उत्तर प्रदेश पुलिस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उत्तर प्रदेश पुलिस
110px पुलिस ध्वज

कर्मवीर सिंह, ई.पी.एस आर.आर.(१९७५)[1]
Motto:
'"परित्राणाय साधूनाम, विनाशायच दुष्कृताम"'
मुख्यालय
इलाहाबाद
पुलिस महानिदेशक - उत्तर प्रदेश पुलिस

उत्तर प्रदेश पुलिस भारत के राज्य उत्तर प्रदेश में २३६,२८६वर्ग.कि.मी के क्षेत्र में २० करोड़ जनसंख्या (वर्ष 2011 के अनुसार) में न्याय एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु उत्तरदायी पुलिस सेवा है। ये पुलिस सेवा न केवल भारत वरन विश्व की सबसे बड़ी पुलिस सेवा है। सेवा के महानिदेशक-पुलिस की कमान की शक्ति १.७० लाख के लगभग है जो 75 जिलों में ३१ सशस्त्र बटालियनों एवं अन्य विशिष्ट स्कंधों में बंटी व्यवस्था का नियामन करती है। इन स्कंधों में प्रमुख हैं: इंटेलिजेंस, इन्वेस्टिगेशन, एंटी-करप्शन, तकनीकी, प्रशिक्षण एवं अपराध-विज्ञान, आदि।[2]

इतिहास[संपादित करें]

भारत की वर्तमान पुलिस प्रणाली 1861 के पुलिस अधिनियम के परिणामस्वरूप बनी थी। ये एक्ट 1860 में एच.एम. कोर्ट की अगुवाई में गठित पुलिस आयोग की अनुशंसाओं के बाद अधिनियमित हुआ था। यही कोर्ट उत्तर-पश्चिम प्रांत और अवध प्रान्त के प्रथम पुलिस महानिरीक्षक बने।

पुलिस महकमे का ढांचा निम्नलिखित आठ संगठनों के रूप में खड़ा किया गया था :

  1. प्रांतीय पुलिस
  2. राजकीय रेलवे पुलिस
  3. शहर पुलिस
  4. छावनी पुलिस
  5. नगर पुलिस
  6. ग्रामीण एवं सड़क मार्ग पुलिस
  7. नहर पुलिस
  8. बर्कन्दाज गार्ड (अदालतों की सुरक्षा के लिए)

समय के साथ सिविल पुलिस का विकास होता गया और भारत की स्वतन्त्रता के बाद श्री बी. एन. लाहिरी उत्तर प्रदेश के पहले भारतीय पुलिस महानिरीक्षक बने। अपराध नियंत्रण और विधि-व्यवस्था बनाए रखने में प्रदेश पुलिस के कार्य प्रदर्शन को बहुत सराहा गया और इसे देश के पहले पुलिस बल के रूप में 13 नवंबर 1952 को तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू द्वारा ‘कलर्स’ प्राप्त करने का गौरवपूर्ण सौभाग्य हासिल है। तभी से इस पुलिस बल ने सांप्रदायिक और सामाजिक सौहार्द्र और विधि-व्यवस्था बनाए रखने, और अपराध पर नियंत्रण रखने की अपनी गौरवशाली परंपरा को कायम रखा हुआ है ताकि जनमानस के बीच सुरक्षा की भावना समाहित करने और राज्य का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित किया जा सके।

संगठित अपराध, आर्थिक अपराध इत्यादि से निपटने के लिए प्रदेश पुलिस बल में विशेषज्ञता प्राप्त विभिन्न प्रकोष्ठ अस्तित्व में आए हैं। अपराध विज्ञान, प्रशिक्षण, कम्प्यूटर, दूर संचार, नवीनतम उपकरण, आधुनिक शस्त्र और नए वाहन जैसे तकनीकी साधनों के क्षेत्र में आधुनिकीकरण पर उचित बल दिया जा रहा है।

मंडल एवं जिले[संपादित करें]

ये सूची पुलिस मंडलों, क्षेत्रों और उनमें आने वाले जिलों की है:

पुलिस मंडलों, क्षेत्रों और अधीनस्थ जिलों की सूची
# मंडल # क्षेत्र # जिले
1 लखनऊ मंडल 1 लखनऊ 1 लखनऊ
2 उन्नाव
3 सीतापुर
4 हरदोई
5 रायबरेली
6 खीरी
2 अयोध्या 1 फैज़ाबाद
2 बाराबंकी
3 सुल्तानपुर
4 अंबेडकर नगर
2 बरेली मंडल 1 बरेली 1 बरेली
2 शाहजहांपुर
3 पीलीभीत
4 बदायुं
2 मुरादाबाद 1 मुरादाबाद
2 ज्योतिबा फुले नगर
3 रामपुर
4 बिजनौर
3 मेरठ मंडल 1 मेरठ 1 मेरठ
2 बागपत
3 गाज़ियाबाद
4 बुलंदशहर
5 गौतम बुद्ध नगर
2 सहारनपुर 1 सहारनपुर
2 मुज़फ्फरनगर
4 आगरा मंडल 1 आगरा 1 आगरा
2 मथुरा
3 फिरोज़ाबाद
4 मैनपुरी
2 अलीगढ़ 1 अलीगढ़
2 हाथरस
3 एटा
4 कासगंज (कांशीराम नगर)
5 कानपुर मंडल 1 कानपुर 1 कानपुर नगर
2 कानपुर देहात
3 औरैया
4 कन्नौज
5 फर्रुखाबाद
6 इटावा
2 झांसी 1 झांसी
2 जालौन (उरई)
3 ललितपुर
6 इलाहाबाद मंडल 1 इलाहाबाद 1 इलाहाबाद
2 कौशांबी
3 प्रतापगढ़
4 फतेहपुर
2 चित्रकूट (बांदा) 1 चित्रकूट
2 हमीरपुर
3 बांदा
4 महोबा
7 वाराणसी मंडल 1 वाराणसी 1 वाराणसी
2 चंदौली
3 जौनपुर
4 गाज़ीपुर
2 मिर्ज़ापुर 1 मिर्ज़ापुर
2 भदोही
3 सोनभद्र
3 आज़मगढ़ 1 आज़मगढ़
2 मऊ
3 बलिया
8 गोरखपुर मंडल 1 गोरखपुर 1 गोरखपुर
2 महाराजगंज
3 कुशीनगर
4 देवरिया
2 बस्ती 1 बस्ती
2 सिद्धार्थ नगर
3 संत कबीर नगर (खलीलाबाद)
3 देवीपट्टन (गोंडा) 1 गोंडा
2 बलरामपुर
3 श्रावस्ती
4 बहराइच
कुल मंडल ८ कुल क्षेत्र १८ कुल जिले ७१


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. dgp
  2. आधिकारिक जालस्थल - उत्तर प्रदेश पुलिस

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]