बुलन्दशहर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बुलंदशहर
—  city  —
बुलन्दशहर is located in उत्तर प्रदेश
बुलंदशहर
उत्तर प्रदेश में बुलन्दशहर
निर्देशांक : 28°24′N 77°51′E / 28.4°N 77.85°E / 28.4; 77.85Erioll world.svgनिर्देशांक: 28°24′N 77°51′E / 28.4°N 77.85°E / 28.4; 77.85
Country Flag of India.svg India
State उत्तर प्रदेश
District Bulandshahr
क्षेत्र
 • कुल 4,441
ऊँचाई 195
जनसंख्या (2011)
 • कुल 2,22,826
 • घनत्व 788
Languages
 • Official Hindi
समय मण्डल IST (यूटीसी +5:30)
PIN 203 xxx
Telephone code 91 (5732)
वाहन पंजीकरण UP-13-xxxx
Sex ratio 892 /
जालस्थल bulandshahar.nic.in

बुलंदशहर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का एक जिला है। बुलंदशहर, अनूपशहर, खुर्जा, स्याना, डिबाई, सिकंदराबाद व शिकारपुर इसके प्रमुख नगर हैं व बुलन्दशहर नगर इस जनपद का मुख्यालय है।

बुलंदशहर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दिल्ली से ६४ किलोमीटर की दूरी पर बसा शहर है। साथ ही बहती है काली नदी। यह शहर मुखयतः सड़कों से मेरठ, अलीगढ़, खैर, बदायूं, गौतम बुद्ध नगर व गाजियाबाद से जुडा हुआ है।

बुलंदशहर जनपद के नरौरा में गंगा के किनारे भारत वर्ष में विद्यमान परमाणु विद्युत संयंत्र में से एक विद्युत ताप गृह स्थापित व सुचारू रूप से प्रयोग में है।

इतिहास[संपादित करें]

बुलन्दशहर का प्राचीन नाम बरन था। इसका इतिहास लगभग 1200 वर्ष पुराना है। इसकी स्थापना अहिबरन नाम के राजा ने की थी। बुलन्दशहर पर उन्होंने बरन टॉवर की नींव रखी थी। राजा अहिबरन ने एक सुरक्षित किले का भी निर्माण कराया था जिसे ऊपर कोट कहा जाता रहा है इस किले के चारों ओर सुरक्षा के लिए नहर का निर्माण भी था जिसमें इस ऊपर कोट के पास ही बहती हुई काली नदी के जल से इसे भरा जाता था राजा अहिबरन ने इस सुरक्षित परकोटे में अपनी आराध्या कुलदेवी माँ काली के भव्य मंदिर की भी स्थापना की थी। मुगल काल के दौरान इस किले (नगर) पर आधिपत्य के बाद औरंगजेब के प्यादे द्वारा यहाँ जन विध्वंस भी हुआ व भारी संख्या में हिन्दुओं को जबरन मुस्लिम बनाया गया और काली मंदिर को ध्वंस कर के काली मस्जिद में रूपांतरित कर दिया गया। ब्रिटिश काल में यहाँ राजा अहिबरन के वंशज राजा अनूपराय ने भी यहाँ शासन किया जिन्होंने अनूपशहर नामक शहर बसाया उनकी शिकारगाह आज शिकारपुर नगर के रूप में प्रसिद्ध है। मुगल काल के अंत और ब्रिटिश काल के उद्भव समय में जनपद में ही मालागढ़ रियासत, छतारी रियासत व दानपुर रियासत की भी स्थापना हो चुकी थी जिनके अवशेष आज भी जनपद में विद्यमान है। दानपुर रियासत का नबाब जलील खान कट्टर इस्लामिक था और छतारी रियासत ब्रिटिश परस्त रही।

भूगोल[संपादित करें]

