भारती एयरटेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Bharti Airtel Limited
उद्योग Telecommunications
स्थापना 7 जुलाई 1995 (1995-07-07)
संस्थापक Sunil Bharti Mittal
मुख्यालय New Delhi, India
क्षेत्र South Asian & African countries and the Channel Islands
प्रमुख व्यक्ति Sunil Bharti Mittal
(Chairman) and (MD)
उत्पाद Mobile network
Wireless
Telephone
Internet
Satellite television
राजस्व Green Arrow Up Darker.svg भारतीय रुपया35,699.27 करोड़ (US$7.35 बिलियन) (2009)[1]
प्रचालन आय Green Arrow Up Darker.svg भारतीय रुपया14,589.33 करोड़ (US$3.01 बिलियन) (2009)[1]
प्रबंधन आधीन परिसंपत्तियां Green Arrow Up Darker.svg भारतीय रुपया9,426.16 करोड़ (US$1.94 बिलियन) (2009)[1]
कुल संपत्ति Green Arrow Up Darker.svg US$ 11.853 billion (2009)[2]
कर्मचारी 30,000 (2010)[2]
मातृ कंपनी Bharti Enterprises (63.45%)
SingTel (32.15%)
Vodafone (4.4%)
वेबसाइट Airtel.com

भारती एयरटेल, जिसे पहले भारती टेलीवंचर उद्यम लिमिटेड (BTVL) के नाम से जाना जाता था, अब भारत की दूरसंचार व्यवसाय आप्रेटरों की सबसे बड़ी कंपनी है जिसके जुलाई २००८ तक ६९.४ करोड़ उपभोक्ता हैं।[3] यह फिक्स्ड लाइन सेवा तथा ब्राडबैंड सेवाएं भी प्रदान करती हैं।यह अपनी दूरसंचार सेवाएं एयरटेल के ब्रांड तले प्रदान करती है और इसका नेतृत्व सुनील मित्तल (Sunil Mittal) करते हैं।यह कंपनी १४ सर्किलों में डीएसएल पर टेलीफोन सेवा तथा इंटरनेट की पहुंच भी उपलब्ध कराती है। यह कंपनी लंबी दूरी वाली राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सेवाओं के साथ अपने मोबाइल, ब्राडबैंड तथा टेलीफोन सेवाओं की पूरक सेवाएं का कार्य करती है। कंपनी के पास चैन्नई में पनडुब्बी केबल लैंडिंग स्टेशन भी है जो चैन्नई और सिंगापुर को जोड़ने वाली पनडुब्बी केबल को जोड़ता है।कंपनी अपने कोरपोरेट ग्राहकों को देश में फाइबर आप्टिक बैकबोन द्वारा अंत:दर अंत: आंकड़े तथा उद्यम सेवाएं प्रदान कराती है, इसके अलावा फिक्स्ड लाइन एवं मोबाइल सर्किलों, वीसेट, आईएसपी तथा गेटवे एवं लेंडिंग स्टेशनों के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय बैंडविड्थ की पहुँच हेतु अंतिम मील तक संबंध जोड़ने का कार्य करती है।

एयरटेल' भारत में भारती एयरटेल ]द्वारा संचालित दूरसंचार सेवाओं की एक ब्रांड है। भारत में ग्राहकों की संख्या की दृष्टि से एयरटेल सेल्यूलर सेवा की सबसे बड़ी कंपनी है।भारती एयरटेल के पास एयरटेल ब्रांड का स्वामित्व है और अपने ब्रांड नाम एयरटेल मोबाइल सर्विसेज के नाम से जीएसएम (GSM) प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए निम्नलिखित सेवाएं उपलब्ध कराती है: ब्राडबैंड तथा दूरसंचार सेवाएं, स्थिर लाइन इंटरनेट कनेक्टीविटी (डीएसएल तथा बंधक लाइन), लंबी दूरी की सेवाएं एवं उद्यम सेवाएं (कोरपोरेट के दूरसंचार परामर्श). देश के २३ सर्किल में यह अपना कार्य कर रही है और वित्तीय वर्ष २००७ तक वर्तमान आबादी की ७१% आबादी को अपनी सेवाएं प्रदान कर रही है।

प्रमुख अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार कंपनियां जैसे वोडाफ़ोन और [सिंग टेल|सिंग टेल] की भारती एयरटेल में आंशिक भागीदारी है।

अप्रेल २००६ में जर्सी में चैनल द्वीप में स्थानीय दूरसंचार नियंत्रक द्वारा भारती ग्लोबल लिमिटेड को दूरसंचार लाईसैंस प्रदान किया गया था। सिंतबर २००६ में गोर्नजी उपयोगिता नियंत्रण कार्यालय ने गोर्नजी एयरटेल को मोबाइल दूरसंचार लाईसैंस प्रदान किया। मई २००७ में जर्सी एयरटेल और गोर्नज एयरटेल ने द्वीप में रहने वाले मोबाइल उपभोक्ताओं के लिए वोडाफोन के साथ संबधों की शुरूआत की घोषणा की है। जुलाई २००७ में, भारती एयरटेल ने नोकिया-सीमेन्स के साथ अपने मोबाइल और फिक्स्ड नेटवर्क के विस्तार हेतु ९०० मिलियन राशि वाले एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए "भारती और नोकिया ने मिलकर ९०० मिलियन डॉलर के विस्तार समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए "],Yahoo! समाचार (Yahoo! News), ३ जुलाई, २००७</ref> अगस्त २००७ में कंपनी ने घोषणा की कि वह गूगल सर्च इंजन का कस्टमाइज्ड रूपांतर प्रस्तुत करेगा जो इसके ब्राडबैंड उपभोक्ताओं को विभिन्न प्रकार की सेवाएं उपलब्ध कराएगा।

