअर्ड से भी यहाँ टिप्पणी करवा सकता हूँ।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 05:03, 19 अक्टूबर 2013 (UTC)
यह बात तो बड़ी विचित्र है! आपके पास स्टुअर्ट द्वारा मांगा गया 'पाँच का समर्थन' वाला कोई पूर्व-उदाहरण नहीं है लेकिन आप कहना चाहते हैं कि आप सभी स्टुअर्ट के मन की बात जानते हैं और किसी को यह जाँचना हो तो आप पूर्णतः आश्वस्त हैं कि स्टुअर्ट यही कहेंगे!!-- अनुनाद सिंहवार्ता 05:22, 19 अक्टूबर 2013 (UTC)

┌────────────────────────────────────┘
यहाँ अनुनाद जी की कही बात बिल्कुल उचित लग रही है जो उन्होंने सिद्धार्थ जी के लिए कुछ समय पूर्व कही थी। चूँकि एक ही विषय पर अधिक पृष्ठ होना भ्रमित करता है। चूँकि विकिपीडिया:प्रबन्धक पृष्ठ पर 70 से 80% तक बहुमत होना आवश्यक है जबकि दिनेश जी के पास 72.73% बहुमत है। इसके अनुसार उनके लिए दिया गया यह परिणाम मेटा विकी पर ले जाना चाहिए। चूँकि विरोध करने वाले दो सदस्य प्रबन्धक हैं अतः जैसा मनोज जी ने कहा है कम से कम उन्हें अस्थयी प्रबन्धक (छः माह के लिए) तो बनाया ही जा सकता है। चूँकि वो वरिष्ठ सदस्य हैं और सुसुप्त प्रबन्धकों से तो हर हाल में अच्छे ही रहेंगे।☆★संजीव कुमार (✉✉) 10:13, 23 अक्टूबर 2013 (UTC)

अनिरुद्ध[संपादित करें]

(अनिरुद्ध जी पूर्व में प्रबंधक के पद पर कार्यरत रहे हैं और महत्त्वपूर्ण विषयों पर चर्चा में सक्रिय और रचनात्मक योगदान देते रहे हैं। चौपाल पर एक चर्चा के दौरान हुंजजाल जी द्वारा चेतावनी दिये जाने के कारण उन्होंने स्वयं को प्रतिबंधित कर लिया था। उनके इस कदम ने विकि पर आत्मनियमन की भावना का बेहद रचनात्मक उदाहरण प्रस्तुत किया था। हालांकि उनके इस निर्णय के कारण विकि कुछ समय के लिए उनके रचनात्मक योगदान से वंचित रहा, किंतु वाद-विवाद की स्थिति में भी उन्होंने जिस गरिमा का परिचय दिया वह विकि सदस्यों के लिए एक कसौटी की तरह है। चूंकि अब वे पुनः विकि पर सक्रिय हो चुके हैं तो मैं प्रबंधक पद के लिए उनके नाम का प्रस्ताव रखता हूँ। वर्तमान हिंदी विकि का जो माहौल है उसमें अनिरुद्ध जी नये और अनुभवी सदस्यों के बीच एक सेतु का कार्य कर सकते हैं। धन्यवाद।) -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 07:33, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)

मुझे यह दायित्व स्वीकार करने में खुशी होगी। यद्यपि अभी भी हिंदी सहित संपूर्ण विकिया की स्थिति पटल पाठक (स्क्रीन रीडर) के साथ काम करने के लिए पूर्णतः उपयुक्त नहीं है इसलिए बहुत सारे प्रबंधकीय दायित्व निभाने में मुझे परेशानी होती है। किंतु यह भी ठीक है कि इन समस्याओं से निजात पाने के रास्ते की तलाश यदि विकिया को करनी है तो उसे पटल पाठक के साथ काम करने वालों की जरूरत पड़ती रहेगी। अपने दायित्व का गहरा बोध है शायद इसी कारण तमाम व्यस्तताओं के बावजूद मैं विकिया के लिए फिर से समय निकालने में सफल हो पा रहा हूँ। प्रबंधक या सदस्य होने से केवल कार्य की दिशा बदलती है उसकी मात्रा या गुणवत्ता में फर्क नहीं आता है। इसलिए विकिया और मेरे साथ के प्रति निश्चिंत रहकर अपनी राय व्यक्त करें। अनिरुद्ध  वार्ता  05:55, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

समर्थन[संपादित करें]