बुलन्दशहर भारत में उत्तर प्रदेश राज्य के ठीक पश्चिम में स्थित है। पूर्व में गंगा नदी व पश्चिम में यमुना नदी इसकी सीमा बनाती है। बुलन्दशहर के उत्तर में मेरठ तथा दक्षिण में अलीगढ़ ज़िले हैं। पश्चिम में राजस्थान राज्य पड़ता है। इसका क्षेत्रफल 1,887 वर्ग मील है। यहाँ की भूमि उर्वर एवं समतल है। गंगा की नहर से सिंचाई और यातायात दोनों का काम लिया जाता है। निम्न गंगा नहर का प्रधान कार्यालय नरौरा स्थान पर है। वर्षा का वार्षिक औसत 26 इंच रहता है। पूर्व की ओर पश्चिम से अधिक वर्षा होती है।

यातायात और परिवहन[संपादित करें]

वायु मार्ग[संपादित करें]

सबसे निकटतम हवाई अड्डा इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। बुलन्दशहर से दिल्ली 75 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेल मार्ग[संपादित करें]

भारत के कई प्रमुख शहरों से रेलमार्ग द्वारा बुलन्दशहर पहुँचा जा सकता है। सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन हापुड़ व खुर्जा है।

सड़क मार्ग[संपादित करें]

बुलन्दशहर सड़क मार्ग द्वारा भारत के कई प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। दिल्ली, खैर, आगरा, अलीगढ़ और जयपुर आदि शहरों से सड़कमार्ग द्वारा जुड़ा है।

उद्योग और व्यापार[संपादित करें]

कुछ स्थानों पर राजपूतों तथा गुर्जरो, जाटों के परिश्रम से भूमि कृषि योग्य कर ली गई है। यहाँ की मुख्य उपजें गेहूँ, चना, मक्का, जौ, ज्वार, बाजरा, कपास एव गन्ना आदि हैं। सूत कातने, कपड़े बनाने का काम जहाँगीराबाद में, बरतनों का काम खुर्जा, लकड़ी का काम बुलंदशहर व शिकारपुर में होता है। कांच से चूड़ियाँ, बोतलें आदि भी बनती हैं। करघे से कपड़ा बुना जाता है। नगर बुलन्दशहर में पानी के हेंडपम्प बनाने की भी कई ईकाई है। खुर्जा व बुलन्दशहर नगर में कई नामी आयुर्वेदिक चिकित्सक भी रहे है। खुर्जा चीनी मिट्टी के काम के लिए पहचाना जाता है।

तथ्य[संपादित करें]

  • जनसंख्या - ५० लाख
  • क्षेत्रफल - ४३५२ वर्ग किलोमीटर
  • टेलीफोन कोड - ०५७३२
  • जनपद के खुर्जा नगर के पास आयुर्वेद मेडिकल कॉलिज है जिसकी स्थापना वैद्य गोपाल दत्त शर्मा ने की है।
  • जनपद में बुलन्दशहर नगर राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त आयुर्वेदिक चिकित्सक वैद्य श्री किशोर मोहन शर्मा जन्म-भूमि व कर्म-भूमि रहा है। जिनकी सन्तिति आज भी आयुर्वेद की निष्काम भाव से सेवा कर रही है।
  • जनपद के गाँव ऊटरावली में जन्मे बाबू बनारसी दास जी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे थे।
  • भाजपानीत प्रदेश सरकार में माननीय वीरेंद्र सिंह सिरोही केबिनेट राजस्व मंत्री व माननीय महेन्द्र सिंह यादव केबिनेट माध्यमिक शिक्षा मंत्री रहे है
  • जनपद की पूर्व में रही अगौता विधान सभा क्षेत्र से निर्वाचित माननीय किरनपाल सिंह प्रदेश सरकार में केबिनेट बेसिक शिक्षा मंत्री रहे है।
  • बुलन्दशहर में जन्में प्रोफेसर महावीर सरन जैन अन्तरराष्ट्रीय प्रख्यात साहित्यकार एवं भाषाविद् हैं। आप भारत सरकार के केन्द्रीय हिन्दी संस्थान के सेवा निवृत्त निदेशक हैं।
  • जनपद में विधानसभा क्षेत्र-
  • 1. बुलंदशहर
  • 2. सिकंदराबाद
  • 3. शिकारपुर
  • 4. खुर्जा
  • 5. डिबाई
  • 6. अनूपशहर
  • 7. स्याना

इन्हें भी देखें[संपादित करें]