श्रीलंका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
श्रीलंका समाजवादी जनतान्त्रिक गणराज्य
ශ්‍රී ලංකා ප්‍රජාතාන්ත්‍රික සමාජවාදී ජනරජය
இலங்கை ஜனநாயக சமத்துவ குடியரசு
श्रीलंका का ध्वज श्रीलंका का कुल चिन्ह
ध्वज कुल चिन्ह
राष्ट्रगान: "श्रीलंका माता"
,
श्रीलंका की स्थिति
राजधानी श्री जयवर्धनापुरा-कोट्टी
6°54′ N 79°54′ E
सबसे बडा़ नगर कोलम्बो
राजभाषा(एँ) सिंहला, तमिल
सरकार लोकतान्त्रिक समाजवादी गणराज्य
 - राष्ट्रपति महिन्दा राजपक्षे
 - प्रधानमन्त्री रत्नासिरी विक्रमानायके
स्थापना  
 - स्वतन्त्रता संयुक्त राजशाही से ४ फरवरी, १९४८ 
 - गणराज्य २२ मई, १९७२ 
क्षेत्रफल
 - कुल ६५,६१० किमी² (१२२ वां)
२५,३३२ मील²
 - जल(%) ४.४
जनसंख्या
 - २००९ अनुमान २०,२४२,००० (५३वां)
 - जुलाई २००८ जनगणना २१,३२४,७९१
 - जन घनत्व ३१९/किमी² (३५ वां)
८१८/मील²
सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) (पीपीपी) २००८ अनुमान
 - कुल $९२.०१८ बिलियन (-)
 - प्रति व्यक्ति $४,५८१ (-)
मुद्रा श्रीलंकाई रुपया (LKR)
समय मंडल श्रीलंकाई मानक समय मण्डल (यूटीसी +५:३०)
इंटरनेट टीएलडी .lk
दूरभाष कोड +९४

श्रीलंका (आधिकारिक नाम श्रीलंका समाजवादी जनतांत्रिक गणराज्य) दक्षिण एशिया में हिन्द महासागर के उत्तरी भाग में स्थित एक द्वीपीय देश है। भारत के दक्षिण में स्थित इस देश की दूरी भारत से मात्र ३१ किलोमीटर है। १९७२ तक इसका नाम सीलोन (अंग्रेजी:Ceylon) था, जिसे १९७२ में बदलकर लंका तथा १९७८ में इसके आगे सम्मानसूचक शब्द "श्री" जोड़कर श्रीलंका कर दिया गया। श्रीलंका का सबसे बड़ा नगर कोलम्बो समुद्री परिवहन की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण बन्दरगाह है।

इतिहास[संपादित करें]

भारतीय पौराणिक काव्यों में इस स्थान का वर्णन लंका के रूप में किया गया है। इतिहासकारों में इस बात की आम धारणा थी कि श्रीलंका के आदिम निवासी और दक्षिण भारत के आदि मानव एक ही थे। पर अभी ताजा खुदाई से पता चला है कि श्रीलंका के शुरुआती मानव का संबंध उत्तर भारत के लोगों से था। भाषिक विश्लेषणों से पता चलता है कि सिंहली भाषा, गुजराती भाषा और सिंधी भाषा से जुड़ी है।

प्राचीन काल से ही श्रीलंका पर शाही सिंहल वंश का शासन रहा है। समय-समय पर दक्षिण भारतीय राजवंशों का भी आक्रमण भी इस पर होता रहा है। तीसरी सदी ईसा पूर्व में मौर्य सम्राट अशोक के पुत्र महेन्द्र के यहां आने पर बौद्ध धर्म का आगमन हुआ।