  1.  Yes check.svg  प्रस्तावक के तौर पर। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 07:33, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  2.  Yes check.svg  समर्थन -- अनुनाद सिंहवार्ता 07:44, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  3.  Yes check.svg  समर्थन डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 08:22, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  4.  Yes check.svg --डा० जगदीश व्योमवार्ता 16:45, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
  5.  Yes check.svg  समर्थन। मैं मेरे समर्थन के साथ उन्हें यह भी कहना चाहूँगा कि कृपया नये लेख बनाते समय विकिडाटा का उपयोग करें। शायद अनिरुद्ध जी के सुसुप्त काल में विकिडाटा की शुरुआत हुई अतः उन्हें इसका ज्ञान न हो। समर्थन मैं उनके "विकिया की स्थिति पटल पाठक" पर कार्य और उनके पिछले कार्यकाल के समय के विचारों को देखकर कर रहा हूँ।☆★संजीव कुमार (✉✉) 06:03, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
  6.  Yes check.svg  समर्थन। मेरे विचार से जो भी स्थापित सदस्य प्रबंधक बनना चाहें, उन्हें मौका ज़रूर मिलना चाहिए। संजीव जी की मैं विशेष रूप से प्रशंसा करना चाहूंगा जिस प्रकार से उन्होंने गलती का सुधार करने की कोशिश हेतु सहयोग/सुझाव दिया है, बजाय उसे विरोध प्रदर्शन का आधार बनाने के। यही अपेक्षा मैं बाकी प्रबंधकों और सदस्यों से भी करूंगा। जब हम किसी की नीयत के प्रति आश्वस्त हैं तो अधिकार देने में नुकसान क्या है। ज्ञान की कमी तो सहयोग से पूरी की जा सकती है। प्रबंधक बनने के बाद भी तो सीखा जा सकता है, पहले मुर्गी या अंडा का विवाद तो कभी सुलझ नहीं सकता, लेकिन विश्वास करके आज़माईश की सकती है बजाय इसके कि मात्र संदेहवश होकर शुरु में ही प्रयास को रोक दिया जाए। -- मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 07:07, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
  7.  Yes check.svg  समर्थन--सिद्धार्थ घई (वार्ता) 03:58, 18 अक्टूबर 2013 (UTC)

विरोध[संपादित करें]

  1.  X mark.svg  प्रस्ताव पर अजीत जी का कहना है, कि "अनिरुद्ध जी पूर्व में प्रबंधक के पद पर कार्यरत रहे हैं और महत्त्वपूर्ण विषयों पर चर्चा में सक्रिय और रचनात्मक योगदान देते रहे हैं। चौपाल पर एक चर्चा के दौरान हुंजजाल जी द्वारा चेतावनी दिये जाने के कारण उन्होंने स्वयं को प्रतिबंधित कर लिया था।" इससे साफ परिलक्षित होता है, कि अनिरुद्ध जी के विचारों में दृढ़ता का अभाव है । विकि के एक पुराने और सम्मानित सदस्य हैं। इसमें कोई दो राय नहीं, पर यहाँ मेरा मत आप सभी से कुछ भिन्न है, केवल वरिष्ठ हो जाना योग्यता का मापदण्ड नहीं होता। आगे फिर कोई उन्हें चेतावनी देगा तो वे स्वयं को प्रतिबंधित कर लेंगे। मेरा मानना है कि उन्हें अपनी सक्रियता बढ़नी चाहिए,अपने कार्यों में दक्षता लानी चाहिए, फिर प्रबंधकीय दायित्व पर सामूहिक सहमति की दिशा में कार्य करना चाहिए । फिलहाल प्रबन्धक के पद पर नई सोच और नए उत्साह से लबरेज सदस्यों को लाया जाना श्रेयस्कर होगा।

--माला चौबेवार्ता 11:10, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)

