श्रुतकर्मण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

श्रुतकर्मण द्रौपदी और सहदेव का पुत्र था। उसने कुरुसेना के बहुत से योद्धाओं को परास्त किया और अपने भाईयों के साथ मिलकर भूरिश्रेवास के बहुत से भाईयों और, दुर्योधन, दु:शासन और अन्य कौरवों के पुत्रों का वध किया।

१८ वें दिन युद्ध समाप्त होने के पश्चात रात्री में श्रुतकर्मण और उसके अन्य भाईयो का अश्वत्थामा ने सोते समय वध कर दिया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी सम्पर्क[संपादित करें]