अल-इन्फ़ितार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(अल-इन्फितार से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search

सूरा अल-इफ़्तियार (अरबी: سورة الانفطار) (टूट कर बिखर जाना) कुरान का 82वाँ सूरा है। इसमें 19 आयतें हैं।

अनुवाद[संपादित करें]

इस सूरा का अनुवाद डॉ॰मोहसिन ने अंग्रेजी में किया है:

अल-अल-इन्फ़ितार ईश्वर के नाम पर, जो दयावान है:-

जब जन्नत टुकडो में टूट जाता है; (1) जब तारे गिर कर बिखर जाते हैं; (2) और जब सागर आगे से फट जाते हैं; (3) और जब कब्रें उलटी होकर्, अन्दर वाले बाहर आ जाते हैं; (4) तब एक व्यक्ति को पता चलता है, कि उसके साथ क्या भेजा गया है और क्या पीछे छूट गया है (अच्छे और बुरे कर्मों में से) (5) हे मानव! वह क्या है, जिसने तुझे अपने उस उदार ईश्वर के प्रति लापरवाह बना दिया है? (6) किसने तुझे सजित किया, यह परिपूर्ण आकृति दी और तेरा अधिकृत अंश तुझे दिया; (7)

जिस भी रूप में उन्होंने ध्यान दिया, उसने आपको एक साथ रखा। (8) अस्वीकार! लेकिन आप विज्ञापन-दीन (यानी रिकॉम्पेंस का दिन) से इनकार करते हैं। (9) लेकिन वास्तव में, आपके ऊपर (मानव जाति के प्रभारी स्वर्गदूत नियुक्त हैं) आपको देखने के लिए [], (10) किरामुन, कातीबून ने (अपने कर्मों को) लिखकर [], (11) वे सब जानते हैं जो आप करते हैं। (12) वास्तव में, Abrâr (पवित्र और धर्मी) डिलाईट (स्वर्ग) में होगा; (13) और वास्तव में, फुजजेर (दुष्ट, अविश्वासियों, बहुपत्नी पापियों और बुराई करने वालों) धधकती आग (नर्क), (14) में होगा उसमें वे प्रवेश करेंगे, और रिकॉम्पेंस के दिन इसकी जलती हुई लौ का स्वाद लेंगे, (15) और वे (अल-फुजाज) अनुपस्थित नहीं होंगे। (16) और आपको क्या पता चलेगा कि रिकॉम्पेंस का दिन क्या है? (17) फिर, क्या आपको पता चलेगा कि रिकम्पेनेंस का दिन क्या है? (18) (यह वह दिन होगा) जब किसी व्यक्ति के पास दूसरे के लिए कुछ भी करने की शक्ति (करने के लिए) नहीं होगी, और निर्णय, वह दिन, अल्लाह के साथ (पूर्ण) होगा। (19)

यह भी देखें[संपादित करें]

पिछला सूरा:
अत-तकविर
क़ुरआन अगला सूरा:
अल-मुतफ्फिफिन
सूरा 82 - अल-इन्फ़ितार

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 58 59 60 61 62 63 64 65 66 67 68 69 70 71 72 73 74 75 76 77 78 79 80 81 82 83 84 85 86 87 88 89 90 91 92 93 94 95 96 97 98 99 100 101 102 103 104 105 106 107 108 109 110 111 112 113 114


इस संदूक को: देखें  संवाद  संपादन

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कडि़याँ[संपादित करें]

Wikisource-logo.svg
विकिसोर्स में इस लेख से सम्बंधित, मूल पाठ्य उपलब्ध है:


आधार क़ुरआन
यह लेख क़ुरआन से सम्बंधित आधार है। आप इसे बढाकर विकिपीडिया की सहायता कर सकते हैं। इसमें यदि अनुवाद में कोई भूल हुई हो तो सम्पादक क्षमाप्रार्थी हैं, एवं सुधार की अपेक्षा रखते हैं। हिन्दी में कुरान सहायता : कुरानहिन्दी , अकुरान , यह भी
Allah-green.svg