कानपुर नगर जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कानपुर नगर ज़िला
کان پور شہر ضلع
India Uttar Pradesh districts 2012 Kanpur Nagar.svg

उत्तर प्रदेश में कानपुर नगर ज़िले की अवस्थिति
राज्य उत्तर प्रदेश, Flag of India.svg भारत
प्रशासनिक प्रभाग कानपुर
मुख्यालय कानपुर
क्षेत्रफल 3,029 कि.मी. (1,170 वर्ग मील)
जनसंख्या 4,572,951 (2011)
जनसंख्या घनत्व 1,449 /कि.मी. (3,750 /वर्ग मी.)
साक्षरता 81.31 %
लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र कानपुर
आधिकारिक जालस्थल

कानपुर नगर ज़िला (अंग्रेज़ी: Kanpur Nagar district, उर्दू: کان پور شہر ضلع) भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश का एक जिला है। इसका मुख्यालय कानपुर है। यह ज़िला कानपुर मंडल का हिस्सा है। १९७७ में इस जिले से कानपुर देहात जिला अलग हो गया। १९७९ में पुनः इन दोनों जिलों का एकीकरण हुआ और एक बार फिर १९८१ में दोनों जिले अलग हो गए।

कानपुर जिले के नगर[संपादित करें]

तहसीलों की संख्या[संपादित करें]

विकासखण्ड[संपादित करें]

  • सरसौल
  • चौबेपुर
  • ककवन
  • शिवराजपुर
  • कल्यानपुर
  • विधनू
  • पतारा
  • घाटमपुर
  • बिल्हौर
  • भीतरगांव

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

२०११ की जनगणना के अनुसार कानपुर नगर जिले की आबादी ४,५७२,९५१ है। यह इसे भारत के ६४० जिलों में ३२वा स्थान देता है। इस जिले का घनत्व १४४९ प्रति वर्ग कि॰मी॰ है। २००१-२०११ के दौरान जनसँख्या में ९.७२% की वृद्धि दर्ज की गयी। यहाँ की लिंगानुपात दर प्रति १००० पुरषों पर ८५२ महिलाओं की है। साक्षरता दर ८१.३१% है।[1]

औद्योगिक द्रष्टिकोण[संपादित करें]

औद्योगिक द्रष्टिकोण से देखा जाए तो भारत में चेन्नई के बाद चमड़े का सबसे जादा उत्पादन कानपुर में ही होता है। यही कारण है कि कानपुर नगर को लेदर सिटी के नाम से जाना जाता है , और उत्तर भारत का मैनचेस्टर भी कहा जाता है।

यहाँ लगभग 400 चमड़े की टेनरीज है तथा 1000 घरेलु इकाईयां है। जहा मुख्यतः भैस के चमड़े का कार्य होता है। यहाँ 1200 करोड़ रुपये का वार्षिक सामग्री चमड़ा तैयार किया जाता है। 6500 करोड़ रुपये के चमड़े का वार्षिक निर्यात किया जाता है तथा 1000 करोड़ रूपए का सालाना निर्यात घरेलु इकाईयों द्वारा किया जाता है।

यहाँ सबसे जादा टेनरियां जाजमऊ में है जो की टेनरीयों का गढ़ के नाम से जानना जाता है। यहाँ की टेनरीयो का गन्दा पानी व कचरा गंगा नदी में छोड़ा जाता है जो की गंगा नदी के पानी को बहुत गन्दा करता है। आने वाले समय में चमड़ा उद्योग की ओर से 400 करोड़ रूपए का जलशोधक प्लांट का निर्माण प्रस्तावित है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

कानपुर अपने मंडल में आने वाले अन्य जिलो से आर्थिक द्रष्टि से काफी मजबूत माना जाता है। परन्तु इसके बावजूद भी यहाँ विकास कुछ खास देखने को नहीं मिलता। अधिकतर जगहों पर बहुत गन्दगी है , ग्रैंड ट्रक रोड यहाँ से होकर गुजरती है जो सबसे अधिक यातायात वहन करती है।

शैक्षिक द्रष्टि से देखा जाए तो यहाँ इंटर कॉलेज तो भरपूर मात्रा में है , जो अच्छे भी है। विज्ञान ,वाणिज्य व कला संकाय के उत्क्रिस्ट स्नातकोत्तर महाविद्यालय भी है। आई आई टी भी के भी अलावा अन्य अच्छे सरकारी तकनीकी विद्यालयों की भी कमी नहीं है।

हैलट यहाँ का बहुत अच्छा अस्पताल है इसका सबूत इससे मिला है कि यहाँ भिखारी से लेकर चार्टर एकाऊंटेंट तक दवा लेने आते हैं , ऐसा कहा जाता है कि इस अस्पताल में मरे हुए व्यक्ति को जिन्दा कर दिया जाता है। फिलहाल इसका सञ्चालन केंद्र सरकार कर रही है।

  1. "जिलावार जनगणना २०११". Census2011.co.in. 2011. http://www.census2011.co.in/district.php. अभिगमन तिथि: 2011-09-30. 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

निर्देशांक: 26°27′36″N 80°19′48″E / 26.46000°N 80.33000°E / 26.46000; 80.33000