पहले मालाजी का आभार कि उन्होंने मेरे संबंध में एक बिल्कुल ठीक संभावना व्यक्त की है। यदि विकिया का कोई प्रबंधक दूसरे प्रबंधक को प्रतिबंधित करने की चेतावनी दे तो कम-से-कम मुझे यह उचित लगता है कि चेतावनी पाने वाले प्रबंधक को कुछ समय के लिए आत्मसंयम का परिचय देना चाहिए। ऐसा नहीं करने पर रास्ता संघर्ष की ओर ले जाता है और प्रबंधकों में संघर्ष विकिया के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। वैचारिक भिन्नता उचित है किंतु किसी भी स्थिति में वह एक सीमा के बाहर नहीं जाना चाहिए। अनुचित संघर्ष में दृढ़ता दिखाना उचित है या रचनात्मक कार्यों के लिए आत्मसंयम बरतने में यह तो व्यक्ति के विवेक पर निर्भर है। उस आत्मप्रतिबंध से हासिल हुए सकारात्मक परिणाम नकारात्मक परिणामों से बहुत ज्यादा थे। दूसरी बात यह कि पुराने और अनुभवी सदस्यों के प्रबंधक बनने और नए उत्साही और योग्य सदस्यों के प्रबंधक बनने में कोई विरोध नहीं है। हिंदी विकिया ५ नहीं बल्कि १५ से भी अधिक प्रबंधकों की सक्रियता की साक्षी रही है। अनिरुद्ध  वार्ता  06:10, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
अनिरुद्ध जी,

आपसे न तो मेरा कोई व्यक्तिगत द्वेष है और न मैं आपको रचनात्मक कार्यों के लिए आत्मसंयम बरतने से रोक रही हूँ, किन्तु आत्मसंयम बरतने के बाद आपकी सक्रियता अचानक कुंद पड़ गयी और अभी तक वह सक्रियता वापस नहीं आई है जिससे यह प्रतीत हो कि आप पुन: हिन्दी विकिपीडिया को एक नई रचनात्मक क्रियाशीलता से जोड़ने हेतु प्रतिबद्ध हैं। बिना कटिबद्धता या प्रतिबद्धता के प्रबंधन कैसा? --माला चौबेवार्ता 06:29, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

माला जी, आपका प्रश्न है - क्या लाभ ? मेरा निवेदन है कि प्रश्न को बदलें- क्या नुकसान? हाल ही में हुन्नजजल जी ने संभावित असक्रियता के कारण पदत्याग की इच्छा जताई थी। उनसे बने रहने का निवेदन करते हुए मैंने यही प्रश्न पूछा था - असक्रिय होने पर भी प्रबंधक बने रहने से नुकसान क्या है ? -- मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 07:30, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
माला जी! बहुत सारे गलत निषकर्ष तथ्यों की उपस्थिति के अभाव में निकाले जाते हैं और कुछ निषकर्ष गलत विवेचन की दिशा के कारण निकलते हैं। कुछ तथ्य और सूचनाएं आपकी सहायतार्थ दे रहा हूँ। हिंदी विकिया पर आत्मसंयम बरतने के साथ ही मैने विकिया पर काम करना बंद नहीं किया था बल्कि केवल काम की दिशा बदली थी। हिंदी विकिकोश पर बने लगभग तीन सौ शब्दार्थों के पन्ने आपको इसकी गवाही देंगें। सक्रियता की तीसरी दिशा हिंदी विकिया के दायरे से भी बाहर विकिपीडिया फाउंडेशन से सहयोग का था। जाहिर है कि यह सब सक्रियता की अन्य दिशाओं से जिनका संबंध विकिया से नहीं है के साथ किया गया है। प्रमाणों की आवश्यकता हो तो निःसंकोच लिखिएगा। अनिरुद्ध  वार्ता  08:32, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

तटस्थ[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

क्या अनिरुद्ध जी को अपना नामांकन स्वीकार है?-- मनोज खुराना ( सदस्यपृष्ठ) 11:57, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)

अभी तक तो स्पष्ट नहीं है।

--माला चौबेवार्ता 12:08, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)

