अरविन्द

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अरविंद घोष (1872-1950)महान अध्यात्मिक दार्शनिक और स्वतंत्रता आंदोलन के गरम पंथी नेता थे । 1907 में इन्हे क्रन्तिकारी गतिविधियों में सक्रिय होने के कारण ब्रिटिश शासन ने जेल में डाल दिया जहाँ उन्हें रहस्यमयी अनुभव मिले और जेल से बाहर निकल कर इन्होनें स्वतंत्रता संग्राम से अपने को अलग कर लिया ।फिर आजीवन अध्यात्मिक संत के रुप मे पान्दिचेरी में सक्रिय हुये ।पोन्दिचेरी में इनके द्वारा औरिविलो आश्रम की स्थापना की । इन्होनें हिन्दू धर्म और शिक्षा पद्धति के महान शिक्षा शास्त्री थे ।