इन्दौर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
इंदौर
—  नगर  —
इंदौर का राजबाड़ा
इंदौर का राजबाड़ा
निर्देशांक: (निर्देशांक ढूँढें)
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य मध्य प्रदेश
ज़िला इंदौर जिला
महापौर कृष्ण मुरारी मोघे
नगर पालिका अध्यक्ष
जनसंख्या
घनत्व
१,८३५,९१५ (२००१ के अनुसार )
• ४७१
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)
३,८९८ कि.मी²
• ५५३ मीटर
आधिकारिक जालस्थल: indore.nic.in


इंदौर मध्य प्रदेश प्रान्त का एक प्रमुख शहर है। आर्थिक दृष्टि से यह मध्य प्रदेश की व्यावसायिक राजधानी है। इस शहर में अनेक महल और दो बड़े विश्वविद्यालय हैं। वास्तव मे इन्दौर शहर का संस्थापक जमीन्दार परिवार है जो आज भी बड़ा रावला जूनी इन्दौर मे निवास करता है। सन् १७१५ में बसा यह शहर मराठा वंश के होल्कर राज में मुख्यधारा में आया। १८ मई १७२४ को हैदराबाद निजाम ने इंदौर पर पेशवा बाजीराव का आधिपत्य स्वीकार किया। इसके बाद पेशवा ने इंदौर को सूबा बनाकर मल्हारराव होलकर को सूबेदार नियुक्त किया। इंदौर एक पठार पर स्थित है। भौगोलिक स्थिति के कारण यहाँ की जलवायु अच्छी है और यहाँ का तापमान भारत के अन्य शहरों कि तुलना मे काफी स्थिर रहता है।

इन्दौर एक औद्योगिक शहर है। यहाँ लगभग ५,००० से अधिक छोटे-बडे उद्योग हैं। यह सारे मध्य प्रदेश मे सबसे अधिक रेवेनु पैदा करता है। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र मे ४०० से अधिक उद्योग हैं और इनमे १०० से अधिक अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के उद्योग हैं। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र के प्रमुख उद्योग व्यावसायिक वाहन बनाने वाले व उनसे सम्बन्धित उद्योग हैं। इंदौर व्यवसायिक क्षेत्र मे मध्य प्रदेश का प्रमुख वितरण केन्द्र और व्यापार मंडी है। यहाँ मालवा क्षेत्र के किसान अपने उत्पादन को बेचने और औद्योगिक वर्ग से मिलने आते है। यहाँ के आस पास की जमीन कृषि-उत्पादन के लिये उत्तम है और इंदौर मध्य-भारत का गेहूँ, मूंगफली और सोयाबीन का प्रमुख उत्पादक है। यह शहर, आस-पास के शहरों के लिए प्रमुख खरीददारी का केन्द्र भी है। इन्दौर अपने नमकीनों के लिये भी जाना जाता है।

इंदौर वैज्ञानिक तकनीकी अनुसन्धान और शिक्षा के क्षेत्र मे भी एक मुख्य शहर है। यहाँ राजा रामन्ना प्रगत प्रौद्योगिकी केन्द्र, (RRCAT) तथा भारतीय प्रबंधन संस्थान (आई.आई.एम.) जैसे भारत के महत्त्वपूर्ण संस्थान हैं। २००७ में इन्दौर में लगभग ३० इंजीनियरिंग कालेज हैं। महात्मा गांधी मेडिकल कालेज, एक दन्त-चिकित्सा महाविद्यालय, एक कृषि महाविद्यालय, होल्कर विज्ञान महाविद्यालय, तथा अनेक पब्लिक स्कूल हैं। यहाँ पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की एक शाखा भी खुल गयी है।

प्रमुख ऐतिहासिक एवं दर्शनीय स्थल[संपादित करें]

राजबाड़ा, शिवविलास पैलेस, लालबाग, मल्हार आश्रम, मध्यभारत हिन्दी साहित्य समिति, गोपाल मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर, बांकेबिहारी मंदिर, जनरल लाइब्रेरी, आड़ा बाजार, बिजासन माता मन्दिर, अन्नपूर्णा देवी मन्दिर, यशवंत निवास, जमींदार बाडा, हरसिद्धी मंदिर, पंढ़रीनाथ, टाउन हॉल, शिवाजी राव स्कूल, अहिल्याश्रम, एसपी ऑफिस, छत्रीबाग, ओल्ड मेडिकल कॉलेज, आर्ट स्कूल, होलकर कॉलेज, देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, एमवाय अस्पताल, माणिक बाग, सुखनिवास, फूटीकोठी, दुर्गादेवी मंदिर, इमामबाडा, गणेश मंडल, बक्षीबाग, खजराना मंदिर, श्री रिद्धी सिद्धी चिन्तामन गणेश मंदिर, कुम्हार मोहल्ला, जूनी इंदौर आदि इन्दौर के प्रमुख धरोहरें हैं।

