मलेशिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मलेशिया
ध्वज
राष्ट्रवाक्य: "बेरसेकुटु बर्ताम्बाह मुटु" (मलय)
"एकता में शक्ति है"1
राष्ट्रगान: नेगाराकु (मेरा देश)
राजधानी पुत्रजय
3°08′N 101°42′E / 3.133°N 101.7°E / 3.133; 101.7
सबसे बड़ा नगर क्वाला लमपुर
राजभाषा(एँ) मलय
राष्ट्रीय धर्म इस्लाम
वासीनाम मलेशियाई
सरकार संघीय संवैधानिक चुनी हुई राजशाहीसंसदीय लोकतंत्र
 -  यांग दि-पर्तुआन अगोंग मीज़ान ज़ैनल अबिदीन
 -  प्रधानमंत्री नजीब तुन रज़क
स्वतंत्रता संयुक्त राजशाही से
 -  तिथि 31 अगस्त, 1957 
 -  संघ (सबाह, सरावाकसिंगापुर के साथ 4) 16 सितम्बर, 1963 
क्षेत्रफल
 -  कुल 329,845 वर्ग किलोमीटर (66 वाँ)
127,355 वर्ग मील
 -  जल (%) 0.3
जनसंख्या
 -  जून 2009 प्राक्कलन 28,276,000 (43 वाँ)
 -  2000 जनगणना 24,821,286
सकल घरेलू उत्पाद (पीपीपी) 2008 प्राक्कलन
 -  कुल $384.119 करोड़ (-)
 -  प्रति व्यक्ति $14,071 (-)
मानव विकास सूचकांक (2013) Straight Line Steady.svg 0.773[1]
उच्च · 62वाँ
मुद्रा रिंग्गित (RM) (MYR)
समय मण्डल MST (यू॰टी॰सी॰+8)
 -  ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰) - (यू॰टी॰सी॰+8)
यातायात चालन दिशा बाएं
दूरभाष कूट 60
इंटरनेट टीएलडी .my
2. Putrajaya is the primary seat of the federal government.
3. The current terminology as per government policy is Bahasa Malaysia (literally Malaysian language) but legislation continues to refer to the official language as Bahasa Melayu (literally Malay language). English may continue to be used for some official purposes under the National Language Act 1967.
4. Singapore became an independent country on 9 अगस्त 1965.
Malaysian Flag and Crest from www.gov.my.
मलेशिया अधिनियम 1963 (दस्तावेज़)
अंग्रेजी ग्रंथों में मलेशिया से संबंधित समझौते (दस्तावेज़)

मलेशिया दक्षिण पूर्व एशिया में स्थित एक उष्णकटिबंधीय देश है। यह दक्षिण चीन सागर से दो भागों में विभाजित है। मलय प्रायद्वीप पर स्थित मुख्य भूमि के पश्चिम तट पर मलक्का जलडमरू और इसके पूर्व तट पर दक्षिण चीन सागर है। देश का दूसरा हिस्सा, जिसे कभी-कभी पूर्व मलेशिया के नाम से भी जाना जाता है, दक्षिण चीन सागर में बोर्नियो द्वीप के उत्तरी भाग पर स्थित है। मलय प्रायद्वीप पर स्थित कुआलालंपुर देश की राजधानी है, लेकिन हाल ही में संघीय राजधानी को खासतौर से प्रशासन के लिए बनाए गए नए शहर पुत्रजया में स्थानांतरित कर दिया गया है। यह 13 राज्यों से बनाया गया एक एक संघीय राज्य है।

मलेशिया में चीनी, मलय और भारतीय जैसे विभिन्न जातीय समूह निवास करते हैं। यहां की आधिकारिक भाषा मलय है, लेकिन शिक्षा और आर्थिक क्षेत्र में ज्यादातर अंग्रेजी का इस्तेमाल किया जाता है। मलेशिया में १३० से ज्यादा बोलियां बोली जाती हैं, इनमें से ९४ मलेशियाई बोर्नियो में और ४० प्रायद्वीप में बोली जाती हैं। यद्यपि देश सरकारी धर्म इस्लाम है, लेकिन नागरिकों को अन्य धर्मों को मानने की स्वतंत्रता है।

इतिहास[संपादित करें]

मलेशिया, चीन और भारत के बीच प्राचीन काल से व्यापारिक केंद्र था। जब यूरोपीय लोग इस क्षेत्र में आए तो उन्होंने मलक्का को महत्वपूर्ण व्यापार बंदरगाह बनाया। कालांतर में मलेशिया ब्रिटिश साम्राज्य का एक उपनिवेश बन गया। इसका प्रायद्वीपीय भाग ३१ अगस्त १९५७ को फेडरेशन मलाया के रूप में स्वतंत्र हुआ। १९६३ में मलाया, सिंगापुर और बोर्नियो हिस्से साथ मिलकर मलेशिया बन गए। १९६५ सिंगापुर अलग होकर अपनी स्वतंत्रता की घोषणा की।

राजनीति और अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

मलेशिया 13 राज्य हैं और तीन संघीय प्रदेश है। मलेशिया का प्रमुख यांग डी-पेर्तुआन अगांग के रूप में जाना जाता है, जिसे सामान्यतः "मलेशिया का राजा" कहा जाता है। यह पदवी वर्तमान में सुल्तान मिज़ान जैनुल अबीदीन धारण किए हुए हैं। मलेशिया में शासन के प्रमुख प्रधानमंत्री हैं। मलेशिया आसियान का सदस्य है। इसकी अर्थव्यवस्था लगातार बढ़ रही है और यह दक्षिण पूर्व एशिया में एक अपेक्षाकृत समृद्ध देश है। देश के प्रमुख शहरों में कुआलालंपुर, जॉर्ज टाउन, ईपोह और जोहोर बाहरु हैं।