माला जी नमस्ते। चूंकि अनिरुद्ध जी ने अभी अपनी स्वीकृति नहीं दी है इसीलिए आपको फिलहाल उत्तर देने से बचना चाह रहा था लेकिन कुछ बातें संक्षेप में कहूँगा। विस्तृत उत्तर अनिरुद्ध जी ही दें तो बेहतर होगा। एक वाक्य को उद्धृत कर आपने अनिरुद्ध जी के विचारों की दृढ़ता पर प्रश्नचिह्न लगा दिया है। निवेदन है कि यह चौपाल पुरालेख देखें। अब कृपया बताएँ कि आपके सदस्य पृष्ठ के इस वाक्य का क्या अर्थ निकाला जाय - मैं एक पत्रिका का प्रकाशक भी हूँ। ? इस वाक्य के अनुसार क्या आपको पुरुष माना जाय? इस स्रोत के अनुसार आप रवीन्द्र प्रभात की पत्नी हैं और रवीन्द्र प्रभात पृष्ठ पर ज्यादातर सदस्य:Pandey.manoj118 और आपका ही योगदान है तो क्या Pandey.manoj118 को संदेह की निगाह से देखा जाय? कम से कम भारतकोश, हिन्दी और भोजपुरी विकि पर रवीन्द्र प्रभात से संबंधित सामग्री की भाषा शैली देखकर आप दोनों के प्रचारात्मक मंतव्य का आभास मिलता है। बावजूद इसके आपके योगदान को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। मैं किसी भी विषय या व्यक्ति को यथासंभव समग्रता में देखने की कोशिश करता हूँ। ये बातें इसलिए भी उठा रहा हूँ क्योंकि रवीन्द्र प्रभात लेख को हटाने के लिए मैंने तब नामांकित किया था जब वह लेख वे स्वयं बना रहे थे। उसके बाद से वे कभी यहाँ नहीं दिखे लेकिन उस लेख को पुनर्निर्मित कर आपने हिन्दी विकि को एक श्रेष्ठ लेख दिया। आपने विलियम कॉम्पटन को प्रबंधक पद से हटाने के प्रस्ताव पर भी एक बड़ी टिप्पणी छोड़ी थी। तो कृपया टिप्पणियाँ करने से पहले उस सदस्य और संबंधित संदर्भ को समग्रता में जाँच लिया करें। मैं विकिपीडिया प्रभृति प्रयोजन में सामुदायिक हित को सदैव व्यक्तिगत हित से ऊपर रखता हूँ और दूसरों से भी इसी की आशा करता हूँ। आपकी टिप्पणी के लिए बहुत बहुत धन्यवाद। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 18:50, 10 अक्टूबर 2013 (UTC)
नमस्ते अजीत जी,

पहली बात तो यह है कि आपको व्यक्तिगत आक्षेप से बचने की कोशिश करनी चाहिए। आपका एक कथन आपकी योग्यता पर प्रश्नचिन्ह लगा सकता है। मैं महिला ही हूँ, पुरुष नहीं। क्या फर्क पड़ता है कि मैं पत्रिका की प्रकाशक हूँ या पत्रिका का प्रकाशक या फिर मैं किसी की माँ, बहन और पत्नी हूँ। यहाँ यह मुद्दा नहीं है, मुद्दा है तो बस एक कि अनिरुद्ध जी की पात्रता प्रबन्धक बनने की है या नहीं? उन्हें यह दायित्व स्वीकार्य है या नहीं? अनिरुद्ध जी के द्वारा अभीतक प्रस्ताव को स्वीकार भी नहीं किया गया है और आप उनके नामांकन के विरोध पर व्यक्तिगत आक्षेप कर रहे हैं, कहीं अनिरुद्ध जी को प्रस्तावित करने के पीछे आपका उद्देश्य गुटबाजी को बढ़ावा देना तो नहीं है?

जहां तक रवीन्द्र प्रभात पृष्ठ का प्रश्न है तो हिन्दी विकि पर रवीन्द्र प्रभात पृष्ठ 18.01.2010 को 122.161.80.172 आई डी से बना था, न कि स्वयं रवीन्द्र प्रभात के द्वारा बनाया गया था। बाद के दिनों में उस लेख का विस्तार 122.161.153.196 आई डी से और Shrish के द्वारा किया गया। बाद के दिनों में 22.161.153.196 के संपादनों को हटाकर Shrish के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया गया था। एक लंबा इतिहास है इस पृष्ठ का। इस पृष्ठ के अवलोकन से यह दृष्टिगत होता है, कि जिस समय हिन्दी विकि पर रवीन्द्र प्रभात की उल्लेखनीयता पर चर्चा हो रही थी उसी समय भवानी गौतम के द्वारा नेपाली विकिपीडिया पर रवीन्द्र प्रभात के पृष्ठ को स्थापित किया गया था। जहां तक सदस्य:Pandey.manoj118 का प्रश्न है तो शायद वे मुझसे पहले से विकिपीडिया पर हैं, हो सकता है हिन्दी विकि पर आने का उनका उद्देश्य रवीन्द्र प्रभात के पृष्ठ को संपादित करना ही रहा होगा। दूसरों के बारे में बिना तथ्य आंकड़ों के मैं कोई टिप्पणी नहीं कर सकती। यह सही है, कि मैंने रवीन्द्र प्रभात की उल्लेखनीयता को स्थापित किया है, चर्चा में भाग लिया है । तो इसमें गलत क्या है ? आगे कुछ और पृष्ठ मेरी नज़रों में है जिसे वेबजह हटाने हेतु नामांकित किया गया है, मसलन ज़ाक़िर अली रजनीश,से.रा.यात्री,सरोजिनी काक आदि। त्योहार के बाद मैं उन पृष्ठों पर भी काम करने जा रही हूँ। कोई भी व्यक्ति स्वयं की नज़रों में महान नहीं हो सकता, किन्तु अपने दोस्त, सहकर्मी, रेशतेदार,नातेदार,समाज, समुदाय,पत्नी और बच्चों की नज़रों में महान हो सकता है। आपका कहना है कि टिप्पणियाँ करने से पहले उस सदस्य और संबंधित संदर्भ को समग्रता में जाँच लिया करें। यह आप पर भी लागू होता है, कि संदर्भ को समग्रता से जांच किए बगैर व्यक्तिगत आक्षेप से बचें। --माला चौबेवार्ता 05:51, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

