सत्यकि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सत्यकि यादवों के एक कुल का राजकुमार, वासुदेव कृष्ण का अभिन्न मित्र एवं महाभारत के समय पाण्डवों की ओर से लडने वाला एक योद्धा था। वह उन चंद लोंगों में से था जो कि महाभारत के बाद जीवित बच गए थे।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी सम्पर्क[संपादित करें]