धर्म[संपादित करें]

मलेशिया एक बहु धार्मिक समाज है और मलेशिया में प्रमुख धर्म इस्लाम है। २०१० में सरकार की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार, यहां के प्रमुख धर्मावलंबियों में मुस्लिम (६१.३%), बौद्ध (१९.८%), ईसाई (९.२%), हिंदू (६.३%) और कन्फ्यूशीवाद, ताओ धर्म और अन्य पारंपरिक चीनी धर्मों (१.३%), शामिल हैं।

संस्कृति[संपादित करें]

मलेशिया एक बहु जातीय, बहु सांस्कृतिक और बहुभाषी समाज है, जहां मलय और अन्य देशी जनजाति ६५%, चीनी 25% और 7% भारतीय शामिल है। देश की बहुसंख्यक समुदाय के रूप में सभी मलय मुस्लिम हैं, क्योंकि मलेशियाई कानून के तहत मलय होने के लिए मुस्लिम होना जरूर है। मलय राजनीति में अहम भूमिका निभाते हैं और इनकी भूमिपुत्र के रूप में पहचान होती है। उनकी मूल भाषा मलय (Bahasa Melayu) है।

दर्शनीय स्थल[संपादित करें]

कुआलालम्‍पुर[संपादित करें]

कुआलालम्पुर शहर में सड़कों का जाल बिछा हुआ है। सब कुछ इतना सुनियोजित है कि आगंतुक को कोई दिक्कत नहीं होती। शहर को जानने के लिए सबसे पहली जगह है इस्ताना निगारा। यह मलेशिया के राजा के रहने का स्थान है। इसके अलावा शहर की पहचान पेट्रोनस जुड़वा मीनार से भी है, जो कुआलालम्पुर शहर में कहीं से भी थोड़ी सी ऊँचाई से नजर आ जाते हैं। 451.9 मीटर ऊँचे इन टॉवर्स में 86 मंजिलें हैं, परंतु पर्यटकों को 41वीं मंजिल पर स्थित पुल तक जाने दिया जाता है। इसके लिए कोई भी शुल्क नहीं लिया जाता और एक दिन में निश्चित संख्या में ही पर्यटक जा सकते हैं। पेट्रोनस टॉवर्स के पास ही कुआलालम्पुर सिटी सेन्टर पार्क बनाया गया है, जिसमें 1900 से ज्यादा पॉम के पेड़ लगाए गए हैं। इसके अलावा केएल टॉवर, केएलसीसी एक्वेरियम देखने लायक हैं। पाँच हजार स्के.फुट में फैले इस एक्वेरियम में 150 तरह की मछलियाँ हैं। इसमें एक 90 मीटर की टनल भी है, जिसमें ऐसा एहसास होता है कि आप समुद्र के भीतर से ही इन्हें देख रहे हैं। इसके अलावा नेशनल प्लेनेटोरियम, आर्किड पार्क, बटरफ्लाई पार्क आदि भी काफी खूबसूरत हैं।

कुआलालम्पुर में शॉपिंग करने के लिए काफी सारे मॉल्स हैं। 3450000 स्के. फुट में फैले बरजाया टाइम स्क्वेअर मॉल मलेशिया का सबसे बड़ा मॉल है। इसमें विश्व के सर्वश्रेष्ठ ब्रांड्स उपलब्ध हैं। यहाँ के कुछ छोटे मॉल्स में मोल-भाव भी किया जा सकता है। सन वे सिटी होटल में स्थित वॉटर पार्क काफी बड़ा है। इसके पास ही लगा हुआ मॉल छः मंजिला है तथा इसमें आईस स्केटिंग करने की व्यवस्था भी है।

पुत्रजया[संपादित करें]

मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर है, परंतु बढ़ती जरूरतों को ध्यान में रखते हुए कुआलालम्पुर से आधे घंटे की दूरी पर प्रशासनिक राजधानी पुत्रजया को बनाया गया है। यह इतनी भव्य है कि इसे देखकर सहसा विश्वास नहीं होता कि कोई भी सरकारी काम इतने कम समय में कैसे पूर्ण हो सकता है। यहाँ झील भी बनाई गई है और आधुनिक सुविधाओं से लैसे बहुत बड़े कन्वेशन सेंटर भी हैं।

सरकारी कर्मचारियों के रहने के लिए झील के किनारे मकान बनाए गए हैं तो प्रधानमंत्री कार्यालय भी काफी खूबसूरत है। धीरे-धीरे यहाँ विभिन्न देशों के दूतावास भी बनाए जा रहे हैं। सम्पूर्ण पुत्रजया घूमने के लिए क्रुज यात्रा काफी अच्छी सुविधाजनक है।

लंकावी[संपादित करें]

कैमरुन हाईलैंड्स से 5 घंटे का सफर तय कर कुवाला कैद्दाह पहुंचा जा सकता है। यहाँ से लंकावी आईलैंड लगभग डेढ़ घंटे की दूरी पर है। यह सफर फैरी से तय करना पड़ता है। फैरी सम्पूर्ण सुविधायुक्त होती है तथा इसमें बाकायदा फिल्म दिखाने की व्यवस्था होती है। लंकावी ड्यूटी फ्री आईलैंड है।

यह भी देखिए[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "2014 Human Development Report Summary". United Nations Development Programme. 2014. pp. 21–25. http://hdr.undp.org/sites/default/files/hdr14-summary-en.pdf. अभिगमन तिथि: 27 July 2014.