हाँ अजीत जी,

एक बात और। आपने कहा है, कि मैंने बिल विलियम कॉम्पटन को प्रबंधक पद से हटाने के प्रस्ताव पर भी एक बड़ी टिप्पणी छोड़ी थी। यहाँ भी मेरा उत्तर यही होगा कि कृपया आप टिप्पणियाँ करने से पहले विषय की समग्रता की जाँच कर लिया करें, फिर टिप्पणी करें। बिल जी का मैं बहुत सम्मान करती हूँ , लेकिन विरोध और समर्थन एक लोकतान्त्रिक व्यवस्था है और विकि पर भी अभिव्यक्ति का लोकतन्त्र लागू होता है। आप मुझे विवश नहीं कर सकते कि मैं किसी का विरोध न करूँ । --माला चौबेवार्ता 06:08, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

माला जी! आपसे अनुरोध है कि एक बार अपने विरोध पर पुनर्विचार कर लें। यदि आपको तब भी यह उचित लगे कि मेरी दृढ़ता, दक्षता और योग्यता अभी प्रबंधक का दायित्व निभाने के लिए उपयुक्त नहीं है तो मैं इस प्रस्ताव पर दी गई अपनी स्वीकृति पर पुनर्विचार करने को प्रस्तुत हूँ। असल में अगले डेढ़ साल तक मैंने हिंदी विकिया के लिए जो काम करने की योजना बनाई है उसमें प्रबंधक होने से मुझे थोड़ी सहायता मिलेगी। इसके बारे में विशेष बातें बाद में लिखूँगा क्योंकि वर्तमान समय में मैं किसी भी तरह की सक्रियता द्वारा मतदान को प्रभावित नहीं करना चाह रहा हूँ। अनिरुद्ध  वार्ता  06:27, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
माला जी, यह पृष्ठ देखें और आप खुद सोचें कि क्या कह रहीं हैं। जिस Shrish की आप बात कह रही हैं उन्होंने यहाँ उल्लेखनीयता और विकिफाई का टैग लगाया था। Pmlineditor ने शीह का साँचा लगाया था। दोनों हटा दिये गये। फिर से लगाये गये और फिर हटा दिये गये। ११:१३, १९ जनवरी २०१०‎ को जब Pmlineditor ने Shrish का आखिरी अवतरण पूर्ववत किया तो रवीन्द्र प्रभात ने संपादन आरंभ कर दिया। आँकड़े और इतिहास मैं भी ध्यान में रखता हूँ। रवीन्द्र प्रभात के सदस्य पृष्ठ और विकि पृष्ठ की भाषा शैली जाँच लीजिए। आपके जानकारी के लिए बता दूँ कि उपर्युक्त उदाहरण केवल इसके लिए दिया गया था कि एक वाक्य से निष्कर्ष निकालना कितना अप्रासंगिक और दूरगामी हो सकता है। इस चर्चा पर यही विराम देता हूँ। आपकी टिप्पणी के लिए पुनः धन्यवाद। व्यक्तिगत रूप से आपको बुरा लगा इसलिए क्षमा चाहूँगा। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 06:39, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
अजीत जी,