मार्च २००८ में, भारती एयरटेल सिंगटेल] (Singtel) के साथ मिलकर श्रीलंका में तीसरी पीढ़ी सेवाएं शुरू करेगी। ऐसा इसलिए है कि सिंगापुर स्थित एशियाई दूरसंचार की प्रमुख कंपनी सिंगटेल जिसका भारती एयरटेल में ३० प्रतिशत हिस्सा है ३जी स्पेस में प्रमुख भूमिका निभाने वाली एक कंपनी है क्योंकि इसके पास पहले से ही संपूर्ण एशिया में विभिन्न नेटवर्क बाजार हैं।[4]

टचटेल[संपादित करें]

सितम्बर १८ (September 18) २००४ तक भारती ने फिक्स्ड लाइन टेलीफोनी और ब्रॉडबैंड सेवाएं टचटेल ब्रांड के नाम से उपलब्ध कराई थीं। अब भारती फिक्स्ड लाइन सेवा सहित एक सामान्य ब्रांड एयरटेल के नाम से दूरसंचार की सभी सेवाएं उपलब्ध कराता है।

एप्पल के ३ जी आईफोन[संपादित करें]

एप्पल ने अमरीका तथा अन्य २५ देशों में ११ जुलाई २००८ को अपने नए आईफोन का आगाज़ करने की घोषणा की है जिसे भारती के साथ भारत में भी शीघ्र ही शुरू किया जाना है।

ब्लैकबेरी[संपादित करें]

१९ अक्टूबर २००४ को रिलायंस ने भारत में एक कालाचकैते वायरलेस सोल्यूसन आरंभ करने की घोषणा की है। यह लौंच भारती दूरसंचार-उद्यम लिमिटेड एवं रिसर्च इन मोशन (Research In Motion) (आरआईएम) के बीच गठबंधन का ही परिणाम है।

पुरस्कार एवं पहचान[संपादित करें]

२००६

  • वर्ष २००५ मे वायरलेस सेवा प्रदाता का फ्रॉस्ट एवं सुलिवन एशिया-पेशेफिक आईसीटी अवार्ड[5]
  • प्रतियोगी सेवा प्रदाता हेतु वर्ष २००५ में फ्रॉस्ट एवं सुलिवन एशिया-पेशेफिक आईसीटी अवार्ड{0/}

समाचारों में[संपादित करें]

१२ फरवरी २००७ को वोडाफोन ने एयरटेल में अपने ५.६ प्रतिशत हिस्से को वापस एयरटेल को १.६ बिलियन अमरीकी डॉलर के लिए बेच दिया और उसके प्रतिद्वंद्वी हचसन एस्सार (Hutchison Essar) में एक नियंत्रित भागीदारी खरीद ली।

इसकी मासिक प्रैस विज्ञप्ति में अप्रेल २००७ के अंत तक निम्नलिखित आंकड़े प्रकाशित किए गए थे:

  • भारती एयरटेल ने कहा कि किसी एक तिमाही में ( Q४ - FY०६०७ ) सबसे ज्यादा शुद्ध ५,३ लाख ग्राहकों के अलावा वर्ष २००६ -०७ में कुल ग्राहकों की तादाद में १८ मिलियन ग्राहक और जुड़ना हमारी अब तक की एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।
  • इस वित्तीय वर्ष ( ०७-०८ ) में कंपनी नेटवर्क विस्तार हेतु ३,५ अरब डॉलर तक निवेश करेगी।
  • इसके पास ४०,००० सैल वेबसाइटों का एक बेस है और यह ५९% जनसंख्या को अपनी सेवा प्रदान करता है।
  • प्रस्तावित नेटवर्क विस्तार के बाद ३०,००० अतिरिक्त टावरों की स्थापना से ७० प्रतिशत आबादी को सेवा दिलाने वाला कंपनी का लक्ष्य पूरा होगा।
  • ३१ मार्च, २००७ को भारती के ३९ मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हो गए थे।
  • इसने वर्ष २०१० तक १२५ मिलियन उपभोक्ता बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है।
  • भारती के कुल ग्राहकों में ८८.५ प्रतिशत प्रीपेड ग्राहक हैं जो पिछले वर्ष से ८२.७ प्रतिशत की वृद्धि है।
  • एआरपीयू घटकर ४०६ रू हो गया है।
  • नान-व्हाइस राजस्व (एसएमएस, व) व्हाइस मेल, कॉल प्रबंधन, हैलो ट्यून एवं एयरटेल लाइव) ने वर्ष २००४ के दौरान कुल राजस्व का १० प्रतिशत प्राप्त किया जो पिछले साल की तुलना में १०.७ प्रतिशत कम था।
  • Q4 में प्रति ग्राहक उपयोग की मिश्रित मासिक ग्राहक मिनट ४७५ थी।
  • कंपनी ने अपने ग्राहकों का १०० प्रतिशत सत्यापन पूरा कर लिया है ओर इस प्रक्रिया में इसने ३ लाख उपभोक्ताओं को अपनी सेवाएं देना बंद कर दिया है।
  • भारती एयरटेल उद्यम सेवा के अध्यक्ष - डेविड यूरोप को भारत से जोड़ने में व्यस्त हैं। डेविड ने यूरोप (लंदन) को बरास्ता मध्य पूर्व होते हुए भारत से जोड़ने वाली १५,००० किलोमीटर लंबी ३.८४ टेराबिट ओएफसी सब-मेरीन केबल प्रणाली के निर्माण की घोषणा की। इस परियोजना को यूरोप-भारत द्वार (ईआईजी) के नाम से जाना जाता है और इसकी लागत लगभग ७०० मिलियन डालर बताई गई है जिसे Q२-२०१० तक पूरा किया जाना है। अल्काटेल ल्यूसेंट और टाइको इस परियोजना के दूसरंचार विक्रेता हैं।