  • राजबाड़ा

यह नगर के बीचोबीच स्थित है। १९८४ के दंगों के समय इसमें आग लग जाने से इसको बहुत क्षति पहुँची थी। उसके बाद इसको कुछ सीमा तक पुनर्निर्मित करने का प्रयत्न किया गया।

  • कांच मन्दिर

यह एक जैन मन्दिर है जिसमें दीवारों पर अन्दर की तरफ कांच से सजाया गया है।

  • खान नदी

इन्दौर में एक नदी भी बहती है जिसका पुराना नाम कृष्णा या कान्ह नदी है। 'खान नदी', 'कान्ह' का अपभ्रन्श है। किन्तु पानी की कमी एवं जलमल निकासी कॊ इस नदी मे छोडने के कारण यह अब एक नाले में बदल चुकी है। इसी के किनारे छतरियां हैं। यह स्थान राजबाड़े से लगभग १०० मीटर की दूरी पर है।

|* "खजराना मंदिर" खजराना मंदिर भगवान गणेश का एक सुन्दर मंदिर है। ये मंदिर विजय नगर से पास है। ये मंदिर अहिल्या बाई होलकर ने दक्षिण शैली में बनवाया था। ये मंदिर इन्दोरियो की आस्था का केंद्र हे .यहाँ पर भगवान गणेश के साथ माता दुर्गा, लक्ष्मी, साईबाबा आदि भगवान के मंदिर हे

-

  • प्रमुख धार्मिक स्थल
  • अन्नपूर्णा मन्दिर
  • खजराना का गणेश मन्दिर
  • हरसिद्धि मन्दिर
  • देवगुराडिया
  • बिजासन माता मन्दिर, एरोड्रम रोड
  • गेन्देश्वर महादेव मन्दिर, परदेशीपुरा
  • गोपेश्वर महादेव मन्दिर, गान्धी हॉल परिसर
  • जबरेश्वर महादेव मन्दिर, राजबाडा
  • गोपाल मंदिर, राजबाडा
  • श्री रिद्धी सिद्धी चिन्तामन गणेश मंदिर, कुम्हार मोहल्ला, जूनी इंदौर
  • शनि मन्दिर, जूनी इंदौर
  • कांच मन्दिर

यह एक जैन मन्दिर है जिसमें दीवारों पर अन्दर की तरफ कांच से सजाया गया है।


यातायात[संपादित करें]

इन्दौर के नगरीय बस सेवा का मानचित्र; इसमें स्थानों के नाम और अन्य सूचना हिन्दी (देवनागरी) में दी गयी है।

इंदौर का हवाई-अड्डा इसे भारत के प्रमुख शहरो से हवाई मार्ग से जोड़ता है। सार्वजनिक यातायात की दृष्टि से सन् २००५ तक इन्दौर बहुत पिछड़ा था किन्तु उसके बाद इन्दौर नगर निगम ने नगर बस सेवा आरम्भ की जो भारत में सर्वोत्तम कही जा सकती है। रेल यातायात की दृष्टि से इन्दौर मुख्य रेल मार्ग पर स्थित नहीं है। तथापि यहां से दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, पटना, देहरादून तथा जम्मू-तवी के लिये सीधी गाडियाँ उपलब्ध हैं। इन्दौर से भोपाल और खण्डवा के लिये बहुत अच्छी बस सेवा उपलब्ध है।

जनसंख्या[संपादित करें]

2001 की जनगणना के अनुसार इन्दौर शहर की जनसंख्या 15,97,441 है व इन्दौर ज़िले की कुल जनसंख्या 25,85321 है।

इंदौर के प्रमुख उपनगर[संपादित करें]

इंदौर से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र[संपादित करें]

  • विनय उजाला
  • बलवास टाईम्‍स
  • ध्रुववाणी
  • सोम सागर
  • नेशनल हेराल्‍ड
  • ग्‍लोबल हेराल्‍ड
  • राष्‍ट्रीय हिन्‍दी मेल
  • अपनी दुनिया (सांध्य दैनिक)
  • समयगति (सांध्य दैनिक)
  • विश्‍व भ्रमण
  • पीपुल्स समाचार (हिन्दी)
  • फ़्री प्रेस जर्नल
  • दैनिक जागरण
  • राज एक्सप्रेस
  • प्रभात किरण (सांध्य दैनिक)
  • अग्निबाण (सांध्य दैनिक)
  • न्युज-टुडे (सांध्य दैनिक)
  • सिटी ब्लास्ट (सांध्य दैनिक)
  • नवभारत
  • चौथा संसार
  • शनिवार दर्पण (साप्‍ताहिक)
  • रिपोर्टर एवं रिपोर्ट (साप्‍ताहिक)

इन्दौर की संस्थाएँ[संपादित करें]

शिक्षण संस्थाएँ[संपादित करें]

सामाजिक संस्थाएँ[संपादित करें]

अन्य[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]


इन्‍दौर शहर की सरकारी एजेंसियाँ[संपादित करें]

बाह्य सूत्र[संपादित करें]