सोलहवीं सदी में यूरोपीय शक्तियों ने श्रीलंका में अपना व्यापार स्थापित किया। देश चाय, रबड़, चीनी, कॉफ़ी, दालचीनी सहित अन्य मसालों का निर्यातक बन गया। पहले पुर्तगाल ने कोलम्बो के पास अपना दुर्ग बनाया। धीरे-धीरे पुर्तगालियों ने अपना प्रभुत्व आसपास के इलाकों में बना लिया। श्रीलंका के निवासियों में उनके प्रति घृणा घर कर गई। उन्होंने डच लोगों से मदद की अपील की। १६३० ईस्वी में डचों ने पुर्तगालियों पर हमला बोला और उन्हें मार गिराया, लेकिन इसका असर श्रीलंकाई पर भी हुआ और उन पर डचों ने और ज्यादा कर थोप दिया। १६६० तक अंग्रेजों का ध्यान भी इस पर गया। नीदरलैंड पर फ्रांस के अधिकार होने के बाद अंग्रेजों को डर हुआ कि श्रीलंका के डच इलाकों पर फ्रांसिसी अधिकार हो जाएगा। तदुपरांत उन्होंने डच इलाकों पर अधिकार करना आरंभ कर दिया। १८०० ईस्वी के आते-आते तटीय इलाकों पर अंग्रेजों का अधिकार हो गया। १८१८ तक अंतिम राज्य कैंडी के राजा ने भी आत्मसमर्पण कर दिया और इस तरह सम्पूर्ण श्रीलंका पर अंग्रेजों का अधिकार हो गया। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद ४ फरवरी १९४८ को देश को संयुक्त राजशाही से पूर्ण स्वतंत्रता मिली।

भूगोल[संपादित करें]

हिन्द महासागर के उत्तरी भाग मे स्थित इस द्वीप राष्ट्र की भूमि केन्द्रीय पहाड़ों तथा तटीय मैदानों से मिलकर बनी है। वार्षिक वर्षा २५०० से ५००० मि.मी. तक होती है। वार्षिक तापमान का औसत मैदानी इलाकों में २७ डिग्री सेल्सियस तथा नुवर एलिय (ऊंचाई - १८०० मीटर) के इलाके में १५ डिग्री सेल्सियस रहता है। इस देश का विस्तार ६-१० गिग्री उत्तरी अक्षांश के मध्य होने, तथा चारो ओर समुद्र से घिरे होने की वजह से यह एक उष्ण कटिबंधीय जलवायु क्षेत्र है। यहां की औसत सापेक्षिक आर्द्रता दिन में ७०% से लेकर रात के समय में ९०% तक हो जाती है।

विभाग[संपादित करें]

श्रीलंका के प्रान्त

प्रशासकीय रूप से श्रीलंका ९ प्रान्तों में बंटा हुआ है। इन ९ प्रान्तों में कुल २५ जिले हैं। इन जिलों के तहत मंडलीय सचिवालय आते हैं और इनके घटक इकाईयों को ग्राम सेवक खंड कहते हैं।

राज्य राजधानी जिले
1 केन्द्रीय कैंडी (महनुवर') कैंडी, मातले, नुवर एलिय
2 उत्तरी मध्य अनुराधपुर' अनुराधपुर, पोलोन्नारुव'
3 उत्तरी जाफ़ना जाफ़ना, किलिनोच्चि, मन्नार , वावुनिया, मुलैतिवु
4 पूर्वी त्रिंकोन्माली अम्पार', बट्टिकलोआ , त्रिंकोन्माली
5 उत्तर पश्चिमी कुरुनेगल कुरुनेगल', पुत्तलम
6 दक्षिणी गाल्ल गाल्ल, हम्बन्तोट', मातर'
7 उवा बदुल्ल बदुल्ल, मोनरागल'
8 सबरगमुव रतनपुर केगल्ल, रतनपुर'
9 पश्चिमी कोलम्बो कोलम्बो, गम्पहा, कलुतर

जनवृत्त[संपादित करें]

श्रीलंका की धार्मिकता
धर्म प्रतिशत
बौद्ध
  
70%
हिन्दु
  
15%
ईसाई
  
8%
मुस्लिम
  
7%
श्रीलंका के जातीय समूह
जातीय समूह प्रतिशत
सिंहली
  
73.8%
तमिल
  
13.9%
मूर
  
7.2%
भारतीय तमिल
  
4.6%
अन्य
  
0.5%

यह देश एक बहुजातीय तथा बहुधार्मिक है। यहां के निवासियों में ७४% सिंहली, १८% तमिल, ७% मुस्लिम् तथा १% अन्य जातिमूल के हैं ।

जातीय संघर्ष[संपादित करें]

श्रीलंका के लोगों ने हाल ही में पराजित एलटीटीई से आतंकवादियों (२००९) । दशक के परिणामस्वरूप युद्ध ने हजारों लोगों की मृत्यु हुई मौतों के कारण सहित कई नरसंहार एलटीटीई के द्वारा किया जाता है । .

यह भी देखिए[संपादित करें]

बाहरी कड़ियां[संपादित करें]