ईआईजी संघ में शामिल सदस्यों के नाम - एटी एंड टी, सीएंडडबल्यू, डिबूती टेलीकॉम, ड्यू जिबटेलीकोम, आईएएम लिबयान टेलीकॉम, एमटीएन ग्रुप लिमिटेड, ओमानटेल, पीटी कम्यूनीकेकोज़-एसए, सऊदी दूरसंचार कंपनी, दूरसंचार मिस्र, टेलकम एसए लिमिटेड एवं वेरीजोन बिज़नेस हैं।

मई २००८ में भारती एयरटेल एमटीएन ग्रुप (MTN Group) जो एक दक्षिणी अफ्रीकी दूरसंचार कंपनी है और सेवाएं अफ्रीका तथा मध्य पूर्व, के देशों को अपनी सेवा दे रही है को खरीदने की आशा व्यक्त की है। द फाइनेन्शयल टाइम्स (The Financial Times) ने सूचित किया है कि भारती एमटीएन में १०० प्रतिशत भागीदारी के लिए ४५ बिलियन अमरीकी डालर दे रही है और यदि ऐसा हो जाता है तब किसी भारतीय फर्म द्वारा विदेश में अब तक का यह सबसे बड़ा अधिग्रहण होगा। इसके बावजूद दोनों पक्षों ने वार्ता की अस्थायी प्रक़ति पर बल दिया है जबकि द इकोनोमिस्ट (The Economist) पत्रिका ने टिप्पणी लिखी है कि यदि भारती ऐसा कोई भी सौदा (marrying up) करती है, चूंकि एमटीएन के पास अधिक ग्राहक हैं, अधिक पैसा है और भोगोलिक दृष्टि से भी उसके पास अधिक क्षेत्र है।[6] हालांकि, यह वार्ता विफल हो गई क्योंकि एमटीएन समूह ने भारती को एक नई कंपनी की सहायक इकाई बनाते हुए वार्ता को बदलने का प्रयास किया। [7]

सदस्य बेस[संपादित करें]

सीओएआई -भारतीय सेल्यूलर आप्रेटर संघ के अनुसार एयरटेल के ग्राहकों का मई २००८[8] तक बेस था:

मई २००८ तक भारत में जीएसएम वाले कुल मोबाइल कनेक्शनों की कुल २०५,४६०,७६२ संख्या का ६७,४२५.

संदर्भ[संपादित करें]

बाह्य लिंक्स[संपादित करें]


  1. "BSE Plus". Bseindia.com. http://www.bseindia.com/bseplus/StockReach/AdvanceStockReach.aspx?scripcode=532454. अभिगमन तिथि: 2010-11-21. 
  2. "Financial Tables". Bharti Airtel Investor Relations. http://www.airtel.in/wps/wcm/connect/7bf18e804e65931e813385693d4fe9f3/For+the+years+ended+March+31,+2007,+2008+and+2009.pdf?MOD=AJPERES&CACHEID=7bf18e804e65931e813385693d4fe9f3. अभिगमन तिथि: 2009-01-23. 
  3. " भारतीय सेल्यूलर आप्रेटर संघ : सांख्यिकी "
  4. हिंदू बिजनेस लाइन : सुनील मित्तल साल के सर्वश्रेष्ठ सीईओ हैं
  5. "अफ्रीका में उभरते टेलीकॉम बाजार पर नज़रें ", द इकोनोमिस्ट (The Economist), ६ मई (6 May)२००८
  6. "५० अरब डॉलर का यह दूरसंचार सौदा नहीं हो सका", न्यूयॉर्क टाइम्स, २५ मई (25 May) २००८
  7. [1]