रवि शंकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रविशंकर
Ravi Shankar 2009 crop.jpg
२००९ में दिल्ली के एक आयोजन में प्रस्तुति देते रविशंकर।
जन्म 7 अप्रैल 1920
बनारस, ब्रिटिश भारत
मृत्यु 11 दिसम्बर 2012(2012-12-11) (उम्र 92)
सैन डिएगो, संयुक्त राज्य अमेरिका
जीवनसाथी सुकन्या रजन


पण्डित रवि शंकर (बांग्ला: রবি শংকর; जन्म : रवीन्द्र शंकर चौधरी, ७ अप्रैल १९२०, बनारस - ११ दिसम्बर २०१२)[1] एक सितार वादक और संगीतज्ञ थे। उन्होंने विश्व के कई मह्त्वपूर्ण संगीत उत्सवों में हिस्सा लिया है। उनके युवा वर्ष यूरोप और भारत में अपने भाई उदय शंकर के नृत्य समूह के साथ दौरा करते हुए बीते।

शिक्षा[संपादित करें]

रविशंकर ने भारतीय शास्त्रीय संगीत की शिक्षा उस्ताद अल्लाऊद्दीन खाँ से प्राप्त की। अपने भाई उदय शंकर के नृत्य दल के साथ भारत और भारत से बाहर समय गुजारने वाले रविशंकर ने 1938 से 1944 तक सितार का अध्ययन किया और फिर स्वतंत्र तौर से काम करने लगे। बाद में उनका विवाह भी उस्ताद अल्लाऊद्दीन खाँ की बेटी अन्नपूर्णा से हुआ।

जीवन[संपादित करें]

इस दौरान उन्होंने सत्यजीत रे की फिल्मों में संगीत भी दिया। 1949 से 1956 तक उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो में बतौर संगीत निर्देशक काम किया। 1960 के बाद उन्होंने यूरोप के दौरे शुरु किये और येहूदी मेन्यूहिन व बिटल्स ग्रूप के जॉर्ज हैरिशन जैसे लोगों के साथ काम करके अपनी खास पहचान बनाई। उनकी बेटी अनुष्का शंकर सितार वादक हैं तो दूसरी बेटी नोराह जोन्स भी शीर्षस्थ गायिकाओं में शुमार की जाती हैं। उन्हें 1999 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया। रवि शंकर को कला के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन् 2009 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। भारतीय संगीत को दुनिया भर में सम्मान दिलाने वाले भारत रत्न और पद्मविभूषण से नवाजे गये पंडित रविशंकर को तीन बार ग्रैमी पुरस्कार से भी नवाजा गया था। उन्होंने भारतीय और पाश्चात्य संगीत के संलयन में भी बड़ी भूमिका निभाई। उनके परिवार में अन्य निम्नलिखित संगीतकार है -

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "मशहूर सितार वादक पंडित रविशंकर का निधन". जनसत्ता. वाशिंगटन. १२ दिसम्बर २०१२. अभिगमन तिथि १२ दिसम्बर २०१२.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]