चकमा भाषा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
चकमा
Changmha, Daingnet
𑄌𑄋𑄴𑄟𑄳𑄦 𑄞𑄌𑄴

चकमा लिपि में "चकमा"
बोलने का  स्थान बांग्लादेश, भारत, बर्मा
तिथि / काल 2007
क्षेत्र चट्टग्राम पहाड़ी क्षेत्र,मिज़ोरम, त्रिपुरा, असम, रखाइन राज्य
समुदाय चकमा लोग, दाइंगनेत लोग
मातृभाषी वक्ता 3,26,000
भाषा परिवार
लिपि चकमा लिपि, बंगाली-असामी लिपि
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 [[ISO639-3:ccp[1]|ccp[1]]]

चाकमा (बांग्ला में : চাকমা ভাষা ) बांग्लादेश के चट्टग्राम पहाड़ी क्षेत्र, बर्मा के रखाइन राज्य और भारत के मिज़ोरम, त्रिपुराअसम राज्यों में बोली जाने वाली एक हिन्द-आर्य भाषा है। इसे चकमा समुदाय और दाइंगनेत समुदाय के लोग मातृभाषा के रूप में बोलते हैं।[2][3][4][5][6]

इतिहास[संपादित करें]

बांग्लादेश के चटगाँव पहाड़ी क्षेत्र, म्यांमार के रखाइन क्षेत्र और भारत के त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, असम और पश्चिम बंगाल राज्यों में चकमा लोग रहते हैं।चकमा लोग प्राचीन मगध से असम होते म्यांमार तक पहुँचे हैं।चकमा लोगों का संबंध शाक्य लोगों से है। मा का अर्थ लोग है। चक का संबंध सक्क ( शाक्य ) से है। चकमा का अर्थ हुआ - शाक्य लोग।चकमा लोग तथागत बुद्ध के वंशज हैं। ये बौद्ध धम्म को मानते हैं। इनके हर गाँवों में बुद्ध विहार हैं। बुद्ध पूर्णिमा इनका प्रिय पूर्णिमा है। इनके पुरोहित भिक्खु कहे जाते हैं। असम प्रवास के दौरान शाक्य का परिवर्तन चकमा में हुआ। असमिया में " स " को " च " में बदलने की प्रबल प्रवृति है यथा संदूक - चंदुक/  साबुन - चाबोन/ सजा - चाजा/ सुराही- चुराइ आदि। पूर्वोत्तर की अन्य भाषाओं में भी यह प्रवृत्ति है। मिसाल के तौर पर, मिरी भाषा में पुलिस को पुलिच, पेंसिल को पेंचिल और कसाई को कचाई बोलते हैं। " स " का " च " में बदल जाने की इसी प्रवृत्ति के कारण शाक्य लोग उधर जाकर चकमा हो गए।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Error: Unable to display the reference properly. See the documentation for details.
  2. A-E. Cataloging Distribution Service, Library of Congress. 1990. पपृ॰ 709–.
  3. Library of Congress Subject Headings. Library of Congress. 1992. पपृ॰ 769–.
  4. "Chakma (people)". Encyclopædia Britannica. मूल से 26 जून 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2019. The majority of Chakmas—numbering about 300,000—remained there [in the Chittagong Hills] into the 21st century. If about 300,000 was a majority, then the total population was no more than about 600,000 as of 2001.
  5. Bhuiyan, Muhammad Masudur Rahman (2012). "Noakhali Sadar Upazila". प्रकाशित Islam, Sirajul; Jamal, Ahmed A. (संपा॰). Banglapedia: National Encyclopedia of Bangladesh (Second संस्करण). Asiatic Society of Bangladesh. The tribal population [of Bangladesh] in 2001 was 1.4 million, which was about 1.13% of the total population. The figure was 1.2 million in 1991, of which chakma population was 252,258 If the Chakma population grew at the same rate as the tribal population overall, their 2001 population in Bangladesh would have been about 288,300.
  6. "Statistical Profile of Scheduled Tribes in India 2013" (PDF). Ministry of Tribal Affairs. Government of India. मूल (PDF) से 4 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2019. Mizoram: 19,554 ... Tripura: 18,014 ... Meghalaya: 44 ... Assam: 430 ... West Bengal: 211 Total population in India: 38,253.