हरियाणा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
हरियाणा
ਹਰਿਆਣਾ

भारत के मानचित्र पर हरियाणा  ਹਰਿਆਣਾ

भारत के प्रान्त
राजधानी चंडीगढ
सबसे बड़ा शहर फरीदाबाद
जनसंख्या २१,०८२,९८९
 - घनत्व ४७७ /किमी²
क्षेत्रफल ४४,२१२ किमी² 
 - जिले
राजभाषा(एँ) हिन्दी
प्रतिष्ठा १९६६
 - राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया
 - मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा
 - विधानसभा एकसदन
आइएसओ संक्षेप IN-HR
haryana.gov.in

हरियाणा उत्तर भारत का एक प्रांत है जिसे पंजाब से १९६६ में अलग किया गया था। इसकी सीमायें उत्तर में पंजाब एवं हिमाचल प्रदेश, पश्चिम तथा दक्षिण में राजस्थान से, एवं पूर्व में उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश तथा यमुना नदी से बंधी है। भारतीय राजधानी दिल्ली के तीन तरफ भी हरियाणा की सीमायें लगी हैं जिसकी वजह से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली का एक बडा हिस्सा हरियाणा में शामिल है। हरियाणा प्रदेश की राजधानी चंडीगढ है जो केंद्र शासित प्रदेश होने के साथ साथ पंजाब की भी राजधानी है।

प्रति व्यक्ति आय के हिसाब से हरियाणा पूरे भारत में सिर्फ गोआ एवं दिल्ली से पीछे है। हरियाणा की प्रति व्यक्ति औसत आय २९,८८७ रुपये/वर्ष (वर्ष २००६) है।[1] हरियाणा के नाम का ही अर्थ है " यह परमेश्वर का निवास " से हरि ( हिंदू देवता विष्णु ) और आयन ( घर ) [ 4 ] [2]

इतिहास[संपादित करें]

हालाँकि हरियाणा अब पंजाब का एक हिस्सा नहीं है पर यह एक लंबे समय तक ब्रिटिश भारत मे पंजाब प्रान्त का एक भाग रहा है, और इसके इतिहास में इसकी एक महत्वपूर्ण भूमिका है। हरियाणा के बानावाली और राखीगढ़ी, जो की अब हिसार में हैं, सिंधु घाटी सभ्यता का हिस्सा रहे हैं, जो कि ५,००० साल से भी पुराने हैं।

भूगोल[संपादित करें]

हरियाणा उत्तरी भारत में स्थित एक घिरा हुआ राज्य है। इसका उत्तरी अक्षांश '35 ° 30' से 39 ° 27 के बीच और पूर्वी देशांतर 28 ° 74 से 77 36' है। हरियाणा की समुद्र तल से ऊंचाई 700 से 3600 फुट (200 मीटर की दूरी पर 1200 मीटर की दूरी पर) के बीच है। 1,553 वर्ग कीमी का क्षेत्र वनों से आच्छादित है। हरियाणा की चार मुख्य भौगोलिक विशेषताएं है-

  • बनाने यमुना-घग्गर मैदान, जो की राज्य का सबसे बड़ा हिस्सा ।
  • पूर्वोत्तर के लिए शिवालिक पर्वत।
  • दक्षिण पश्चिम में अर्धशुष्क रेतीले मैदान।
  • दक्षिण में अरावली श्रृंखला।

जलवायु[संपादित करें]

यहां की जलवायु आमतौर पर ठन्डी रह्ती है।

वनस्पति[संपादित करें]

पूरे राज्य मे कँटीले शुष्क पर्णपाती वन और काँटेदार झाड़ियों मिलती हैं। मानसून के दौरान सारी पहाड़ियों घास से ढक जाती हैं। शहतूत, सफेदा, चीड़, कीकर, शीशम बबूल के अतिरिक्त कुछ अन्य वृक्ष भी यहाँ पाये जाते हैं। जानवरों मे यहां काले हिरण, नीलगाय, तेंदुआ, लोमडी़, मोंगूज़, सियार और जंगली कुत्ते पाये जाते हैं।

जनसाँख्यिकी[संपादित करें]

