देवरिया जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
देवरिया ज़िला
India Uttar Pradesh districts 2012 Deoria.svg

उत्तर प्रदेश में देवरिया ज़िले की अवस्थिति
राज्य उत्तर प्रदेश, Flag of India.svg भारत
प्रशासनिक प्रभाग गोरखपुर मंडल
मुख्यालय देवरिया
क्षेत्रफल 2 कि.मी. (एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित < ऑपरेटर।एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह ","।वर्ग मील)
जनसंख्या 3,100,946 (2011)
जनसंख्या घनत्व 1,220 /कि.मी. (3,200 /वर्ग मी.)
साक्षरता 73.53
लिंगानुपात M:F 1000:1013
लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र देवरिया, बांसगाँव और सलेमपुर
विधानसभा में सीटें देवरिया
प्रमुख सड़कें NH28
औसत वार्षिक वर्षण 864.38 मिमी
आधिकारिक जालस्थल

देवरिया भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश का एक जिला है। जिले का मुख्यालय देवरिया शहर है। देवरिया ज़िला गन्‍ने की खेती और चीनी मिलों के लिए प्रस‍िध्‍द है। यहां की फसलों में धान, गेहूँ, जौ, बाजरा, चना, मटर, अरहर, तिल, सरसों इत्यादि प्रमुख हैं। गंडक, तथा घाघरा इस जिले से हो कर बहती हैं। गंडक नदी एक पौराणिक नदी है; इसका पौराणिक नाम हिरण्यावती है।[कृपया उद्धरण जोड़ें] इन नदियों का यहाँ की सिंचाई में महत्वपूर्ण योगदान है। सिंचाई के अन्य साधनों में नहरें एवं नलकूप प्रमुख हैं।

भूगोल[संपादित करें]

घाघरा, राप्ती और छोटी गंडक (नदियाँ) देवरिया जनपद की मुख्य नदियाँ हैं। कभी-कभी इनके रौद्र रूप (बाढ़) में किसानों की खुशहाली (फसलें) बह जाती है। इन नदियों के अलावा कुर्ना, गोर्रा, बथुआ, नकटा आदि नाले भी बरसात में उफन जाते हैं और क्षेत्र की जनता को अपने होने का एहसास कराते हैं।

सांस्कृतिक पहलू[संपादित करें]

यहॉ बोली जाने वाली बोली भोजपुरी है। जो यहाँ की एक लोकप्रिय बोली है। यहाँ की संस्कृति एवं लोक कला में भोजपुरी की छाप स्पष्ट रूप से दिखती है। यहाँ गाए जाने वाले लोक गीतों में कजरी, सोहर, फगुआ या फाग़ महत्वपूर्ण हैं।

देवरिया से मात्र 27 किमी दूर कुशीनगर में महात्‍मा बुद्ध की समाधि स्थित है। यहीं पर भगवान बुद्ध का महापरिनिर्वाण हुआ। वर्तमान में यह कुशीनगर जिले में स्थित है। देवरिया शहर बेहतर रेल एवं सड़क यातायात से जुडा़ हुआ है। इस शहर को ब्रॉड गे़ज की रेल लाइन देश के अन्य शहरों से जोड़ती है। देवरिया डाक मण्डल देवरिया तथा पडरौना जिलो की डाक व्यवस्था देखती है।

भाषा एवं धर्म[संपादित करें]

देवरिया का सोमनाथ मंदिर (शिव मन्दिर)

इस जनपद की बोली भोजपुरी है। देवरिया जनपद में मुख्य रूप से हिन्दी भाषा बोली जाती है। देवरिया जनपद की कुल जनसंख्या की लगभग ९९ प्रतिशत जनता हिन्दी, लगभग ०.५ प्रतिशत जनता उर्दू और ०.५ प्रतिशत जनता के बातचीत का माध्यम अन्य भाषाएँ हैं। बोली की बात करें तो ग्रामीण जनता के साथ-साथ अधिकांश शहरी जनता भी प्रेम की बोली भोजपुरी बोलती है। कुल जनसंख्या की दृष्टि से इस जनपद में लगभग ९५ प्रतिशत हिन्दू, लगभग ५ प्रतिशत मुस्लिम और अन्य धर्म को मानने वाले हैं।

शिक्षा[संपादित करें]

यहाँ पर शिक्षा की समुचित व्यवस्था है, कई इंटर कॉलेज आैर महाविद्यालय शिक्षण कार्य करते है।

प्रमुख कस्बे[संपादित करें]

देवरिया जनपद के जाने-माने शहरों में देवरिया, (बरियारपुर ) (खजुरिया) (महुआपाटन) नोनापार बैतालपुर, गौरीबाजार, रामपुर कारखाना, पाण्डेय चक,रामपुर लाला (बलियवा), पथरदेवा, तरकुलवा, रुद्रपुर, बरहज भलुअनी, भाटपाररानी, बनकटा, सलेमपुर, लार, भागलपुर, भटनी, महेन, घांटी, जगरनाथ छपरा, सरयां आदि हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]