यद्यपि आपने स्वयं खेद व्यक्त करते हुये इस चर्चा को विराम दे दिया है ऐसे में अब मेरे लिए इस विषय पर कुछ भी कहना श्रेयस्कर नहीं होगा, किन्तु आपसे कनिष्ठ हूँ, छोटी हूँ । इसलिए निवेदनपूर्वक एक सुझाव देना चाहूंगी कि टिप्पणी में कभी भी विनम्रता का परित्याग न करें और व्यक्तिगत लांछन से बचें, क्योंकि विचारों में उग्रता आवश्यक है अभिव्यक्ति में नहीं। अभिव्यक्ति हमेशा विनम्रता की कायल होती है। हमारे धर्म-ग्रन्थों में कहा भी गया है कि वाणी, बुद्धि, व्यवहार,वस्त्र और विवेक ये पाँच ही मनुष्य के अलंकार हैं। आशा है आप मेरी बातों को अन्यथा न लेंगे। --माला चौबेवार्ता 08:42, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

लगभग दो वर्ष पूर्व दिनांक १८ से २० नबम्वर २०११ तक बम्बई विश्वविद्यालय में आयोजित विकिकान्फेरेन्स इण्डिया भारत की पहली संगोष्ठी थी जिसका उद्घाटन जिमी वेल्स ने किया था। उसमें अनिरुद्ध जी पूरे तीनों दिन मौजूद रहे और मंच से अपने विचार भी रक्खे। पहली बार किसी नेत्रहीन व्यक्ति को विकीपीडिया से सम्बद्ध देखकर मुझे काफी प्रेरणा मिली। मैंने अपने मोबाइल से उनका फोटो भी खींचा था। मेरी हार्दिक इच्छा है मैं उनके सदस्य पृष्ठ पर उनका चित्र अप्लोड कर दूँ बशर्ते आप में से कोई (स्वयं अनिरुद्ध भी) इसे अन्यथा न लें। साथ ही मेरा यह अनुरोध भी है कि अनिरुद्ध सरीखे प्रज्ञाचक्षु हमारे संगठन का मार्गदर्शन करें। निस्सन्देह यह हम सभी चाक्षुष लोगों का अहोभाग्य होगा। मुझे विश्वास है सभी बन्धु आपसी मनमुटाव भुलाकर उनको निष्ठापूर्वक सहयोग देंगे। धन्यवाद ! डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 07:51, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)
इस छोटी सी जानकारी से अवाक् हूँ, श्रद्धा से नतमस्तक हूँ। -- अनुनाद सिंहवार्ता 12:34, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

विरोध वापस[संपादित करें]

अनिरुद्ध जी, अजीत जी, डॉ०क्रान्त एम०एल०वर्मा जी,

सबसे पहले तो मैं अनिरुद्ध जी की विनम्रता को नमन करती हूँ । विरोध पर पुनर्विचार से संबन्धित उनकी टिप्पणी मेरे मन को छू गयी। कहा गया है, कि जब तर्क युक्तियों पर भावनाएं हावी हो जाये तो व्यक्ति अपने मन को भावनाओं के दायरे मे बांध कर सोचता है। किसी नेत्रहीन व्यक्ति को विकीपीडिया से सम्बद्ध देखकर मुझे भी काफी प्रेरणा मिली है। यह जानने के बाद अब उनके विरोध में कुछ और कहना मेरे लिए उचित नहीं होगा। मैं भी चाहूंगी कि अनिरुद्ध जी सरीखे प्रज्ञाचक्षु हमारे संगठन का मार्गदर्शन करें। मैं अपना विरोध वापस ले रही हूँ। --माला चौबेवार्ता 08:23, 11 अक्टूबर 2013 (UTC)

परिणाम[संपादित करें]

प्रस्ताव आए एवं उसे मेरे द्वारा स्वीकार किए हुए भी ७ दिन हो गए हैं। प्रबंधकों से अनुरोध है कि परिणाम बताएं। अनिरुद्ध  वार्ता  01:36, 18 अक्टूबर 2013 (UTC)
बिल जी इसे मेटा विकी पर ले जायेंगे वहाँ से परिणाम घोषित किया जायेगा। यदि आप वहाँ ले जाना चाहते हो तो यहाँ पोस्ट करें☆★संजीव कुमार (✉✉) 09:08, 18 अक्टूबर 2013 (UTC)
नामंकन मेरे से पहले ही सिद्धार्थ ने पोस्ट कर दिया है।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 09:16, 18 अक्टूबर 2013 (UTC)