मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Indian Railways Suburban Railway Logo.svg
मुंबई सेंट्रल
बॉम्बे सेंट्रल
भारतीय रेलवे टर्मिनल स्टेशन
मुंबई उपनगरीय रेलवे स्टेशन
Mumbai Central main building at night.jpg
स्टेशन आंकड़े
पता आनंदराव नायर मार्ग, मुंबई, महाराष्ट्र
भारत
निर्देशांक 18°58′11″N 72°49′10″E / 18.9697°N 72.8194°E / 18.9697; 72.8194
ऊँचाई 6.62 मीटर (21.7 फीट)
लाइनें पश्चिमी लाइन
अन्य बेस्ट, मेट्रो, एमएसआरटीसी
संरचना प्रकार मानक ऑन-ग्राउंड स्टेशन
प्लेटफार्म 9 (5 बाह्य स्थान के ट्रेनों के लिये + 4 उपनगरीय रेल ट्रेनों के लिये)
पटरियां 9
वाहन-स्थल उपलब्ध (बाहर की तरफ)
अन्य जानकारियां
आरंभ 18 दिसम्बर 1930
विद्युतीकृत 18 दिसम्बर 1930
स्टेशन कूट MMCT
ज़ोन पश्चिम रेलवे
मण्डल मुंबई डब्ल्यूआर रेलवे मंडल
स्टेशन स्तर संचालित
पहले बॉम्बे सेन्ट्रल

मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन या मुंबई सेंट्रल (पूर्व में बॉम्बे सेंट्रल, स्टेशन कोड: MMCT[1]), मुंबई, महाराष्ट्र में स्थित पश्चिमी लाइन पर एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है।[2] ब्रिटिश वास्तुकार क्लाउड बाटली द्वारा परिकल्पित किया गया था, यह अलग-अलग प्लेटफार्मों के साथ स्थानीय उपनगरीय रेलवे और अंतर-शहर/एक्सप्रेस ट्रेनों दोनों के लिए एक प्रमुख स्टेशन के रूप में कार्य करता है। यह मुंबई राजधानी एक्सप्रेस सहित कई लंबी दूरी की ट्रेनों का एक टर्मिनल भी है। स्टेशन से प्रस्थान करने वाली ट्रेनें, भारत के उत्तरी, पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी क्षेत्रों के विभिन्न स्थानों को जोड़ने का काम करती हैं। 1997 में बॉम्बे के मुंबई नाम में परिवर्तन के बाद स्टेशन का नाम बॉम्बे सेंट्रल से बदलकर मुंबई सेंट्रल कर दिया गया। 2018 में, स्टेशन कोड को MMCT में बदलने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया गया था,[3] जिसमें कार्यान्वयन चालू है।

इतिहास[संपादित करें]

बॉम्बे, बड़ौदा और मध्य भारत रेलवे ने दिल्ली के रास्ते बड़ौदा से पठानकोट तक अपनी पहुंच बढ़ाई। कोलाबा-बल्लार्ड पियर रेलवे स्टेशन बढ़ती आबादी की मांगों को पूरा करने में अपर्याप्त साबित हुआ जिसके कारण सरकार को बॉम्बे सेंट्रल के निर्माण की योजना बनानी पडी। वर्तमान उपनगरीय मार्ग जो कभी कोलाबा तक चलता था, उसे पहले बेलासिस रोड स्टेशन द्वारा संचालित किया जाता था। पूर्वी दिशा में बॉम्बे सेंट्रल टर्मिनस (BCT) की लंबी दूरी के निर्माण के बाद इसका नाम बदलकर बॉम्बे सेंट्रल (स्थानीय) कर दिया गया।[4] 1 फरवरी 2018 को, BCT से MMCT में स्टेशन कोड बदलने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया गया था।

जब 1930 में स्टेशन खोला गया, तो टाइम्स ऑफ इंडिया ने सुझाव दिया कि बॉम्बे सेंट्रल नाम न्यूयॉर्क शहर में ग्रांड सेंट्रल टर्मिनल से प्रेरित था। समाचार ने तर्क दिया कि जिस क्षेत्र में स्थित था, उसके बाद स्टेशन को कमाठीपुरा कहा जाना चाहिए था। समाचार ने सुझाव दिया था कि कमाठीपुरा नाम शायद खारिज किया गया था, क्योंकि यह क्षेत्र एक लाल बत्ती ज़िला है।[5]

सुविधाऐं[संपादित करें]

प्लेटफार्म और लेआउट[संपादित करें]

स्टेशन को दो भागों में बांटा गया है। स्टेशन के पूर्वी आधे हिस्से में पश्चिमी रेलवे द्वारा लंबी दूरी की ट्रेनें संचालित की जाती हैं, जबकि आधे में पश्चिमी रेलवे के चर्चगेट-विरार उपनगरीय खंड पर चलने वाली लोकल ट्रेनें संचालित होती हैं। मुख्य लाइन सेक्शन में पाँच उच्च स्तरीय प्लेटफ़ॉर्म हैं जो दक्षिणी छोर पर एक बड़े जमाव में समाप्त होते हैं। उपनगरीय हिस्से में चार उच्च स्तरीय प्लेटफ़ॉर्म हैं। सभी प्लेटफॉर्म फुट ओवरब्रिज से जुड़े हुए हैं और मुख्य लाइन प्लेटफॉर्म के लोये व्हीलचेयर सुलभ दक्षिण छोर से उपलब्ध हैं।

वाई-फाई सेवा[संपादित करें]

भारतीय रेलवे की दूरसंचार शाखा रेलटेल ने 22 जनवरी 2016 को गूगल के सहयोग से मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर मुफ्त सार्वजनिक वाई-फाई सेवा शुरू की।

गूगल साउथ ईस्ट एशिया और इंडिया के वीपी एंड मैनेजिंग डायरेक्टर राजन आनंदन ने कहा, "हमें भारतीय रेलवे के साथ साझेदारी में भारत की पहली हाई-स्पीड सार्वजनिक वाई-फाई सेवा शुरू करने की खुशी है।"

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Station Code Index" (PDF). Portal of Indian Railways. 2015. पृ॰ 46. अभिगमन तिथि 29 April 2019.
  2. "About: Mumbai Central Station (indiarailinfo.com)". अभिगमन तिथि 2014-07-31.
  3. Mehta, Manthank (21 Nov 2017). "Mumbai Central station 'disappears' from railway app, commuters derailed". TNN. Times of India. अभिगमन तिथि 26 June 2019.
  4. "[IRFCA] Renaming of Stations".
  5. "As recent demands in Mumbai show, battles over station names never seem to end". The Economic Times. अभिगमन तिथि 17 March 2017.