२००१ की जनगणना के अनुसार हरियाणा की जनसंख्या २,११,४४,००० है, इसमें १,१३,६४,००० पुरुष तथा ९७,८१,०००० महिलाऐं हैं। जनसंख्या घनत्व ४७७ व्यक्ति/वर्ग किमी है। हरियाणा मे पंजाब की तरह विषम लिंग अनुपात है यानि १,००० पुरुषों के पीछे महिलाओं की संख्या मात्र ८६१ है। कन्या भ्रूण हत्या इस विषम लिंग अनुपात का एक प्रमुख कारण है बेटे की चाह मे लोग बेटियों को गर्भ मे ही मार डालते हैं। राज्य मे हिंदुओं की जनसंख्या ८८.२% है, जबकि सिखों की ५.५%, मुसलमानों की ५.८% , जैन और बौद्ध क्रमशः ०.३% और ०.०१% के अनुपात मे हैं। मुसलमान मुख्यतः महेंद्रगढ़ व मेवात जिले मे केन्द्रित हैं , जबकि ज्यादातर सिख पंजाब से सटे जिलों में रहते हैं। कृषि और कृषि से संबंधित उद्योग स्थानीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। हाल के वर्षों में मुख्य रूप से बिहार, बंगाल और नेपाल के प्रवासियों की संख्या मे वृद्धि हुई है। [3]

हरियाणा की संस्कृति[संपादित करें]

संस्कृति[संपादित करें]

सांग[संपादित करें]

लोकगीत[संपादित करें]

देशो मे है देश अनोखा, वीर देश हरियाणा । स्वर्ण अक्षरों मे लिखा है, जिसका इतिहास पुराना । भगवान् हरि का जहा आना, यो मेरा हरियाणा जित दुध दही का खाना

हरियाणवी नृत्य[संपादित करें]

प्रहसन[संपादित करें]

हरियाणवी जन अपनी हास्य बुद्धि के लिये विख्यात हैं। प्रहसन, हास्य नाटक आदि लोक कला का अभिन्न अंग हैं।

हरियाणवी सिनेमा[संपादित करें]

हरियाणवी सिनेमा की कुछ प्रसिद्ध फिल्में हैं :

  • चन्द्रावल
  • लाडो
  • गुलाबो

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

हरियाणा को पूरे भारत के विकास का अग्रदूत समझा जा सकता है।[4] हरियाणा औद्योगिक उत्पादन के मामले में देश के सबसे अग्रणी राज्यों में से है जिसकी बानगी नीचे दिये गये उद्योगों में हरियाणा की भागीदारी से सहज देखा जा सकता है:[5]

गुड़गांव शहर सूचना प्रौद्योगिकी और ऑटोमोबाइल उद्योग का एक प्रमुख केंद्र है। यह निर्माण क्षेत्र का भी एक प्रमुख केंद्र है यह मारुति उद्योग लिमिटेड, जो कि भारत की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल निर्माता कंपनी है, और हीरो होंडा लिमिटेड, जो दोपहिया वाहनो के दुनिया के सबसे बड़े निर्माता हैं का घर है। पानीपत , पंचकूला, पिंजोर और फरीदाबाद भी औद्योगिक केन्द्र हैं, पानीपत रिफाइनरी दक्षिण एशिया में दूसरी सबसे बड़ी रिफाइनरी है। हिसार में जिन्दल समूह के इस्पात कारखाने हैं। पानीपत में वस्त्र उद्योग भी बडे़ पैमाने पर कार्य कर रहा है।

निर्माण उद्योग[संपादित करें]

गुडगांव का एक आवासीय परिसर

सेवा उद्योग[संपादित करें]

कृषि[संपादित करें]

हरियाणा प्रदेश की ७०% आबादी कृषि पर आधारित है। यहा गेहु, चावल, गन्ना, ज्वार बाजरा ओर् मक्का पॅदा किया जाता है।

डेयरी उद्योग[संपादित करें]

राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान, करनाल

हरियाणा में कार्यरत प्रमुख औद्योगिक समूह अथवा कंपनियां[संपादित करें]

मारुति उद्योग (मारुति सुज़ुकी), हीरो होंडा (अब हीरो मोटर्स और होंडा मोटरसाईकिल एण्ड स्कूटर्स) डी एल एफ, जिन्दल समूह, एस्कोर्ट, एच एम टी,

परिवहन व्यवस्था एवं आधारभूत संरचना[संपादित करें]

संचार एवं मीडिया[संपादित करें]

प्रशासनिक व्यवस्था[संपादित करें]

हरियाणा २१ जिलों में बँटा है। हरियाणा विधानसभा में ९० सीटें हैं। भारत की लोकसभा में हरियाणा से १० सीटें हैं।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.livemint.com/2008/01/21174558/Jharkhand-and-Orissa-register.html
  2. http://www.britannica.com/ebc/article-9111200
  3. 2001 Indian Census Data
  4. http://www.indianexpress.com/story/218431.html
  5. http://www.haryanainvest.org/general%20information.asp

यह भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]