बरेली जंक्शन रेलवे स्टेशन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बरेली जंक्शन
रेलवे स्टेशन
Blyrlw.jpg
बरेली जंक्शन का मुख्य प्रवेशद्वार
स्टेशन आंकड़े
पता सिविल लाइन्स, बरेली, उत्तर प्रदेश, भारत
निर्देशांक 28°20′13″N 79°24′39″E / 28.3369682°N 79.410857°E / 28.3369682; 79.410857निर्देशांक: 28°20′13″N 79°24′39″E / 28.3369682°N 79.410857°E / 28.3369682; 79.410857
ऊँचाई १७४ मी
लाइनें
  1. लखनऊ-मुरादाबाद लाइन
  2. बरेली-अलीगढ़ लाइन
  3. बरेली-कासगंज-मथुरा/कानपुर लाइन
अन्य टैक्सी/ऑटो स्टैंड
संरचना प्रकार साधारण/ज़मीन पर
प्लेटफार्म
पटरियां
वाहन-स्थल उपलब्ध
साइकिल सुविधायें उपलब्ध
अन्य जानकारियां
आरंभ १९६४
विद्युतीकृत हाँ
अभिगम्य Handicapped/disabled access
स्टेशन कूट बीई
ज़ोन उत्तरी अंचल
मण्डल मुरादाबाद
स्वामित्व रेलवे
संचालक उत्तर रेलवे
किराया ज़ोन उत्तर रेलवे
स्टेशन स्तर कार्यरत

बरेली जंक्शन रेलवे स्टेशन (स्टेशन कोड: बीई) उत्तर प्रदेश राज्य के बरेली नगर में स्थित एक रेलवे स्टेशन है।[1] भारत की राजधानी, नई दिल्ली से लगभग २५० किमी की दूरी पर स्थित बरेली जंक्शन उत्तर भारत के सबसे महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों में से एक है, जहाँ से दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु और हैदराबाद समेत भारत के अधिकांश नगरों के लिए रेलगाड़ियां उपलब्ध हैं।[2][3] पहले यहाँ से ब्रॉड और मीटर गेज, दोनों पर ही रेलगाड़ियों का संचालन हुआ करता था, परन्तु अब लगभग सभी मीटर गेज लाइनों को ब्रॉड गेज में बदला जा चुका है। प्रशासनिक तौर पर यह स्टेशन रेलवे के उत्तरी अंचल के मुरादाबाद मण्डल के अंतर्गत आता है, तथा कुल आमदनी के आधार पर इसे नॉन सुपर ग्रेड थ्री स्टेशन का दर्जा प्राप्त है।[4]

इतिहास[संपादित करें]

वाराणसी को लखनऊ से जोड़ने के बाद अवध व रुहेलखण्ड रेलवे ने लखनऊ के पश्चिम में रेलवे सेवाओं का विस्तार करना शुरू किया। इसी क्रम में लखनऊ से संडीला और फिर हरदोई तक रेलवे लाइन का निर्माण १८७२ में पूरा हुआ।[5] १८७३ में बरेली तक की लाइन पूरी हुई,[5] और उसी वर्ष इस रेलवे स्टेशन का निर्माण हुआ। इससे पहले १८७२ में मुरादाबाद से चंदौसी को जोड़ने वाली एक लाइन भी बन चुकी थी, और फिर १८७३ में ही इसे भी बरेली तक बढ़ा दिया गया।[5] रामपुर होते हुए बरेली-मुरादाबाद कॉर्ड १८९४ में बनकर तैयार हुआ था।[5] कालांतर में इसे मुख्य लाइन, तथा पुरानी लाइन को चंदौसी लूप कहा जाने लगा।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Junction status". Indian railways. मूल से 3 फ़रवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 February 2014.
  2. Rao, M.A. (1988). Indian Railways, New Delhi: National Book Trust, p=3७}}
  3. "Chapter 1 – Evolution of Indian Railways-Historical Background". Ministry of Railways website. मूल से 1 June 2009 को पुरालेखित.
  4. "बरेली जंक्शन बना नॉन सुपर ग्रेड थ्री स्टेशन". बरेली: अमर उजाला. २२ जून २०१८. मूल से 31 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ३० दिसम्बर २०१८.
  5. "The Oudh and Rohilkhand Railway" (PDF). Management E-books6. अभिगमन तिथि 30 May 2013.[मृत कड़ियाँ]